A+ A A-

देश के सबसे बड़े रीजनल न्यूज नेटवर्क ईटीवी में हड़कम्प मचा हुआ है। ईटीवी नेटवर्क के हेड पद से रिजाइन करके ज़ी रीजनल चैनलों के सीईओ बने जगदीश चंद्र के समर्थन में ईटीवी में इस्तीफों की लाइन लग गयी है। उनके समर्थन में ईटीवी राजस्थान समेत अन्य राज्यों के बड़े चेहरों ने पैरेंट कंपनी नेटवर्क18 को इस्तीफे भेजे हैं।

सूत्रों के मुताबिक ईटीवी से संपादक रैंक के गिरिराज शर्मा, मीना शर्मा, ईटीवी राजस्थान डेस्क हेड रमाकांत चतुर्वेदी, 10 रिपोर्टर समेत करीब 40 लोगों ने कंपनी को इस्तीफा भेजा है। अन्य राज्यों से भी करीब 80-85 लोगों के संस्थान छोड़ने की खबर है।  अशित कुणाल ने भी ईटीवी से इस्तीफा देकर ज़ी मीडिया रीजनल ज्वाइन कर लिया है। वे पोलिटिकल एडिटर थे और इसी पद पर जी के हिस्से बने हैं।

ईटीवी नेटवर्क के मार्केटिंग सैक्शन से आशीष दवे ने भी कंपनी को इस्तीफा भेजा है। ईटीवी में बड़े पैमाने पर इस्तीफे से हड़कम्प मच गया है। कामकाज ठप सा पड़ चुका है। हालात संभालने के लिए नेटवर्क18 के बड़े अधिकारी जयपुर पहुंचे हैं। ईटीवी न्यूज नेटवर्क के नए हेड राहुल जोशी भी जयपुर में कैम्प किए हुए हैं। 

इस बीच जगदीश चंद्रा ने अपने जानने वालों को सन्देश भेज कर नई पारी के बारे में सूचित कर दिया है। उनकी तरफ से भेजा गया सन्देश इस प्रकार है- 

''I am glad to say that after serving ETV for more than 8 years, this morning, I have joined Zee Media Corporation Limited. In my new role, I will function as CEO , Zee regional channels , which includes Zee Rajasthan, MP-Chattisgarh, UP-Uttarakhand, Bihar-Jharkhand, Haryana-Himachal-Punjab, Zee Salam, Zee 24 Ghanta and Zee 24 Taas. At this juncture, I seek your good wishes and your valuable support in my new assignment.  Regards – Jagdeesh Chandra''

ज्ञात हो कि यूपी में ईटीवी के रीढ़ रहे वरिष्ठ संपादक बृजेश मिश्र ने इस्तीफा देकर चैनल को घुटनों के बल ला दिया। बृजेश के समर्थन में भी दर्जनों इस्तीफे यूपी में हुए। बृजेश अब खुद का यूपी यूके का रीजनल न्यूज़ चैनल ला रहे हैं जिससे ईटीवी के दर्जनों लोग इस्तीफा देकर जुड़ रहे हैं। अब जगदीश चंद्र और उनके चाहने वालों ने ईटीवी से रिजाइन करके चैनल के ताबूत में आखिरी कील ठोंक दी है। आने वाले दिनों में ईटीवी के थर्ड ग्रेड चैनल बन कर रह जाने की सम्भावना है।

ईटीवी : अब छंटनी का दौर शुरू होने वाला है

एक अन्य जानकारी के अनुसार ईटीवी में अब नेटवर्क18 के लोग पूरी तरह हावी होने लगे हैं जिससे चैनल के रीजनल स्वरूप पर संकट के बादल छाने लगे हैं। ईटीवी एमपी से जुड़े सूत्रों ने बताया कि भोपाल असाइनमेंट से दो लोगों का हैदराबाद ट्रांसफर हुआ है। ये दोनों ही नए लोग थे। एक साल पहले हुई थी ज्वाइनिंग। ईटीवी भोपाल ऑफिस में करीब 50 से ज्यादा लोगों का स्टाफ है। नेटवर्क 18 का फरमान है कि स्टाफ कम किया जाए। इससे लगता है कि छंटनी का दौर शुरू होने वाला है। अभी एकाएक आदेश आ गया कि ग्वालियर ब्यूरो बन्द हो रहा है। सारा सामान भोपाल ऑफिस मंगवाया जा रहा है।

ईटीवी की पूरी कमान नेटवर्क18 के पास आने के बाद ये भी कहा जा रहा है कि इंदौर और जबलपुर ब्यूरो भी जल्द बन्द करने की तैयारी है। फिलहाल तो ईटीवी एमपी में हड़कम्प मचा हुआ है। कब किसको हैदराबाद ट्रांसफर कर दिया जाए। हर कोई चुप है। कहा जा रहा है कि जगदीश चंद्र के द्वारा लाए गए लोग निशाने पर हैं। ब्यूरो बन्द करने और कई लोगों के तबादले का फरमान बस शुरुआत भर है।

भड़ास4मीडिया डॉट कॉम को छोटी-सी सहयोग राशि देकर इसके संचालन में मदद करें: Rs 100 > Rs 200 > Rs 500 > Rs 1000 > Rs 2000 > Rs 5000

Leave your comments

Post comment as a guest

0
Your comments are subjected to administrator's moderation.
terms and condition.
  • No comments found

Latest Bhadas