लेनिन रघुवंशी एवं श्रुति नागवंशी पर लगे फर्जी मामले की जांच के लिए सीएम एवं डीजीपी से मिला प्रतिनिधि मंडल

मानवाधिकार जननिगारानी समिति की 8 सदस्यीय प्रतिनिधि मण्डल लखनऊ में मुख्यमंत्री व पुलिस महानिदेशक उत्तर-प्रदेश से मिलकर उत्तर-प्रदेश में मुस्लिमों पर हो रहे पुलिस उत्पीड़न और सामाजिक कार्यकर्ता डा. लेनिन रघुवंशी व श्रुती नागवंशी पर लगे फर्जी मुक़दमे की निष्पक्ष जांच कराने हेतु ज्ञापन दिया. इस आठ सदस्‍यीय टीम में डा. लेनिन के अलावा श्रुति नागवंशी, रागीब अली, अनूप कुमार श्रीवास्‍वत, इद्रीश अहमद, शिरीन शबाना खान, उत्‍कर्ष सिन्‍हा एवं अली अहमद शामिल थे.

मुख्यमंत्री कार्यालय से पूर्व निर्धारित मीटिंग के तहत आज दोपहर 2 बजे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री माननीय श्री अखिलेश यादव के आवास (5 कालिदास मार्ग) पर मानवाधिकार जननिगरानी समिति के महासचिव डा. लेनिन सहित आठ सदस्यों का प्रतिनिधि मण्डल मिलकर उनसे लगभग आधे घंटे तक मुलाक़ात कर बात-चीत किया. इस बात-चीत में प्रतिनिधियों ने उत्तर प्रदेश में मुसलमानों पर यातना और दंगों में प्रताड़ित मुसलमानों के 40 केस उन्हें सौंपा जिसपर उन्होंने त्वरित कार्यवाही का आश्वासन दिया.

इसके साथ ही माननीय मुख्यमंत्री व पुलिस महानिदेशक उत्तर-प्रदेश श्री देवराज नागर ने डा. लेनिन व अन्य 5 लोगो के ऊपर पूर्व में सन 2007 में 505 B के तहत लगे फर्जी मुकदमे व अभी वर्तमान में डा. लेनिन व श्रुति पर लगे फर्जी मुकदमे की अपने स्तर से जांच कराकर तुरन्त कार्यवाही हेतु आश्वासन दिया. इसके साथ ही उत्तर-प्रदेश राज्य सरकार द्वारा बुनकरों के बिजली बिल माफी का आदेश होने के बावजूद भी बुनकरों का उत्पीड़न किया जा रहा है इस विषय पर माननीय मुख्यमंत्री महोदय ने काफी गंभीरता से इस मामले की जांच की बात कही.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *