उन्नीस का चुनाव बीजेपी जीत गई तो हिंदू राष्ट्र बनाने के लिए संविधान संशोधन हो जाएगा! देखें वीडियो

पुलिस महकमें में ऊँचे ओहदे पर तैनात अमिताभ ठाकुर जो विगत में भी लगातार विवादित टिप्पणिया करते रहे हैं, इसी क्रम में इन्होंने कल 28 अगस्त 2014 को फेसबुक महात्मा गाँधी एवं महिला समाज पर बेहद ही आपत्तिजनक टिप्पणी करते हुए कहा कि बापू “गैर औरतों के साथ नंगे अथवा अन्यथा सार्वजनिक रूप से सोते थे” और महात्मा गाँधी विवाहित और अविवाहित महिलाओ के साथ शारीरिक संबध बनाया करते थे। कल से इस पोस्ट पर तमाम सरकारी और गैरसरकारी लोग राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी पर घिनौनें लेख लिख रहे हैं जिसमें यहाँ तक लिखा गया कि वे गाँधी को अपना राष्ट्रपिता मानने से इनकार करते हैं।

फेसबुक के फ्री बेसिक्स प्लान को ट्राई ने दिया झटका

कई महीनों से फेसबुक जिस फ्री इंटरनेट बेसिक का अभियान चला रहा था, ट्राई ने उसकी हवा निकाल दी. ट्राई यानि टेलिकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने डेटा सर्विसेज की भेदभावपूण दामों पर अंतिम दिशानिर्देश की घोषणा कर दी है. ट्राई ने एक बयान में कहा, “कोई भी सेवा प्रदाता किसी भी ऐसी व्यवस्था या अनुबंध को जारी नहीं करेगा जिससे डाटा सेवाओं पर भेदभावपूर्ण शुल्कों का असर हो”. ट्राई के अनुसार, सेवा प्रदाताओं को अलग-अलग शुल्क के लिए अनुमति देना पूरी इंटरनेट डेटा संरचना के साथ समझौता कर हो सकता है. ट्राई ने कहा कि किसी भी वर्जित नया लॉन्च पैकेज/ प्लान या वाउचर को अनुमति नहीं दी जाएगी.

छत्तीसगढ़ में पत्रकारों पर ज्यादती रोकने और दर्ज प्रकरणों की उच्च स्तरीय समीक्षा के लिए समिति गठित

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि स्वस्थ लोकतांत्रिक मूल्यों के अनुरूप राज्य सरकार छत्तीसगढ़ में पत्रकारों की स्वतंत्रता बनाए रखने के लिए वचनबद्ध है। उन्हें कर्तव्य निर्वहन के दौरान पूर्ण रूप से हर प्रकार का कानूनी संरक्षण मिलेगा। डॉ. सिंह ने बताया कि छत्तीसगढ़ में स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता की स्वस्थ परम्परा को निरंतर बनाए रखने के लिए गृह (पुलिस) विभाग को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए हैं। 

सुब्रत राय की रिहाई के लिए अपनी संपत्तियों को बेचेगा सहारा

2 साल से जेल में बंद सहारा प्रमुख की रिहाई के लिए धन का बंदोबस्त करने हेतु सहारा समूह ने अपनी संपत्तियों को बेचने के बारे में सुप्रीम कोर्ट में मंगलवार को नया प्रस्ताव पेश किया. इस प्रस्ताव के आधार पर प्रधान न्यायाधीश तीरथ सिंह ठाकुर, न्यायमूर्ति ए आर दवे और न्यायमूर्ति ए के सीकरी की पीठ ने सेबी से चार सप्ताह के भीतर जवाब मांगा है.

अमर उजाला पर विज्ञापन न मिलने से डीजीपी के खिलाफ खबर छापने का आरोप

अमर उजाला को विज्ञापन न देने पर डीजीपी के खिलाफ 31 जनवरी और 1 फरवरी को प्रकाशित खबरों के मामले ने तूल पकड लिया है। पुलिस अधिकारियों ने अमर उजाला न पढ़ने की चेतावनी जारी कर दी है। साथ ही अमर उजाला के विज्ञापन कर्मी के खिलाफ नगर कोतवाली देहरादून में मुकदमा दर्ज कर लिया है। सूत्रों की मानें तो अब अमर उजाला के पदाधिकारी मुख्यमंत्री हरीश रावत से मिलकर मामले में समझौता कराने के प्रयास में लगे हैं।

मुंबई में वरिष्ठ पत्रकार रवि किरण देशमुख का सम्मान

मुंबई : सरकार के बदलते ही मुंबई विश्वविद्यालय में बनने वाले हिंदी भवन का कार्य रुक गया. कांग्रेस-राकांपा सरकार के दौरान भवन निर्माण के लिए भूमिपूजन किया गया था. काम रुकने के बाद में एक बार फिर हिन्दीभाषी समाज ने राज्यमंत्री विद्या ठाकुर के सामने यह मांग रखी है कि हिंदी भवन बनाने का कार्य जल्द से जल्द शुरू किया जाए. इस पर उन्होंने आश्वासन दिया है कि इस बारे में वे मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवनीस से चर्चा करेंगी. मौका था मुंबई हिंदी पत्रकार संघ की तरफ से आयोजित समारोह का. समारोह में मुंबई के मीडिया सलाहकार वरिष्ठ पत्रकार रवि किरण देशमुख का सम्मान किया गया.

Assam newspapers are more workers friendly

Two major newspaper houses of Assam namely; Assam Tribune Pvt. Ltd., the publishers of ‘Assam Tribune’, ‘Dainik Asom’, ‘Asom Bani’ and ‘Gariyashi’ and Omega Printers & Publishers Pvt. Ltd., which publishes ‘Sentinel’ (English) and ‘Sentinel’ (Hindi) have implemented the Majithia Wage Board Award. The ‘Joint Inspection Team’ (JIT) constituted by the Govt. of Assam in compliance with the order of the Supreme Court of India has said in its report.

बारहवीं विकास संवाद मीडिया फैलोशिप के लिए आवेदन आमंत्रित  

भोपाल : विकास और जनसरोकार के मुद्दों पर दी जाने वाली विकास संवाद मीडिया लेखन और शोध फैलोशिप की घोषणा कर दी गई है। फैलोशिप के बारहवें साल में पोषण सुरक्षा पर चार फैलोशिप के साथ प्राथमिक शिक्षा की गुणवत्ता पर भी एक फैलोशिप के लिए आवेदन किए जा सकते हैं। फैलोशिप के चार विषय पिछले दो साल की तरह वंचित, उपेक्षित या हाशिये पर खड़े समुदाय की पोषण सुरक्षा पर केन्द्रित होंगे।

गैर-मान्यता प्राप्त पत्रकारों को नाकाफी मदद

वाराणसी। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा मान्यता प्राप्त पत्रकारों को लेकर की गयी घोषणा के सम्बन्ध में शुक्रवार को पत्रकारों का एक प्रतिनिधिमण्डल कमिश्नर नितीन रमेश गोकर्ण से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में पत्रकारों ने मुख्यमंत्री को संबोधित करते हुए कहा कि मान्यता प्राप्त पत्रकार व गैर मान्यता प्राप्त पत्रकारों को दो भाग में बांट दिया गया है। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मान्यता प्राप्त पत्रकारों को घटना, दुर्घटना होने पर 20 लाख की आर्थिक मदद देने की घोषणा की है, जबकि उनके घोषणा पत्र में गैर मान्यता प्राप्त मीडियाकर्मियों के लिए नाकाफी मदद की बात कही गयी है।

पत्रकार के घर चोरी मामले में बागपत पुलिस की सुस्त कार्यवाही के खिलाफ मीडियाकर्मियों का धरना

बागपत कलक्‍ट्रेट पर धरनारत पत्रकारों से वार्ता करते डीएम व एसपी

बागपत पुलिस की सुस्त कार्यवाही के खिलाफ पहली फरवरी को बागपत के सभी मीडियाकर्मियों ने धरना दिया. ज्ञात हो कि दैनिक जनवाणी के प्रभारी अमित पंवार के आवास पर 13 जनवरी की रात में तकरीबन 8 लाख रुपये की चोरी हुई थी. इस घटना का बागपत पुलिस द्वारा अब तक कोई खुलासा नहीं किया गया है. इसके विरोध में जिले के समस्त पत्रकारों ने उत्तर प्रदेश जर्नलिस्ट एसोसिएशन के बैनर तले बागपत कलक्ट्रेट पर धरना प्रदर्शन किया. धरने के दौरान उपजा के जिलाध्यक्ष व हिन्दुस्तान के ब्यूरो चीफ नाजिम आजाद ने बताया कि पहले भी पुलिस कप्तान व जिलाधिकारी बागपत से मिलकर घटना के जल्द खुलासे की मांग की गई थी. परंतु 17 दिन गुजर जाने के बाद भी बागपत पुलिस आश्वासन देने के अलावा और कुछ नहीं कर पाई.

इन 23 मौतों पर मीडिया चुप क्यों है?

जेसिका लाल हत्याकांड पर आए कोर्ट के फैसले को लेकर नाखुश मीडिया ने इसे यूं सुर्खी बनाया- “नो वन किल्ड जेसिका”. इसके बाद मीडिया सहित तमाम लोगों की आत्मा जाग उठती है और नतीजा जेसिका को इंसाफ के रूप में सामने आता है. उपहार सिनेमा कांड में भी मीडिया की सक्रियता से अंसल बंधुओं को 60 करोड़ रुपए का जुर्माना होता है लेकिन जालंधर में एक फैक्ट्री की छत गिरने से हुई 23 मजदूरों की मौत के मामले में जब अदालत का फैसला आता है तो न तो नेशनल मीडिया की आत्मा जगती है और न ही इस खबर को रिपोर्ट करने लायक तक समझा जाता है.

पर्ल ग्रुप की संपत्तियों की नीलामी के लिए सुप्रीम कार्ट ने कमेटी बनाई

हाल ही में करीब 50,000 करोड़ रूपये की हेराफरी के मामले में केंद्रीय जांच एजेंसी ने पर्ल ग्रुप के मालिक निर्मल सिंह भंगू को गिरफ्तार किया था. उन पर निवेशकों के साथ धोखाधड़ी का आरोप लगा था. अब खबर आ रही है कि पर्ल ग्रुप की संपत्तियों की नीलामी के लिए सुप्रीम कोर्ट ने कमेटी बना दी है. कोर्ट ने पूर्व जज आर एम लोढा की अध्यक्षता में कमेटी बनाई. सेबी के जरिये लोगों को पैसे लौटाया जाएगा और यह कमेटी इस बात की निगरानी रखेगी कि किस तरह अगले 6 महीनों में लोगों के कर्ज को चुकाया जा सके. सेबी को इस केस से जुड़े सारे दस्तावेज़ इस कमेटी को सौंपना होगा.

गणतंत्र दिवस की पूर्वसंध्या पर लेखक-संगठनों और पत्रिकाओं की ओर से रोहित वेमुला की संस्थागत हत्या पर एक बयान

गणतंत्र दिवस की पूर्वसंध्या पर हम लेखक और संस्कृतिकर्मी भारतीय गणतंत्र की संकल्पना पर आये उस संकट के प्रति अपनी गहरी चिंता व्यक्त करते हैं जिसे हैदराबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी के विद्यार्थी रोहित वेमुला की आत्महत्या ने एक बार फिर गहरे अवसादपूर्ण रंगों में रेखांकित कर दिया है. एक-के-बाद-एक जिस तरह के तथ्य सामने आये हैं, उन्हें देखते हुए रोहित की आत्महत्या को हिन्दुत्ववादी गिरोह, शासन में घुसे उसके नुमाइंदों और उनके इशारे पर काम करते मंत्रालयी एवं विश्वविद्यालयी प्रशासन द्वारा अंजाम दी गयी एक सुनियोजित हत्या कहना ही न्यायसंगत लगता है. इस रूप में यह घटना हिंसक और हत्यारी असहिष्णुता के एक चले आते सिलसिले की सबसे ताज़ा कड़ी है, और शायद सबसे खौफ़नाक भी.

भास्कर ने शोलापुर से रांची तबादला किया तो हेमंत कोर्ट से स्टे ले आए

भास्कर समूह डीबी कार्प को उसके इंप्लाई हेमंत चौधरी ने तगड़ा सबक सिखाया है. मजीठिया वेज बोर्ड के लिए सुप्रीम कोर्ट जाने वाले भास्कर के मीडियाकर्मी हेमंत चौधरी को प्रबंधन ने प्रताड़ित करना शुरू कर दिया था. सुप्रीम कोर्ट में एडवोकेट उमेश शर्मा के माध्यम से मजीठिया वेज बोर्ड को लेकर अवमानना याचिका लगाने वाले हेमंत चौधरी का पिछले दिनों भास्कर प्रबंधन ने शोलापुर से रांची तबादला कर दिया.

हमने कोई मिस्ड काल नहीं किया लेकिन भाजपा का मेंबर बनाकर बधाई तक मैसेज कर दिया!

Badal Saroj : दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी…. जिसे ढंगढौर से चोट्टयाई करना भी नहीं आता…  हमने कोई मिस्ड काल नहीं किया – कोई बटन नहीं दबाया, किसी मेल में दिए ऑप्शन को क्लिक नहीं किया। मगर हमारे दोनों सेल फ़ोन नंबर्स पर हमें भाजपा का सदस्य बनने के लिए बधाई दी जा चुकी है। इनके अलावा दो और नंबर्स हैं हमारे पास – जिन्हे हम फिलहाल इस्तेमाल नहीं कर रहे है, संभवतः उन पर भी इसी तरह की सदस्यता प्राप्ति के मेसेज आये होंगे। इस तरह हम एक ऐसी पार्टी के चार बार सदस्य बन चुके हैं, जिसकी किसी भी बात से हम सहमत नहीं हैं।

जानिए, अंकित लाल ने क्यों दिया ‘आप’ के सोशल मीडिया प्रमुख पद से इस्तीफा

अंकित लाल ने आम आदमी पार्टी के सोशल मीडिया प्रमुख पद से इस्तीफा दे दिया है. इस तरह उन्होंने आम आदमी पार्टी के फेसबुक ग्रुप की एडमिनशिप छोड़ दिया है. इसके पीछे क्या कारण रहे, इसे अंकित लाल ने एक पत्र के जरिए स्पष्ट किया है जो उन्होंने फेसबुक पर शेयर किया है. अंकित ने आहत मन से पार्टी संग अपने सफर को याद किया और कार्यकर्ताओं के नाम चिट्ठी लिखी जिसमें अन्ना आंदोलन से लेकर केजरीवाल के दूसरी बार सत्तारोहण व झगड़े का जिक्र है. अंकित की मूल चिट्ठी अंग्रेजी में है.

श्री ग्रुप चेयरमैन मनोज द्विवेदी मेरा पैसा दबाए है, मैंने खुद नोटिस देकर इस्तीफा दिया : पंकज वर्मा

Dear Yashwant ji, Apropos our telecon of date I am forwarding you the copy of my E-mail dt 12.02.15 addressed to Mr Manoj Dwivedi, Chairman-Shri Group indicating my willingness to part from the Orgn on my own due to non-payment of salary and other expeses for over 6 months. The news carried by you quoting a so called letter dt 20.02.15 of Mr Umesh Azad, ED regarding my termination from the Orgn is totally wrong as no such letter whatsoever has been either served on me or intimated to me so far.

पुलिस विभाग में “लीडरशिप” को कुत्सित प्रयास बताने पर आईपीएस का विरोध

लखनऊ पुलिस लाइन्स के मुख्य आरक्षी बिशन स्वरुप शर्मा ने अपने सेवा-सम्बन्धी मामले में एक शासनादेश की प्रति लगा कर अनुरोध किया कि उन्हें इस बात का अपार दुःख और कष्ट है कि शासनादेश जारी होने के 33 साल बाद भी इसका पूर्ण लाभ पुलिस कर्मचारियों को नहीं दिया गया. पुलिस विभाग के सीनियर अफसरों को श्री शर्मा की यह बात बहुत नागवार लगी कि “उसने विभाग के पुलिस कर्मचारियों की सहानुभूति प्राप्त करने का एक प्रयास किया है” और पुलिस विभाग के कर्मचारियों को लाभ दिलाने की सामूहिक बात लिखित रूप से प्रकट की है.

Newspapers readership IRS 2014 Download

Download Topline Newspapers Readership numbers… देश के बड़े अखबारों, मैग्जीनों आदि की लैटेस्ट या बीते वर्षों की प्रसार संख्या जानने के लिए नीचे दिए गए शीर्षकों या लिंक्स पर क्लिक करें…

पिंकसिटी प्रेस क्लब चुनाव नतीजे घोषित, राधारमण शर्मा अध्यक्ष और हरीश गुप्ता महासचिव निर्वाचित

जयपुर : पिंकसिटी प्रेस क्लब लि. जयपुर की प्रबन्ध कार्यकारिणी वर्ष 2015-16 के चुनाव नतीजे घोषित कर दिए गए है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल.एल.शर्मा ने बताया कि अध्यक्ष पद पर श्री राधारमण शर्मा और महासचिव पद पर श्री हरीश गुप्ता निर्वाचित घोषित किए गए है। श्री शर्मा अध्यक्ष पद पर लगातार दूसरी बार चुने गए है। श्री हरीश गुप्ता राजस्थान श्रमजीवी पत्रकार संघ के भी अध्यक्ष है।

Excuse Me MR. PM, Passengers to starve in Non VVIP trains as my Wife does in Amritsar Express for your Bullet PPP Dream!

My wife Sabita Biswas,aged 56 is travelling by 13049 Amitsar Express. Coach B-one,Berth number 48.She is in mourning as her elder brother died and she has to join her family in Bijnore. I saw her leaving Howrah on 13:50 by the train.Since,I could not go,we opted for 3A ticket and it was only available as all trains remain full until May 2nd. We could not manage a return ticket as she has to look for Tatkal on her return.

किताब के रूप में उतरी प्रभात खबर की उपलब्धियां, सीएम ने किया लोकार्पण

रांची में ‘प्रभात खबर : प्रयोग की कहानी’ पुस्‍तक के विमोचन के अवसर पर मुख्‍यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि ‘प्रभात खबर’ की सोच के अनुसार राज्‍य का विकास करेंगे. उन्‍होंने कहा कि समय-समय पर मीडिया की सलाह पर सरकार अमल करेगी और इन पांच सालों में राज्‍य का हर क्षेत्र में विकास करेगी. उन्‍होंने कहा कि इस पुस्‍तक के लिए अनुज कुमार सिन्‍हा बधाई के पात्र हैं. उन्‍होंने कहा कि वे ‘प्रभात खबर’ की विकास यात्रा के एक प्रत्‍यक्ष गवाह हैं. उन्‍होंने ‘प्रभात खबर’ का संघर्ष जमशेदपुर में काफी नजदीक से देखा है.

न्यूज चैनल के बाद जिया इंडिया मैग्जीन का भी डिब्बा गोल

जिया न्यूज चैनल का भट्ठा बैठाने के बाद वरिष्ठ और बुजुर्ग पत्रकार एसएन विनोद ने पाक्षिक पत्रिका जिया इंडिया का भी डिब्बा गोल करवा दिया है। जिया इंडिया के नोएडा स्थित ऑफिस में तालाबंदी कर दी गयी है। दर्जनों कर्मचारी फिर से बेरोजगार हो गए हैं। एडिटोरियल और नॉन एडिटोरियल सभी कर्मचारी सड़क पर आ गए हैं। जिया इंडिया में पिछले तीन महीने से सेलरी भी नहीं दी गयी है। कुछ लोग तो ऐसे भी हैं जिनकी चार-चार महीने की सेलरी बकाया है।

एडवोकेट उमेश चंद्र शर्मा दिल्ली हाईकोर्ट में भारत सरकार के सीनियर स्टेंडिंग काउंसिल नियुक्त

भारत सरकार ने जाने-माने एडवोकेट उमेश चंद्र शर्मा को दिल्ली हाईकोर्ट में सीनियर स्टेंडिंग काउंसिल नियुक्त किया है. नेशनल हैराल्ड से लेकर इंडियन एक्सप्रेस तक हुए विभिन्न न्यूज हाउसों में हुए मीडिया कर्मियों के  आंदोलनों को लीगल हेल्प करने वाले और अदालतों में मीडिया कर्मियों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलने वाले एडवोकेट उमेश चंद्र शर्मा के प्रोफाइल में यह एक और बडी उपलब्धि जुड़ गई है.

एलआईसी के कैलेण्डर पर कानूनी कार्यवाई करेगी छत्तीसगढ़ की ‘सम्पदा’

जीवन बीमा (एलआईसी) के नये साल के कैलेण्डर को लेकर एक बड़ा बवाल खडा़ हो गया है. कैलेण्डर के जून महीने के पन्ने पर जो कला कृति दिखायी गयी है, उसी पर यह बवाल है. इस पूरे विवाद पर छत्तीसगढं की सम्पदा नाम की सामाजिक संस्था ने आपत्ति की है. सम्पदा के कर्ताधर्ताओं का कहना …

दिल्ली के चौराहों पर नहीं सजेंगे अब चुनावी चर्चाओं के मंच

कम से कम अब दिल्ली के गली-चौबारों और चौराहों पर कैमरा-लाइट और रोल न दिखाई देगा और न सुनाई देगा. दिल्ली पुलिस ने आदेश जारी किए हैं कि गली-मुहल्लों और चौक-चौबारों पर भीड़ इकट्ठी कर और मंच सजाकर चुनावी बहस के सीधे प्रसारण की अनुमति नहीं दी जाएगी.

क्या नयी शक्ल मे मीडिया सेंसरशिप लाने वाली है मोदी सरकार…?

भारत के न्यूज चैनलों में मची नम्बर वन की होड़ और सबसे पहले खबर दिखाने की कोशिशों पर अब पानी फिरने वाला है. मोदी सरकार बहुत जल्दी कुछ ऐसे दिशा टनिर्देश जारी करने वाली है जिससे आतंकी और देश विरोधी घटनओं के सीधे प्रसारण और कवरेज पर रोक लग सकती है.

आरके लक्ष्मण वेंटिलेटर पर, हालत गंभीर

पिछले कई दशकों से अपने कार्टून्स के जरिए दुनिया भर को गुदगुदाने वाले जाने-माने कार्टूनिस्ट आरके लक्ष्मण की हालत गंभीर है. वो काफी दिनों से बीमार चल रहे थे. उनका इलाज मुंबई के दीनानाथ मंगेशकर अस्पताल में चल रहा है. उनके शरीर के महत्वपूर्ण अंग निष्क्रिय हो गये हैं. उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया है. …

नौकरी नहीं दी, तो आत्महत्या कर लूंगा…!!!

‘माननीय सर, मुझे उम्मीद है कि मेरे शब्द आपको आहत नहीं करेंगे. आप मेरी स्थिति से भली भांति परिचित हैं. मैं आपको पिछले एक साल से लगातार इसके बारे में बता रहा हूं. आपका मानव संसाधन विभाग आपके कहने पर मेरे बारे में अवश्य विचार करेगा. महोदय मैं और मेरा परिवार भूखे मरने की स्थिति …