A+ A A-

माननीय महोदय

मैं सिंहासन चौहान इस शिकायत पत्र के द्वारा आपका ध्यान इस ओर दिलाना चाहता हूँ कि जहां पूरी दुनिया बदलते पर्यावरण को बचाने में लगी हुई है और इसके लिए पूरी दुनिया में ज्यादा से ज्यादा पेड़ पौधे लगाने के ऊपर जोर दिया जा रहा है वहीं हमारे बेल्थरा रोड (जिला-बलिया, उत्तर प्रदेश) के SDM ने हमें पेड़ लगाने को लेकर हमारे पिताजी के नाम से 58000 रूपये का जुर्माना लगाया है. वह भी तब जबकि हमने अपनी जमीन पर पेड़ पौधे लगाए हैं. सारा मामला यह है कि SDM बेल्थरा रोड बदले की भावना में मुझे परेशान करने के लिए मेरे पिता जी के नाम से नोटिस भेजा था.

नोटिस दो जनवरी का है और हमारे घर एक आदमी 24 जनवरी को वह नोटिस लेकर आया. 11 जनवरी को हमारे भाई का निधन हो जाने की वजह और जरुरी काम से हमारे पिताजी घर पर नहीं थे. इसलिए हमने वह नोटिस रिसीव नहीं किया क्योंकि नोटिस पिताजी के नाम से था और वो घर पर नहीं थे. इससे पहले ना तो हमारे चक की पैमाईश हुई है और ना ही इस बारे में कोई सूचना दी गयी है. जो भी चकरोड बना है उसको छोड़कर हमने अपने चक में ही पेड़ लगाये हैं. ये सब SDM बदले की भावना से प्रेरित होकर मुझे परेशान करने के लिए कर रहे हैं मगर मेरे नाम से कोई जमीन जायदाद नहीं है इसलिए उन्होंने मेरे पिता जी के नाम से नोटिस भेजा है.

दरअसल पूरी कहानी ये है कि गाँव में एक चकरोड के ऊपर दो व्यक्तियों ने अवैध अतिक्रमण किया हुआ है उसके लिए मैंने उत्तर प्रदेश सरकार की जन सुनवाई पोर्टल पर शिकायत दर्ज कराई. मगर लेखापाल और कानूनगो ने पैसे खाकर गलत रिपोर्ट लगाई कि अतिक्रमण हटा दिया गया है. मैंने दुबारा शिकायत की तो फिर गलत रिपोर्ट लगाई गयी. मैंने तीसरी बार शिकायत की तो उसके ऊपर ये रिपोर्ट लगाई की शिकायतकर्ता को बार बार शिकायत करने की आदत है. इस प्रकार मुझे मनोरोगी होने का एहसास दिलाते हैं. इस संबंध में मैंने माननीय जिलाधिकारी महोदय से इस तीन अधिकारीयों के खिलाफ माननीय न्यायालय में मुक़दमा दर्ज कराने की अनुमति मांगी मगर मेरा पत्र SDM बेल्थरा रोड को भेज दिया गया.

फिर मैं मंडलाधिकारी और माननीय मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश से मुक़दमा चलाने की अनुमति मांगी. इससे बदले की भावना से प्रेरित होकर SDM /तहसीलदार बेल्थरारोड़ ने ये नोटिस भेजा है. हमारा एक कमरा TUBE WELL के लिए और एक कमरा पशुओं के भूसा रखने के लिए बना हुआ है. वो हमने अपने चक के अन्दर बनाया है. किसी सरकारी जमीन पर नहीं बनाया है. पेड़ अनुकूल पर्यावरण के लिए चकरोड के किनारे लगाये गए हैं, ना तो कहीं से रास्ता अवरुद्ध है ना किसी को कोई परेशानी है. मेरे पास सारी तस्वीरें, नोटिस और शिकायत की कॉपी मौजूद है. अतः आप से निवेदन है कृपया उचित कार्यवाही कराएं. नहीं चाहिए ऐसी सरकार, नहीं चाहिए ऐसे अधिकारी.

धन्यवाद
भवदीय
सिंहासन चौहान
बलिया
Mob: 9839932064

Leave your comments

Post comment as a guest

0
Your comments are subjected to administrator's moderation.
terms and condition.
  • No comments found