Categories: सियासत

आईपीएफ ने सीतापुर और दुद्धी से अपने प्रत्याशी उतारे, सेवापुरी में योगीराज पटेल को दिया समर्थन

Share

सीतापुर से पूर्व एसीएमओ डा. बीआर गौतम और दुद्धी से कृपा शंकर पनिका आइपीएफ प्रत्याशी घोषित, वाराणसी की 391 सेवापुरी से योगीराज पटेल आइपीएफ समर्थित प्रत्याशी

लखनऊ , 22 जनवरी 2022 : 146 सीतापुर सामान्य से पूर्व एसीएमओ और आइपीएफ के प्रदेश अध्यक्ष डा. बीआर गौतम व 403 दुद्धी (अनुसूचित जनजाति) से कृपा शंकर पनिका विधानसभा चुनाव में आइपीएफ प्रत्याशी होंगे। साथ ही आइपीएफ समर्थित पूर्वांचल किसान यूनियन के अध्यक्ष योगीराज पटेल वाराणसी की 391 सेवापुरी विधानसभा सीट से प्रत्याशी होंगे।

आइपीएफ इन विधानसभा सीटों के अतिरिक्त कुछ चुनिंदा विधानसभा सीटों पर वामपंथी और लोकतांत्रिक उम्मीदवारों का समर्थन करेगी। आइपीएफ प्रत्याशी समेत समर्थित प्रत्याशियों की संख्या दस से अधिक नहीं होगी और शेष 393 विधानसभा सीटों पर भाजपा को हराने के अभियान में आइपीएफ अन्य लोकतांत्रिक शक्तियों के साथ शरीक रहेगा।

सीतापुर का विधानसभा वह क्षेत्र है जहां डा. बृज बिहारी की अगुवाई में लम्बे अरसे से किसानों, दलितों, मजदूरों के अधिकार के लिए आंदोलन चल रहा है। इसलिए समाज के शोषित, उत्पीड़ित तबकों की आवाज को विधानसभा में पहुंचाने के लिए सीतापुर सामान्य सीट पर दलित कार्यकर्ता, समाजसेवी और सेवानिवृत्त अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा. बी. आर. गौतम को चुनाव लड़ाया जा रहा है। आइपीएफ यहां दलितों के सम्मान और किसानों के अधिकार के लिए चुनाव लड़ रहा है।

सोनभद्र की दुद्धी में आइपीएफ लम्बे समय से आदिवासियों, दलितों, महिलाओं और मजदूरों में कार्यरत है। यहां वनाधिकार, महिलाओं के सम्मान और स्वास्थ्य के अधिकार की गारंटी के सवालों को प्रमुखता से उठाते हुए हमारे प्रत्याशी कृपा शंकर पनिका चुनाव लड़ेंगे। इसी प्रकार वाराणसी की सेवापुरी से चुनाव लड़ रहे योगीराज पटेल किसान आंदोलन में सक्रिय रहे है। पिछले 13 महीनों तक चले किसान आंदोलन में उन्होंने वाराणसी में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया। योगीराज जी ने नागरिकों के स्वास्थ्य के अधिकार पर कई तरह की पहल ली। यहां तक कि जब कोरोना काल में मंडिया बंद हो गई तो दर्जनों गांवों से सब्जियों व फसलों को किसानों से खरीदकर उसे बाजार में बेचने का प्रयोग उन्होंने किया। किसान आंदोलन को गहरा करने के लिए एमएसपी की कानूनी गारंटी सुनिश्चित करने, सहकारी खेती को बढावा देने और छोटे व कुटीर उद्योगों में लगी महिलाओं के रोजगार के सवालों को वह इस विधानसभा चुनाव में उठायेंगे।

आइपीएफ इस चुनाव में जमीन, रोजगार, शिक्षा, स्वास्थ्य के अधिकार पर अपना चुनाव प्रचार केन्द्रित करेगा। महंगाई, भ्रष्टाचार की जिम्मेदार आर्थिक नीतियों का जनता में खुलासा करेगा। वैश्विक पूंजी सह कारपोरेट पूंजी की लूट के खिलाफ किसान आंदोलन में पूरी तौर पर अपनी हिस्सेदारी को और बढ़ाते हुए एमएसपी कानून, विद्युत संशोधन बिल वापस लेने, लखीमपुर किसान नरसंहार के दोषी केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी की बर्खास्तगी व गिरफ्तारी और आंदोलन के दौरान किसानों पर लगे मुकदमें वापस लेने जैसे सवालों पर आर्थिक राष्ट्रवाद के अपने अभियान को चुनाव में भी जारी रखेगा।

पत्रकार वार्ता को आल इंडिया पीपुल्स फ्रंट के राष्ट्रीय अध्यक्ष एस. आर. दारापुरी, आइपीएफ की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शगुफ्ता यासमीन और प्रदेश अध्यक्ष डा. बी. आर. गौतम ने सम्बोधित किया। पत्रकार वार्ता में आइपीएफ प्रदेश महासचिव डा. बृज बिहारी, सचिव मण्ड़ल सदस्य दिनकर कपूर, गया प्रसाद और कमलेश सिंह एडवोकेट उपस्थित रहे।

Latest 100 भड़ास