A+ A A-

कोलकाता. उद्योगपति व समाजसेवी बसंत कुमार बिरला की धर्मपत्नी डॉ सरला बिरला की शनिवार को हृदय गति रुकने से आकस्मिक निधन हो गया. वह 90 वर्ष की थीं. शनिवार की सुबह नयी दिल्ली स्थित आवास पर उन्होंने अंतिम सांस ली. पारिवारिक सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, वृद्धावस्था की वजह से वह काफी दिनों से अस्वस्थ थीं. उनके आकस्मिक निधन से दिल्ली के साथ-साथ पूरे कोलकाता शहर में शोक का माहौल है.

यह संयोग ही है कि बिरला परिवार के पुरोधा घनश्याम दास बिरला का जन्म 1894 में रामनवमी को ही हुआ था. सरला जी जिन्हें सभी लोग ताउम्र बिन्नी जी (नयी नवेली दुल्हन) के नाम से ही संबोधित करते रहे, जीडी बिरला के बहुत ही करीब थीं. उनका पिता-पुत्री जैसा रिश्ता रहा. मारवाड़ी परिवार में जन्मीं श्रीमती बिरला ने अपना जीवन मानवता के प्रति समर्पित कर दिया. रविवार को उनका पार्थिव शरीर विशेष विमान से दिल्ली से कोलकाता लाया जायेगा. सुबह 10 बजे के करीब उनका पार्थिव शरीर कोलकाता एयरपोर्ट पहुंचेगा. वहां से शव को सीधे बिरला हाउस ले जाया जायेगा. शाम चार बजे के करीब पार्थिव शरीर को अंत्येष्टि के लिए श्मशान घाट ले जाया जायेगा.

Tagged under death,

Leave your comments

Post comment as a guest

0
Your comments are subjected to administrator's moderation.
terms and condition.
  • No comments found

Latest Bhadas