दैनिक जागरण में जो पिटा उसी की नौकरी चली गई!

Share

दैनिक जागरण कानपुर में जिसको पीटा गया उसे ही संस्थान ने निकाल दिया गया।

संपादक जितेंद्र शुक्ल के खास दिवाकर मिश्र व यशांश त्रिपाठी ने सीनियर सब एडिटर मनीष श्रीवास्तव के साथ मारपीट की थी। इस पूरे मामले में दिवाकर को बचाया गया।

जब मनीष श्रीवास्तव ने इसकी शिकायत मालिकान संदीप गुप्ता और संजय गुप्ता से की तो यशांश त्रिपाठी पर 4 दिन के फोर्स लीव की कार्रवाई की गई जबकि पीड़ित मनीष श्रीवास्तव को संस्थान से बाहर कर दिया गया।

मनीष की कम्पनी की ई मेल व जे कनेक्ट को भी ब्लॉक कर दिया गया है।

यशांश त्रिपाठी को संपादक जितेंद्र और दिवाकर मिश्र का खास होने के कारण बचा लिया गया।

View Comments

  • दैनिक जागरण की ये नई बात नहीं है, कर्मचारी को अधिकारी गुलाम समझते है और गुलामो की तरह ब्यवहार करते है अगर कोई कर्मचारी सही बात बोल दे तो अधिकारी निर्देशक को खुश करने के लिए कर्मचारी को फस देते है जिसके डर से कोई आवाज ही उठाता है एकाध लोग उठाये है तो उन्हें फसा दिया गया है।

Latest 100 भड़ास