फ़ेसबुक पर भी बीजेपी हार रही!

दिलीप खान-

फ़ेसबुक पर इतना पैसा लगाने के बाद भी बीजेपी को लाइक्स, शेयर, कमेंट नहीं मिल रहे हैं. चुनावी सीज़न में मैं आदतन विज्ञापन पर लगे पैसों की सूची झांक आता हूं. आज फिर झांका.

बीजेपी सैकड़ों पेजों में हज़ारों विज्ञापनों पर पैसे ठेल रही है, लेकिन आप फ़ेसबुक का डेटा छान मारेंगे, पता नहीं चलेगा कि गुप्त (अनाधिकारिक) पैसे कितने लगे हैं.

ऑफ़िशियली पिछले 30 दिनों में भारत में फ़ेसबुक पर सबसे ज़्यादा पौने 3 करोड़ रुपए यूपी बीजेपी ने लगाए हैं, लेकिन मीम पेज और फ़ैन पेज के नाम पर इससे ज़्यादा झोंके गए हैं. मसलन, Modi11 नामक पेज ने बीते 90 दिनों में 45 लाख रुपए विज्ञापन पर ख़र्च किए.

एक पेज है बुआ बबुआ. यह बीजेपी का गुरिल्ला पेज है. पैसे लगाए हैं 21 लाख 15 हज़ार. मैं पेज घूम आया. किसी वीडियो को 15 लाइक्स हैं, किसी को 100. पेज को 8 लाख से ज़्यादा लोग फ़ॉलो करते हैं और उससे तीन गुना ज़्यादा पैसे लगाए गए हैं, तब भी ये हालत है.

मोदी की डीपी वाला एक पेज है- देशभक्त भारतीय. विवरण में ‘भारतीय हिंदू’ लिखा है. यानी, देशभक्त=हिंदू. पैसे लगाए हैं 9.69 लाख. वीडियो पर लाइक है 9, 15, 27.

इस तरह के सैकड़ों पेज हैं.

रिसर्च प्रश्न: क्या फ़ेसबुक पर लोग बीजेपी से उकता गए हैं?



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप ज्वाइन करें-  https://chat.whatsapp.com/JYYJjZdtLQbDSzhajsOCsG

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849



One comment on “फ़ेसबुक पर भी बीजेपी हार रही!”

  • Human nature hai. kisi bhi cheej ka overdose interest khatm kar deta hai.
    aaj social media ka koi bhi plateform kholiye sirf partiyon ke prachar hi bhare rahte hai, even ki Google news or Bhadas par bhi. Kisi ek party ki nahi apitu sabhi ki. khaskar BJP n congress ki.
    Ek or baat overdose na sirf interest khatm karta hai balki negative bhi kar deta hai.

    Reply

Leave a Reply to Prashant Cancel reply

Your email address will not be published.

*

code