क्‍यों नहीं खतम हो रही देश से जाति आधारित राजनीति?

2009 के लोकसभा चुनाव में मध्यप्रदेश के एक दूरस्थ गांव में जब लकड़ी बिनने गयी एक बूढ़ी महिला से एक पत्रकार ने पूछा- ‘अम्मा किसको वोट दोगी’ तब उसका जवाब था- ‘इन्द्रा गांधी कै’। 62 साल के गणतांत्रिक व्यवस्था के बाद भी इस महिला के वोट की कीमत वही है जो कि प्रजातंत्र में मीन-मेख निकालने वाले किसी सुजान व्यक्ति की। द्वंदात्मक प्रजातांत्रिक व्यवस्था की मूल अवधारणाओं में एक है जिसके तहत राजनीतिक दलों से यह अपेक्षा की जाती है कि वह जनता को मुद्दों के प्रति शिक्षित करेगी। यही वजह है कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को सभी प्रजातांत्रिक समाज में बहुत ऊंचा मकाम दिया गया है।

भोजपुरी फिल्‍मों की मशहूर अभिनेत्री रूबी सिंह ने की आत्‍महत्‍या

मुंबई: भोजपुरी फिल्मों की जानी-मानी अभिनेत्री रूबी सिंह ने खुदकुशी कर ली. पुलिस के मुताबिक रूबी को फिल्मो में काम न मिलने से वो डिप्रेशन का शिकार हो गईं थीं. मिस पटना रह चुकी रूबी सिंह ने फिल्म 'हो गइल बा प्यार ओढनिया वाली से' अपने  करियर की शुरुआत की थी. महज 25 साल की उम्र में रूबी ने भोजपुरी सिनेमा में अपनी अलग जगह बना ली थी, लेकिन शुक्रवार को ऐसा क्या हुआ कि सिनेमा के पर्दे पर हमेशा चहकने और चमकने वाले चेहरे ने अपने चाहनेवालों से खुद को हमेशा के लिए दूर कर लिया.

महका जगत ने पूरे किए एक साल, संपादक ने जताया आभार

राजस्‍थान के उदयपुर जिले से प्रकाशित हिंदी दैनिक समाचार पत्र 'महका जगत' ने दस फरवरी को अपने एक साल पूरे किए. इस अखबार की शुरुआत युवा पत्रकार जयप्रकाश माली ने 10 फरवरी 2011 में की थी, तब इसे लेकर तमाम तरह के कयास लगाए गए थे, परन्‍तु युवा पत्रकार एवं संपादक जयप्रकाश माली ने इस सफलता पूर्वक एक साल चलाकर दिखा दिया कि युवा किसी से कम नहीं हैं. तमाम दिक्‍कतों से मोर्चा लेते हुए उन्‍होंने अखबार का प्रकाशन जारी रखा.

अप्रिय बनने की बजाय मीडिया व्‍यवस्‍था का अंग बनता जा रहा है

कितना स्वतंत्र है मीडिया या फिर कितना स्वतंत्र है अभिव्यक्ति का अधिकार? हाल के तीन भाषणों से यह सवाल उभरता है। इनमें पहला भाषण है उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी का, दूसरा है प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का और तीसरा प्रेस काउंसिल के अध्यक्ष मार्कडेय काटजू का। धमकी के कारण सलमान रुश्दी जयपुर साहित्य महोत्सव में शामिल नहीं हो सके। इस कारण अभिव्यक्ति के अधिकार का सवाल ज्यादा महत्वपूर्ण हो गया है। इसी तरह भाजपा की छात्र शाखा के विरोध के कारण पुणे में कश्मीर पर बनी डाक्युमेंट्री की स्क्रीनिंग नहीं हो सकी।

”पेड न्‍यूज निगरानी समिति में डा. जिंदल को शामिल कर पत्रकारिता का मजाक उड़ा रहा है प्रशासन”

सेवा में, मुख्य चुनाव अधिकारी, विधानसभा निर्वाचन-2012, उत्तर प्रदेश। विषय- सोनभद्र में पेड न्यूज की निगरानी के लिए गठित प्रशासनिक समिति के संदर्भ में…। महोदय! अवगत कराना है कि केंद्रीय चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश विधानसभा निर्वाचन-2012 में पेड न्यूज पर अंकुश लगाने के लिए जिला स्तर पर पेड न्यूज निगरानी समिति का गठन करने का निर्देश दिया है। केंद्रीय चुनाव आयोग के निर्देश के तहत राज्य के सभी जिलों में जिला प्रशासन ने पेड न्यूज निगरानी समिति का गठन भी किया है। सोनभद्र में भी पेड न्यूज की निगरानी के लिए जिला प्रशासन द्वारा एक समिति का गठन किया गया है जिसमें जिलाधिकारी बतौर जिला निर्वाचन अधिकारी के रूप में अध्यक्ष हैं।

2012 में ही फिर से होंगे यूपी में विस चुनाव!

पांच राज्यों की विधानसभाओं के चुनावों में सर्वाधिक चर्चा यूपी अर्थात उस उत्तर प्रदेश की ही हो रही है, जिसको चार भागों में बॉंटने के बाद मायावती इसका नाम ही समाप्त कर देना चाहती हैं। जिन प्रस्तावित चार प्रान्तों में यूपी को विभाजित करने की मायावती की योजना है, उनमें यूपी का कहीं नाम ही नहीं है। यह तो एक अलग विषय है, लेकिन यूपी के चार में से कम से कम दो राज्यों पर अनन्त काल तक शासन करते रहने की तमन्ना पूरी करने की खातिर यूपी के चार टुकड़े करने की इच्छुक बसपा सुप्रीमो की बसपा के यूपी सहित हर राज्य में बार-बार टुकड़े होते रहे हैं। इसके उपरान्त भी बसपा का अस्तित्व आज भी कायम है।

हाईकोर्ट ने याहू इंडिया की याचिका खारिज की

नई दिल्ली। वेबसाइट पर आपत्तिजनक सामग्री परोसने के मामले में याहू इंडिया के खिलाफ निचली अदालत के आदेश पर रोक लगाने की मांग हाईकोर्ट ने खारिज कर दी। याहू इंडिया ने निचली अदालत द्वारा उनके आला अफसर को समन करने के आदेश को चुनौती दी थी। निचली अदालत इस मामले में याहू इंडिया, फेसबुक, गूगल इंडिया समेत 21 वेबसाइटों के खिलाफ दर्ज अपराधिक मामले में सुनवाई कर रही है। निचली अदालत ने इस बाबत सुनवाई के लिए 13 मार्च की तारीख तय कर रखी है।

गूगल लांच करेगा मुफ्त ऑनलाइन हार्ड ड्राइव

वाशिंगटन : लोकप्रिय सर्च इंजन गूगल शीघ्र ही मुफ्त ऑनलाइन हार्ड ड्राइव स्टोरेज सिस्टम लांच करने जा रहा है। यह पर्सनल कंप्यूटर के हार्ड ड्राइव की तुलना में अधिक फाइलों को स्टोर कर सकेगी। इससे पहले भी ड्रॉपबॉक्स नामक कंपनी ग्राहकों को ऑनलाइन फाइल स्टोरेज सर्विस उपलब्ध करा रही है। गूगल ने ड्रॉपबॉक्स को टक्कर देने के लिए अपनी योजना तैयार की है। वर्तमान में ड्रॉपबॉक्स का 4 अरब डॉलर (करीब 198 अरब रुपये) का कारोबार है।

वेस्‍ट बंगाल विस परिसर में प्रेस कांफ्रेंस वर्जित

कोलकाता : पश्चिम बंगाल विधानसभा अध्यक्ष बिमान बनर्जी ने शुक्रवार को एक आदेश जारी किया कि विधानसभा परिसर में अब संवाददाता सम्मेलनों का आयोजन नहीं होगा जिस पर विपक्षी माकपा ने तीखी प्रतिक्रिया जताते हुए इसे ‘निरंकुश’ और अस्वीकार्य करार दिया। यह आदेश विधानसभा में विपक्ष के नेता सूर्यकांत मिश्र की ओर से कल विस परिसर स्थित मीडिया केंद्र में संवाददाता सम्मेलन के के बाद आया है।

चैनल24 के मालिक को जमानत, रुपए लौटाने पर हुआ सहमत

शिमला : धोखाधड़ी के मामले में रोहतक से गिरफ्तार चैनल24 के मालिक राजेंद्र सिंह विदान को अदालत ने जमानत पर रिहा कर दिया है। उस पर चैनल24 में नौकरी देने के एवज में बेरोजगारों से पैसे लेने का आरोप था। पुलिस ने जब उसे पहली बार पकड़ा था तब उसने पैसे वापस लौटाने का आश्‍वासन दिया था, लेकिन उसके बाद भूमिगत हो गया था। उसे दोबारा पुलिस ने रोहतक से गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया था।

खुद को पत्रकार बता युवती ने वृद्धा से ठगे बारह लाख रुपये

कोलकाता : एक युवती द्वारा खुद को इलेक्ट्रानिक मीडिया का पत्रकार बताकर मकान मालकिन से 12 लाख रुपए ठगकर फरार होने का मामला सामने आया है। यह घटना दक्षिण कोलकाता के 1/1 सदर्न पार्क इलाके में स्थित ए-4 नंबर फ्लैट में घटी। ठगी की शिकार वृद्धा का नाम रेखा बंद्योपाध्याय (75) बताया गया है। रेखा का कहना है कि गत वर्ष अप्रैल में उत्तर 24 परगना जिले के रानाघाट की रहने वाली रुमझुम मुखर्जी नाम की युवती खुद को इलेक्ट्रानिक मीडिया का पत्रकार बताकर उनके फ्लैट में किराए पर रहने लगी।

श्री अनुज पोद्दार, मैंने काम किया है और मुझे पारिश्रमिक चाहिए

प्रेषक: Hare Prakash Upadhyay (hpupadhyay@gmail.com), दिनांक: 9 फरवरी 2012 9:45 अपराह्न, विषय: पत्र, प्रति: anuj.poddar@yahoo.com, श्री अनुज पोद्दार, मैं आपको यह पत्र अत्यंत व्यथा और विक्षोभ के साथ लिख रहा हूं। आपका जैसा आचरण और जैसी गति है, उसमें संवेदना और विनम्रता जैसे तंतु तलाशना मूर्खता के सिवा कुछ नहीं है और यह पर्याप्त और समुचित वजह है कि आपसे कोई संवाद, संबंध या संपर्क कदापि न रखा जाए। यही वजह है जनसंदेश टाइम्स में आप जब से पधारे मेरे जैसे व्यक्ति का वहां काम कर पाना खासा असुविधाजनक हो गया था और संपादक श्री सुभाष राय अगर वहां बने भी होते तो अब मेरा वहां बने रह पाना कतई संभव नहीं था और मैंने सोच लिया था कि एक फरवरी से मुझे वहां नहीं होना है।

देवनाथ बने अमर भारती में मुख्‍य समाचार संपादक

अमर भारती से खबर है कि वरिष्‍ठ पत्रकार देवनाथ को प्रबंधन ने समूह का मुख्‍य समाचार संपादक बना दिया है. साथ ही उन्हें अमर भारती हिंदी दैनिक के आगरा एवं लखनऊ संस्करण के सम्पूर्ण संचालन का भी प्रभार देकर सर्वाधिकार संपन्न बनाया गया है. लखनऊ संस्करण का अवतरण मार्च २०१२ के अंतिम सप्ताह में करने की तैयारियां चल रही हैं. जिसके लिए अनेक पदों पर नियुक्तियों के लिए लखनऊ/ दिल्ली कार्यालय में साक्षात्कार चल रहे हैं. अभी तक देवनाथ 'समाचार सम्पादक' के पद पर कार्यरत थे.

गाइडलाइन के विरुद्ध जाने पर जागरण ने हस्तिनापुर के रिपोर्टर को निकाला

मवाना। हस्तिनापुर विधानसभा क्षेत्र के पीस पार्टी के अपराधिक छवि के प्रत्याशी विधायक योगेश वर्मा के कार्यालय में प्रबंधतंत्र को बिना सूचना दिये जाने पर दैनिक जागरण ने अपने हस्तिनापुर के रिपोर्टर विपिन वर्मा को तत्काल प्रभाव से नौकरी से निकाल दिया है। विधानसभा चुनावों की घोषणा होने के बाद से ही दैनिक जागरण समूह ने अपने पत्रकारों को प्रत्याशियों के कार्यालय में जाने पर रोक लगा दी है, लेकिन बुधवार की देर रात में दैनिक जागरण के जनपद मेरठ के हस्तिनापुर कस्बे में तैनात रिपोर्टर विपिन वर्मा अपने साथी अमर उजाला के पत्रकार फतेह सिंह निर्मल के साथ में हाल में ही बपसा से निकाले गये अपराधिक छवि के पीस पार्टी के प्रत्याशी योगेश वर्मा के मवाना में स्थित मुख्य कार्यालय में पहुंच गये।

उत्‍तराखंड के मंत्री ने सहाराश्री को भेजा पत्र, रिपोर्टर व चैनल पर लगाया दुर्भावना से ग्रसित होकर खबरें दिखाने का आरोप

उत्‍तराखंड के नगर विकास, पर्यटन, गन्‍ना विकास समेत कई मामलों के मंत्री मदन कौशिक ने आरोप लगाया है कि उत्‍तराखंड विधानसभा चुनाव के दौरान सहारा चैनल और उसके रिपोर्टर ने उनके खिलाफ दुर्भावना और पूर्वाग्रह से ग्रस‍ित होकर खबरें चलाईं. जिससे वे काफी दुखी हैं तथा उनके मान-सम्‍मान को ठेस पहुंचने के साथ उनका चुनाव भी प्रभावित हुआ है. इस संदर्भ में मंत्री महोदय ने सहारा के चेयर मैन को पत्र एवं मेल भेजकर इस संदर्भ में कार्रवाई किए जाने की मांग की है. उन्‍होंने एक प्रति भड़ास के पास भी भेजी है, जिसे नीचे प्रकाशित किया जा रहा है.

नसीमुद्दीन और मुन्‍काद बसपा के दलाल : अवधेश वर्मा

: भाजपा महासचिव ने कांग्रेसी और बसपा नेताओं को सूपर्णखा और खर-दूषण बातया : शाहजहांपुर। भाजपा के ददरौल विधान सभा से भाजपा प्रत्याशी के नामांकन से पूर्व एक सभा को सम्बोधित करने आये भाजपा के राष्‍ट्रीय महासचिव ने यूपी के चुनाव की तुलना रामायण से कर डाली और कहा कि जिस तरह से रामायण में राक्षस मायावी रूप धर कर के छलने और काम बिगाड़ने का काम करते थे ठीक उसी प्रकार कांग्रेस तथा बसपा के नेता यूपी के चुनाव में क्रीम पाऊडर लगाकर कहीं सूपर्णखा, खरदूषण और मारीच आ रहे है, तो कही सुरसा आ रही है। वह जनता को गुमराह करने की कोशिश कर रहे है जनता को इन मायावी राक्षस रूपी नेताओं से बच कर रहने की जरूरत है।

शराब-साड़ी बांटने पर गाजीपुर में बसपा प्रत्‍याशी डा. राजकुमार समेत चार पर मुकदमा

यूपी में वोटरों के लुभाने के हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं. इसी कड़ी में गा‍जीपुर में वोटरों को प्रलोभन देने के आरोप में सदर विधानसभा से बसपा प्रत्‍याशी डा. राजकुमार सिंह गौतम समेत चार लोगों के खिलाफ देर रात आचार संहिता उल्‍लघंन का मामला दर्ज कियो गया है. बताया जा रहा है कि नंदगंज थाना क्षेत्र के माताबांध, अलीपुर, बनगांवा में बसपा प्रत्‍याशी के समर्थकों द्वारा मतदातओं को अपने पक्ष में मतदान करने के लिए शराब, साड़ी तथा रुपये बांटते हुए पकड़ा गया.

उबल रहे हैं यूपी के पुलिसकर्मी, आजमगढ़ में सामूहिक इस्‍तीफे की धमकी

: आईपीएस अधिकारियों के दोहरे रवैये से हैं नाराज : आजमगढ़ जिले के पुलिसकर्मी उबल रहे हैं. ये उबाल आईपीएस अधिकारियों के दोहरे चरित्र के चलते आया है. अधिकारियों के रवैये से नाराज पुलिसकर्मी एक दिन का सांकेतिक भूख हड़ताल भी कर चुके हैं. अब सामूहिक इस्‍तीफे की बारी है. वे उसी राह पर चल रहे हैं, जिस राह पर बस्‍ती में कमिश्‍नर और एसपी विवाद के बाद आईपीएस अधिकारी चले थे. अधिकारी मामले को दबाने की भरपूर कोशिश कर रहे हैं पर आग अब तेज होती जा रही है. ऐसा लग रहा है कि यह आग पूरे यूपी में फैल सकती है.

वरिष्‍ठ खेल पत्रकार सुरेश गावड़े का निधन

इंदौर : वरिष्ठ खेल पत्रकार और मध्यप्रदेश टेबल टेनिस संघ के अध्यक्ष सुरेश गावड़े का निधन हो गया। गावड़े 75 वर्ष के थे। बताया जा रहा है कि पिछले कुछ समय से आंशिक रूप से अस्‍वस्‍थ महसूस कर रहे गावड़े की तबीयत गुरुवार की शाम अचानक बिगड़ गई। उन्‍होंने आज तड़के घर में आखिरी सांस …

बदलाव : जो माया के अपने थे, अब होने लगे मुलायम के

नौकरशाह, उद्योगपति और मीडिया की चाल और मूड से देश में होने वाली गतिविधियों और भावी परिवर्तनों को आसानी से समझा जा सकता है, क्योंकि जनता और शासन के मध्य ये तीनों एक पुल की भांति होते हैं, और प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष तरीके से इनका सत्ता और जनता से गहरा जुड़ाव और रिश्ता होता है। ऐसे में अगर इन तीनों की चाल, मूड, भाषा, स्वभाव और कार्यशैली में बदलाव दिखाई दे तो यह समझ लेना कुछ होने वाला है या फिर बदलाव के संकेत है। बसपा शासनकाल में जो लोग सता के नाक के बाल थे वो एक-एक करके किसी न किसी बहाने से उससे दूर छिटक रहे हैं, या दूर होने में ही अपनी भलाई समझ रहे हैं। माया मेमसाहब के सबसे करीबी नौकरशाह केन्द्र में प्रतिनियुक्ति के लिए अर्जी लगा रहे हैं तो बहनजी के खासम खास उद्योगपति भी बोरिया बिस्तर समेटने की कवायद में जुट गये हैं।

”हमार टीवी अपने सदस्‍य पर हुए हमले से अचंभित है”

हमार टीवी परिवार अपने एक सदस्य पर हुए हमले से अचंभित है। लखनऊ के हमार संवाददाता खालिद गौरी पर हुआ हमला दरअसल कलम पर बंदूक का वार दिखाता है। हमार टीवी प्रबंधन ने पहले गलतफहमी का शिकार हो के जिस व्यक्ति पर भरोसा किया था। उस चंद्र प्रकाश सिंह उर्फ सीपी सिंह नाम के व्यक्ति ने हिंसा के जरिए जवाब देने की कोशिश की। दरअसल इस  हादसे में भड़ास4मीडिया की भी एक भूमिका है।

आगरा से लांच हुआ टुडे एक्‍सप्रेस मैगजीन

Dear Sir, We have launched a new national news magazine "Today Express" from Agra. This magazine focuses on the awareness of the society. We will follow the rich history of the Agra Journalism. We would like to be the voice of Today's India. With this aim we are in front of you with our very good team. We will always try that we will not do any partiality with anyone. The Today Express Family is listed below:

गांधी के धोखेभरे निर्णयों को भी तो सहना ही होगा

पॉंच राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनावों में किसका ऊंट किस करवट बैठेगा, इस बात का सही-सही पता तो चुनाव परिणामों के बाद ही चलेगा, लेकिन हर ओर उत्तर प्रदेश विधानसभा के चुनाव परिणामों के बारे में सर्वाधिक चर्चा हो रही है। हो भी क्यों नहीं, जब दिल्ली की सत्ता का किला उत्तर प्रदेश के रास्ते ही फतह किया जा सकने की सारी सम्भावनाएँ हैं। यूपीए की केन्द्रीय सरकार को उत्तर प्रदेश चुनावों से ठीक पहले ओबीसी के अन्दर अल्पसंख्यकों को अलग से आरक्षण प्रदान करने की बात याद आ रही है। यही नहीं भाजपा को भी उत्तर प्रदेश की सत्ता के लिये राम का नाम और राम मन्दिर याद आने लगा है। इतना ही नहीं भाजपा और भाजपा से सम्बद्ध संगठनों को पहली बार अन्य पिछड़ा वर्ग के आरक्षण की चिन्ता भी सताने लगी है, जबकि सामान्यत: ये सारे कथित राष्ट्रवादी, हिन्दूवादी और भारतीय संस्कृति के महारक्षक हर राजनैतिक और गैर-राजनैतिक मंच से सामाजिक न्याय की संवैधानिक अवधारणा के विरोध में बयान जारी करते रहते हैं।

पांच लाख मिलने का जश्‍न नहीं मना पाए आशीष, हिंदुस्‍तान ने बैठाई जांच

: शिक्षा विभाग ने दिया है पत्रकार को ये पैसे : पटना का शिक्षा विभाग सौ साल पूरे होने पर इतना दरियादिल हो गया है कि किसी को भी पैसा बांट दे रहा है. जिसको मन कर रहा है उसको, तभी तो राष्‍ट्रीय सहारा ने कल खबर प्रकाशित किया है कि 'जश्‍न मनाना है तो शिक्षा विभाग आएं'. पर राष्‍ट्रीय सहारा की खबर ने पैसा पाकर जश्‍न मना रहे एक पत्रकार को मुश्किल में डाल दिया है. अब बेचारे पत्रकार को प्रबंधन के सवालों के जवाब देने पड़ रहे हैं. बेचारे कोस रहे होंगे उस घड़ी को जब राष्‍ट्रीय सहारा के पत्रकार ने यह खबर लिखी होगी.

धोखाधड़ी का आरोपी चैनल24 का मालिक गिरफ्तार, रिमांड पर भेजा गया

शिमला : धोखाधड़ी के आरोपी और चैनल24 के मालिक और ठगे गए बेरोजगारों के बीच तीन माह पहले हुआ समझौता सिरे नहीं चढ़ पाया है। इस पर पुलिस चैनल के मालिक राजेंद्र सिंह विदान को रोहतक से गिरफ्तार कर शिमला ले आई। आरोपी को गुरुवार को अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे शुक्रवार तक पुलिस रिमांड पर भेजने का आदेश दिया गया। इस मामले में चैनल के महाप्रबंधक प्रेम शर्मा को पुलिस ने पिछले वर्ष गिरफ्तार कर लिया था, मगर चैनल मालिक भूमिगत हो गया था।

पत्रकार ऋतभ बने सीएम के प्रेस सलाहकार

कोलकाता : कोलकाता में इलेक्ट्रानिक मीडिया के पत्रकार ऋतभ भट्टाचार्य को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का प्रेस सलाहकार बनाया गया है। यह जानकारी राज्य सचिवालय ने दी है।  भट्टाचार्य शुक्रवार को अपना कार्यभार संभालेंगे। ऋतभ की गिनती राज्‍य के तेजतर्रार पत्रकारों में होती है। उन्‍हें पहले से ही सीएम ममता बनर्जी का नजदीकी माना जाता रहा …

न्‍यूज चैनल के मालिक के खिलाफ हत्‍या का मामला दर्ज

लाहौर। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में प्रशासन ने दुनया टीवी के मलिक मिया अमर महमूद के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है। इसके तुरंत बाद न्यूज चैनल ने मुख्यमंत्री शाहबाज शरीफ की प्रातीय सरकार के खिलाफ अभियान छेड़ दिया। पंजाब ग्रुप आफ कालेजिज के मालिक महमूद पर एक संगीत समारोह के दौरान मची भगदड़ में तीन छात्राओं की मौत के मामले में शिक्षण संस्थानों के प्रशासनिक अधिकारियों समेत मुकदमा दर्ज किया गया है।

देवरिया जिले में 147 उम्‍मीदवारों के भाग्‍य का फैसला करेंगे 22 लाख मतदाता

: इस बार मतदान प्रतिशत बढ़ने के आसार : देवरिया। उत्तर प्रदेश के पूर्वी भाग में बसे देवरिया जिले को कभी देव भूमि के नाम से उच्चारित किया जाता था। देव भूमि यानि दैहिक, दैविक और भौतिक कष्टों से मुक्त और सभी सुखों से सम्पन्न भूमि। लेकिन आज वास्तविकता कुछ अलग ही कहानी कह रही है। अनगिनत समस्याओं से प्रतिदिन दो-चार होता हुआ यह जिला पीड़ा और दुःखों से जार-जार रो रहा है। आजादी के 64 साल भी किसानों को खाद व बीज के लिए पुलिस की लाठियां खानी पड़ती है। नहरों में पानी नही है। कल कारखाने बन्द है। शिक्षा एवं स्वास्थ्य में भ्रष्टाचार का घुन समा गया है। स्वास्थ्य विभाग खुद बीमार हो गया है और उच्च शिक्षा के लिए छात्रों को बाहर जाना पड़ता है।

सूत न कपास : सीएम पद के लिए बेनी-पुनिया कर रहे बकवास

कांग्रेस के कुर्मी चेहरे एवं केन्द्रीय इस्पात मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा और दलित चेहरे एवं राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष पन्ना लाल पुनिया की लड़ाई थमने का नाम नहीं ले रही है. ताजा घटनाक्रम में बेनी बाबू ने बाराबंकी सांसद पीएल पुनिया को बाहरी बता विवाद को जन्म दे दिया है. मंत्री वर्मा ने दरियाबाद विधानसभा क्षेत्र में पुनिया के लिए ये बात कही. दरियाबाद से वर्मा का बेटा राकेश कांग्रेस प्रत्याशी हैं. बेनी ने कहा पुनिया पंजाब के हैं. उत्तर प्रदेश की राजनीति से उनका कोई लेना-देना नहीं है. ये बयान पुनिया के उस बयान से जोड़ कर देखा जा रहा है जिसमें पुनिया ने कहा था कि पार्टी ने किसी नेता को मुख्यमंत्री के रूप में प्रोजेक्ट नहीं किया है.

भाजपा ने ‘युवा’ टीवी चैनल लांच किया

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी ने 'युवा' नाम से गुरुवार को अपने खुद के टीवी चैनल की लांचिंग की। इस इंटरनेट टीवी चैनल का शुभारंभ पार्टी अध्यक्ष नितिन गडकरी ने बीजेपी मुख्‍यालय में किया। गडकरी ने इस मौके पर कहा कि कोई भी व्यक्ति या नेतृत्व अपने आप में पूरी तरह से दोषरहित नहीं होता है, सबमें अच्‍छाइयों के साथ बुराइयां भी होती हैं। इस टीवी चैनल से पार्टी के लोगों को खुद को बेहतर बनाने का मौका मिलेगा, क्योंकि 'युवा' चैनल से केवल पार्टी के विचार ही प्रसारित नहीं होंगे, बल्कि बीजेपी से इतर विचारों और आलोचनाओं को भी पूरा स्थान और सम्‍मान मिलेगा।

असम ट्रिब्‍यून ने मजिठिया वेज आयोग की सिफ‍ारिश लागू की

: ऐसा करने वाला देश का पहला और अकेला अखबार : गुवाहाटी। असम ट्रिब्यून समूह ने अपने ट्रेड यूनियनों के साथ एक करार में पत्रकारों और गैर-पत्रकारों के लिए मजिठिया वेतन बोर्ड की सिफारिशों को लागू करने का फैसला किया है। यह करार इस साल जनवरी से प्रभावी होगा। असम ट्रिब्‍यून समूह मजिठिया वेतन बोर्ड की सिफारिशों को लागू करने वाला पहला और देश का एकलौता अखबार बन गया है। समूह में करीब 450 कर्मी काम करते हैं।

मीडिया सलाकार समिति‍ गठित, संजय, प्रवीण, हरिओम, विजयपाल सदस्‍य बने

शिमला : प्रदेश सरकार ने हिमाचल प्रदेश मीडिया सलाहकार समिति का गठन किया है। भाजपा की प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य अशोक कपाटिया को समिति के उपाध्यक्ष के पद की जिम्मेदारी सौंपी गई है। धर्मशाला के संजय शर्मा, मंडी के प्रवीण शर्मा, ऊना के हरि ओम भनोट और हमीरपुर के विजय पाल सिंह सोहरू समिति के …

फेसबुक में पक्‍की नहीं है जुकरबर्ग की नौकरी, कभी भी निकाला जा सकता है

वाशिंगटन। सुनकर अजीब लग सकता है, लेकिन यह सच है। सबसे बड़ी सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक में उसी के संस्थापक और मुखिया मार्क जुकरबर्ग की नौकरी पक्की नहीं है। उन्हें कारण बताकर या बिना बताए कभी भी निकाला जा सकता है। यह बात उस वक्त सामने आई, जब बहुप्रतीक्षित आइपीओ लाने के लिए कंपनी ने अमेरिकी बाजार नियामक एसईसी के पास विवरण पुस्तिका दाखिल की।

सरकार ने गूगल पर कसा फेमा का शिकंजा

नई दिल्ली : आपत्तिजनक सामग्री प्रदर्शित करने के आरोप में दिल्ली हाईकोर्ट के निशाने पर आई दुनिया की सबसे बड़ी सर्च वेबसाइट गूगल पर अब फेमा का शिकंजा भी कस गया है। भारत में की गई कमाई को अवैध तरीके से विदेश भेजने के आरोप में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गूगल की भारतीय इकाई गूगल इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के खिलाफ जांच शुरू कर दी है। इस सिलसिले में ईडी गूगल को नोटिस भेज चुका है।

पोंटी के खिलाफ छापेमारी (दो) : कहानी जमीन से आसमान तक पहुंचने की

 छापे के दौरान आयकर विभाग यह समझने की कोशिश में जुटा रहा कि विभाजन के समय पाक के मोंटगोमरी से भाग कर पहले रामनगर और उसके बाद मुरादाबाद के रिफ्यूजी क्वार्टर्स में पनाह लेने वाला यह परिवार किस तरह इतनी बड़ी सल्तनत का मालिक बन बैठा। इस परिवार ने न केवल दौलत कमाई बल्कि दहशत भी फैलाई। पोंटी के बाबा को तो लोग कोई खास नहीं जान पाए लेकिन बेटे कुलवंत सिंह ने 1960 में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जिला मुरादाबाद से शराब के धंधे में पांव रखा तो फिर पीछे मुड़ कर नहीं देखा। कुलवंत सिंह की कोठी मुरादाबाद के पॉश इलाके सिविल लांइस में है। इस कोठी का नाम सुनकर लोगों के मुंह से शब्द भले न निकलते हों लेकिन चेहरे पर दहशत का एक अजीब से भाव जरूर दिखाई पड़ जाता है। पिता कुलवंत के पद चिन्हों पर ही नहीं चला उनका बड़ा बेटा पोंटी। बल्कि उसने अपने पिता को भी काफी पीछे छोड़ दिया।

पोंटी के खिलाफ छापेमारी (एक) : ‘वाइन किंग’ ने एक तीर से साधे कई निशाने

वाइन किंग पोंटी चड्ढा के 25 ठिकानों पर एक साथ छापे मारकर आयकर विभाग ने खूब सोहरत बटोरी। आयकर विभाग की कार्यशैली से ऐसा लगा मानो पोंटी के पास काले धन की टकसाल होगी। यूपी-पंजाब और उत्तराखंड ही नहीं देशभर में लोग उत्सुकता से इस बात का इंतजार करने लगे कि क्या पोंटी का तिलिस्म टूटेगा? यह वो लोग थे जिनके लिए वाइन किंग का ‘साम्राज्य’ एक अबूझ पहेली जैसा था। भले ही उसकी चर्चा वाइन किंग के रूप में होती थी, लेकिन रंगीन पानी का यह सौदागर यहीं तक सीमित नहीं था। उसने कई धंधों में अपने पांव पसार रखे थे। रीयल स्टेट, चीनी मिल, ब्रासवेयर कारोबार, फिल्मी क्षेत्र आदि कई व्यवसायों में उसका हजारों करोड़ रुपया लगा हुआ था।

इंटरनेट पत्रकारिता पर ये दाग अच्‍छे नहीं

इंटरनेट की खबरों में सेक्‍स, सेक्‍स रैकेट, देह व्‍यापार, ब्‍लू फिल्‍म जैसे शब्‍दों से जुड़ी खबर मिलते ही सभी वेबसाइटें जितनी तत्‍परता के साथ खबरें डालती हैं, उतनी तत्‍परता के साथ शायद लोकसभा में कैबिनेट की बैठक कवर नहीं की होगी…..। खैर इसका प्रमुख कारण यह है कि लोग इंटरनेट पर सबसे ज्‍यादा 'सेक्‍स' शब्‍द सर्च करते हैं। कर्नाटक विधानपरिषद में सदन के अंदर मंत्री जी ब्‍लू फिल्‍म देखते पकड़े जाते हैं, तो खबर पर तस्‍वीरें ब्‍लू फिल्‍म की लगा दी जाती हैं।

विवेक हिंदुस्‍तान से कार्यमुक्‍त, विकास कशिश न्‍यूज एवं अनिल हरिभूमि पहुंचे

हिंदुस्‍तान, औरैया से खबर है कि विवेक विश्‍नोई को कार्यमुक्‍त कर दिया गया है. विवेक रिपोर्टर थे. विवेक विशेश्‍वर कुमार के शिकार बन गए. विशेश्‍वर कुमार ने अपने तबादले का आदेश आने के बाद जाते-जाते विवेक को कार्यमुक्‍त कर गए. विवेक ने खुद को निकाले जाने का कारण पूछा तो विशेश्‍वर कुमार ने कुछ भी नहीं बताया. बताया जा रहा है कि विवेक ने नवीन जोशी को भी इस बारे में बताया पर उन्‍होंने संज्ञान नहीं लिया.

अब दिमागी नहीं शारीरिक रूप से मजबूत पत्रकार तैयार करेगा एमसीयू

लगता है अब पत्रकारों की नियुक्ति भी किसी वेटलिफ्टर या पहलवान की तरह किलो वर्ग के आधार पर होगी. इसकी शुरुआत की है भोपाल स्थित एशिया के पहले हिंदी पत्रकारिता को समर्पित माखनलाल विश्वविद्यालय के वर्तमान और चर्चित कुलपति कुठियाला ने. माखनलाल में जिम का शुभारंभ किया गया है… जहाँ भावी पत्रकार शरीर सौष्ठव का प्रदर्शन करते नजर आएंगे. पहले ही अपनी हड़तालों और हंगामों के चलते प्रसिद्ध इस विश्वविद्यालय में कोई आश्चर्य नहीं अगर पत्रकारों के मारपीट के किस्से सामने आएँ.

अर्थकाम का तीर निशाने पर, जागरण बढ़ा दस फीसदी से ज्यादा

अर्थकाम धीरे-धीरे वित्तीय मामलों से जुड़ी इकलौती ऐसी वेबसाइट बनती जा रही है जो न केवल गूढ़ आर्थिक व वित्तीय मसलों  की गुत्थी सुलझाकर पेश  करती है बल्कि शेयरों में निवेश की सिफारिशों में भी उसकी साख बढ़ती जा रही है। पुरानी बात छोड़ दें तो उसने करीब दो हफ्ते पहले ही लिखा था (जिसे हमने भड़ास पर दूसरे संदर्भों के साथ लगाया भी था) कि जागरण प्रकाशन का शेयर 10-15 दिन में 10 फीसदी बढ़ जाएगा। और, सचमुच इस शेयर ने 15 दिन पूरा होने से पहले ही 7 फरवरी तक करीब 14 फीसदी बढ़त हासिल कर ली। आज भी इस शेयर में रुझान बढ़ने का दिख रहा है।

हिंदुस्‍तान, फिरोजाबाद धड़ल्‍ले से छाप रहा पेड न्‍यूज, आयोग मौन

चुनाव घोषित होने से पूर्व हिंदुस्तान समाचार पत्र के प्रधान संपादक शशि शेखर ने कहा था कि हम किसी भी हालत में पेड न्यूज़ नहीं छापेंगे. लेकिन जनपद फिरोजाबाद में हिन्दुस्तान पेपर में धड़ल्ले से पेड न्यूज़ छपी जा रही है. पाठक देखते ही अंदाज लगा लेते हैं कि ये एक ख़ास पार्टी का विज्ञापन किया जा रहा है. लेकिन न तो जिला प्रशासन और न ही चुनाव आयोग के कर्मचारी ही इस पर कोई कार्रवाई कर रहे है. इससे हिन्दुस्तान अखबार की साख को बट्टा लग रहा है, वो भी चंद रुपयों की खातिर. इस पेड न्यूज़ के अंत में MMI वर्ड का कोड भी दिया जा रहा है.

सीपी सिंह बने जनता टीवी के नेटवर्किंग डाइरेक्‍टर, अवनीश हिंदुस्‍तान पहुंचे

हमार टीवी एवं फोकस टीवी के यूपी ब्‍यूरोहेड पद से अलग होने वाले सीपी सिंह ने अपनी नई पारी जनता टीवी के साथ शुरू की है. सीपी सिंह को जनता टीवी का नेटवर्किंग डाइरेक्‍टर बनाया गया है. सीपी सिंह कुछ समय पहले पॉजिटिव मीडिया ग्रुप से जुड़े थे. सीपी सिंह अब यूपी में जनता टीवी की पूरी जिम्‍मेदारी संभालेंगे. खबरों एवं बिजनेस दोनों के लिए जनता टीवी प्रबंधन ने उनपर विश्‍वास जताया है. सीपी सिंह के प्रयास से हमार टीवी कुछ ही समय में यूपी में कई जिलों में दिखने लगा था. सीपी इसके पहले भी कई अखबार में काम कर चुके हैं. सीपी सिंह के जनता टीवी से जुड़ने की पुष्टि करते हुए चैनल के वाइस प्रेसिडेंट गुरबिंदर सिंह ने कहा इससे चैनल को मजबूती मिलेगी.

खबर रिपीट : ये सहारा वालों का अमर प्रेम है या कोआर्डिनेशन की कमी

गोरखपुर में बुधवार को जब राष्‍ट्रीय सहारा लोगों के हाथों में पहुंचा तो यह देखकर लोगों को ताज्‍जुब हुआ कि अमर सिंह की एक ही खबर दो जगहों पर लगाई गई है. जो खबर पहले पन्‍ने पर छपी है वही खबर सात नम्‍बर पेज पर भी लीड के रूप में लगी है. वो भी दो फोटो के साथ. अन्‍य अखबारों के दफ्तरों में सहारा के इस अमर प्रेम को लेकर खूब बातें चलीं. हालांकि खबरों का दो जगह प्रकाशित होना अमर प्रेम के कारण नहीं बल्कि कोआर्डिनेशन की कमी है.

लाइव कार्यक्रम में एंकर के चेहरे पर कुत्‍ते ने काटा

कोलोराडो के डेनवर मने एक दिग्गज टीवी एंकर को उस वक़्त हॉस्पिटल पहुंचना पड़ा जब एक लाइव टीवी शो के दौरान एक कुत्ते ने उनके चेहरे पर हमला कर काट दिया। इस कुत्ते को हाल ही में अथक प्रयास से बचाया गया था। मैक्स नाम के इस अर्जेण्टीनी बड़े कुत्ते ने अपने दांतों को एंकर कायली ड्येर के चेहरे में गड़ा दिया जब वह उसे दुलार करने के लिए बुधवार को प्रसारित हो रहे सुबह के शो कुसा-टीवी के दौरान उसेक पास आईं।

पॉजिटिव मीडिया के सीईओ विनीत सक्‍सेना कार्यमुक्‍त

पॉजिटिव मीडिया ग्रुप से खबर है कि सीईओ के रूप में कार्यरत विनीत सक्‍सेना को कार्यमुक्‍त कर दिया गया है. विनीत छह महीने पहले पॉजिटिव मीडिया के साथ सीईओ के रूप में जुड़े थे. उन्‍हें फाइनेंसर एक्‍पर्ट माना जाता था. उनके पास ग्रुप के चैनल एनईटीवी, फोकस टीवी, हमार टीवी, एनई बांग्‍ला, एचवाई, एनई हाईफाई की जिम्‍मेदारी थी. विनीत सक्‍सेना पॉजीटिव ग्रुप से जुड़ने वाले दूसरे सीईओ थे. यह छह महीना भी पॉजिटिव मीडिया के साथ काम नहीं कर पाए. पहले सीईओ राजीव अरोड़ा भी इस संस्‍थान के भीतर के विवाद से परेशान होकर इस्‍तीफा दे दिया था. वे यहां तीन महीने तक भी नहीं टिक पाए थे.

लखनऊ में हमार टीवी की टीम पर हमला, पूर्व ब्‍यूरोचीफ पर आरोप

: दोनों तरफ से मामला दर्ज कराया गया : लखनऊ में हमार टीवी की टीम के ऊपर हमला हुआ है. छह से आठ की संख्‍या में मौजूद युवकों ने आवास विकास कार्यालय के पास हमार टीवी के डाइरेक्‍टर जीके शास्‍त्री की गाड़ी रोकी तथा उसमें बैठे खालिद गौरी, कैमरामैन मनोज दुबे तथा ड्राइवर मनोज को मारा-पीटा. इसके बाद चले गए. हमार टीवी की टीम ने लखनऊ के गौतमपल्‍ली थाने में पूर्व ब्‍यूरोचीफ सीपी सिंह समेत कई लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है. वहीं सीपी सिंह ने भी उन्‍हें झूठे फंसाने तथा बकाया पैसा न देने का मुकदमा दर्ज करा दिया है.

भाजपा के गले की हड्डी बने बाबू सिंह कुशवाहा देवरिया में बेआबरु हुए

: भाजपाइयों ने नहीं दिया भाव : देवरिया। कभी बहुजन समाज पार्टी के कद्दावर नेता रहे बाबू सिंह कुशवाहा न घर के रहे न घाट के। जिस बसपा की सरकार में वे एक महत्वूपर्ण पद पर रह कर प्रदेश में अपनी हनक पैदा करते थे और उनकी तूती बोलती थी, आज उनकी स्थिति यह है कि वह जिला प्रशासन के प्रोटोकाल तक में शामिल नहीं है। यही नहीं वह भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सूर्य प्रताप शाही के प्रचार के लिए देवरिया जिले के पथरदेवा विधान सभा क्षेत्र में बड़ी उम्मीद लेकर आए थे लेकिन भाजपाइयों की बेरुखी और अपमानजनक व्यवहार से वह तीन में से दो जनसभाओं को बिना सम्बोधित किए हुए ही चले गए।

आडवाणी की सभा रद्द, बिफरे योगी ने प्रशासन को बसपा का एजेंट बताया

गोरखपुर : लालकृष्ण आडवाणी की बुधवार की शाम यहां होने वाली जनसभा की प्रशासन द्वारा अनुमति नहीं दी गई। प्रशासन द्वारा सभा कार्यक्रम को अचानक रद्द किए जाने की सदर सांसद योगी आदित्यनाथ ने तल्ख शब्दों में निंदा की है। प्रशासन के इस रवैये के विरोध स्वरूप उन्होंने टाउनहाल स्थित गांधी प्रतिमा स्थल पर पत्रकारवार्ता की और कहा कि सभा रद्द कर प्रशासन ने लोकतंत्र की हत्या की है। पूरे मामले में प्रशासन की भूमिका बसपा के एजेंट जैसी है। इससे चुनाव आयोग की निष्पक्षता का दावा तार-तार हुआ है। आयोग को इस मामले की जांच करानी चाहिए। उन्होंने जनता से अपील की कि वह प्रशासन की इस निरंकुशता का जवाब 11 फरवरी को बैलेट से दे।

नरसिम्‍हा राव की गलती की सजा भुगत रही है कांग्रेस : दिग्विजय

: मुलायम सिंह ने बाबरी मस्जिद ढहाने वालों को इज्‍जत दी : नई दिल्ली : कांग्रेस के महासचिव और उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के चुनाव अभियान में लगे दिग्विजय सिंह ने कहा है कि अब उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव में उनका मुकाबला समाजवादी पार्टी से है. उन्होंने दावा किया कि अब तक चुनाव में सक्रिय रही बहुजन समाज पार्टी अब तीसरे स्थान पर खिसक गयी है. अपने इस दावे के साथ दिग्विजय सिंह ने समाजवादी पार्टी के  अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव के ऊपर सीधा हमला बोला और कहा कि मुलायम सिंह यादव ने अपने जीवन में एक बार भी आरएसएस के खिलाफ कभी कोई बयान नहीं दिया है.

सहारा के उर्दू अखबार में कार्यरत मुशीर अहमद का निधन

नोएडा। सहारा ग्रुप के उर्दू अखबार ‘रोजनामा राष्ट्रीय सहारा’ के कला विभाग में कार्यरत मुशीर अहमद कुरैशी का बुधवार रात अचानक निधन हो गया। वह 49 वर्ष के थे। मुशीर सहारा इंडिया परिवार से 1 अक्टूबर 1992 से जुड़े थे और नोएडा में कार्यरत थे। वह अपने परिवार के साथ अहाता केदार चौक बाड़ा हिन्दू राव में रहते थे। बताया जा रहा है कि बीती रात वह रात्रि पाली का काम खतम करने के बाद घर गए और खाना खाकर सो गए।

मदन कलाल, विश्‍वनाथ जैन, ओम थानवी, मोइनुद्दीन चिश्‍ती समेत कई पत्रकार होंगे सम्‍मानित

: 16 फरवरी को दिया जाएगा सम्‍मान : जयपुर। पिंकसिटी प्रेस क्लब की ओर से 16 फरवरी की शाम चार बजे जवाहरलाल दर्डा पत्रकारिता पुरस्कार और अशोक गहलोत लोकमत मित्रता पुरस्कार समारोह आयोजित किया जाएगा। क्लब अध्यक्ष एलएल शर्मा ने बताया कि प्रेस क्लब परिसर में आयोजित होने वाले इस समारोह के मुख्य अतिथि राज्यपाल शिवराज पाटिल होंगे। समारोह की अध्यक्षता मुख्यमंत्री अशोक गहलोत करेंगे। विशिष्ट अतिथि केन्द्रीय सड़क और परिवहन मंत्री डा सीपी जोशी, सूचना एवं जनसंपर्क मंत्री डा. जितेन्द्र सिंह और सांसद एवं लोकमत समाचार पत्र समूह के अध्यक्ष विजय दर्डा होंगे। समारोह में वर्ष 2011 का जवाहरलाल दर्डा पत्रकारिता पुरस्कार जोधपुर के स्वतंत्र पत्रकार मोइनुद्दीन चिश्ती को दिया जाएगा।

यूनेस्‍को ने पत्रकार आतिफ की हत्‍या पर नाराजगी जताई

संयुक्त राष्ट्र। तालिबानी आतंकवादियों के हाथों हाल में एक पाकिस्तानी पत्रकार की हत्या की निंदा करते हुए संयुक्त राष्ट्र की एजेंसी यूनेस्को ने पाकिस्तान से देश में पत्रकारों के लिए हालात बेहतर करने को कहा है। यूनेस्को महासचिव इरीना बोकोवा ने कहा, 'मैं मुकर्रम खान आतिफ की हत्या की निंदा करती हूं।'

मालदीव में विद्रोही सैनिकों ने सरकारी टीवी स्‍टेशन पर कब्‍जा किया

मालदीव से आ रही ख़बरों के मुताबिक़ विद्रोही पुलिस अधिकारियों ने सरकारी टेलीविजन स्टेशन पर क़ब्ज़ा कर लिया है. विद्रोही राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद के त्यागपत्र की मांग कर रहे हैं. बताया जा रहा है कि स्‍टेशन पूरी तरह विद्रोहियों के कब्‍जे में हैं. सोमवार को तक़रीबन 50 पुलिसकर्मियों ने सरकारी आदेश को मानने से इनकार करते हुए देश के पूर्व शासक अब्दुल गयुम के समर्थकों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने से मना कर दिया था. गयुम समर्थक वर्तमान सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे तथा नारे लगा रहे थे.

चोरों ने पत्रकार के घर को बनाया निशाना, हजारों का माल उड़ाया

नवांशहर : बलाचौर शहर में चोरी की घटनाओं में लगातार वृद्धि हो रही है। चोरों के हौसले इतने बुलंद हो गए है कि अब उन्होंने दिनदहाड़े चोरी की वारदातों को अंजाम देना शुरू कर दिया है। उनके मन में पुलिस को लेकर कोई खौफ नहीं रह गया है। बुधवार दोपहर को दिनदहाड़े पुलिस को चुनौती देते हुए चोरों ने बलाचौर के वार्ड नंबर दो स्थित टीचर कालोनी में एक दैनिक अखबार के पत्रकार के घर को निशाना बनाया तथा वहां से 35 हजार रुपये की नकदी व सोने के आभूषण चोरी कर लिए। मामले की जानकारी घर वालों के वापस लौटने पर हुई। 

अकेले क्‍या कर लेंगे राहुल, कांग्रेसी ही नहीं पहुंचने देंगे कांग्रेस को सत्‍ता के पास

एक पुरानी कहावत है कि अकेला चना भाड़ नही फोड़ सकता। उत्तर प्रदेश के संदर्भ में यह कहावत कांग्रेस पर एक दम फिट बैठ रही है। राज्य के सारे कांग्रेसियों की यह सोच बन रही लगती है कि केवल राहुल गांधी ही उन की नैया पार लगा सकते हैं। उप्र कांग्रेस की यह सोच कांग्रेस पार्टी के लिए तो घातक है ही साथ ही राहुल गांधी के लिए भी शुभ नहीं है। राहुल गांधी राज्य में कांग्रेस की सत्ता में वापसी के लिए जितनी मेहनत कर रहे हैं कांग्रेस के लोग अगर उस की आधी भी महनत करें तो कांग्रेस की इस राज्य में सत्ता की वापसी सुनिश्चित हो सकती है, मगर कांग्रेस जन ऐसा नहीं कर रहे हैं।

म्‍यांमार में मीडिया पर से पाबंदी हटेगी!

यंगून : म्यांमार नया मीडिया कानून लागू करने की तैयारी में है। यह कानून करीब 50 साल पुरानी कड़ी पाबंदियों को हटा सकता है। म्यांमा की नई सरकार स्वतंत्र प्रेस की अनुमति देने की ओर बढ़ रही है जिससे लोकतंत्र समर्थक आंग सान सू च्यी के बारे में खबरें देना निषेध नहीं होगा। इसी सिलसिले …

बच्‍चों से जुड़े मामले में मीडिया के लिए हो दिशा निर्देश : दिल्‍ली हाई कोर्ट

नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय ने फलक एवं बच्चों से सम्बंधित ऐसे मामलों में तथ्यों का खुलासा करने एवं मीडिया को दिशा निर्देश देने के लिए बुधवार को राज्य सरकार से एक समिति का गठन करने के लिए कहा। न्यायालय ने ऐसे मामलों में मीडिया पर नियंत्रण के लिए दायर याचिका पर सुनवाई के दौरान यह निर्देश दिया। कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश ए.के. सीकरी एवं न्यायमूर्ति आर.एस. एंडलॉ की खंडपीठ ने मीडिया को दिशा निर्देश देने के लिए दिल्ली सरकार से एक समिति का गठन करने के लिए कहा जिससे इसकी प्रारम्भिक रपट सात मार्च तक आ सके।

हाई कोर्ट ने स्‍टार न्‍यूज एवं सहारा को नोटिस जारी किया

इलाहाबाद : इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने टीवी चैनलों, समाचार पत्रों एवं मीडिया को एक्जिट पोल करने एवं इसका प्रसारण करने पर रोक लगा दी है और कहा है कि मीडिया 12 जनवरी 12 को जारी निर्वाचन आयोग की अधिसूचना का कड़ाई से पालन करें। न्यायालय ने एक्जिट पोल का प्रसारण करने वाले टीवी चैनल, स्टार न्यूज व सहारा न्यूज नेटवर्क को नोटिस जारी की है और स्पष्टीकरण मांगा है कि क्यों न उनके विरुद्ध चुनाव आयोग की अधिसूचना का उल्लंघन करने पर कार्यवाही की जाय।

जस्टिस काटजू ने सरकारों से मीडिया का बकाया भुगतान करने को कहा

 प्रेस परिषद के अध्यक्ष जस्टिस मार्कंडेय काटजू ने केंद्र तथा राज्य सरकारों के सभी विभागों को मीडिया से जुड़ी बकाया राशि का तत्काल भुगतान करने को कहा है। सूत्रों ने बताया कि परिषद के अध्यक्ष ने सभी राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों को पत्र लिखकर कहा कि केंद्र, राज्य सरकारों व उनके विभागों को विज्ञापनों और मीडिया संस्थानों से जुड़े अन्य सभी बकाया का एक माह के भीतर भुगतान करना चाहिए, जो सरकार भुगतान करने में असफल रहती है, उसे 12 फीसद की दर से भुगतान करना पड़ेगा।

राकेश न्‍यायिक के पत्र पर बसीसीसी ने कलर्स को चेताया

कलर टीवी पर प्रसारित हुआ बिग बॉस सीजन फाइव में इं‍डो-कैनेडियन पोर्न स्‍टार सन्‍नी लियोन की इंट्री को लेकर खासा विवाद हुआ था. सन्‍नी की इंट्री को चैनल एवं कार्यक्रम की टीआरपी तथा सनसनी बढ़ाने के लिए कराई गई थी. सन्‍नी की बिग बॉस सीजन 5 में इंट्री से आहत बनारस के सामाजिक कार्यकर्ता राकेश श्रीवास्‍तव 'न्‍यायिक' ने इसकी शिकायत मिनिस्‍ट्री आफ इंफामरेशन एंड ब्रॉडकास्‍िटंग, प्रेसिडेंट सेक्रेटिरिएट और पीएमओ को किया था, जिसको संज्ञान में लेते हुए ब्राडकास्टिंग कंटेंट कम्‍पलेन काउंसिल ने जांच की कार्रवाई शुरू की.

बेनी ने पुनिया को बाहरी बताया, कांग्रेसी सकते में, शीतयुद्ध सतह पर

 बाराबंकी। केन्द्रीय इस्पात मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा जब भड़ास निकालने पर उतरते हैं तो उनकी जबान फिसल ही जाती है और दिल का गुबार जुबां पर आ ही जाती है। ऐसे में आज जब उन्होंने कांग्रेस सांसद पीएल पुनिया को पंजाब का निवासी बता डाला तो कांग्रेस की गुटबाजी भी उभरकर सामने आ गयी। फिलहाल पुनिया ने इस मुद्दे पर सधा जवाब देकर एक बार फिर यह साबित किया कि वे संगठन के दायरे में रहने वाले नेता हैं। कांग्रेस के बड़े नेताओं का दुरावपन प्रथम चरण के चुनाव के सम्पन्न होते ही सतह पर आता दिखाई दिया। यहां एक बार फिर बेनी प्रसाद वर्मा की बाराबंकी जनपद का नेता बनने की छटपटाहट प्रत्यक्ष तौर पर नजर आयी।

डीडी वन के कांट्रैक्‍चुअल कर्मचारियों ने एओ को धुना

प्रसार भारती के डीडी वन चैनल का कार्यालय आज घमासान का मैदान बन गया. दूरदर्शन के सैकड़ों कर्मचारियों ने निकाले जाने के विरोध में एडमिनिस्‍ट्रटिव ऑफिसर को धुन दिया. बाद में मामला किसी तरह सलटाया गया. अभी हालांकि एओ ने कोई कानूनी प्रकिया नहीं अपनाई है, पर तनाव का माहौल बना हुआ है. बताया जा रहा है कि डीडी वन के एक सौ से ज्‍यादा कर्मचारियों को कांट्रैक्‍ट खतम कर दिया गया है. यह निर्णय एओ ने लिया था, इसी से डीडी वन के कर्मचारी नाराज थे.

अखबार या ड्रामेबाजी का मंच : जागरण, हिंदुस्‍तान और उजाला ने की चंदौली एसपी के जांच की प्रायोजित खबर

बड़ी शर्म आती है मीडिया और मीडियाकर्मियों में बढ़ती चाटुकारिता पर. अखबार ना हुआ ड्रामा का मंच हो गया, जब जैसे मन करे नाटक कर लें. अब तक पेड न्‍यूज को लेकर ड्रामा होता था, अब पेड न्‍यूज नहीं मिल पा रहा है तो प्रायोजित न्‍यूज करके पत्रकारिता का छीछालेदर किया जा रहा है. और सारा खेल इसलिए कि कप्‍तान महोदय से नजदीकी बनी रहे. एकाध तबादला-पोस्टिंग कराकर कमाया-धमाया जा सके. गलत-सही मौकों पर उनका उपयोग किया जा सके. शायद अपने एसपी साहब भी प्रचार के पूरे भूखे हैं कि खबर ही प्रायोजित करा डाली. अब इस खबर को आयोग या कोई संस्‍थान कैसे पेड न्‍यूज बताएगा. किस आधार पर कोई कार्रवाई होगी?

हिंदुस्‍तान को सोनभद्र में झटका, प्रशांत को छोड़ पूरी टीम जनसंदेश टाइम्‍स पहुंची

हिंदुस्तान, बनारस की मुश्किल कम होने का नाम नहीं ले रही है. अभी तक बनारस से कई लोग इस्‍तीफा देकर जनसंदेश पहुंचे थे, अब खबर है कि हिंदुस्‍तान, सोनभद्र से भी कई लोग जनसंदेश से जुड़ गए. हिंदुस्‍तान की टीम में केवल एक पत्रकार रह गया है. वहां अखबार की स्थिति पहले से ही दयनीय थी, एक बार भी हालत पतला हो गया है. खबर है कि विजय विनीत एवं जुल्‍फेकार हैदर के बाद शशिंकात एवं राजेश कुमार पाठक भी जनसंदेश टाइम्‍स से जुड़ गए हैं. ब्‍यूरो कार्यालय में अब केवल प्रशांत रहे गए हैं. प्रबंधन के सामने सोनभद्र को कंट्रोल करना मुश्किल होता जा रहा है.

पेड न्‍यूज का मामला है टीम अन्‍ना की खबरों से किनारा!

: भ्रष्‍टाचार की बजाय लैपटॉप की बातें कर रही है मीडिया : यूपी में चुनावी सरगर्मी चरम पर है। पहले चरण का मतदान भी आज हो रहा है। स्वयं को नंबर एक बताने वाले बड़े अखबार से लेकर छोटे समाचार पत्र चुनाव कवरेज कर रहे हैं। इस दौरान कई नये चैनलों और अखबारों के होर्डिंग भी राजधानी लखनऊ सहित प्रदेश के कई शहरों में लग गये हैं। यह समझना कठिन नहीं है कि चुनावी मौसम में नये अखबारों और चैनलों की मैजूदगी का उद्देश्य क्या है। जो नये चैनल दिख रहे हैं उन पर केवल पार्टी नेताओं के लम्बे इंटरव्यू और एक दो चुनावी सभाओं का पूरा प्रसारण दिन भर दिखाया जा रहा है।

महुआ ग्रुप पर सीबीआई की टीम ने मारा छापा!

महुआ न्‍यूज से खबर है कि एक बार फिर सीबाआई टीम ने प्रज्ञा एवं महुआ न्‍यूज की बिल्डिंग पर छापा मारा. दर्जनों की संख्‍या में पहुंचे अधिकारियों ने दोनों बिल्डिंगों को अपने कब्‍जे में ले लिया. इसके बाद उन्‍होंने किसी के भी अंदर-बाहर जाने पर रोक लगा दिया. बताया जा रहा है कि दोनों बिल्डिंगों में जमकर तलाशी ली गई. सीबीआई अधिकारी घंटों कम्‍प्‍यूटर तथा कागजात की जांच-पड़ताल की. बताया जा रहा है कि सीबीआई अधिकारियों के हाथ कुछ अहम सबूत भी लगे हैं. ये छापेमारी क्‍यों की गई है इसकी जानकारी नहीं हो पाई है.

हिंदुस्‍तान, बनारस ने अपने बिछड़े यारों से बिछड़ने का कारण पूछा

: प्रोफार्मा भरवाकर पूछा गया हाल : हिंदुस्‍तान, बनारस को लेकर प्रबंधन परेशान है. उसकी समझ में नहीं आ रहा कि आखिर लोग क्‍यों इस अखबार से भाग रहे हैं. कांट्रैक्‍ट होने के बावजूद पिछले दिनों अखबार से इस्‍तीफा देने वाले लोगों को प्रबंधन ने बुलाया था. सभी को एक प्रोफार्मा दिया गया, जिसमें हिंदुस्‍तान छोड़ने के तीन कारणों समेत कई सवाल पूछे गए थे. हिंदुस्‍तान की अच्‍छाइयों तथा बुराइयों के बारे में पूछा गया था. उल्‍लेखनीय है कि पिछले दिनों हिंदुस्‍तान छोड़कर कई लोगों ने जनसंदेश टाइम्‍स ज्‍वाइन कर लिया था.

गोरखपुर में अपने पाठकों को गुरुवारीय देगा जनसंदेश टाइम्‍स

गोरखपुर में जनसंदेश टाइम्‍स अभी ठीक से भले ही लांच न हुआ हो, पर उसने घोषणा की है कि अब वह प्रत्‍येक गुरुवार को गुरुवारीय निकालेगा. इसकी सूचना अखबार के पेज नम्‍बर तीन पर प्रकाशित की गई है. गोरखपुर के साहित्‍यकारों के लिए यह खुशखबरी जैसी है. उल्‍लेखनीय है कि जब शैलेंद्र मणि त्रिपाठी दैनिक जागरण के सर्वेसर्वा हुआ करते थे तब गुरुवारीय नाम से एक टैबलाइड अखबार दैनिक जागरण के साथ हर गुरुवार को मुफ्त दिया जाता था.

इलेक्‍ट्रानिक मीडिया के एक्जिट पोल दिखाने पर तीन मार्च तक रोक

नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश, गोवा, पंजाब, उत्तराखंड और मणिपुर में विधानसभा चुनाव संपन्न होने तक एक्जिट पोल पर प्रतिबंध लगा दिया है जो तीन मार्च तक प्रभावी रहेगा। आयोग ने मंगलवार को जारी एक अधिसूचना में इलेक्ट्रानिक मीडिया पर किसी प्रकार के ओपिनयन पोल पर भी रोक लगा दी है। जन प्रतिनिधित्व कानून 1951 की धारा 126 के तहत यह प्रतिबंध मतदान समाप्त होने के 48 घंटे पहले से प्रभावी होगा।

रोडवेज को भारी पड़ा पत्रकार राजेंद्र गुंजल को सीट न देना

अजमेर। वोल्वो बस में रिजर्वेशन के बावजूद यात्री को सीट उपलब्ध नहीं कराना राजस्थान रोडवेज को महंगा पड़ गया। रोडवेज को सेवा में कमी और लापरवाही का दोषी मानते हुए उपभोक्ता मंच ने पीड़ित यात्री को साढ़े पांच हजार रुपए हर्जाना चुकाने के आदेश दिए हैं।

सभा में मायावती ने कहे अपशब्‍द, आयोग ने सीडी मंगाई

गोरखपुर की एक सभा में बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती द्वारा मंच से अपशब्द (किसी ने पालतू कुत्ता भेज दिया होगा) कहने को चुनाव आयोग ने गंभीरता से लिया है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय ने सोमवार रात में ही मामले की सीडी गोरखपुर प्रशासन से मांगी थी। मंगलवार को इसे चुनाव आयोग को भेज दिया गया। गौरतलब है कि सोमवार को मुख्यमंत्री मायावती की सभा में एक महिला ने विरोध प्रदर्शित करने का प्रयास किया था। इस पर मायावती ने विरोधी दलों पर आरोप लगाते हुए अपशब्द का प्रयोग किया था। मीडिया से घटना का संज्ञान लेकर मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने इसकी वीडियो फिल्म मंगाई थी। मुख्य निर्वाचन अधिकारी उमेश सिन्हा ने बताया कि उक्त वीडियो उन्होंने देखा नहीं है। उसे आयोग को भेजा गया है। वहां से निर्देश आने पर ही आगे कोई कदम उठाया जाएगा।

सिद्धार्थनगर, बस्‍ती में बारिश, भाजपा-कांग्रेस के हाथ-पांव फूले

गोरखपुर : पहले चरण के हो रहे विधान सभा के चुनाव में मौसम खराब हो गया है. खराब मौसम के चलते अगड़ी जातियों के मतदाता घरों से नहीं निकल रहे हैं. अनुमान लगाया जा रहा है कि इसका खामियाजा भाजपा एवं कांग्रेस पार्टी को भुगतना पड़ेगा, जिनका मतदाता वर्ग अगड़ी जातियां मानी जाती हैं. बस्ती और सिद्धार्थनगर में सुबह ही बरसात शुरू हो गयी. स्वर्ण मतदाता घरों से नही निकल रहे है, नीचे तबके के लोगों में मतदान के प्रति काफ़ी उत्साह नज़र आ रहा है. वे लोग बरसात में भीग कर भी बूथों पर पहुंच रहे हैं. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में पहले चरण के लिए मतदान शुरू हो गया है.

बाराबंकी में छह सीटों के लिए मतदान शुरू, 20 लाख मतदाता करेंगे 110 प्रत्‍याशियों के भाग्‍य का फैसला

बाराबंकी। विधानसभा चुनाव के प्रथम चरण में होने वाले चुनाव का मतदान कल बुधवार को होगा। इस दौरान जिले की 6 विधानसभा सीटों के 110 दलीय व निर्दलीय प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला कुल 19 लाख 90 हजार 281 मतदाताओं के हाथों होगा। चुनाव को सकुशल सम्पन्न कराने के लिए 2027 मूल व कुल 2099 मतदेय स्थलों पर 20 हजार से ज्यादा सुरक्षाकर्मी तैनात किये गये हैं। जबकि पूरे जिले को सुरक्षा के लिहाज से तीन सुपर जोन व 150 सेक्टरों में बांटा गया है।

इक्‍वाडोर में विवादास्‍पद मीडिया कानून लागू

क्विटो। इक्वाडोर में एक विवादास्पद कानून अस्तित्व में आया है जो मीडिया को ऐसी खबरें प्रसारित और प्रकाशित करने से रोकेगा जिन्हें सरकारी अधिकारी किसी खास उम्मीदवार या विचारधारा के पक्ष में मानते हैं। इक्वाडोर में 2013 में राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव होने हैं। वामपंथी राष्ट्रपति राफेल कोरीया फिर से देश के शीर्ष पद पर आरूढ़ होने के लिए चुनावी समर में उतर सकते हैं। राफेल सार्वजनिक तौर पर मीडिया से भिड़ते रहे हैं और आलोचकों का आरोप है कि वेनेजुएला के राष्ट्रपति ह्यूगो शावेज के करीबी माने जाने वाले इस वामपंथी अर्थशास्त्री ने अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को कम किया है।

सीआईसी ने सरकार से कहा प्रसार भारती की रिपोर्ट सार्वजनिक करे

नई दिल्ली : केंद्रीय सूचना आयोग ने सरकार को निर्देश दिया है कि वह प्रसार भारती के कामकाज पर सीवीसी की रिपोर्ट को सार्वजनिक करे। इस रिपोर्ट में प्रसार भारती के पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी बी एस लाली को दोषी बताया गया है। प्रसारण अधिकारों के आवंटन में कथित धांधली और वित्तीय कुप्रबंधन का ब्यौरा देने वाली इस रिपोर्ट को सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने यह कहते हुए सार्वजनिक करने से इनकार कर दिया था कि इससे जांच प्रक्रिया बाधित होगी।

राजनाथ तिवारी जनसंदेश टाइम्‍स पहुंचे, शशिकांत का हिंदुस्‍तान से इस्‍तीफा

आई नेस्‍क्‍ट, बनारस से इस्‍तीफा देने वाले सिटी इंचार्ज राजनाथ तिवारी ने अपनी नई पारी जनसंदेश टाइम्‍स से शुरू कर दी है. उन्‍हें यहां चीफ सब एडिटर बनाया गया है. माना जा रहा है कि मानव संसाधन की कमी से जूझ रहे जनसंदेश टाइम्‍स को राजनाथ तिवारी के आने से मजबूती मिलेगी. राजनाथ तिवारी पिछले लगभग 30 सालों से बनारस की पत्रकारिता में रमे हुए हैं. जनमुख से करियर शुरू करने वाले तिवारी दैनिक जागरण, अमर उजाला तथा हिंदुस्‍तान होते हुए आई नेक्‍स्‍ट पहुंचे थे.

फेसबुक, गूगल, याहू को कोर्ट में घसीटने वाले मुफ्ती की वेबसाइट पर साइबर हमला

नई दिल्ली : फेसबुक, गूगल, याहू तथा अन्य वेबसाइट को कथित आपत्तिजनक सामग्री के मामले में अदालत में घसीटने वाले इस्लामिक विद्वान की वेबसाइट से किसी ने छेड़छाड़ कर इसे विकृत बना दिया है और इस पर संदेश लिखा है कि सोशल नेटवर्किग साइट को लेकर इतनी नाराजगी ठीक नहीं। याचिकाकर्ता मुफ्ती ऐजाज अरशद कासमी ने बताया कि उनकी वेबसाइट डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डॉट फतवाऑनलाइन डॉट इन पिछले एक सप्ताह से विकृत है। अब उन्होंने इसके खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराने की योजना बनाई है।

जस्टिस काटजू का ट्विटर एकाउंट डिलीट

कुछ दिन पहले ही प्रेस परिषद के अध्‍यक्ष पूर्व जस्टिस मार्कंडेय काटजू ट्विटर पर आए थे. उनके ट्विटर पर आते ही तमाम लोग उनके फालोवर बन गए. उन्‍होंने अपनी आलोचना पर तार्किक जवाब देकर लोकतांत्रिक सोच की मिसाल प्रस्‍तुत की. अपने तर्कों से कई लोगों को माफी मांगने पर भी विवश किया. खबर है कि …

अमर उजाला, देहरादून के चीफ रिपोर्टर बने पंकज प्रसून, जितेंद्र डेस्‍क पर गए

अमर उजाला, देहरादून से खबर है कि यहां कुछ आतंरिक बदलाव किए गए हैं. अब तक चीफ रिपोर्टर की जिम्‍मेदारी संभाल रहे जितेंद्र अंथवाल को हटाकर डेस्‍क पर भेज दिया गया है. उनकी जगह पंकज प्रसून को चीफ रिपोर्टर बना दिया गया है. यह आदेश तत्‍काल प्रभाव से लागू हो गया है. सूत्रों का कहना है कि जितेंद्र आज रुटीन मीटिंग के दौरान संपादक विजय त्रिपाठी से चीफ रिपोर्टर की जिम्‍मेदारी मुक्‍त करने को कहा. बताया जा रहा है कि वो संपादक पर दबाव बनाने के लिए अक्‍सर इसी तरह की बातें कहते थे. जितेंद्र के इन क्रियाकलापों से अखबार का काम भी प्रभावित होता था.

आई नेक्‍स्‍ट, बनारस से सिटी चीफ राजनाथ तिवारी का इस्‍तीफा

आई नेक्‍स्‍ट, बनारस से खबर है कि वरिष्‍ठ पत्रकार एवं सिटी इंचार्ज राजनाथ तिवारी ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे जागरण ग्रुप के इस बच्‍चा अखबार की लांचिंग के समय से जुड़े हुए थे. सूत्रों का कहना है कि अखबार के संपादकीय प्रभारी विश्‍वनाथ गोकर्ण ने राजनाथ तिवारी के सामने इस तरह की स्थिति पैदा कर दी थी कि उन्‍होंने इस्‍तीफा देना ही बेहतर समझा. राजनाथ तिवारी लगभग तीन दशकों से बनारस की पत्रकारिता में सक्रिय हैं तथा तेजतर्रार पत्रकार माने जाते हैं.

दिल्‍ली को कांग्रेस और यूपी को मायावती लूट रही हैं : गडकरी

देवरिया। कांग्रेस पार्टी दिल्ली लूट रही हैं और मायावती उत्तर प्रदेश लूट रही है, और यह सब हो रहा है आप मतदाता लोगों की वजह से। आप लोगों ने ऐसी ही सरकार चुनी है जो हर जगह लूट खसोट कर रही है। यह कहना है भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष नितिन गडकरी का। वे मंगलवार को प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सूर्य प्रताप शाही के पथरदेवा विधान सभा में देसही देवरिया स्थित पकड़ी वीरभद्र इण्टर कालेज के मैदान एक चुनावी जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जब तक देश में जातिवादी व्यवस्था रहेगी तब तक न तो देश से गरीबी समाप्त होगी और न ही देश का विकास होगा।

गिरीश गुरनानी देहरादून, दिनेश पाठक कानपुर और विशेश्‍वर कुमार भागलपुर जाएंगे

: रामेंद्र सिन्‍हा भागलपुर से पटना भेजे गए : हिंदुस्‍तान से बड़ी खबर आ रही है. चार संपादक इधर-उधर किए गए हैं. भड़ास ने पहले ही सूचना दी थी कि दिनेश पाठक का अगले स्‍टेशन का टिकट कट गया है और गिरीश गुरनानी देहरादून के नए संपादक बनाए जाने वाले हैं. अब खबर बिल्‍कुल पुष्‍ट हो गई है कि गिरीश देहरादून में हिंदुस्‍तान के संपादक होंगे. दिनेश पाठक को हिंदुस्‍तान, कानपुर का संपादक बनाकर भेज दिया गया है. अब वे कानपुर को मजबूती देने का काम करेंगे.

दूसरे चरण में दिखेगा मनी-मसल एवं जातीय पॉवर का जोर

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव का दूसरा चरण काफी अहम है।‘मनी’ और ‘मसल पॉवर’ वाला यह क्षेत्र जातीय समीकरण के लिए भी जाना जाता है। यहां 11 फरवरी को पूर्वाचल के नौ जिलों के एक करोड़ से अधिक मतदाता करीब ग्यारह सौ उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे। बसपा के हाथी को पिछली बार यहां की जनता ने खूब पुचकारा था। नतीजतन बसपा के खाते में करीब आधी सीटों पर जीत दर्ज हुई। समाजवादी पार्टी यहां दूसरे और भारतीय जनता पार्टी अपने गठबंधन के साथी जनता दल यू के साथ तीसरे स्थान पर रही थी। राहुल गांधी इस बार पूर्वांचल से काफी उम्मीद लगाए बैठे हैं, लेकिन 2007 के चुनाव में पूर्वांचल कांग्रेस के लिए बुरे सपने जैसा रहा था। दूसरे चरण में जिन नौ जिलों की 59 सीटों पर मतदान होना है उसमें अधिकतर क्षेत्रों में ब्राह्मण मतदाताओं का दबदबा है। पिछड़ों तथा अनुसूचित जातियों का भी यह गढ़ माना जाता है। यही वजह है कि 2007 में बसपा का दलित-ब्राह्मण कार्ड ने यहां खूब चला।

इलाहाबाद में आचार संहिता के उल्‍लंघन में बसपा व सपा प्रत्‍याशी पर गाज गिरी

: बसपा प्रत्‍याशी स्‍वामी प्रसाद मौर्य का रिश्‍तेदार : इलाहाबाद जिले के 254 फाफामऊ विधानसभा क्षेत्र में चुनाव आचार संहिता की खुलेआम जमकर धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। आचार संहिता उल्लंघन के मामले में बसपा प्रत्याशी गुरुप्रसाद मौर्य और सपा के पूर्व मंत्री अंसार अहमद के तीन प्रचार वाहनों को चुनाव आयोग के अधिकारियों ने सीज कर दिया। धरपकड़ की यह कार्रवाई 7 फरवरी को शाम साढ़े चार बजे इलाहाबाद-लखनऊ राजमार्ग पर नवाबगंज में की गई। इन वाहनों को नवाबगंज थाने में लाकर सीज किया गया है।

शशांक शेखर नोएडा पहुंचे और हलचल शुरू, गिर सकता है एक विकेट

लखनऊ से नोएडा शशांक शेखर त्रिपाठी पहुंच गए हैं। उनके पहुंचने के साथ ही नोएडा में परिवर्तन शुरू हो गया है। शशांक शेखर त्रिपाठी के आते ही जागरण डाट काम को जागरण पोस्ट वाली जगह मुहैया करा दी गई है और बताया जा रहा है कि यह सिर्फ इसलिए किया गया है क्योंकि जागरण डॉट काम में कोई केबिन नहीं थी और शशांक शेखर के कद को देखते हुए उन्हें सामान्य व्यक्ति की तरह कैसे बैठाया जा सकता था। यानी तुष्टिकरण के लिए उन्हें जागरण पोस्ट वाली जगह मुहैया करा दी गई है। इसी केबिन की किचकिच में संभवतः एक दिन जागरण पोस्ट के संपादक अविनाश झा अपनी झिझक मुहैया कराते हुए नजर आ रहे हैं।

”हमलोगों को दो माह से वेतन नहीं मिला, विजय प्रकाश सिंह गाडि़यां बदल रहे हैं”

सर जी नमस्ते, आप के माध्यम से लोगों तक यह जानकारी देना चाहता था कि हिन्दी पायनियर हो या इंग्लिश पायनियर, दोनों जगह दो महीने का वेतन रूका हुआ है। काम भी जम कर लिया जा रहा है और वेतन नहीं दिया जा रहा है। लोग अगर वेतन मांग रहे हैं तो उनसे कहा जा रहा है जहां मिल जाए वहां चले जाओ। वेतन देने में विजय प्रकाश लापरवाही कर रहे हैं और वेतन मांगने पर धमकी देते हैं। इतना ही नहीं वेतन मरने के चक्कर में लोग कहीं दूसरी जगह भी नहीं जा पा रहे हैं। कई लोग छोड़ना चाहते हैं पर छोड़ नहीं पा रहे हैं।

हॉकरों की हड़ताल, उदयपुर में नहीं बंटा पत्रिका और भास्‍कर

उदयपुर में दैनिक भास्‍कर और राजस्‍थान पत्रिका आज अपने पाठकों तक नहीं पहुंच पाया. दोनों अखबारों की एक भी प्रतियां वितरित नहीं हो पाईं. कमिशन बढ़ाने की मांग को लेकर हॉकरों ने हड़ताल कर दी, जिससे अखबार लदे ट्रक ही इन बाहर नहीं निकल पाए. पिछले दो दिनों से कमिशन बढ़ाने को लेकर हॉकर तथा प्रबंधन के बीच विवाद चल रहा था. आज वह विवाद बड़े रूप में सामने आया और हॉकरों ने हड़ताल कर दी. खबर है कि आज फिर दोनों अखबारों के प्रबंधन तथा हॉकरों के प्रतिनिधियों के बीच इस मामले को लेकर बातचीत हो रही है.

यूपी चुनाव : काले धन पर अपनी नीति और नीयत दिखा राहुल ने गंवा दिया अवसर

कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी ने सोमवार को वाराणसी में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में जो कुछ भी मीडिया के सामने कहा उससे राहुल गांधी की नीति, दर्शन और भविष्य की योजनाओं को आसानी से समझा जा सकता है। राहुल की भाव-भंगिमा और भाषाशैली सीधे तौर पर यह इशारा कर रही थी कि उनका मिशन 2012 मंजिल से पहले ही हांफने लगा है। प्रथम चरण की वोटिंग से दो दिन पहले चुनाव अभियान के बीच राहुल का प्रेस कांफ्रेंस करना किसी खास रणनीति का हिस्सा है। राहुल ने बड़ी बेबाकी से पत्रकार बंधुओं के सवालों का जवाब दिया, जिससे उनकी पार्टी का ग्राफ ऊपर उठ सकता था, या फिर चुनावों में तात्कालिक लाभ मिल सकता था, लेकिन काले धन के अहम सवाल पर उन्होंने जिस तरह गोल-मोल जवाब दिया, उससे कांग्रेस की नीति और नीयत दोनों का एकबार फिर खुलासा हो गया।

बीबीसी के लिए ईरान में काम करने वाले कई गिरफ्तार

तेहरान : बीबीसी की फारसी सेवा के लिए गोपनीय तरीके से काम कर रहे कई स्थानीय लोगों को ईरान में गिरफ्तार कर लिया गया है। यह जानकारी समाचार एजेंसी मेहर ने जारी की है। एक सूत्र के अनुसार,ऐसे कई लोगों को सुरक्षा बलों ने गिरफ्तार कर लिया है, जिन्हें बीबीसी के लिए ईरान में खबरें और सूचनाएं जुटाने के लिए कहा गया था। सूत्र ने कहा है कि गिरफ्तार लोगों को बीबीसी से बड़ी मात्रा में धनराशि प्राप्त हुई थी। हालांकि गिरफ्तार लोगों की सही संख्या के बारे में जानकारी नहीं मिल पाई है।

कवरेज करने गए पत्रकारों को भी पुलिस ने पीटा, कैमरा छीना

नडाला से खबर है कि एक धरने-प्रदर्शन को कवर करने गए मीडियाकर्मियों पर भी पुलिस ने लाठियां चटकाईं. उनसे दुर्व्‍यवहार किया गया तथा एक पत्रकार का कैमरा छीन लिया गया. इससे पत्रकारों में रोष है. खबर के अनुसार जगतमीत इंडस्‍ट्रीज हमीरा के पांच हजार से ज्‍यादा कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर दो दिन से धरनारत थे. प्रबंधक एवं कर्मचारी नेताओं में समझौता नहीं हो पाया, जिससे कर्मचारियों ने हड़ताल शुरू कर दी. प्रबंधकों ने पुलिस को बुला लिया.

फाक्‍स ट्रैवलर ने अब बंगाली भाषा चैनल लांच किया

कोलकाता। भारत के क्षेत्रीय टेलीविजन बाजार में बड़ा निवेश करते हुए ट्रैवल और लाइफस्टाइल चैनल फॉक्स ट्रैवलर ने बंगाली भाषा में भी चौबीसों घंटे की अपनी सेवा आरंभ कर दी है। फॉक्स इंटरनेशनल चैनलों की उपाध्यक्ष देवार्पिता बनर्जी ने कहा कि क्षेत्रीय स्तर पर निवेश हमेशा से हमारा लक्ष्य रहा है। हम दर्शकों भाषा के जितने नजदीक होंगे उनके लिए हमें और प्रसारित सामग्री को समझना आसान होगा। इसी क्रम में हमने बंगाली भाषा में सेवा की शुरुआत की है। 

गिरीश गुरनानी ने हिंदुस्‍तान ज्‍वाइन किया, बन सकते हैं देहरादून के संपादक

अमर उजाला, हिमाचल के प्रभारी संपादक पद से इस्‍तीफा देने वाले गिरीश गुरनानी ने हिंदुस्‍तान ज्‍वाइन कर लिया है. सूत्रों का कहना है कि गिरीश को देहरादून का संपादक बनाया जा सकता है. हिंदुस्‍तान के मौजूदा संपादक दिनेश पाठक की रवानगी को लेकर पहले से ही खबरें आ रही थीं. अमर उजाला, मुरादाबाद के संपादक नीरजकांत राही के हिंदुस्‍तान, देहरादून का संपादक बनाए जाने की चर्चाएं थीं, पर अब गिरीश गुरनानी का नाम आ गया है.

…तो माफिया अतीक मांग रहा है दरियाबाद में राकेश के लिए वोट!

: बेनी के एहसान का वास्ता दे गद्दी समाज को सुना चुका है फरमान : बाराबंकी। केन्द्रीय इस्पात मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा अपने पुत्र राकेश वर्मा को दरियाबाद से जिताने के लिए आज कुछ भी करने को तैयार हैं। खबर है कि वर्मा ने क्षेत्र के गद्दी समाज के लोगों को कांग्रेस के पाले में लाने के लिए पूर्वांचल के माफिया अतीक अहमद का भी सहयोग लेने से कोई गुरेज नहीं किया है? इसके लिए बकायदा माफिया से नेता बने इस तारणहार ने अपने समाज के लोगों को बुला-बुलाकर बेनी के एहसान का वास्ता देकर उन्हें कांग्रेस का समर्थन करने का फरमान भी सुनाया।

सोशल मीडिया की ताकत : ट्विटर के बाद फेसबुक पर आने की तैयारी में पीएमओ

नई दिल्‍ली : ट्विटर पर मौजूदगी दर्ज कराने के दो हफ्ते बाद प्रधानमंत्री कार्यालय अब फेसबुक पर उतरने की तैयारी में है। ट्विटर अकाउंट @ पीएमओ इंडिया से 38,500 लोग जुड़ गए हैं। अब पीएमओ में सोशल मीडिया के जरिए इसे संचालित करने के लिए एक छोटा दफ्तर खोला जाएगा। सूत्रों के मुताबिक पीएमओ फेसबुक के विकल्प पर भी विचार कर रहा है।

चंडीगढ़ में अमर उजाला के रीजनल आफिस का उद्घाटन

: ताकत के साथ मीडिया की जिम्मेदारी बढ़ी – शिवराज : पंजाब के गवर्नर और चंडीगढ़ के प्रशासक शिवराज पाटिल ने कहा है कि ताकत बढ़ने के साथ मीडिया की जिम्मेदारी भी बढ़ी है। अखबारों को इस जिम्मेदारी को पूरी निष्ठा से निभाना चाहिए। श्री पाटिल सोमवार शाम अमर उजाला चंडीगढ़ केंद्र के सेक्टर-9 डी स्थित नए रीजनल आफिस के शुभारंभ अवसर पर बोल रहे थे। इससे पहले उन्होंने मंत्रोच्चार के बीच नारियल तोड़ और फीता काटकर नए आफिस में रीजन के विशिष्टजनों के साथ प्रवेश किया।

गोरखपुर कांग्रेस प्रत्‍याशी के बेटे पर फायरिंग, जदयू विधायक आचार संहिता के उल्‍लंघन में गिरफ्तार

गोरखपुर : बस्ती के कप्तानगंज विधानसभा क्षेत्र के गांव एकडंगवा के पास अज्ञात बदमाशों ने कांग्रेस प्रत्याशी राणा कृष्ण किंकर सिंह के बेटे राणा नागेन्द्र प्रताप सिंह और उनके समर्थकों पर गोलियों की बौछार कर दी। सोमवार रात हुए हमले वह बाल-बाल बच गए। उनकी सफारी क्षतिग्रस्त हो गई। बदमाशों ने करीब पांच-छह राउंड फायरिंग की है। वारदात की जानकारी के बाद तत्काल मौके पर एसपी और प्रेक्षक पहुंच गए। राणा नागेन्द्र सिंह के पिता राणा कृष्ण किंकर सिंह कप्तानगंज विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी हैं। पिता के पक्ष में प्रचार करने के लिए नागेन्द्र कुछ समर्थकों के साथ एकडंगवा गांव गए थे।

बनारस में सिटी से लांच हुआ जनसंदेश टाइम्‍स, डाक के लिए अभी इंतजार

जनसंदेश टाइम्‍स ने सोमवार को बनारस में अपना अखबार लांच कर दिया है. अखबार की लांचिंग सिर्फ सिटी में हुई है. बनारस के ग्रामीण क्षेत्र या डाक एडिशनों की लांचिंग नहीं की गई है. 20 हजार प्रतियों के साथ लांच हुए अखबार को बनारस भर में बांटा गया. इस दौरान कंपनी के एमडी अनुज पोद्दार एवं मैनेजर अनिल पाण्‍डेय भी वाराणसी में मौजूद थे. पहले दिन यह अखबार 20+4 पेज का प्रकाशित हुआ. पर अखबार में कुछ भी ऐसा नहीं दिखा जिससे कि लोग इसे हाथोंहाथ ले सकें.

चैनलों पर दिखाए जाने वाले प्री एक्जिट पोल रोकने के लिए पीआईएल दाखिल

 इलाहाबाद : इलाहाबाद उच्च न्यायालय के समक्ष विधानसभा चुनाव का एक्टिज पोल व जनता की राय के प्रसारण व टीवी चैनलों पर दिखाए जाने पर रोक लगाने की मांग में जनहित याचिका दाखिल की गई है। याची का कहना है कि जनप्रतिनिधित्व अधिनियम की धारा 126 (ए) के अंतर्गत इसकी मनाही की गई है। इसके बावजूद टीवी चैनलों पर उनका प्रसारण किया जा रहा है जो आपराधिक कृत्य है। याचिका की सुनवाई 8 फरवरी को होगी।

पत्रकार से मारपीट करने वाले एएसआई गिरफ्तार

बिहार के खगड़िया जिले में एक स्थानीय पत्रकार के साथ मारपीट के तेरह साल पुराने मामले में यहां की निचली अदालत के आदेश पर सोमवार को एक एएसआई को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। खगड़िया के प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी जेपी किस्कू के आदेश पर एएसआई पीएन सिन्हा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। सिन्हा अभी मुंगेर जिले के तारापुर थाना में नियुक्‍त हैं।

अहमद बुखारी मुसलमानों के एकमात्र रहनुमा नहीं

दिल्ली की जामा मस्जिद के इमाम अहमद बुखारी ने मुसलमानों से समाजवादी पार्टी को वोट देने की अपील करना निहायत की गैरजिम्मेदाराना हरकत है। वह भी उस सूरत में जब उनका दामाद भी सपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहा है। अगर उनका दामाद सपा के बजाय किसी और पार्टी से चुनाव लड़ता, तो क्या तब भी वह सपा को जिताने की अपील मुसलमानों से करते? क्या बुखारी देश या उत्तर प्रदेश के मुसलमानों के एकमात्र रहनुमा हैं? उन्हें यह हक किसने दिया कि वह मुसलमानों को किसी विशेष पार्टी के हक में वोट देने की अपील करें? किसी भी व्यक्ति को यह हक है कि वह चाहे किसी को भी अपना वोट दे, किसी दूसरे का हस्तक्षेप वह क्यों बर्दाश्त करे? अपील करने से पहले बुखारी को इसका खुलासा करना चाहिए था कि उन्होंने किन मुसलिम मुद्दों और मांगों को मुलायम सिंह यादव के सामने रखा? हालांकि उनके वालिद कई पार्टियों को जिताने की अपील मुसलमानों से कर चुके हैं। पार्टी ने जीतने के बाद मुसलमानों के हक में क्या किया, यह आज तक किसी को पता नहीं है।

यूपी में वृक्ष तले कामकाज निपटा रहा एक आईपीएस

सिस्‍टम में रह कर सिस्‍टम की गंदगी के‍ खिलाफ लड़ने के लिए जाने जाते हैं आईपीएस अधिकारी अमिताभ. ईमानदारी एवं दिलेरी के चलते मुश्किलें भी झेलते रहते हैं. परेशान भी होते हैं, पर लड़ना कभी नहीं छोड़ते. जेन्‍यूइन मुद्दों पर लड़ने के चलते वे हमेशा से सरकार एवं ताकतवर नौकरशाहों के निशाने पर रहे हैं. सस्‍पेंड किए गए, बिना महत्‍व की जगहों पर भेजे गए, पढ़ने के लिए छुट्टी नहीं दी गई, पर इन्‍होंने कभी हार नहीं मानी. लड़े और जीते. सिस्‍टम को मजबूरी में इन्‍हें बहाल करना पड़ा.

अंबिका से पंगा पड़ा महंगा, हरीश खरे को नहीं मिल रहा ठौर!

नई दिल्ली। कल तक देश के वज़ीरे आज़म के नाक का बाल बने रहे हरीश खरे आज आशियाने के लिए दर दर भटकने पर मजबूर हैं। स्वाभिमान से लवरेज़ हरीश खरे अपनी प्रतिष्ठा को अक्ष्क्षुण रखने की खातिर अब जमीन तलाश रहे हैं। कांग्रेस की राजमाता श्रीमती सोनिया गांधी से मिलने का सपना मन में लिए हरीश खरे अब कांग्रेस में सत्ता और शक्ति के शीर्ष केंद्र 10, जनपथ (सोनिया गांधी का सरकारी आवास) में घुसने के लिए सीढ़ी तलाश रहे हैं।

अनिल मिश्रा के बाद रतन सिंह, आलोक एवं अनूप भी फोर्स लीव पर, महंगी पड़ी माफिया की खबर

: बनारस में भुअरा गैंग के भविष्‍य को लेकर चर्चा-ए-आम : बनारस और पेड न्‍यूज में बहुत गहरा याराना है. अखबरों में खबरें मैनेज ना हो या पेड न्‍यूज ना छपे यह संभव ही नहीं है. यहां हर अखबार में ऐसे लोगों का एक मजबूत सिंडिकेट तैनात है, जो खबरों को मैनेज करने से लेकर मेनूपुलेट करने का काम करता है. खासकर पेड न्‍यूज के मामले को लेकर बनारस में सबसे ज्‍यादा हिंदुस्‍तान और दैनिक जागरण ही बदनाम हैं. इन दोनों ही अखबारों में एक बड़ा सिंडिकेट है, जो इस काम को प्रोफेशनल तरीके से अंजाम देता है.

गूगल, फेसबुक समेत 22 साइटों को पन्‍द्रह दिन की मोहलत

नई दिल्ली: सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट पर कंटेट के मसले पर अदालत ने नेटवर्किंग साइट से 15 दिनों के लिखित जवाब दाखिल करने का को कहा है। सोमवार को हुई सुनवाई के दौरान अदालत ने इन कंपनियों से 1 मार्च तक रिपोर्ट पेश करने को कहा है। इस बीच सोमवार को फेसबुक इंडिया ने दिल्ली की एक अदालत को वेबसाइट से आपत्ति जनक सामग्री हटाने संबंधी उसके आदेश के अनुपालन से संबंधित रिपोर्ट दी। अदालत ने फेसबुक तथा 21 अन्य वेबसाइट को आपत्तिजनक सामग्री हटाने के निर्देश दिए थे।

हे भगवान! उत्‍तराखंड को नीतीश या परमार जैसा सीएम देना

उत्तराखंड के भाग्य का फैसला ईवीएम में बंद है. रिजल्ट 6 मार्च को बाहर निकलेगा पर तब तक मैं राज्य के एक वोटर, पत्रकार व शुभ चिन्तक के नाते खुदा व उत्तराखंड के देवताओं से प्रार्थना तो कर ही सकता हूँ कि इस गरीब राज्य को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार या फिर हिमाचल प्रदेश के जनक कहे जाने वाले पहले मुख्यमंत्री डा. यशवंत सिंह परमार जैसा मुख्यमंत्री देना जो पहाड़ में रह रहे बीमार महिलाओं का इलाज व खचाखच भरी जीपों में रोज़गार की तलाश में शहरों की ओर भागते युवाओं को वहीं रोक सके. मेरे पास कई युवा आते हैं जो दो हजार रुपये महीने की नौकरी के जुगाड़ के लिए भी मिन्‍नतें करते हैं यानी हमारी सरकार एक युवक के लिए उसके गांव के निकट दो हजार रुपये की व्यवस्था तक नहीं कर पायी जो अफसोसजनक के साथ दर्दनाक बात भी है.

फिरोजाबाद के सूचनाधिकारी से परेशान हैं मीडियाकर्मी, शिकायत की

चुनाव आयोग के दिशा निर्देशन में प्रशासनिक अधिकारियों के साथ-साथ मीडिया भी पारदर्शिता में अहम भूमिका रखता है, पर जिला फिरोजाबाद का सूचना अधिकारी सहयोग तो दूर की बात मीडियाकर्मियों के साथ अभद्र व अशोभनीय व्यवहार पर उतर आता है। यह कितनी शर्मनाक बात है। ए टू जेड चैनल के स्ट्रिंगर राजकुमार ने मुख्य चुनाव अधिकारी लखनऊ, राष्ट्रीय चुनाव आयोग दिल्ली सहित जिलाधिकारी/चुनाव अधिकारी फिरोजाबाद को भी इस तथ्य से अवगत कराते हुए बताया कि यह अधिकारी विगत आठ वर्षों से यहां तैनात है। चुनाव आयोग को यह सूचना 2 फरवरी 2012 को दी जा चुकी है परन्तु आयोग द्वारा कोई कदम न उठाना, आयोग की कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिन्ह लगाता है।

विकीलीक्‍स को दस्‍तावेज मुहैया कराने के आरोपी मैनिंग को कोर्ट मार्शल का आदेश

हैगर्सटाउन (मैरीलैंड) : अमेरिकी सेना के एक अधिकारी ने विकीलीक्स पर वाशिंगटन के गोपनीय दस्तावेजों के लीक होने के मामले में निचले स्तर के एक खुफिया विश्लेषक के खिलाफ कोर्ट मार्शल का आदेश दिया है। मेजर जनरल माइकल लिनिंगटन ने शुक्रवार को ब्रैडले मैनिंग के खिलाफ सभी आरोपों को कोर्ट मार्शल जनरल के हवाले कर दिया। अब मैनिंग को कोट मार्शल के दौरान खुद को पाकसाफ साबित करना होगा।

कल्‍याण में क्राइम रिपोर्टर पर हमला, चेन लूटी

मुंबई। मीडिया पर हमलों का दौर अभी भी नहीं रुक रहा है। मीडियाकर्मियों पर हमले को लेकर प्रेस काउंसिल के अध्‍यक्ष के कई राज्‍यों को पत्र लिखा है, इसके बाद भी हमले जारी हैं। एक  फरवरी को कल्याण स्टेशन पर तीन अज्ञात बदमाशों ने पत्रकार विद्या भूषण माणिक पर जान लेवा हमला किया और उनके गले में पहनी हुई 20 ग्राम सोने की चेन भी छीन लिया। पुलिस ने मामले की शिकायत दर्ज करा दी है। एक आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

”पत्रिका निकालने के लिए आपको गैंडा, गिरगिट, बैंगन से बढ़कर होना चाहिए”

गौरव शर्मा नयी दिल्ली के रहने वाले हैं. फेसबुक पर उनके प्रोफाइल के अनुसार वे वर्तमान में क्राइम रिपोर्टर हैं और इससे पूर्व स्वतंत्र पत्रकारिता के अलावा साधना टीवी में काम कर चुके हैं. मैंने जब फेसबुक पर एक छोटी सी टिप्पणी कर मित्रों से पूछा कि “मैं एक हिंदी मासिक पत्रिका निकालना चाह रही हूँ. आपकी राय चाहती हूँ?” तो गौरव जी की एक बड़ी बेबाक, मजेदार और तीखी टिप्पणी आई जिसकी हम सभी पत्रकार साथियों को जानकारी होना जरूरी प्रतीत होता है.

न्‍यू मीडिया पर सेंसरशिप के विरोध में सेव योर वॉयस का लंगड़ा मार्च

इंटरनेट सेंसरशिप के विरोध में देश भर में हो रहे लंगड़ा मार्च की एक छंटा उज्जैन में देखने को मिली. नानाखेडा बस स्टैंड से मुनिनगर चौराहा तक हाथों और पैरों पर प्लास्टर चढ़ाए इंटरनेट लंगड़े जब सड़कों पर निकले तो हर किसी के मन में बस यही सवाल था कि आखिर इतने सारे लोगों को एक साथ क्या हो गया. जिस किसी को भी पता चला कि यह फेसबुक, गूगल और 21 सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर सेंसरशिप लगाने के विरोध में किया जा रहा है तो वो भी साथ हो लिया. नानाखेड़ा बस स्टैंड पर तो लोगों का जमावड़ा लग गया.

इंडिया टीवी के ‘घमासान लाइव’ में आपस में भिड़े सपा-भाजपा एवं कांग्रेस के समर्थक

इटावा में पांच फरवरी को न्‍यूज चैनल इंडिया टीवी के कार्यक्रम 'घमासान लाइव' में कांग्रेस, सपा व भाजपा समर्थक आपस में भिड़ गए और सचमुच का घमासान शुरू कर दिया. जब तक कोई कुछ समझ पाता तब तक हाथापाई और धक्‍का-मुक्‍की शुरू हो गई. 'घमासान लाइव' कार्यक्रम में कई पार्टी के प्रत्‍याशियों समेत बड़ी संख्‍या में उनके समर्थक भी पहुंचे थे. कार्यक्रम शहर के बीचों-बीच स्थित पक्‍का तालाब पर आयोजित किया गया था, जिसके चलते वहां बड़ी तादात में लोग पहुंचे थे. 

यूपी में अगली सरकार भाजपा या कांग्रेस की बनेगी : आडवाणी

देवरिया। यूपी में यदि सरकार बनती है तो या तो वह भाजपा की बनेगी या कांग्रेस की। यह भविष्यवाणी भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी ने उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले में की। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार सम्भवतः देश की पहली सरकार है जिसे लगभग प्रत्येक दिन सर्वोच्च न्यायालय द्वारा डांट सुननी पड़ती है। भारतीय जनता पार्टी यदि सत्ता में आती है तो भारत वर्ष में स्वराज्य को सुराज बनाकर दिखा देगी। देश में शासन नहीं वरन सुशासन होगा तथा 21 वीं शताब्दी के पूरा होने तक भारत विश्व का नम्बर एक राष्ट्र बन जायेगा। जिला मुख्यालय से करीब 25 कि मी दूर गढ़रामपुर में पूर्व प्रधान मंत्री लाल कृष्ण आडवाड़ी ने कहा कि अयोध्या में राम का मंदिर बनना चाहिए। उन्होंने लोगों से अपील की कि वे राष्ट्र हित एवं देश हित के बारे में सोचकर वोट दें।

जी24 घंटे से सन्‍नी, भानू एवं किरण कार्यमुक्‍त

जी24 घंटे छत्‍तीसगढ़ से खबर है कि तीन एंकरों को कार्यमुक्‍त कर दिया गया है. जिन एंकरों कार्यमुक्‍त किया सन्‍नी, भानू और किरण सिंह हैं. इनमें से सन्‍नी, भानू को एंकर हंट के जरिए चुना गया था. किरण सिंह ईटीवी से इस्‍तीफा देकर जी24 से जुड़ी थीं. इन लोगों के कार्यमुक्‍त किए जाने के कारणों …

बसपा प्रत्‍याशियों के लिए मुसीबत बनी सत्‍ता की जवाबदेही

बाराबंकी। पिछले विधानसभा चुनाव में बाराबंकी के सपाई दुर्ग को ढहा देने वाली बसपा इस चुनाव में सियासी झंझावतों से घिरी नजर आ रही है। जिले की एक दो सीटों पर यदि उसके मुकाबले को छोड़ दिया जाये तो उसके प्रत्याशियों के लिए अन्य सीटों पर पूरे पांच साल रही सत्ता अथवा उसकी जवाबदेही मुसीबत का रूप धारण कर चुकी है। ऐसे में यह चुनाव बसपा के लिए अग्निपरीक्षा साबित होते दिखाई दे रहा है।

हिंदुस्‍तान के फीचर विभाग को मार्केटिंग टीम ने फटकारा

 इन दिनों हिन्दुस्तान दिल्ली में मार्केटिंग के लोगों ने हो हल्ला मचा रखा है।  इन फीचर पन्नों में विज्ञापन निरंतर घटता जा रहा है। खास तौर पर शुक्रवार को छपने वाली महिलाओं की मैगजीन अनोखी का हाल सबसे बुरा है। लेखकों ने इसकी वाट लगा रखी है। मिल रही बहुत सी शिकायतों के चलते प्रबंधन कुछ कड़े कदम उठाने की तैयारी कर रहा है। आने वाले दिनों में जिम्मेदारियों में भारी बदलाव देखने को मिलेंगे। स्तरहीन कवर स्टोरीज से पाठकों का भी मोहभंग हो रहा है।

चुनावी सभा बना जंग का मैदान : बसपा समर्थकों ने कांग्रेस प्रत्‍याशी काजल पर किया हमला

गोरखपुर। बेलीपार के महाबीर छपरा चौराहे के पास दो प्रत्याशियों की चुनावी सभा जंग के मैदान में तब्दील हो गई। टीवी अभिनेत्री और कांग्रेस प्रत्याशी काजल निषाद और बसपा प्रत्याशी रामभुआल निषाद के समर्थकों के बीच जमकर मारपीट हुई। जिसमें काजल निषाद और उनके समर्थकों को चोटें आईं। खून से लथपथ काजल अपने ऊपर हमले के खिलाफ सड़क पर बैठ गईं। आरोप रामभुआल और उनके समर्थकों पर लगाते हुए उनकी गिरफ्तारी की मांग करने लगीं।

हिंदुस्‍तान : पेड न्‍यूज जरा सलीके से

देश में सबसे तेजी से बढ़ने वाले अखबार का दावा करने वाला हिन्दुस्तान अपने पाठकों के साथ किस कदर छलावा, धोखा कर रहा है उसे उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव की कवरेज में देखा जा सकता है। विधानसभा चुनाव के पहले इस अखबार ने आओ राजनीति करें नाम से एक बड़े कैम्पेन की शुरुआत की। अखबार ने पहले पेज पर एक संकल्प छापा कि वह चुनाव को निष्पक्ष तरीके से कवरेज करेगा। लेकिन इस संकल्प की कैसे ऐसी-तैसी हो रही है पाठकों को जरूर जानन चाहिए।

सार्क देशों में भी अपने चैनल लांच करेगा आरबीएनएल

नई दिल्ली : रिलायंस ब्रॉडकास्ट नेटवर्क (आरबीएनएल) अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विस्तार की योजना के तहत शुरुआत में सार्क क्षेत्र में विस्तार पर ध्यान केंद्रित कर रही है। यहां वह अमेरिकी सीबीएस स्टूडियोज के साथ अपने संयुक्त उद्यम के जरिए तीन चैनलों का प्रसारण शुरू करेगी। यह संयुक्त उद्यम बिग सीबीएस नेटव‌र्क्स पहले ही श्रीलंका में कदम रख चुका है जहां तीन चैनल बिग सीबीएस प्राइम, बिग सीबीएस लव और बिग सीबीएस स्पार्क लांच किए गए हैं।

काटजू से सीखें बरखा, प्रभु, सागरिका, पंकज और राजदीप

वाईके शीतल उर्फ योगेश कुमार शीतल इंडियन इंस्टीट्यूट आफ मास कम्यूनिकेशन (आईआईएमसी) जैसे संस्थान से पत्रकारिता की पढ़ाई पढ़कर जब सक्रिय मीडिया जीवन में कूदे तो इन्हें जो दिखाई पड़ा और उसको लेकर जो स्वाभाविक रिएक्शन दिया, उसके बाद वे सफल संपादक बनने की जगह मीडिया एक्टिविस्ट बनने की तरफ खुद ब खुद बढ़ चले. गलत के खिलाफ बेबाकी से बोलने व लिखने की अपनी आदत के चलते यह युवा पत्रकार कई स्वनामधन्य संपादकों की आंखों की किरकिरी बन गया. बरखा दत्त जब करप्शन के मुद्दे पर इंडिया गेट पर प्रोग्राम कर रहीं थीं तो इस युवा पत्रकार ने उनसे उनके नीरा राडिया के संबंधों के बारे में पूछकर उनके खुद के भ्रष्टाचार पर सवाल उठा दिया. उसके बाद तो बवाल मच गया.

आई-नेक्स्ट के सीओओ व एडिटर आलोक सांवल का प्रवचन-गायन सुनें

आलोक सांवल ने बहुत कम समय में राष्ट्रीय स्तर पर मीडिया में अपनी जगह बनाई है. 39 वर्षीय आलोक सांवल जागरण समूह की ऐसी शख्सियत हैं जिन्होंने देखते ही देखते आई-नेक्स्ट नामक दैनिक जागरण के बच्चा अखबार को राष्ट्रीय स्तर पर न सिर्फ प्रतिष्ठित कर दिया बल्कि हिंदी में टैबलायड और बाइलिंगुवल के प्रयोग को सफलता भी दिला दी. देश के कई प्रदेशों व कई शहरों से प्रकाशित होने वाला आई-नेक्स्ट अब नोएडा में दस्तक देने वाला है. पिछले दिनों इसी अभियान में आलोक सांवल दिल्ली-एनसीआर की यात्रा पर थे.

दैनिक जागरण के पत्रकार अश्‍वनी सूद का निधन

धर्मशाला : बैजनाथ स्थित दैनिक जागरण समाचार पत्र के पत्रकार अश्‍वनी सूद के असमायिक निधन पर निदेशक सूचना एवं जनसंपर्क विभाग, श्री बीडी शर्मा, जिला लोक संपर्क अधिकारी श्री बीआर चौहान, एपीआरओ विनय शर्मा, अनिल धीमान, कुलदीप गुलेरिया ने गहरा शोक व्यक्त किया है। उल्लेखनीय है कि अश्‍वनी को गत शुक्रवार को हल्का बुखार होने …

पंजाब केसरी के ब्‍यूरोचीफ एवं रिपोर्टर में गाली-ग्‍लौज

: अपडेट : पंजाब केसरी, नोएडा के कार्यालय में कल जमकर गाली-ग्‍लौज हुआ. ब्‍यूरोचीफ और रिपोर्टर ने एक दूसरे को जमकर गरियाया. कार्यालय वाले इस थुक्‍का-फजीहत को देखकर सन्‍न रह गए. बताया जा रहा है कि घटना चुनाव में मलाईदार बीट हाथ से निकल जाने को लेकर हुआ है. नोएडा में पंजाब केसरी के ब्‍यूरोचीफ हैं अभिमन्‍यु पाण्‍डेय, पिछले ढाई सालों से अखबार को सेवा दे रहे हैं. वहीं अखिलेश सिंह चौहान यहां पर रिपोर्टर हैं. इन्‍हीं दोनों लोगों के बीच कल जमकर गाली-ग्‍लौज हुई तथा एक दूसरे को देख लेने की धमकी दी गई.

ग्यारह फीसदी ब्राह्मणों का वोट जिसे मिलेगा वो सत्ता के करीब होगा

: कौन होगा राइट च्वाइस? : चुनाव पांच राज्यों में, लेकिन सबकी निगाहें टिकी हैं उत्तर प्रदेश पर। क्या राजनेता, क्या चुनाव विश्लेषक, क्या सामाजिक कार्यकर्ता और क्या दूसरे प्रदेशों के राजनीतिक दल, सभी अपने-अपने तरीके से समीकरण बिठाने में लगे हैं। चुनाव सर्वेक्षण करने वाली संस्थाएं और मीडिया की भी निगाहें केवल उत्तर प्रदेश पर टिकी हैं। सभी के अपने-अपने तर्क हैं और अपनी-अपनी भविष्यवाणियां। कोई सपा को सरकार बनाते देख रहा है, तो कोई कांग्रेस को। कोई बसपा को इंकम्बेंसी फैक्टर की वजह से कमजोर बताने में लगा है, तो कोई राम आंदोलन के खत्म हो जाने से भाजपा को चौथे नंबर की पार्टी बता रहा है। लेकिन इन सब के बीच जनता के मन को टटोलने और उनकी इच्छा को जानने का काम कोई नहीं कर रहा है। कोई यह नहीं बता रहा है कि कौन होगा प्रदेश का भावी मुख्यमंत्री और किसके सिर पर सजेगा, देश के सबसे बड़े सूबे का ताज। इतना तय है कि सूबे की कोई भी पार्टी ऐसी नहीं रह गई, जो अपने दम पर इस बार सरकार बना ले।

यूपी में केवल मैं ही ईमानदार मुख्यमंत्री रहा हूं : कल्याण सिंह

राष्ट्रवादी जन क्रांति पार्टी के संस्थापक और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह सूबे के विधानसभा चुनाव में कुछ अलग कर गुजरने की तैयारी में हैं। आप इसे चुनावी खेल भी कह सकते हैं, लेकिन इतना तय है कि जिस वोट की राजनीति सूबे में भाजपा करती रही है, उस वोट को बांटने की पूरी तैयारी कल्याण सिंह ने इस बार कर दी है। सूबे के 250 से ज्यादा सीटों पर राष्‍ट्रवादी जन क्रांति पार्टी ने अपने उम्मीदवार खड़े कर कई दलों के लिए मुसीबत तो पैदा की ही है, भाजपा के सामने कई चुनौतियां भी खड़ी कर दी हैं। चुनावी राजनीति के भंवर जाल में फंसे तमाम दलों के बीच राष्ट्रवादी जन क्रांति पार्टी क्या कर रही है, इस पर कल्याण सिंह से अखिलेश अखिल ने दूरभाष पर बातचीत की। पेश है, बातचीत के अंश-

वेब सेंसरशिप के खिलाफ ‘सेव योर वाइस’ : दिल्ली में लंगडा मार्च तेरह मई को

वेब सेंसरशिप के खिलाफ सेव योर वाइस नाम से एक अभियान शुरू किया गया है और 13 मई को दिल्ली में लंगड़ा मार्च निकालने का निर्णय किया है. इसमें लोग लूले लंगड़े बनकर भाग लेंगे और ये सन्देश देंगे कि सेंसरशिप के बाद हमारी ऑनलाइन मीडिया अपाहिज हो जायेगी. इसकी सफलता के लिए एक टीम अलग अलग शहरों में जाकर ब्लोगर्स मीट कर रही है और लोगों को इस अभियान के बारे में बताकर सेंसरशिप के खिलाफ एकजुट कर रही है. इस क्रम में हर शहर में एक छोटी लंगड़ा यात्रा भी निकाल रहे हैं और लोगों को दिल्ली की विशाल लंगड़ा यात्रा में आमंत्रित कर रहे हैं. इस क्रम में टीम उज्जैन में पहुंची और ब्लोगर्स मीट की.

ताकि माल भी आ जाए और पेड न्यूज ना छापने की कसम भी ना टूटे

बहुत दिन नहीं हुए, जब दिल्ली के एक राष्ट्रीय अखबार के एमडी पत्रकारों को संबोधित करते हुए कह रहे थे कि इस बार चुनाव में पेड न्यूज ना छापने के संकल्प की वजह से कंपनी को चालीस लाख रुपए का नुकसान होगा। यह तो उस समय जब यह राष्ट्रीय कहा जाने वाला अखबार उन राज्यों में बिल्कुल नहीं बिकता या फिर कुछ जगह जाता भी है तो छिट-पुट संख्या में। ऐसे में उन अखबारों के नुकसान का हिसाब लगाइए जो इन राज्यों में खूब बिकते हैं। ऐसे तीन-चार अखबार जरूर हैं। इसके बाद इनके नुकसान का भी अंदाजा लगाइए। क्या यह करोड़ों में नहीं बैठेगा?

राजकिशोर, अमित की नई पारी, विमलेश कार्यमुक्‍त

बंसल न्‍यूज, रायसेन से खबर है कि राजकिशोर सोनी ने अपनी नई पारी इस चैनल के साथ शुरू की है. उन्‍हें रायसेन का ब्‍यूरो बनाया गया है. इसके पहले वे लगभग आठ सालों तक सहारा समय से जुड़े हुए थे. राजकिशोर कुछ और संस्‍थानों को भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं.

छह साल का हुआ ‘विराट वैभव’

नई दिल्ली। विराट वैभव ने शुक्रवार को छठा स्थापना दिवस मनाकर सातवें साल में प्रवेश किया। छह साल के दौरान लोकप्रिय समाचार पत्र ने अपनी अहम पैठ बनायी। दिल्ली-एनसीआर समेत पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के दूर-गामी इलाकों में इस अल्पकाल के दौरान अपने नए पाठकों का परिवार जोड़ा। राष्ट्रवादी व सांस्कृतिक विचारों वाले इस समाचार पत्र ने हर वर्ग पर अपनी गहरी पैठ बनायी है। शुक्रवार को स्थापना दिवस के अवसर पर आईटीओ स्थित ऑफिस में एक गेट-टु-गेदर का आयोजन किया गया, जिसमें विराट वैभव परिवार के सभी सदस्य शामिल रहे।

अंबिका सोनी जी, पत्र पत्रिकाओं की तरह न्यूज वेबसाइट को भी विज्ञापन दिलाएं

प्रतिष्ठा में, श्रीमती अंबिका सोनी, सूचना एवं प्रसारण मंत्री, भारत सरकार, नई दिल्ली। विषय:-न्यूज वेबसाइट को सरकारी विज्ञापन देने के लिए। महोदया, निवेदन है कि वर्तमान युग इंटरनेट का है। सरकारी सूचना, आदेश, निर्देश सभी इंटरनेट के माध्यम से भेजे और प्राप्त किए जाते हैं। हर पल करोड़ों व्यक्ति इंटरनेट से जुड़े होते हैं। इंटरनेट के इसी जुड़ाव ने न्यूज वेबसाइट की जरूरत को बढ़ाया है। समाचार पत्र, पत्रिकाओं की तरह न्यूज वेबसाइट भी लोगों की जरूरत बन गई है।

”अखबारों के अलोकतांत्रिक आचरण को प्रेक्षक नहीं समझ पाते”

श्री एस. वाय कुरेशी, मुख्य चुनाव आयुक्त, भारत का निर्वाचन आयोग, नई दिल्ली। विषय : चुनाव खर्च-ब्योरा। माननीय महाशय, पंजीकृत गैर-मान्यताप्राप्त दलों को दो सप्ताह का प्रचार समय मिलता है। इस अवधि में तीन बार वित्तीय प्रेक्षकों के समक्ष जाना तथा तकनीकी ढंग से चुनाव खर्च और चन्दे का ब्योरा रखना बहुत जटिल और अव्यावहारिक प्रक्रिया होती है। खर्च-प्रेक्षक वास्तविक खर्च की बजाए स्थानीय-प्रशासन द्वारा अनुमानित खर्च को लिखने का आग्रह रखते हैं जो असत्य को बढ़ावा देना है। खर्च का अपना अनुमान लगाने के लिए तो वे स्वतंत्र हैं।

अनिल मिश्रा को बचाने की रणनीति और बलि का बकरा तैयार!

हिंदुस्‍तान, बनारस से खबर है कि अनिल मिश्रा प्रकरण में उनको बचाने वाली शक्तियां एक बार फिर सक्रिय हो उठी हैं. वही शक्तियां जो पिछले कई सालों से उनको बचाते आ रही हैं. चंदौली जिले के कमालपुर डेटलाइन से प्रकाशित बृजेश सिंह की खबर ने पूरे यूनिट को गर्म कर रखा है. इसकी आंच दिल्‍ली तक पहुंच चुकी है. सूत्रों का कहना है कि इसमें जेएनई अनिल मिश्रा को बचाने की कोशिशें शुरू हो गई हैं. हालांकि पुख्‍ता तौर से ये पता नहीं चल पाया है कि यह पेड न्‍यूज का मामला है या फिर कार्यालय के भीतर की आपसी अदावत, पर आग तो लगी है और पूरी लगी है. इसी का असर है कि मिश्रा जी को फोर्स लीव पर भी भेजा गया. 

उफ! पत्रकार के घर पर राकेट गिरा

इस्लामाबाद : पाकिस्तान में उत्तरी वजीरिस्तान के कबायली इलाके में एक पत्रकार के घर पर रॉकेट गिरने से दो बच्चे घायल हो गए। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने बताया कि शनिवार देर रात सुरक्षा बलों एवं संदिग्ध तालिबान आतंकवादियों के मध्य आपसी गोलीबारी में एक रॉकेट मीरानशाह में एक पत्रकार के घर पर गिर गया। मीरानशाह के स्थानीय टीवी चैनल के लिए काम करने वाले हाजी पजीर गुल ने बताया कि उनके दो पोते घायल हो गए।

भास्कर समूह के एक बड़े अधिकारी पर महिलाकर्मी ने लगाए कई आरोप

भास्कर समूह से एक बड़ी खबर है. इस ग्रुप के सिनर्जी मीडिया इं‍टरटेनमेंट के रेडियो 94.3 माई एफएम की एक वरिष्ठ महिलाकर्मी ने सिनर्जी मीडिया के सीईओ हरीश एम भाटिया के खिलाफ नई दिल्‍ली के चितरंजन पार्क थाने में एक शिकायत दी है. महिलाकर्मी ने शिकायत में भाटिया पर फिजिकल तथा मेंटल हरासमेंट की बातें लिखी हैं. अभी पता नहीं चल पाया है कि पुलिस ने मामला दर्ज किया है या नहीं. हरीश भाटिया सिनर्जी मीडिया इंटरटेनमेंट में पहले सीओओ के पद पर कार्यरत थे.

ऐतिहासिक प्रयोग : आरके लक्ष्मण का कॉमनमैन बना लोकमत समूह का अतिथि संपादक

नागपुर : लोकमत समाचार पत्र समूह ने पत्रकारिता की दुनिया में एक अभिनव प्रयोग किया है. प्रसिद्ध कार्टूनिस्ट श्री आर.के. लक्ष्मण के कार्टून के किरदार ‘कॉमनमैन’ को हिंदी दैनिक लोकमत समाचार, मराठी दैनिक लोकमत तथा अंग्रेजी दैनिक लोकमत टाइम्स का अतिथि संपादक बनाया. अभी तक दुनिया के किसी भी देश में ऐसा संभव नहीं हुआ कि किसी ‘व्यंग्य चित्रकार’ का कोई ‘किरदार’ ‘मसखरी के मकसद’ से बाहर आकर, लगभग पुरा-कथाओं के पात्र की तरह एक सार्वदेशीय सम्मानजनक स्वीकृति हासिल कर सके.

‘माल’ मांगते धरे जा चुके पूर्व मंत्री राजेंद्र सिंह राणा को देवबंद से सपा ने दिया टिकट

बात पुरानी है लेकिन चुनाव के इन दिनों में फिर से चर्चा में है. इसलिए कि समाजवादी पार्टी भी कैसे कैसों को टिकट दे दे रही है. खासकर तब जब अखिलेश जैसे सपा के महत्वपूर्ण नेता डीपी यादव जैसों को इसलिए टिकट देने से मना कर दिया क्योंकि उनका अतीत दागदार रहा है. लेकिन राजेंद्र सिंह राणा को टिकट मिल गया. वेस्ट यूपी के देवबंद सीट से राणा सपा का टिकट पाने में कामयाब रहे. उस राणा को जिसके कारनामे टीवी और अखबार में चल छप चुके हैं. ऐसा कारनामा जिसे देख सुनकर आपको शर्म आ जाएगी. बताने कहने के लिए सिर्फ एक वीडियो पर्याप्त है. यह वीडियो जी न्यूज पर राणा साहब के बारे में प्रसारित खबर की एक क्लीपिंग है. 

पत्रकार पर हमला करने वाले विधायक बोनी ने माफी मांगी

अमृतसर : एक पत्रकार की दस्‍तार उतारने तथा हमला करने के बाद उसे गगोमाहल पुलिस चौकी में बंद करवाने वाले विधायक अमरपाल सिंह बोनी ने पत्रकार एवं गांव वालों से माफी मांग ली है. आज सुबह बोनी ने गांव सुल्‍तान माहल में गुरुद्वारे में उपस्थित संगत व पत्रकारों के सामने अपनी गलती मानते हुए माफी मांग ली. उन्‍होंने कहा कि वह पगड़ी और लोकतंत्र के चौथे स्‍तम्‍भ का सत्‍कार करते हैं.

आज गोरखपुर सिटी में टेस्‍ट हुआ जनसंदेश टाइम्‍स

जनसंदेश टाइम्‍स की गोरखपुर में लांचिंग की तैयारियों के बीच आज अखबार का टेस्‍ट किया गया. इसके पहले गोरखपुर और बस्‍ती मंडल के जिलों में भी अखबार को टेस्टिंग के तौर पर भेजा गया था. इस बार सिटी में अखबार की टेस्टिंग हुई. अखबार को लखनऊ से प्रकाशित कराकर मंगवाया गया था. इसमें गोरखपुर से संबंधित ज्‍यादा खबरें नहीं थी इसके बावजूद पाठकों का ठीक-ठाक रिस्‍पांस मिला. सूत्रों का कहना है कि अखबार का गोरखपुर का पेज राजीव रंजन तिवारी के निर्देशन में तैयार कराया गया था.

उत्‍तराखंड में वरिष्‍ठ पत्रकार संतोष वर्मा पर हमला, अब तक एफआइआर दर्ज नहीं

उत्‍तराखंड में मीडियाकर्मी दहशत में हैं. निशंक के बाद खडूरी के राज में भी सही खबरें दिखाना गुनाह हो गया है. खबर दिखाने को लेकर ही पहले 28 जनवरी को वीओएन चैनल के कार्यालय पर हमला किया, उसके बाद 30 जनवरी को चैनल से जुड़े वरिष्‍ठ पत्रकार संतोष वर्मा के उपर जानलेवा हमला किया गया. बताया जा रहा है कि डोईवाला सीट को पर कम मतदान को लेकर चैनल पर चर्चा आयोजित किया गया था कि इस सीट पर शुरुआत के चार घंटों में कम मतदान क्‍यों हुआ. इस सीट से भाजपा उम्‍मीदवार के रूप में पूर्व सीएम निशंक चुनाव लड़ रहे हैं.

सपा के लोग गुंडई करेंगे तो उन्‍हें भी सजा दी जाएगी : मुलायम

: बेनी प्रसाद वर्मा के बेटे को हराने के लिए दरियाबाद पहुंचे : बाराबंकी। बेनी के बेटे को हराने के लिए मुलायम सिंह यादव दरियाबाद पहुंचे। कस्बे के खेल मैदान में आयोजित चुनावी सभा में समाजवादी पार्टी के सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने कहा कि हम जो कहते हैं उसे पूरा करते हैं। हमें किसानों, मजदूरों, बुनकरों, नौजवानों, बेरोजगारों, महिलाओं, शिक्षा पालकों सहित समाज के सभी वर्गों के चिन्ता है। इसीलिए हम जब भी सरकार बनाते है तो बिना भेद भाव सबके लिए योजनायें लागू करते हैं।

कवरेज करने पहुंचे आधा दर्जन मीडियाकर्मियों की पिटाई, एक की हालत गंभीर

काशीपुर : शिक्षा का मंदिर शुक्रवार को जंग के मैदान में बदल गया। विद्यालय में छात्रा को कड़ी सजा देने की शिकायत लेकर गए पिता के साथ मारपीट की गई। घटना का कवरेज करने गए छह पत्रकारों को भी जमकर पीटा गया, इनमें एक पत्रकार की हालत गंभीर है। छात्रा के परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने घटना में प्रधानाचार्या समेत 12 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है। पत्रकारों ने भी आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

दूसरा चरण भी बाहुबलियों और पूंजीपतियों के नाम रहेगा

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों के दूसरे चरण में भी बाहुबलियों और पूंजीपतियों की तादाद भरी भरकम है . उत्तर प्रदेश इरेक्शन वाच द्वारा 1098 प्रत्याशियों  में से प्रमुख राजनितिक दलों के 337 प्रत्याशियों के हलफनामों का विश्लेषण से येही तस्वीर निकल रही है. इन 337 प्रत्याशियों में से 118 प्रत्याशियों (35 प्रतिशत ) ने अपने विरूद्ध आपराधिक मामलों की पुष्टि की है। जबकि 2007 के विधान सभा  चुनाव में 28प्रतिशत ने अपने विरूद्ध आपराधिक मामलों की पुष्टि की थी।

साधना में सर्वेश का तबादला, नैयर बने नए स्‍टेट हेड, जितेंद्र जनसंदेश टाइम्‍स पहुंचे

साधना न्‍यूज बिहार-झारखंड से खबर है कि स्‍टेट हेड सर्वेश कुमार सिंह का तबादला रायपुर के लिए कर दिया गया है. उनकी जगह नैयर आजाद को बिहार-झारखंड चैनल का नया हेड बनाया गया है. सूत्रों का कहना है कि सर्वेश रायपुर जाने के लिए प्रबंधन से कुछ दिनों की मोहलत मांगी है. नैयर आजाद बिहार के सूचना आयुक्‍त तथा वरिष्‍ठ पत्रकार फरजंद अहमद के पुत्र हैं. नैयर जी न्‍यूज, सहारा समेत कई संस्‍थानों को अपनी सेवाएं दे चुके हैं. सर्वेश भी बिहार के जानेमाने पत्रकार हैं. वे हमार-फोकस, रफ्तार, आर्यन टीवी समेत कई चैनलों को वरिष्‍ठ पदों पर अपनी सेवाएं दे चुके हैं. साधना के साथ यह उनकी दूसरी पारी है.

आजतक टॉप पर, न्‍यूज एक्‍सप्रेस की टॉप टेन में वापसी

चौथे सप्‍ताह की टीआरपी चार्ट में ज्‍यादा बदलाव नहीं हुआ है. आजतक लगातार नम्‍बर एक पर बना हुआ है. स्‍टार न्‍यूज ने भी इंडिया टीवी को पीछे छोड़ नम्‍बर दो पर बना हुआ है. इंडिया टीवी स्‍िटंग ऑपरेशन दिखाने के बाद भी तीसरे नम्‍बर से ऊपर नहीं चढ़ पाया है. समय ने एनडीटीवी को पीछे छोड़ा है तो न्‍यूज एक्‍सप्रेस ने एक बार फिर टॉप टेन में वापसी की है. जी न्‍यूज चौथे स्‍थान पर पहुंच गया है. चौथे सप्‍ताह में टॉप टेन चैनलों की स्थिति.

अमर उजाला से मोहसिन, कौशिक व नीरज कार्यमुक्‍त, सुनील यूपी न्‍यूज पहुंचे

फर्रुखाबाद की मीडिया में एक बार फिर हलचल है. अमर उजाला से खबर है कि तीन लोगों को अखबार से कार्यमुक्‍त कर दिया गया है. तीनों लोगों को कार्यहीनता का आरोप लगाकर बाहर किया गया है. इसमें एक स्‍टाफ रिपोर्टर मोहसिन पासा भी शामिल हैं. बताया जा रहा है कि मोहसिन के अलावा प्रशासन देखने वाले कौशिक द्विवेदी तथा राजनीति बीट देखने वाले नीरज द्विवेदी को कार्यमुक्‍त किया गया है. अब ये लोग अपनी नई पारी कहां से शुरू करेंगे इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है.

स्‍टार न्‍यूज का कार्यक्रम रोकने के लिए पुलिस गुंडई पर उतरी, दीपक चौरसिया एवं उनकी टीम से भी बदतमीजी की कोशिश

यूपी में पुलिस गुंडों से भी ज्‍यादा आतंकित करती है. उनकी शैली जनसेवक की नहीं बल्कि मालिक की होती है. चीजें कानून से नहीं बल्कि उनकी मर्जी से चलनी चाहिए, खासकर गाजीपुर में. जहां किसी भी समय नियम-कानून को धत्‍ता बताकर आपके साथ कोई भी असंवैधानिक हरकत पुलिस आपके साथ कर सकती है. एक बार फिर गाजीपुर में पुलिस ने अपना काला चेहरा दिखाया, मीडिया पर रोक लगाने की कोशिश की, अपना आतंक फैलाने की साजिश रची, पर डीएम के आदेश तथा स्‍थानीय लोगों के तेवर देखकर पुलिस के कसबल ढीले पड़े तथा उन्‍हें पीछे हटना पड़ा.

हिंदुस्‍तान, बनारस में जेएनई अनिल मिश्रा को फोर्स लीव पर भेजा गया

हिंदुस्‍तान, बनारस से खबर है कि ज्‍वाइंट न्‍यूज एडिटर के रूप में कार्यरत अनिल मिश्रा को फोर्सलीव पर भेज दिया गया है. अनिल का पोस्‍ट डीएनई का है पर संपादक के चहेते होने के चलते ज्‍वाइन न्‍यूज एडिटर के रूप में काम देखते हैं. कुछ शिकायतों के बाद उन्‍हें फोर्स लीव पर भेज दिया गया है. खबर है कि यह कार्रवाई प्रधान संपादक शशि शेखर के निर्देश पर की गई है. इसको लेकर बनारस यूनिट में हड़कम्‍प है. अखबार में सबसे ताकतवर माने जाने वाले अनिल मिश्रा के साथ हुई कार्रवाई के बाद उनके चंगू-मंगू परेशान हैं.

होशियारपुर में दैनिक सवेरा का कार्यालय खुला, और चर्चा शुरू

होशियारपुर में दैनिक सवेरा का दफ्तर आखिर खुल ही गया है. बस अड्डे के ऊपर कमरा नम्बर तीन में दिव्य हिमाचल के दफ्तर में ही अब सवेरा होने लगा है. यही नहीं दफ्तर पर आज भी बोर्ड तो दिव्य हिमाचल का ही लगा है. अंदर बैठने वालों में एक दिव्य हिमाचल का जिला ब्यूरो चीफ़ है तो एक जागरण के विज्ञापन का पैसा न चुकाने के कारण निकाल बाहर किया गया एक पूर्व पत्रकार है. जिले के दसूहा इलाके का रहने वाला यह आदमी सवेरे ९ से शाम ५ बजे की क्लर्की करके वापस भागने को उतावला रहता है.

भाजपाइयों को जुलूस निकालना पड़ा महंगा, स्‍वतंत्र देव समेत 200 पर मुकदमा

जालौन : चुनाव आयोग की मनाही के बावजूद भाजपा के तीनों प्रत्याशियों के सामूहिक नामांकन में जुलूस निकालने की कोशिश की गई। सैकड़ों की संख्या में भाजपाई कार्यालय से पैदल कलेक्ट्रेट की तरफ बढ़ रहे थे। इसकी जानकारी होने पर पुलिस अधीक्षक ने पहुंचकर अंबेडकर चौराहे पर जुलूस को रोक लिया। भाजपा नेताओं से उनकी तीखी झड़प हुई इसके बाद प्रत्याशियों को भीड़ लेकर आगे नहीं बढ़ने दिया गया। लेकिन पंद्रह लोगों के साथ वे पैदल ही नामांकन कराने कलेक्ट्रेट पहुंचे। बाद में प्रभारी निरीक्षक ने जिलाधिकारी राजशेखर के निर्देश पर भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष सहित प्रत्याशियों, जिलाध्यक्ष और नगर अध्यक्ष तथा दो सौ अज्ञात लोगों के विरुद्ध आचार संहिता और धारा 144 के उल्लंघन का मुकदमा दर्ज करवा दिया।

गुंजन सिन्‍हा का नक्षत्र न्‍यूज से इस्‍तीफा, न्‍यूज11 से जुड़ेंगे

वरिष्‍ठ पत्रकार गुंजन सिन्‍हा के बारे में खबर है कि वे एक बार फिर न्‍यूज11 से जुड़ गए हैं. बताया जा रहा है कि उन्‍होंने नक्षत्र न्‍यूज से इस्‍तीफा दे दिया है. गुंजन की न्‍यूज11 के साथ यह दूसरी पारी है, वे इस चैनल के हेड रह चुके हैं. न्‍यूज11 में उन्‍हें एडिटर इन चीफ …

साप्ताहिक अखबार तो सिर्फ ब्लैकमेलिंग का हथियार होते हैं!

: सफर का एक साल और : टुकड़ा-टुकड़ा करके जिंदगी पता नहीं कब और कहां किस रूप में जुड़ जाती है और देखते देखते एक कारवां बनता जाता है। अचानक पीछे मुड़कर देखो तो लगता है अरे इतना लंबा सफर तय हो गया और पता ही नहीं चला। सफर कितना ही मुश्किल भरा हो मगर मन में उमंग हो और साथी मन पसंद हों तो जिन्दगी के लम्बे लम्बे फासले पलों में बदल जाते हैं। वीकएंड टाइम्स के सात साल पूरे होने पर कुछ ऐसा ही महसूस हो रहा है मुझे। आप सबके साथ ने अखबार को उन बुलंदियों पर पहुंचा दिया जहां तक पहुंचने की मैंने कभी कल्पना भी नहीं की थी। अखबार का आठवां साल शुरू हो चुका है और हर बार की तरह मुझे लगता है कि यह साल पिछले सालों से और बेहतर गुजरेगा।

डीएनए में अरविंद चतुर्वेदी एवं जेपी सिंह का प्रमोशन, संपादक बने

डेली न्‍यूज एक्टिविस्‍ट, लखनऊ में अब प्रधान संपादक के रूप में डा. सुभाष राय का नाम जाने लगा है. अखबार में यह पद देशपाल सिंह पवार के इस्‍तीफा देने के बाद खाली था. गौरतलब है कि तीन दिन पहले ही डा. सुभाष राय ने जनसंदेश टाइम्‍स के प्रधान संपादक के पद से इस्‍तीफा दिया था. …

पांधी ने घायल महिला पत्रकार हरविंदर के बयान लिए

पटियाला : 30 जनवरी को विधानसभा चुनाव के दिन नाभा में महिला पत्रकार हरविंदर कौर नौहरा से मारपीट के मामले को लेकर शुक्रवार को अनुसूचित जाति आयोग के सदस्य दलीप सिंह पांधी नाभा के सिविल अस्पताल पहुंचे और उपचाराधीन महिला पत्रकार से मुलाकात की। महिला पत्रकार का हालचाल पूछने के बाद पांधी ने उनका और उपचार कर रहे डाक्टर के बयान दर्ज किए। उन्‍होंने हरविंदर से पूरे घटनाक्रम के बारे में विस्‍तार से जानकारी प्राप्‍त की। पांधी ने बताया कि वह इस मामले की रिपोर्ट तैयार कर पंजाब राज अनुसूचित आयोग के चेयरमैन को कार्रवाई के लिए भेजेंगे।

अखबारों-पत्रिकाओं की पूरी जानकारी नहीं रखता आरएनआई!

नई दिल्ली : समाचार पत्र पंजीयक (आरएनआई) के कामकाज पर एक तरह से उंगली उठाते हुए केंद्रीय सूचना आयोग ने कहा कि पंजीयक समाचार प्रकाशकों से सूचना प्राप्त नहीं करती या इसका आंकड़ा नहीं रखती। सूचना आयुक्त शैलेश गांधी ने लखनऊ के इजहार अहमद अंसारी की याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा, संगठन पंजीकृत समाचार पत्रों से विधिक सूचना प्राप्त नहीं करती या इसका आंकड़ा नहीं रखती है। इसलिए कोई सूचना नहीं दी जा सकती।

मीडिया की आजादी पर हमला बर्दाश्त नहीं करेगी प्रेस परिषद : काटजू

नई दिल्ली : पत्रकारों और मीडिया कार्यालयों पर हालिया दिनों में हुए ताबड़तोड़ हमलों पर नाराजगी जाहिर करते हुए भारतीय प्रेस परिषद के अध्यक्ष मार्कंडेय काटजू ने केंद्र और राज्य सरकारों को कड़ा पत्र भेजा है। काटजू ने सरकारों को आगाह किया है कि प्रेस की आजादी पर हमला बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। काटजू ने कहा कि जमीनी हकीकत का पता लगाने के लिए जल्द ही संबंधित राज्यों में दल भेजे जाएंगे। परिषद के सदस्यों से सलाह मशविरा कर जल्द ही और कड़े कदम उठाए जाएंगे।

पूंजी जुटाने की तैयारी में लगे फेसबुक की निगाहें भारत पर

वाशिंगटन : प्रारंभिक सार्वजनिक निर्गम (आइपीओ) के द्वारा कम से कम पांच अरब डॉलर की पूंजी जुटाने की आशा कर रही सोशल नेटवर्किग साइट फेसबुक की निगाहें भारत एवं ब्राजील पर हैं। फेसबुक के आइपीओ को लेकर वैश्विक बाजार में काफी उत्सुकता है। वाशिंगटन स्थित प्रतिभूति एवं विनिमय आयोग को दिए गए विवरण में कंपनी ने रणनीति के विषय में बताया। फेसबुक ने कहा कि उसका ध्यान ब्राजील, जर्मनी, भारत, जापान, रूस और दक्षिण कोरिया सहित अन्य देशों में उपभोक्ताओं की संख्या बढ़ाने पर केंद्रित रहेगा।

इंटरनेट पर लेख डालने पर आ‍ंशिक रोक लगाएगी गूगल

न्यूयार्क/नई दिल्ली : इंटरनेट क्षेत्र की प्रमुख कंपनी गूगल ने अपने ब्लॉगर प्लेटफार्म पर विभिन्न देशों के नियमों के अनुसार सामग्री उपलब्ध कराने की योजना बनाई है। कुछ दिन पहले माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर ने भी इसी तरह का कदम उठाया था। इंटरनेट को नियमन में बांधने के लिए भारत सहित विभिन्न देशों द्वारा कदम उठाए जाने को लेकर चल रही बहस के बीच गूगल भी ऑनलाइन कंटेंट पर कुछ रोक लगाने जा रही है।

Prabhat Khabar द्वारा रांची में आयोजित कराए गए ”Auto Show 2012”’ में उमड़ी भीड़

Press Release  : Fancy car and bike fans have gone crazy these days. They are now surfing internet to find the best cars and bikes of their choice. The dream machines have left them stunning and now they are chasing it to be one of the royal owners. And why not, as the No 1 daily of Jharkhand, Prabhat Khabar has reignited their passion for their dream machine once again by bringing The Great International Auto Show 2012. The spectacular event features world class auto makers to showcase the dream ride machines.

वरिष्‍ठ पत्रकार अवधेश नारायण ‘प्राण’ का लखनऊ में निधन

लखनऊ। वरिष्ठ पत्रकार अवधेश नारायण 'प्राण' का शुक्रवार लम्बी बीमारी के बाद निधन हो गया। वे 59 वर्ष के थे। वे लम्‍बे समय से डायबिटिज से पीडित थे। पिछले दिनों किडनी में परेशानी होने के बाद उन्‍हें इलाज के लिए लखनऊ के सहारा अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था। उन्‍होंने अस्‍पताल में ही आखिरी सांस …

संस्‍कृत समाचार पत्रिका ‘इंडियन नेचर’ लांच, सोहन कुमार बने कार्यकारी संपादक

: डा. विजय सिंह, विनय कुमार, रवि एवं विशन भी टीम में शामिल : संस्‍कृत भाषा के गिरते स्‍तर तथा लोगों कम होते रुझान को देखते हुए वरिष्‍ठ पत्रकार सोहन कुमार ने 'इंडियन नेचर' नाम की एक संस्‍कृत समाचार पत्रिका का शुभारंभ किया है. इस पत्रिका की खासियत यह होगी कि इसमें खबरों को प्रमुखता दी जाएगी एवं उसके अतिरिक्‍त व्‍यूज एवं साहित्‍य को भी पर्याप्‍त स्‍थान मिलेगा. सोहन कुमार इस पत्रिका के कार्यकारी संपादक हैं. वे इसके पहले हिंदुस्‍तान टाइम्‍स से जुड़े रहे हैं. उनकी टीम में डा. विजय सिंह, विनय कुमार झा, रवि कुमार एवं विशन कुमार मिश्रा हैं. यह पत्रिका मासिक है.

Twitter पर अवतरित हुए Justice Katju, ब्लागर भी बने

प्रेस काउंसिल आफ इंडिया के चेयरमैन जस्टिस मार्कंडेय काटजू ने अपनी बात और ज्यादा लोगों तक पहुंचाने व दूसरों को अपनी बात रखने के लिए सीधे उपलब्ध होने की इच्छा के चलते खुद का एक ठिकाना सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट ट्विटर पर बना लिया है. योगेश कुमार शीतल जैसे कुछ मीडिया एक्टिविस्टों के अनुरोध के बाद जस्टिस काटजू ने ट्विटर पर आने का फैसला किया. आज उनका एक एकाउंट ट्विटर पर बनकर तैयार हो चुका है. पता www.twitter.com/mark_katju है.  उन्होंने कई ट्विट भी किए हैं.  एक ट्विट के जरिए उन्होंने खुद का ब्लाग बन जाने की भी सूचना दी है.

यूपी में दलों का दलित दुलार : सपा-बसपा-भाजपा व कांग्रेस ने लगाया 345 प्रत्‍याशियों पर दांव

उत्तर प्रदेश में जहां मुस्लिम वोट के लिए जंग जारी है, वहीं दलों का दलितों के प्रति दुलार जगा है। यही वजह है कि बसपा 88, सपा 85, भाजपा 85 और कांग्रेस ने 87 विधानसभा सीटों पर अपने-अपने प्रत्याशी उतारे हैं। मायावती ने जिन 88 दलितों को उम्मीदवार बनाया है, उनमें से 78 खुद उनकी अपनी जाटव जाति के हैं, जबकि उन्होंने पासियों को 4, धोबियों को 2 और धानुक, नट व वाल्मीकि जातियों को 1-1 टिकट ही दिया हैं। दलितों की एक अन्य जाति कोरी भी प्रदेश के कई  हलकों में  ताकतवर मानी जाती है, लेकिन मायावती ने इसके एक भी प्रतिनिधि को प्रत्याशी नहीं बनाया है। ज्ञातव्य है कि प्रदेश में दलितों की कुल 66 जातियां निवास करती हैं और गाहे-बगाहे उनमें सुगबुगाहट चलती रहती है कि मायावती सिर्फ अपनी जाति के दलितों को आगे बढ़ाने में विश्वास रखती हैं। इसीलिए उनकी सत्ता में मुश्किल से चार दलित जातियों की ही भागीदारी रहती है।

पुणे के संचेती अस्पताल में अण्णा को बीमार बनाने के लिए दी जा रही थीं दवाएं!

क्या पुणे के संचेती अस्पताल में अण्णा हजारे को भविष्य में आंदोलन ना कर पाने की स्थिति में लाने की तैयारी की जा रही थी। क्या राजनीतिक तौर पर संचेती अस्पताल को इस भरोसे में लिया गया कि अगर वह अण्णा हजारे को पांच राज्यों में चुनाव के दौरान मैदान में ना उतरने देने की स्थिति ला सकता है तो अस्पताल चलाने वालों का ख्याल रखा जायेगा। क्या पुणे के एक व्यवसायी को भी राजनीतिक तौर पर इस भरोसे में लिया गया कि वह अण्णा से अपनी करीबी का लाभ कांग्रेस को पहुंचाये तो सरकार उसे भी इनाम देगी।

मध्‍य प्रदेश से तड़ीपार उमा भारती लगा पाएंगी यूपी में भाजपा की नैया पार?

समाज और बिरादरियों में एक परंपरा है कि जब कोई व्यक्ति समाज या बिरादरी के नियमों को नहीं मानता, उन की अवहेलना करता है या उन्हें भंग करता है तो समाज के लोग ऐसे आदमी को टाट बाहर कर देते हैं। टाट बाहर को समाज में हुक्का पानी बंद करना यानि समाज से तब तक बहिष्कृत करना होता है जब तक वह आदमी अपने कृत्य के लिए समाज से माफी नही मांग लेता। आजकल उप्र में भाजपा की स्टार प्रचारक बनी साध्वी उमा भारती के साथ भी कुछ ऐसा ही हो रहा है। मप्र भाजपा से इन्हें टाट बाहर कर दिया गया है। पाबंदी यहां तक है कि उमा भारती मध्य प्रदेश में अपने घर टीकमगढ़ तक भी नहीं जा सकतीं। कम से कम जब तक मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सरकार है तब तक उमा भारती का मध्य प्रदेश में प्रवेश वर्जित रहेगा।

वीस्‍वावा शिम्‍बोर्स्‍का नहीं रहीं, पढ़ें उनकी एक कविता- ”बायोडाटा लिखना”

Geet Chaturvedi : वीस्‍वावा शिम्‍बोर्स्‍का नहीं रहीं. कल शाम ही उनकी प्रतिनिधि कविताएं पढ़ रहा था. कल ही एक मित्र से उनके बारे में चर्चा हो रही थी. जिस समय हम उनके बारे में बातें कर रहे थे, उस समय बाहरी हवा लगभग आखि़री बार उनके भीतर प्रविष्‍ट हो रही थी, वह लगभग आखि़री बार उस हवा में अपने भीतर का भ्रमण प्रवाहित कर रही थीं. शिम्‍बोर्स्‍का उन कवियों में हैं, जिन्‍हें मैंने अपने शुरुआती दिनों से ही पढ़ना शुरू किया था. जब मैंने किताबों की दुनिया में आंखें पूरी खोलीं, तब वह पहली नोबेल लॉरिएट थीं.

उत्तराखंड भाजपा : चुनावी विज्ञापन के बजट से नल-नील की जोड़ी ने कमीशन में लाखों बटोरे

Rajen Todariya : भगवान राम ने रावण पर हमले के लिए समुद्र में बनने वाले पुल का ठेका तब के इंजीनियर नल नील को दिया था। वो सतयुग की बात थी और तब तक कमीशन का रिवाज नहीं शुरू हुआ था। इसलिए पुल ठीक-ठाक बन गया। आज की बात होती तो भगवान राम के लिए बनाए जाने वाले इस अरबों रुपये के पुल से मुख्यमंत्री से लेकर पीडब्लूडी मंत्री तक सब कमीशन खाते। उप्र निर्माण निगम होता तो भगवान राम की सेना के भार से ही पुल टूट जाता।

वन संपदा के लूट की तैयारी, धंधेबाजों ने प्रत्‍याशियों की मदद में झोंके रुपये व शराब

उत्तराखंड में चुनाव संपन्न हो गए पर पहाड़ की जनता यह देखकर हैरान व परेशान है कि दयनीय माली हालत वाले प्रत्याशियों ने भी इन चुनावों में करोड़ों रुपये कहाँ से झोंक दिए. इस बार सत्ता की बागडोर संभालने वाले संभावित दलों भाजपा तथा कांग्रेस के प्रत्याशियों पर तो धन्धेबाजों ने पैसे लगाए ही उसके अलावा जिताऊ उम्मीदवारों पर भी खूब धन लुटाया गया. इन चुनावों में प्रत्याशियों ने जमकर जनता की नब्ज टटोलकर उन्हें हर प्रकार से लुभाने का प्रयास किया. शराब के साथ-साथ मिठाई के डिब्बों में नोट भी खुलेआम चले. भाजपा के एक उम्मीदवार ने तो देवता के मंदिरों में जाकर कई किलो चांदी चढ़ा दिया ताकि देवता को मानने वाले ग्रामीण उसकी झोली वोटों से भर दें. उसका यह नुस्खा काम कर गया और बेचारे धर्म भीरू ग्रामीणों ने उसके पक्ष में जमकर वोट भी किये. वैसे इस उम्मीदवार को क्षेत्र में उन दर्जनों लोगों का विरोध भी झेलना पड़ा जिनसे यह नौकरी देने तथा अन्य प्रकार के काम करने के बदले पहले ही लाखों रुपये ठग चुका है.

2जी स्कैम में एक चर्चित अंग्रेजी न्यूज चैनल भी शामिल!

भड़ास4मीडिया को एक मेल के जरिए जानकारी दी गई है कि 2जी स्कैम में देश का एक चर्चित और नामवर अंग्रेजी न्यूज चैनल भी शामिल है. बताया गया है कि डा. सुब्रहमण्यम स्वामी ने जो याचिका कोर्ट में दायर की है, उसमें उन्होंने एक प्रामिनेंट इंग्लिश न्यूज चैनल का उल्लेख किया है. इस चैनल के माध्यम से 2जी स्कैम का पैसा ब्लैक से ह्वाइट किया गया और इसके जरिए कई तरह की कर चोरी की गई.

पीपुल्स समाचार के आफिसों पर पीएफ डिपार्टमेंट का छापा

खबर है कि मध्य प्रदेश के एक अखबार पीपुल्स समाचार में हाल ही में पीएफ विभाग के लोगों ने छापा मारा. कुछ लोगों ने इस अखबार के प्रबंधन की पीएफ डिपार्टमेंट में शिकायत की थी कि ये लोग अपने इंप्लाइज का पीएफ नहीं काटते. कुछ लोगों का पीएफ काटा जाता है पर वह जमा नहीं किया जाता. उधर, बताया जा रहा है कि पीपुल्स समाचार के लोगों ने पीएफ अफसरों के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज करा दी है. इन लोगों ने क्या शिकायत की है, यह पता नहीं चल सका है.

You need Gadar like film to become super star : Akshay Khanna

New Delhi : Notwithstanding the fact that Akshaye Khanna has acted brilliantly in films like Gandhi, My father, Race, Border, Taal and many more, he seems to have no regret that he has still not been considered as among the top stars of Bollywood. “You need films like ‘Gadar’ and ‘Hum Dil De Chuke Sanam’ to become super star. Films make you star or superstar. As an actor, I can give hundred per cent,” said Akshaye Khanna in a very animated interview with Ms.Anurradha Prasad, Editor-in-Chief of News 24 channel.

अमर उजाला, गोरखपुर के सिटी इंचार्ज बने प्रदीप श्रीवास्‍तव

अमर उजाला, गोरखपुर से खबर है कि सीनियर रिपोर्टर प्रदीप श्रीवास्‍तव को सिटी इंचार्ज बना दिया गया है. जितेंद्र पांडेय के तबादले के बाद से यह पद खाली था. प्रदीप सेकेंड मैन के रूप में पहले से ही सिटी का कार्यभार देख रहे थे. प्रदीप गोरखपुर में अमर उजाला के साथ लांचिंग से ही जुड़े …

शाहजहांपुर में अमर उजाला छाप रहा है पेड न्यूज

विधानसभा चुनाव में इस बार चुनाव आयोग ने प्रिन्ट मीडिया पर निगरानी करने की तैयारी की थी। आयोग का यह मानना था कि कुछ समाचार पत्र पेड न्यूज छापकर चुनाव को प्रभावित करते हैं। लेकिन चुनाव आयोग की यह पहल सार्थक होती नहीं दिख रही है। कुछ समाचार पत्र धड़ल्ले से पेड न्यूज या यूं कहें कि पीत पत्रकारिकता करने से बाज नहीं आ रहे हैं। ताजा मामला है शाहजहांपुर का, जहां देश के नामी समाचार पत्र अमर उजाला ने दिनांक 30 जनवरी के अंक में रंग लाई कोशिश, सेना की भर्ती रैली मार्च में शीर्षक से प्रकाशित की जिसमें कैप्शन दिया गया- सांसद के प्रयास से मिलेगा लोगों को रोजगार का मौका।

संजय राठी ने नक्षत्र चैनल के क्षेत्रीय प्रभारी का कार्यभार संभाला

चंडीगढ़। हरियाणा यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स के प्रदेशाध्यक्ष संजय राठी को हिंदी न्यूज चैनल नक्षत्र का क्षेत्रीय प्रभारी बनाया गया है। उन्होंने आज चंडीगढ़ में कार्यभार संभाल लिया। श्री राठी हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़ और उत्तराखंड में चैनल विस्तार की योजनाओं को अमलीजामा पहनाएंगे। चंडीगढ़ मुख्यालय से ही वे इन राज्यों में चैनल को प्रसारित करने के …

अमरनाथ तिवारी पर हमला का मामला : अरुण कुमार ने जस्टिस काटजू को लिखा पत्र

पटना में पायनियर के असिस्‍टेंट एडिटर अमरनाथ तिवारी पर हमला के मामले में सरकार एवं पुलिस प्रशासन की लापरवाही से पत्रकार नाराज हैं. प्रेस काउंसिल के मेंबर अरुण कुमार ने प्रेस काउंसिल के अध्‍यक्ष जस्टिस मार्कंडेय काटजू को पत्र लिखकर पूरे मामले की जानकारी दी है तथा सरकार एवं प्रशासन पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है. उल्‍लेखनीय है कि 27 जनवरी को भाजपा नेता मधु वर्मा एवं उनके पुत्र समेत कई हमलावरों ने अमरनाथ तिवारी पर राड-डंडों से हमला करके गंभीर रूप से घायल कर दिया था.

बड़ी राजनीतिक पार्टियों से पैसा लेकर समाचार मैनेज करती है मीडिया : शरद

देवरिया । जदयू अध्‍यक्ष शरद यादव ने एक जनसभा के बाद पत्रकारों के प्रश्न पूछने पर जमकर मीडिया के खिलाफ अपनी भड़ास निकाली। उन्होंने मीडिया के बड़े घरानों पर आरोप लगाया कि वे दिल्ली में बैठकर बड़ी राजनीतिक पार्टियों से रुपयों के पैकैट लेकर समाचारों को मैनेज कर लेते हैं। देवरिया जिला मुख्यालय से करीब 16 किमी दूर गौरीबाजार स्थित देवगांव इण्टर कालेज के मैदान में उन्होंने गुरुवार को देवरिया सदर विधान सभा से चुनाव लड़ रहे भारतीय जनता पार्टी के बागी विजय प्रताप मणि उर्फ डब्लू मणि, जो अब जदयू के प्रत्याशी हैं,  के समर्थन में जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि पांच वर्ष पूर्व बिहार की हालत अत्यन्त खराब थी तथा वहां पर कुम्‍भकर्ण जैसे लोग थे, लेकिन जब वहां जद यू की सरकार बनी तो मात्र चार माह में कानून का राज कायम हो गया तथा वहां शान्ति तथा खुशहाली स्थापित हो गई।

साकाल ग्रुप में जयसूर्या बने सीओओ, शैलेश चीफ मार्केटिंग आफिसर

साकाल मीडिया से खबर है कि दो लोगों ने वरिष्‍ठ पदों पर ज्‍वाइन किया है. कंपनी में सीओओ के पद पर जयसूर्यादास को लाया गया है. शैलेश अमोनकर को चीफ मार्केटिंग ऑफिसर बनाया गया है. जयसूर्या साकाल मीडिया ज्‍वाइन करने से पहले एक्‍जंडू कंसल्टिंग ग्रुप में चीफ मेंटर कम फाउंडर डायरेक्‍टर के पर पर कार्यरत …

नम्‍बर एक अखबार और गलतियों का जखीरा

गोरखपुर : यहां से प्रकाशित होने वाले दैनिक जागरण में कर्मचारियों की कमी की झलक दिखने लगी है. अख़बार के प्रत्येक पन्‍ने त्रुटियों से भरे हैं. आज का दैनिक जागरण ही इसकी खुद गवाही दे रहा है. पहले पन्ने पर 'निर्दल प्रत्याशी को बाइक सवारों ने मारी गोली' में देवरिया डेटलाइन से खबर है. जिसमें पथारा विधानसभा का ज़िक्र है, जबकि देवरिया में इस नाम से कोई विधान सभा ही नहीं है. लगता है देवरिया वालों ने खबर भेजते समय ज़यादा चढ़ा लिया था या गोरखपुर वाले डेस्क पर भांग खाकर बैठे थे.

शिवराज सिंह चौहान ने सुशील तिवारी, दिनेश पाठक, चैतन्‍य भट्ट समेत कई पत्रकारों को सम्‍मानित किया

: पत्रकार सम्मेलन एवं पत्रकार परिवार मिलन समारोह : एमपी के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रतिस्पर्धा के मौजूदा दौर में पत्रकारिता अधिक चुनौतीपूर्ण हो गई है। पत्रकारों का दायित्‍व भी बढ़ गया है। पत्रकार लोकतंत्र के प्रहरी हैं, इसलिए उन्‍हें हमेशा सजग रहना चाहिए। श्री चौहान कल यहाँ मध्य प्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ द्वारा आयोजित पत्रकार सम्मेलन एवं पत्रकार परिवार मिलन समारोह को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने पत्रकारों की समस्याओं के समाधान के लिए मुख्यमंत्री निवास में शीघ्र ही पत्रकार पंचायत बुलाने की घोषणा की।

देवरिया में निर्दल प्रत्याशी गिरिजेश शाही को गोली मारी गई

गोरखपुर। देवरिया जिले मे बीते पांच सालों से एंबुलेंस की नि:शुल्क सेवा जनता को उपलब्ध करा रहे रामपुर कारखाना विधानसभा क्षेत्र से निर्दल प्रत्याशी गिरिजेश शाही (36) को अज्ञात हमलावरों ने वृहस्पतिवार को देर रात गोली मार दी। वे अपने समर्थक राघवेंद्र मल्ल के साथ पैदल ही घर जा रहे थे। शाही को गंभीर अवस्था में रात 12:30 पर मेडिकल कालेज गोरखपुर में भर्ती कराया गया। जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है।

बस्‍ती जिले में वोट के लिए बांटा गया नोट, सूचना के बाद भी नहीं पहुंचा प्रशासन

गोरखपुर : विस चुनाव में आदर्श चुनाव आचार संहिता का कैसे उल्लंघन हो रहा है इसके दो उदाहरण हैं. बस्ती में एक प्रत्याशी ने वोट के बदले नोट बांटा है तो देवरिया में एक लोकप्रिय प्रत्याशी को चुनाव से हटाने के लिए गोली मार दी गयी. बस्ती में वोट के बदल नोट बंट रहा है। हरैया और कप्तानगंज विधानसभा में तो जितने वोट उतने नोट की गड्डी मैनेजरों के हाथ बांटी जा रही है। इस काम को अंजाम देने में ‘प्रोफेशनल’ मैनेजर जुटे हैं। दोनों विधानसभा में मतदाताओं के बीच खुलकर नोट ‘उड़ाए’ गए। इसकी सूचना जिला प्रशासन सहित प्रेक्षक को दी गई लेकिन, प्रशासनिक अमला की कौन कहे, एक सिपाही तक मौके पर नहीं पहुंचा।

जनसंदेश टाइम्‍स से डा. महाराज सिंह का इस्‍तीफा, विश्‍वजीत न्‍यूज एक्‍सप्रेस पहुंचे

जनसंदेश टाइम्‍स, आगरा के ब्‍यूरोचीफ डा. महाराज सिंह परिहार ने इस्‍तीफा दे दिया है. आगरा के वरिष्‍ठ पत्रकारों में शामिल डा. सिंह जनसंदेश टाइम्‍स के लांचिंग के समय से ही जुड़े हुए थे. मैनेजिंग डाइरेक्‍टर को भेजे गए पत्र में उन्‍होंने कहा है कि वो प्रबंधन द्वारा कार्यालय एवं उनके वेतन के मद में पिछले कुछ समय से धन नहीं मिलने के बावजूद अपना काम कर रहे थे, इसलिए कि अखबार को डा. सुभाष राय जैसा संपादक पुष्पित-पल्वित कर रहा था. उनके चलते ही मैं अखबार को अपनी सेवाएं दे रहा था. अब उनके इस्‍तीफा देने के बाद मेरा अखबार से जुड़े रहने का कोई औचित्‍य नहीं बचता है. उन्‍होंने प्रबंधन से बकाया क्‍लीयर करने की बात भी कही है. डा. सिंह इसके पहले अमर उजाला और डीएनए जैसे अखबारों को अपनी सेवाएं दे चुके हैं.

जनवाणी : स्कीम खत्म होने के बाद प्रसार बनाए रखने की चुनौती

मीडिया जगत के दिग्गजों की टीम के साथ गॉडविन ग्रुप द्वारा धूमधाम से शुरू किए दैनिक जनवाणी अख़बार के प्रकाशन को एक साल पूरा होने वाला है. 14 फ़रवरी 2010  को लांच हुए जनवाणी अख़बार को लेकर बड़े-बड़े दावे किए गए. लांचिंग के साथ शुरू की गई बैग देने और एक रुपये कीमत रह जाने की स्कीम के बलबूते अख़बार काफ़ी बुलंदी पर पहुंच भी गया. लेकिन अख़बार से जुड़े दिग्गजों के तमाम दावों के विपरीत दैनिक जनवाणी इन बुलंदियों पर कायम नहीं रह सका. आपसी खींचतान और लाबिंग की कवायद में कई ऐसे लोग दरकिनार किए गए, जो समर्पित होकर काम कर रहे थे.

एक खुला पत्र हरिवंश जी, शशि शेखर जी के नाम!

सेवा में, हरिवंश जी, प्रधान सम्पादक, प्रभात खबर. शशि शेखरजी, प्रधान संपादक, हिंदुस्तान. आपको नववर्ष की बधाई! बड़े ही दुखी मन से इस पत्र को लिख रहा हूँ. इस पत्र को लिखने से पहले न जाने कितने सवालों और जज्बातों का तूफ़ान मन और दिमाग में उठ रहा था, तो सोचा क्यों न आप लोगों से इस खुले पत्र के माध्यम से पूछ लूं. मुझ जैसे नौसीखिए पत्रकार, जिसने पत्रकारिता की डिग्री किसी पत्रकारिता स्कूल से नहीं ली, जैसे लोग हरिवंश जी को देखते, पढ़ते और सुनते ही खुद को पत्रकार बना बैठे हैं.

चुनाव आयोग ने टीवी चैनलों को फिर दी चेतावनी

नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने टीवी चैनलों को चुनाव प्रचार खत्म होने के बाद कोई ऐसा कार्यक्रम दिखाने के खिलाफ चेतावनी दी है, जिससे उस निर्वाचन क्षेत्र के किसी खास उम्मीदवार की जीत की संभावनाओं को बल मिलता हो। इस तरह की खबर दिखाने वाले चैनल के साथ आयोग कोई राहत बरतने के मूड में नहीं है। आयोग ने स्‍पष्‍ट कहा है कि जन प्रतिनिधित्व कानून-1951 की धारा 126 टीवी, सिनेमा और इस तरह के संचार माध्यमों पर भी लागू होती है।

फेसबुक ने आईपीओ में गूगल को भी पीछे छोड़ा

वॉशिंगटन : विश्व की सबसे बड़ी सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक के आईपीओ पर दुनिया भर की नजरें टिकी हुई हैं। कंपनी ने अपने इस पब्लिक इश्यू के लिए अमेरिकी शेयर बाजार नियामक के पास विवरण पुस्तिका दाखिल कर दी है। इस आइपीओ से वह 10 अरब डॉलर (करीब 50,000 करोड़ रुपये) तक जुटा सकती है। इस इश्यू के बाद कंपनी का बाजार मूल्यांकन 100 अरब डॉलर (लगभग 5,00,000 करोड़ रुपये) तक जा सकता है। किसी इंटरनेट कंपनी द्वारा यह अब तक का सबसे बड़ा आईपीओ होगा।

गूगल, फेसबुक को कोर्ट से मिली तात्‍कालिक राहत

नई दिल्ली। गूगल और फेसबुक से आपत्तिजनक सामग्री हटाने के मामले की सुनवाई दिल्ली हाईकोर्ट ने १४ फरवरी तक टाल दी है। जस्टिस सुरेश कैत ने बुधवार को एक अन्य व्यक्ति की याचिका भी खारिज कर दी। याचिकाकर्ता ने कहा था कि वह इन वेबसाइटों का उपभोक्‍ता है और इसे बंद करने या सेंसरशिप लागू करने से उसकी अभिव्‍यक्ति के मौलिक अधिकार पर कुठाराघात होगा।

फोन हैकिंग के लपेटे में द टाइम्‍स भी आया

लंदन : ब्रिटेन के सबसे प्रतिष्ठित अखबारों में शामिल द टाइम्स भी फोन हैकिंग मामले की जांच के दायरे में आ गया है। मीडिया मुगल रूपर्ट मर्डोक के ग्रुप के इस अखबार पर भी निजी ईमेल हैक कर अवैध तरीके से सूचनाएं जुटाने के आरोप लग रहे हैं। अनैतिक तरीकों से खबरें हासिल करने के चलन के खिलाफ अभियान चला रहे लेबर पार्टी के सांसद टॉम वाट्सन ने गुरुवार को कहा, पुलिस ने पुष्टि की है कि हैकिंग मामले में द टाइम्स के खिलाफ भी जांच की जा रही है।

महिला जर्नलिस्‍ट पर हमले के मामले ने पकड़ा तूल, पत्रकार आईजी से मिले

: आरोपियों की गिरफ्तारी न होने पर दी आंदोलन की चेतावनी : पटियाला : नाभा प्रेस क्लब ने विधानसभा चुनाव के लिए मतदान के दिन नाभा में महिला पत्रकार हरविंदर कौर नोहरा के साथ मारपीट करने वालों पर सख्त कार्रवाई की मांग की है। इस संबंध में क्लब के सदस्यों ने वीरवार को आईजी शाम लाल गक्खड़ को ज्ञापन सौंपा है। ज्ञापन में पत्रकारों ने आरोपियों की गिरफ्तारी एवं कड़ी कार्रवाई की मांग की है। उन्‍होंने इस मामले को गंभीरता से न लेने पर आंदोलन की चेतावनी भी दी है।

अमेरिकी मीडिया को दी जाएगी सिख धर्म की सही जानकारी

वाशिंगटन। अमेरिका में सिख समुदाय के एक समूह ने अमेरिकी मीडिया को सिख धर्म से परिचित करना के लिए एक धर्म प्रचारक संस्था की मदद ली है। टीवी शो प्रस्तोता जे लीनो की स्वर्ण मंदिर के सम्बंध में विवादास्पद टिप्पणियों के मद्देनजर यह संस्था मीडिया को सिख धर्म की सही जानकारी देगी।

प्रसिद्ध पत्रकार व समाजसेवी नवीन नौटियाल का निधन

दून घाटी के सच्चे सपूत, पर्यावरणविद और कलम के निर्भीक सिपाही नवीन नौटियाल के निधन पर मसूरी की वे हरीभरी वादियाँ आज रो रही होंगी जो उनके प्रयासों से ज़िंदा है. 80 व 90 के दशक में मसूरी की चूना पत्थर खनन व वन माफियाओं के खिलाफ कलम चलाने वाला भले ही आज शांत हो गया हो पर उसके द्वारा जलाई गई पर्यावरण की लौ हमेशा ज़िंदा रहेगी.

पोंटी की चड्ढी में कितने रुपये? कोई कहे अरबों तो कुछ बोलें खरबों, गिनती चालू आहे

नई दिल्‍ली : इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने पोंटी चड्ढा के ठिकानों से मिली रकम की गिनती शुरू कर दी है. कोई कह रहा है कि सौ करोड़ रुपये मिले हैं तो कोई कह रहा है कि दो सौ करोड़ रुपये हैं. तीन सौ करोड़ रुपये होने की भी चर्चा है. कुल कितने पैसे हैं, इसका पता गिनती के बाद ही चलेगा. यूपी की सीएम मायावती के करीबी पोंटी चड्ढा के नोएडा स्थित सेंटर स्टेज माल के बेसमेंट से मिली तिजोरी को खोल कर नोटों की गिनती का काम शुरू कर दिया गया है. आयकर विभाग की टीम ने कल सेंटर स्‍टेज मॉल के बेसमेंट से छह फुट लंबी और छह फुट चौड़ी तिजोरी बरामद की थी. बाद में सेंटर स्टेज मॉल में मिलने वाली तिजोरियों की संख्या 14 हो गई, जिनसे करीब दो से तीन सौ करोड़ रुपए बरामद किए जाने की खबर है.

जी छत्‍तीसगढ़ में फिर छंटनी का दौर शुरू, तीन की छुट्टी

जी छत्‍तीगढ़24 घंटे में छंटनी का दौर फिर से शुरू हो गया है. यहां पर हाल ही में तीन कर्मचारियों को फोन करके कह दिया गया कि कल से मत आना. खास बात यह है कि उनमें से दो तो उनके हाल ही के एंकर टंट के विजेता ही थे. ये सब हो रहा है चैनल की गिरती टीआरपी की वजह से, जिसकी वजह से मालिकों ने उच्‍चाधिकारियों को डांट पिलाई और मैराथन मीटिंग में जमकर ऐसी की तैसी की. पर होशियार उच्‍चाधिकारियों ने अपनी गर्दन बचाते हुए सारा ठीकरा निचले स्‍तर के कर्मचारियों पर फोड़ दिया.

भोपाल में नईदुनिया समूह का अखबार नई दुनिया फास्‍ट बंद

अखबारों के बंद होने की कड़ी में एक और नाम शामिल हो गया है. भोपाल से प्रकाशित नईदुनिया ग्रुप का अखबार नई दुनिया फास्‍ट एक फरवरी से बंद हो गया. अब इस अखबार का प्रकाशन नहीं होगा. इस अखबार को 2001 में 17 अगस्‍त को लांच किया गया था. आठ पेज के इस अखबार को स्‍थानीय बनाने की योजना के तहत शुरू किया गया था तथा इसमें लोकल खबरों को प्रमुखता दी जाती थी. पर यह योजना सफल नहीं रही.

टीवी9 में वीपी बने अभय ओझा, मनीष का सूर्यांश से इस्‍तीफा

रिलायंस ग्रुप के चैनल बिग मैजिक से अभय ओझा ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर नेशनल सेल्‍स हेड थे. अभय ने अपनी नई पारी टीवी9 से शुरू की है. उन्‍हें यहां पर सेल्‍स का वीपी बनाया गया है. अभय ने बिग मैजिक पिछले साल जुलाई में ज्‍वाइन किया था. इसके पहले वे आईबीएन7 को भी एवीपी सेल्‍स के रूप में अपनी सेवाएं दे चुके हैं. अभय ने अपने करियर की शुरुआत 1999 में टीवी टुडे नेटवर्क के साथ की थी. आठ सालों तक सेवा देने के बाद वे आईबीएन7 से जुड़ गए थे.

दैनिक जागरण के नोएडा आफिस में भी दो पत्रकारों में हुआ झगड़ा

दैनिक जागरण में जाने क्या हो गया है कि जगह जगह इसके पत्रकार आपस में लड़ते भिड़ते दिख रहे हैं. इलाहाबाद आफिस में जमकर लड़ाई हुई. पटना से भी लड़ाई होने की खबर आई. अब सूचना है कि दैनिक जागरण के नोएडा आफिस में भी जमकर तूतूमैंमैं हो गई है. दैनिक जागरण के अंग्रेजी पोर्टल जागरणपोस्ट के एडिटर अविनाश झा और यहीं काम करने वाले अंजनी के बीच किसी बात को लेकर तकरार हो गई. सूत्रों के मुताबिक अंजनी के कामकाज को लेकर अविनाश झा खुश नहीं रहा करते हैं. उन्होंने किसी बात पर उन्हें डांट दिया. कहने वाले कहते हैं कि उन्होंने गाली दे दी. इससे अंजनी भड़क गए और अविनाश पर बरस पड़े.

मुरादाबाद के संपादकों के यहां होली-दिवाली डलिया भिजवाता है पोंटी चड्ढा

शराब माफिया पोंटी चड्ढा के नए नए किस्से सामने आ रहे हैं. सौ करोड़ से ज्यादा की उसकी तहखाने में पड़ी तिजोरी के बारे में जानकारी मिली है. उसने देश-विदेश में अकूत पैसा इकट्ठा कर रखा है. अगर पोंटी चड्ढा के मीडिया मैनेजमेंट के पक्ष को देखा जाए तो कई कड़वी सच्चाइयां सामने आएंगी. मुरादाबाद का रहने वाला पोंटी चड्ढा मुरादाबाद के अखबारों के संपादकों को डलिया भिजवाया करता है. यह जानकारी मुरादाबाद के एक वरिष्ठ पत्रकार ने भड़ास4मीडिया को दी.

डेली न्यूज एक्टिविस्ट में प्रधान संपादक बने सुभाष राय और फीचर एडिटर हरे प्रकाश उपाध्याय

कल जनसंदेश टाइम्स हिंदी दैनिक से खुद को अलग करने की घोषणा करने वाले सुभाष राय और हरे प्रकाश उपाध्याय ने उन्हीं पदों पर लखनऊ-इलाहाबाद से प्रकाशित हिंदी दैनिक डेली न्यूज एक्टिविस्ट उर्फ डीएनए से जुड़ गए हैं. सुभाष राय को प्रधान संपादक बनाया गया है जबकि हरे प्रकाश उपाध्याय को फीचर एडिटर. पोंटी चड्ढा के कारनामों को पिछले दस दिनों से प्रकाशित कर इनकम टैक्स का छापा पड़वा देने में सफल रहे हिंदी दैनिक डेली न्यूज एक्टिविस्ट के चेयरमैन प्रो. निशीथ राय ने सुभाष व हरे प्रकाश के अखबार से जुड़ने की पुष्टि की.

मायावती को हराने को लामबंद हुई यूपी पुलिस, एसोसिएशन ने जारी की अपील

देश के इतिहास में पहली दफा किसी भी चुनाव में किसी भी राज्य की पुलिस ने सत्तारूढ़ दल के खिलाफ मोर्चा खोल कर सरकार की मुश्किलें बढ़ाई हैं। पहली बार किसी राज्य में सीधे चुनाव में दखल किये जाने से पूरे राज्य के पुलिस अमले में हड़कंप मच गया है, पुलिस विभाग के आला अफसरान इस लामबंदी को लेकर सकते में हैं। अगर हकीकत में पुलिस की लामबंदी किसी भी स्तर पर कामयाब हो जाती है तो इसे चमत्कार के रूप में ही देखा जायेगा। पुलिस एसोसियेशन के मायावती हराओ आह्वान भरे पंपलेट सामने आने के बाद पुलिस अमले के साथ-साथ खुफिया विभाग भी सजग हो चला है, लेकिन सभी अभी यह नहीं जान पाये हैं कि मायावती हराओ का आह्वान करने वालों ने आखिरकार किस दल के पक्ष में मतदान करने की अपील की है, क्यों कि इस बात में ही छुपी हुई है असली राजनीति।

सुभाष राय के हटने से जनसंदेश टाइम्स में अराजकता, एडिट पेज पर छपे पुराने लेख

ज्ञानेंद्र शर्मा के संपादन में प्रकाशित जनसंदेश टाइम्स के पहले ही अंक में बेशुमार अशुद्धियां हैं और कई लेखों का पुनर्प्रकाशन किया गया है. संपादकीय पेज (पेज-12) तो खासा मजाकिया है. संपादकीय की जगह पर कल की एक खबर को ही संक्षिप्त और पुनर्लेखन कर प्रकाशित किया गया है जबकि संपादकीय पेज के पहले लेख के रूप में वहीं लेख फिर से छपा है जो 23 जनवरी, 2012 (सोमवार) के अंक में राज्य पेज (पेज-15) पर ''सुभाष, गांधी भारत रत्न सम्मान से ऊपर'' शीर्षक से प्रकाशित किया गया था. वहीं संपादकीय पेज पर आज प्रकाशित दूसरा लेख, 17 जनवरी, 2012 (मंगलवार) को पहले पेज पर छप चुका है.

जनसंदेश टाइम्स, लखनऊ की प्रिंटलाइन में नए प्रकाशक अनुज पोद्दार और संपादक ज्ञानेंद्र शर्मा

करोड़ों रुपये के घोटाले के आरोपी बाबूलाल कुशवाहा के लखनऊ से प्रकाशित अखबार जनसंदेश टाइम्स में आज प्रिंटलाइन में बड़ा बदलाव कर दिया गया है. इसमें प्रकाशक और संपादक दोनों में नया नाम डाल दिया गया है. प्रधान संपादक के रूप में ज्ञानेंद्र शर्मा का नाम जुड़ गया है तो प्रकाशक के रूप में अनुज पोद्दार का नाम जा रहा है. अब तक प्रधान संपादक के रूप में सुभाष राय का नाम जाता था और प्रकाशक के रूप में सौरभ जैन का. पर काली कमाई के दम पर चल रहे इस अखबार के बल पर घोटालेबाजों को बचाने की जो मुहिम शुरू हुई है उसके तहत अब हर लेवल पर लायजनरों की भर्तियां की जा रही हैं.

पोंटी के ठिकानों पर छापेमारी से उत्‍तराखंड के कई नेताओं की नींद उड़ी

उत्तराखंड व उत्तरप्रदेश से शुरू करके देश के कई राज्यों में शराब की गंगा बहाने वाले शराब किंग से व्यवसायी व उद्योगपति बने पोंटी चड्ढा के ठिकानों पर छापेमारी के बाद आयकर विभाग हैरान है तो कई नेता व नौकरशाह परेशान. यद्यपि  पोंटी के उत्तराखंड के ठिकानों पर छापे नहीं पड़े पर इन छापों की तपिश उत्तराखंड में भी महसूस होने लगी है. चुनाव की थकान मिटाने वाले उन नेताओं की नींद हराम हो गयी है, जो इस शराब किंग के पेरोल पर हैं और चुनावों के लिए उसकी मदद ली है.

टूजी घोटाले के साइड इफेक्ट : 122 लाइसेंस रद्द, 5-5 करोड़ जुर्माना, पीएम-एचएम मुश्किल में

: चिदंबरम इस्तीफा दें… सुप्रीम कोर्ट पर गर्व करें… : नई दिल्ली। आज का दिन ऐतिहासिक है. सुप्रीम कोर्ट ने 2जी घोटाले में फैसला सुना दिया है. इस फैसले से केंद्र सरकार की हालत पंचर हो गई है. कोर्ट ने साल 2008 के बाद दिए गए सभी 122 नए लाइसेंसों को रद्द करने का आदेश सुनाया है. सभी कंपनियों पर पांच-पांच करोड़ का जुर्माना ठोंक दिया है. टूजी घोटाले में चिदंबरम की भूमिका पर सुनवाई के लिए मामले को निचली अदालत में भेजने को कह दिया है. इस तरह कहा जा सकता है कि चिदंबरम भी टूजी घोटाले में फंसते नजर आ रहे हैं.

दैनिक प्रभात से अशोक निर्वाण कार्यमुक्‍त, अवनींद्र ठाकुर नए संपादक

: नक्षत्र न्‍यूज से जुड़े कुमार निशांत : दैनिक प्रभात, गाजियाबाद से खबर है कि स्‍थानीय संपादक अशोक निर्वाण को कार्यमुक्‍त कर दिया गया है. अशोक अखबार की लांचिंग के समय ही अखबार से जुड़े थे. खबर है कि उनके स्‍थान पर अवनींद्र ठाकुर को दैनिक प्रभात के गाजियाबाद संस्‍करण का नया संपादक बनाया गया है. साथ ही गाजियाबाद आडीसी कार्यालय को तत्‍काल प्रभाव से बंद कर दिया गया है. नवयुग मार्केट में स्थित कार्यालय को गाजियाबाद कार्यालय बना दिया गया है. 

राजस्‍थान पत्रिका की खबर पर आपत्ति, डा. गोवर्धन ने संपादकीय प्रभारी को लिखा पत्र

राजस्‍थान पत्रिका में छपी एक खबर पर बवाल हो गया है. सवाई माधोपुर निवासी डा. गोवर्धन सिंह राठौड़ ने जयपुर के संपादकीय प्रभारी मनोज माथुर को पत्र लिखकर खबर की वास्‍तविक  स्थिति स्‍पष्‍ट करने को कहा है. राजस्‍थान पत्रिका ने नौ जनवरी को 'रसूखदारों ने बना लिए होटल, नियम ताक पर' शीर्षक से खबर छापी थी. यह खबर आरटीआई के आधार पर लिखी गई थी. इसी खबर में डा. गोवर्धन सिंह एवं उनके परिवार पर कुछ आरोप लगे थे.

सुभाष राय के खिलाफ दयानंद पांडेय की भड़ास (पार्ट दो)

अभी पोद्दार को लिखी चिट्ठी से पता चला कि आप का जनसंदेश टाइम्स लेखकों को पारिश्रमिक भी देता था। जो कि अब छह महीने से पोद्दार दाब के बैठे हैं। ए भाई कब से? यह तो भाई नई सूचना है। अभी तक तो आप अपने अखबार से लगायत फ़ेसबुक पर लिख-लिख कर यही कह रहे थे कि हम पैसा नहीं दे पा रहे हैं। और कि फ़ेसबुक पर तो कई उत्साहियों ने अपना वेतन तक देने की पेशकश कर दी थी। मैंने तो तब एक लंबा लेख भी लिखा था कि हिंदी लेखकों और पत्रकारों के साथ घटतौली की अनंत कथा। पर आपने उस लेख पर सांस भी नहीं ली। हां यह ज़रूर हुआ कि उस लेख के बाद आप ने लेखकों से पैसा न लेने की अपील लिखनी ज़रूर बंद कर दी।

बीटीवी के तानाशाह संपादक के चलते दर्जनों ने छोड़ी नौकरी, कई कतार में

भोपाल : पिछले एक साल से जबसे हैथ्वे बीटीवी भोपाल के संपादक रवीन्द्र कैलासिया बने हैं तब से लेकर अब तक बीटीवी के 2 दर्जन से ज्यादा कर्मचारी संस्थान को बाय-बाय कह चुके हैं और बाकी बचे कर्मचारी भी मौका देख निकलने की तैयारी में हैं। कारण संपादक जी का तानाशाह रवैया। रविवार को ही संपादक साहब ने एक रिपोर्टर से बदतमीजी की जिससे रिपोर्टर के आत्म सम्मान पर ठेस पहुंचीं और संपादक साहब को नौकरी छोड़ने का बोलकर निकल गया। संपादक की तानाशाही का विवरण कुछ इस प्रकार है-

सुभाष राय के खिलाफ दयानंद पांडेय की भड़ास (पार्ट एक)

: ए भाई अइसे ही आग जलाएंगे आप? : भोजपुरी में एक कहावत है कि जे गुड खाई ते कान छेदाई! दुर्भाग्य से जनसंदेश टाइम्स के पूर्व प्रधान संपादक सुभाष राय के साथ यही हो गया है। जब गुड खा रहे थे तब उनको किसी की सुध नहीं थी। साहित्य संस्कृति के नाम पर पूरे अखबार में सिर्फ़ काकस कहिए नेक्सस कहिए, के ही काम के लिए वह जाने गए। अभी पोद्दार को लिखी चिट्ठी में भी उन्होंने अपने सिर्फ़ तीन सहयोगियों के ही नाम लिए हैं। तो क्या बाकी सहयोगी लोग भेड़ बकरी थे? उनको बड़ा गुमान है कि उन्होंने जनसंदेश को साहित्य संस्कृति से लबरेज़ कर दिया है। यह सही भी है कि जहां तमाम अखबारों ने साहित्य संस्कृति के नाम पर शून्य कर रखा है, सुभाष राय ने उसे अपनी भरसक पूरा क्या कुछ ज़्यादा ही स्पेस दिया जनसंदेश में। इसके लिए उन्हें ज़रूर साधुवाद दिया जाना चाहिए।

‘नईदुनिया फास्ट’ भी एक फरवरी से बंद

: समूह को सबसे ज्यादा घाटा दिल्ली संस्करण से : बड़े पैमाने पर छंटनी की चर्चा : नईदुनिया समूह का भोपाल से करीब तीन महीने पहले निकला अखबार 'नईदुनिया फास्ट' एक फरवरी से बंद हो गया. 27 जनवरी से नईदुनिया के मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के सभी संस्करणों के एक पेज भी कम कर दिए गए हैं. इससे पहले इस समूह का सन्डे नईदुनिया, युवा काकटेल भी बंद हो चुका है. बुधवार की 'नायिका' पत्रिका को भी फिर टेबलायड बना दिया है. इसके बाद नईदुनिया इंदौर से निकल रहा बच्चों का अखबार 'नईदुनिया दिशा' बंद होने वाला है.

EC asks TV channels not to flout people’s representation act

New Delhi :  The Election Commission has issued an advisory to TV/Radio channels and cable networks asking them not to violate the provisions of Section 126 of the Representation of People's Act, 1951 which prohibits display of poll matter during 48 hours before end of voting. Section 126 of the Representation of the People Act, 1951, prohibits displaying any election matter by means, inter alia, of television or similar apparatus, during the period of 48 hours before the hour fixed for conclusion of poll in a constituency.

Vinod Mehta relinquishes charge as ‘Outlook’ Editor-in-Chief

New Delhi : Vinod Mehta today relinquished the charge as Editor-in-Chief of 'Outlook' after being in the post for 17 years. He will continue as advisor of the magazine. Krishna Prasad, at present the Editor, will now assume the post of Editor-in-Chief. "I am still with Outlook. I have just relinquished the day-to-day responsibilities. If somebody thinks that I am out of Outlook, they are wrong. I am still very much here," Mehta told PTI.

एडिटर इन चीफ विनोद मेहता आउटलुक से रिटायर, कृष्‍णा प्रसाद ने संभाली कुर्सी

आउटलुक में सत्रह साल की लंबी पारी के बाद विनोद मेहता ने एडिटर इन चीफ के पद से रिटायर होने का फैसला किया है. अब वे सलाहकार के रूप में आउटलुक से जुड़े रहेंगे. मेहता ने 1995 में पत्रिका की लांचिंग के समय इससे जुड़े थे. तब से ही वे इस पत्रिका के एडिटर इन चीफ के पद पर कार्यरत थे. विनोद मेहता के स्‍थान पर कृष्‍णा प्रसाद को नया एडिटर इन चीफ बना दिया गया है. प्रसाद को 2008 में प्रोन्‍नति देते हुए आउटलुक का संपादक बनाया गया था.

सीआईसी ने सन टीवी की हिस्‍सेदारी सार्वजनिक करने को कहा

नई दिल्ली : केंद्रीय सूचना आयोग (सीआईसी) ने सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय को निर्देश दिया है कि वह पूर्व दूरसंचार मंत्री दयानिधि मारन के भाई कलानिधि मारन की सन टीवी में हिस्सेदारी सार्वजनिक करें। ऐसी सूचनाओं को वाणिज्यिक गोपनीयता का हवाला देते हुए अपने पास नहीं रखा जा सकता। सीआईसी ने कहा, कंपनी अधिनियम 1956 के प्रावधानों के तहत कंपनी रजिस्ट्रार को आम तौर पर सालाना नतीजे के तौर पर कंपनी के सदस्यों की सूची, शेयर का ब्योरा पेश करना जरूरी होता है।

मीडिया को कलंकित करने तथा लूटने वाले चैनल टीवी24 की कहानी

मीडिया को लोकतंत्र को चौथा स्‍तम्‍भ माना जाता है, लेकिन जब मीडिया अपने वास्तविक कार्यों को भूल कर स्वार्थ में लिप्त हो जाये और मीडिया के जरिये पैसा उगाही का धंधा शुरू कर दे तो इसे क्या कहा जाय समझ में नहीं आता। देश में ऐसे कितने न्यूज़ चैनल हैं जो इस तरह के धंधे से ही अपना रोजी–रोटी चला रहे हैं, लेकिन आज आपको एक ऐसे न्यूज़ चैनल के बारे में बता रहा हूँ, जिसे सुन कर आप भी सोचने पर मज़बूर हो जायेंगे। चंडीगढ़ से प्रसारित होने वाले न्यूज़ चैनल टीवी24, जो कि डीश टीवी और डीटीएच डाइरेक्‍ट प्लस पर आन एयर है। लेकिन चैनल की हक़िकत यह है कि यहाँ पर देश भर के प्रतिभावान लोगों को पत्रकार बनाने के नाम पर सरे आम लूटा जा रहा हैं।

झारखंड में सूचना आयुक्‍त बनने के लिए परेशान हैं साहब

यशवंतजी, भाई साहब का नाम है अनुपम शशांक. झारखण्ड के स्वनामधन्य पत्रकारों में शुमार किये जाते है. पत्रकारिता के मार्फ़त कई चीज़ हासिल कर चुके है. सो अब सूचना आयुक्त बनने की इच्छा रखते हैं. पत्रकार रहते अपना बायो-डाटा कार्मिक विभाग को सौंप आये थे. बात तब खुली जब प्रभात खबर ने उन सब लोगों का लिस्ट छाप दिया, जो चुपके-चुपके बायो डाटा जमा कर आये थे. भाई को उनके दोस्तों ने ही धोखा दे दिया.

कैसी-कैसी खबरें और कैसे-‍कैसे बाइलाइन

कारपोरेटीकरण की चपेट में आते-आते अखबारों में सोच-समझ भी खतम होती दिखने लगी है. सूचनाओं और खबरों के बीच की बारीक लाइन भी मिटने लगी है. संपादकीय लोगों को समझ ही नहीं है कि किन खबरों पर बाइलाइन दिया जाए और किन खबरों पर नहीं. संपादकीय में मनमाना या फिर कहें कि चाटुकाराना रवैया हर जगह हावी हो गया है, जिसकी डेस्‍क से बनती है उसे किसी भी खबर पर बाइलाइन मिल जाती है और जिसकी खटपट रहती है उसकी अच्‍छी खबर भी बाइलाइन लायक नहीं समझी जाती. कभी-कभी ऐसा लगता है कि तमाम अखबारों में काम कर रही टीम को अच्‍छी और चलचाऊ खबरों के बीच का फर्क समझ में नहीं आता है, उन्‍हें बस अपने और पराए की भाषा ही समझ में आती है.  

सुभाष राय बन सकते हैं डीएनए के ग्रुप एडिटर

जनसंदेश टाइम्‍स के प्रधान संपादक के पद से इस्‍तीफा देने वाले डा. सुभाष राय के लखनऊ से ही प्रकाशित डेली न्‍यूज एक्टिविस्‍ट से जुड़ने की चर्चा है. उनके साथ ही अखबार के फीचर एडिटर रहे हरे प्रकाश उपाध्‍याय का नाम भी शामिल है. हालांकि अभी इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है, पर बताया जा रहा है कि दोनों लोग जल्‍द ही डीएनए के हिस्‍सा बन सकते हैं. डीएनए में देशपाल सिंह पंवार के जाने के बाद से ग्रुप एडिटर का पद खाली था. संभावना जताई जा रही है कि सुभाष राय को समूह का ग्रुप एडिटर बनाया जा सकता है.

इंडिया टीवी के रजत शर्मा समेत तीन के खिलाफ मुकदमा

: स्टिंग ऑपरेशन मामला : मुजफ्फरनगर : इंडिया टीवी चैनल के स्टिंग ऑपरेशन में फंसे नेताओं ने आज चैनल के सम्पादक, रिपोर्टर व फोटोग्राफर के खिलाफ कोर्ट के माध्यम से मुकदमा दर्ज करा दिया है। ज्ञातव्य है कि तीन दिन पूर्व इंडिया टीवी न्‍यूज चैनल पर विधानसभा चुनाव लड़ रहे ग्यारह प्रत्याशियों का स्टिंग आपरेशन प्रसारित किया गया था। इस स्टिंग ऑपरेशन के प्रसारण से राजनीतिक हलकों में हड़कम्प मच गया था। निर्वाचन आयोग ने भी पूरे मामले को गम्भीरता से लेते हुए स्टिंग में पैसा मांगते पाए गए सभी ग्यारह प्रत्याशियों के खिलाफ मुकदमे दर्ज करा दिये थे।

बसपा विधायक ने जहर खाया, कांग्रेस एवं भाजपा प्रत्‍याशियों का पर्चा खारिज

उन्नाव जिले के मोहान विधानसभा क्षेत्र के बसपा विधायक राधेलाल रावत ने बुधवार को जहरीला प्रदार्थ खाकर आत्महत्या की कोशिश की। रावत ने अपने गांव दयालपुर स्थित घर में जहरीला पदार्थ खा लिया, हालत बिगड़ने पर उन्हें ट्रामा सेंटर लखनऊ में भर्ती कराया गया। बताया गया है कि पार्टी टिकट कटने की वजह से उसने यह कदम उठाया। रावत की जगह बसपा के राज्यसभा सदस्य जयप्रकाश रावत को टिकट देने की बात कही जा रही है। हालांकि इसकी अभी घोषणा नहीं हुई है।

पंकज पचौरी ने आखिर किसकी भैंस खोल ली है?

गंगा किनारे से आए लड़कों में एक बड़ी दिक्कत ये होती है कि वो चीजों को बड़े फलक पर नहीं देखना चाहते या नहीं देख पाते. हिंदी वाला एक पत्रकार प्रधानमंत्री का संचार सलाहकार क्या बन गया, बहसियाने और गरियाने के लिए इन बिहार यूपी के गांवों से आए नौजवानों को एक नया मुद्दा मिल गया. जैसे, पंकज पचौरी ने इन लोगों के गांव में बंधी इनकी दुधारू भैंस खोल ली हो. एचवाई शारदा प्रसाद, प्रेम शंकर झा, हरीश खरे, केपी श्रीवास्तव, एचके दुआ, संजय बारू… जाने कितने नाम हैं जो प्रधानमंत्री के मीडिया सलाहकार बने. कोई वीपी सिंह का बना तो कोई चंद्रशेखर का. कोई इंदिरा गांधी का बना तो कोई अटल बिहारी वाजपेयी और देवेगौड़ा का और कोई मनमोहन सिंह का.

वरिष्‍ठ पत्रकार कृष्‍णदेव पाठक से लूटपाट

नई दिल्ली। राजधानी में बदमाशों के हौंसले काफी बुलंद हो गये हैं। वह जब चाहें और जिसके साथ चाहें आसानी से लूटपाट की वारदात को अंजाम दे रहे हैं। यही नहीं बदमाश लूटपाट का विरोध करने पर पीडि़त की जान लेने से भी गुरेज नहीं करते हैं। बदमाशों में पुलिस का भी कोई खौफ नहीं रह गया है। ऐसी ही एक लूट की वारदात राजधानी के शाहदरा इलाके में लोगों की आवाज उठाने वाले वरिष्ठ पत्रकार कृष्णदेव पाठक के साथ हुई। तीन हथियार बंद बदमाशों ने पत्रकार से नगदी, पहनी हुई ज्वैलरी व जरूरी कागजात लूट लिये। पत्रकार ने जब हिम्‍मत दिखाते हुए बदमाशों का विरोध किया तो उन्होंने उनके साथ जमकर मारपीट भी की।

उत्तराखंड से बीजेपी गई, खंडूरी का जीत पाना भी मुश्किल

उत्तराखंड में विधान सभा चुनाव संपन्न हो गए. वोटों की गिनती 6 मार्च को होनी है. लेकिन गिनती से पहले जो रुझान आ रहे है उसे देख यही लगता है कि ''खंडूरी हैं जरूरी'' का नारा बीजेपी का नहीं चला, और ''कांग्रेस है जरूरी'', या ''परिवर्तन है जरूरी'' की हवा चली. खबर तो यह भी है कि कोटद्वार से खंडूरी की सीट भी निकलनी मुश्किल है. अलबत्ता पूर्व मुख्यमंत्री निशंक जीत रहे हैं. उत्तराखंड में चार महीने पहले मुखिया बदले जाने का प्रयोग एक बार फिर से नाकामयाब रहा. बीजेपी के कई दिग्गज चुनाव हार रहे हैं, ऐसे संकेत मिल रहे हैं. 70 सीटों में से कांग्रेस को 38, बीजेपी को 20, बसपा को 4 और अन्य को 8 सीट मिलने की सम्भावनायें जताई जा रही है.

”क्रांतिकारी संकेत” में एचआईवी पीड़िता का नाम व तस्वीर प्रकाशित

रायगढ़ : पत्रकारिता के नियमों की धज्जियां अगर उड़ती देखनी हो तो रायगढ़ के एक अखबार को देखिये, जिसने तमाम नियमों को ताक पर रखकर एक एचआईवी पीड़ित का न केवल नाम बल्कि उसकी तस्वीर भी छाप दी. दरअसल पुलिस की नौकरी से बीमारी का बहाना बनाकर नक्सल क्षेत्र से भागे पुलिस अधिकारी ने अपना रौब दिखने के लिए इस अखबार का प्रकाशन शुरू करवाया, पर उन्हें पत्रकारिता नहीं आती, न ही उन लोगों को जिन्हें इन्होंने संपादक या सहसंपादक बनाया है.

सीकर-झुंझुनु में अवैध तरीके से चलाया जा रहा है एक न्‍यूज चैनल

श्रीमानजी, सीकर, झुंझुनु व चुरु जिलों में मे पिछले काफी दिनों से प्रशासनिक अधिकारियों के संरक्षण में एक निजी न्यूज शेखावाटी अबतक के नाम से चल रहा है। इस न्यूज चैनल के पास केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से प्राप्त कोई लाइसेंस भी नहीं है इसके बावजूद भी न्यूज चैनल धड़ल्ले से चलाया जा रहा है। इस चैनल पर गैर-कानूनी ढंग से विज्ञापन चलाए जा रहे हैं। केबल नेटवर्क आसपास के तकरीबन 50-60 गांव में है। इसके लिए भूमिगत केबल बिछाने के लिए पंचायत विभाग से भी अनुमति नहीं ली गई है।

एसएसपी को गरियाने वाला जैन मुनि गिरफ्तार, कई लड़कियों से हैं संबंध

बदायूं। पिछले महीने एसएसपी नवनीत राणा के फोन पर गालियां देने और जान से मारने की धमकी देने वाले को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने उसे एसएसपी के सामने पेश किया, बाद में एसएसपी के निर्देश पर उसे जेल भेज दिया गया। बता दें कि पिछले महीने एसएसपी श्री राणा के मोबाइल पर फोन आया उस वक्त श्री राणा अपने आवास पर विश्राम कर रहे थे। उनका सीयूजी मोबाइल ड्यूटी पर तैनात एक सिपाही के पास था। हैलो की आवाज करने पर फोन करने वाले ने बताया कि वह दिल्ली से बोल रहा है।  एसएसपी से बात कराओ, सिपाही ने कहा कि साहब अभी आराम कर रहे हैं, इसपर वह गालियां देने लगा। परेशान होकर सिपाही ने एसएसपी श्री राणा को फोन दिया तो भी वह नहीं माना उसने उन्हें भी अपशब्द कह दिए। श्री राणा ने उसकी मंशा पूंछी तो उसने बताया कि बिनावर थाने में उसके कुछ रिश्तेदार पकड़ गए हैं, उन्हें तत्काल छुड़वा दो नहीं तो तुम्हारी वर्दी उतरवा दी जाएगी।

Malpractice of paid news is widespread

I have been receiving complaints from several quarters that in the on-going elections in five States, the malpractice of paid news is widespread.  This is a threat to free and fair elections, and it undermines the foundation of democracy and shakes the people’s faith in the media.  This malpractice will subvert parliamentary democracy in the country, unless ruthlessly stamped out.

आठवीं विकास संवाद मीडिया लेखन और शोध फेलाशिप के लिए आवेदन आमंत्रित

: 20 फरवरी होगी अंतिम तिथि : भोपाल। वर्ष 2012 के लिए विकास संवाद मीडिया लेखन और शोध फेलोशिप की घोषणा कर दी गई है। इस साल प्रदेश के छह पत्रकारों को सामाजिक मुद्दों पर लेखन और शोध करने के लिए फेलोशिप दी जाएगी। आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि 20 फरवरी है। इस वर्ष (1) बच्चों का स्वास्थ्य और पोषण, (2) विस्थापन के सांस्कृतिक-सामाजिक प्रभाव (बाल अधिकारों के संदर्भ में), (3) आदिवासी स्वास्थ्य और परम्परागत ज्ञान (तब और अब), (4) शहरी गरीबी बनाम शहरी अर्थव्यवस्था में झोपड़पट्टीवासियों का योगदान और कार्यक्षमताएं, (5) शिक्षा के अधिकार कानून के दो साल और (6) बहिष्कार: विकास से वंचित समुदाय के मुद्दों पर फेलोशिप  दी जाएगी। यह फेलोशिप छह माह की अवधि की होगी। इस दौरान पत्रकारों को उनके विषयों पर लेखन और शोध कार्य करना होगा। इनमें से एक फेलोशिप में अंग्रेजी और इलेक्ट्रोनिक मीडिया के पत्रकार को प्राथमिकता दी जाएगी।

N Ram denies charge of landgrabbing

Chennai : Former AIADMK MP KC Palanisami on Wednesday accused N Ram, former editor in chief of The Hindu and some directors of Kasturi and Sons Ltd (KSL), publishers of the English daily, of criminal intimidation and landgrabbing.
In a complaint submitted to the state DGP and Chennai city police commissioner, he alleged that Ram was using coercive tactics to force him to part with a property worth Rs 400 crore for Rs 30 crore.

स्‍वतंत्र मिश्रा ने यूपी में रिपोर्टरों के हाथ में विज्ञापन का कटोरा थमाया

सहारा समय उत्तर प्रदेश/उत्तराखण्ड न्यूज चैनल के सभी फिल्ड रिपोर्टरों की चुनाव में मीडिया हेड स्वतंत्र मिश्रा ने हाथ में विज्ञापन का कटोरा देकर मैदान में उतार दिया है. बेचारे रिपोर्टर आईडी के स्थान पर विधान सभावार 5 लाख रुपये विज्ञापन/पेई खबर के लिए प्रत्याशियों के दरवाजे दरवाजे दस्तक दे रहे हैं। चन्दौली जिले में एक माफिया ने 6 लाख रुपये की डील फाइनल कर दी है, जिससे कम्पनी के विज्ञापन विभाग और योजना बनाने वालों में उत्साह का संचार हो गया है और अन्य जिलों में रिपोर्टरों पर दबाब न केवल बनाया जा रहा है बल्कि एक टीम बनायी गयी है जो जिले में जा रही है और सम्भावित उम्मीदवारों से डील को फाइनल करने के लिए स्टे कर कार्य कर रही है।

दैनिक भास्कर की ऐसी पत्रकारिता पर पीयूसीएल ने विरोध जताया

: पीयूसीएल की ओर से जारी बयान : दैनिक भास्कर के जयपुर संस्करण 14 जनवरी के अंक में छपे समाचार- दरिंदों की वकालत, पीडि़तों पर आफत को लेकर मानवाधिकार संगठन पीपुल्स यूनियन फार सिविल लिबर्टीज ने कड़ी आपत्ति जतार्इ है. इस समाचार में एक तरफ जहां दया को लेकर संवैधानिक हक को तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया है, वहीं पीयूसीएल संगठन के बारे में जनता को गुमराह करने की कोशिश की गर्इ है.

UP Elections: Why political shifts are important for Anil Ambani, Manoj Gaur, Ponty Chadha, Subrata Roy & Kushagra Bajaj

Mayawati or Mulayam? That question takes on a whole new meaning for some business groups. For the last 10 years, these two politicians have taken turns to preside not only over Uttar Pradesh, but also over policy and administrative decisions that made or unmade select business groups. According to professor Rajesh Mishra, head of the sociology department in Lucknow University, as they grow in stature, emerging politicians start having economic interests of their own that goes beyond funding elections.

गोरखपुर-बस्‍ती मंडल के जिलों में नहीं बिका जनसंदेश टाइम्‍स, बंधे रह गए बंडल

सुभाष राय के इस्‍तीफा देने के झटका से अभी जनसंदेश टाइम्‍स उबरा भी नहीं है कि उसे दूसरा झटका लग गया है. आज गोरखपुर से जुड़े तीन जिलों में जनसंदेश टाइम्‍स को भेजा गया, पर अखबार कहीं नहीं बिका. देवरिया, कुशीनगर और महाराजगंज में अखबार का बंडल भेजा गया था, पर वह बंधा का बंधा ही रह गया. अखबार का कोई खरीददार नहीं मिला. इसके पहले बस्‍ती, संत कबीरनगर और सिद्धार्थनगर में अखबार भेजा गया था. वहां भी अखबार का यही हश्र हुआ. अब तक दैनिक जागरण को उखाड़ने का सपना देखने वाले खुद औंधे मुंह गिर पड़े हैं.

न्‍यूज एक्‍सप्रेस में डिप्‍टी ईपी बनीं अंजू ग्रोवर, चंदन हमार टीवी पहुंचे

सीनियर जर्नलिस्‍ट अंजू ग्रोवर के बारे में खबर है कि वे न्‍यूज एक्‍सप्रेस से जुड़ने जा रही हैं. उन्‍हें डिप्‍टी एक्‍जीक्‍यूटिव प्रोड्यूसर बनाया जा रहा है. अंजू डेढ़ दशक से ज्‍यादा समय से पत्रकारिता में सक्रिय हैं. कुछ महीने पहले उन्‍होंने फोकस टीवी से इस्‍तीफा दिया था. वे वहां इनपुट एडिटर के रूप में काम संभाल रही थी तथा लांचिंग के समय से ही जुड़ी हुई थीं. अंजू फोकस के अलावा पैट्रियाट, सिटी चैनल, फर्स्‍ट एडिशन, नेपाल वन जैसे संस्‍थानों को अपनी सेवाएं दे चुकी हैं. अंजू की हिंदी तथा अंग्रेजी दोनों भाषाओं पर मजबूत पकड़ है.

उमा भारती के पीछे काम कर रहा चिन्‍मयानंद का दिमाग

सावन का महीना आने से पहले ही सुहागिन महिलायें सजने-संवरने की विशेष तैयारियां शुरू कर देती हैं, ऐसे ही पसंदीदा मौसम में तमाम तरह के जीव-जंतु और पशु-पक्षी विशेष स्थानों पर प्रवास करने पहुंच जाते हैं, ठीक वैसे ही चुनाव का मौसम आने पर कुछ स्त्री-पुरुष भगवा रंग के कपड़े निकाल लेते हैं और अचानक आस्था-श्रद्धा उनके सिर चढ़ कर बोलने लगती है, जबकि
समाज से दूर बाकी समय यह तथा-कथित भगवाधारी स्त्री-पुरुष विदेशी कपड़ों में लिपटे नजर आते हैं, साथ ही पूरे समय वैभव का आनंद लेते रहते हैं। जनता को समझना चाहिए कि बाकी समय मौन रहने वाले तथा-कथित भगवाधारियों को चुनाव के समय ही हिंदुत्व, गाय, गंगा क्यूं याद आते हैं?

शराब माफिया पोंटी चड्ढा के ठिकानों पर छापेमारी शुरू

यूपी के मायाराज में शराब और चीनी मिलों के जरिए गैरकानूनी तरीके से अरबों-खरबों रुपये कमाने और सरकार के लोगों को कमवाने वाले गुरप्रीत चड्ढा उर्फ पोंटी चड्ढा के बुरे दिन शुरू हो चुके हैं. उसके ठिकानों पर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने आज छापेमारी शुरू कर दी है. लखनऊ, इलाहाबाद से प्रकाशित हिंदी दैनिक डेली न्यूज एक्टिविस्ट में पोंटी चड्ढा के शराब व चीनी के कारनामों को लेकर कई पार्ट में स्टोरी छपी जिसका लगातार प्रकाशन भड़ास4मीडिया पर भी किया गया.

राजेश जेटली हिंदुस्तान में एक्जीक्यूटिव एडिटर (डिजाइन) बने, क्षमा पहुंचीं न्यूज24

अमर उजाला के क्रिएटिव हेड पद से इस्तीफा देने वाले राजेश जेटली ने नई पारी की शुरुआत कर दी है. आज उन्होंने हिन्दुस्तान अखबार में बतौर एक्जीक्यूटिव एडिटर (डिजाइन) के पद पर ज्वाइन कर लिया है. राजेश जेटली ने महीने भर पहले अमर उजाला प्रबंधन को अपने जाने का नोटिस थमा दिया था. तभी से उनके बारे में कयास लगाया जा रहा था कि वे हिंदुस्तान में जा सकते हैं. आज उन्होंने औपचारिक रूप से हिंदुस्तान अखबार में ज्वाइन कर लिया है.

बाराबंकी में पत्रकारों को गड्डियां बांट कर चुनावी फिजा बनाने की कोशिश

: विज्ञापन की बजाय समाचार से ही मैदान मारने की तैयारी : बाराबंकी। चुनाव आयोग की जिले में नहीं चल पा रही सख्ती। आचार संहिता की धज्जियां उड़ा कर यहां प्रत्याशी मीडिया में बढ़िया छपास की भूख शांत करने के लिए नोट की गड्डिया  बांट रहे हैं। चुनिंदा मीडिया कर्मियों को नोट की गड्डी के तौर पर नजराना पेश करने वाले दलों को इस बात का यकीन है कि इसके जरिए वह बेहतर खबर प्रकाशित कर पार्टी मुखिया की नाक का बाल बन सकते हैं। 22 वर्ष का सूखा खत्म करने के लिए कांग्रेस के युवराज राहुल गांधी जहां दिन रात एक किए हैं वहीं जिले में पार्टी की रहनुमाई करने वाले उनसे कोई प्रेरणा लेने की बजाय संवाददाताओं की मुट्ठी गरम कर वाहवाही लूटने के फिराक में मशगूल है।

जनसंदेश टाइम्स का ग्रुप एडिटर ज्ञानेंद्र शर्मा को बनाए जाने की चर्चा

हिंदी दैनिक जनसंदेश टाइम्स का ग्रुप एडिटर यूपी के सूचना आयुक्त रहे ज्ञानेंद्र शर्मा को बनाए जाने की संभावना जताई जा रही है. ज्ञानेंद्र शर्मा इन दिनों रिटायर्ड जीवन जी रहे हैं. नवभारत टाइम्स समेत कई अखबारों में काम कर चुके ज्ञानेंद्र शर्मा से जनसंदेश टाइम्स प्रबंधन की बातचीत काफी दिनों से चल रही थी. जनसंदेश टाइम्स, लखनऊ में कार्यरत कई दलाल व लायजनर जर्नलिस्ट ज्ञानेंद्र शर्मा को लाने की जुगत भिड़ा रहे थे. माना यह भी जा रहा है कि ज्ञानेंद्र शर्मा समाजवादी पार्टी के काफी करीब हैं, इसलिए अगर वे ग्रुप एडिटर बन जाते हैं तो यूपी में आने वाली संभावित सपा सरकार से जनसंदेश टाइम्स अखबार को काफी फायदा मिल सकता है.

सहारा के संवाददाता बृजेश चौधरी की मां का निधन

मेरठ। मेरठ ब्यूरो में कार्यरत सहारा समय के संवाददाता बृजेश चौधरी की माता रामकली देवी (82) का सोमवार की सुबह  निधन हो गया. वे काफी समय से बीमार चल रही थी. एक सप्‍ताह पहले हालत ज्‍यादा खराब होने पर उन्‍हें मेरठ के एक स्‍थानीय निजी चिकित्‍सालय में भर्ती कराया गया था, जहां उनका इलाज चल रहा था. उन्‍होंने चिकित्‍सालय में ही तड़के चार बजे आखिरी सांस लीं. वे अपने पीछे अपने तीन पुत्रों बृजभान सिंह, ब्रजराज सिंह और बृजेश चौधरी का भरा पूरा परिवार छोड़ गयी हैं.

21 चीनी मिलों को नियम के विरुद्ध औने-पौने दामों पर बेच डाला

: भाग अंतिम : उच्च न्यायालय में लंबित है सीबीआई जांच की याचिका : इलाहाबाद। यूपी में हजारों करोड़ के चीनी मिल बिक्री घोटाले का मामला इलाहाबाद हाईकोर्ट में विचाराधीन है। हाईकोर्ट ने सरकार, मिल खरीदार कंपनियों और सीएजी रिपोर्ट का भी संज्ञान ले रखा है। पत्रकार सच्चिदानंद गुप्त ने हाईकोर्ट की लखनऊ पीठ में याचिका दायर कर बसपा सरकार पर आरोप लगाया है कि वर्ष 2010 में सरकार ने मुनाफा दे रही 11 चालू चीनी मिलों को औने-पौने दामों में निजी कंपनियों को बेच दिया है, इसी प्रकार 4 जनवरी 2011 को दस अन्य चीनी मिलों को भी नियम विरुद्ध तरीके से बेच दिया गया है।

जनसंदेश टाइम्स में सुभाष राय का अंतिम लेख- ”मिलेंगे फिर किसी मोड़ पर”

: सपने देर तक नहीं चलते, टूटते हैं, टूटने के लिए ही होते हैं शायद : मिलेंगे फिर किसी मोड़ पर : आदमीयत को जीवित रखने के लिए अगर एक दारोगा को गोली मारने का अधिकार है तो मुझे क्यों नहीं? मेरे बड़े भाई आलोक धन्वा ने कभी अपनी एक मशहूर कविता में ये पक्तियाँ लिखी थीं। जवानी के दिनों में हम सब इसके बड़े दीवाने थे। जब आपातकाल लगा था तो इन्हीं पंक्तियों के बीच से एक सपना मेरे मन में उगा था। मेरे कई मित्रों के मन में। हम सब युवा थे, मन में जोश था, कुछ भी अनैतिक, अनुदात्त और अस्वीकार्य झुका नहीं पाता था, बड़ा से बड़ा आकर्षण भी डिगा नहीं पाता था। मन जरूरत से ज्यादा आदर्शवादी था। उसके खिलाफ किसी का जाना, किसी परिस्थिति का भी, कभी स्वीकार नहीं होता। प्रतिरोध रग-रग में था और कई बार उसके हिंसक हो जाने पर भी कोई रंज नहीं होता था। ऐसे मन पर आपातकाल का गहरा असर हुआ।

वो मेल जो अनुज पोद्दार को सुभाष राय ने लिखा, पर जवाब न आया

श्रीमान अनुज पोद्दार जी, निदेशक, जनसंदेश टाइम्स हिंदी दैनिक, नमस्कार, आप पढ़े-लिखे मालूम पड़ते हैं लेकिन मुझे दुःख है कि मैं आप को अपनी बात समझा नहीं पाता हूँ. ये भी हो सकता है कि आप मेरी बात समझना ही न चाहते हों. एक बार फिर मैं आप को पत्र के जरिये अपना नजरिया बताना चाहता हूँ ताकि आप स्थिरचित्त होकर इसे पढ़ सकें और समझ सकें. जिन तीन लोगों को लेकर मैं यहाँ आया था, उन तीनों का  ही जनसंदेश टाइम्स को एक प्रतिष्ठित अख़बार बनाने में बड़ा योगदान रहा है. उनमें से एक आनंद अग्निहोत्री यहाँ अपने बीच के लोगो द्वारा गढ़ी गयी अराजकता से परेशान होकर जा चुके हैं. हरे प्रकाश और सत्येन्द्र मिश्र अब भी हमारे साथ हैं. आप अनुमान नहीं लगा सकते कि इन दोनों ने कितनी मेहनत की इस अख़बार को बनाने में और इसे प्रतिष्ठा दिलाने में.

मुझे जनसंदेश टाइम्स में अब नहीं होना चाहिए, मगर क्यों : सुभाष राय

सुभाष राय ने कभी खुद की मार्केटिंग नहीं की. वे जहां रहे, चुपचाप अपना काम करते रहे. अपने साथियों को अपना बेस्ट देने के लिए उकसाते रहे. यही वजह है कि वे अमर उजाला में रहे तो कई दशक तक एक ही यूनिट में संपादक के बतौर रह गए. उनके पास कई आफर आए, लेकिन वे कहीं गए नहीं, डिगे नहीं. वे बात के धनी हैं. जबान के मजबूत हैं. भरोसा रखते हैं और भरोसा रखने वालों को पसंद करते हैं. जुबान के खरे हैं, कलम के धनी हैं. इसलिए हिप्पोक्रेसी बहुत देर तक बर्दाश्त नहीं करते. खुलापन पंसद है, फक्कड़पन से प्यार है.

सहारा का प्री पोल सर्वे : यूपी में सपा होगी सबसे बड़ी पार्टी

Sahara News Network has conducted a pre- poll survey in Uttar Pradesh between 21st December 2011 and 5th January, 2012 in all the 403 constituencies spread over 72 districts. The sample size was 2,01,500 which was selected randomly keeping in mind the percentage of population distributed in terms of rural- urban, male, female and different castes and community groups.

बेहैसियत आजम खान दिमागी बुखार के मरीज हैं : शाही इमाम

समाजवादी पार्टी नेता आजम खान दिमागी बुखार के मरीज हैं…. आजम खान की कोई हैसियत नहीं है… आजम खान फ्रस्ट्रेटेड हैं… अखिलेश यादव ने आजम खान का सही इलाज किया है, अब चुनाव में जनता भी उनका इलाज कर देगी… आजम खान की हैसियत को सिरे से खारिज करते हुए ये बातें कही है जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने. पिछले सप्ताह ही समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव की मौजूदगी में इमाम बुखारी ने समाजवादी पार्टी में पक्ष में मुसलमानों से अपील की थी. उसके तुरंत बाद आजम खान ने अपने अंदाज में बुखारी की आलोचना की और अब बुखारी ने आजम पर हमला बोल दिया है. बुखारी ने न्यूज 24 के मैनेजिंग एडिटर अजीत अंजुम को दिए एक खास इंटरव्यू में कहा कि उन पर ये इल्जाम गलत है कि उन्होंने सिर्फ दामाद को टिकट दिए जाने के बदले सपा का साथ देने का एलान किया है.

हिंदी दैनिक जनसंदेश टाइम्स को तगड़ा झटका, सुभाष राय अलग हुए

: अजय उपाध्याय को ग्रुप एडिटर बनाए जाने की चर्चा : लखनऊ समेत कई जगहों से प्रकाशित होने वाले हिंदी दैनिक जनसंदेश टाइम्स को तगड़ा झटका लगा है. इस अखबार के प्रधान संपादक सुभाष राय ने खुद को अखबार से अलग करने का फैसला कर लिया है. कल शाम से सुभाष राय के इस्तीफे से संबंधित चर्चाएं सूचनाएं भड़ास4मीडिया तक पहुंच रहीं थीं. आज जब सुभाष राय से इस संदर्भ में भड़ास4मीडिया ने बात की तो उन्होंने कहा कि जनसंदेश टाइम्स में जब तक खुलकर काम करने की स्थितियां थीं, तब तक उन्होंने पूरे दिल से काम किया. अब कई तरह के अनैतिक दबाव उन पर पड़ रहे हैं, इस कारण वे खुद को अखबार से आजाद करना चाहते हैं.

रजनीश बने सहारा समय कोलकाता के ब्‍यूरोचीफ

: प्रभात जनसंदेश टाइम्‍स से जुड़ेंगे : वरिष्‍ठ पत्रकार रजनीश को सहारा समय ने कोलकाता में ब्‍यूरोचीफ बनाकर भेजा है. उनके पास पूरे वेस्‍ट बंगाल की जिम्‍मेदारी रहेगी. रजनीश इसके पहले सहारा समय के पटना ब्‍यूरो में पिछले नौ सालों से कार्यरत थे. तेजतर्रार पत्रकारों में गिने जाने वाले रजनीश ने आईआईएमएसी से पत्रकारिता की डिग्री लेने के बाद ऑल इंडिया के हिंदी न्‍यूज डिविजन से अपने करियर की शुरुआत की. वे आज तक, जी न्‍यूज के साथ भी जुड़े. इसके बाद वे पटना में ईटीवी चैनल के लांचिंग टीम के सदस्‍य बने. पटना में जब सहारा समय की शुरुआत हुई तो रजनीश चैनल से जुड़ गए और अब तक जुड़े हुए हैं.

म्यांमार से अल्फा प्रमुख का साक्षात्कार लेकर सुरक्षित लौटे दोनों मीडियाकर्मी

गुवाहाटी। म्यांमार गए असम के दो पत्रकार असम वापस आ गए। इनमें से एक, फोटो पत्रकार प्रदीप गोगोई दुलियाजान स्थित अपने घर पहुंच चुके हैं, जबकि एक अंग्रेजी दैनिक, गुवाहाटी के वरिष्ठ पत्रकार राजीव भट्टाचार्य अपना सामान लाने वापस अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर गए हैं। फोटो पत्रकार प्रदीप गोगोई ने कहा है कि वे दोनों पूरी तरह स्वस्थ हैं। उन्होंने गिरफ्तार करने, यातना देने और उग्रवादियों के शिविर में बंदी बना लेने की खबरें को मनगढ़ंत बताया है।

आयोग ने चेताया- जनप्रतिनिधि अधिनियम की धारा 126 का उल्‍लंघन न करें चैनल

नई दिल्ली : 5 राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव में टीवी चैनलों द्वारा मतदान के दौरान चुनाव सर्वेक्षण करने और राजनीतिज्ञों का साक्षात्कार प्रसारित करने की शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए चुनाव आयोग ने नियमों का दोबारा उल्लंघन करने पर उन्हें कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी है। चुनाव आयोग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि हम नियमों को स्पष्ट करने के लिए नए सिरे से निर्देश जारी कर रहे हैं ताकि टेलीविजन चैनल इनका पालन करें और जन-प्रतिनिधि अधिनियम की धारा 126 के प्रावधानों का उल्लंघन नहीं करें। इसका उल्‍लंघन करने वाले चैनलों पर कार्रवाई की जाएगी। 

महिला पत्रकार पर हमले से जर्नलिस्‍टों में उबाल

बरनाला : एक पंजाबी समाचार पत्र की नाभा से पत्रकार हरविंदर कौर की मतदान के दिन कांग्रेसी वर्करों की ओर से कथित मारपीट किए जाने की घटना की प्रेस क्लब बरनाला रजिस्टर्ड की ओर से कड़ी निंदा करते हुए इसे अति शर्मनाक करार दिया गया। क्लब के प्रधान हरिंदर पाल निक्का, सलाहकार बोर्ड के चेयरमैन पुरुषोत्तम बल्ली, महासचिव सुखचरनप्रीत सुक्खी, सीनियर उपाध्यक्ष यादविंदर सिंह तपा, संयोजक अशोक भारती तथा उपाध्यक्ष निर्मल सिंह ढिल्लो ने कहा कि यह घटना जहां लोकतंत्र के चौथे स्तंभ मीडिया की आजादी पर हमला है।

सरकार ने कहा मीडिया में जारी राडिया के टेप से छेड़छाड़

नई दिल्ली : सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कहा है कि टाटा-राडिया टेप की मीडिया में जारी सीडी और सरकारी रिकॉर्ड में मौजूद सीडी में अंतर है। उसने यह भी कहा है कि सरकार के पास से टाटा-राडिया टेप की सीडी लीक नहीं हुई है। आयकर विभाग ने मंगलवार को सीडी लीक के बारे में सुप्रीम कोर्ट में सील बंद लिफाफे में रिपोर्ट दाखिल की। न्यायमूर्ति जीएस सिंघवी की अध्यक्षता वाली पीठ ने रिपोर्ट के कुछ अंश कोर्ट में पढ़े।