A+ A A-

इंडियन एक्सप्रेस ने अखिलेश यादव के मुख्यमंत्रित्व वाले कार्यकाल में यश भारती एवार्ड पाने वाले लोगों की जो कुंडली प्रकाशित की है, उससे पता चलता है कि सिर्फ नेताओं और अफसरों द्वारा ही नहीं बल्कि पत्रकारों द्वारा सिफारिशी लोगों को भी यश भारती एवार्ड मिल गया.आरटीआई से मिले सूचना के अनुसार पत्रकार सुनीता एरोन ने डॉक्टर कमर रहमान (एमिटी यूनिवर्सिटी में डायरेक्टर और डीन (रिसर्च), रवि कपूर (फोटोग्राफर) और अतुल तिवारी (फिल्मकार) के नाम की यश भारती के लिए अनुशंसा की थी. ये सुनीता एरोन कौन हैं भाई? ये हिन्दुस्तान टाइम्स के लखनऊ संस्करण की स्थानीय संपादक हैं.

एचटी लखनऊ की आरई सुनीता एरोन ने कई लोगों की सिफारिश की और उन्हें यश भारती मिल गया. सुनीता एरन सीधे मुख्यमंत्री कार्यालय को ईमेल से अपनी सिफारिश भेजती थीं. वे जिसके लिए सीएम आफिस को मेल डाल देती थीं, उन्हें यश भारती मिल जाता था. कुछ नाम देखिए...कमर रहमान को विज्ञान के क्षेत्र में यश भारती मिला जिसके लिए सिफारिश सुनीता एरन (वरिष्ठ पत्रकार) और आईएएस प्रांजल यादव ने की थी. फोटोग्राफी में रवि कपूर को यश भारती मिला जिसके लिए वरिष्ठ पत्रकार सुनीता एरन ने सिफारिश की थी. इसी तरह फिल्म निर्माता अतुल तिवारी भी सुनीता एरन की सिफारिश से यश भारती हथियाने में कामयाब हुए.

- Qamar Rehman, Noida, Science. Who recommended (endorsed): Sunita Aron, Resident Editor, Hindustan Times, Lucknow and IAS officer Pranjal Yadav.

- Ravi Kapur, Lucknow, Art Photography. Who recommended (endorsed): Applied himself, recommended by Sunita Aron, Resident Editor, Hindustan Times, Lucknow.

- Atul Tewari, Lucknow, Film maker. Who recommended (endorsed): Sunita Aron, Resident Editor, Hindustan Times, Lucknow.

इसे भी पढ़ें...

xxx

xxx

xxx

Leave your comments

Post comment as a guest

0
Your comments are subjected to administrator's moderation.
terms and condition.
  • No comments found

Latest Bhadas