A+ A A-

पटना। पत्रकारों पर हमला जनतंत्र पर हमला है, पत्रकारों पर हमला बंद करों, पत्रकारों पर हमला करने वालों दंड दो, पत्रकारों को सुरक्षा दो, इन नारों के साथ साउथ एशियन वीमेन इन मीडिया (स्वाम) की ओर से प्रतिरोध मार्च का आयोजन रविवार को किया गया. प्रतिरोध मार्च सीवान के पत्रकार राजदेव रंजन और झारखंड के अखिलेश प्रसाद सिंह की हत्या के विरोध में निकाला गया है. मार्च रेडियो स्टेशन से डाक बंगला चौराहे तक निकाला गया.

इस मौके पर स्वाम की अध्यक्षा निवेदिता झा ने कहा कि पत्रकार की सुरक्षा के लिए कानून बना हुआ है, लेकिन बिहार में अभी तक इस कानून को लागू नहीं किया गया है. चौथा स्तंभ सच को सामने लाने का काम करता है. ऐसे में पत्रकार की सुरक्षा की जिम्मेवारी सरकार को लेनी चाहिए. पत्रकार राजदेव रंजन की हत्या की सीबीआई जांच होनी चाहिए और पीड़ित परिवार को 50 लाख रूपये का मुआवजा देनी चाहिए. स्वाम के बैनर तले सीटू तिवारी, लीना, सुमिता जायसवाल, शीजान, जरीन अंजुम, इति सरण, ज्योति शर्मा, श्वेता, अंजिता सिन्हा आदि शामिल थीं। स्वाम के इस प्रतिरोध मार्च में कई संगठन भी शामिल हुए. इसमे आइएसए के अध्यक्ष डा. सचिदानंद कुमार, भाषा के डा. रंजीत, रंग संस्था अभियान, बिहार श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के साथ कई छात्र संगठन भी शामिल हुए.

प्रतिरोध मार्च से संबंधित तस्वीरें देखने के लिए नीचे क्लिक करें :

Pics of Pratirodh March

Leave your comments

Post comment as a guest

0
Your comments are subjected to administrator's moderation.
terms and condition.
  • No comments found

इन्हें भी पढ़ें

Popular