पत्रकार ने कांग्रेस महासचिव जनार्दन द्विवेदी को जूतियाने की कोशिश की

बाबा रामदेव और केन्द्र सरकार के बीच मचे घमासान के बीच नया घटनाक्रम सामने आया है.  कांग्रेस मुख्यालय में रामदेव के आरोपों पर मीडियाकर्मियों को जवाब दे रहे कांग्रेस के महासचिव जनार्दन द्विवेदी को एक पत्रकार ने जूता मारने की कोशिश की. हालांकि सुरक्षाकर्मियों ने उसे पकड़ लिया और जमकर धुनाई की. पत्रकार राजस्‍थान का रहने वाला है.

24 अकबर रोड स्थित कांग्रेस मुख्‍यालय में जर्नादन बाबा रामदेव से संबंधित मुद्दे पर पत्रकारों के सवालों का जवाब दे रहे थे. जनार्दन द्विवेदी से एक सवाल किया गया जिसका उन्‍होंने जवाब भी दे दिया. इसके बावजूद यह पत्रकार जूता लेकर मंच पर चढ़ गया और जर्नादन द्विवेदी को जूता मारने की कोशिश की. हालांकि वह अपने मंसूबों में कामयाब नहीं हो पाया. कांग्रेस कार्यकर्ताओं और सुरक्षाकर्मियों ने उसे पकड़ लिया.

इस पत्रकार की पहचान सुनील कुमार के रूप में की गई है. राजस्‍थान के झुझनु के रहने वाला सुनील दैनिक नवसंचार में संवाददाता बताया जा रहा है. पत्रकार को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया गया. पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है. मामले की जांच की जा रही है. इस संदर्भ में जनार्दन द्विवेदी ने बताया कि यह हमला पूर्व नियोजित था.

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Comments on “पत्रकार ने कांग्रेस महासचिव जनार्दन द्विवेदी को जूतियाने की कोशिश की

  • Sushil Yadaw says:

    bhaiya ye to shuruwat hai. congressiyon ko beech chaurahe par juta marana chahiye. patrakar ko badhayi

    Reply
  • J.P. Sharma says:

    शाबाश सुनिल भाई आपने राजस्थान का नाम ऊंचा किया है ।

    Reply
  • yashwant ji,
    aise farji patrkaro ne mieia ki sakh girai hai ise log hi jo kagi se kisi ka koi card lekar dusro ko thagte hai aise logo par ankush lagana chahiye nahi to midia ki gati buri hogi.
    ajay

    Reply
  • acha hua juta mar dena chiye tha. baba ke sath congress ne bahut galat kiya.congress desbhakto ki nahi satta ke thekedaro ki parti hai

    Reply
  • hamara desh sadhu santo ka dash mana gya hai. esse me baba ramdev par hala hamare sanskriti par hamla hai. patrkar sunil ne jo kia hai iske lie uska hindu sangathano ki or se smman hona chahie JAI HIND

    by deepak

    Reply
  • Girish Mishra says:

    The heading of this piece is in bad taste and it reflects the low level to which the writer has gone.

    Reply
  • मदन कुमार तिवारी says:

    महेश भट्ट को खबर करें। पत्रकार महोदय शायद आपकी भी कोई फ़िल्म या नाटक बना दें। वैसे आप वाकई पत्रकार हैं ? यार सभी दल एक जैसे हैं। भाजपा शासित राज्य बिहार में स्टार्च फ़ैक्टरी लगाने का विरोध कर रहे लोगों पर हारबिसगंज में पुलिस ने गोली चलाई जिससे एक चार माह के बच्चे की भी मौत हो गई । एक दुसरे घायल को रौंद कर मारडाला गया। कम्युनिस्टों के बंगाल को देख हीं चुके हो । दल और दलदल से निकलो मियां । रामदेव क्या है वक्त बतायेगा । वैसे लाठीचार्ज का मैं भी विरोधी हूं ।

    Reply
  • S. sahardyee says:

    Yah pqglpan bhara kam hai. sasti lokpriyta hasil karne ka tareeka hai jabki Baba ki giraftari sahi hai. Unhe maidan par sirf yog karane ki anumati dee gayi thi na ki rajyog sikhane ki. Police karwahi ki jaliyawalabag se tulna karna theek nahi. mai khud us din raat 12 baje se 3 baje tak ki karwahi dekhi hai. baba ko bakayda notice dee gayi ki aapke khilaf karwahi ki ja sakti hai. aap ansan khatam karne ki ghosna kar den. lakin baba ne aisa nahi kiya, Ulte public ko badkane lage. public pathar aour Eate fekne lagi, ab aap bataye public yog karne aaye thi ya yah notanki karne. aakhir waha pathar kaha se aaye. tab majboori me police ko asru gas ka prayog karna pad. police ne sirf prateekkatmak roop se hi lathi chalaye gaye hai. halaki mai congress samarthak nahi hou.lakin media ko sahi dikhana aour likhna chaiye. up ke bhatta-parsoli par bhi galat likha aour dikhaya gaya. bharastachar to hamari culture me ghusa hua hai. pooja path jaise harkate kya bhagwan ko bhi bharat banane ki mansikta nahi han.

    Reply
  • YOGESH KUMAR SHEETAL says:

    Strong support infact it’s a new generation of journalism. I respect this generation inspite of having disagree at some points.

    Reply
  • kanhaiya khandelwal says:

    ek janardan dwiwedi jaise jhute aadmi par juta uthane ka virodh sarkar ka har mantri kar raha hai.wohi hajaro masum logo par isi sarkar ne raat ike andhere me lathiya aasu gar ke gole chalaye,uska ghatna ka samarthan yaHI MANTRI KAR RAHE HAI.YE DOGLI RAJNEETI KYO?

    Reply
  • Hariom garg says:

    – वाकई सुनील कुमार ने साहस का काम किया है.
    Hari Om Garg

    Reply
  • shishram Saini says:

    chawanni chhaap patrakaron par ankush lagana chhahiya. idhar is ghatna se sarkar ki suraksha Vyawastha ki pol bhi khuli hai.

    Reply
  • Sageer khaksar says:

    Sunil ab tum juta marne ko hi apna pesha banalo.lagta hai tumhen qalam ki taqat par bhrosa nahein hai.9838922122.

    Reply
  • Firoz Khan says:

    अब सुनील भाई ने सोच रखा होगा …कि उनका नाम हो…अब वो जैसे भी हो..चाहे जूता चलाने से क्यूं न हो…सुनील भाई के न्यूज़ पेपर को कुछ सुर्खियां मिल जाएगी…हर इंसान इराकी पत्रकार ज़ैदी थोड़े ही बन सकता है…

    Reply
  • रवि शंकर says:

    सुनील ने सिर्फ जनार्दन को जूतियाने की कोशिश की और कांग्रेस उसके खिलाफ मुकदमा चलाने लगी। इस ओर किसी का ध्यान नहीं है कि कांग्रेसी नेता दिग्विजय सिंह के साथ साथ कई लोगों ने सुनील को लात-जूतों-घूसों से पीटा। उनके खिलाफ मुकदमा क्यों न चले। दिग्विजय को कानून हाथ में लेने की इजाजत किसने दी। कानून को अपना काम करने देते। आज के जनसत्ता में भी इसका प्रमाण है कि दिग्विजय ने सुनील को पीटा। कल इंटिया टीवी भी दिखा रहा था। दिग्विजय के साथ साथ जिन लोगों ने सुनील को पीटा उन पर भी मुकदमा चलना चाहिए…कानून हाथ में लेने का।

    Reply
  • is tarah ke aadmi par keval joota hi nahi nanga karke lady chappalo se marna chahye. kyonki inhe garibon ka dukh dard nahi dikhata. ye to apne lye saat pusto ko jugad karne ki jugat me rahate hai. aagar videshi pesa desh mai aa jaye to inka maal hi to pakra jayega. ishi lye inki phati padi hai.

    Reply

Leave a Reply to Girish Mishra Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *