यूपी में पत्रकारों से रिश्वत लेता है एक अधिकारी (देखें वीडियो)

यूपी का एक ऐसा अधिकारी जो पत्रकारों से रिश्वत लेता है. जी हाँ, यूपी के हमीरपुर जिले के एक ऐसे अधिकारी हैं जिनकी नियुक्ति तो शासन और प्रशासन की नीतियों को प्रकाशित करवाने और अन्य सरकारी सूचनाओं को जारी करवाने हेतु की गयी है लेकिन वो महानुभाव मीडिया से ही पैसे लेने से नहीं चूकते. हमीरपुर के सूचनाधिकारी विजय बहादुर वर्मा के लिए चुनाव किसी पर्व से कम नहीं होता. वो चाहे लोकतंत्र का सबसे बड़ा पर्व लोकसभा का चुनाव हो, विधानसभा, जिलापंचायत चुनाव हो या फिर कोई वीवीआईपी प्रोग्राम. ये जनाब इन सबका बेसब्री से इंतज़ार करते हैं.

ये हमीरपुर जनपद की मीडिया से प्रेस पास जारी करने के एवज में पैसे लेते हैं. आप अगर पत्रकार हैं और आपके पास चैनल का आईकार्ड, अथॉरिटी लेटर और आईडी भले ही हो लेकिन बिना इनको पैसे दिए आप अपने आपको पत्रकार न मानें क्योंकि जब तक आपके द्वारा इनको सुविधा शुल्क नहीं दिया जायेगा तब तक इनके द्वारा जिला प्रशासन को आपके फर्जी होने की ही सूचना दी जायेगी. चुनाव के समय इनको सुविधाशुल्क नहीं दी जायेगी तो ये आपको प्रेस पास रिलीज़ नही करेंगे.

आप भले पत्रकार ना हों, पर आप इनको शाम को काम की थकान दूर करने वाली दवा का इंतज़ाम कर दें और ठीकठाक सुविधाशुल्क दे दें तो ये महोदय आपको ऐसे ही पास जारी कर देंगे. इनके इन कारनामों की शिकायत हमीरपुर के मीडियाकर्मियों द्वारा 18 जून को लैपटॉप वितरण के दौरान प्रेसवार्ता में सूबे के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से भी की गयी थी लेकिन कोई कार्यवाई नहीं होने से इनके हौसले और बुलंद हो गये.

अब ये बिना किसी हिचकिचाहट के पत्रकारों से पैसे मांगते हैं और बार्गेनिंग भी करते हैं. शुरुआत हजारों से होती है लेकिन आप इनको कितने में मना लेते हैं ये आप पर निर्भर है. ये वीडियो देखिए. इसमें ये बाकायदा बारगेनिंग करते हुए पैसे ले रहे हैं. अपनी हरकतों की हकीकत लीक हो जाने के कारण आजकल ये बौखला गए हैं और पत्रकारों को हरिजन एक्ट तक में फ़ंसाने की धमकी दे रहे हैं.

देखिए वीडियो… लिंक पर क्लिक करें…

https://www.youtube.com/watch?v=lbmAAttIRxU

हमीरपुर से एक पत्रकार द्वारा भेजे गए पत्र और वीडियो फुटेज पर आधारित. अगर उपरोक्त कंटेंट पर किसी को कुछ कहना है तो अपनी बात bhadas4media@gmail.com पर मेल कर सकते हैं.

B4M TEAM

Share
Published by
B4M TEAM

Recent Posts

गाजीपुर के पत्रकारों ने पेड न्यूज से विरत रहने की खाई कसम

जिला प्रशासन ने गाजीपुर के पत्रकारों को दिलाई पेडन्यूज से विरत रहने की शपथ। तमाम कवायदों के बावजूद पेडन्यूज पर…

5 years ago

जनसंदेश टाइम्‍स गाजीपुर में भी नही टिक पाए राजकमल

जनसंदेश टाइम्स गाजीपुर के ब्यूरोचीफ समेत कई कर्मचारियों ने दिया इस्तीफा। लम्बे समय से अनुपस्थित चल रहे राजकमल राय के…

5 years ago

सोनभद्र के जिला निर्वाचन अधिकारी की मुख्य निर्वाचन आयुक्त से शिकायत

पेड न्यूज पर अंकुश लगाने की भारतीय प्रेस परिषद और चुनाव आयोग की कोशिश पर सोनभद्र के जिला निर्वाचन अधिकारी…

5 years ago

The cult of cronyism : Who does Narendra Modi represent and what does his rise in Indian politics signify?

Who does Narendra Modi represent and what does his rise in Indian politics signify? Given the burden he carries of…

5 years ago

देश में अब भी करोड़ों ऐसे लोग हैं जो अरविन्द केजरीवाल को ईमानदार सम्भावना मानते हैं

पहली बार चुनाव हमने 1967 में देखा था. तेरह साल की उम्र में. और अब पहली बार ऐसा चुनाव देख…

5 years ago

सुरेंद्र मिश्र ने नवभारत मुंबई और आदित्य दुबे ने सामना हिंदी से इस्तीफा देकर नई पारी शुरू की

नवभारत, मुंबई के प्रमुख संवाददाता सुरेंद्र मिश्र ने संस्थान से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने अपनी नई पारी अमर उजाला…

5 years ago