A+ A A-

प्रेस क्लब आफ इंडिया के एक पूर्व सदस्य पंकज यादव ने नदीम अहमद काजमी पर फर्जीवाड़े का जो आरोप लगाया था, उसके संबंध में भड़ास पर छपी खबर का संज्ञान लेते हुए प्रेस क्लब आफ इंडिया ने तीन सदस्यीय समिति का गठन कर दिया है. यह समिति पंकज यादव द्वारा लगाए गए आरोपों की जांच करेगी. नदीम अहमद काजमी ने इस मसले पर कुछ भी बोलने से बचते हुए कहा कि जब मामला जांच समिति के हवाले है तो हम सभी को जांच समिति की रिपोर्ट का इंतजार करना चाहिए. नदीम ने बताया कि पंकज यादव पर कुछ गंभीर आरोप थे जिसके कारण उनकी क्लब की सदस्यता निरस्त कर दी गई थी. उसी से खुन्नस खाए पंकज उन पर अनर्गल आरोप लगा रहे हैं.

नदीम ने इस संबंध में प्रेस क्लब आफ इंडिया में लगे सीसीटीवी कैमरे की एक पुरानी फुटेज जारी करते हुए कहा कि इस वीडियो को देखकर लोग पंकज यादव के बारे में अंदाजा लगा सकते हैं. नदीम ने वीडियो के साथ जो लिखकर भेजा है, वह इस प्रकार है- ''Truth of pankaj yadav. Pls have a look. Those in previous committee has already seen. This is for new entrants to open their eyes.'' वीडियो देखने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें : https://www.youtube.com/watch?v=I5XaQPSjqqE

उधर, पंकज यादव ने वीडियो के बारे में बताया कि एक बाहरी व्यक्ति जो गेस्ट के रूप में अंदर आया था, क्लब की महिला मेंबर्स पर लगातार कमेंट कर रहा था. उसे हम लोगों ने कई बार समझाने की कोशिश की. जब वह नहीं माना तो उसे कायदे से धक्का मुक्की करते हुए चेताया गया ताकि वह फिर ऐसी हिमाकत-जुर्रत न कर सके. पंकज के मुताबिक नदीम को क्लब के अंदर के भी उस वीडियो को जारी करना चाहिए था जिसमें वह बाहरी आदमी महिला सदस्यों पर टिप्पणियां कर रहा है. पंकज यादव ने पूरे मामले पर अपना बयान जो भड़ास के पास भेजा है, वह इस प्रकार है....

''It is astonishing, and hilarious too, to note that Mr. Nadeem is trying to JUSTIFY his act of forgery (of tampering Minutes of meetings), by showing this 1.5 years old video. This small part of the complete video is about a non-member of PCI who passed lewd remarks on two ladies inside PCI. One of these ladies later made a written complaint to the then PCI president Anand Sahay, which unfortunately went unanswered and unattended. And, I, was arbitrarily terminated from PCI in a haste by Nadeem, without following the principles of natural justice, without issuing me a show cause notice, and without giving me any chance to explain my side of the story. LET Mr. NADEEM SHOW THE COMPLETE VIDEO right from the begining in the bar room where this guest misbehaved with ladies. My termination was purely a case of POLITICAL VENDETTA by Mr. Nadeem as I had campaigned against Nadeem's panel in the previous elections. Since even now Mr. Nadeem is not in the mood of realising his misdeed, I am left with no other option but to file an FIR against him for tampering Minutes of meeting, and also drag him (personally) to court for his act of forgery.''

पूरे मामले को जानने समझने के लिए इस शीर्षक पर क्लिक करें...

Leave your comments

Post comment as a guest

0
Your comments are subjected to administrator's moderation.
terms and condition.
  • No comments found

Latest Bhadas