विजय ने अमर उजाला और राजकिशोर ने जी यूपी छोड़ा

अमर उजाला, इलाहाबाद से विजय भट्ट ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे उजाला के मीडिया साल्‍यूशन टीम के सदस्‍य थे. उन्‍होंने अपनी नई पारी कहां से शुरू की है इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है. वे पिछले पांच सालों से अमर उजाला के साथ थे. बताया जा रहा है कि उन्‍होंने मैनजमेंट के रवैये से आहत होकर संस्‍थान को अलविदा कहा है.

राजकिशोर ने जी यूपी से इस्‍तीफा दे दिया है. वे जी यूपी के लांचिंग टीम के सदस्‍य थे तथा एसाइनमेंट डेस्‍क पर कार्यरत थे. उन्‍होंने अपनी नई पारी दैनिक भास्‍कर के साथ शुरू की है. उन्‍हें डेस्‍क की जिम्‍मेदारी दी गई है. राजकिशोर के चैनल से इस्‍तीफा देने का कारण एक आला अधिकारी का रवैया बताया जा रहा है. इस अधिकारी की तानाशाही से तंग आकर इन्‍होंने जी यूपी को छोड़ने का निर्णय लिया.

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Comments on “विजय ने अमर उजाला और राजकिशोर ने जी यूपी छोड़ा

  • Inhone chhoda nhi inko nikal diya gya Hai. Pichale kuch mhino se akhbar khud byan kar rha hai ki media solution dept kitana karmath hai. Khaskar retail me.

    Reply
  • माननीय,
    राजकिशोर जी को नौकरी देने और छुड़ाने वाले दो लोग हैं। नौकरी दी थी एचआर विभाग ने और निकाला वासिंद्र की बदतमीजी और दलाली ने। राजकिशोर उनकी दलाली में फिट नहीं बैठ रहे थे।

    Reply
  • J.K. Parihar says:

    राजकिशोर जी आप क्यों सच्चाई को नकार रहे है .. कोइ गलत बात तो लिखी नई गई है.. बड़प्पन जाताना हो तो अलग बात है पर सच्चाई सब जानते है सर.. किस्से दूर दूर तक फ़ैल चुके है.. स्ट्रिंगरों से पूछिये… आप तो चले गए…. अपना भरा पूरा कुनबा छोड़ कर… वैसे आपके लायक जगह नहीं थी ये सच बात है..

    Reply
  • rajkishorbhagat says:

    साथियों,
    इस तरह की व्यक्तिगत टिपण्णी ठीक नहीं है… मैंने जी यूपी जरुर छोड़ा है बस इसी बात को सही माना जाए.. ये मेरा निवेदन है.

    Reply
  • Agar aise log he channel chhod kar jaa rahe hain to aane waale bure waqt ka andaza lagaya jaa he sakta hai…kisi ki badatmizi ka khamiyaza ek imaandaar mehanatkash yuvak ko bhugatna pada…ye galat hai

    Reply
  • Rajkishorji,
    Mujhe aapki Wroking ke bare me bas itna kahna hai ki assignment me ab vo bat nahin bachi.. Kisi pareshani ko batane par bhi dant padti hai..aap jahan rahen khush rahen sir… aap jab tak rahe Khub maja aaya story idea par kam karne me… ab idea milna band ho gaya hai…. Dubara jaldi sath me kam karenge… aapko miss kar rahe hain..

    Reply

Leave a Reply to J.K. Parihar Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *