A+ A A-

  • Published in टीवी

हम पत्रकारों और पत्रकारिता जगत के साथियों के साथ खड़े बृजेश मिश्रा जी का दिल से आभार....

साथियों

मैं बेचन रजक, आजमगढ़ जिले के मेहनगर तहसील का पत्रकार हूं. स्थानीय स्तर पर कई सालों से कई समाचार पत्रों में संवाददाता के रूप में कार्य करता रहा. साथ में ई0टीवी0 के इन्फॉर्मर के बाद नेशनल वॉइस चैनल के इन्फॉर्मर के रूप में कार्य करता हूं. एक सप्ताह पहले हमारे इलाके के एक नक़ल माफिया द्वारा सामूहिक नक़ल कराए जाने की एक वीडियो क्लिप वहां की छात्राओं ने भेजा। नकल माफिया के स्कूल का नाम 'नान्हू यादव किसान बालिका महाविद्यालय' है.

मैं मौके पर कवरेज करने गया. कवरेज करने के लिए पत्रकार के आने की बात सुन स्कूल माफिया बाहर आया और उसने मेरे साथ मारपीट की, उसने दबंगई दिखाई. इसकी सूचना हमने अपने जिला रिपोर्टर सुधीर सिंह को दी. मैं काफी घबराया हुआ था और परेशान था. लेकिन सुधीर सिंह तुरंत हरकत में आये और चैनल हेड बृजेश मिश्रा जी तक सूचना पहुंचा दिए. बृजेश जी और सुधीर सिंह एक पत्रकार के हक़ की लड़ाई के लिए खड़े हुए तो पूरा जिला प्रशासन हरकत में आ गया.

इसके बाद नक़ल माफिया प्रबंधक को सामूहिक रूप से चौराहे पर माफ़ी मांगनी पड़ी. पूर्वांचल विश्वविद्यालय जौनपुर के कुलपति ने नकलची विद्यालय की परीक्षा रद्द करते हुए दूसरे केंद्र पर परीक्षा कराने का आदेश दे दिया. इसकी वजह से न सिर्फ मेरे जैसे छोटे पत्रकार का सम्मान बढ़ा बल्कि सैकड़ो ऐसी छात्रायें जो नक़ल माफिया को गरीबी के कारण पैसा न दे पाने के कारण परेशान थीं, प्रताड़ित होती थीं, उनके भी दिल को सुकून मिला.

मै और तमाम छात्रायें दिल से सुधीर सिंह जी और बृजेश मिश्र जी को आभार व्यक्त करते हैं. ये लोग हमेशा न सिर्फ पत्रकारों का मनोबल बढ़ाते हैं बल्कि सुख-दुख की लड़ाई में चट्टान की तरह साथ खड़े रहते हैं.  भगवान से प्रार्थना है कि बृजेश मिश्रा जी को लंबी उम्र दे ताकि वो ऐसे ही प्रदेश के पत्रकारों के हक़ में हमेशा खड़े मिलें.

आपका सबका प्रिय
बृजभूषण उर्फ़ बेचन रजक
संवाददाता
मेहनगर तहसील
आजमगढ़
यूपी


नेशनल वायस चैनल पर संबंधित खबर की न्यूज पट्टी चलती हुई देखिए-पढ़िए... नीचे क्लिक करिए...

Leave your comments

Post comment as a guest

0
Your comments are subjected to administrator's moderation.
terms and condition.
  • No comments found

इन्हें भी पढ़ें

Popular