‘लाइव इंडिया’ चैनल के मालिक मुंबई पुलिस से छूटे तो उड़ीसा पुलिस धर ले गई

समृद्ध जीवन नामक चिटफंडिया कंपनी का मालिक महेश मोतेवार जो लाइव इंडिया नामक न्यूज चैनल भी चलाता है, पिछले दिनों मुंबई पुलिस के हत्थे चढ़ गया था. उस पर जनता को भरमाने, धोखा देने, पैसा हड़पने, गैर कानूनी चिटफंडी योजनाएं चलाने समेत कई आरोप हैं और वह काफी समय से फरार चल रहा था. सूत्रों का कहता है कि महेश मोतेवार ने कई वरिष्ठ पत्रकार और संपादक पाल रखे हैं जो उनके लिए लाइव इंडिया चैनल की आड़ में दलाली व लायजनिंग करते हैं.

इन संपादकों और चिटफंड कंपनी के मैनेजरों ने पैसे व संपर्क के बल पर तीन तिकड़म से महेश मोतेवार को मुंबई पुलिस के चंगुल से छुड़वा तो लिया लेकिन इंतजार में बैठी उड़ीसा पुलिस महेश मोतेवार को पकड़ कर ले कर चली गई. सूत्र बताते हैं कि लाइव इंडिया चैनल व इसके अन्य मीडिया उपक्रमों में दो महीने से सेलरी नहीं आई है. महेश मोतेवार ने कह रखा था कि वह जल्द छूट जाएगा, सेटिंग हो गई, और तब सेलरी आ जाएगी. लेकिन अब जब उड़ीसा पुलिस से ले गई तो लोग चर्चा कर रहे हैं कि आखिर यह दुकान कितने दिन चल पाएगी?

पूरे मामले को समझने के लिए नीचे दिए गए शीर्षकों पर एक-एक कर क्लिक करते जाएं>

लाइव इंडिया का मालिक महेश मोतेवार चिटफंड घोटाले में गिरफ्तार

xxx

महेश मोतेवार दो दिन के रिमांड पर, 58 जगहों पर छापे, सतीश के सिंह भी नपेंगे

xxx

Samruddha Jeevan Fraud : महेश किशन मोटेवार समेत तीन डायरेक्टरों की संपत्ति कुर्क करने के आदेश

xxx

चिटफंड के ‘चैनलों’ से सावधान! मीडियाकर्मियों की जिंदगी नरक बना देते हैं ये

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “‘लाइव इंडिया’ चैनल के मालिक मुंबई पुलिस से छूटे तो उड़ीसा पुलिस धर ले गई

  • saransh singh says:

    ये न्यूज एक्सप्रेस के मालिकों पर क्यों शासन-प्रशासन मेहरबान है। सभी कर्मचारियों का करीब तीन महीने का वेतन खाकर बैठा है मालिक। कर्मचारियों की हड़ताल के दौरान भी उसके दलाल सक्रिय रहे और हड़ताल के बाद भी कुछ नहीं हुआ। अब जब उसकी नोएडा स्थित बिल्डिंग की कुर्की की कार्रवाई की जाना है, प्रक्रिया कछुए की गति से चल रही है। एसडीएम न जाने क्यों भापकर पर मेहरबान है। कर्मचारियोंका करीब 6 महीने के वेतन का अधिकार है, लेकिन अभी तो तीन महीने का ही नहीं मिल पा रहा है। कंपनसेशन तो दूर, जितने दिन काम किया था, उसका पैसा भी हड़पना चाहता है भापकर।

    Reply
  • Poor managment is in this society. Admin person has no any right to take any administratve decision. Marketing person can speake fire any thing on administation and take any decisions. All are working like British rule system in this society.staff are getting harressment in the soiciety no any off or any holiday even no salary ob time and woring hours found more than 9 hrs a day witout any bonous offerd to them this thing still not cover by any media till now

    Reply

Leave a Reply to save india Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *