A+ A A-

  • Published in टीवी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने समय रहते एक बड़ा कदम उठा लिया जिसके कारण यूपी के संभल में दंगा होते होते बच गया. दंगा करवाने की पूरी तैयारी कर चुके सुदर्शन न्यूज के मालिक और संपादक सुरेश चव्हाणके को यूपी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. सुरेश को लखनऊ एयरपोर्ट से गिरफ़्तार किया गया.

सुरेश पर यौन शोषण और ब्लैकमेलिंग समेत कई गंभीर आरोप पहले से ही है. सुरेश चव्हाणके सुदर्शन न्यूज चैनल को संचालित करने वाली कंपनी का सीएमडी है. साथ ही चैनल का संपादक भी है. वह खुद को राष्ट्रवादी संपादक बताते हुए लगातार मुस्लिमों के खिलाफ चैनल पर जहर उगलता रहता है.

सुरेश पर संभल में भारतीय दंड संहिता की धारा 153ए, 259ए और 505 (1ए) के तहत मामला दर्ज है. सुरेश चव्हाणके पर समुदायों के बीच नफ़रत फैलाने, धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने और अफ़वाहें फैलाने के आरोप हैं. साथ ही उस पर संभल को लेकर भ्रामक रिपोर्टिंग करने के आरोप हैं.

सुरेश चव्हाणके पर आरोप है कि उन्होंने अपने चैनल पर सांप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने वाली ख़बरें प्रसारित की हैं. सुरेश चव्हाणके ने 13 अप्रैल को संभल के एक धर्मस्थल में जल चढ़ाने का एलान किया था जिसके बाद एक स्थानीय कांग्रेसी नेता इतरत हुसैन बाबर ने चव्हाणके के संभल पहुंचने की स्थिति में उन पर हमला करने की धमकी दी थी. पुलिस ने ख़ुद को शहर की जामा मस्जिद का इमाम बताने वाले बाबर को भी एफ़आईआर में नामजद किया है. एक स्थानीय भाजपा नेता का नाम भी एफ़आईआर में है.

मूल खबर...

Leave your comments

Post comment as a guest

0
Your comments are subjected to administrator's moderation.
terms and condition.
  • No comments found

Latest Bhadas