सुप्रिय प्रसाद मीडिया इंडस्ट्री के सर्वश्रेष्ठ बॉसेज में से एक हैं!

Yashwant Singh : संपादक को अपने व्यवहार और दिमाग से कैसा होना चाहिए… मैं जो समझ पाता हूं वो ये कि उसे नितांत डेमोक्रेटिक होना चाहिए. सबकी सुने…सबको मौका दे.. सरल-सहज रहे ताकि उससे कोई भी मिल जुल कह बता सके… नकारात्मकता न हो… कोई बुरा कहे तो जज्ब कर ले… कोई अच्छा करे तो उसे वाहवाही दे दे… आज के दौर के युवा संपादकों की बात करें तो कुछ ही हैं जो इस पैमाने पर खरे उतरते हैं… सुप्रिय प्रसाद को उनमें से एक मानता हूं…

सुप्रिय प्रसाद

स्टीवन हॉकिंग के बहाने ‘विकलांग’ बनाम ‘दिव्यांग’ पर ओम थानवी की चर्चा, जानिए सही क्या है….

Om Thanvi : स्टीवन हॉकिंग चले गए। आइंस्टाइन के बाद सबसे लोकप्रिय वैज्ञानिक थे। उनके अंग विकल थे। लेकिन उन्हें मीडिया विकलांग नहीं, दिव्यांग कहेगा। क्योंकि हमारे प्रधानमंत्री ने यह शब्द दिया है। क्या प्रधानमंत्री भाषाविज्ञानी हैं? बिलकुल नहीं। न वे मीडिया के भाषा सलाहकार हैं। फिर भी जैसे सरकार में उनका हुक्म चलता है (जो स्वाभाविक है), वैसे ही आजकल मीडिया में भी चल जाता है (जो नितांत अस्वाभाविक है)।

सफल पत्रकार बनने के लिए बहुआयामी होना जरूरी : ब्रजेश कुमार सिंह

माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय, नोएडा परिसर में आयोजित “प्रतिभा उत्सव 2018” के उदघाटन सत्र में पत्रकारिता के विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए “जी हिंदुस्तान’ के संपादक श्री ब्रजेश सिंह ने कहा कि पत्रकारिता के छात्रों को अपने व्यक्तित्व विकास के लिए बहुआयामी होना चाहिए, जबकि आजकल गूगल हिंदी टाइपिंग वाले छात्र ज्यादा आ रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि देश-विदेश में हो रही हर घटना से रूबरू होना चाहिए।

इंडिया टीवी की बल्ले-बल्ले, अंबानी के चैनल के अच्छे दिन आए, एबीपी न्यूज भयंकर लुढ़का, आजतक को तगड़ा झटका

अंबानी जी का न्यूज चैनल हो और उसके अच्छे दिन न आएं, वो भी योगी राज में, हो ही नहीं सकता. अंबानी का चैनल News18 India टीआरपी में कुल 5.2 की उछाल के साथ नंबर तीन पर आ गया है. इंडिया टीवी भी अच्छी खासी टीआरपी गेन करके नंबर दो पर पहुंच गया है.

अमर उजाला बरेली में है कुछ गड़बड़झाला, तीन महीने में छह इस्तीफे, तीन का तबादला, एक बर्खास्त

वरिष्ठ पत्रकार स्वर्गीय श्री वीरेन डंगवाल की कर्मभूमि रहे अमर उजाला बरेली में कुछ तो लोचा है। अलीगढ़, गाजियाबाद के बाद मुरादाबाद होते हुए बरेली आए संपादक विनीत सक्सेना के आने के बाद यहां अजीब सा माहौल है। दरअसल विनीत बरेली के ही रहने वाले हैं। वो यहां पहले दैनिक जागरण में क्राइम देखते थे। उसके बाद वो अमर उजाला में आए तो पवन सक्सेना पर कुर्सी उठाने के कारण काफी दिन साइड लाइन रहे।  डाक में तैनाती के दौरान उनका विवाद डाक प्रभारी लक्ष्मण सिंह भंडारी से भी हुआ था।

दैनिक भास्कर भागलपुर से फिर कई गए, नहीं मिल रहे भास्कर को रिपोर्टर

दैनिक भास्कर भागलपुर संस्करण से रिपोर्टरों का जाना लगा हुआ है। सैटेलाइट एडिशन में 18 लोगों की टीम में महज 8 लोग ही बचे हुए हैं। इससे अखबार को समय पर निकालना और क्वालिटी मेंटेन करना दोनों मुश्किल हो गया है। अब ऋतुराज , पंकज और राधे कृष्णा ने भास्कर को छोड़ दिया है। इससे भास्कर में डेस्क पर लोगों की संख्या बहुत कम हो गई है।

भाजपा का ये विधायक तो महिलाओं को खुलेआम पीटता है, देखें तस्वीरें

मीडिया ने ढंग से नंगा कर दिया रुद्रपुर भाजपा विधायक ठुकराल को… रुद्रपुर। उत्तराखंड में रुद्रपुर के भाजपा विधायक राजकुमार ठुकराल ने दलितों के साथ मार-पीट और अभद्र भाषा का प्रयोग किया है। इसकी जानकारी सोशल, प्रिंट और इलैक्ट्राॅनिक मीडिया में सार्वजनिक हो गयी है। यह पहली बार है जब विधायक की गुंडई व्यापक रूप से आम हुई है। 11 मार्च के अमर उजाला और दैनिक जागरण ने इसे मुख्य पृष्ठ पर प्रमुखता से प्रकाशित किया है।

छह अप्रैल को रिलीज हो रही ‘सूबेदार जोगिंदर सिंह’ एक बहादुर सिपाही की गाथा है

परमवीर चक्र विजेता सूबेदार जोगिंदर सिंह एक सच्‍चे और बहादुर सिपाही की गाथा है, जिन्‍होंने अपनी मातृभूमि की रक्षा के लिए अपने प्राणों की आहूति दे दी।सूबेदार जोगिंदर सिंह सन 62 की चीन के साथ लड़ाई में अपनी वीरता और शौर्य दुश्‍मनों को पीछे हटने पर मजबूर कर दिया। उनकी इस बहादुरी का किस्‍सा आज देश के लोगों को प्रेरित करेगी। ऐसा कहना है फिल्‍म सूबेदार जोगिंदर सिंह के निर्देशक सिमरजीत सिंह का। वे कहते हैं कि सूबेदार जोगिंदर सिंह की बायोपिक अब 6 अप्रैल से देशभर के सिनेमाघरों में तीन भाषाओं; हिंदी, तमिल और तेलगु में रिलीज़ होगी।

राज चेंगप्पा, प्रसून शुक्ला समेत दर्जन भर से ज्यादा पत्रकार दिल्ली विवि के कॉलेजों की गवर्निंग बॉडी में आये, देखें सूची

दिल्ली विवि के 28 कॉलेजों की गवर्निंग बॉडी में आये पत्रकारों की सूची जारी कर दी गई है. हर कॉलेज में 5 मेंबर (किसी किसी में 6) दिल्ली सरकार की तरफ से नामित किये जाते हैं और 5 सदस्य दिल्ली विश्वविद्यालय की तरफ से. इस सूची को फाइनल करने के बाद दिल्ली सरकार सहित सभी पक्षों ने अपनी मंजूरी दे दी है. इनमें कई नामी पत्रकारों के अलावा जजों, वकीलों, शिक्षाविदों और रचनात्मक क्षेत्र में उल्लेखनीय नामों को शामिल किया जाता रहा है.  

बीजपी लोकसभा में अल्पमत में आ गयी

https://3.bp.blogspot.com/-VC-BFkBK28U/WgLhP0FPznI/AAAAAAAAM_0/OPdBdHf16osV7GSykrfKGWVPwH4gx32GgCLcBGAs/s1600/IMG-20171107-WA0006.jpg

डॉ राकेश पाठक
प्रधान संपादक, कर्मवीर

लगातार उपचुनाव हार रही है, अब सहयोगी दल भी छिटक रहे हैं, अगला आम चुनाव आसान नहीं… उत्तर प्रदेश और बिहार की तीन लोकसभा सीटें बीजपी हार गई है। इनमें से दो उसके पास थीं और एक राजद के पास। खास ख़बर ये है कि इन सीटों को गंवाते ही भारतीय जनता पार्टी अकेले अपने दम लोकसभा में सामान्य बहुमत खो बैठी है। गठबंधन के रूप में उसके पास बहुमत फिलहाल बना हुआ है लेकिन सहयोगियों के छिटकना जारी है। ऐसे में अगले साल होने वाले आम चुनाव बीजपी के लिए टेढ़ी खीर साबित होते लग रहे हैं।

असम के पत्रकारों पर बर्बर लाठीचार्ज, एनएजे ने की कड़ी निंदा

The National Alliance of Journalists (NAJ) expresses its shock and anger at the brutal lathicharge of Assam journalists, including women journalists, while covering student protests at the Mizoram-Assam border on March 10. The journalists have provided photographic and video evidence of the serious injuries they suffered.

ज्ञानवर्धन मिश्र को रामजी मिश्र मनोहर मीडिया फाउंडेशन का सचिव चुना गया

पटना I पत्रकारिता एवं जनसंचार गतिविधियों को बढ़ावा देने तथा पत्रकारिता सन्दर्भ पुस्तकालय को समृद्ध करने के उद्देश्य से स्थापित रामजी मिश्र मनोहर मीडिया फाउंडेशन का पुनर्गठन किया गया है I अगले दो वर्षों के लिए प्रदीप जैन अध्यक्ष, रमेश चन्द्र गुप्ता उपाध्यक्ष, ज्ञानवर्धन मिश्र सचिव, प्रकाश कुमार अग्रवाल संयुक्त सचिव एवं अमर कुमार अग्रवाल कोषाध्यक्ष चुने गये हैं I

बैंक और फोन के लिए ‘आधार’ अनिवार्य नहीं : सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने आज एक बड़ा फैसला सुनाते हुए बैंक एकाउंट्स और मोबाइल फोन आदि को आधार से लिंक कराने की अनिवार्यता पर रोक लगा दी है. सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि बायोमेट्रिक आईडी कार्ड ‘आधार’ सब्सिटी और समाज कल्याण की योजनाओं के लिए अनिवार्य है. लेकिन आधार को प्राइवेट और पब्लिक सर्विसेज के लिए अनिवार्य करने की सरकार की मांग निजता के अधिकार का हनन है.

मेरे आदर्श संपादक प्रभाष जोशी का मानना था- सत्ता और व्यवस्था विरोध हर पत्रकार का एजेंडा होना चाहिए

Devpriya Awasthi : अपने देश और समाज को समझना है तो एनडीटीवी पर रवीश कुमार और फेसबुक पर हिमांशु कुमार को फालो कीजिए. आपको रवीश के बारे में अपनी राय बनाने और रखने का पूरा अधिकार है लेकिन, सत्ता और व्यवस्था प्रतिष्ठान के विरोध में उनका नजरिया मुझे और मुझ सरीखे बहुत से लोगों को पसंद आता है. मेरे आदर्श संपादक प्रभाष जोशी का मानना था कि सत्ता और व्यवस्था विरोध हर पत्रकार का एजेंडा होना चाहिए.

दिनदहाड़े लुटने से बची महिला पत्रकार बोली- ‘नोएडा बिलकुल सेफ नहीं है’

Pratibha Rai : नोएडा बिल्कुल safe नहीं है. आज शाम 6 बजे ऑफिस से घर रिक्शे से लौट रही थी. नोएडा स्टेडियम के सामने अपने सेक्टर 21 में जाने के लिए रिक्शा मुड़ने वाला था कि 3 बाइक सवार लड़के मेरा बैग छीनने लगे. लेकिन मैंने अपना बैग कुछ इस तरह पकड़ा था कि अचानक हुए इस हमले के बावजूद छीन नहीं पाए.

‘इंडिया न्यूज’ के पत्रकार रोहित सावल बने हिमाचल प्रदेश के सीएम के मीडिया सलाहकार

Rana Yashwant : कुछ उपलब्धियां आपके लिए खुशी और नाज़ दोनों का ख़ज़ाना लेकर आती है. इंडिया न्यूज उत्तर प्रदेश/उत्तराखंड और हरियाणा के संपादक रोहित सावल का नया मुकाम मेरे लिये ऐसा ही है. आज उन्हें हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर का मीडिया सलाहकार बनाने का एलान हुआ. नोटिफिकेशन जारी किया गया. रोहित एक सुलझे और साहसी पत्रकार हैं.

हेमंत शर्मा इंदौर से निकालेंगे अखबार, राजेन्द्र तिवारी बने हिंदी समूह संपादक

इंदौर। वरिष्ठ पत्रकार राजेन्द्र तिवारी ब्लैक एंड व्हाइट न्यूज नेटवर्क के मध्यप्रदेश आधारित हिन्दी दैनिक के समूह संपादक होंगे। वे हिन्दी अखबार के सभी संस्करणों के साथ ही डिजिटल मीडिया का काम भी देखेंगे। श्री तिवारी पिछले आठ वर्ष से प्रभात खबर अखबार के कारपोरेट एडिटर थे। बिहार और कोलकाता में प्रभात खबर के विस्तार में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही है। प्रिंट और डिजिटल में एक समान विशेषज्ञता रखने वाले श्री तिवारी ने हिन्दुस्तान, अमर उजाला और दैनिक भास्कर के विभिन्न संस्करणों में महत्वपूर्ण जिम्मेदारियों का निर्वहन किया है।

दैनिक जागरण हिसार के 49 मीडियाकर्मियों की लड़ाई जीत की ओर, देखें नोटिस की कापी

Brijesh Pandey : मजीठिया केस रिकवरी का मामला… दैनिक जागरण हिसार के 49 साथियों ने मजीठिया के तहत एक्ट की धारा 17 (1) के अंतर्गत रिकवरी फाइल किया था..  अब तक की कार्यवाही में सरकार ने यह पाया कि दैनिक जागरण की देनदारी बनती है,…

प्रज्ञानंद चौधरी और शिव कुमार अग्रवाल एनयूजे के अध्यक्ष व महासचिव निर्वाचित, देखें पूरी लिस्ट

नई दिल्ली । नेशनल यूनियन आफ जर्नलिस्ट्स (इंडिया) (एनयूजे-आई) ने देश में पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने, मीडिया काउंसिल और मीडिया आयोग बनाने की मांग को लेकर आंदोलन तेज करने की घोषणा की है। एनयूजे के रांची में आयोजित 19वें द्विवार्षिक अधिवेशन में देश के विभिन्न प्रांतों से आए 800 से ज्यादा पत्रकारों की मौजूदगी में यह संकल्प किया गया।

संजय तिवारी बने विश्व भोजपुरी सम्मेलन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, देखें पूरी टीम

नई दिल्ली। वरिष्ठ पत्रकार एवं भारत संस्कृति न्यास के संस्थापक संजय तिवारी को विश्व भोजपुरी सम्मेलन का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया गया है। श्री तिवारी पत्रकारिता के साथ ही कला, साहित्य एवं संस्कृति में विशेष लेखन एवं सृजन के लिए जाने जाते है। गत दिनों दिल्ली में हुई विश्व भोजपुरी सम्मेलन की राष्ट्रीय कार्यममिति में संजय तिवारी के नाम की घोषणा की गई।

टीवी पर ETV चैनल का दिखना 16 मार्च से बंद हो जाएगा

मुकेश अंबानी और रामोजी राव की मीडिया कंपनियों के बीच पूर्व में हुए समझौते के तहत इसी सोलह मार्च से ईटीवी नाम टीवी से गायब हो जाएगा. पूरे पांच साल तक ईटीवी नाम से कोई न्यूज चैनल टीवी पर न दिखेगा. उसकी जगह अब ‘NEWS-18 उत्तर प्रदेश’ या ‘NEWS-18 बिहार’ नाम से रीजनल न्यूज चैनल चलेंगे. इस रीब्रांडिंग के बाबत ईटीवी के रीजनल न्यूज चैनलों में कार्यरत लोगों को सूचित कर दिया गया है.

सवाल पूछने भर से संतत्व काफूर हो रहा है तो योगत्व की प्रभावकारिता समझना आसान है…

पुण्य प्रसून और रामदेव विवाद : जब संत व्यापारी हो जाए तो सवाल उठेंगे ही… योग गुरू बाबा रामदेव जी पर मेरी गहरी आस्था है इसलिए नहीं कि वे हिन्दू संत हैं, गोया कि देश-दुनिया में भारतीय योग और स्वदेशी का ब्राण्ड बन चुके हैं. बाजार पतंजलि के उत्पादों से इस कदर भर गया है कि हिंदुस्तान लीवर जैसी कंपनियों के छक्के छूट गए हैं। बाबा की आलोचना को भी मैं दरकिनार करता आया हूं तो इसीलिए क्योंकि दुनिया की नजरों से तो भगवान भी नहीं बच सके थे, बाबा रामदेव तो महज एक इंसान हैं।

स्मृति शेष- प्रमोद तिवारी : यादों के गीतकार..तुम बहुत याद आओगे यार…

स्वर्गीय प्रमोद तिवारी की फाइल फोटो

प्रमोद तिवारी यानि यादों का गीतकार..अब बस यादों में ही शेष रहेगा। बीती रात लालगंज(उप्र) से कवि सम्मेलन में ज़िन्दगी का आखिरी गीत गाकर दूसरी दुनिया में चला गया गीतकार..। कन्नौज के पास एक सड़क दुर्घटना में अपने साथी अवधी के हास्य कवि के डी शर्मा ‘हाहाकारी’ के साथ प्रमोद का निधन हो गया। आख़िरी तस्वीर कवि सम्मेलन की है जिसमें दोनों साथ बैठे हैं और आख़िरी सफर पर भी साथ गए। प्रमोद मूलतः पत्रकार थे। ‘जागरण’ कानपुर में वर्षों आला पदों पर रहे। फिर कवि ,गीतकार के रूप में व्यस्तता बढ़ी तो खबरनवीसी छोड़ दी। जल्द ही प्रमोद देश भर के कवि सम्मेलनों के सितारे बन गए। 

प्रमोद तिवारी ने कल जो नई प्रोफाइल फोटो अपलोड की, वह अब श्रद्धांजलि-RIP पिक्चर बन चुकी है

Yashwant Singh : जैसे मौत ने लगातार स्तब्ध करते रहने का इरादा कर लिया हो। चर्चित संपादक, कवि और गीतकार प्रमोद तिवारी जी नहीं रहे। उनके साथ कवि केडी शर्मा हाहाकारी जी की भी मौत! बीती रात लखनऊ-कानपुर हाइवे पर कार दुर्घटना में इन दोनों का निधन हुआ। दैनिक जागरण कानपुर के पूर्व संपादक प्रमोद तिवारी का भड़ास पर इंटरव्यू छापने के लिए मैंने उन्हें सवालों की एक लिस्ट भेजी थी, जिसका उत्तर अब कभी न आएगा।

जाने-माने पत्रकार और कवि प्रमोद तिवारी का सड़क दुर्घटना में निधन

दैनिक जागरण, कानपुर के पूर्व संपादक और कवि प्रमोद तिवारी का सड़क हादसे में आज सुबह निधन हो गया. प्रमोद तिवारी एक कवि सम्‍मेलन में शिरकत करने के बाद कानपुर लौट रहे थे. उन्नाव के बदरका मोड़ के पास ट्रक की टक्कर लगने से उनकी कार दुर्घनटनाग्रस्‍त हो गई. इससे श्री तिवारी व उनके साथ कार में सवार उन्नाव के ही हास्य कवि केडी शर्मा हाहाकारी गंभीर रूप से घायल हो गए. उन्नाव जिला अस्‍पताल ले जाते वक्त दोनों लोगों का निधन हो गया.

यूपी के सूचना निदेशक अनुज कुमार झा के खिलाफ अवमानना नोटिस जारी

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा गठित उत्तर प्रदेश प्रेस मान्यता समिति के गठन को लेकर गुरुवार को उत्तर प्रदेश सरकार के सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के निदेशक अनुज कुमार झा के खिलाफ माननीय उच्च न्यायालय इलाहाबाद ने अवमानना की कार्यवाही शुरू कर दी है। ऑल इंडिया स्माल एवं मीडियम न्यूजपेपर्स फेडरेशन द्वारा दायर अवमानना याचिका संख्या 1191/2018 की सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति श्री यशवंत वर्मा ने सूचना निदेशक को नोटिस जारी किया।

रासबिहारी पर दिल्ली पत्रकार संघ का मुख्यालय कब्जाने का आरोप

नई दिल्ली। नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट (एनयूजे) के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष रास बिहारी पर अवैध रूप से दिल्ली पत्रकार संघ के मुख्यालय पर कब्जा करने का आरोप लगा है। यह मुख्यालय दिल्ली के जंतर-मंतर रोड स्थित सरदार बल्लभ भाई पटेल स्मारक भवन की दूसरी मंजिल पर स्थित है। एनयूजे और दिल्ली पत्रकार संघ ने मामले की शिकायत दिल्ली के एक थाने में की है, जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच-पड़ताल की। 

भड़ासी चुटकुला : वो नर्स अब तक कोमा में है….

एक आदमी अस्पताल में आखिरी सांसें गिन रहा था। एक नर्स और उसके परिवार वाले उसके बिस्तर के पास खड़े थे।

आदमी अपने बड़े बेटे से बोला: -बेटा, तू मेरे मिलेनियम सिटी वाले 15 बंगले ले ले।

बेटी से बोला: -बेटी, तू सोनीपत सेक्टर 14 के बंगले ले ले।

संबित पात्रा ‘आजतक’ न्यूज चैनल में एंकर बन गए… मुझे तो शर्म आई… आपको?

आजतक के मालिक साहब अरुण पुरी जी कहते हैं कि लोकतंत्र खतरे में हैं और मीडिया पर हमले हो रहे हैं… दूसरी तरफ वे अपने ही चैनल में एंकर की कुर्सी पर भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा को बिठा देते हैं. कैसा दौर आ गया है जब मीडिया वालों को टीआरपी के कारण सिर के बल चलना पड़ रहा है. टीवी वाले तो वैसे भी सत्ताधारियों और नेताओं के रहमोकरम पर जीते-खाते हैं लेकिन वे शर्म हया बेच कर नेताओं-प्रवक्ताओं को ही एंकर बनाने लगेंगे, भले ही गेस्ट एंकर के नाम पर तो, इनकी बची-खुची साख वैसे ही खत्म हो जाएगी.

स्वर्गीय पत्रकार विनोद मिश्रा के पत्नी-बच्चों को मदद की तुरंत जरूरत

हिंदुस्तान गाजीपुर के ब्यूरो चीफ विनोद मिश्रा के कैंसर से निधन के बाद उनके पत्नी-बच्चों पर आफत का पहाड़ टूट पड़ा है.  इन्हें अभी तक किसी किस्म की कोई मदद नहीं मिल पाई है. फिलहाल विनोद जी की पत्नी निधि मिश्रा अपने तीनों बच्चे के साथ कानपुर से गाजीपुर पहुंच गई हैं और अपने पहले वाले किराए के मकान में रह रही हैं. इसकी एक बड़ी वजह बच्चों की पढ़ाई है. उनका अभी एक्जाम वगैरह होना बाकी है. कुछ शुभचिंतक कोशिश में हैं कि निधि मिश्रा की कहीं नौकरी का इंतजाम हो जाए. साथ ही बच्चों की आगे की पढ़ाई का फ्री में इंतजाम कराया जाए.