कंगना रानाऊत की बिकनी वाली तस्वीर से भक्त हुए नाराज!

अविनाश पांडेय समर-

कंगना रानाऊत नई हिंदू शेरनी, नई रानी लक्ष्मीबाई बनी हैं। इसके पहले पायल रोहातगी बनीं थीं- अपना नाम ऐसे ही बोलती थीं- एक रात लॉक अप में गुज़ारने के बाद दहाड़ना तो क्या, अपनी सेक्स फ़्लिक्स वाली सिसकारी की आवाज़ निकालना तक भूल गयी लगती हैं।

ख़ैर बात पायल रोहातगी की नहीं नई हिंदू शेरनी की हो रही है। सो कंगना जी ने अभी मेक्सिको यात्रा की एक तस्वीर डाल दी, बिकिनी वाली। वो भी ऐसी की ऐस क्रीक्स तक दिख रहे- ऐस क्रीक्स का अर्थ ना पूछिएगा- अंग्रेज़ी में ठीक लग रहा, हिंदी में सोच कान में धुआँ उठ जा रहा!

हिंदू शेर सब आहत हो गए। लगे पूछने कि ट्विटर पर इस प्रकार के फोटो डालेंगी तो आज हिंदुस्तान का जो हिंदू उनको हिंदू शेरनी बोल रहा है उन सब का क्या होगा!

हमने जवाब दिया- बताया कि कंगना को हिंदू शेरनी बोल रहे हिंदू शेरों की बहनें प्रेरणा लें हिंदू शेरनी नई रानी लक्ष्मीबाई से, ऐसे कपड़े ही नहीं, जो दिल करे वो पहनें, फिर ट्विटर और फ़ेसबुक पर लगाएँ इससे अच्छा क्या हो सकता है? आज़ादी तो लोकतंत्र का मूल है! कंगना ने पहली बार ठीक काम किया है!

पर कंगना जी तो कंगना ठहरीं! खुद को माँ भैरवी बता दिया इस बार! पूछीं कि माँ भैरवी तुम्हारे सामने निर्वस्त्र आ जाएँ तो! धमकाईं भी, कि धर्म के ठेकेदार ना बनो!

बाक़ी हम फिर बताए- कि वैसे माँ भैरवी की कोई छवि निर्वस्त्र नहीं है। माँ काली की है तो वो भी उत्तेजक नहीं, डरावनी है कि असुरों के मन में डर जगे!

बाक़ी ठीक है ये-मासूम अंधभक्तों के भरम टूटते रहें, हमको सेक्सी सेक्सी तस्वीरें मिलती रहें! हिंदू शेरनी की जय। नई रानी लक्ष्मीबाई की जय!

भड़ास के माध्यम से अपने मीडिया ब्रांड को प्रमोट करें. वेबसाइट / एप्प लिंक सहित आल पेज विज्ञापन अब मात्र दस हजार रुपये में, पूरे महीने भर के लिए. संपर्क करें- Whatsapp 7678515849 >>>जैसे ये विज्ञापन देखें, नए लांच हुए अंग्रेजी अखबार Sprouts का... (Ad Size 456x78)

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं, क्लिक करें- Bhadas WhatsApp News Alert Service

 

One comment on “कंगना रानाऊत की बिकनी वाली तस्वीर से भक्त हुए नाराज!”

  • प्रकाश says:

    इनके भक्त चैनलों और नेताओं को पैसे ऐक्त्र करके इनको कपड़े भेज देने चाहिए क्योंकि लगता है इनकी नकली महारानी के पास अब पहनने के लिए कपड़े नहीं रहे हैं।

    Reply

Leave a Reply to प्रकाश Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *