Categories: सुख-दुख

गुना के पत्रकारों से सीखें सबक : कोरोना से दिवंगत पत्रकारों के परिजनों को दी लाख-लाख रुपये की मदद

Share

गुना जिले के पत्रकारों ने शासन की मदद की बाट देखने की जगह खुद ही अपने दिवंगत कोरोना वारियर कलमकार साथियों के परिजनों को लाखों रुपये की शृद्धानिधि जुटाकर सच्ची शृद्धाजंलि दी है। भोपाल डेस्क देख रहे एक पत्रकार राजेन्द्र सिंह मीणा ने बताया कि मैंने 50 वर्ष की उम्र तक अनेक नगरों ओर संस्थानों में कार्य किया है लेकिन जो मिसाल गुना के पत्रकारों के ग्रुप ने कायम की है, वो दुर्लभ है।

गुना में कोरोना के प्रकोप से कई पत्रकार प्रभावित हुए। उनमें से कई जिंदगी की जंग हार गए। ग्रुप एडमिन आनंद व्यास (बंसल न्यूज) के द्वारा पत्रकार साथियों के समाचारों की सूचनाओं के लिए बनाया गया वाट्सएप प्रेस ग्रुप में सभी पत्रकारों ने मिलकर दिवंगत साथियों के परिजनों की आर्थिक जिम्मेदारी उठाने का संकल्प लिया।

पीड़ित परिजनों के स्वाभिमान को दृष्टिगत रखते हुए दान की अपील नहीं की गई बल्कि व्यक्तिगत रूप से अपने घनिष्ठ लोगों से ही सहयोग राशि ली गई। इस अभियान में पूरी तरह पारदर्शिता रखी गई। यह राशि इतनी अधिक हो गई कि 6 माह पूर्व हार्ट अटैक से दिवंगत हुए एक अन्य कलमकार साथी को भी आर्थिक सहायता उपलब्ध हो गई।

  1. एक लाख इक्यावन हजार स्व. राजा श्रीवास्तव
  2. एक लाख एक हजार स्व. शिवदान सिंह सिकरवार
  3. एक लाख एक हजार स्व. विकास श्रीवास्तव
  4. एक लाख एक हजार स्व. सुनील शर्मा
  5. एक लाख एक हजार स्व. रवि श्रीवास्तव पत्रकार

6 स्व. नरेन्द्र भार्गव (इनके लिए अभी अभियान जारी है।

इस राशि में स्थानीय जनप्रतिनिधियों द्वारा दी गई राशि शामिल नहीं है। लगभग इतनी ही राशि नेताओं से सभी परिवार जनों को अलग से दिलवाई गई है। शासन द्वारा जो राहत राशि कोरोना प्रोटोकॉल तथा अन्य योजनाओं से दी जाएगी उससे भी परिजनों को लाभान्वित करवाया जाएगा। इतना ही नहीं दिवंगत पत्रकारों के परिजनों को यथायोग्य प्रायवेट नॉकरी या कोई बिजनेस स्थापित करवाने का भी संकल्प लिया गया है।

हॉकर्स को दिया राशन : पत्रकारिता की अंतिम पंक्ति में खड़े इस व्यवसाय के आधार स्तम्भ हॉकर्स पर कोई ध्यान नहीं देता लेकिन मणिधारी मेंशन में 115 अखबार वितरक बंधुओं को सूखा राशन उपलब्ध करवाया गया। सूखे राशन में 10 किलो ब्रांडेड आटा, चावल, मीठा तेल, नमक, दाल आदि रखा गया था। इस पूरे कार्यक्रम की कोई फोटोग्राफी, प्रचार, प्रसार नहीं किया गया। जून के पहले सप्ताह में भी इतना ही राशन ओर भी दिया जाएगा। इतना ही नहीं मौसम के अनुसार हॉकर्स बन्धुओं को आवश्यक वस्त्र आदि भी प्रदान किये जायेंगे।

वरिष्ठ पत्रकार आनंद लौढ़ा, महेंद्र सिंह किरार, आनंद व्यास, विकास दीक्षित, शेखर उप्पल, बारेलाल धाकड़, मनोज यादव, प्रमोद भार्गव व प्रेस ग्रुप गुना परिवार के द्वारा पूरे देश व समाज के लिए एक अनुपम उदाहरण प्रस्तुत किया गया है।

Latest 100 भड़ास