Log in
भड़ास तक अपनी बात bhadas4media@gmail.com के जरिए पहुंचाएं
A+ A A-

प्रिंट

मजीठिया वेतन बोर्ड अवार्ड क्रियान्वयन के लिए रायपुर के जनसंपर्क कायार्लय ने संपादकों को नोटिस भेजा

User Rating: 5 / 5

Star activeStar activeStar activeStar activeStar active

रायपुर से खबर है कि जिला जनसंपर्क कार्यालय रायपुर के उप संचालक ने रायपुर के अखबारों मैग्जीनों के संपादकों को एक नोटिस जारी किया है. इसमें कहा गया है कि मजीठिया बोर्ड की सिफारिशों के संबंध में की गई कार्यवाही से शीघ्र अवगत कराएं.

मजीठिया के लिए लगाएं एक्सक्यूशन आफ डिक्री

User Rating: 5 / 5

Star activeStar activeStar activeStar activeStar active

मजीठिया वेतन बोर्ड पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आ चुका है लेकिन प्रेस मालिक का फैसला नहीं आया। अब पत्रकार सुप्रीम कोर्ट में अवमानना का प्रकरण दर्ज कराना चाहते हैं जो उचित है। अवमानना का प्रकरण हर वह व्यक्ति दायर करा सकता है जो फैसले की परिधि में आता है। चूंकि सुप्रीम कोर्ट में सभी पत्रकार कोर्ट की अवमानना का प्रकरण दायर नहीं कर सकते है इसलिए बेहतर होगा कि निचली कोर्ट में निर्णयों के निष्पादन का मामला दायर करें। जिसे अंग्रेजी में एक्सक्यूशन आफ डिक्री (Execution of Decrees) कहते हैं। जिसे दायर करना बड़ा आसान है और इसमें खास बात यह है कि इसकी प्रक्रिया कोर्ट के फैसले के बाद होने वाली प्रक्रिया के समान शुरू होती है। अर्थात् यदि लेबर कोर्ट में एक्सक्यूशन आफ डिक्री लगाया जाता है तो प्रेस मालिकों को नोटिस जारी होगी, उल्लंघन करने पर आरआरसी जारी हो सकती है।

  • Written by महेश्वरी प्रसाद मिश्र
  • Category: प्रिंट

हिन्दुस्तान मुगलसराय ने छापी कांवरियों पर आतंकी हमले की आशंका की फर्जी ख़बर

User Rating: 5 / 5

Star activeStar activeStar activeStar activeStar active

Mugalsarai 640x480

मुगलसराय- बनारस से छपने वाले हिन्दुस्तान अखबार ने 20 जुलाई को एक ऐसी घटना की खबर प्रकाशित कर दी जो हुई ही नहीं थी। ये कारनामा है मुगलसराय हिन्दुस्तान में रेलवे बीट कवर कर रहे पत्रकार का। छपी खबर के अनुसार गृह मंत्रालय द्वारा कांवरियों पर आतंकी हमले की आशंका के मद्देनज़र जारी हुए हाई एलर्ट के बाद मुगलसराय जंक्शन पर जीआरपी और आरपीएफ ने 19 जुलाई को चेकिंग अभियान चलाया था। अखबार ने इसकी फोटो भी छाप दी जिसमे आरपीएफ और जीआरपी के एसएचओ के साथ जवान चेकिंग कर रहे हैं।

अंदरूनी राजनीति के चलते हिमाचल में फिसड्डी नंबर वन बना दैनिक जागरण

User Rating: 4 / 5

Star activeStar activeStar activeStar activeStar inactive

हिमाचल प्रदेश में पाठकों को जोड़ने में अब तक फिसड्डी सबित हुआ दैनिक जागरण इन दिनों सत्ता के तीन धड़ों में बंटा हुआ बताया जा रहा है। हालांकि अंदरूनी राजनीति व मतलब की पत्रकारिता के मामले में अव्वल दैनिक जागरण में यह बात कोई नई नहीं है। मगर जिस तरह से हिमाचल में फ्लाप होने के बावजूद यहां की हालत बनी हुई है उससे विश्व का नंबर वन ग्रुप होने का दावा करने वाले इस अखबार के अच्छे दिन आते नहीं दिख रहे।

Popular