एबीपी गंगा ने मेरी गिरफ्तारी की झूठी खबर चलाई : पत्रकार नवजीत सिंह

यशवंत जी

सादर प्रणाम

मैंने एक शिकायत एबीपी गंगा में पंकज कुमार, अभिनव पाण्डेय और महोबा के रिपोर्टर ब्रजेन्द्र राजपूत के खिलाफ की थी. इनकी शिकायत एबीपी के उच्च अधिकारियों से की. इन व्यक्तियों की कारगुजारियों की एक शिकायत मेल की थी. इसके चलते एक फर्जी मुकदमा अभिनव शुक्ल के माध्मय से स्थानीय रिपोर्टर बृजेन्द्र राजपूत द्वारा महोबा कोतवाली में मेरे खिलाफ पंजीकृत कराया गया. 66 D IT ACT में .

मैं अपना बयान दर्ज कराने वहां गया था. मेरी कोई गिरफ़्तारी नहीं हुई. इन लोगों ने शासन पर दबाव बनाकर अपने भ्रष्टाचार को छुपाने हेतु मेरी आवाज को दबाने का प्रयास किया. लेकिन पुलिस की निष्पक्ष कार्यशैली के चलते मैंने ससम्मान वापसी कर ली.

मैं अपने बारे में बता दूं. मैं न्यूज़ नेशन से इस्तीफ़ा दे चुका हूं. मैंने चैनल ससम्मान छोड़ा था. मुझे निकाला नहीं गया था. वर्तमान में मैं जन टीवी में संवाददाता के रूप में लखनऊ में कार्यरत हूं.
क्या शिकायत करना भी अपराध है तो में जेल जाना पसंद करुगा अभिव्यक्ति का अधिकार तो सबको है यशवंत जी

एबीपी गंगा ने मेरे बारे में गलत खबर चलाई है.

मैंने जो शिकायतें एबीपी को की हैं, उसकी हेडिंग ये हैं-

1- खनन के खेल के सरगना बने एबीपी के रंगकर्मी

2- बुंदेलखंड में खनन की चाशनी में डूबे एबीपी गंगा के स्थानीय पत्रकार

उपरोक्त दो शीर्षकों से मैंने विस्तार से एबीपी के कई रिपोर्टरों के बारे में एबीपी प्रबंधन को मेल से अवगत कराया. पर मेरी शिकायतों का संज्ञान लेने की जगह मुझे ही चैनल व इनके रिपोर्टरों ने मिलकर फंसा दिया. साथ ही मेरे खिलाफ फर्जी मुकदमा लिखाकर मेरी गिरफ्तारी की भी फर्जी खबर चला दी.

क्या इतने बड़े संस्थान में कोई कुछ भी चलवा सकता है? एबीपी प्रबंधन मेरी शिकायतों का संज्ञान ले, मेरी गिरफ्तारी की फर्जी खबर चलाने की जांच कराए. सब दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा.

नवजीत सिंह
पत्रकार
जालौन / लखनऊ
संपर्क- 9161336688

इसे भी पढ़ें-

यूपी में एक टीवी पत्रकार ने दूसरे को करा दिया गिरफ्तार

  • भड़ास की पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए आपसे सहयोग अपेक्षित है- SUPPORT

 

 

  • भड़ास तक खबरें-सूचनाएं इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Comments on “एबीपी गंगा ने मेरी गिरफ्तारी की झूठी खबर चलाई : पत्रकार नवजीत सिंह

  • यशवंत जी नवजीत एक नम्बर का फ्रॉड आदमी है अब सफाई देता फिर रहा है, इसने महोबा में अपने गैंग को बना रखा है इसमें इरफान पठान और उसकी कंपनी भी काम करती है। यह पिछले 6 साल से गैंग बनाकर लूट मचाये है युवाओं का शोषण कर रहा है। इसने जो अपना पक्ष रखा है वह सब झूठ है। यह उरई में गिरफ्तार हुआ जिसे महोबा पुलिस ने गिरफ्तार किया और इसने महोबा पुलिस को एक माफी नामा भी लिखा है, और इसने पुलिस के सामने कहा कि अब यह कभी नहीं करेगा। इसने सबके सामने माफी मांगी और तब जमानत पर छूटा। इसका मैं आपको प्रूफ भी है।

    Reply
  • निक्की खान says:

    यशवंत जी आपको बता दें कि नवजीत बेकसूर है उन्होंने सिर्फ शिकायत की जो कोई भी किसी की कर सकता है रही बात नादिर जैसे लोगो की ये खुद जालौन में ABP संवाददाता बनने के लिए डेढ़ लाख की बोली लगा चुका है जिसकी शिकायत नवजीत पत्रकार ने की तो एक झूठा मामला रच दिया गया। जबकि नादिर खुद तथाकथित पत्रकार का चोला ओढ़कर ठगने का काम करता है इसके कई सबूत मेरे पास उपलब्ध है। ये कैसे एक चैनल का खुद को जालौन और महोबा संवाददाता बताकर ठगी कर रहा है यहीं नहीं कई लोगो को नोकरी दिलाने के नाम पर भी ठग चुका है। साथ ही ये और इसके साथी लोगो पत्रकार बनाने के नाम पर न्यूज़ पोर्टल थमा कर रकम ऐठने का काम करते है।साथ ही अभी भी जन TV का खुद को संवाददाता बताकर लोगो को भ्रमति कर रहा है। जालौन में इसके खिलाफ कई मुकदमें भी दर्ज हुए जिन्हें रफा दफा करके ये महोबा में अपनी ससुराल के रहमों करम में कांशीराम कालौनी ने गुजर बसर करता रहा यहाँ भी कई लोगो से कर्ज ले लिया फिर उन्हें भी चुना लगाकर भाग गया।

    Reply

Leave a Reply to Nadir shah Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *