आजतक के रिपोर्टर ने तानी पत्रकार पर पिस्‍टल

आजतक: दुकान खाली कराने के लिए एक लाख रूपये लेने का आरोप : आजतक के अभिषेक ने कहा पूरा ड्रामा मुझे हटाने के लिए : अभी तक आजतक के पत्रकार चैनल का बोर्ड रखकर जमीन पर कब्‍जा जमा रहे थे. अब वे मकान-दुकान खाली करने का सुपारी भी लेने लगे हैं. ताजा मामला है देहरादून का. आजतक, देहरादून के पत्रकार अभिषेक सिन्‍हा के खिलाफ रिटायर्ड अधिकारी महेन्‍द्र प्रसाद गर्ग ने लिखित कम्‍पलेन की है कि उन्‍होंने उनका दुकान खाली करवाने के नाम पर उनसे एक लाख रूपये लिए और अब तक न तो वे दुकान खाली करवाए और ना ही पैसे वापस कर रहे हैं. पैसा वापस मांगने पर पर धमकी दे रहे हैं.

निष्‍पक्ष समाचार ज्‍योति के पत्रकार योगेन्‍द्र मलिक ने भी कोतवाली में शिकायती पत्र देते हुए अभिषेक पर आरोप लगाया है कि उनके माध्‍यम से ही अभिषेक को महेन्‍द्र प्रसाद गर्ग से पैसे दिलवाए गए थे. महेन्‍द्र प्रसाद उनके रिश्‍तेदार हैं. अभिषेक ने पैसा मांगने पर मुझे धमकी दी तथा मेरे सिर पर पिस्‍तौल तान दी.

इस बारे में जब अभिषेक से बात की गई तो उन्‍होंने कहा कि यह मेरे खिलाफ साजिश रची जा रही है. मुझे चैनल से निकलवाने के लिए कुछ लोग सक्रिय हैं. मुझे पहले से ही परेशान किया जा रहा था. जिसकी लिखित कम्‍पलेन मैंने 8 जनवरी को ही कोतवाली में कर दी थी. जबकि इन लोगों ने मेरे बाद शिकायत की है. मुझे फंसाए जाने का प्रयास किया जा रहा है, जबकि मेरे ऊपर लगे आरोप पूरी तरह से गलत हैं. यह ड्रामा एक पत्रकार द्वारा रचा गया है जो मुझे आजतक से निकलवाकर अपना खेल साधना चाहते हैं.

इस संदर्भ में हिन्‍दुस्‍तान, राष्‍ट्रीय सहारा और क्राइम स्‍टोरी ने खबरें प्रकाशित की हैं. जिसके अनुसार अभिषेक के ऊपर लगे दोनों आरोपों के जांच के आदेश दे दिए गए हैं. एसपी ने महेन्‍द्र प्रसाद गर्ग की तरफ से लगाए गए आरोपों की जांच कोतवाली प्रभारी को सौंपी गई है, जबकि योगेन्‍द्र द्वारा लगाए गए आरोप की जांच एएसपी को सौंपी गई है. नीचे अखबारों में छपी खबर और योगेन्‍द्र मलिक और महेन्‍द्र प्रसाद गर्ग द्वारा दिया गया शिकायती पत्र.

हिन्‍दुस्‍तानसहारास्‍टोरीप्रार्थनाप्रार्थना

 

क्राइम स्‍टोरी की पूरी खबर पढ़ने के लिए नीचे क्लिक करें.

आजतक चैनल के अभिषेक ने पत्रकार पर तानी पिस्‍तौल

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Comments on “आजतक के रिपोर्टर ने तानी पत्रकार पर पिस्‍टल

  • madan kumar tiwary says:

    अभिषेक तुम्हारा एक सफ़ाइ नामा की तुम्हें आजतक से निकलवाने की साजिश है पढा। समझ नही पाया था की किस संदर्भ में यह सफ़ाईनामा है । अब सारा वाक्या समझा । एक बात बताओं उस रिटार्यड राजपत्रित अधिकारी महेन्द्र प्रसाद गर्ग को तुमसे क्या दुश्मनी है कि वह तुम्हारे खिलाफ़ साजिश करेगा । रह गई बात पैसे लेने देने की तो अगर तुमने लिया भि है तो गलत नहि किया । जब कोर्ट में मुकदमा चल रहा हो तब उस महेन्द्र गर्ग ने गैरकानूनी तरीके से दुकान खाली करवाने का प्रयास क्यों किया । भ्र्ष्टाचार से कमाई हुई दौलत ऐसे हीं जाती है । लूटेरे को ठग ने लूटा । मामला बराबर । मामला सुलझाने के लिये मल्लिक को कितनी दलाली मिली थी यह भी तो बता दो यार ।

    Reply
  • Rajiv Ranjan says:

    Yashwant Ji Ye Jhagara Do Patrakaaro ka hai ,, Ye Khabar Dekh kar aisa hi pratit hota hai , jis kisi ne pure sabut dene ki kosis ki hai jahir si baat hai Galti usi ki hoti hai , Yashwant ji , nivedan hai Please is tarah ke gharelu Patrakaarita ke jhagare ko Ghar me hi niptane ki na ki desh ke samane is jhagare ko lane ki ,

    Reply
  • ye puri sajish salim safi ki hai. safi sahab abhishek ko aj tak se bahar kar khud kursi hathiyana chahte hai.salim safi ji ki bharast aur kali kartuto k chalte he unhe news 24 se nikala gaya tha. salim safi yashwant ji k karibi dost hai isliye bhadas bhi unki kali khabro ko ya to nahi chapta ya kat chat kar nam matra k liye chapta hai.abhishek aur safi dono gerkanuni rup se lakho ki rakam har mahine kama rahe hai.dono ko ek dusre ki tarakki pasand nahi dono ek dusre ko nicha dikhana chahte hai. ye ghanta bhi usi ki ek kadi hai.

    Reply
  • jai kumar jha says:

    भारत के बढ़ते कदम………

    पत्रकार अपना तथा अपने बच्चों का जीवन बचाने के लिए अपराध में लिप्त हो रहा है ऐसे में आम नागरिक चोरी और डकैती ही करेगा इन बेशर्म मनमोहन सिंह और सोनिया गाँधी के भारत में……अपराध की वारदात बढ़ने की वजह भी इन भ्रष्ट मंत्रियों और लोभी उद्योगपतियों द्वारा हर व्यक्ति के मूलभूत साधन को लूट लेना ही है………

    Reply
  • rajesh sthapak 09329766651 says:

    yashvant ji yh to ab sistam me aa gya h bade bade akhbar or chenal ke malik apne rsookh ki aad me praprti ka dhandha kr rhe h jablpur me bhaskar or mla harendrjeet sih babbu ki ladai jmeeno ke dhandhe ko lekar hi to h navbharat jo ek samay sirmor huya karta tha green forest projekt ise bhi ledooba jabalpur ho bhopal ho ya dilli sbhi jagah media praparti ke karobar me lipt h mp nagar bhopal me to media walo ka jalva h bhaskar ka DB MOLL to logo ki akho ka tara bn chuka h jo bhi dekhta dekhte hi chla jata h jb ye bde log is bijnesh me apne pure per jma chuke h to nishit hi inse jude karinde bhi usi lain ko pakdenge akhir ye dete kya h apne karindo ko rha swal aropo ka to arop to lagte rhte h mamla is pr nirbhar karta h ki jiske khilaf FIR hui h ydi usne prshasnik adhikariyo ki chatukarita ki to vh bcha liya jayega or jisne apne profeshan ke sath vfadari kr ke vastav me patrkarita ki h use ye byurokerts or politishiyan milkar bali ka bakra bna dalenge or fir apne sansthan ke sath imandari se kam karne ka nteeja yh niklega ki use lat markr sansthan se bahar ka rsta dikha diya jayga, rajesh sthapak 9329766651

    Reply

Leave a Reply to vivek dutt Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *