A+ A A-

  • Published in सुख-दुख

Surya Pratap Singh : मुझे मार के क्या मिलेगा, किसी को! कल रात मेरे घर पर हथियारधारी गुंडों ने दो बार धावा बोला... शराब के नशे में धुत्त भगवा गमछाधारी, राइफ़ल व बंदूक़ों के साथ, अराजक तत्वों ने रात १०.३० बजे और फिर रात १.३० बजे हमला करने की कोशिश की। पुलिस के उच्च अधिकारियों ने भी फ़ोन नहीं उठाये। पूर्व सरकार में ये होता तो मुझे दुःख नहीं होता। वर्तमान सरकार को बनवाने में कहीं न कहीं हम सब का भी role है। दुःख इस बात का है कि योगी सरकार में भी मेरे जैसे पूर्व आईएएस अधिकारी के साथ यह सब हो रहा है।

२९ मई को एक माफ़िया, गौरव उपाध्याय, पूर्व विधायक (शिव सेना) व हिंदू युवा महासभा के स्वमभु अध्यक्ष की 'बाहुबली' लिखी गाड़ियों के मैंने फ़ोटो लिए थे। उनके गुर्गों ने मेरी गाड़ी रोक कर फ़ोटो खिंचने पर आपत्ति की थी और आक्रोश जताया था। क्या इन लोगों का हाथ है ? या फिर जिन भ्रष्ट अधिकारियों/ नेताओं/इंजिनीयर्स/माफ़िया के घोटाले, मैंने उठाए हैं,उनका हाथ है? ये तो पुलिस जाँच से ही पता चलेगा। मैंने FIR दर्ज करा दी है।

क्या सच का साथ देना .....भ्रष्टाचार के मुद्दे उठाना कोई अपराध है ? क्या जिस की लाठी उसकी भैंस वाली बात ही चलेगी उ.प्र. में, चाहे कोई भी सरकार आ जाए ?
ठीक है, यदि मुझे मार के भृष्टाचारियों का काम चल जाता है, तो मार लो ! मेरे बच्चे/परिवार को ऊपर वाला देख लेगा।

भाजपा नेता और पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह की एफबी वॉल से.

नीचे सूर्य प्रताप सिंह की वो पोस्ट्स हैं जिनके जरिए उन्होंने योगी राज को आइना दिखाने की कोशिश की...

xxx

xxx

xxx

xxx

xxx

xxx

भड़ास4मीडिया डॉट कॉम को छोटी-सी सहयोग राशि देकर इसके संचालन में मदद करें: Rs 100 > Rs 200 > Rs 500 > Rs 1000 > Rs 2000 > Rs 5000

Tagged under Surya Pratap Singh,

Leave your comments

Post comment as a guest

0
Your comments are subjected to administrator's moderation.
terms and condition.

People in this conversation

Latest Bhadas