प्रकाश दुबे का कॉलम बंद, पीए की छुट्टी

दैनिक भास्कर, नागपुर से सूचना है कि संपादक प्रकाश दुबे का हर रविवार प्रकाशित होने वाला भास्करवारी कॉलम बंद हो गया है. इस कॉलम में राजनीतिक गलियारे की अंदरूनी चर्चाओं से जुड़ी गपशप होती थी. यह हर रविवार को भास्कर के नागपुर संस्करण के पेज नंबर तीन पर प्रकाशित होता था.

कॉलम बंद होने के कारणों के बारे में कोई ठोस जानकारी नहीं मिल पाई है. खबर यह भी है कि प्रकाश दुबे के पीए की सेवा समाप्त कर दी गई है. फिलहाल दुबे के सहायक के रूप में उमेश यादव जिम्मेदारी संभाल रहे हैं. पिछले दिनों सप्ताहिक पेज साहित्य, कला और संस्कृति संबंधित पेज बंद होने से उमेश यादव में पास कार्य कम हो गया था.  वहीं भोपाल के सूत्रों का कहना है कि दिल्ली के कुछ वरिष्ठ पत्रकार दैनिक भास्कर नागपुर के संपादक पद के लिए प्रयासरत हैं.

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Comments on “प्रकाश दुबे का कॉलम बंद, पीए की छुट्टी

  • ramashankar says:

    doobe ji ka colam band hone se unki kai dukane eak saath band ho gai hongi.vase doobe ji itni jaldi haar manne vale nahi hain.

    Reply
  • sachin jhade says:

    आदरणीय प्रकाश जी का कॉलम बंद होने से सबसे अधिक निराशा उन लोगों को हुई है जो इस स्तम्भ के माध्यम से प्रकाश जी के राज्यसभा में जाने की उम्मीद लगाये बैठे थे ! सुशिल कुमार शिंदे से लेकर प्रथ्वीराज चाहवान और शरद यादव से लेकर जेटली जी तक इस कॉलम में हर दुसरे-तीसरे सन्डे जाग्रत किये जाते थे ! मनोनीत होने के लिए प्रकाश जी की लगातार कोशिशों में उनका प्रमुख अस्त्र यही कॉलम था ! दुर्भाग्य है !

    Reply
  • jisne bhi ye galat khaber likhi pahle to apna muh doye kyuki uski aukat itni bhi nahi hai ki vo dubey ji kr samne khade ho.har vyakti janta hai ki ye sb kaun likh raha hai .lagta nagpur se bhagane ke bad rajasthan mein bhi khane ke lale pade hain.abi to dusro se udhar lekar rajasthan gaya hai kal ko kisi se bheekh magega. internet se story churane wale tu char mahine bhi vahan nahi tikaega.;D>:(:(:-*:'(

    Reply
  • galat kahber likne wale tera muhh kala.nagpur aana fir teri jam kar pitai karungi.varisht patarkar ke bare mein jhoothi afvah failane wale tera satyanash ho. yad rakh nagpur jis aayega us din tera kya hal hoga.teri maa ki.kameene bhaskar se bhaganae ke bad tu jahan bhi mar raha vahan se tughe jald hi nikal diya jayega net chor. tera khandan chor.teri bibi chor tere gharwale chor.tu patarkar nahi dalal hai.yad kar tune kitni rishvat khai hai yahan sb pata sale tu aa ek bar yahan fir batatte tere ko

    Reply
  • bhadas ke editor jo bhi kam se kam jhoothe makkaron ki baton mein na aye .jisne ye khaber di hai vo bahut gatiaya admi hai .us par risvat lene ka aarop hai.isliye use nagpur se nikala gaya hai.

    Reply
  • Rajesh goyal says:

    kya hua kalam band hua too bhaskar me chapluso ki koi kami todi hei.yeh bhasha jo shashita namak prani likh raha hei wah bhasah batati hei ki dubeji ke kitne chaplus bhare pade hei nagpur bhaskar mei dubeji ne kitne pale he are haa sonia ke bare me jo kaha gaya to hangama mach gaya lekin es hindustan me bhi kai agent bhare pade hei,

    Reply
  • abe sale tu muh band rakh bich mein dubey ji ka nam laya to tere ma bahan ko bhi gali dunga samjah rakesh goyal .chup samjaaha. chamat;D;D;D;D;D;D;D;D;D;D;D;D;D

    Reply
  • RAJESH GOYAL says:

    pagal hei SAHISTA maa behan ki baat krta hei, agar sahi me MARD hei to orgnal naam likh , aur apne DUBEJI KO BOL ki wah es baat kaa CHINTAN kare ki oonke sath achanak yeh kyo hua,BEWAKUF. oonko jin chapluso ne duboya oonki maa behan le. kya DUBE ji ne yahi sikhaya hei tujhe ki kisi ki maa behan lena ,

    Reply

Leave a Reply to sachin jhade Cancel reply

Your email address will not be published.