एडवोकेट उमेश शर्मा की पत्नी एडवोकेट सुनीता भारद्वाज पर दिल्ली में दिनदहाड़े प्राणघातक हमला

भ्रष्ट बिल्डर-पुलिस गठजोड़ ने मिल-जुल कर कराया हमला… बाराखंभा रोड के न्यू दिल्ली हाउस में है उमेश और सुनीता का आफिस… इसी बिल्डिंग के बिल्डर से सुविधाओं को लेकर चल रहा था विवाद.. पुलिस से गठजोड़ करके बिल्डर ने एडवोकेट सुनीता भारद्वाज पर जानलेवा हमला करा दिया… अपने आफिस में जाने के दौरान किया गया हमला… कपड़े फाड़ डाले और सिर पर गहरा वार किया…

लहूलुहान सुनीता भारद्वाज बाराखंभा रोड थाने में हैं मौजूद… दिल्ली पुलिस लगातार कर रही है असहयोग… केंद्र सरकार के अधीन दिल्ली पुलिस का निकृष्टतम रूप आया सामने…. आरोपियों को अरेस्ट करने की बजाय पीड़ित को ही दे रही दिल्ली पुलिस नसीहत….

इस प्रकरण के बारे में भड़ास4मीडिया के एडिटर यशवंत सिंह ने फेसबुक पर जो लिखा है, वह इस प्रकार है…

सुप्रीम कोर्ट के वकील Umesh Sharma की पत्नी सुनीता भारद्वाज पर हुआ जानलेवा हमला.. सुनीता जी भी हैं दिल्ली हाईकोर्ट की बड़ी वकील… बाराखंभा रोड स्थित न्यू दिल्ली हाउस बिल्डिंग के आफिस में घुसते समय हुआ हमला.. इस बिल्डिंग के बिल्डर से सुविधाओं को लेकर चल रहा है विवाद… दिल्ली की भ्रष्ट पुलिस मिली हुई है अपराधी बिल्डर से… आरोपी हमलावरों को पकड़ने की बजाय दिल्ली पुलिस पीड़िता एडवोकेट सुनीता शर्मा को दे रही है नसीहत… दिल्ली में मीडिया के साथी जो भी मौजूद हों, कृपया बाराखंभा रोड थाने पहुंच कर पीड़िता का बयान रिकार्ड करें-करवाएं और एडवोकेट उमेश शर्मा से संपर्क कर डिटेल लें.. उमेश जी का मोबाइल नंबर 9868235388 है..  इस मामले को गृह मंत्री राजनाथ सिंह के संज्ञान में लाने का भी प्रयास किया जाए क्योंकि दिल्ली के दिल कहे जाने वाले कनॉट प्लेस के करीब स्थित न्यू दिल्ली हाउस बिल्डिंग में दिनदहाड़े एक जानी मानी सीनियर महिला वकील पर हमला किया जाना भयावह है… इसके बाद दिल्ली पुलिस का जो रवैया है, वह कतई जनपक्षधर नहीं है बल्कि ऐसा प्रतीत होता है कि बिल्डर ने पूरी प्लानिंग के साथ दिल्ली पुलिस को मिलाकर हमले की कार्यवाही को अंजाम दिलाया है… दिल्ली पुलिस केंद्र सरकार के अधीन है.. इस पुलिस बल का यूं करप्ट होते जाना भाजपा और मोदी सरकार पर दाग के समान है…

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “एडवोकेट उमेश शर्मा की पत्नी एडवोकेट सुनीता भारद्वाज पर दिल्ली में दिनदहाड़े प्राणघातक हमला

  • Rajesh Agrawal says:

    घोर निंदनीय। आरोपियों को गिरफ्त में लेकर उन्हें सलाखों के पीछे भेजा जाना चाहिए।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *