Categories: विविध

मियां और कम्युनल

Shahid Khan : मियां सब से ज़्यादा कम्युनल हैं! कम्युनल हुये तो सालों साल मोहम्मद ज्योति बासु जीतते रहे! एक बार फिर कम्युनल हुये तो ममता बानो जीतने लगीं! पहले कभी कम्युनल हुये तो सैयद नेहरु जीतने लगे! फिर कम्युनल हुये तो इंदिरा बेगम जीतने लगीं! एक बार कम्युनल होके वो मोहम्मद राजीव अंसारी को भी जिता चुके हैं!

कभी कम्युनल होते हैं तो शेख अचुत्यानंदन जीत जाते हैं तो कभी मौलाना मुलायम तो कभी बेगम माया तो कभी मिर्ज़ा लालू! सुना है कि पंचायत चुनावों में वो मियां मोदी के लिये भी कम्युनल हो जाते हैं! अबकी बार कम्युनल हो गये तो अब्दुल-जलील केजरीवाल भी जीत ही जाएँगे! बहुत कम्युनल हैं मियां.. हर घड़ी 'मुल्लों' को जिताते रहते हैं! कभी कभी तो नितीश नकवी को भी जिता देते हैं!

शाहिद खान के फेसबुक वॉल से.


उपरोक्त स्टेटस पर आए कुछ कमेंट्स यूं हैं…

Riyaz Hashmi : मेरी नज़र में Shahid Khan साहब का यह व्यंग्य हालात पर सटीक वार कर रहा है। अपनी बात को कहने का यह भी एक सलीक़ा है। वाह शाहिद भाई वाह।

Syed Shahroz Quamar : Ham Aah Bhi Karte Hain To Ho Jaate Hain Badnaam/ Wo Qatl Bhi Karte Hain To Charcha Nahin Hota..

Abhinav Gupta आप भी गज़ब कम्युनल हो /पटना से अपडेट करके मार ज्ञान के चक्षु खोल देते हो /
 
Irfan Siddiqui गजब …लूट लिए आप तो !

Muhammad Shadab ये जो आपने शहद में करैला लपेट के मारा है ना.. मज़ा आ गया.
 
Vandna Tripathi Gazab ho shahid, rulaate bhi ho to hansaa hansaa kar…
 
Abdullah Aqueel Azmi आपने कह कर ले लिया… लाजवाब पोस्ट इस लिये दो बार शेयर करुंगा…

Umashankar Singh कभी मेरे लिए भी कम्यूनल हो जाएँ मियाँ साहब, मैं भी सेकुलर उमाशंकर से कम्यूनल उमरशेख़ हो जाना चाहता हूँ See Translation

Shashi Bhushan Singh बहुत कम्युनल

Shah Alam कभी कम्युनल हुए तो शेख अटल बिहारी जीत गए, कभी हुए तो मोलवी नितीश जीते

Ashim Mukherjee Pandit Shahid ne Zabardast post likha hai

Syed Mohammad Raghib I fully agree….BABA aap ek mast sa Akhbar pakad lo part time wala…

Haidar Ali Gajabe ghuma ghuma k bhigoye hai sir

Deep Sandesh Theekha aur gahra Tanj….

Masroor Anjum Shahid bhai share karne layaq post hai…. isliye maine kar diya….

B4M TEAM

Recent Posts

गाजीपुर के पत्रकारों ने पेड न्यूज से विरत रहने की खाई कसम

जिला प्रशासन ने गाजीपुर के पत्रकारों को दिलाई पेडन्यूज से विरत रहने की शपथ। तमाम कवायदों के बावजूद पेडन्यूज पर…

4 years ago

जनसंदेश टाइम्‍स गाजीपुर में भी नही टिक पाए राजकमल

जनसंदेश टाइम्स गाजीपुर के ब्यूरोचीफ समेत कई कर्मचारियों ने दिया इस्तीफा। लम्बे समय से अनुपस्थित चल रहे राजकमल राय के…

4 years ago

सोनभद्र के जिला निर्वाचन अधिकारी की मुख्य निर्वाचन आयुक्त से शिकायत

पेड न्यूज पर अंकुश लगाने की भारतीय प्रेस परिषद और चुनाव आयोग की कोशिश पर सोनभद्र के जिला निर्वाचन अधिकारी…

4 years ago

The cult of cronyism : Who does Narendra Modi represent and what does his rise in Indian politics signify?

Who does Narendra Modi represent and what does his rise in Indian politics signify? Given the burden he carries of…

4 years ago

देश में अब भी करोड़ों ऐसे लोग हैं जो अरविन्द केजरीवाल को ईमानदार सम्भावना मानते हैं

पहली बार चुनाव हमने 1967 में देखा था. तेरह साल की उम्र में. और अब पहली बार ऐसा चुनाव देख…

4 years ago

सुरेंद्र मिश्र ने नवभारत मुंबई और आदित्य दुबे ने सामना हिंदी से इस्तीफा देकर नई पारी शुरू की

नवभारत, मुंबई के प्रमुख संवाददाता सुरेंद्र मिश्र ने संस्थान से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने अपनी नई पारी अमर उजाला…

4 years ago