Categories: सुख-दुख

मोदी जी के लूट के इस दौर में ‘हमसफ़र’ का हाल देखिए!

Share

नीतेश त्रिपाठी-

रेलवे मर गया है. सिस्टम भी मुर्दा है. रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव शायद जिंदा हैं. आज सुरेश प्रभु की कमी बहुत खल रही है. तब सफर के दौरान कोई परेशानी सामने आने पर तुरंत ट्वीट किया जाता और दोगुनी तेजी के साथ मसला हल हो जाता था.

अश्विनी के दौर में सिस्टम पंगु बन गया है और यात्रियों को मार रहा है. ये जो लोग बाहर दिख रहे हैं ये हमसफर के यात्री हैं और दिल्ली जाना चाहते हैं. AC न चलने से गर्मी और सफोकेशन से परेशान होकर कोच से बाहर निकल आए हैं.

लूट के इस दौर में मोदी जी का रेलवे किराया बढ़ाकर लूट तो रहा ही है, साथ ही सुविधा के नाम पर भी नतीजा सिफर है. कोच में पानी नहीं है, फोन करने पर फोन लगता नहीं है, ट्विटर वाले चरस लेकर सो रहे हैं.

हमसफर की शुरुआत बहुत जोर शोर से हुई थी. CCTV, कोच में कॉफी और ब्ला ब्ला. आज मोदी ने इसे बर्बाद कर रखा है. 12.30 घंटे का ये सफर कैसे कटेगा पब्लिक जाने. इन्हें इनके हाल पर छोड़ दिया गया है. मोदी का ये लूट खसोट वाला कार्यकाल इतिहास में याद किया जाएगा. एक सुर में कहिए न, मोदी है तो मुमकिन है.

Latest 100 भड़ास