A+ A A-

  • Published in आवाजाही

मेरे सभी सम्मानीय मित्रों एवमं मेरे सभी सहयोगियों... 

यह बताते हुए मुझे अत्यंत ख़ुशी हो रहा है कि मैंने अपने पूरे होश में मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के रीजनल न्यूज चैनल 'स्वराज एक्सप्रेस' के खरसिया रिपोर्टर के पद से त्यागपत्र दे दिया है। कारण यह हैं कि यह चैनल एक समय पत्रकारों का चैनल हुआ करता था किन्तु आजकल इसमें भी कुछ दलाल किस्म के लोग सक्रिय हो गए हैं। मैंने पिछले 1 वर्ष से बिना कोई पेमेंट प्राप्त किये खुद के व्यय से अपना कैमरा, अपना कैमरामेन, अपना इंटरनेट लगाकर काम किया। सबसे ज्यादा कीमती अपना बहुमूल्य एक वर्ष का समय है जिसके मूल्य का आकलन मैं स्वयं नहीं कर सकता हूँ।

मैंने सुबह 6 बजे से रात्रि 12 बजे तक हमेशा सक्रिय होकर लगातार खबर, स्क्रॉल, ब्रेकिंग, पैकेज स्टोरी भेजा लेकिन बदले में हमें आज तक चैनल से एक रुपये भी पारिश्रमिक नहीं मिला। मैंने ग्राम कुनकुनी खरसिया में 300 एकड़ जमीन घोटाला मामले की खबर बनाई। प्रधानमंत्री कार्यालय से मुख्य सचिव छत्तीसगढ़ शासन को कार्यवाही का पत्र भेजा गया। इस पत्र की छाया प्रति मुझे मिली। इसमें कुनकुनी में दैनिक भास्कर ग्रुप की कंपनी डीबी पॉवर द्वारा गरीब भोले भाले आदिवासियों की जमीन को अपने मीडिया हाउस के ड्राइवर के नाम से खरीदे जाने का जिक्र है। गरीब आदिवासियों के ऊपर मीडिया घराने का धौन्स दिखा के अवैध रूप से ब्रिज एवं रेलवे ट्रैक बनाये जाने का मामला उजागर किया। लेकिन चैनल ने मेरे इस साहसिक खबर को नहीं चलाया। उल्टे छत्तीसगढ़ के एडिटर शैलेश पाण्डेय ने कहा कि तुम डी बी पावर मीडिया घराने के खिलाफ खबर कवरेज करते हो। ऐसा झूठा लांछन लगाया गया।

चैनल के एक जिम्मेदार अधिकारी ने मुझे कहा कि दैनिक भास्कर के खिलाफ लिखोगे तो वह हमारे चैनल की बैंड बजा देगा। ऐसे में मुझे अहसास हुआ कि किसी व्यक्ति के द्वारा 100 रु के घोटाला को दिनभर खबर बना के चलाने वाले लोगों के पास सैकड़ों करोड़ के घोटाले की खबर चलाने की हिम्मत नहीं है और ऐसे लोगों के साथ काम करना अपने समय एवं नैतिक मूल्यों की बर्बादी है। जो लोग दूसरे मीडिया हॉउस के 100 एकड़ से ज्यादा के आदिवासी भूमि की बेनामी खरीदी एवं अवैध निर्माण पर पर्दा डालना चाहता हैं, ऐसे लोगों के साथ काम करना बेकार है।

जो व्यक्ति दूसरा चैनल छोड़ के इस चैनल में आया हो उनके द्वारा मुझ पर झूठा लांछन लगाते हुए डीबी के खिलाफ खबर बनाने पर बदनाम करने की धमकी देने वाले को करारा जवाब देते हुए मैं स्वयं स्वराज एक्सप्रेस चैनल के खरसिया रिपोर्टर का पद छोड़ रहा हूँ। चैनल में हमारे साथ 1 वर्ष तक खबर के बदले पारिश्रमिक दिए जाने के नाम पर धोखा ही किया गया। मांड प्रवाह अख़बार एवं सोशल मीडिया के माध्यम से हमेशा गरीबों एवं शोषितों की आवाज उठाता रहूंगा। गरीबों को लूटने वालों का फर्दाफाश करता रहूंगा।

सत्यमेव जयते

आपका

भूपेंद्र किशोर वैष्णव

(स्वतंत्र पत्रकार)

खरसिया

9754160816

Leave your comments

Post comment as a guest

0
Your comments are subjected to administrator's moderation.
terms and condition.

People in this conversation

  • Guest - A.P. Singh

    Shandaar Bhupendra Bhai. Media House Khud Mai Sabse Bade Bhrastachari Ban gaye hai. Chor-Chor Mosere Bhai ho chuke hai.
    DB Corp Ke kargujariyan kise se Chupee nahi hai.
    Aapke Nirbheek Patrikarita ko Salam. To Good.

इन्हें भी पढ़ें