कोबरा पोस्ट द्वारा किए गए ‘समाचार प्लस’ चैनल के स्टिंग का वीडियो देखें

यूपी और उत्तराखंड के न्यूज चैनल समाचार प्लस का स्टिंग आपरेशन कोबरा पोस्ट की टीम ने किया. समाचार प्लस चैनल के उत्तराखंड के मैनेजर सेल्स मुकेश बगियाल से कोबरा पोस्ट की टीम मिलती है और हिंदुत्व के एजेंडे समेत कई मुद्दों पर डील करने का आफर देती है जिसने उन्होंने सहर्ष स्वीकार कर लिया.

कोबरा पोस्ट का डंक इंडिया टीवी, समाचार प्लस, साधना प्राइम, हिंदी खबर, दैनिक जागरण समेत कई मीडिया हाउसों को लगा

कोबरा पोस्ट ने आज प्रेस क्लब आफ इंडिया में मीडिया पर आधारित एक स्टिंग आपरेशन के डिटेल शेयर किए और संबंधित सीडी सबके सामने चलाई. इस स्टिंग आपरेशन का नाम ‘ऑपरेशन 136’ है. इसके तहत कोबरा पोस्ट ने पैसे लेकर खबर चलाने के लिए तैयार कई मीडिया हाउसों का पर्दाफाश किया है.

कोबरा पोस्ट के स्टिंग आपरेशन में कई न्यूज चैनल उगाही करते हुए पकड़े गए

अनिरुद्ध बहल और उनकी टीम इस वक्त प्रेस क्लब आफ इंडिया में प्रेस कांफ्रेंस कर एक नए स्टिंग आपरेशन के डिटेल का पत्रकारों के सामने खुलासा कर रही है. अबकी ‘कोबरा पोस्ट’ ने मीडिया पर ही डंक गड़ा दिया है. चौथे स्तंभ के रूप में विख्यात मीडिया आजकल किस तरह उगाही और ब्लैकमेलिंग का माध्यम बन गया है, इसका आंख खोलने वाला सुबूत अनिरुद्ध बहल की टीम ने जुटाया है. साथ ही यह भी बताया है कि किस तरह ये मीडिया हाउस हिंदुत्व के एजेंडे को आगे बढ़ाने के लिए पैसे लेकर खबर चलाने दिखाने को तैयार हैं.

अश्वनी मिश्र पहुंचे नेशन फर्स्ट, राकेश कुमार भगत की नई पारी

खबर आ रही है कि ज़ी न्यूज़ भोपाल में रेजिडेंट एडिटर के पद से अश्वनी मिश्रा ने इस्तीफ़ा दे दिया है। अश्वनी ईटीवी एमपी में एडिटर भी रहे चुके है। ज़ी में सब कुछ सही नहीं चल रहा है। अश्वनी को जगदीश चंद्र का करीबी लोगों में से बताया जाता है।

झूठ के कारोबार में अब ‘राज्यसभा टीवी’ भी शामिल

बीते 24 मार्च, 2018 को राज्य सभा टीवी की मुख्य ख़बर रही कि भाजपा अब राज्यसभा में सबसे बड़ी पार्टी बन गयी है। सच ये है कि भाजपा पिछले साल से ही सदन में सबसे बड़ी पार्टी है। उसके अब तक 58 सदस्य हैं और कांग्रिस के 54 हैं।

केंद्र सरकार के मंत्री ने माना- पत्रकारों के मजीठिया वेज बोर्ड का लागू न हो पाना लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को कमजोर कर रहा

संतोष गंगवार बोले- पत्रकारों के कमज़ोर होने से कमज़ोर होगा लोकतंत्र…  नयी दिल्ली : सरकार ने आज स्वीकार किया कि मीडिया संस्थानों में पत्रकार एवं गैर पत्रकार कर्मचारियों को अनुबंध पर नौकरी और मजीठिया वेतनबोर्ड के क्रियान्वयन न होने का मामला वाकई में लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को कमज़ोर कर रहा है तथा इसके समाधान के लिए विशेष प्रयास की ज़रूरत है।

दिल्ली में चल रहे बेरोजगार युवकों और किसानों के आंदोलनों को इग्नोर कर टीवी वाले ‘भाजपा-पर्व’ चलाने में मगन हैं!

Anil Sinha : रात दस बजे टीवी खोला तो एनडीटीवी पर खबर देखी कि देश भर से आए बेरोजगार दिल्ली में मोर्चा निकाल रहे हैं और हरियाणा के किसानों को सरसों का समर्थन मूल्य नहीं मिल रहा है। हिंदी में खबर देखने के बाद अंग्रेजी की ओर आया तो इंडिया टुडे पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का इंटरव्यू चल रहा था।

बिहार में बाइक सवार दो पत्रकारों की स्कॉर्पियो गाड़ी से कुचलकर हत्या

बिहार के आरा से एक बहुत बड़ी खबर आ रही है. आरा में बाइक से जा रहे दो पत्रकारों की हत्या स्कॉर्पियो गाड़ी से कुचलकर कर दी गई. इन पत्रकारों ने हत्या की आशंका को लेकर प्रशासन को सूचित कर रखा था. इसके बावजूद यह घटना हो गई. मृतकों में एक दैनिक भास्कर के प्रखंड संवाददाता नवीन कुमार निश्चल हैं. दूसरे रिपोर्टर का नाम विनोद सिंह है. हत्या की सूचना मिलने के बाद गुस्साये लोगों ने स्कॉर्पियो को फूंक दिया और शव के साथ रोड जाम कर दिया.

दोनों पत्रकारों की फाइल फोटो.

Struggle of Keezhattoor Vayalakilikal for Protecting Life, Livelihood and Precious Natural Resources

NHAI Must Accept Demand of the Struggle and Change the Alignment of NH 66, Kerala Government Should Hold Dialogue with the Struggle and find an Amicable Solution

New Delhi : Keezhattoor Vayalakilikal’s Struggle has been going for more than a year now to protect their Paddy fields and precious drinking water, in a state where fertile land is fast declining due to rapid urbanization and infrastructure development. They have been protesting acquisition of 250 acres of fertile paddy fields for National Highway 66.

कांग्रेस राज में मीडिया वालों के लिए एडवाइजरी आती थी, भाजपा शासनकाल में सीधे आदेश आते हैं : पुण्य प्रसून बाजपेयी

Sanjaya Kumar Singh : यादों में आलोक – “सत्यातीत पत्रकारिता : भारतीय संदर्भ”… दिल्ली के कांस्टीट्यूशन क्लब में कल (शनिवार को) आयोजित एक सेमिनार में देश में मीडिया की दशा-दिशा पर चर्चा हुई। विषय था, “सत्यातीत पत्रकारिता भारतीय संदर्भ”। संचालन रमाशंकर सिंह ने किया और बताया कि अंग्रेजी के पोस्ट ट्रुथ जनर्लिज्म के लिए कुछ लोगों ने “सत्योत्तर पत्रकारिता” का सुझाव दिया था पर सत्योत्तर और सत्यातीत पत्रकारिता में अंतर है और आखिरकार सत्यातीत का चुनाव किया गया।

भोपाल की पत्रकार ममता यादव इस फेलोशिप के लिए चुनी गईं

युवा पत्रकार ममता यादव को आचार्य महावीरप्रसाद द्विवेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता फेलोशिप के लिए चुना गया है। माधवराव सप्रे स्मृति समाचारपत्र संग्रहालय एवं शोध संस्थान, भोपाल ने पत्रकारिता के परिष्कार और युवा पत्रकारों के प्रोन्नयन के उद्देश्य से फेलोशिप आरंभ की है।

प्रतिनिधि टीवी के मीडियाकर्मी बकाया पैसे के लिए भटक रहे, पुलिस में की कंप्लेन

प्रतिनिधि टीवी के मालिक आलोक कुमार ने अपने कर्मचारियों को बड़े बड़े ख़्वाब दिखाए थे. लेकिन अब बकाया पैसे तक नहीं दे पा रहे. आलोक कुमार अब कर्मचारियों से गिड़गिड़ा रहे है. पिछले साल सेलरी के लिए परेशान कर्मचारियों ने आंदोलन किया. बाद में चैनल बंद हो गया.

योगी सरकार के करोड़ों के इस विज्ञापन में कार्यक्रम स्थल का नाम ही नहीं है

सिस्टम को टीबी का सुबूत… जगाने का काम करने वाले सोते हुए कर रहे हैं काम… करोड़ों के बजट वाले इस विज्ञापन में पूरी रामकथा है। लेकिन रामकथा में राम जी का ही नाम नहीं है। कार्यक्रम की पूरी जानकारी है पर ये लिखना भूल गये कि कहां है कार्यक्रम।

यूपी के सुपर ‘सीएम’ सुनील बंसल के खिलाफ फेसबुक पर लिखने से पूर्व आईएएस का गनर वापस!

पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह

Surya Pratap Singh  : जान ले लो उसकी….. जो भी विरोध करे! उ. प्र. के ‘सुपर CM’ …. सुनील बंसल, भाजपा के महाभ्रष्ट संगठन मंत्री की बदले की कार्यवाही… मेरी सुरक्षा वापिस करायी ….. आज का ‘गायत्री प्रजापति’, सुनील बंसल अब मेरी जान लेने पर उतारू! ‘माल काटो-मौज करो’ और जो विरोध करे उसकी जान ले लो…… ये हैं आज की राजनीति का मूल मंत्र……चाहे कोई भी दल हो।

एबीपी न्यूज़ वाले क्या-क्या वाहियात चीज़ें देते रहते हैं…

Om Thanvi : एबीपी न्यूज़ ने बीच में साहस का इज़हार किया। मेरे मित्र पुण्यप्रसून वाजपेयी को साथ लेकर उसी जज़्बे की पुष्टि की। लेकिन ये क्या? कल मैंने उनका ऐप डाउनलोड किया था। आज उठते ही किसी ख़बर की जगह फ़ोन पर उनकी ओर से यह इबारत नुमायाँ थी – “आज का राशिफल, २५ मार्च रविवार। आज जन्मदिन है तो जान लें कैसी रहेगी आपकी सेहत।”

एचटी के लिए ‘मालकिन का सम्मान’ बड़ी खबर है, अपने महिला मीडियाकर्मी की पिटाई नहीं

Sanjaya Kumar Singh : हिन्दुस्तान टाइम्स की महिला फोटोग्राफर की पिटाई… यह खबर हिन्दुस्तान टाइम्स में पहले पन्ने पर तो नहीं है… पत्रकारिता की भाषा में यह भी सम्मान है… पुलिस करती रहती है… छोटे शहरों में ज्यादा होता है… दिल्ली में मौका कम मिलता है… पर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के जमाने में यह खबर महिला मालकिन के हिन्दुस्तान टाइम्स में नहीं है… पर कोलकाता के अखबार दि टेलीग्राफ ने पहले पन्ने पर छापी है…

साथी फोटोग्राफर की पिटाई से दुखी फोटो जर्नलिस्ट्स ने कैमरे दिल्ली पुलिस मुख्यालय के सामने रख दिए

Badal Saroj : हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्टर अनुश्री कल ज़मीन पर गिरे एक लड़के को पीट रहे पुलिसवालों की तस्वीर ले रही थीं। पास खड़े एक अफ़सर ने कहा, “इसका कैमरा तोड़ दो।” फिर अनुश्री का कैमरा छीन लिया गया। एक दूसरी पत्रकार को एक पुलिसवाले ने धक्का दिया और ऐसा करते हुए उसकी छाती दबाई।

एचटी की फोटो जर्नलिस्ट अनुश्री के साथ दिल्ली पुलिस ने कैसा किया सुलूक, देखें वीडियो

Shweta R Rashmi :  दिल्ली पुलिस या गुंडागर्दी… ये वीडियो देखिए… कैसे पुलिस मीडिया के साथ वर्ताव कर रही है… आखिर इतनी बेशर्मी कहां से लाते हैं… अनुश्री फोटो जर्नलिस्ट हैं HT में…  किस तरह पुलिस की वर्दी में तैनात ये महिलाएं अनुश्री को पीट रही हैं… देखिए जरा…

सरकारी विज्ञापन वितरण प्रणाली पर बॉम्बे हाईकोर्ट ने जताई नाराजी, 17 विभागों को नोटिस जारी

उन्मेष गुजराथी, दबंग दुनिया

मुंबई: अभिव्यक्ति के साधनों में से एक विज्ञापन को आधार बनाकर विभिन्न संस्थाएं, व्यक्ति अपने कार्यो को जनता तक पहुंचाने का काम करते हैं। समाचार पत्रों, चैनलों, सोशल मिडिया, रेडियो, मोबाइल के संदेशों के माध्यम से अपनी अभिव्यक्ति दी जा सकती है। विज्ञापन देने वाली कंपनियां किसे विज्ञापन दें, यह तो विज्ञापन देने वाली कंपनी के अधिकार क्षेत्र में रहता है, लेकिन कई बार यह देखने को मिलना है कि अच्छा सर्कुलेशन होने के बवाजूद विज्ञापन देने में दोहरी नीति अपनायी जाती है, जो लोग ऊंची पहुंच वाले हैं, वे अपना स्वार्थ सिद्ध करने में कोई गुरेज नहीं करते।

एबीपी न्यूज का महापतन, इंडिया टीवी ने स्थिति सुधारी

एबीपी न्यूज के इतने बुरे दिन आएंगे, किसी ने सोचा न था. यह चैनल कभी नंबर दो पर हुआ करता था. आजकल यह छठें स्थान पर गिरा पड़ा है. इंडिया टीवी की टीआरपी लगातार बढ़ रही है. यह चैनल नंबर दो पर होने के बावजूद टीआरपी में सुधार करने में सफल हो रहा है. अंबानी का चैनल न्यूज एट्टीन इंडिया नंबर तीन पर कामय है.

मृणाल पांडे नेशनल हेराल्ड और पुण्य प्रसून एबीपी न्यूज से जुड़े, ज़फ़र आगा को प्रमोशन

पत्रकार मृणाल पांडे को नेशनल हेराल्ड का वरिष्ठ संपादकीय सलाहकार बनाया गया है. मृणाल पांडे इससे पहले हिन्दुस्तान अखबार की समूह संपादक रही हैं. मृणाल प्रसार भारती की चेयरपर्सन भी रह चुकी हैं. 

उत्तराखंड की भाजपा सरकार पत्रकारों की मान-मर्यादा से खुलेआम खेलने लगी, देखें तस्वीरें

उत्तराखंड की डबल इंजन वाली भाजपा सरकार सत्ता के घमंड में लगातार पत्रकारों की तौहीन करने पर तुली हुई है। उत्तराखंड सचिवालय में पत्रकारों के प्रवेश पर रोक लगाने के बाद राज्य में पत्रकारों की मान मर्यादा के साथ भाजपा सरकार व उनके कार्यकर्ता खेलने पर तुले हुए हैं। उत्तराखंड के श्रीनगर गढ़वाल में एक कार्यक्रम के दौरान पत्रकारों को बैठने तक के लिए जगह नहीं मिली। कार्यक्रम के कवरेज के दौरान जब पत्रकार तेज घूप में थक गये तो वे वहीं जमीन पर बैठ गये।

सुप्रीम कोर्ट ने ‘हिंदुस्तान’ की मालिकन शोभना भरतिया पर सवा लाख रुपये का हर्जाना ठोका

शोभना भरतिया

दैनिक हिन्दुस्तान फर्जी संस्करण और 200 करोड़ का सरकारी विज्ञापन घोटाला प्रकरण, सुनवाई की अगली तारीख 16 अप्रैल 2018 तय…. सुप्रीम कोर्ट ने 16 मार्च 2018 को एक ऐतिहासिक आदेश में मेसर्स हिन्दुस्तान मीडिया वेन्चर्ज लिमिटे, नई दिल्ली की चेयरपर्सन व पूर्व कांग्रेस सांसद शोभना भरतिया को सवा लाख रूपए की हर्जाना राशि के भुगतान का आदेश दिया। मेसर्स हिन्दुस्तान मीडिया वेन्चर्ज लिमिटेड नामक कंपनी देश में दैनिक हिन्दुस्तान नाम के हिन्दी दैनिक का प्रकाशन करती है।

केंद्रीय सूचना आयोग ने आईपीएस अफसरों पर मुकदमे सार्वजनिक करने का आदेश दिया

केंद्रीय सूचना आयोग ने गृह मंत्रालय को आईपीएस अफसरों के खिलाफ आपराधिक मुकदमों को तत्कल सार्वजनिक करने के आदेश दिए हैं.  यह निर्देश सूचना आयुक्त यशोवर्धन आजाद ने लखनऊ स्थित एक्टिविस्ट डॉ नूतन ठाकुर द्वारा दायर आरटीआई अपील में दिए. जहाँ गृह मंत्रालय ने सूचना देने से मना कर दिया था, आयोग ने कहा कि कैडर नियंत्रण प्राधिकारी के रूप में गृह मंत्रालय की आईपीएस अफसरों के सेवा संबंधी मामलों को देखने की जिम्मेदारी है, जिसमे विभागीय जाँच तथा आपराधिक मामले शामिल हैं. अतः आयोग ने मंत्रालय को इसकी सूची बनाकर नूतन को प्रदान करने के आदेश दिए हैं.

इस मीडिया समूह ने अपने कर्मचारियों का स्‍वास्‍थ्‍य बीमा तक नहीं करवाया है…

पत्रकार की मौत : क्‍या संस्‍थान की कवरेज से भर जाएगा परिवार का पेट! शिमला के एक वरिष्‍ठ पत्रकार की मौत पर उसके मीडिया संस्‍थान ने खबरें और संपादकीय लिख कर श्रद्धांजलि दी। पूरा प्रदेश गमगीन हुआ। लेकिन क्‍या इससे उसके परिवार का भविष्‍य संवर जाएगा। ऐसे वक्‍त में एक कर्मचारी को संस्‍थान से आर्थिक मदद के तौर पर जो मिलना चाहिए क्‍या वह मिलेगा।

एचटी मीडिया ने मजीठिया वेज बोर्ड के आदेश को लागू नहीं किया : श्रम विभाग

मोहाली से खबर है कि श्रम विभाग ने एक पत्र जारी कर सूचित किया है कि एचटी मीडिया ने मीडियाकर्मियों की तनख्वाह रिवाइज करने के सरकार और कोर्ट के आदेश को लागू नहीं किया है.

शिमला के पत्रकार सुनील शर्मा और जयपुर के मीडियाकर्मी वीरेंद्रपाल का निधन

दिव्य हिमाचल के ब्यूरो चीफ सुनील शर्मा का अचानक यूँ चले जाना हृदय विदारक है। अच्छे लोग कभी नहीं मरते। वो अपनी माद्दी जिस्मानी सूरत से तो आज़ाद हो जाते हैं लेकिन उनकी यादें दिलों में हमेशा घर किए रहती हैं और हम वक्त-बेवक्त उन्हें याद करते रहते हैं। निश्चय ही यह एक बहुत दुखद सूचना है ! कम उम्र में अनुज समान एक जुझारू, कर्मठ पत्रकार सुनील शर्मा का यूं जाना पीड़ित करता है ! हमें उनकी कमी हमेशा सालती रहेगी ! इस नौजवान संजीदा पत्रकार को मेरी विनम्र श्रद्धांजलि!

-शिमला के वरिष्ठ पत्रकार कृष्ण भानु की एफबी वॉल से.

केजरीवाल ने माफी मांगने का जो रास्ता ढूंढा है, मेरी राय में वह सर्वश्रेष्ठ है : डॉ. वेदप्रताप वैदिक

डॉ. वेदप्रताप वैदिक

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पहले विक्रमसिंह मजीठिया और अब नितिन गडकरी से माफी मांगकर भारत की राजनीति में एक नई धारा प्रवाहित की है। यह असंभव नहीं कि वे केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली और अन्य लोगों से भी माफी मांग लें। अरविंद पर मानहानि के लगभग 20 मुकदमे चल रहे हैं। अरविंद ने मजीठिया पर आरोप लगाया था कि वे पंजाब की पिछली सरकार में मंत्री रहते हुए भी ड्रग माफिया के सरगना हैं।

‘न्यूज तक’ नाम से यूट्यूब पर आया इंडिया टुडे ग्रुप, अंजना ओम कश्यप हैं कैप्टन

‘न्यूज तक’। जी हां, ये हमारे इंडिया टु़डे ग्रुप का यू ट्यूब चैनल है। बहुत ही कम वक्त में इसके सब्सक्राइबर्स की तादाद पांच लाख से ज्यादा हो गई है, जबकि इसके व्यूज की संख्या साढ़े 9 करोड़ से भी पार कर गई है। यही नहीं, ‘न्यूज तक’ के फेसबुक पेज के फॉलोअर्स की तादाद 10 लाख से भी ज्यादा हो गई। नौजवानों में ‘न्यूज तक’ जबरदस्त तरीके से लोकप्रिय हो रहा है।

अंजना ओम कश्यप

वरिष्ठ पत्रकार अजीत अंजुम के पिता रामसागर सिंह का बेगुसराय में निधन

मां-पिता के साथ अजीत अंजुम, बीच में. ये तस्वीर कुछ रोज पहले की है जब अजीत अंजुम बेगुसराय गए हुए थे.

वरिष्ठ पत्रकार अजीत अंजुम के पिता रामसागर सिंह का आज सुबह बिहार के बेगुसराय जिले के पिंक सिटी स्थित आवास पर देहांत हो गया.. उनकी उम्र करीब सत्तर साल की थी. वो जिला जज के पद से रिटायर थे. वे अपने पीछे भरा-पूरा परिवार छोड़ गए हैं.