A+ A A-

  • Published in टीवी

Priyabhanshu Ranjan : सुरेश चव्हाणके को जानते हैं? Sudarshan News नाम के 'संघी' चैनल का एडिटर है। सुना है कि ये प्रचार का बड़ा भूखा है। खैर, सुरेश चव्हाणके के नाम से ये मेसेज Swaraj Abhiyan के मीडिया ग्रुप में डाला गया है।

आपको ये भी बता दूं कि कुछ दिन पहले सुरेश पर एक महिला पत्रकार ने रेप का केस दर्ज कराया था। पर कुछ हुआ नहीं, आखिर 'अपनी' सरकार है भई!

पीटीआई में कार्यरत प्रतिभाशाली पत्रकार प्रियभांशु रंजन की एफबी वॉल से.

इसे भी पढ़ें...

xxx

xxx

xxx

xxx

xxx

xxx

Leave your comments

Post comment as a guest

0
Your comments are subjected to administrator's moderation.
terms and condition.

People in this conversation

  • Guest - Rajeev Joshi

    Suresh is not an editor, he never study after 5th standard in school. He does not know journalism. He was a local gunda and a pager seller. He always wants to sleep with a new woman except his own wife. He wants women to do puja of his ling. He is now looking for a new girl secretary. His wife and children also know about his cheap habits. He has cheated his father and brother. God save everybody from this dog.

  • Guest - Narayan Pandey

    इसको पता है कि यही सब प्रपंच करके ये अपने समर्थक कहे जाने वाले कुछ बेरोजगार लोगों की भीड़ की सहायता से सुर्ख़ियों में बने रहना चाहता है ये ऐसे ही पोस्ट डालता है और वे बेचारे लोग इसके समर्थन में आते हैं, ये इतना बड़ा नौटंकी है कि बिना किसी बात के प्रोपगैंडा बनाकर मुस्लिम और ईसाई समाज के खिलाफ लोगों को भड़काता रहता है, पत्रकार भी अपने ही जैसे छांट-छांट कर रखे हैं पत्रकारिता के नाम पर उगाही करते हैं हर उस जगह पर मिलेंगे जहाँ दंगा हो रहा हो या दंगे जैसी हालत हो| देश में सिविल वॉर करवाना इसका एकमात्र मकसद है| एक ऐसा भी विभाग खोल कर बैठा है जो केवल बेरोजगार लोगों को गैर क़ानूनी तरीके से पत्रकार बनाने के नाम पर २ से ५ लाख रुपये ऐंठ लेता है और कुछ न मिले तो केवल 10 से 15 हजार में आपको पत्रकार बना देता है सब कुछ इस बात पर निर्भर करता है कि मुर्गा कितने पैसे निकाल सकता है |