दिल्ली में कांग्रेस ने अपने वोट AAP को शिफ्ट कराया, UP में भाजपा के लिए ज़रूरी है बहिनजी मजबूत रहें!

Ajit Singh : दिल्ली की चाभी Congress के पास थी, है और रहेगी। दिल्ली में कौन जीतेगा ये congress तय करती है। पिछले 5-7 सालों से कांग्रेस का औसतन 22-24% भोट दिल्ली में रहा है। 2015 में भी congress ने तय किया था कि दिल्ली में केजरू रहेगा सो उसने अपना भोट AAP को दे …

भाजपा की खूबी को अरविंद केजरीवाल ने अपनी चतुराई से खामी में बदल डाला!

एग्ज़िट पोल पहले ही कह रहे थे कि दिल्ली में मोदी-शाह की तिकड़म नहीं चलेगी लेकिन शायद यह अंदाज़ा किसी को भी नहीं था कि आम आदमी पार्टी फिर से तीन-चौथाई बहुमत ले जाएगी और भाजपा की हार इतनी बुरी होगी। सत्तर में से 62 सीटें जीत कर अरविंद केजरीवाल ने लगातार तीसरी बार मुख्यमंत्री …

रांची प्रेस क्लब के शपथग्रहण समारोह में माफिया, अपराधी और धनपशुओं ने भी मंच शेयर किया!

Vinay Chaturvedi : अपने ही कार्यक्रम में आज सिर शर्म से झुक गया। राँची प्रेस क्लब के नवनिर्वाचित पदाधिकारियों और सदस्यों के ‘शपथग्रहण समारोह’ में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, जस्टिस अमरेश्वर सहाय और कतिपय बुद्धिजीवियों के साथ माफिया, कथित अपराधी और धनपशुओं ने भी मंच शेयर किया। Share on: 20 20

राजदीप एग्जिट पोल के सटीक निकलने पर नाच रहे थे, बीजेपी की हार पर नहीं!

Navin Kumar : संदर्भ से काटकर तस्वीरों को देखने की स्थिति कई बार बहुत फूहड़ हो जाती है। राजदीप सरदेसाई को स्टूडियो में बीजेपी की हार पर नाचता बताने वाले वो लोग है जो कभी इंडिया टुडे टीवी नहीं देखते। तो तस्वीर बंदर के हाथ में उस्तरे जैसी है। Share on: 20 20

बालिका गृह कांड की रिपोर्टिंग के दौरान एक टीवी संपादक ने क्या-क्या झेला, पढ़िए

संतोष सिंह बिहार झारखंड के न्यूज चैनल कशिश न्यूज के संपादक हैं. उन्होंने मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड को लेकर लगातार ब्रेकिंग न्यूज दिए. पूरे प्रकरण पर लगातार खबरों का प्रसारण कराया. इस दौरान उन्होंने क्या क्या झेला, इसका खुलासा फेसबुक पर तब किया जब इस कांड के आरोपी ब्रजेश ठाकुर को सजा हो गई. पढ़िए …

दोनों किडनी गंवा चुके पत्रकार की मदद के लिए CM आए आगे

वाराणसी । अपनी दोनों किडनी गवां चुके उर्दू पत्रकार तनवीर मिर्जा को लेकर खबर क्या छपी की झारखंड CM हेमन सोरेन ने तात्कल इसका संज्ञान लिया और डिप्टी कमिश्नर रांची को ट्वीटर पर ही कैबिनेट फैसले के आलोक में मुख्यमंत्री असाध्य रोग उपचार योजना के तहत मदद पहुंचाते हुए सूचित करने का निर्देश दे दिया। …

दिल्ली में बीजेपी को मात से यूपी में विरोधियों की बाछें खिली

संजय सक्सेना, लखनऊ जंग और मोहब्बत में सब कुछ जायज होता है। यह जुमला मौजूदा सियासत पर बिल्कुल फिट बैठता है। अगर ऐसा न होता तो कांग्रेसी दिल्ली में खुद को मिटाकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की हार का जश्न नहीं मानते। दिल्ली पर लम्बे समय तक राज करने वाली कांग्रेस का पिछली बार की …

‘युगतेवर’ पत्रिका के संपादक कमलनयन पांडेय 12वें पं. बृजलाल द्विवेदी सम्मान से सम्मानित

अच्छा इंसान बनने के लिए साहित्य पढ़ना जरूरी : रघु ठाकुर भोपाल। प्रख्यात साहित्यकार एवं ‘युगतेवर’ पत्रिका के संपादक श्री कमलनयन पांडेय को 12वें पं. बृजलाल द्विवेदी स्मृति अखिल भारतीय साहित्यिक पत्रकारिता सम्मान से सम्मानित किया गया। भोपाल के गांधी भवन में मीडिया विमर्श पत्रिका एवं मूल्यानुगत मीडिया अभिक्रम के संयुक्त तत्वावधान में ससम्मान समारोह …

गैंगस्टर लगाकर नोएडा जेल में बंद कराए गए चारों पत्रकार रिहा हो गए

23 अगस्त 2019 को गौतमबुद्धनगर (नोएडा) पुलिस ने पांच पत्रकारों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया। इसके बाद अलग-अलग जगहों से चार पत्रकारों को नोएडा पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया। लखनऊ, गाजियाबाद और गौतमबुद्धनगर से गिरफ्तार किए गए पत्रकारों के नाम नितीश पांडे, चंदन राय, उदित ठाकुर और सुशील पंडित हैं। Share on: 20 20

सत्ता के चापलूस एसडीएम के कारण ग़ाज़ीपुर आज शर्मिंदा है!

Yashwant Singh : ग़ाज़ीपुर की बागी धरती का मूल निवासी होने के नाते मैं शर्मिंदा हूं कि चौरीचौरा से चले दस युवा सत्याग्रहियों को जिले में पदस्थ सत्ता के एक चापलूस टाइप एसडीएम ने अरेस्ट कर जेल भिजवा दिया. Share on: 20 20

एबीपी न्यूज ने रिपब्लिक भारत को पीछे किया

इस साल के पांचवें हफ्ते की टीआरपी में एक बड़ा बदलाव एबीपी न्यूज ने हासिल किया है. उसने रिपब्लिक भारत को एक पायदान नीचे धकेलते हुए खुद को नंबर पांच पर ला दिया है. Share on: 20 20

ये कौन एसडीएम है जिसने विद्रोह की धरती गाजीपुर की नाक कटा दी!

गाजीपुर किस जुल्मी तानाशाह की जागीर है, जहां महात्मा गांधी के दिखाए डगर पर चलने की पाबंदी है? Share on: 20 20

कलेट्टर के नाम खत : गाजीपुर कोई वर्जित क्षेत्र नहीं जिसकी जमीन से गुजरना कोई जुर्म बनता है!

कलेट्टर गाजीपुर के नाम एक खत। प्रिय कलेट्टर Share on: 20 20

प्रिय पीएम मोदी जी, पत्रकारों को थोड़ी पत्रकारिता करने दीजिए!

प्रिय पीएम मोदी जी आपका हमेशा मीडिया जगत से आग्रह होता है। लेकिन कभी आप पत्रकारों से आग्रह नहीं करते। आज मीडिया जगत के ज्यादातर मालिक सरकार का गुलाम सा बन गये है। उन मालिकों की हां में हां और ना में ना बड़े बड़े और छोटा पत्रकार भी शामिल है। Share on: 20 20