Is access to Bhadas4Media denied at some places?

Yashwant Ji namaskaar, I hope you are doing fine. I want to share a doubt with you. It is possible that you may already know about it or it is just a figment of my imagination, well in that case please excuse me for bothering you. Some of my friends have been  bugging me on my cell, for quite some time now, asking me to keep informing them about what’s new at Bhadas. I am just fed up.

They all have access to net  in their organisations. Then one of my friend told me that they are not able to open bhadas for quite some time now on their office PC while net is working fine. Surprising.

A thought just struck my mind. It may be possible that like Orkut & Facebook access to Bhadas4Media has also been denied in some media offices. Reasons are obvious. Bhadas has been reporting quite boldly about media especially print media. Please check if its true.

if its true then…….Yashwant Ji mubaarak ho!!!!

Best Regards.

xxxxxxxxxxxx


भाई, आपका नाम यहां जानबूझ कर पब्लिश नहीं किया क्योंकि आपके पत्र को पब्लिश करने की अनुमति आपसे नहीं ली थी इसलिए आपकी पहचान को सार्वजनिक करना उचित नहीं होगा. आपने बिलकुल ठीक सोचा-जाना है. भड़ास4मीडिया ज्यादातर मीडिया हाउसों में प्रतिबंधित है, ठीक उसी तरह जैसे फेसबुक व आर्कुट कई जगहों पर इसलिए बैन हैं क्योंकि इन साइटों के चलते मीडिया हाउसों में कार्यरत लोग अपना वर्किंग आवर मीडिया हाउस के ‘उत्पादन को बढ़ाने में लगाने की जगह सोशल नेटवर्किंग करने या फिर मीडिया के अंदर की खबरें आदि पढ़ने में लगाते हैं. हालांकि मीडिया हाउस जो ‘उत्पादन’ करते हैं उसमें बेहतर कार्यकुशल वही हो सकता है जो हर क्षेत्र में अपडेट रहे, खासकर वेब माध्यमों के जरिए दुनिया भर की हलचलों से बावस्ता हो.

ज्ञान व सूचना का बिजनेस उर्फ धंधा करने वाले मीडिया हाउसों को यह समझना चाहिए कि वे जिस अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का हवाला देकर खुद के दमन का प्रतिवाद करते हैं, वही दमन वे वेब मीडिया माध्यमों के साथ कर रहे हैं.  उन्हें यह भी जानना चाहिए कि आप जिस चीज को प्रतिबंधित करते हैं, उसके प्रति ललक, उसे पाने-देखने-जानने की इच्छा लोगों में ज्यादा बढ़ा देते हैं. 

मीडिया हाउसों में भड़ास4मीडिया पर प्रतिबंध लगाने के बाबत कई मेल मेरे पास आते रहते हैं जिसमें साथी लोग बताते रहते हैं कि फलां जगह फलां तारीख से भड़ास4मीडिया को खोलना बैन कर दिया गया है. पर मैं इसे सकारात्मक रूप में लेता हूं. मीडिया हाउस भड़ास4मीडिया व अन्य वेबसाइटों को बैन कर अपने कर्मियों को कंप्यूटर, लैपटाप आदि खरीदने को प्रेरित कर रहे हैं और इस तरह से कहीं न कहीं हिंदी पट्टी के लोगों के ज्यादा स्किल्ड होने की संभावना शुरू हो जाती है क्योंकि जब आप घर पर लैटपाट व कंप्यूटर आदि इस्तेमाल करते हैं तो बहुत कुछ सीखते-पाते हैं और साथ ही वेब माध्यम को बढ़ावा देते हैं.

आभार के साथ

यशवंत 

एडिटर, भड़ास4मीडिया

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Comments on “Is access to Bhadas4Media denied at some places?

  • gulshan saifi says:

    yashwant ji,
    aalochana sahna hi sacchi insaniyat hoti hai.aur aapko dekhkar ye andaza lagana sahaz hai ki aap har artical par virnam bane rahte hai.ye aapka + point hai

    Reply
  • yashvant jee ko bahut bahut badhayi….!!!
    kisi ne jaha hai…,ke jab log apki burayi karne lag jaye to samajh jao ke aap tarakki jar rahe ho….;)

    Reply

Leave a Reply to gulshan saifi Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *