A+ A A-

ओपिनियन पोस्ट मैग्जीन ने इस बार गुरु गोरखनाथ के बारे में ओशो के विचार को प्रकाशित किया है. असल में योगी आदित्यनाथ के उत्तर प्रदेश का सीएम बन जाने के बाद से अचानक नाथ संप्रदाय और गोरखनाथ चर्चा में आ गए हैं. गोरखपुर स्थित गोरखनाथ मंदिर के महंत योगी आदित्यनाथ के सीएम बनने के बहाने नाथ संप्रदाय और गुरु गोरखनाथ को लेकर जो चर्चा चल पड़ी है, उसी बीच जाने माने चिंतक ओशो के गोरखनाथ के बारे में विचार / लेख को ढूंढ निकाल कर प्रकाशित कर देना एक बढ़िया कदम है.

ओशो ने अपने जीवन में ढेर सारे गुरुओं, संप्रदायों, फकीरों, संतों के बारे में लिखा है उनमें गुरु गोरखनाथ भी हैं. यहां तक कि टॉप टेन की ओशो की सूची में गुरु गोरखनाथ भी हैं. ओशो ने दस की सूची को कसते-कसते आखिर में जिन चार को भारतीय मानस के कालजयी निर्धारक माना है, वो हैं कृष्ण, पतंजलि, बुद्ध और गोरखनाथ. तो, पहले ओपिनियन पोस्ट को धन्यवाद कि उसने बेहद मौके से एक पठनीय आर्टकिल प्रकाशित किया. दूसरा यह कि आप सभी को इस आलेख को पढ़ना चाहिए. नीचे ओपिनियन पोस्ट में कवर स्टोरी के रूप में प्रकाशित आर्टकिल के तीनों पेज हैं. एक-एक पेज पर क्लिक कर पेज को एक्सपैंड करें और अच्छे से पढ़ें. -संपादक, भड़ास4मीडिया

 

 

 

Tagged under osho,

Leave your comments

Post comment as a guest

0
Your comments are subjected to administrator's moderation.
terms and condition.
  • No comments found

Latest Bhadas