आईबीएन7 के पत्रकार राजेश बाजपेयी का जलवा देखिए

वैसे तो संतोष भारतीय और राहुल देव जैसे पत्रकार खुद की शक्ल को यदा कदा होर्डिंग्स, विज्ञापनों आदि में प्रकाशित कराते रहते हैं पर जिले स्तर पर किसी पत्रकार द्वारा खुद की तस्वीर मय परचिय होर्डिंग्स पर प्रकाशित कराना नहीं सुना गया है. ऐसा सुकर्म किया है उन्नाव के पत्रकार राजेश बाजपेयी ने. राजेश उन्नाव के दबंग पत्रकार माने जाते हैं. कई अखबारों-चैनलों में काम कर चुके हैं.

वे इन दिनों आईबीएन7 में हैं, जैसा कि होर्डिंग पर उनकी तस्वीर के नीचे लगे परिचय में बताया गया है. राजेश शहर के अन्य लोगों के साथ शहरवासियों को दिवाली और नए साल की एडवांस में बधाई दे रहे हैं, शुभकामनाएं दे रहे हैं. कई पत्रकारों को मिल गया मौका राजेश के खिलाफ भड़ास निकालने का. सो, होर्डिंग की तस्वीर खींचकर साथ में एक विष भरा पत्र अटैच कर भड़ास के पास भेज दिया. लेकिन भड़ास4मीडिया ऐसे विघ्नसंतोषियों के झांसे में नहीं आने वाला, सो वह विष भरा पत्र यहां प्रकाशित नहीं किया जा रहा है, सिर्फ फोटो और यह परिचय छापकर काम चलाया जा रहा है. भड़ास4मीडिया की तरफ से राजेश बाजपेयी और अन्य पत्रकार साथियों को दीवाली व नए साल की अग्रिम शुभकामनाएं 🙂

वैसे भी राजेश ने कोई गलत काम तो किया नहीं है. उन्होंने अगर अपने शहर वासियों को विश किया है तो किया है, इसमें गलत क्या है. और जब अपनी तस्वीरें बड़े पत्रकार होर्डिंग आदि पर छपवा सकते हैं तो जिले स्तर के बड़े पत्रकार यह काम क्यों नहीं कर सकते? अब आप नैतिकता और सरोकार आदि की बातें कहेंगे तो फिर बात काफी लंबी हो जाएगी और अंततः इसका कोई हल निकलता दिखेगा नहीं इसलिए हम तो यही कहेंगे कि राजेश भाई में दम है तो दिख रहे हैं, जो ग़म में हों तो हुआ करें :):) -यशवंत, भड़ास4मीडिया

Comments on “आईबीएन7 के पत्रकार राजेश बाजपेयी का जलवा देखिए

  • naveen lal suri says:

    rajesh nai koi aapradh nahi kiya hai usne sirf unnao ki samasath sammanit janto ko diwali ki badhai di hai….mujhe lajta hai rajesh ke dushmano ko ye hording raas nahi aayi or bhej diya bhadas wallo ko …….

    Reply
  • मदन कुमार तिवारी says:

    रोज दुसरे का थोबडा छापते हैं कभी अपना भी छाप लिया .

    Reply
  • यह काम कुछ चिरकुट टाइप के पत्रकारों का है| राजेश दीपावली मुबारक हो |

    Reply
  • ऋतुपर्ण दवे says:

    यशवंतजी, मैं आपसे सहमत हूं। आपने ठीक ही किया कि बजाए विष भरा छापने के विश ही दे डाली। अब कहने को शायद कुछ नहीं बचा है। कलम का कमाल कहूं या कमाल की कलम दोनों का मतलब शायद ज़ुदा नहीं है।
    हमारे देश की जनसंख्या की गति के साथ लोगों की फितरत बदल रही है। अब न वो गांधी थैला दिखता है और वैसे फटे पुराने कपड़े पहने मिशन मान पत्रकारिता की आराधना करने वाले पुजारी। सच में मुझसे ज्यादा आप जानते हैं कि इस युग में पत्रकारिता के मायने में ही बदल गए हैं। एक जमाने में गाड़ियों पर ‘प्रेस ‘लिखा हुआ काफी सम्मान से देखा जाता था। उसकी जगह बाद में ‘मीडिया’ ने ली अब तरक्की हो रही है तो पत्रकारों के जेनेटिक कोड भी प्रचिलत हो गए हैं। एक प्रिन्ट मीडिया और दूसरा इलेक्ट्रॉनिक मीडिया हो गया है। देखिए आगे – आगे क्या होता है?
    सवाल राजेश वाजपेयी ने अपने होर्डिंग में नाम के साथ ब्यूरो चीफ लिखा है पता नहीं कानपुर, गोरखपुर,इलाहाबाद जैसे बडे नगरों के अलावा उन्नाव जैसे जिले में अगर IBN 7 ने ब्यूरो चीफ रखने शुरु कर दिए हैं तो रीजनल चैनल वाले क्या करेंगे और उनके स्ट्रिंगर क्या कहेंगे। हां लेकिन एक हकीकत यह है कि बहुत से ऐसे लोग भी हैं अभी पत्रकारों की बिरादरी में जो मौजूदा हालात से इस कदर आजिज़ हो गए हैं कि खुद को पत्रकार कहने में शर्म करने लगे हैं। चलिए ऐसे बदलाव के वक़्त में कोई तो लाल जिला स्तर पर आया जो कि नेताओं के साथ अपनी तस्वीर होर्डिंग्स में छपवाने की हिम्मत रखता है। मैं भी आपके ही माध्यम से आपकी ही तरह समस्त देशवासियों को आपके भड़ास के माध्यम से अभी से दीपावली और नए साल की विश करना चाहता हूं।

    Reply
  • अमित बैजनाथ गर्ग, जयपुर. says:

    भाई इसमें ऐसा गलत क्या है, जिसकी वजह से हो-हल्ला मचाया जाये…! क्या कथित-तथाकथित संपादकों और मीडिया के ठेकेदारों ने ही छपने का ठेका ले रखा है…! भाई रोज दूसरों को छापने वाला खुद नहीं छप सकता क्या…!

    Reply
  • कोई क्यों दुखी हो भाई …..इस फोटो से साबित हो जाता है कि इसे भेजने वाला कोई प्रिंट का जायदा सुब चिन्तक है ….!एलेट्रानिक वाले तो विडियो लोड कर देते ……चलो राजेश भाई जी ….लगे रहो ……! अपने मस्ती में ….कुछ प्रिंट वालो को निचे …. खुजली होने दो …..और उनका साथ अपने टीवी वाले भी दे…. तो उन्हें भी बधाई….दो …राहुल

    Reply
  • KUMAR KALPIT says:

    ashish dixit jee agr mahan hone ka, bada honee ka paimana yahee hai tw mujhe aapkee budhee par tarsh aata hai, galtee aapkee nahee hai. partkaree ke ke mahowl kee hai. kitnee IAS, IPS, PCS YA NETA jante hai yahee aadhar hai kaya.

    Reply
  • Patrakar manoj soni says:

    Rajesh ji lage raho. virodh pragati ki nishani he. yashwant bhai sb. ki hosla afjai par dhanywad. sabhi patrakar sathiyo ko dipawali ki dher sari badhai.

    Reply
  • anurag bajpai unnao says:

    photo bhejne wale ko bhi dipavali ki hardik subhkamnaye agar bhejne wale ne apna naam pata likha hota to bhadhai dene me alag maza aata bhadhai ho jan suchana ke adhikar ……….anurag bajpai jansandesh times unnao

    Reply
  • ratnakar samvedi says:

    jalne wale kutto ne yah kaam kiya hai sabhi bhadas kedarsako ko depawali ki hardik subhkamnai ……….ratnakar samvedu unnao

    Reply
  • photo bhejne wale ko naam pata jaise indra nagar unnao likha hota to accha hota lekin kare bhi to kya kisi bhi akhbar aur channel me usko jagah nahi mil rahi hai bechara jan suchana ka adhikar ke madhyam se dalai par utara hai bajpai ji ko dipawali ki badhai ho ……….arun awasthi unnao

    Reply
  • ramesh singh lucknow says:

    rajeshji sirf patrakar he nahi ek insaan aur unnao jilay k sammanit nagrik pahlay hai baad may wah kisi banner k reporter.Ismay kaun si aisi baat ho gayi jo unka gunaah ban sakay.kya rastrapati, pradhanmantri,rajyo k mukhyamantiro k saath apni baithko ki tasveray channel ya print k karta dharta pramukhta k saath nahi prakashit ya dikhatay hai.wah jo karein wah theek aur jo un k maathat apni seema may karein wah galat.rajeshji nay deepawali aur nav varsh ki badhai he tou di hai koi firauti athwa gali tou di nahi jo unki nistha par sawaal lagey.wah ray INDIA aur INDIANS.
    Ramesh Singh Lucknow

    Reply
  • Dr.Hari Ram Tripathi says:

    Nothing wrong on the part of Mr. Rajesh.I fully support him and condemn the intetion of those bloody fools who think that he is wrong.

    Reply
  • pankaj.piyush says:

    yashwant jee yadi ve rastriya sahara/sahara samay wale rajeev jeee hai tab tw inke samman me kuch kahna hee bekar. unnaw se ve dono ke savaddata rahe. sahara samay ka tw nahee malum,rashtriya me inkee tuti boltee thi..they mamulee se jile ke mamulee sawaddata lekin sampadak nawodit jee bhi inse dabkar hee baat karte they`tatkaleen desk prabharee abhyanand sukla kee naak me tw dam kar rakha tha. sampadkeeya ka har vek kamcharee hamesha yah manaya karta tha ki unnaw ka page na dekhna pade. khbar kat jay tw aafat, kisahi ka naam kat jay tw aafat. rajeev jee seedhe apne bhayya pandit swatantra mishra se rona roote rahe

    Reply
  • shashank shekhar says:

    rajesh ji aap kaha virodhiyo ke cakkar me pade hai yeh aapke dushmano yani T.series ka cammac kumaar awasthi ka kaam hai .bhaiya kare kya pti ko puchata kaun hai to sayad aapka virodh karke aage bad jaye …aapko $aapke dushmano ko bhi dipawali ki hardik subhkaamnaye……..shashank shekhar sahara samay delhi ………..

    Reply
  • anu singh kanpur says:

    Sri rajesh bajpai ko sayad aap sabhi nahi jaante wah ek paise wale pariwaar se taallukh rakhte hai unke father sahit sabhi bhai banko me officer hai. sahar pause ilake me unka 4manzila ghar hai 3luxuri gadiya $ 10 sastra licence hai to isme jalne ki kya baat ha awasthi ji jab wah honda city se calta to kumaar ji jaise logo ki …fuse kyo hoti hai…. anu singh kanpur

    Reply
  • Brajesh shukla says:

    Aaropon pratyaropon ke is safar me ek aisa musafir apni hatasha ki sandadh faila raha hai jo kabhi SHRI RAJESH VAJPAYEE ke sanghrshi jeewan me sathi na bankar rode ki bhumika nibhata raha.Aaj apne balbute sheersh paidon ko sparsh karte is katu bhadashi vayakti ke guru ki mahima napaak shishya hazam nahi kar pa raha hai.Mera to manana hai ki vishal hridayi guru ki kripa is kalyoogi KAGBHUSUNDI ko kop bhajan ka shikar na hone dene ke liye kam na pad jaye…GYAAN AGAR GYANI KO BHATKA DE TO AIE GYAN SE AGYANI HONA BHALAAAAAAAAA.Brajesh shukla (patrakrita ke vshal, vihangam jagat ka parinda)

    Reply
  • ram nath singh says:

    rajesh bhai ki jai ho kaha pade ho chakker me koi nahi tumahare takker me bas aapne galti yah kardi ki aapne dusmano ko badhaiya nahi di .mann karta hai tum unhi dino me laut aao jab tum aag mutate the aur sab darte the . sirf aapko deepawali ki hardik subhkamnaye ………R.N.SINGH

    Reply
  • ramanuj pandey says:

    bhadas ke darsako ko ram -ram .holding to rajeswa badiyaholdinge lagwaise hai paisa accha khasa kharca karis ab ehima zare ki kaun si baat hai raakh unki huegai jo bhoonkhe mar rahe bechare. rajesh bhaiya ek due tho holdinge lukhnow ma bhi chaokawa deu bachi kuci au raakh hu jay …….au sab theek hai unnao sabhi patrakar eak taraf hamra rajeshwa eak taraf ……..bolo rajesh bajpai patrakar ki jay ………ramanuj pandey

    Reply
  • rajesh vajpayee unnao says:

    my dear friends don’t worry .no body can stop my journey.
    This is sponser bad efforts by my some rivals. I m at Datiya MP with our family since friday. I m coming then I will search who is responcible for this incident.
    best of luck 2 all my well wisher’s.reg.rajesh vajpayee camp jhansi up

    Reply
  • ऋतुपर्ण दवे says:

    यशवंतजी, मैं आपसे सहमत हूं। आपने ठीक ही किया कि बजाए विष भरा छापने के विश ही दे डाली। अब कहने को शायद कुछ नहीं बचा है। कलम का कमाल कहूं या कमाल की कलम दोनों का मतलब शायद ज़ुदा नहीं है।
    हमारे देश की जनसंख्या की गति के साथ लोगों की फितरत बदल रही है। अब न वो गांधी थैला दिखता है और वैसे फटे पुराने कपड़े पहने मिशन मान पत्रकारिता की आराधना करने वाले पुजारी। सच में मुझसे ज्यादा आप जानते हैं कि इस युग में पत्रकारिता के मायने में ही बदल गए हैं। एक जमाने में गाड़ियों पर ‘प्रेस ‘लिखा हुआ काफी सम्मान से देखा जाता था। उसकी जगह बाद में ‘मीडिया’ ने ली अब तरक्की हो रही है तो पत्रकारों के जेनेटिक कोड भी प्रचिलत हो गए हैं। एक प्रिन्ट मीडिया और दूसरा इलेक्ट्रॉनिक मीडिया हो गया है। देखिए आगे – आगे क्या होता है?
    सवाल राजेश वाजपेयी ने अपने होर्डिंग में नाम के साथ ब्यूरो चीफ लिखा है पता नहीं कानपुर, गोरखपुर,इलाहाबाद जैसे बडे नगरों के अलावा उन्नाव जैसे जिले में अगर IBN 7 ने ब्यूरो चीफ रखने शुरु कर दिए हैं तो रीजनल चैनल वाले क्या करेंगे और उनके स्ट्रिंगर क्या कहेंगे। हां लेकिन एक हकीकत यह है कि बहुत से ऐसे लोग भी हैं अभी पत्रकारों की बिरादरी में जो मौजूदा हालात से इस कदर आजिज़ हो गए हैं कि खुद को पत्रकार कहने में शर्म करने लगे हैं। चलिए ऐसे बदलाव के वक़्त में कोई तो लाल जिला स्तर पर आया जो कि नेताओं के साथ अपनी तस्वीर होर्डिंग्स में छपवाने की हिम्मत रखता है। मैं भी आपके ही माध्यम से आपकी ही तरह समस्त देशवासियों को आपके भड़ास के माध्यम से अभी से दीपावली और नए साल की विश करना चाहता हूं।

    Reply
  • ashish dixit rastriya sahara auraiya says:

    Yaswant aur Rajesh ji ko pranaam evam depawali ki hardik badhai .ab baat unnao ke dashing dynamic $kaddawar patrakar bajpai ji ki .rajesh ji wah hai jinko pradesh ke 50 IAS & 50IPS bhali bhati jante hai aur photo bhejne wala wah hai jise unnao ke patrakar bhi nahi jaante. yah fark hai aasman aur jameen ka ..lekin mai bajpai ji se unhi ki ek pankti kahuga ki chama badan ko cahiye chotan ko unmad samjh me uske aajaye to theek nahi to haccak uski …..par laat ……ashish dixit

    Reply
  • vimal jetali says:

    Rajesh nai koi aapradh nahi kiya hai usne sirf unnao ki samasath sammanit janto ko diwali ki badhai di hai..rajesh ke dushmano ko ye hording raas nahi aa rahi hai..

    Reply
  • rajendra singh raebareli says:

    yashwantji rajeshji bhalay unnao jilay antargat kisi banner ko reppresent karein parantu north up k adhikans jilay k varisth patrakar rastriy sahara aur hindustan may unki pari k dauran lead khabro k aj bhi prashansak hai .mujhe nahi lagta ki rajeshji jaisa varistha patrakar aisi galti karega .nischit taur par yeh napaak logo ki sajish hai jo rajeshji ko unnao may hazam nahi kar pa rahey.
    rajesh bajpai ki kalam ka loha lucknow may kriyasheel varistha patrakar bhi charcha k dauraan kartei hai
    rajendra singh rastriya sahara raebareli

    Reply

Leave a Reply to anu singh kanpur Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *