A+ A A-

यूपी के आगरा में पत्रकारों पर हुए लाठीचार्ज की नेशनल यूनियन आफ जर्नलिस्ट्स (इंडिया) ने कड़ी  निंदा की है। आगरा में केन्द्रीय मानव संसाधन राज्य मंत्री रामशंकर कठेरिया के नेतृत्व में भाजपा विधायकों और व्यापारियों द्वारा पुलिस लाइन पर एक धरने का आयोजन किया गया था जिसे कवर करने के लिए बड़ी संख्या में पत्रकार मौजूद थे। लेकिन आईजी जोन की मौजूदगी में जब पुलिस धरने पर बैठे विधायकों और व्यापारियों को खदेड़ने लगी, तो पुलिसकर्मियों ने वहां उपस्थित पत्रकारों पर भी लाठियां भांजनी शुरू कर दी।

एनयूजे के राष्ट्रीय अध्यक्ष रासबिहारी ने हैरानी जताते हुए कहा कि आइजी जोन की उपस्थिति में पत्रकारों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा गया ये बेहद शर्मनाक है। पुलिस की लाठियों से कई पत्रकारों के सिर फूट गए, करीब दस पत्रकार जख्मी हैं। उन्होंने मांग की कि आईजी जोन के खिलाफ कार्रवाई की जाए तथा पुलिस प्रताड़ना के शिकार पीडि़त पत्रकारों को राज्य सरकार चिकित्सा और उचित मुआवजे की घोषणा करंे। इस मामले में केन्द्रीय गृहमंत्री और उतरप्रदेश के राज्यपाल से शिकायत की गई है।

राष्ट्रीय महासचिव रतन दीक्षित ने इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि राज्य में पत्रकार लगातार पुलिसिया अत्याचार के शिकार बन रहे है। उन्होंने केन्द्र सरकार से मांग की कि इस प्रकरण में हस्तक्षेप करे। इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्त्ति न हो इसके लिए पत्रकार सुरक्षा अधिनियम बनाने की जरूरत है। एनयूजे एक दशक से पत्रकार सुरक्षा अधिनियम बनाने की मांग कर रहा है। उन्होंने कहा कि एनयूजे इस मांग को लेकर 7 दिसंबर को संसद के सामने देशव्यापी धरने का आयोजन करने जा रहा है।

The National Union of Journalists (India) has condemned the lathicharge on journlaists in Agra, UP. The incident occured at police line in the city where Union Minister for HRD Shri Ramshankar Katheria, leading a dharna with BJP MLA’s and local traders. A large number of journlaists was gathered to cover dharna. At the same time police disbursed the demonstrators in the presence of in the presence of  IG Zone. Suddenly they started lathicharge on journalists as well.

The national president of NUJ(I) Ras Bihari said it is very sameful that in the presence of IG Zone journalists were beaten and lathicharged. He said around 10 journalists of TV and Print Media were injured and some are very serious. He demanded strong action against the IG Zone and asked the state government to compensate the scribes. NUJ(I) have sent a complaint to Union Home Minister and Governor of UP in this regard.

Ratan Dixit, Secretary General, NUJ(I) said that it is very unfortunate that in the state of UP the incidents of attack on media by the Police department is on rise. He demanded an enquiry from central government in this matter. He said from last one decade NUJ(I) has raised its voice to constitute a journalists protection act so that these type of incident could be checked. He informed that a massive demonstration is being organised by NUJ(I) on december, 7 at Parliament.

Leave your comments

Post comment as a guest

0
Your comments are subjected to administrator's moderation.
terms and condition.
  • No comments found

Latest Bhadas