‘शशि-अशोक ने धोखा दिया है’

दैनिक हिंदुस्तान, कानपुर से हटाए गए वरिष्ठों में से एक ने कल दिल्ली में शशि शेखर को अपना इस्तीफा सौंपने के बाद भड़ास4मीडिया को फोन पर बताया कि पूरे मामले में नवीन जोशी का कोई खास रोल नहीं है. धोखेबाज हैं शशि शेखर और अशोक पांडेय. इन लोगों ने अमर उजाला, लखनऊ से हम लोगों को यह कहकर ले आए थे कि अच्छा पद और पैसा मिलेगा.

अब हिंदुस्तान प्रबंधन कह रहा है कि कानपुर में ओवरस्टाफ है और आप लोग इस्तीफा दीजिए. ऐसे में जिन लोगों को अमर उजाला से लाया गया था उनके हितों की रक्षा का दायित्व शशि शेखर और अशोक पांडेय पर था लेकिन इन दोनों ने हम लोगों का इस्तीफा हो जाने दिया, किसी स्तर पर रोकने-बचाने की कोई कोशिश नहीं की. आर्थिक अनियमितता और खबरों में त्रुटियों संबंधी आरोपों को खारिज करते हुए इस्तीफा देने वाले इस पत्रकार ने कहा कि अपने वरिष्ठों की जुबान पर भरोसा करने के कारण आज हम लोगों के ये हाल हुआ है. कल कोई किस तरह दूसरे संस्थान वहां के वरिष्ठों की बात पर भरोसा करके जाएगा?

Comments on “‘शशि-अशोक ने धोखा दिया है’

  • shashi ki jitani aukat hogi utana hi karenge, sab bharatiya ke naukar hain,jab mrinal ko nikal kar fek diya gaya to shashi ko kaun puchhta hai

    Reply
  • ravishankar vedoriya gwalior says:

    do navo mai sawari karne se pahe;le janch lo ki ek naav mai hole to nahi hai ya hame hole per hi bithaya jayega

    Reply
  • गजेन्द्र राठौड़, राजस्थान पत्रिका, बेंगलूरु says:

    सर नमस्कार,
    सही फरमा रहे है आप, उच्च अधिकारी कर्मचारियों के सामने क्या बोलते हैं और पीछे से क्या आदेश जारी करते हैं, इसका तो अंदाजा कोई भी नहीं लगा सकता। विश्वास तो आज किस पर किया जाए या किस पर नहीं, पता नहीं….। आप दूसरे संस्थानों में कार्यरत वरिष्ठ अधिकारियों की बात कर रहे हैं, मैं तो ऐसे अधिकारियों को जानता हंू, जो अपने ही संस्था में कार्यरत कर्मचारियों से लगातार चार से पांच साल से झूठ बोल रहे है।

    Reply
  • आज कल तो ये एक परम्परा सी बन गई है अपना काम बनता भाड़ में जनता बाकी जनता। कल ये राजनेता करते थेष लेकिन आज ये हमारे मिडिया के कुछ अपंग और अपाहिज सीनियर कर रहे हैं।

    Reply
  • avinash aacharya says:

    ye sahab apna naam kyon nahi bata rahey hai. taaki shak ki sui sabhi per padey aur jab aagey mauka aaye to fir se naukari ka wanha jugaad kar leyn. koi kisi ko jabardasti nahi le jaata. ye nikalye gaye log pehley to Lucknow me deeng maartey they ki hamey ye pad mila hai aur wo paisa mila hai. en logon ki kartut pata kijiye. enmey ek sahab wo hai jo Banaras me ek mahila ke chakkar me sar-e-aam maar kha chukey hai.enhey rakha jaana galat tha nikala jaana nahi.

    Reply
  • क्या हिंदुस्तान के यशस्वी प्रधान संपादक माननीय श्री शशिशेखर जी एक माह की छुट्टी पर चले गए हैं। ये खबर बहुत तेजी से हवा में फैली है।

    Reply
  • shailesh tiwari says:

    kasa asa karna wala ka sat bhi asa he karna chaya. abhi to Jagran (Inext) he asa krta tha magar hindustan sa ase aasa nahi the.

    Reply
  • vikas shukla says:

    ye dinesh misra keh rahe hai ki unhe dhoka diya gaya hai
    kya pahle nahi pata tha ki naveen ravan abhi powerful hai

    Reply
  • पता चला है कि हिंदुस्तान महान यशस्वी संपादक शशि शेखर जी सिर्फ एक हफ्ते की छुट्टी पर अपने गांव मैनपुरी गए हुए हैं। एक महीने की छुट्टी की खबर महज अपवाह थी और उनके तमाम शुभचिंतकों द्वारा फैलाई गई थी।

    Reply
  • Vikas bhai apni aukat dekhkar bat kiya karo. Waise bhi lifeline ki life khatam ho chuki hai sirf line bachi hai….. Uspar jyada dhyan do warna roti ka jugad mushkil ho jayega.

    Apki Anamika

    Reply
  • anamika bhabhi….Vikas ko aukat batane se pahle apni aukat dekhiye. Apne ko bech dogi tab bhi rahogi KEEP hi…
    Apka Devar M

    Reply
  • rajesh vajpayee kanpur says:

    anamikaji agar ap wakai sahi naam say apnay ukt udgaar likh rahi hai tab mahila ka samman kar kuch nahi kahna chahta parantu agar koi madar……hai tou wah jaan lay ki vikas ka matlab kya hota hai “nirantar taraki”agar vikas nay apni line ap may daal di tou ap ka bhi vikas ho jayega esliye vikas ya kisi sr patrakar kay baray may likhanay kay pahlay uskay samandh may awasak jaankari kar liya karo nahi tou vikas ki tou tum line rah jayegi ya agay kya hoga yeh dekhanay sunnay kay liye tumahri line aur life dono nahi rah jayegi .tumahra asli naam aur ghar tak pata lag jayega.

    Reply

Leave a Reply to pankaj Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *