कैसे आते हैं बदलाव : अशिक्षित होना और मूर्ख होना दो अलग बाते हैं!

स्कूल-कॉलेज विधिवत औपचारिक शिक्षा के मंच हैं और व्यक्ति यहां से बहुत कुछ सीखता है। शिक्षित व्यक्ति के समाज में आगे बढऩे के अवसर अशिक्षित लोगों के मुकाबले कहीं अधिक हैं। एक कहावत है कि विद्वान व्यक्ति गेंद की तरह होता है और मूर्ख मिट्टी के ढेले की तरह, नीचे गिरने पर गेंद तो फिर …

पुलिस को क्यों नहीं मिल पता है अंधेरे का लाभ?

पुलिस को लेकर मेरे मन में एक अलग तरह के सम्‍मान भाव बचपन से ही रहे हैं। मैं पुलिस को चमत्‍कारी मानता हूं, क्‍योंकि जो चमत्‍कार पुलिस कर सकती है, उसे करना भगवान के वश की भी बात नहीं है। परंतु, कुछ नासपीटों को पुलिस में हमेशा ही खामी नजर आती है। पुलिस इन नासपीटों …

BJP आईटी सेल ने जिसे रवीश कुमार बताया, वो तो महिला निकली! देखें तस्वीरें

Ravish Kumar : वो शकीला बेगम हैं, रवीश कुमार नहीं… आई टी सेल के मुख्य कार्यों में एक काम रवीश कुमार को लेकर अफ़वाहें फैलाना भी है। आई टी सेल एक मानसिकता भी है। मुझे लेकर हर समय कोई न कोई सामग्री आती रहती है। Share on: 20 20

‘माइनारिटी की ही आबादी अधिक बढ़ रही है’ वाले बयान से नाराज अमिताभ ठाकुर ने सीएम योगी को लिखा पत्र

यूपी के आईपीएस अफसर और आईजी अमिताभ ठाकुर अपने बेबाक बोल के लिए जाने जाते हैं. करप्शन के खिलाफ लड़ने वाले अमिताभ ठाकुर जीवन में जन सरोकार को तरजीह देते हैं. यही कारण है कि वे हमेशा सत्ता की आंखों में चुभते हैं. Share on: 20 20

साहित्य हमें उदार बनाता है : प्रो. सदानंद

‘शीतलवाणी’ के राजेन्द्र राजन विशेषांक का लोकार्पण सहारनपुर। देश के जाने माने गीतकार राजेन्द्र राजन पर केन्द्रित ‘शीतलवाणी’ हिन्दी त्रैमासिक का हिन्दी के प्रख्यात विद्वान व उ. प्र. हिन्दी संस्थान के कार्यकारी अध्यक्ष प्रो.सदानंद गुप्त तथा सुविख्यात साहित्यकार तथा उ. प्र. हिन्दी संस्थान के निर्वतमान कार्यकारी अध्यक्ष उदय प्रताप सिंह तथा सहारनपुर के पूर्व कमिश्नर …

पहले अस्थाई मंदिर में विराजेंगे प्रभुराम!

अजय कुमार, लखनऊ अयोध्या। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट का गठन होने के बाद से प्रभु श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण की ओर पहला कदम बढ़ाते हुए ट्रस्ट ने आम सहमति से रामलला को उनके स्थान से हटा कर अस्थाई मंदिर में विराजने का काम शुरू कर दिया है ताकि निर्माण के दौरान रामलला …

बुंदेलखंड राज्य के लिए मोदी-शाह को खूनी खत

अजय कुमार, लखनऊ लखनऊ । अलग बुंदेलखंड राज्य के गठन की मांग को लेकर मध्या प्रदेश एवं प्रदेश में 603 दिनों से चल रहा आंदोलन लगातार जनसमर्थन बटोरता जा रहा है। इसे करीब साढ़े तीन लाख लोग हस्ताक्षर कर अपना समर्थन दे चुके हैं। Share on: 20 20

‘टाइम्स आफ इंडिया’ भी योगी जी के चरणों में, तेवरदार संपादक को हटाकर भगवा संपादक बिठाया!

बड़े मीडिया हाउसों का शीघ्र पतन हाल-फिलहाल का रोग नहीं है. दिल्ली में मोदी जी और लखनऊ में योगी जी के प्रबंधक बड़े मीडिया हाउसों को अपने अनुकूल करने की पूरी कवायद करते रहते हैं. इसी क्रम में टाइम्स आफ इंडिया लखनऊ के तेवरदार संपादक राजा बोस को हटाकर एक भगवा पत्रकार को संपादक बनाया …

एबीपी गंगा ने मेरी गिरफ्तारी की झूठी खबर चलाई : पत्रकार नवजीत सिंह

यशवंत जी सादर प्रणाम मैंने एक शिकायत एबीपी गंगा में पंकज कुमार, अभिनव पाण्डेय और महोबा के रिपोर्टर ब्रजेन्द्र राजपूत के खिलाफ की थी. इनकी शिकायत एबीपी के उच्च अधिकारियों से की. इन व्यक्तियों की कारगुजारियों की एक शिकायत मेल की थी. इसके चलते एक फर्जी मुकदमा अभिनव शुक्ल के माध्मय से स्थानीय रिपोर्टर बृजेन्द्र …

रिहा हुईं पत्रकार प्रदीपिका ने गाजीपुर जेल में बंद महिलाओं की खराब हालत पर आवाज उठाई

Samar Anarya : बेहद प्यारी ख़बर के साथ शुरू हो, इन ‘अच्छे दिनों’ में ये हादसा कम ही होता है। ख़ैर शुक्र है कि आज हुआ… Share on: 20 20

गाजीपुर जेल पहुंची भड़ास टीम, जानें क्यों और किसलिए!

रिहा होने के बाद भी गाजीपुर जेल को नहीं भूली सत्याग्रह पर निकली दिल्ली की पत्रकार प्रदीपिका! Share on: 20 20

तीन पायदान लांघते हुए एबीपी न्यूज बन गया नंबर दो न्यूज चैनल, जी न्यूज हुआ धड़ाम!

एबीपी न्यूज ने कमला कर दिया. पांचवें सप्ताह ये पांच नंबर पर था. इस छठें सप्ताह वह दो नंबर पर आ गया. पूरे तीन न्यूज चैनलों को इसने पछाड़कर नंबर दो की कुर्सी पर कब्जा कर लिया है. एबीपी न्यूज ने जी न्यूज, न्यूज18 और इंडिया टीवी को पीछे कर दिया. Share on: 20 20