कार्पोरेट से जो लड़ेगा, सिस्टम को जो एक्सपोज करेगा, भ्रष्टाचार की दुकान जो बंद कराएगा, वह ऐसे ही थप्पड़ खाएगा

Yashwant Singh : लीक से हटकर जो चलेगा, कार्पोरेट से जो लड़ेगा, सिस्टम को जो एक्सपोज करेगा, भ्रष्टाचारियों की दुकानदारी को जो बंद कराएगा, वह ऐसे ही थप्पड़ खाएगा. ऐसे ही जलालत झेलेगा. ऐसे ही इलजाम पाएगा. ऐसे ही साजिशों का शिकार होगा. ऐसे ही थाना, पुलिस, मुकदमों में फंसाया जाएगा..

केजरीवाल ने जो रास्ता चुना है, उस रास्ते की चुनौतियां उन्हें पका कर मजबूत कर देंगी या थका कर समझौता वादी बनने को मजबूर कर देंगी… http://www.bhadas4media.com/ चलाते हुए मीडिया घरानों से पंगा लेकर मैंने हर किस्म की बेहूदगी झेली है. कमजोर दिल वाले और बबुआ टाइप लोग एलीट व कार्पोरेट कुप्रचारों के शिकार होकर संघर्ष करने वालों को ही गलत मानने लगते हैं या शक करने लगते हैं… केजरीवाल ने कार्पोरेट और सिस्टम से पंगा लेना, उनको एक्सपोज करना इसी तरह जारी रखा तो तय मानिए, किसी रोज उन्हें किसी गोली भी खाना पड़ सकता है…

सिस्मट से लड़ना और उसे एक्सपोज करते रहना कोई आसान काम नहीं है… कार्पोरेट की पिल्ला पार्टियां कांग्रेस और भाजपा के नेताओं को कोई खतरा नहीं हो सकता क्योंकि एक तो सारे बदमाश इन्हीं पार्टियों के नेता व कार्यकर्ता बन गए हैं. दूसरे, इनके पास सिस्टम द्वारा प्रदत्त या खुद द्वारा तैयार की गई इतनी तगड़ी सुरक्षा होती है कि इनके नजदीक कोई ऐरा गैरा पहुंच ही नहीं सकता..

खैर… केजरीवाल को दूसरा थप्पड़ पड़ने के बाद मेरा और मेरे सभी मित्रों का वोट आम आदमी पार्टी के प्रत्याशियों को जाना तय हो चुका है. खासकर दिल्ली-एनसीआर में तो आम आदमी पार्टी ने जिन लोगों को मैदान में उतारा है, वे सब एक से एक बेजोड़ लोग हैं. आशीष खेतान, प्रो. आनंद कुमार, जरनैल सिंह, राजमोहन गांधी तो जोरदार हैं ही, आशुतोष ने भी अंबानी को एक्सपोज कराकर अपने पुराने पाप धुल लिए हैं. इन सभी को आंख मूंदकर वोट देना चाहिए ताकि संसद में कुछ ऐसे धाकड़ किस्म के लोग पहुंचें जो पढ़ने लिखने लड़ने भिड़ने वाले हों और बदलते दौर में नई किस्म की जमीनी राजनीति को आगे बढ़ाने का माद्दा रखने वाले हों…

भड़ास के संस्थापक और संपादक यशवंत सिंह के फेसबुक वॉल से.


इसे भी पढ़ सकते हैं…

नि:शस्त्र और सुरक्षा विहीन व्यक्ति पर हमला करवाने वालों की 'मर्दानगी'

xxx

केजरीवाल तुम डटे रहो, क्‍योंकि तुमको आगे इन सारे थप्‍पड़ों का जवाब जूतों से देना है

xxx

केजरीवाल को थप्पड़ मारने वाला भाजपाई निकला!

xxx

केजरीवाल को थप्पड़ क्यों मार रहे हो, सीधे गोली मार दो!

xxx

केजरीवाल को दूसरा थप्पड़, राजघाट जाकर ध्यान लगाया

 

B4M TEAM

Recent Posts

गाजीपुर के पत्रकारों ने पेड न्यूज से विरत रहने की खाई कसम

जिला प्रशासन ने गाजीपुर के पत्रकारों को दिलाई पेडन्यूज से विरत रहने की शपथ। तमाम कवायदों के बावजूद पेडन्यूज पर…

4 years ago

जनसंदेश टाइम्‍स गाजीपुर में भी नही टिक पाए राजकमल

जनसंदेश टाइम्स गाजीपुर के ब्यूरोचीफ समेत कई कर्मचारियों ने दिया इस्तीफा। लम्बे समय से अनुपस्थित चल रहे राजकमल राय के…

4 years ago

सोनभद्र के जिला निर्वाचन अधिकारी की मुख्य निर्वाचन आयुक्त से शिकायत

पेड न्यूज पर अंकुश लगाने की भारतीय प्रेस परिषद और चुनाव आयोग की कोशिश पर सोनभद्र के जिला निर्वाचन अधिकारी…

4 years ago

The cult of cronyism : Who does Narendra Modi represent and what does his rise in Indian politics signify?

Who does Narendra Modi represent and what does his rise in Indian politics signify? Given the burden he carries of…

4 years ago

देश में अब भी करोड़ों ऐसे लोग हैं जो अरविन्द केजरीवाल को ईमानदार सम्भावना मानते हैं

पहली बार चुनाव हमने 1967 में देखा था. तेरह साल की उम्र में. और अब पहली बार ऐसा चुनाव देख…

4 years ago

सुरेंद्र मिश्र ने नवभारत मुंबई और आदित्य दुबे ने सामना हिंदी से इस्तीफा देकर नई पारी शुरू की

नवभारत, मुंबई के प्रमुख संवाददाता सुरेंद्र मिश्र ने संस्थान से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने अपनी नई पारी अमर उजाला…

4 years ago