सहारा को झटके पर झटका : अब उपेंद्र राय के खिलाफ जांच तेज करने के निर्देश

: सीबीआई टीम 2जी मामले में पूछताछ के लिए जाएगी मारीशस :  झटको पर झटको से थर्रा रहा है सहारा समूह. ये झटके दे रहा है सुप्रीम कोर्ट. 24 घंटे में दो झटके. पहला झटका समूह के कारोबार पर था. सेबी को कहा गया है कि ठीक से जांच कर फैसला दो. पैसा बटोरने वाली सहारा की दो कंपनियों की कार्यप्रणाली कैसी है, जांच कर बताओ. अब समूह के मीडिया वेंचर के लोगों को लपेटा है. सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को आदेश दिया है. उपेंद्र राय पर लगे आरोपों की जांच तेज करो. सही-गलत क्‍या है रिपोर्ट पेश करो.

देश की प्रमुख समाचार एजेंसी प्रेस ट्रस्‍ट ऑफ इंडिया (पीटीआई)  ने अभी अभी खबर जारी की है कि सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को निर्देश दिया है कि 2जी स्‍पेक्‍ट्रम घोटाले का जांच करने वाले प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अधिकारी को घूस देने की पेशकश करने वाले  सहारा मीडिया के पत्रकार उपेंद्र रॉय के खिलाफ जल्‍द से जल्‍द जांच की कार्रवाई पूरी कर  रिपोर्ट कोर्ट में पेश करे.

सुप्रीम कोर्ट की दो सदस्‍यीय खंडपीठ 2जी स्‍पेक्‍ट्रम से जुड़े मामले की सुनवाई कर रही थी. सीबीआई की तरफ से वरिष्‍ठ अधिवक्‍ता केके वेणुगोपाल ने कोर्ट को बताया कि जांच एजेंसी की एक टीम अगले सप्‍ताह 2जी स्‍पेक्‍ट्रम घोटाले में पूछताछ के लिए मारीशस जाएगी. टीम घोटाले में शामिल कई टेलीकॉम कंपनियों द्वारा मा‍रीश में इनवेस्‍ट किए गए पैसों की जांच करेगी. वेणुगोपाल ने बताया कि सीबीआई टीम 16 मई को मारीशस के लिए रवाना होगी.

सीबीआई की तरफ से बताया गया कि उसकी ओर से जल्‍द ही जांच रिपोर्ट कोर्ट को सौंपी जाएगी. जीएस सिंघवी और एके गांगुली की दो सदस्‍यीय पीठ ने सीबीआई को निर्देश दिया कि वो अपनी जांच रिपोर्ट और पैसे के लेनदेन की रिपोर्ट 31 मई तक कोर्ट में पेश कर दे. कोर्ट अगली सुनवाई 6 जुलाई को करेगी. कोर्ट से सीबीआई को तेजी से जांच कार्रवाई पूरा करने का निर्देश दिया.

उल्‍लेखनीय है कि सहारा के न्‍यूज डाइरेक्‍टर उपेंद्र राय पर ईडी अधिकारी राजकेश्‍वर सिंह को 2जी मामले में मनमाफिक तरीके से रिपोर्ट बनाने के लिए 2 करोड़ रुपये घूस दिए जाने की पेशकश  किए जाने का आरोप है. इसके बाद राजकेश्‍वर सिंह ने प्रकरण की लिखित शिकायत अपने वरिष्‍ठ अधिकारियों से की थी, साथ ही वे कोर्ट भी चले गए.  तब कोर्ट ने सीबीआई को जांच करने के आदेश दिए थे.

Comments on “सहारा को झटके पर झटका : अब उपेंद्र राय के खिलाफ जांच तेज करने के निर्देश

  • ramesh kumar says:

    यशवंत जी सबसे बड़ी तो यह हैं कि उपेंद्र राय के नाम पर इतना बड़ा दाग लगने के बावजूद सहारा ने इन दलालो को अपने यहां रखा हुआ है। इससे साफ जाहिर हो जाता हैं कि कहीं न कहीं सहारा भी एक बड़ा दलाला है…जिसे उपेंद्र राय जैसे दलालों की आवश्कता थी…..जय हो सहारा जय भड़ास

    Reply
  • Shareef Ahmed says:

    यशवंत जी आदाब
    सहारा में उपेन्द्र राय और विजय राय ने जो उत्पात मचाया है उस की कीमत तो उन को चुकानी ही पड़ेगी/ सहारा उन को हटाये या ना हटाये सुप्रीम कोर्ट उन को ज़रूर जेल भेजेगा . ध्यान रहे के उपेन्द्र राय के गुर्गे विजय राय का भी इ डी मामले में बड़ा हाथ है / सहारा में चमचा गीरी से बड़ा कारगर नुस्खा कोई नहीं उपेन्द्र राय ने सुब्रत राय सहारा को खुश करने के लिए इ डी को रिश्वत की पेशकश कर डाली मगर इस बार किस्मत ने चमचा गीरी की कीमत जेल जा कर चुकानी होगी उपेन्द्र राय को/ कहते हैं स्पीड उतनी ही तेज़ होना चाहिए जितनी के चालक के काबो में रहे . उपेन्द्र राय ने संजीव श्रीवास्तव , संजय बरागटा और दर्जनों शरीफ लोगों के साथ जो सुलूक किया है उस की कीमत उन को और उन के रिश्तेदार विजय राय को इसी जन्म में चुकानी पड़ेगी

    Reply
  • यशवंत जी नमस्ते,मुझे बड़े दुःख के साथ कहना पड़ रहा हैं की आप सच के साथ नहीं है…आप सच नहीं छापते है…मुझे इस बात का बहुत दुःख हुआ की जो मंच आपने हम पीड़ित लोगों के लिए बनाया है…उस पर आप सच नहीं छाप रहे है…।
    कहीं ऐसा तो नहीं की आप उन लोग से डरते है…जिनके बारे में हमने आपको सूचना दी थी…या वह आपके मित्र है….कृपया अपनी बात स्पष्ट करें…नहीं तो भड़ास जैसे मंच पर हम कभी नहीं आयेगे…।
    हमने प्रकाश हिंदुस्तानी जी ख़बर पर एक टिप्पणी की थी…जो सच थी…लेकिन आपने उसे प्रकाशित नहीं किया…इसके मायने क्या निकाले जाएं…यशवंत जी स्पष्ट करें….उमाराम यादव

    Reply

Leave a Reply to ramesh kumar Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *