न्यूज18 में ‘सांप पत्रकारिता’ चल रही है!

Share

दीपांकर पटेल-

न्यूज18 डिजिटल में इन दिनों सांप पत्रकारिता चल रही है। सांप सेक्स करते दिख गये तो ख़बर। सांप दिख गये तो ख़बर। सांपों को आदमी ने देख लिया तो ख़बर।

भारत को सपेरों का देश ऐसे ही नहीं कहा जाता है, जब लॉकडाउन पूरी तरह खुलेगा तो कहीं ये पत्रकार न्यूज रूम में ही बीन ना बजाने लगें.

ऐसा नहीं है कि सांपों पर ख़बर नहीं बननी चाहिए.
सांपों पर ख़बरें बननी चाहिए। सांप काट लें, उपाय क्या हो। झाड़ फूंक से इतनी जाने जाती हैं उस पर ख़बर बने। लोगों को अंधविश्वास से दूर रहने का सुझाव देने वाली बात हो, एंटीवेनम की जिलेवार उपलब्धता पर ख़बरें बन सकती हैं.

लेकिन ख़बर बन किस पर रही है?

सांपों के सेक्स पर, इनको उसी में पोर्न का मजा लेना है!

Latest 100 भड़ास