यादव के आउटपुट हेड बनने पर गुप्ता, शर्मा और श्रीवास्तव की कुंठा छलक आई!

Bharat Yadav : हां मैं..पिछड़ा हूं..गोबर उठाने वाला हूं..यादव हूं..दूध वाला हूं..तबेले वाला हूं..और उत्तर प्रदेश के श्रेष्ठ न्यूज चैनल का आउटपुट हेड भी हूं.. अब तकलीफ क्या है वो देखिए..एक गुप्ता जी लिखते हैं मीडिया में गोबर उठाने वाले को भी आउटपुट हेड बनना है..नीचे एक श्रीवास्तव जी हैं वो भारी मन से कह रहे हैं कि बनना नहीं है बन चुके है..आगे कहते हैं उनको ये भ्रम है कि उनको ये पद सरकार ने दिया है..मैं कहता हूं..मेरी संस्था मेरे लिए किसी भी सरकार से बड़ी है. अब तक जो भी संस्था रही सब पर मुझे गर्व है.

नीचे एक आध और श्रीवास्तव जी हंसते मुस्कुराते और खिसियाते हैं..फिर एक शर्मा जी आते हैं..इनका कहना है कि न्यूज चैनल को तबेला ना बनने दिया जाए..((माने जाति से यादव को बड़े पद पर जिम्मेदारी नहीं मिलनी चाहिए)) यानी अब ऊंची जाति की श्रेष्ठता बचाने की नैतिक जिम्मेदारी इनके कन्धों पर आ गई..फिर नीचे कमेंट में यादवों की जातिगत विशेषता बताते हुए लिखते हैं चलो न्यूजरूम में कम से कम शुद्ध दूध मिलेगा..

बाकी नीचे फिर कुछ और लोग हैं जो जातिगत और व्यक्तिगत कारणों से यादव के आउटपुट हेड होने पर आपत्ति जताते हैं… ये थी जाति के नाम पर पढ़ाई लिखाई वाले पेशे को भोगने और भकोस जाने वाली लालसा रखने वालों की बात..अब कुछ गोबर उठाने वाले की भी सुनते जाइये. ये दगे हुए कारतूस है. मीडिया में कभी फायर कर ही नहीं पाए इसलिए मुझपर बैक फायर कर रहे हैं. इनसे मेरा प्रत्यक्ष या परोक्ष तौर पर कोई लेना देना नहीं है. बस जातिगत आधार पर कमेंट करने आए थे.

दूसरे सज्जन का नाम अनुज श्रीवास्तव है..नौकरी जाने के बाद चैनल का डेटा डिलीट कराने की बहुत कोशिशें की लेकिन मेरे आगे पूरी तरह कामयाब नहीं हो पाए..माने उस तर्ज पर कि मैं नहीं रहूंगा तो संस्था भी नहीं रहेगी. ऐसा कभी होता है क्या..ऐसे चोर डकैतों को आगे जो नौकरी दे भगवान उसका भला करे..खैर.सबको अपना अपना भोगना पड़ता है. कन्हैया सबका भला करें..

बाकी मोहित गुप्ता से हमारा विशेष लगाव है..हमारे भूतपूर्व प्रिय मित्र रहे हैं. लखनऊ और काकोरी के गोबर उठाने वाले खास इनके स्वागत के लिए लखनऊ में प्रवेश की प्रतीक्षा कर रहे हैं. इनके किसी भी दिशा से कभी भी लखनऊ में आगमन की सूचना जो भी इनबॉक्स करेगा. उसे गोबर उठाने वालों की तरफ से गिरती जीडीपी के बीच जो बन पड़ेगा दिया जाएगा

भारत समाचार न्यूज चैनल के आउटपुट हेड भरत यादव की एफबी वॉल से.

उपरोक्त स्टेटस पर आए सैकड़ों कमेंट्स में से कुछ प्रमुख यूं हैं-

Ashwini Sharma : भाई Bharat Yadav Kakori, आपने मुझ पर जातिवादी टिप्पणी लिखने का आरोप लगाया है इसलिए मजबूरन मुझे सफाई देनी पड़ रही है कि आपकी सोच मुझे लेकर ठीक नहीं है। भाई आप मुझसे उम्र में भले छोटे हैं लेकिन मैं तो आपकी प्रतिभा का कायल हूं। भाई आपके चैनल के सहयोगी ने बिना आपका नाम लिए पोस्ट लिखा तो मैंने मजाक में तबेला लिख दिया तो आप इतना सीरियस हो गए कि मुझे जातिवादी, दगा हुआ कारतूस समेत जाने क्या क्या कह गए। भाई आपकी इस पोस्ट पर अनगिनत कमेंट आ भी रहे हैं लेकिन मैं साफ कर दूं कि मेरे दिल में हर इंसान के लिए एक सा सम्मान है क्योंकि मैं भी कर्म पूजता हूं जाति, धर्म की चासनी से दूर ही रहता हूं। एक बात और भाई गोबर फेंकने का कारोबार सिर्फ आप यदुवंशी ही नहीं करते। गाय, भैंस का लालन पालन हमारे पूर्वज भी कर चुके हैं। मैं खुद भी सानी, गोबर कर चुका हूं। यूपी बिहार छोड़िए आप मुंबई भी चले जाएं तो पाएंगे सबसे ज्यादा तबेले ठाकुर, भूमिहार, ब्राह्मणों समेत बाकी जातियों के ही हैं। आपको लेकर किसने क्या टिप्पणी लिखी है वो आप दोनों के बीच का निजी मामला है लेकिन कम से कम मैं तो आपका कायल हूं भाई। आप आगे बढ़ते रहे शुभकामनाएं देता हूं।

Shubham Tripathi ये सब वो लोग है जिन्होंने जीवन में रत्ती भर का धेला भी इधर से उधर नहीं कर पाया होगा,आप श्रेष्ठ हैं तभी श्रेष्ठतम पद पर हैं,कुछ कूपमंडूकों को उनकी आत्ममुग्धता में पड़े रहने दीजिए, एवं अपने निर्देशन में संस्था को आगे बढ़ाइए,बहुत से अच्छे लोग भी हैं जो आपसे सीखने को आतुर रहते हैं, शुभकामनाएं

Sirandha Shekhar कहीं किसी ज़माने में ये आपके समकक्ष तो नहीं थे..? ये दरअसल उसी की टीस है… हालाँकि दर्द बयाँ करने का इनका तरीक़ा बड़ा बेहूदा है… ये शायद भूल गये हैं कि जिस गोबर को ये हिकारत के भाव से देख रहे हैं भारतीय संस्कृति में आज भी पूजा से पहले पूजा स्थान को उसी से लीपा जाता है… इन्हें शायद भगवान कृष्ण की भाँति गऊ सेवा का अवसर प्राप्त नहीं हुआ है… इसलिए इनकी बुद्धि विकसित नहीं हो पाई है… Lord Krishna save them…

Bhupendra Singh शर्मनाक…. जाति, कुल या गोत्र किसी व्यक्ति के श्रेष्ठ और योग्य होने का पैमाना कभी भी नहीं बन सकता। कृष्ण यदुवंशी थें और उनके सहयोग के बिना तो पांडव महाभारत जीत ही नहीं सकतें थें। इसलिए किसी को भी सिर्फ उसकी जाति के नाम पर खारिज नहीं किया जा सकता है। और ना ही करना चाहिए।

Shishupam Tyagi जातिगत टिप्पणियां शर्मनाक हैं। सभ्य समाज में ऐसी हरकतें पाप के समान है। लेकिन आप भी जातिगत राजनीति करते हैं इसलिए ये टिप्पणियां आईं हैं ऐसा भी हो सकता है।

Chandrakant Gaurav अश्विनी शर्मा जैसे आत्म प्रवंचित बौनों से आप और क्या उम्मीद कर सकते हैं ? ये दगे नहीं सीले हुए कारतूस हैं, जो आत्ममुग्धता में आकंठ डूबे हैं। बाकी रही बाकियों की बात तो सबने अपना अपना हल्कापन दिखा दिया। लेकिन आपका भी ये नेचर कभी नहीं रहा कि आप अपनी कीमती लेखनी को 2 कौड़ी की मानसिकता वालों पे खर्च करें…

Ashwini Sharma डियर आप भी समझ नहीं सके। मुझे पता ही नहीं था किस संदर्भ में टिप्पणी थी। मुझे नहीं मालूम मोहित ने गोबर का क्यों जिक्र किया। मैंने मजाक में तबेला लिख दिया। मुझे भरत भाई को हर्ट करने का इरादा नहीं था। बाकी चंदू भाई वाकई में दगा कारतूस हूं तभी आप जैसे बच्चों के साथ काम कर सका।

Chandrakant Gaurav जब मामले की पूरी जानकारी ना हो तो चुप रहना चाहिए, ज्ञान नही बखारना चाहिए।

Ashwini Sharma आप तो ज्ञान मत दो भाई। भरत भाई को अंजाने में लिखा माफी मांग ली। आप भूल गए आपने महिला एंकर के साथ होली में शराब के नशे में क्या किया था। एंकर की शिकायत पर इसी संस्थान ने आपको निकाल बाहर किया था। बहुत गिड़गड़ाने के बाद दिलदार मालिक ने आपको दुबारा मौका दिया। बेहतर है आप हद में रहें। आपकी पूरी फेसबुक पोस्ट दौ कौड़ी की आशिकाना शायरी से भरी हुई है। बेहतर है काम पर ध्यान दो ये सलाह है मेरी।

Sandeep K Pandey आप यादव हैं ये आपको बताया गया है और आप आउटपुट हेड हैं ये आपने हासिल किया है, ये आपका कर्म है। हर सफल इंसान की बुराई करने वाले लोग होते हैं। कहने वालों को तव्वजो नहीं देना चाहिए। आप अपने कई प्रतिद्वंदीयों से श्रेष्ठ हैं। इसलिए जलने वालों के मर्म को भी समझिए

हां मैं..पिछड़ा हूं..गोबर उठाने वाला हूं..यादव हूं..दूध वाला हूं..तबेले वाला हूं..और उत्तर प्रदेश के श्रेष्ठ न्यूज चैनल…

Posted by Bharat Yadav Kakori on Friday, August 30, 2019
कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “यादव के आउटपुट हेड बनने पर गुप्ता, शर्मा और श्रीवास्तव की कुंठा छलक आई!

  • Anant james says:

    Bhai Jo is ek msg ko galat tareeke se present Kiya Gaya hai wo galat hai…pure msgs kahaan hai jinme gaaliyaan di Hain ..main attach Kar raha hu.koi insaan dur se yahaan naukari krne aaya hai usko jaan se maarne ki dhamki de raha hai ek insaan n log usko support Kar rahe Hain.. shameful.

    Reply
  • Yahan sari Galti Bharat Yadav ji ki h ….ye sansthaan me dalgat rajneeti karte hue technical team k khilaf sajis Kar rahe the aur sansthaan k varishth adhikariyo ko gumrah Kar k …gfx aur editing se bando ko Bina Kisi notice k Nikal a Di job se …
    Jo ki bilkul galat hai ….
    Khud Yadav ji jab yahan join kie hain to salary badha k batai hai isne aur yahan 70000 par join Kia h …..
    Aur sansthaan Ka hit karane me naam par technical valo ki job kha chuke hai ye bhai Sahab …
    Ab JAATI KI RAJNEETI Kar rahe hain…..
    Apne output k kaam se Kabhi MATLAB Nahi rahta inka ….
    Ek national Chanel Ka look copy karvane ki kosis me lage rahte Hain gfx valon se ….
    Ganda vala laal aur peela sab jagah ghused den inka bas chale to……

    Aur ye dosro ko Jan se Marne ki dhamki khule aam de sakte Hain Nahi to Apne senior logo k aage dukhda rokar apna …
    Police se paresaan karva sakte Hain…..
    Ab patrakarita inka sriman Ka Kam Nahi rah Gaya h yahi sab Kar rahe hain isi me dukhi Hain…..

    Reply
  • Abhishek tripathi says:

    Yahan sari Galti Bharat Yadav ji ki h ….ye sansthaan me dalgat rajneeti karte hue technical team k khilaf sajis Kar rahe the aur sansthaan k varishth adhikariyo ko gumrah Kar k …gfx aur editing se bando ko Bina Kisi notice k Nikal a Di job se …
    Jo ki bilkul galat hai ….
    Khud Yadav ji jab yahan join kie hain to salary badha k batai hai isne aur yahan 70000 par join Kia h …..
    Aur sansthaan Ka hit karane me naam par technical valo ki job kha chuke hai ye bhai Sahab …
    Ab JAATI KI RAJNEETI Kar rahe hain…..
    Apne output k kaam se Kabhi MATLAB Nahi rahta inka ….
    Ek national Chanel Ka look copy karvane ki kosis me lage rahte Hain gfx valon se ….
    Ganda vala laal aur peela sab jagah ghused den inka bas chale to……

    Aur ye dosro ko Jan se Marne ki dhamki khule aam de sakte Hain Nahi to Apne senior logo k aage dukhda rokar apna …
    Police se paresaan karva sakte Hain…..
    Ab patrakarita inka sriman Ka Kam Nahi rah Gaya h yahi sab Kar rahe hain isi me dukhi Hain…..

    Reply
  • Rashmi Kulshreshta says:

    ‘दिमाग़ में गोबर भरा है क्या?’ ‘गोबर मत बको’ ‘गुड़ गोबर कर दिया’ बचपन से ऐसी टिप्पणियां , फटकार, डांट सुनी होंगी ना आप सभी ने (जो भी कमेंट और सो कॉल्ड कमेंट कर रहे हैं) तभी भी क्या जातिवाद नज़र आया?
    मुझे कोई कहता है कि लाला या बनिया या कंजूस कहता है, वो भी तमाम नकारात्मक कमेंट्स के साथ तो मुझ पर कोई फर्क नहीं पड़ता क्योंकि वो मेरे लिए अहम ही नहीं है। मुद्दा है कि आप चीज़ों को किस तरह से कहते हैं, ग्रहण करते हैं। गोबर को आपने जाति से जो़ड़ दिया… इस शब्द GOBAR को किसी ‘ख़ास’ विचार से भी तो जोड़ा जा सकता है ना? लेकिन नहीं… आखिर बात जातिगत कार्ड की है..खाली कैसे जाए।

    और आप यादव साहब आपने कितनी आसानी से किसी की कर्मनिष्ठा पर सवाल उठा दिया। आरोप लगा दिया कि डाटा डिलीट करके भागने की फिराक में थे। आप जिस नाम, श्रीवास्तव जी पर आरोप लगा रहे हैं उसके साथ सालों काम किया है मैंने। ईमानदारी पर कभी मुझे शक़ नहीं हुआ। अगर इनकी नीयत ये ही होती…तो नोएडा के अच्छे चैनल को छोड़कर लखनउ की ओर ना जाते।

    आप ये डाटा डिलीट आरोप लगा रहे हैं..तो मेरे हिसाब से तो जवाब देही आपकी भी है। कोई एम्प्लाई क्यों इतना मजबूर हुआ (हालांकि I stand by my words that He is trustworthy) आउपुट हैड हैं ना आप…. नए बॉस हैं ना आप… पुरानी टीम को बांधकर क्यों नहीं रख पाए? सवाल तो आप पर भी उठता है। टीम लीडर का काम टीम को साथ लेकर चलना होता है…आपके आते ही सबने चलना क्यों छोड़ दिया?
    अगर टीम ने बगावत की है तो ज़रा दाएं-बाएं गर्दन घुमा कर देखिए ज़िम्मेदारी आपकी भी होगी।
    जरा सा चश्मा बदलकर देखिए…. शायद कुछ नया नज़र आजाए… एक मन, जो परेशान भी होता है, बौखलाता भी है।
    शुक्रिया

    Reply
  • Rashmi Kulshreshta says:

    इस ख़ूबसूरत लेख की जो हैडलाइन है… उसमें भी तो जाति पर फोकस किया गया… नाम पर नहीं।
    आपने अमुक जाति के सारे लोगों को टारगेट कर दिया। तो यादव साहब बताएं फ़र्क कहां रह गया? आपकी सोच भी इस जातिसूचक उपनाम पर लट्टू होगई।

    चलिए उन्होंने जो बोला या आपने जो लिखा वो किसी ख़ास मंशा के तहत नहीं किया होगा। लेकिन जो आपने श्रीवास्तव जी पर डाटा डिलीट करने की कोशिश करने वाले डाकू का आरोप लगाया है, एक बार सोच तो लेते कि क्या लिख रहे हैं। किसी के करियर पर एक दाग़ दे रहे हैं। इसमें भी तो आपकी कुंठा नज़र आरही है… (बदलापुर टाइप वाली)

    जिन श्रीवास्तव जी की बात आप कर रहे हैं…कई साल साथ काम किया है… कई चैनल में…यहां तो ऐसा कुछ करने की कोशिश नहीं की? आपके राज में, आपकी लीडरशिप के अंडर ही क्यों?
    आप एक चैनल आउटपुट हैड बने बहुत बहुत मुबारक हो आपको…लेकिन नए बॉस के आते ही पुरानी टीम इतनी बिखर क्यों गई, यूं बर्ताव क्यों करने लगी? पूछिएगा ख़ुद से…यकीन मानिए सबसे बेहतर जवाब मिलेगा।

    Reply
  • Prahlad Yadav says:

    भारत जी आप इसी तरह यादवो का मान सम्मान बढ़ाते रहे सारे यादव आप के साथ है। दुसरी जाति वाले तो चाहते ही नहीं कि कोई यादव किसी बड़ी पोस्ट पर जाये।

    Reply
  • Bade National channel ke graphics ki copy jabran karwai gai graphics department se yadav Ji ke dwara jisse graphics aur editing department aahat the. Sath hi sath rajneeti aur gutbaji charam pe the jiske falswaroop ye sab hua. Baki jativad aur ye sab kori nautanki hai sasti lokpriyata Basil karne ke liye..sidhi baar no bakwas..

    Reply
      • Yashwant Ji, Dekhiye Yadav ji ke chatukaro ke sanskar…
        ab aap samajh sakte hain ki kya hua hoga..

        aapke sammanit aur nishpaksh portal pe yadav ji ke gunde facebook ke baad yahan bhi abhadra bhasha le kar aa gaye.. aise log media ke liye khatra hain.

        Reply

Leave a Reply to राजेश रंजन Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *