Categories: टीवी

उस स्क्रिप्ट में ये भी लिखा था-‘अब रोना है’! बालकृष्ण ठीक वहीं रोये जहां यह लिखा था

Share

Pankaj Mishra-

कमाल खान का कोई घण्टे भर का एक लेक्चर you tube पर है , जिसमे उन्होंने आज के मीडिया की दशा और दुर्दशा पर विस्तार से बातें रखी है. पहली फुर्सत में इसे सुन लें तो extempore और scripted का झमेला ही खत्म हो जाएगा.

इसमें वह बताते है कि जब आचार्य बाल कृष्ण पर फर्जी डिग्री विग्री का एक केस चर्चा में था तब उन्होंने लखनऊ में एक प्रेस कांफ्रेंस की. उसमें प्रेस से सवाल जवाब नहीं हुए बल्कि एक स्क्रिप्ट लेकर वो आये थे जो उन्होंने पढ़ दी और निकल गए. बड़ी ड्रामाई कांफ्रेंस थी. बीच मे वह रोये धोए भी थे.

तो हुआ यूं कि बालकृष्ण की वो script कमाल खान को मिल गयी. हूबहू वही जो उन्होंने बोला था, word by word, line by line.

कमाल आगे बताते हैं कि उस स्क्रिप्ट के बीच में एक जगह यह भी लिखा था कि, “अब रोना है”. बालकृष्ण ठीक वहीं रोये थे जहां यह लिखा था.

तो मित्रों असली समस्या यहां है कि किसी स्क्रिप्ट में यह कभी नही लिखा जा सकता कि हम भारतीयों के टैलेंट के आगे tele prompter off हो जाएगा और अब आपको दो मिनट तक खुद संभालना है.

देखें वीडियो- kamaal khan lecture

Latest 100 भड़ास