युवा पत्रकार सुनील पाठक के निधन पर फैजाबाद में शोकसभा का आयोजन

फैजाबाद के युवा पत्रकार सुनील पाठक के असामयिक देहांत पर दैनिक समाचार पत्र ''स्पष्ट आवाज़'' के ब्यूरो कार्यालय में पत्रकारों व समाज सेवियों ने एक शोक सभा का आयोजन किया. इसमें दिवंगत पत्रकार की आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन रखा गया. बैठक की अध्यक्षता ब्यूरो चीफ कुंवर समीर शाही ने की. उन्होंने कहा कि श्री पाठक के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता. उन्होंने अपनी कम उम्र में भी ये साबित कर दिया कि अगर ज़ज्बा हो तो कुछ भी असम्भव नही हैं. उन्होंने जीवन भर गरीब वंचितों के हितों की लड़ाई लड़ी.

इस चुनाव में मायावी गुरूर ही नहीं, कई मिथक भी टूटे

देश की लोकतांत्रिक राजनीति में व्यक्ति से लेकर जाति और धर्म तक के कई मिथक पहले चुनाव से ही गढ़ लिये गये थे और वे थोड़े बहुत रद्दो-बदल के साथ हर चुनाव में अपना असर दिखाते रहे लेकिन संतोष की बात है कि उत्तर प्रदेश में सम्पन्न हुआ विधानसभा का यह चुनाव छोटे-बड़े कई मिथक तोड़ गया है। जिन्हें यह घमंड था कि वे किसी जाति विशेष के लिए खुदा का दर्जा रखते हैं, उनकी खुदाई टूट गयी और जिन्हें यह भ्रम था कि वे खुदा को गढ़ने का हुनर जानते हैं, वे अपने लिए रास्ता तक नहीं तलाश पा रहे हैं।

जटा का काला सच (एक) : अज्ञात स्रोतों से मिले धन से चल रहा अखबार!

एचआरएचएम घोटाले के आरोपी पूर्व मंत्री बाबू सिंह कुशवाहा के वरदहस्त व सौरभ जैन (फ़िलहाल दोनों जेल में) के स्वामित्व से उत्पन्न जनसंदेश टाइम्स हिंदी दैनिक का खर्च आज भी अज्ञात स्रोतों से प्राप्त धन से ही चल रहा है. जनसंदेश टाइम्स के वर्तमान एमड़ी अनुज पोद्दार तो केवल बाबू सिंह कुशवाहा के प्यादे मात्र हैं. इसीलिए आज भी अख़बार का खर्च अज्ञात स्रोतों (बाबू सिंह कुशवाहा से प्राप्त धन) से चल रहा है. इस स्रोत को लीगल जामा पहनाने के लिए लखनऊ में तीस हजार कापी की एक फर्जी एजेंसी चलाई जा रही है. इस फर्जी प्रसार एजेंसी से प्राप्त धन से अख़बार के खर्चे चलाए जा रहे हैं जबकि इस एजेंसी का कहीं कोई वजूद नहीं है.

उदय सिन्हा की चैनल वन में वापसी, जाह्नवी समंत को मिडडे में नई जिम्मेदारी

खबर है कि चैनल वन में मैनेजिंग एडिटर के रूप में वरिष्ठ पत्रकार उदय सिन्हा ने वापसी कर ली है. उनके साथ उनकी पूरी टीम भी लौट आई है. बताया जाता है कि प्रबंधन से अनबन के बाद उदय सिन्हा ने आफिस आना बंद कर दिया था. उनके जाने के बाद कई अन्य लोगों ने संस्थान छोड़ दिया. फिर रहमतुल्लाह और विपिन धूलिया ने ज्वाइन किया. अब सूचना मिली है कि प्रबंधन ने उदय सिन्हा से बातचीत कर मतभेदों को खत्म कर लिया और उन्हें वापस आकर काम संभालने का अनुरोध किया. उदय सिन्हा ने अपनी टीम के साथ वापसी कर ली है. अब चैनल वन फिर से नए फार्म में सक्रिय होगा, ऐसा बताया जा रहा है. रहमतुल्लाह और विपिन धूलिया भी चैनल के साथ बने हुए हैं.

अगर रिहा नहीं किए गए काजमी तो 26 मार्च को घेर लिया जाएगा संसद

बाराबंकी। पत्रकार सैयद मोहम्मद काजमी की इजरायल खुफिया एजेन्सी से मिली भगत का दावा कर दिल्ली पुलिस द्वारा की गयी गिरफ्तारी का गुस्सा देश के कोने-कोने में फैल रहा है। आज जिले में लेखक, बुद्धिजीवियों, पत्रकारों और हक पसन्दों की गुलाम असकरी हाल में आयोजित हगामी जनसभा इमाम-ए-जुमा मौलाना रजा जैदपुरी की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। इस अवसर पर वक्ताओं ने दिल्ली पुलिस की कड़े शब्दों में निन्दा कर तत्काल पत्रकार सैयद मोहम्मद काजमी की रिहाई की मांग की।

उन्‍नाव में दैनिक जागरण के पत्रकार को सपा विधायक के भाई ने पीटा, बंधक बनाया

: एक लाइन की खबर भी नहीं छपी अखबार में : मुलायम सिंह यादव एवं अखिलेश यादव ने भले ही कहा हो कि यूपी में अब सपा सरकार में गुंडाराज नहीं रहेगा, पर अब तक जिस तरह की घटनाएं सामने आई हैं, उससे कहीं भी नहीं लग रहा है कि इस गुंडाराज पर रोक लग पाएगी. मतगणना वाले दिन सपाइयों ने झांसी में पत्रकारों से मारपीट की तो अगले दिन उन्‍नाव में सपा विधायक के दबंग भाई ने दैनिक जागरण के एक पत्रकार पर अपने साथियों के साथ हमला किया तथा घंटों बंधक बनाए रखा.

मेरठ से आज लांच होगा सुभारती ग्रुप का चैनल

पिछले दो सालों से अपने नान न्‍यूज राष्‍ट्रीय चैनल की लांचिंग की तैयारियों में लगा सुभारती ग्रुप सोमवार को इसे मूर्त रूप देने जा रहा है. आज अपराह्न दो बजे मेरठ के सुभारतीपुरम में स्थित सरदार पटेल ऑडिटोरियम में चैनल की विधिवत लांचिंग की जाएगी. यह चैनल काफी समय से टेस्‍ट सिग्‍नल पर चल रहा था. चैनल के हेड वरिष्‍ठ पत्रकार आरपी सिंह हैं. इनके नेतृत्‍व में ही चैनल की लांचिंग की जा रही है.

संजीव को लाने से नहीं धुलेंगे विभूति के दामन के दाग

वर्धा स्थिति महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय में राइटर-इन-रेजीडेंस के रूप में प्रसिद्ध कथाकार संजीव को जोड़ कर कुलपति विभूति नारायण राय ने निश्चय ही सराहनीय कार्य किया है। लेकिन विभूति के इस पुण्यकर्म से उनके दामन में लगे दाग नहीं धुल पाएंगे। जो लोग संजीव के राइटर इन रेजीडेंस बनने से हर्ष जता रहे हैं, वे इसके पीछे की हकीकत से वाकिफ नहीं है। यह विभूति के छद्म चरित्र का एक अंश भर है।

वेब सेंसरशिप के खिलाफ केरल हाई कोर्ट में याचिका दायर

: वेब सेंसरशिप के खिलाफ सेव योव वॉयस की टीम दक्षिण भारत में : उज्जैन, मेरठ और रोहतक के बाद सेव योर वायस की टीम अब दक्षिण भारत के दौरे पर है. इस क्रम में सेव योर वॉयस के प्रतिनिधि सबसे पहले कोच्चि पहुंचे और वहाँ लोकल ब्लॉगर्स और वेबसाइट ऑनर्स से वेब सेंसरशिप पर डिस्कशन किया. कोच्चि की लोकल वेबसाईट कोच्चि वाइब्स के प्रवीण और सिद्धार्थ ने भी माना कि वो खुद भी सेंसरशिप के खिलाफ कोच्चि में मुहिम छेड़ना चाहते थे और अब सेव योर वॉयस टीम के साथ जुडकर इस दिशा में कोच्चि के लोगों को जागरूक करेंगे.

फ्रंटलाइन के दिल्‍ली ब्‍यूरो चीफ के घर स्‍मैक की सूचना पर पहुंची पुलिस

नई दिल्ली। दिल्ली में अफवाह भरे फोन से रविवार को पुलिस स्मैक की तलाश में एक पत्रकार के घर पहुंच गई। पुलिस को वहां से कुछ भी बरामद नहीं हुआ। पुलिस के मुताबिक पीसीआर को एक फोन आया। फोन करने वाले ने कहा कि दक्षिणी दिल्ली के नेब सराय इलाके में अनुपम अपार्टमेंट के मकान …

ठगी करने वाले मीडिया कॉलेजों पर नकेल कसने की तैयारी

नई दिल्ली। मीडिया कालेजों को पारदर्शी नियमों के दायरे में लाने के लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय जल्द ही ठोस फैसला लेने की तैयारी में है। इसके तहत राज्यों के तकनीकी विश्‍वविद्यालयों को दिशा निर्देश जारी किए जाएंगे। इस तरह के तमाम मीडिया कालेजों की शिकायतें मिलीं है जो एक एक कमरे में चल रहे हैं। इन कालेजों को तकनीकी विश्‍वविद्यालयों ने मान्यता भी दे रखी है। इनसे निकलने वाले छात्रों को मीडिया में उस स्तर का रोजगार नहीं मिल पा रहा है, जो सपना लेकर उन्होंने मीडिया कालेजों में दाखिला लिया था।

कौन भरोसा करता है एक्जिट पोल पर?

‘‘ओपिनियन पोल और एक्जिट पोल मनोरंजन चैनलों के लिए सर्वश्रेष्ठ हो सकते हैं।’’ मुख्य चुनाव आयुक्त एसवाई कुरैशी का ट्विट। तो क्या सचमुच एक्जिट पोल मनोरंजन के ही पात्र हैं। अब तक के अनुभव तो यही कहते हैं। याद कीजिए उत्तर प्रदेश के 2007 के एक्जिट पोल को… लेकिन जब ईवीएम मशीनों का पिटारा खुला तो उनमें से जो आंकड़े बाहर निकले, वे हकीकत से काफी दूर थे।

उत्पीड़न की घटनाओं पर न लड़ना है, न धरना-प्रदर्शन करना है : मायावती

सत्ता से बाहर आते ही मायावती ने अपने लोगों को फार्मूला दे दिया है. उन्होंने अपने नेताओं और कार्यकर्ताओं से कह दिया है कि कहीं भी सरकार से लडऩा नहीं है, उत्पीडऩ की घटनाओं पर पार्टी पदाधिकारियों व जनप्रतिनिधियों को धरना प्रदर्शन भी नहीं करना है. सिर्फ पार्टी के नेताओं को जानकारी देनी है. नेता लोग राज्यपाल को ज्ञापन देंगे या विधानसभा में मामला उठाएंगे. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में करारी हार के बाद मायावती 'छवि सुधारो अभियान' के तहत बसपा विधायक दल की बैठक में नसीहत दे रही थीं.

इंटरनेट माध्यम पर कुल विज्ञापन का चार फीसदी खर्च

: मीडिया और एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री 729 अरब रुपये का हुआ : बीते बरस (वर्ष 2011) देश के मीडिया व एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री की ग्रोथ रेट 12 परसेंट रही और यह 729 अरब रुपये का हो गया है. यह आंकड़ा फेडरेशन आफ चैंबर्स आफ कामर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) और केपीएमजी का संयुक्त रूप से है. रिपोर्ट के मुताबिक आने वाले वर्षों में इस उद्योग का विकास 15 फीसदी चक्रवृद्धि दर से होगा और 2015 तक यह उद्योग 1457 अरब रुपये का हो जाएगा.

बस्ती में मीडियाकर्मियों को पुलिस ने कवरेज करने से रोका

यूपी के बस्ती जिले से खबर है कि मंडलीय कारागार में फायरिंग की खबर मिलने के बाद मौके पर पहुंचे मीडियाकर्मियों को पुलिस ने कवरेज करने से रोक दिया. फायरिंग की खबर के तत्काल बाद दर्जनों की संख्या में मीडिया कर्मी मंडलीय कारागार के गेट पर पहुंचे. कारागार गेट पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था थी और पुलिस के जवानों ने सख्ती बरतते हुए मीडियाकर्मियों को मौके पर जाने से रोक दिया. घंटा भर बाद मीडिया वालों को जेल से सौ मीटर तक जाने की अनुमति मिली.

The Hindu forges ahead again as South India’s No.1 English Daily

The Hindu has registered a big increase in its readership, Indian Readership Survey (IRS) data for the 4th quarter of 2011 show. The Hindu has gained 71,000 readers, a growth of 3.3 per cent in national readership from the previous quarter. One of the biggest gainers amongst English dailies this quarter, The Hindu has seen a cumulative addition of 1.45 lakh readers over the past one year. The publication's current Average Issue Readership (AIR) is 22.4 lakh readers. Once again, The Hindu retains its position as the most-read English daily in South India and the 3rd largest English newspaper nationally.

Delhi, NCR votes Hindustan Times No.1 again

Here's a piece of news you've heard before: Hindustan Times is the undisputed No. 1 newspaper in Delhi-NCR. In the latest round (2011 Q4) of the Indian Readership Survey (IRS) released by the Media Research Users' Council on Monday, HT has once again been declared the leading newspaper of Delhi, and of the National Capital Region (NCR) — for the eighth consecutive time. With a daily readership (Average Issue Readership, or AIR) of 22.25 lakh, HT has 58,000 more daily readers than its closest competitor, The Times of India (TOI). What's more, HT has reaffirmed its position as the newspaper of choice among the more affluent and educated households, with 1.55 lakh higher daily readership in SEC-A than TOI.

TOI adds 1.49 lakh readers, widens lead

This is one result where there's absolutely no doubt about the winner. The Times of India, India's (and the world's) largest-selling English newspaper by an enormous margin, widened its lead over other papers in the fourth quarter (October-December) of 2011, according to the latest round of the Indian Readership Survey (IRS). Propelled by a huge increase of 61,000 readers in Mumbai, TOI added 1.49 lakh readers across India – way more than the growth in readership (1.1 lakh) of its five nearest rivals put together. TOI's all-India readership is more than two times that of the No 2 paper (HT) and almost three and a half times that of the No 3 paper (The Hindu).

जिन शशांक शेखर के कारण मायावती हारीं, उन्हें देंगी इनाम

: राज्यसभा में जाकर अब सेंटर की राजनीति करेंगे मायावती और शशांक शेखर : लखनऊ से खबर है कि करारी हार का सामना करने वाली मायावती और उनके खास सिपहसालार शशांक शेखर सिंह अगले महीने से उत्तर प्रदेश से राज्यसभा के सदस्य होंगे. मायावती ने पार्टी के एमएलए, एमपी और कोआर्डिनेटरों के साथ एक बैठक में सभी को 2014 में होने वाले लोकसभा चुनाव की तैयारी में जुटने को कहा है. बताया जा रहा है कि राज्यसभा की रिक्त होने वाली सीटों पर भी बसपा की तरफ से नाम तय कर लिए गए हैं और मायावती को अधिकार दिया गया है कि वे इस मामले में अंतिम फैसला लें.

कोल्ड ड्रिंक पी-पी कर अंतड़िया सड़ा ली हैं अमिताभ बच्चन ने!

बड़ी आंत की अंतड़ियां सड़ चुकी हैं अमिताभ बच्चन की. सड़ी अंतड़ियों को काट काट कर उसे जीवनदान दिया गया. ये अंतड़िया कोल्ड ड्रिंक पी पी कर अमिताभ ने सड़ा ली. वो न शराब पीता है, न गुटका खाता है, न सूअर खाता है. कोल्ड ड्रिंक प्रेम ने अमिताभ को बीमार कर दिया. उसे पेट का आपरेशन कराना पड़ा. उसके डाक्टर ने बताया कि अगर सड़ी अंतड़ियां न काटी जाती तो उसकी जान न बच पाती.

‘पत्रकारिता को कलंकित होते देख वेबसाइट शुरू की है’

आदरणीय यशवंतजी, मैं, ओमप्रकाश सिंह, मुंबई से सटे भाईंदर क्षेत्र में रहता हूँ. पिछले कई वर्षों से सतत पत्रकारिता से जुड़ा रहने के बाद मैंने अपना साप्ताहिक अखबार 'आपका शहर' गत तीन वर्षों से प्राकाशित कर रहा हूँ.  भाईंदर क्षेत्र में अनेकानेक ऐसे लोगों ने पत्रकारिता आरंभ कर दी है जिनका पत्रकारिता जैसे गरिमामय क्षेत्र से दूर-दूर तक लेना देना नहीं था. दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति तो तब पैदा हो गई जब कई वर्षों से इस क्षेत्र में पत्रकारिता कर रहे सम्मानित पत्रकरों ने ऐसे लोगों की चाटुकारिता शुरू कर दी. महज कुछ पैसे की लालच में पत्रकारिता को कलंकित होता देख मेरे मन में खेद उत्पन्न हुआ.

देहरादून में युवा पत्रकारों के संगठन ने महिला दिवस पर गोष्ठी का आयोजन किया

देहरादून : उत्तराखंड राज्य में पहली बार ऐसा हुआ जब पत्रकारों की पहल पर महिला दिवस को आधार बनाकर महिला मुद्दों पर एक गोष्ठी का आयोजन किया गया। महिला दिवस के दिन होली और इससे पहले छह मार्च को मतगणना होने के कारण चार मार्च को आयोजित हुए इस कार्यक्रम में 27 युवा पत्रकारों ने उत्साहपूर्वक भाग लिया। राजधानी के हिन्दी साहित्य समिति भवन में युवा पत्रकारों के नवजात संगठन इंडियन यूनियन आफ प्रोगेसिव जर्नलिस्ट ने इस गोष्ठी का आयोजन किया। महिला मुद्दे और मीडिया विषय पर आयोजित गोष्ठी में बतौर अतिथि और वक्ता महिला समाख्या की राज्य निदेशक गीता गैरोला और समाजसेवी डा. डीएस पुन्डीर ने अपनी बात रखी।

वर्धा विवि में कुछ बेहतर दे पाऊं तो आना सार्थक हो जाए : संजीव

वर्धा : महात्‍मा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय हिंदी विश्‍वविद्यालय, वर्धा में ‘राइटर-इन-रेजीडेंस’ के रूप में जुड़ने वाले वरिष्‍ठ साहित्‍यकार संजीव तकरीबन सवा सौ कहानियां, उपन्‍यास और विविध किस्म के लेखन कर चुके हैं. साहित्यिक पत्रिका ‘हंस’ में कार्यकारी संपादक के रूप में ख्‍यातिलब्‍ध संजीव ने समाज के झंझावातों से जूझने के लिए कलम को हथियार बनाया. ‘किशनगढ़ के अहेरी’, ‘सर्कस’, ‘सावधान नीचे आग है’, ‘धार’, ‘पांव तले की दूब’, ‘जंगल जहां शुरू होता है’, ‘सूत्रधार’, ‘रानी की सराय’, ‘आकाश चम्‍पा’, ‘रह गई दिशाएं इसी पार’ जैसे उपन्‍यास रचने वाले संजीव, आज साहित्‍य जगत की एक अज़ीम शख़्शियत हैं क्योंकि उनके लेखन का सरोकार संसार के सबसे कमजोर तबके के साथ जुड़ता है; साथ ही, उनके साहित्य में भारतीय समाज एवं आदिवासी संस्कृति का यथार्थ चित्र परिलक्षित होता है.

एमडी से शिकायत- इंचार्ज हम लोगों से वसूली कर रहा है!

गोरखपुर। जनसंदेश का तिलिस्म दो माह के अन्दर ही टूटने लगा। स्थानीय डेस्क इंचार्ज के उत्पीड़न और भ्रष्ट प्रवृत्तियों के कारण अब यहां के पत्रकारों का मोहभंग होने लगा है. हालत यह है कि सम्पादक डा. शैलेन्द्र मणि त्रिपाठी के दिखाये गये झूठे सब्जबाग से उबकर अब ईमानदार व तेज तर्रार पत्रकार इस संस्थान को अलविदा कहने लगे हैं. इसकी शुरुआत किया है आई-नेकस्ट छोड़ कर जनसंदेश ज्वाइन किये अनुराग तिवारी ने. उन्होंने स्थानीय डेस्क इंचार्ज राजीव रंजन तिवारी के मूर्खतापूर्ण निर्णयों और पहले माह में ही किश्तों में वेतन वितरण से क्षुब्ध हो इस्तीफा देकर लखनऊ चले गये.

पत्रकार काजमी को ईरान के साथ काम करने की ऐसी सजा न दें : सईद नकवी

: काजमी के बारे में जानकारी छुपा रही भारत सरकार : दिल्ली : इस्राइली दूतावास की कार पर हमले मामले में गिरफ्तार सैयद अहमद काजमी दूरदर्शन में ऊर्दू न्यूज रीडर भी है। यह बात अब पता चली है लेकिन सरकार इस बात को छिपा रही है। यह दावा एक इस्राइली अखबार ने किया है। काजमी के समर्थन में संसद के पास स्थित प्रेस क्लब में शुक्रवार को आयोजित प्रेसवार्ता में लोगों ने मोहम्मद काजमी को निर्दोष बताया। इस दौरान मोहम्मद काजमी का बेटा भी मौजूद था। लोगों ने मामले की पारदर्शिता पूर्ण और सही तरीके से जांच कराने की मांग की है।

वरिष्ठ पत्रकार इफ्तिखार गिलानी जैसा है पत्रकार काजमी का प्रकरण

: दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल को भंग करने की मांग : राजधानी दिल्ली में शनिवार को नागरिक समाज से जुड़े अलग-अलग समूहों ने इसराइली दूतावास की कार पर हुए हमले के मामले में पत्रकार सैयद मोहम्मद अहमद काजमी की गिरफ्तारी के विरोध में अपनी आवाज बुलंद की. 'हम लड़ेंगे साथ उदास मौसम के खिलाफ' के नारे के साथ नागरिक समाज के इन लोगों ने दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल को भंग करने की मांग की. उनका कहना था कि काजमी पर उसी तरह से ही झूठे आरोप लगाए गए है और गिरफ्तार किया गया है जैसा कि वरिष्ठ पत्रकार इफ़्तिखार गिलानी के साथ वर्षों पहले किया गया था.

अब भी विश्‍वास नहीं हो रहा सुनील पाठक चला गया

कल यानी शुक्रवार की शाम मैं अपने ऑफिस में न्यूज़ फाइल करने की तैयारी कर रहा था कि अचानक मेरे सेल फ़ोन की घंटी बजती है.. देखा तो एक पुराने परचित का फ़ोन था… उन्होंने घबराहट भरे आवाज में मुझसे पूछा कि कुछ पता चला… मैं ने कहा- नहीं तो… तब उन्होंने बड़े ही दर्द भरे आवाज और अंदाज से कहा कि सुनील अब इस दुनिया में नहीं.. वह हमलोगों को छोड़कर चला गया…  तो ऐसा लगा जैसे कानों में कोई पिघलता हुआ शीशा डाल दिया हो… दिमाग में बम जैसा फूटने लगा…क्‍योंकि अभी तीन दिन पहले ही सुनील से मेरी बात हुई थी.. सब कुछ ठीक था.

अकाली दल की जीत में पीटीसी न्‍यूज भी श्रेय का हकदार

पंजाब का जाने पहचाने चैनल पीटीसी न्‍यूज पर चुनाव के दौरान आरोप लग रहे थे कि उसने अकाली एवं भाजपा गंठबंधन की सरकार को फायदा पहुंचाने के लिए करार कर रखा है. अकाली दल के पक्ष में खबरें दिखाई जा रही हैं, परन्‍तु पीटीसी प्रबंधन ने हर बार इससे इनकार किया तथा किसी भी दल से इस तरह का एलायंस होने की बात को खारिज कर दिया. पर अकाली-बीजेपी गंठबंधन की पंजाब में जीत के बाद पीटीसी ग्रुप के अध्‍यक्ष रबींद्र नारायण का मेल इन सारी बातों को गलत साबित कर रहा है.

जार के जिलाध्‍यक्ष के साथ मारपीट एवं अपहरण की कोशिश

करौली के राजस्थान पत्रकार संघ के जिलाध्यक्ष तरुण सैनी के साथ 9 मार्च को मारपीट के बाद अपहरण का प्रयास किया गया था. परन्‍तु कुछ साथी पत्रकारों के पहुंच जाने के चलते वे असमाजिक तत्‍व अपने काम को अंजाम देने में सफल नहीं हो सके. तरुण के साथ हुई इस घटना पर सवाई माधोपुर के पत्रकार और राजस्थान पत्रकार संघ (जार) ने आक्रोश व्यक्त किया है. उन्‍होंने आरोपियों को तत्‍काल गिरफ्तार करने की मांग की है.

मनोज व्‍यास को दैनिक भास्‍कर का उत्‍कृष्‍ट पत्रकारिता पुरस्‍कार

दैनिक भास्कर के संवाददाता मनोज व्यास को उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मानित किया गया। मनोज का चयन स्टेट एडिटर, राजस्थान नवनीत गुर्जर द्वारा किया गया। उन्‍हें यह सम्मान दैनिक भास्कर के उदयपुर कार्यालय में कार्यकारी संपादक हरिशचन्द्र सिंह और अशोक सोनी ने प्रदान किया। इस अवसर पर संपादकीय विभाग में कार्यरत उपसंपादकों द्वारा मनोज को बधाई दी गई तथा उनके उज्जवल भविष्य की कामना की गई।

Story of Kahaani inspires Vidhya Balan for motherhood

: I am evolving spiritually : Waiting to work with Khan trio : New Delhi : Bollywood diva Vidhya Balan does not mind being labeled as replica of Aamir Khan as she also goes all out to market her films as she did in the case of Dirty Picture, Ishqiya, and now Kahaani. “ While I do not know Aamir Khan personally, I know that he uses different strategies to promote his films. Admittedly, I am inspired by him,” confesses Vidhya Balan in an exclusive interview with Ms. Anurradha Prasad, Editor-in-Chief of News 24 channel, for her weekly show ‘ Aamne-Samne’.

अँग्रेज़ी-हिंदी मासिक पत्रिका तथा वेबसाइट के लिए ग्राफ़िक डिज़ाइनर की आवश्‍यकता

एक स्थापित पत्रिका को आवश्यकता है एक अनुभवी डिज़ाइनर की जो पत्रिका के क्वॉर्क एक्सप्रेस के लेआउट टेंपलेट्स पर हर महीने काम कर सके। फ्रीलांस आधार पर काम करने वाले को प्राथमिकता दी जाएगी। डिज़ाइनर के पास क्वार्क एक्सप्रेस और इनडिज़ाइन के साथ साथ अडोबी डिज़ाइन स्वीट में काम करने का अनुभव होना चाहिए। हिंदी और अँग्रेज़ी दोनों भाषाओं में काम करने की क्षमता हो।

एमके तनेजा फोकस और हमार टीवी के एवीपी बने

चैनल वन से खबर है कि एमके तनेजा ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर जीएम मार्केटिंग के पद पर कार्यरत थे. तनेजा अब पॉजिटिव मीडिया ग्रुप के चैनल हमार टीवी और फोकस टीवी से जुड़ गए हैं. उन्‍हें यहां पर एसोसिएट वीपी बनाया गया है. उनके पास दोनों चैनलों की नेटवर्किंग और मार्केटिंग की जिम्‍मेदारी है. वे पिछले आठ सालों से मीडिया के फील्‍ड में सक्रिय हैं.   तनेजा वॉयस ऑफ नेशन, ए2जेड और कल्‍पतरु एक्‍सप्रेस जैसे संस्‍थानों में वरिष्‍ठ पदों पर रह चुके हैं.

शराब पीकर स्‍थानीय लोगों से भिड़ना भारी पड़ा, पिट गए यूपी न्‍यूज के दो पत्रकार

एसटीवी ग्रुप के यूपी न्‍यूज के पत्रकारों का दारू पीकर आम लोगों से भिड़ना महंगा पड़ गया. पहले तो नागरिकों ने इन लोगों की सरेआम लात-जूते-घूंसों से नागरिक अभिनंदन किया तथा पुलिस को सौंप दिया, परन्‍तु मामला पत्रकारों का होने के चलते पुलिस ने इन पत्रकारों को समझाकर जाने दिया. खबर है कि एक पत्रकार को तो इतनी चोट आई है कि वे कार्यालय नहीं आए हैं. बताया जा रहा है कि इस घटना से नाराज प्रबंधन अनुशासनात्‍मक कार्रवाई करने का मूड में है.

इस्राइल को खुश करने के लिए भारतीय पत्रकार की गिरफ्तारी : भाकपा

: पत्रकार की गिरफ्तारी की निंदा : नयी दिल्ली : इस्राइली राजनयिक की गाड़ी पर बम से किये गए हमले के सिलसिले में एक पत्रकार की गिरफ्तारी की निंदा करते हुए भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी भाकपा ने आरोप लगाया कि इस तरह के गंभीर आरोप में पत्रकार की दिल्ली पुलिस द्वारा गिरफ्तारी आधारहीन है और यह कदम केवल इस्राइल को खुश करने के लिए उठाया गया है.

नई भाषा ने नई पीढ़ी को साहित्य से दूर कर दिया है : हरिवंश

: खत्म होती भाषा : तकनीक ने दुनिया को कहां पहुंचा दिया है? भोग की दुनिया में डूबे लोग अब इस धरती को स्वर्ग मानने लगे हैं. नयी-नयी टेक्नोलॉजी ने जीवन को अत्यंत आरामदेह बना दिया है. पैसा है, तो इंद्रलोक यहीं है. विशेषज्ञ मानते हैं, आज दुनिया जिस खुशहाली या बेहतर स्थिति में है, मानव इतिहास में इससे पहले कभी नहीं रही. पर टेक्नोलॉजी हमेशा मूल्य निरपेक्ष (वैल्यू न्यूट्रल) होती है. इसका उपयोग हम किस तौर-तरीके से करते हैं, इसी पर भविष्य निर्भर है. अनेक समझदार लोग और भाषा की समझ रखनेवाले विशेषज्ञ भी मानने लगे हैं कि एसएमएस, टिंगलिश, हिंगलिश और फ़ेसबुक के इस दौर में युवाओं के बीच एक नयी भाषा विकसित हो रही है. यह भाषा शुद्ध रूप से व्यापार, लेन-देन या कामकाज की भाषा है. इसमें आकर्षण, रोमांस और भाव नहीं है.

Television as Political Theatre

: …and the splendid isolation of talking heads doing election analysis in TV studios : BY Hartosh Singh Bal, Mihir Srivastava : Digvijaya Singh is speaking to us on Times Now, lit up in the dark at his home, as figures shuffle furtively in the background. It is late in the evening of 6 March, well after the results—which are disastrous for the Congress—have come in. Arnab Goswami, who seems to be the only one with any energy left, which is remarkable since he has been doing almost all the talking, turns to Digvijaya and asks if he would stay on for more questions after a two-minute break. Digvijaya looks up and smiles: “I have all the time tonight.”

कथाकार संजीव वर्धा विवि में राईटर्स इन रेजीडेंस बने

कथाकार एवं चार साल तक 'हंस' के कार्यकारी संपादक रहे संजीव आज राईटर्स इन रेज़ीडेन्स होकर महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिन्दी विश्वविद्यालय, वर्धा के लिए रवाना हो गए। इस बीच संजीव जी के साथ जो समय बीता बहुत अच्छा रहा, कई यादें मन में हमेशा रहेंगी। दिल्ली उन्हें बहुत रास नहीं आई। वे कहते हैं दिल्ली लेखन के लिए बहुत अच्छी जगह साबित नहीं हुई, उनके लिए, फिर भी यहाँ रहकर उन्होंने अपने दो उपन्यास- 'आकाश चम्पा' और 'रह गई दिशाएं इसी पार' लिखी। दिल्ली उन्हें याद करती रहेगी। शुभकामनाओं सहित-  विवेक मिश्र

शिशु राहुल गांधी को कांग्रेसी सीएम का नमस्ते उर्फ चापलूसी की हद, देखें तस्वीर

यह 27 मई 1973 की फोटू है. जिस बच्चे को सिद्धार्थ शंकर रे (उस वक्त के बंगाल के सीएम) नमस्ते टाइप कुछ कर रहे हैं, वह राहुल गांधी हैं. वैसे तो आज दिन अखिलेश यादव का है. उत्तर प्रदेश की कमान 'नेताजी-पिताजी' ने उन्हें सौंप दी है लेकिन मैं फोटो कांग्रेस नेता राहुल गांधी का पोस्ट कर रहा हूं क्योंकि फोटू सन 1973 की है और उसी साल अखिलेश यादव का जन्म हुआ था, अब वे युवा मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं.

फोर्स लीव पर भेजे गए आलोक की भी वापसी, अनिल मिश्रा और रतन सिंह का वनवास जारी

हिंदुस्‍तान, बनारस में तूफान आने से पहले वाली शांति छाई हुई है. कर्मचारी कम और तनाव ज्‍यादा है. माफिया डॉन बृजेश सिंह की खबर के बाद फोर्स लीव पर भेजे गए दो लोगों की वापसी हो गई है, पर दो लोग अब भी फोर्स लीव पर है. अब तक इस खबर के लिए फोर्स लीव पर भेजे गए जेएनई अनिल मिश्रा और सिटी इंचार्ज रतन सिंह की वापसी नहीं हो पाई है. कई दूसरे पत्रकारों के जनसंदेश टाइम्‍स चले जाने से स्थिति और भी खराब हो गई है.

इस साल का चमेली देवी पुरस्‍कार तहलका की तुषा मित्‍तल को

वर्ष 2012 के प्रतिष्ठित चमेली देवी जैन पत्रकारिता पुरस्‍कार की घोषणा कर दी गई है. इस बार यह पुरस्‍कार तहलका मैगजीन के कोलकाता ब्‍यूरो में कार्यरत महिला पत्रकार तुषा मित्‍तल को दिया जाएगा. तुषा को यह पुरस्‍कार बंगाल, उड़ीसा और छत्‍तीसगढ़ के नक्‍सल प्रभावित इंटिरीयर में मुश्किलों के बीच गुजरती आम लोगों की जिंदगी का बेहतरीन खाका खींचने के लिए दिया जा रहा है.

आईपीएस की हत्‍या पर पर्दा डालना चाहती है शिवराज सरकार

: नरेन्द्र कुमार की स्मृति में शोकसभा : शुक्रवार की सायं करीब छह बजे पारदर्शिता के क्षेत्र में कार्यरत सिविल सोसायटी नेशनल आरटीआई फोरम के गोमतीनगर स्थित कार्यालय पर मध्य प्रदेश में दिवंगत हुए 2009 बैच के आईपीएस अफसर नरेन्द्र कुमार की स्मृति में एक शोकसभा का आयोजन किया गया. शोकसभा में शहीद नरेन्द्र कुमार की कर्तव्यनिष्ठा और बहादुरी की चर्चा करते हुए उनकी शहादत पर श्रद्धांजलि दी गयी. उनकी पत्नी आईएएस अधिकारी मधुमिता तेवतिया, जो एक-दो दिनों में एक संतान को जन्म देने वाली हैं, पिता केशव देव एवं समस्त शोकाकुल परिवार के प्रति संतावना व्यक्त किया गया.

अब तक के सबसे युवा मुख्यमंत्री होंगे अखिलेश

 : आज चुने जाएंगे विधायक दल के नेता, 12 मार्च को 30वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण : लखनऊ। अब यह लगभग तय हो गया है कि उत्‍तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी की ऐतिहासिक जीत के नायक, युवाओं के प्रिय नेता और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश यादव सूबे के नए मुख्यमंत्री होंगे। आज शनिवार को हो रही विधायक दल की बैठक में उन्हें प्रदेश सपा विधायक दल का नेता चुना जाएगा और 12 मार्च को वे 30वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण करेंगे। साइकिल, लाल टोपी और समाजवाद के आधुनिक स्वरूप को अपनी कड़ी मेहनत, दो टूक बात करने की शैली, त्वरित निर्णय की क्षमता और विरोधियों के वार को ध्वस्त करने की नई और सक्षम शैली के जरिए बहुसंख्य जनता के दिलों में उतारने का श्रेय युवा नेता अखिलेश को ही जाता है। अखिलेश यादव अब तक के सबसे युवा मुख्यमंत्री होंगे।

अखिलेश की ताजपोशी तय! मान गए आजम-शिवपाल

लखनऊ। यूपी का अगला सीएम कौन होगा यह लगभग तय हो चुका है. सूत्र बता रहे हैं कि राज्‍य के अगले सीएम युवा सांसद व प्रदेश अध्‍यक्ष अखिलेश यादव होंगे. सपा सुप्रीमो ने किसी वरिष्‍ठ को सीएम बनाए जाने की मांग कर रहे वरिष्‍ठ नेता आजम खान और शिवपाल सिंह यादव को मना लिया है. सूत्रों का कहना है कि मुलायम सिंह यादव के घर हुई इन नेताओं की बैठक में एक फार्मूले के आधार पर अखिलेश के नाम पर सहमति बन गई है. 

कभी मायावती, कभी अखिलेश हूं, अभी न सुधरुंगा, उत्तर प्रदेश हूं

: नाम मुलायम है, गुंडई कायम है : मायावती के जाने और मुलायम के आने के मायने : कभी धूमिल ने लिखा था कि भाषा में भदेस हूं/ इतना कायर हूं कि/ उत्तर प्रदेश हूं। अब धूमिल नहीं हैं। होते तो आज क्या लिखते भला? गुंडा प्रदेश? या भ्रष्ट प्रदेश? अभी तो सूर्य कुमार पांडेय बता रहे हैं कि धूमिल होते तो क्या लिखते पता नहीं, पर हम तो कह रहे हैं कि, कभी मायावती हूं, कभी अखिलेश हूं/ अभी न सुधरुंगा, मैं उत्तर प्रदेश हूं! तो सवाल एक यह भी है कि जैसे अभी सड़कों और शहरों में बसपा वर्सेज सपा का उत्पात चल रहा है, गुंडई चल रही है, क्या सरकारी आफ़िसों में भी यह उत्पात विस्तार लेगा? क्यों कि है तो यह वास्तविकता कि दलित अफ़सरों ने अन्य लोगों के साथ अति तो खैर छोटा शब्द है, आग बहुत मूती है। उत्‍तर प्रदेश सचिवालय और शक्ति भवन जैसी जगहों पर तो जैसे सेनाएं आमने-सामने हों, दलित और सवर्ण अफ़सर ऐसे ही थे मायावती राज में।

मरते-मरते बचे वरिष्ठ पत्रकार कृष्ण भानु

: यमराज से दो घंटे तक साक्षात्कार की कहानी, पीड़ित पत्रकार की जुबानी : कल होली के दिन यमराज से मेरा लगातार दो घंटे तक आमना-सामना हुआ. सोचा नहीं था, कभी साक्षात् यमराज से सामना होगा और लगातार दो घंटे की मुठभेड़ के बाद भी मैं जीवित रह सकूँगा. पर अनहोनी हुई और आज मैं आपके सामने हूं. होली के दिन सुबह ६ बजे के करीब हमेशा की तरह सैर पर निकला और कच्ची घाटी (शिमला) से नए बन रहे जिला कोर्ट की तरफ जा रही कच्ची सड़क पर चल पड़ा. सामने ऊँची पहाड़ी दिखी तो मन में विचार आया कि क्या मैं अब भी ऐसी खतरनाक ढांक पर चढ़ सकता हूँ. पहाड़ी गाँव में जन्मा बड़ा हुआ हूँ, इसलिए ऐसी घाटियों को अनेक बार फतह कर चुका हूँ.

: इंटरव्यू – शैलेष : मीडिया को कोई भी कंट्रोल नहीं कर सकता

कई चैनलों और अखबारों में वरिष्ठ पदों पर रहे शैलेष इन दिनों एक नए न्यूज चैनल को लांच कराने का बीड़ा उठाए हुए हैं. अल्फा ग्रुप के बैनर तले चैनल की लांचिंग होनी है और शैलेष कंपनी के सीईओ हैं. मार्केटिंग, डिस्ट्रीब्यून से लेकर न्यूज कंटेंट तक का काम शैलेष ही देख रहे. कम बोलने और चर्चा में कम रहने वाले शैलेष ने हमेशा बेस्ट देने की कोशिश की. नए प्रयोगों को स्वीकारा और आगे बढ़ाया. बीएचयू से पत्रकारिता की पढ़ाई करने वाले शैलेष ने पत्रकारिता में बिना किसी गाडफादर के शून्य से शिखर तक की यात्रा की है. उनसे भड़ास4मीडिया के एडिटर यशवंत सिंह ने कई मुद्दों पर बातचीत की. पेश है साक्षात्कार के कुछ अंश…

दैनिक जनवाणी से वीरेंद्र आजम एवं दिवाकर झा का इस्‍तीफा

दैनिक जनवाणी, सहारनपुर से खबर है कि ब्‍यूरोचीफ वीरेंद्र आजम ने इस्‍तीफा दे दिया है. हालांकि कहा जा रहा है कि प्रबंधन ने उनसे इस्‍तीफा मांग लिया था. बताया जा रहा है कि प्रबंधन में रवि शर्मा के बढ़ते दखल के चलते ऐसा हुआ है. इसके पहले रवि शर्मा बिजनौर के चीफ दिवाकर झा को भी हटवा दिया था. आजम ने पांच को अपना इस्‍तीफा प्रबंधन को सौंपा है जबकि दिवाकर चुनाव से पहले ही हटवा दिए गए थे.

पत्रिका के डिस्‍ट्रीब्‍यूटर का ऑफर : नईदुनिया की प्रतियां घटाने पर हॉकरों को वैष्‍णो देवी की यात्रा

: अखबारी युद्ध में नैतिकता ताक पर : मीडिया के बाजारीकरण ने नैतिकता को ताख पर रख दिया है. नैतिकता के बने बनाए नियम-प्रतिमान रोज टूट रहे हैं. किसी तरह एक दूसरे से आगे निकले की होड़ और भेड़चाल में अखबार और अखबार के लोग किसी भी हद तक जाने और गिरने को तैयार हैं. यहां कोई नियम नहीं है कोई लक्ष्‍मण रेखा नहीं है. मीडिया की स्थिति ऐसी हो गई है कि यह न तो शुद्ध रूप से सरोकार रहा और न ही शुद्ध रूप से प्रोफेशन.

जमीन घोटाले में डीबी गोल्‍ड के एनई प्रसन्‍न भट्ट गिरफ्तार, डेली गुजरात ने खोला मोर्चा

सूरत में मगदल्‍ला और गवियर  के  जैन देरासर जमीन घोटाले में पकड़े गए डीबी गोल्‍ड के न्‍यूज एडिटर प्रसन्‍न भट्ट के खिलाफ भास्‍कर ग्रुप के प्रतिद्वंद्वी अखबार डेली गुजरात ने मोर्चा खोल दिया है. जमीन घोटाला का यह मामला उस समय सुर्खियों में आया ज‍ब एक लैण्‍ड डेवलपर अमित कपासियावाला की हत्‍या हुई. इस हत्‍या की जांच के दौरान ही पुलिस को एक बड़े सिंडिकेट का पता चला. इसमें दैनिक भास्‍कर ग्रुप के अखबार डीबी गोल्‍ड के न्‍यूज एडिटर प्रसन्‍न भट्टा का नाम भी आया, जिसके बाद उन्‍हें गिरफ्तार कर लिया गया.

महिला छेड़ना नॉन-बेलेबल, चौथे खंभे पर हमला बेलेबल

दो सप्ताह पहले प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया के अध्यक्ष व सर्वोच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश मार्कंडेय काटजू ने महाराष्ट्र सरकार को पत्र लिखकर यह पूछा था कि राज्य में पत्रकारों पर लगातार बढ़ते हमलों को रोकने में विफल राज्य सरकार की बर्खास्तगी का क्यों नहीं राष्ट्रपति से अनुरोध किया जाए? काटजू ने राज्य के मुख्यमंत्री को यह पत्र उनसे खासतौर से महाराष्ट्र से दिल्ली मिलने आए पत्रकार हल्ला विरोधी कृति समिति के सदस्यों के अनुरोध पर लिखा था। इस पत्र पर कई तरह की प्रतिक्रियाएं सामने आईं।

भास्कर पर पटवारी का कब्जा!

: कानाफूसी : यह कहानी संभवतः उज्जैन की है. दैनिक भास्कर ने एक ऐसे शख्स को अपने से जोड़ लिया है जो करोड़ों के घोटाले का आरोपी है और नौकरी से बर्खास्त है. दैनिक भास्कर वाले किस नैतिकता के तहत उसे अपने से जोड़े हैं, यह समझ के बाहर है. पर इतना तो समझ में आ रहा है कि जो इन अखबारों को पैसे दिला दे,  अब वही असली प्रतिनिधि. आप करते रहिए पत्रकारिता की बात पर भ्रष्टाचारियों की जमात नोट के बल पर आपसे आगे निकल जाएगी. देखिए, एक साथी ने पत्र लिखकर भड़ास को पूरी कहानी बताई है. आप भी पढ़िए….

अब तेरा क्या होगा अमर सिंह

सपा से अलग होने के बाद अमर सिंह ने इस पार्टी को किसी भी तरह से कोसने में कोई कोर कसर बाकी नहीं रखी थी. अमर सिंह का मुलायम से अलग होना और खुले तौर पर विरोध करना सपा के बड़े नुकसान से जोड़ा जा रहा था. पूर्वांचल राज्य के गठन के मुद्दे को लेकर अमर सिंह जनता के बीच पहुंच कर अपनी जमीन तैयार कर रहे थे. इसी बीच लोकमंच पार्टी बना कर विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी भी उतार दिये.

बसपाई टीवी पत्रकार ने कराया मीडिया पर हमला!

संपादक, भड़ास4मीडिया, महोदय, 6 मार्च को झाँसी में चुनावी काउंटिंग के दिन सपा कार्यकर्ताओं और मीडिया के साथ हुई मारपीट में एक टीवी पत्रकार का हाथ था. दरअसल वह टीवी पत्रकार बीएसपी से ताल्लुक रखता है. जब उसे लगा कि पूरे प्रदेश में बीएसपी हार रही है तो उसके अवैध खनन के कारोबार बंद हो जायेंगे इस कारण उसने झाँसी में हल्ला कर दिया कि काउंटिंग रूम के अन्दर सपाई घुस गए हैं. जबकि ये गलत खबर थी. उसने ये गलत खबर अपने चैनल पर भी फ्लैश करा दी. इस पर बाहर खड़े कार्यकर्ता आक्रोशित हो गए और मीडिया पर हमला कर दिया.

बीजेपी विधायक के इशारे पर आईपीएस अफसर नरेंद्र की हत्या!

मध्य प्रदेश के मुरैना में अवैध खनन माफिया के हाथों मारे गए 32 वर्षीय नौजवान आईपीएस अफसर नरेंद्र कुमार का अंतिम संस्कार आज मथुरा में उनके पैतृक गांव लालपुर में कर दिया गया. मुखाग्नि उनकी पत्नी ने दी. उनकी पत्नी मधुरानी भी आईएएस अधिकारी हैं. वो गर्भवती होने के कारण मैटरनिटी लीव पर चल रही हैं. मूलरूप से उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले के रहने वाले नरेंद्र ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनीवर्सिटी से पढ़ाई की थी. 2009 बैच के आईपीएस नरेंद्र कुमार, मध्य प्रदेश के मुरैना जिले में एसडीओपी के पद पर तैनात थे. उनकी हत्या मुरैना के बानमौर इलाके में हुई है.

आलोक, फिरोज, अमृता, विशाल समेत कई लोग श्रीएस7न्यूज के साथ जुड़े

नए लांच होने वाले न्यूज चैनल श्रीएस7न्यूज में सीईओ के रूप में आलोक अवस्थी काम कर रहे हैं. फिरोज अख्तार चैनल के मार्केटिंग हेड हैं. इस चैनल के लखनऊ ब्यूरो में विशाल रघुवंशी के ज्वाइन करने की सूचना है. कुछ अन्य के भी इस चैनल का हिस्सा बनने की खबर मिली है, जिनके नाम इस प्रकार हैं- अमृता चौरसिया, आलोक राजा, प्रियंका जायसवाल, रेखा कड़ाकोटी और प्रशांत द्विवेदी. ये पांचों चैनल के एंकर हैं. श्रीएस7 न्यूज़ एक बिल्डर की तरफ से लांच किया गया है जिसका नाम मनोज द्विवेदी है. इनकी रियल एस्टेट कंपनी श्री इंफ्राटेक नाम से है. मीडिया में ये श्री मीडिया वेंचर प्राइवेट लिमिटेड के नाम से सक्रिय हुए हैं.

दाखिले का समय आते ही मैग्जीनों-अखबारों ने रैंकिंग का धंधा शुरू किया

यशवंत जी, शुभकामनायें. आपको यह सूचना देनी थी कि दाखिले का समय आते ही मैग्ज़ीनों और अख़बारों ने रैंकिंग का धंधा फिर से शुरू कर दिया है. संस्थानों को प्रलोभन दिया जा रहा कि वो विज्ञापन सुनिश्चित करें तो उन्हे अच्छी रैंकिंग प्रदान की जाएगी.  बेचारे मंदी के मारे संस्थान, जो गुणवत्ता पर तो ध्यान नहीं दे पाते, वो इस ऑफर को स्वीकार करने में अच्छी पब्लिसिटी समझते हैं. लेकिन ये इन पत्रिकाओं के सुधी पाठकों से धोखा है. अगले महीने अमर उजाला में रैंकिंग देने का प्लान है और विज्ञापन के लिए प्रपोज़ल जा चुके हैं.

संतोष कुमार बने ‘न्‍यूज इंडिया’ के संपादक, अनूपमणि त्रिपाठी एवं फैजान मुसन्‍ना भी जुड़े

मुंबई से प्रकाशित हो रहे साप्‍ताहिक 'न्‍यूज इंडिया' का प्रकाशन जल्‍द ही लखनऊ से भी शुरू होने जा रहा है. लखनऊ में इस साप्‍ताहिक का संपादक संतोष कुमार को बनाया गया है. संतोष कुमार कई पत्र पत्रिकाओं में काम कर चुके हैं. उनके अलावा पत्रकार एवं स्‍तंभकार अनूपमणि त्रिपाठी ने भी न्‍यूज इंडिया के साथ अपनी नई पारी शुरू की है. उन्‍हें कॉपी एडिटर की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है.

अनुराग भट्टाचार्य टाइम्स नाउ से इस्तीफा देकर फिर पहुंचे ईटीवी

टाइम्स नाउ से खबर है कि सीनियर प्रोड्यूसर अनुराग भट्टाचार्य ने इस्तीफा दे दिया है. वे कुछ समय पहले ही ईटीवी (मध्य प्रदेश/छत्तीसगढ़) से इस्तीफा देकर टाइम्स नाउ पहुंचे थे. अनुराग अब एक बार फिर अपनी पारी ईटीवी के साथ शुरू कर रहे हैं. अनुराग के टाइम्स ग्रुप छोड़ने के कारणों का पता नहीं चल …

धर्मेंद्र यादव ने समाप्त किया डीपी यादव का राजनैतिक करियर

समाजवादी पार्टी के युवा सांसद धर्मेन्द्र यादव की जिद के चलते सपा के एक दुश्मन का राजनैतिक कैरियर पूरी तरह समाप्त हो गया है। बाहुबली और धनबली के रूप में कुख्यात डीपी यादव को पार्टी में न लेने पर धर्मेन्द्र यादव ही अड़े थे, वरना डीपी यादव कभी दोस्त बन कर, तो कभी दुश्मन बन कर समाजवादी पार्टी का हमेशा दुरुपयोग ही करते रहते। अब उनका राजनैतिक करियर ही समाप्त हो गया है। सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव की अंगुली पकड़ कर ही धर्मपाल यादव नाम का व्यक्ति डीपी यादव बना था, लेकिन अति महत्वकांक्षी होने के कारण सपा सुप्रीमो से रिश्ता तोड़ लिया और उनके विरुद्ध ही आग उगलनी शुरू कर दी।

अमन वर्मा बने एनएआई के जयपुर जिलाध्यक्ष

युवा पत्रकार एवं मेट्रो स्टाइल समाचार पत्र के सम्पादक अमन वर्मा को न्यूजपेपर्स एसोसिएशन ऑफ इण्डिया का जयपुर जिलाध्यक्ष मनोनीत किया गया है। एसोसिएशन की राजस्थान इकाई की कार्यकारिणी की बैठक एमआई रोड पर गणपति प्लाजा के निकट स्थित मोहन क्लासिक रेस्टोरेंट में हुई, जिसमें सर्वसम्मति से अमन वर्मा को जयपुर जिलाध्यक्ष बनाए जाने का प्रस्ताव पारित किया गया। बैठक में शामिल सदस्यों ने प्रस्ताव पर स्वीकारोक्ति कर उन्हें जयपुर जिले में एसोसिएशन के विस्तार की जिम्मेदारी सौंपी।

यूपी विधानसभा में लगातार बढ़ रहे मुस्लिम विधायक

उत्तर प्रदेश की विधानसभा में मुस्लिम विधायकों की तादाद लगातार बढ़ रही है. इस बार 68 मुस्लिम विधायक विधानसभा में नज़र आएंगे. साल 2002 की विधानसभा में जहाँ कुल 43 मुस्लिम विधायक थे तो साल 2007 की विधानसभा में यह तादाद 55 तक पहुँच गई लेकिन इस बार यह रिकॉर्ड फिर टूटा और यह तादाद 68 पहुँच गई है. आइये एक नज़र डालते हैं पार्टीवार पिछले नतीजों पर..

होली आई तो याद आए आलोक तोमर

: 20 मार्च को दुनिया छोड़े एक बरस हो जाएंगे पूरे : इस बार होली आई तो पिछले साल की होली की याद आ गई. याद आए आलोक तोमर जी. कैंसर से लड़ते जूझते उनका निधन पिछले साल होली के दिन हुआ था. पिछले साल होली 20 मार्च को थी. इस बार थोड़ी जल्दी आ गई. 20 मार्च को आलोक तोमर को गुजरे साल भर हो जाएंगे. पर कई लोगों को अभी तक यकीन नहीं हो रहा कि आलोक नहीं रहे. इस एक बरस के दौरान बार बार यही लगता रहा कि आलोक हैं. हर छोटे बड़े मौके पर आलोक की याद आती रही. 20 मार्च के दिन आलोक तोमर की स्मृति में क्या कार्यक्रम किया जाना है, यह तय होना बाकी है. जैसे ही कुछ तय होता है, आप सभी को सूचित किया जाएगा. उम्मीद है सुप्रिया भाभी जल्द ही 20 मार्च के आयोजन को लेकर कोई अंतिम निर्देश देंगी. -यशवंत, एडिटर, भड़ास4मीडिया

भास्कर डॉट कॉम और आई-नेक्स्ट मेरठ के जर्नलिस्टों ने आफिस में खेली होली, देखें तस्वीर

होली से संबंधित मीडिया के साथियों की दो ग्रुप तस्वीरें फेसबुक के माध्यम से मिली हैं. पहली तस्वीर दैनिक भास्कर डॉट कॉम के आफिस का है जिसमें कार्यरत जर्नलिस्टों ने एक दूसरे को रंग गुलाल लगाकर ग्रुप फोटो खिंचाई. दूसरी तस्वीर आई-नेक्स्ट, मेरठ की है जहां आई-नेक्स्ट की टीम के लोग अपने टीम लीडर को घेरकर रंग गुलाल लगा रहे हैं.

अमर उजाला की मेहनत पर फिरा पानी, हार गए डीपी यादव

अमर उजाला की प्रचंड मेहनत के बावजूद बाहुबली व धनबली डीपी यादव सहसवान विधान सभा क्षेत्र में बुरी तरह से हार गये हैं, जिससे अमर उजाला के बारे में तरह-तरह की चर्चाओं ने जोर पकड़ लिया है। अमर उजाला ने सामान्य तौर पर चुनाव की खबरों को लेकर गुणवत्ता बनाये रखी, लेकिन बरेली मंडल में अमर उजाला की पहले ही दिन से जमकर छीछालेदर हो रही है। शुरू में शाहजहांपुर में अमर उजाला द्वारा छापी जा रही पैड न्यूज की खबरें आ चुकी थीं, लेकिन प्रबंधन ने बरेली मंडल की ओर फिर भी ध्यान नहीं दिया, तभी अन्य ब्यूरो में पैड न्यूज का रोग फैल गया।

ड्राइवर की आकस्मिक मौत, उससे जुड़े सवाल और दो अखबारों की रिपोर्टिंग

कल का दिन उत्तर प्रदेश में बहुत अधिक चहल-पहल का दिन था पर मेरे लिए यह दिन एक दूसरे ही रूप में आया. सुबह लगभग 08.40 बजे मुझे अचानक मोबाइल पर मेरे कार्यालय के ही एक कर्मी ने सूचित किया कि ओम प्रकाश पाल का शव प्रातः वायरलेस मुख्यालय परिसर में कॉन्फ्रेंस रूम के पीछे स्थित एक पुलिस बैरेक के ठीक सामने मिला है. पाल एक आरक्षी चालक थे जो पुलिस लाइन, लखनऊ में तैनात थे और रूल्स एंड मैनुअल कार्यालय, उत्तर प्रदेश, लखनऊ के साथ संबद्ध थे.

सभी पदों के लिए शुरू से लेकर अब तक एक ही टेस्‍ट पेपर दे रहा है अल्‍फा न्‍यूज

प्रिय यशवंतजी, मैं आपका ध्यान एक बहुप्रतिक्षित न्यूज़ चैनल अल्फा न्यूज़ की एक बेवकूफी पर खींचना चाहता हूं। अल्फा न्यूज़ जल्द आने वाला है, जिसके लिए भर्तियां की जा रही हैं। चैनल का मौजूदा बेस सीपी स्थित सूर्यकिरण बिल्डिंग में है। कोई भी शख्स alphamediajobs@gmail.com पर सीवी भेज टेस्ट के लिए चैनल के दफ्तर जा सकता है। लेकिन जबसे ये प्रोसेस शुरू हुई है तब से आज तक, चैनल सबसे एक ही टेस्ट ले रहा है। एक ही सवाल पूछ रहा है। चाहे वो प्रोड्यूसर हो या ट्रेनी। ना तो टेस्ट बदला जा रहा है और ना ही सवाल।

राहुल देव के पी7 न्‍यूज चैनल से जुड़ने की चर्चा

पी7 न्‍यूज से एडिटर इन चीफ सतीश जैकब के जाने के बाद उनके विकल्‍प को लेकर चर्चाएं शुरू हैं. सबसे तेज चर्चा वरिष्‍ठ पत्रकार राहुल देव की आने की है. राहुल देव भी आज समाज से इस्‍तीफा देने के बाद खाली पड़े हुए हैं. बताया जा रहा है कि पी7 न्‍यूज प्रबंधन से उनकी इन संदर्भ में वार्ता चल रही है. समझा जा रहा है कि अगर सब कुछ ठीक ठाक रहा तो राहुल देव सतीश जैकब के बाद पी7 न्‍यूज के नए ग्रुप एडिटर बन सकते हैं.

…जब पुष्‍पेष पंत ने कहा- आईबीएन7 के इस पत्रकार पर कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए

यूपी के चुनावों में मिल रही जीत के बाद उत्साही जीते हुए विधायक और चुनाव में हार से निराश उम्मीदवारों की ओर से उन्माद की खबरें आ रही हैं… संभल के विजयी जुलूस में समाजवादी पार्टी के विधायक के जीत की खुशी के बाद हुए फायरिंग में एक बच्चे की मौत हो गई. वहीं झांसी में हारे हुए समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता ने मीडिया के साथ मारपीट की थी.. आईबीएन7 की एंकर स्मिता शर्मा ने जब लखनऊ से मनोज राजन त्रिपाठी से पूरे मामले पर जानकारी लेना चाहा कि एक तरफ तो अखिलेश गुण्डागर्दी को खत्म करने की बात कर रहे हैं और दूसरी ओर चुनाव नतीजों के सामने आते ही सपा नेताओं का काम शुरू हो गया?

पटना से ‘आर्यन संदेश’ का प्रकाशन शुरू

पटना से खबर है कि आर्यन ग्रुप ने अपने सांध्‍य दैनिक 'आर्यन संदेश' की लांचिंग कर दी है. कुछ महीने पहले ही आर्यन ने इस अखबार की लांचिंग की घोषणा की थी. इस अखबार का संपादक वरिष्‍ठ पत्रकार अंजनी कुमार विशाल को बनाया गया था तथा उन्‍हें ही लांचिंग की जिम्‍मेदारी सौंपी गई थी. पहले इस अखबार को 26 जनवरी को लांच करने की योजना थी पर किन्‍हीं कारणों के चलते डेट टाल दिया गया था.

अब अपने पत्रकारों को होलोग्राम वाला आई कार्ड उपलब्‍ध कराएगा जागरण!

दैनिक जागरण, मैनेजमेंट देर से ही सही अब अपने पत्रकारों को बेहतर और प्‍लास्टिक कोटेड आई कार्ड जारी करने की तैयारी कर रहा है. सूत्र बताते हैं कि इसका फैसला नोएडा में कोर कमेटी द्वारा लिया गया है. इस विशेष आई कार्ड पर जागरण का होलोग्राम भी लगा होगा, जिससे असली और नकली की पहचान में आसानी हो. हालांकि यह पता नहीं चल पाया है कि इसे शुरू में किन-किन यूनिटों में लागू किया जाएगा.

प्रतापगढ़ में मीडियाकर्मियों पर लाठीचार्ज, एक पत्रकार की हालत गंभीर

प्रतापगढ़ : सपा सरकार की सरकार की बनने की संभानाओं के बाद ही राज्‍य में कानून व्‍यवस्‍था की स्थिति बदलने लगी है. पहले सपाइयों ने झांसी में मीडियाकर्मियों को पीटा तथा बंधक बनाया तो प्रतापगढ़ में मतगणना के दौराना पुलिस के दो दारोगा तथा रंगरूट पत्रकारों पर लाठी लेकर पिल पड़े. इस बर्बर लाठीचार्ज में कई पत्रकार गंभीर रूप से घायल हुए हैं. सबसे निराशाजनक बात तो यह रही कि डीएम के पत्रकार पत्रकार पिटते रहे वे तमाशा देखते रहे, जबकि अपर पुलिस अधीक्षक दिनेशचंद्र ने पुलिसकर्मियों को मना किया फिर भी वे नहीं माने. घायल पत्रकार धीरेंद्र द्विवेदी की गंभीर हालत देखते हुए उन्‍हें इलाहाबाद रेफर कर दिया गया है.

पी7 न्‍यूज से एडिटर इन चीफ सतीश जैकब का इस्‍तीफा

पी7 न्‍यूज से बड़ी खबर आ रही है. समझा जा रहा है कि यहां पर उठा-पटक का दौर एक बार फिर शुरू हो सकता है. पी7 न्‍यूज के एडिटर इन चीफ और वरिष्‍ठ पत्रकार सतीश जैकब ने इस्‍तीफा दे दिया है. हालांकि इस्‍तीफा का कारण बताया जा रहा है उनका एक साल का कांट्रैक्‍ट, जिसे प्रबंधन ने रिन्‍यूवल नहीं किया, पर अंदर की बात यह है कि वे चैनल के भीतर की राजनीति के शिकार हुए हैं.

मायावती ने दिया इस्‍तीफा, कहा – मुसलमान और मीडिया ने हराया

लखनऊ : बसपा प्रमुख एवं सीएम मायावती ने बुधवार को राज्‍यपाल बीएल जोशी को अपना इस्‍तीफा सौंप दिया। इस्‍तीफा देने के लिए वो मीडिया से बचती बचाती पिछले दरवाजे से राजभवन में पहुंची। बाद में उन्‍होंने मीडिया को संबोधित किया और अपना लिखित बयान पढ़ा। उन्‍होंने बसपा के हार के कारणों को तो गिनाया ही साथ ही यह भी कहा कि अब यूपी गलत हाथों में पहुंच गया है। उन्‍होंने कहा कि उनके शासन में जो विकास कार्य हुए हैं वे कई वर्ष पीछे चले जाएंगे। इसके बाद उन्‍होंने शब्‍दश: जो कहा वो नीचे है।

एसपी ने पूछा- ‘हिंदुस्‍तान’ में किन लोगों के संरक्षण में साढ़े दस वर्षों तक चलता रहा विज्ञापन घोटाला?

मुंगेर। ‘‘हिन्दुस्तान घोटाला क्या है, कैसे हुआ और इतने वर्षों तक यह घोटाला किन लोगों के संरक्षण में चलता रहा?'' यह सीधा और सपाट प्रश्न मुंगेर के पुलिस अधीक्षक पी. कन्नन ने 27 फरवरी, 2012 को अपने कार्यालय कक्ष में एक बार फिर याचिकाकर्ता मन्टू शर्मा और उनके अधिवक्ता काशी प्रसाद और श्रीकृष्ण प्रसाद के समक्ष रखा। उन्होंने चेतावनी भी दी कि प्रश्नों का जवाब साक्ष्य के आधार पर नहीं मिलने पर मुकदमा खारिज कर दिया जाएगा।

खंडूड़ी का हारना उत्‍तराखंड की राजनीति के लिए शुभ संकेत नहीं!

मुख्यमंत्री भुवन चन्द्र खंडूड़ी का कोटद्वार से चुनाव हार जाना किसी भी रूप से उत्तराखंड की राजनीति के लिए शुभ नहीं माना जा सकता. खंडूड़ी का फौजी होना जो उनके राजनीति का सबसे बड़ा गुण है वहीँ उनका फौजी अफसर होना उनके लिए नुकसानदायक सिद्ध हो रहा है. उनका आज भी जन प्रतिनिधियों से ज्यादा विश्वास नौकरशाहों पर है, जिस कारण आम आदमी से उनकी स्वाभाविक दूरी बन जाती है, जो उनको व्यक्तिगत रूप से नुकसान दे गया. राज्य व राज्य के बाहर फैले भू-माफियाओं व दलालों ने खंडूड़ी के हारने पर जश्न मनाया जो पहाड़ के लिए खतरे की घंटी है.

जीत के बाद सपाइयों की गुंडई शुरू : मीडियाकर्मियों पर हमला किया, कई घायल

: अपडेट : पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया  : कैमरे तोड़े गए और बंधक बनाया गया : जीतने के साथ ही समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं का आतंक शुरू हो गया है। झांसी में सपाइयों ने मीडियाकर्मियों पर हमला कर दिया। कई पत्रकारों को जान बचाने के लिए इधर-उधर छिपना पड़ा। इस हमले में करीब 15 टीवी पत्रकारों को बुरी तरह मारा-पीटा गया। उनके कैमरे भी तोड़ दिए गए। पत्रकारों को अपनी जान बचाने के लिए एक स्कूल में छिपना पड़ा। सपा कार्यकर्ता घंटों पत्रकारों को बंधक बनाए रखा। आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर पत्रकार अनशन पर बैठ गए हैं।

दिल्‍ली कार ब्‍लास्‍ट की साजिश में पत्रकार गिरफ्तार

राजधानी दिल्ली में इस्राइली राजनयिक की पत्नि पर हुए हमले के मामले में दिल्ली पुलिस ने एक शख्स को गिरफ्तार किया है। मोहम्मद काजमी नाम के इस शख्स पर हमले की ‌साजिश में शामिल होने का आरोप है। पुलिस आज इस शख्स को कोर्ट में पेश करेगी।

पत्रकार के हत्‍यारे को सिलीगुडी से रोसड़ा लाया गया

रोसड़ा : पत्रकार विकास रंजन हत्याकांड का अभियुक्त मोहन यादव को पुलिस ने सिलीगुड़ी (पश्चिम बंगाल) जेल से रोसड़ा लाया। न्यायालय के आदेश पर वहां से लाने के पश्चात उसे न्यायालय में पेश किया गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार लूट एवं आ‌र्म्स एक्ट के मामले में करीब छह माह पूर्व पश्चिम बंगाल पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया था। वह बिथान थाने के लरझा घाट निवासी बताया जाता है।

जानकारी देने में देरी पर भड़के पत्रकार, नारेबाजी की

बठिंडा : मतगणना की जानकारी में देरी से पालीटेक्निक कालेज स्थित मतगणना केंद्र में पत्रकारों ने डिप्टी कमिश्नर के खिलाफ नारेबाजी की। हालांकि बाद में डीसी ने तुरंत जानकारी देने का भरोसा देकर पत्रकारों को शांत करवाया। दरअसल, मतगणना केंद्र में दो राउंड की गिनती होने के बावजूद यहां बनाए मीडिया सेंटर में जानकारी देने में देरी होती रही। बार-बार पूछे जाने के बावजूद किसी तरफ से कोई जानकारी नहीं मिली।

इंडिया न्‍यूज के संवाददाता से अधिकारियों ने की मारपीट, पत्रकारों ने ज्ञापन सौंपा

उदयपुर। टोंक में इंडिया न्यूज चैनल के संवाददाता जियाउद्दीन से शनिवार को राजकीय अधिकारियों द्वारा मारपीट करने व हमले के विरोध में राजस्थान पत्रकार परिषद के सदस्य तथा शहर के वरिष्ठ पत्रकारों ने जयप्रकाश माली के नेतृत्व में मंगलवार को उदयपुर कलक्ट्रेट में एडीएम सिटी को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। प्रतिनिधिमंडल में शामिल वरिष्ठ पत्रकार शांतिलाल सिरोया, मुनेश अरोड़ा, वीरेंद्र श्रीवास्तव, डॉ. रवि शर्मा, प्रतापसिंह राठौड़, प्रमोद गौड़, अब्बास रिजवी, शांतिलाल जैन, कपिल श्रीमाली, कुलदीप सिंह, प्रकाश मेघवाल, अनिल जैन, घनश्याम सिंह भीण्डर ने बताया कि टोंक में पत्रकार को जान बूझकर निशाना बनाया गया है।

भास्‍कर से प्रफुल हिरानी एवं जनता टीवी से विजय चावला का इस्‍तीफा

दैनिक भास्‍कर समूह से खबर है कि प्रफुल हिरानी ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे इस समूह के साथ बड़ोदा में चीफ सब एडिटर के रूप में कार्यरत थे. वे आठ सालों से इस समूह को अपनी सेवाएं दे रहे थे. पिछले तीस साल से पत्रकारिता में सक्रिय प्रफुल अपनी नई पारी कहां से शुरू करेंगे इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है.

सपा दफ्तर का नज़ारा… ढिंक चिका की धुन पर पायल किन्नर का नाच

फटा पोस्टर निकला हीरो….. उत्तर प्रदेश चुनावों के नतीजे आ गए है. पूरे सूबे की चुनावी कचहरी में डेढ़ महीने से चल रहा मजमा अब विक्रमादित्य मार्ग तक सिमट गया है, नेवले और साप की लड़ाई या सांडे का तेल बेचने की तर्ज पर दर्शक जुटाने वाले खबरिया चैनलों के मजमे का भी क्लाइमेक्स खत्म हो गया है. उत्तर प्रदेश में सत्ता सुंदरी ने अपना ठिकाना बदल लिया है. ५ कालिदास मार्ग पर सन्नाटा है और ५ विक्रमादित्य मार्ग पर होली का माहौल है. चौराहे से निकलने वाली सड़क पर गाड़ियों का जाम है. पर हार्न के शोर पर ढोल नगाडों की आवाज भरी पड़ रही है.

IRS 2011 (Q4)- Top Ten Hindi Magazines शीर्ष दस हिंदी पत्रिकाएं

आईआरएस2011 की चौथी तिमाही में कौन सी हिंदी पत्रिकाएं शीर्ष दस हिंदी पत्रिकाओं में शुमार हैं, इसे जानने के लिए नीचे के ग्राफ को देखें. इसमें तीसरी तिमाही के भी आंकड़ें हैं. साथ ही यह भी बताया गया है कि मैग्जीन मंथली है या वीकली. ग्राफ से जाहिर है कि प्रतियोगिता दर्पण मैग्जीन हिंदी पत्रिकाओं में सबसे उपर है. हालांकि उसकी हालत तीसरी तिमाही के मुकाबले पतली हुई है…

IRS 2011 (Q4)- Top Ten English Dailies शीर्ष दस अंग्रेजी अखबार

आईआरएस2011 की चौथी तिमाही के नतीजे में कौन कौन से अंग्रेजी अखबार टाप टेन अंग्रेजी अखबारों की लिस्ट में हैं, इसे जानने के लिए नीचे का ग्राफ देखिए. सभी आंकड़े में तीन शून्य जोड़ लें, जैसा ग्राफ के आखिर में बताया गया है. ग्राफ में तीसरी तिमाही के भी आंकड़े हैं, जिसके आधार पर तुलनात्मक अध्ययन कर सकते हैं….

अखिलेश ने दोहराया- सपा शासन में गुंडागर्दी करने वाले बाहर होंगे

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के नतीजों में शानदार सफलता हासिल करने के बाद समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने कहा है कि सपा की सरकार बनने पर गुंडागर्दी करने वाले को बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा और ऐसा करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. बसपा की पराजय के बारे में अखिलेश ने कहा, जो लोग हार गए, उनके बारे में क्या कहें, वे लोग तो खुद हार स्वीकार कर रहे हैं. प्रदेश की जनता ने बसपा को सूबे को खुशहाली के रास्ते पर ले जाने का अच्छा मौका दिया था, मगर उसने पत्थर लगवाने पर सारा पैसा लगा दिया और उसके अधिकारियों ने भ्रष्टाचार के नए-नए तरीके निकाले, जिससे प्रदेश बदहाली के रास्ते पर चला गया. 

गाजीपुर सदर सीट से वरिष्ठ पत्रकार अच्युतानंद के भतीजे विजय मिश्र 240 मतों से जीते

पूर्वी उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले की गाजीपुर सदर सीट से पहली बार चुनावी मैदान में किस्मत आजमा रहे विजय कुमार मिश्र को विजयश्री मिल गई है. उन्होंने केवल 240 वोटों से बहुजन समाज पार्टी के प्रत्याशी राजकुमार सिंह को पराजित कर दिया है. विजय कुमार मिश्र समाजवादी पार्टी के टिकट से मैदान में थे. वे वरिष्ठ पत्रकार अच्युतानंद मिश्र के भतीजे हैं. इस सीट पर बसपा, सपा, भाजपा और कौमी एकता दल के उम्मीदवारों के बीच कांटे की टक्कर थी. भाजपा के अरुण सिंह तीसरे स्थान पर हैं और कौमी एकता दल की ओमकला चौथे.

IRS 2011 (Q4)- Top Ten Hindi Dailies शीर्ष दस हिंदी अखबार

आईआरएस 2011 की चौथी तिमाही  के नतीजे आ चुके हैं. टाप टेन हिंदी अखबारों का एक ग्राफ यहां दिया जा रहा है. इसमें क्वार्टर थ्री यानि तीसरी तिमाही के भी नतीजे हैं. इनसे तुलनात्मक अध्ययन किया जा सकता है. जो फीगर है उसमें तीन शून्य जोड़ लें, जैसा कि ग्राफ के आखिर में बताया गया है…

आईएएस और आईपीएस अफसरों के कारण डूबी मायावती देंगी इस्तीफा

आखिरकार मायावती को जाना पड़ा. यूपी विधानसभा चुनाव में उनकी करारी हार हुई है. सौ सीट के आसपास मंडरा रही बसपा को डुबोने का काम सिर्फ और सिर्फ सत्ता के करीबी रहे आईएएस और आईपीएस अफसरों ने किया है. पूरे प्रदेश में पांच साल में जिस तरह का कुशासन चला, उसके लिए काफी हद तक जिम्मेदार ये नौकरशाह ही हैं. नौकरशाहों के भरोसे रहीं मायावती को यह अंदाजा भी नहीं हुआ कि प्रदेश में गरीबों के साथ किस कदर अन्याय हो रहा है.

महुआ हुआ कंगाल : खाते में पैसा नहीं, चेक हुए बाउंस

महुआ ग्रुप के खाते में अब पैसे नहीं हैं. महुआ प्राइवेट लिमिटेड बुरे दौर से गुजर रहा है. कंपनी द्वारा दिए गए चेक बाउंस हो गए हैं. खबर है कि बिहार के महुआ स्ट्रिंगरों की होली बनाने के नाम पर ये चेक बांटे गए थे, पर उनकी होली मनने की बजाय कंपनी का ही दिवाला निकलता दिख रहा है. अभी तक जो सूचना मिली है उसके अनुसार कई स्ट्रिंगरों के चेक बाउंस हुए हैं. कारण बताया गया है कि एकाउंट में पर्याप्‍त पैसा नहीं है.

नौवें सिम्‍मी मरवाहा पुरस्‍कार के लिए आवेदन आमंत्रित

चंडीगढ़। सिम्‍मी मरवाहा मेमोरियल चैरिटेबल ट्रस्ट (पंजीकृत) द्वारा नौवें सिममी मरवाहा युवा पत्रकार सम्‍मान के लिए युवा पत्रकारों से आवेदन मांगे गए है। ट्रस्ट की प्रबंध न्यासी कवयित्री राजिंदर रोज़ी ने बताया कि बीते एक बरस के दौरान जिन पत्रकारों ने समाज की बेहतरी के लिए अपने कलम के जरिए कार्य किया गया है और खोजी पत्रकारिता कर प्रशासन, सरकार की आंखें खोली हों, वह इसके लिए आवेदन कर सकता है।

यूपी के अमीरों का नम्‍बर एक अखबार है अमर उजाला

अमर उजाला ने एक बार फिर अपनी श्रेष्ठता का परचम लहरा दिया है। उत्तराखंड, जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में यह अपने नंबर-1 के स्थान पर काबिज है। आईआरएस-2011 की चौथी तिमाही के लिए जारी कुल पाठक संख्या (टीआर) आंकड़ों के मुताबिक इस अवधि में अमर उजाला के देशभर में पाठकों की संख्या दो करोड़ 97 लाख के ऊपर रही जबकि उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में इस अवधि में यह आंकड़ा दो करोड़ 70 लाख से ऊपर रहा।

बारह माह में सर्वाधिक बढ़े ‘हिंदुस्‍तान’ के पाठक

आईआरएस के नवीनतम दौर (क्यू4) के मुताबिक पिछले 12 महीने (आईआरएस क्यू4-2010 की तुलना में) में हिन्दुस्तान दैनिक के पाठकों की संख्या में 29.66 लाख पाठकों (कुल पाठक संख्या) की वृद्धि दर्ज हुई है। इस वृद्धि के साथ हिन्दुस्तान मीडिया वेंचर्स लिमिटेड द्वारा प्रकाशित आपके पसंदीदा समाचारपत्र हिन्दुस्तान के कुल 3.81 करोड़ पाठक हो गए हैं और अखबार ने देशभर में सभी अखबारों में दूसरे सबसे बड़े हिन्दी दैनिक के रूप में अपनी स्थिति और भी पुख्ता की है। गौरव की बात है कि पिछले 4 वर्ष में इस सर्वे के हर दौर में अकेले हिन्दुस्तान ने ही वृद्धि दर्ज कराई है।

आईआरएस2011, चौथी तिमाही : दैनिक जागरण, भास्‍कर समेत चार अखबारों को नुकसान

: पत्रिका एवं प्रभात खबर ने एक लाख से ज्‍यादा पाठक जोड़े : आईआरएस2011 की चौथी तिमाही के नतीजे आ गए हैं. हिंदी के टॉप टेन अखबारों में छह ने इस तिमाही में अच्‍छी बढ़त हासिल की है. दैनिक जागरण, दैनिक भास्‍कर, राजस्‍थान पत्रिका और नवभारत टाइम्‍स को इस बार भी पाठकों का नुकसान उठाना पड़ा है. पिछली तिमाही में नुकसान उठाने वाले अमर उजाला और पंजाब केसरी ने इस बार बढ़त हासिल की है. वहीं पत्रिका एवं प्रभात खबर ने अपने पाठकों की संख्‍या में अच्‍छी बढ़ोत्‍तरी की है.

आतंरिक परीक्षा की तैयारी में जुटे जागरण के पत्रकार, 12 मार्च से होगी शुरुआत

दैनिक जागरण से खबर है कि अप्रेजल फार्म भरवाने के बाद प्रबंधन अपने कर्मचारियों की कार्यक्षमता और व्‍यवहार कुशलता आंकने जा रहा है. इसके लिए सीनियर से लेकर ट्रेनियों तक ऑन लाइन परीक्षा ली जाएगी. इस परीक्षा के बाद तय होगा कि किसको क्‍या मिलना है. उल्‍लेखनीय है कि जागरण ने यह प्रक्रिया पिछले साल से शुरू की है, जब वह अप्रेजल और प्रमोशन के लिए यूनिट के वरिष्‍ठ अधिकारियों के रिपोर्ट के अलावा ऑन लाइन परीक्षा भी ले रहा है.

हिंदुस्‍तान के ब्‍यूरोचीफ पर लगे अवैध वसूली के आरोप, प्रबंधन ने कराया जांच

हिंदुस्‍तान, रामगढ़ के ब्‍यूरोचीफ योगेन्‍द्र सिन्‍हा के खिलाफ अवैध वसूली के आरोपों के मामले में जांच कार्रवाई पूरी हो गई है. उल्‍लेखनीय है कि हिंदुस्‍तान और दैनिक भास्‍कर के ब्‍यूरोचीफों पर आरोप लगा था कि ये लोग ईंट भट्टा एवं कोयला कारोबारियों से वसूली करते हैं. आरोप लगने के बाद दैनिक भास्‍कर ने तो अपने ब्‍यूरोचीफ को हटा दिया था, परन्‍तु हिंदुस्‍तान प्रबंधन ने इस मामले में जांच बैठा दी थी.

सड़क हादसे में पत्रकार की पुत्री की मौत

रुद्रपुर : अनियंत्रित ट्रक ने पत्रकार की बेटी को पीछे से टक्कर मार दी। इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस ने चालक को ट्रक समेत दबोच लिया। भदईपुरा निवासी गोपाल की पत्‍‌नी अंजू (25) सोमवार को मोबाइल का रिचार्ज कूपन खरीदने के लिए पैदल बाजार जा रही थी। इंदिरा चौक के पास पीछे से तेज गति से आ रहे ट्रक ने उसे टक्कर मार दी। इससे वह गंभीर रूप से घायल होकर तड़पने लगी।

महिला पत्रकार के साथ सामूहिक दुष्‍कर्म

आगरा : थाना शाहगंज क्षेत्र से खबर है कि तीन युवकों ने एक महिला पत्रकार के साथ फोटो स्टूडियो में कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार किया। महिला पत्रकार ने इसकी जानकारी पुलिस को दी है। शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने महिला पत्रकार मेडिकल जांच कराया है। शाहगंज थानाध्‍यक्ष उदयराज सिंह ने बताया कि उक्‍त महिला पत्रकार विज्ञापन के लिए खेरिया मोड़ स्थित कला संगम फोटो स्‍टूडियो गई थी।

आलोक तिवारी जनसंदेश टाइम्स के ग्रुप बिजनेस एडिटर बने

कानपुर से सूचना है कि आलोक तिवारी ने हिंदी दैनिक जनसंदेश टाइम्स ज्वाइन कर लिया है. उनका पद ग्रुप बिजनेस एडिटर का है. आलोक पत्रकारिता में शुरुआत से ही बिजनेस बीट पर काम कर रहे हैं. वे करीब 11 साल तक दैनिक जागरण, कानपुर में बिजनेस का पेज देखते रहे. उसके बाद उन्होंने कानपुर में …

लेखक-पत्रकार बिरादरी ने किया राजेंद्र यादव का लोक सम्‍मान (देखें तस्वीरें)

अगर वयोवृद्ध कथाकार कृष्‍णा सोबती के शब्‍दों में कहें तो हिंदी कबीला रविवार को कथाकार और 'हंस' के संपादक राजेंद्र यादव के 'हजूर में हाजिर' था. मौका था यादव के लोक सम्‍मान  का. सोबती और प्रसिद्ध आलोचक नामवर सिंह ने शॉल ओढ़ाकर उन्‍हें सम्‍मानित किया. हिंदी के तमाम दूसरे सम्‍मानों से अलग यह किसी लेखक का अपनी तरह का सम्‍मान इसलिए था क्‍योंकि यह लेखकों और पत्रकारों की ओर से किया गया और शायद पहली बार ऐसा हुआ.

Application invited for journalist honour day

Chandigarh, 5 march :  Simmi Marwaha Memorial Charitable Trust (reg) invited applications from young journalist for their fair job in the field of journalism. Trust’s Manging Trustey Poetess Rajinder Rosy said that those young scribes send their performance in the shape of document to trust who done a very well job in this field n give a warm up to society.

अमर भारती, आगरा में कई लोगों का प्रमोशन व दायित्व में फेरबदल

अमर भारती के आगरा संस्करण में चन्द्र भूषण दीक्षित को कार्यालय प्रभारी का प्रशासनिक उत्तरदायित्व सौंपा गया है. साथ ही संजय पाण्डेय को डेस्क प्रभारी, दाऊ दयाल सिंह को नगर प्रभारी (आगरा), सुमित गुप्ता को विशेष संवाददाता के पद पर पदोन्नत किया गया है. शिवेंद्र प्रताप सिंह, हिमांशु तथा योगेश की नियुक्ति संवाददाता के पद …

रवींद्र प्रभात के उपन्यास ‘प्रेम न हाट बिकाय’ का लोकार्पण

नई दिल्ली । ….रवीन्द्र प्रभात का दूसरा उपन्यास ''प्रेम न हाट बिकाय'' का लोकार्पण करते हुए मुझे वेहद ख़ुशी हो रही है। उपन्यास के नाम से ही ज़ाहिर है कि इसकी कथा के केन्द्र में प्रेम है। प्रेम ही एक ऐसा भाव है जो व्यक्ति को हर जटिल से जटिल स्थिति से निपटने की ताकत देता है। प्रेम जोड़ता है तो कभी कभी प्रेम तोड़ता भी है। यहाँ प्रेम माँजता है। चाहे प्रशांत हो या स्वाति और चाहे देव हो या गुलाब से नगीना और नगीना से गुलाब की यात्रा करती हुई एक स्त्री –सभी को विपरीत स्थितियों से प्रेम ही बचाता है। मैंने इस पुस्तक को पढ़ा है और पढ़ने के उपरांत इस निष्कर्ष पर पहुंचा कि रवीन्द्र प्रभात ने प्रेम के स्वरूप को देह से निकाल कर अध्यात्म तक पहुँचाने का उपक्रम इस कथा के माध्यम से किया है…. ये बातें उपन्यासकार प्रताप सहगल ने स्थानीय प्रगति मैदान में आयोजित विश्व पुस्तक मेला में प्रेम न हाट बिकाय के लोकार्पण के दौरान कहीं।

Mohinder Walia joins MediaGuru Entertainment as CEO

Mumbai, 5th March, 2012 : MediaGuru, the leading Indian MNC in media business with a diversified group of media companies, announced the joining of Mohinder Walia as the CEO of its new media venture, MediaGuru Entertainment.  Mohinder will be based appropriately out of Mumbai, the entertainment capital of India as MediaGuru enters the entertainment media domain with ambitious plans. He would drive the business in the domestic as well as international markets.

एक्जिट पोल और मीडिया : कौव्वा कान लेकर भाग रहा… पीछे दौडो!

ईवीएम के अल्ट्रासाउण्ड का कोई तरीका निकल आया हो, तो नहीं कह सकता, वरना कहीं से मुमकिन नहीं कि गिनती किए बिना कोई नतीजे का पूर्वानुमान कर सके। अल्ट्रासाउण्ड का ईजाद नहीं हुआ था, तो बच्चों के पैदाइश को लेकर अन्त तक भ्रम बना रहता था, लिंग निर्धारण किसी के वश में नहीं था। हां, कुछ ज्योतिषी या पारखी दाई सटीक भविष्यवाणी कर पाती थी। टीवी चैनलों पर 'एक्जिट पोल' का जो शोर चल रहा है, बिल्कुल हास्यास्पद लगता है। पिछले ही विधान सभा चुनाव की बात करें, गिनती के अंतिम तक कोई बता पाने की स्थिति में नहीं था कि बसपा बहुमत की सरकार बनाने जा रही है।

सिर्फ आईपीएस अफसरों को बढ़ावा देने से कानून व्यवस्था बिगड़ेगी

प्रदेश सरकार द्वारा विचाराधीन उत्‍तर प्रदेश पुलिस एसोसिएशन के संस्‍थापक सुबोध यादव ने कहा है कि राज्‍य में केवल आईपीएस अधिकारियों को बढ़ावा देने से कानून-व्‍यवस्‍था की स्थिति बिगड़ेगी. श्री यादव ने कहा कि अंग्रेजों के जमाने के काननू में बदलाव की जरूरत है. इसी कानून की आड़ लेकर आईपीएस अधिकारी अपने अधीनस्‍थ कर्मचारियों का मानसिक, शारीरिक औरे आर्थिक उत्‍पीड़न किया जा रहा है. पिछले दिनों हुए कई हादसे इसके गवाह हैं.

बंदूकधारियों ने गोली मारकर पत्रकार की हत्‍या की

अफ्रीकी देश सोमालिया में कुछ बंदूकधारियों ने एक स्थानीय पत्रकार की गोली मारकर हत्या कर दी. इस साल इस तरह की यह तीसरी हत्या है. मारे गए पत्रकार अली अहमद आब्दी के साथियों के मुताबिक नकाबपोश बंदूकधारियों ने उनकी उस वक्त हत्या कर दी जब वे अपने घर की ओर पैदल ही जा रहे थे. …

इंडिया टीवी में सीनियर एडिटर बने नवीन पाण्डेय

नोएडा के फिल्म सिटी से जल्द ही लांच होने जा रहे चैनल 4रियल न्यूज को तगड़ा झटका लगा है. खबर है कि चैनल के डिप्टी न्यूज हेड नवीन पाण्डेय ने इस चैनल से नाता तोड़ लिया है। अब वे इंडिया टीवी को सीनियर एडिटर के तौर पर अपनी सेवाएं देंगे। रियल न्यूज का दावा है कि वो पूरी तरह एचडी तकनीक के साथ लांच हो रहा है, इसलिए लांचिंग में ज्यादा वक्त लग रहा है। इस चैनल में शुरू से नवीन पाण्डेय ही न्यूज़ सेक्शन की जिम्मेदारी निभा रहे थे।

बरेली में प्रत्‍याशी ने पत्रकारों को बांटा एलसीडी

चुनावी मौसम है। हर तरफ पत्रकारों को साधने की कोशिश हो रही है। कोई किसी तरह से तो कोई किसी तरह से इन्हें साध रहा है। पर बरेली के कुछ उम्मीदवार कुछ ठोस संसाधनों से इन्हें साधने की कोशिश कर रहे हैं। सूत्रों ने बताया कि यहां दो उम्मीदवारों ने पत्रकारों पर खूब पैसे लुटाया है। इन्हीं में एक उम्मीदवार ने यहां सभी अखबारों के पत्रकारों की एक लिस्ट बनाई और एक दुकान से 19 एलसीडी खरीदी। उम्मीदवार के एक खास को इन एलसीडियों को देने की जिम्मेदारी सौंपी गई कि इन्हें वह सही हाथों में पहुंचा दे। 

अखबार विक्रेता दस रुपये सर्विस टैक्स ले रहे हैं पाठकों से!

मुजफ्फरनगर। इसे आप एंजेसी होल्डरों की धींगामस्ती कहें या फिर हॉकरों की मजबूरी कि ग्राहकों से सर्विस टैक्स के नाम पर प्रतिमाह दस रुपये अतिरिक्त लिये जा रहे हैं। किसी भी एक अखबार की बाजार में एक रुपये से तीन रुपये के बीच कीमत है। अखबार कोई भी हो, एक रुपये वाला हो या फिर तीन रुपये वाला। लेकिन हॉकरों का यह सर्विस टैक्स सभी पर बराबर लगाया जा रहा है। इतना ही नहीं किसी घर में अगर तीन अखबार आ रहे हैं तो उन पर तीन टैक्स यानी दस रुपये के हिसाब से तीस रुपये प्रतिमाह ग्राहक को देना मजबूरी बन गया है।

…जब खबरनवीस को लौटाने पड़ गए प्रत्‍याशी से लिए पैसे

पुवायॉ (शाहजहांपुर) : विधानसभा चुनावों में खबरनवीसों की बन आई, प्रत्याशियों ने अखबारों में खबरें छपवाने के लिये काफी रकम खर्च की, लेकिन यहॉ पर एक खबरनवीस को यह सौदा काफी महंगा पड़ गया, जब खबर के बदले लिये गये रुपये प्रत्याशी को वापस करने पडे और बेइज्जती हुई सो अलग। इसके बाद से खबरनवीस सबसे मुंह चुराता फिर रहा है।

उत्‍तराखंड में दिख रही कांग्रेस की बढ़त, अपनी सीट पर ही जरूरी नहीं लग रहे बीसी खंडूरी

पांच राज्यों में जनता की राय का खुलासा आगामी 6 मार्च को सार्वजनिक होने जा रहा है। चूंकि उत्तराखण्ड के मतदान और मतगणना के बीच एक महीने से ज्यादा समय रहा है। लिहाजा गश्ती खबरें और गफतल का माहौल होना लाजमी है। सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी के समर्थक दुबारा सरकार बनाने का दावा कर रहे हैं। लेकिन मजेदार बात ये है कि विपक्षी कांग्रेस के नेता खुलकर दावा नहीं कर पा रहे हैं कि उन्हें सरकार बनाने को बहुमत मिलेगा। राज्य में बने अजीबोगरीब माहौल ने मुझे अपनी सामान्य बुद्वि पर जोर डालते हुए एक आंकलन करने को मजबूर किया। बहरहाल, ईवीएम में कैद वोटों की गिनती में चंद घंटे बचे हैं, फिर भी मैं 70 सदस्यीय उत्तराखण्ड विधानसभा के चुनावी नतीजों के अपने आंकलन को आपसे बांट रहा हूं।

जिस मंत्री पर किताब में तीखे प्रहार, उसी ने किया विमोचन

: पत्रकारिता का अहम हिस्सा हैं कार्टून : करप्शन के खिलाफ आंदोलनों और उस पर सरकार के बचाव के तरीकों के बीच, देश के जाने माने कार्टूनिस्ट सुधीर तैलंग के भ्रष्टाचार पर बनाए गए कार्टून्स पर उनकी किताब 'India for Sale' का विमोचन किया गया। इस कार्यक्रम का दिलचस्प पहलू ये रहा कि जिस सरकार पर और खास तौर पर सरकार के जिस मंत्री पर इस किताब में बहुत तीखे प्रहार किए गए उन्हीं मंत्री जी ने किताब का विमोचन किया।

सहारा के सर्वे में सपा को यूपी में 188 सीटें मिल रही

: SAHARA Exit Poll Survey Findings (Uttar Pradesh) : SAHARA NEWS NETWORK has conducted Exit Poll for Uttar Pradesh Assembly Elections. The Poll was conducted in each phase of the poll and a total of 135 seats of the 403 seats of state assembly were covered. The selection of seats, booths and voters were done randomly. The selected seats were spread over all the districts and all the Lok Sabha constituencies of the State.

BJP likely to retain power in Uttarakhand; Congress – Akalis neck to neck in Punjab

: Star News-Nielsen Exit Poll : Star News – Nielsen exit poll predicts yet another jolt for the Congress party. Congress has just a slight edge over the Akalis with 58 seats in the 117 member strong Punjab assembly; the Akalis are also in the reckoning in Punjab with just two seats less than the Congress party. The SAD-BJP alliance is predicted to get 56 seats. Manpreet Badal’s PPP is likely to get 2 seats and play a key role in government formation in Punjab where the magic figure is 59.

रद्दी का खेल पकड़वाने वाले राजेंद्र गुप्‍ता को जनसंदेश टाइम्‍स प्रबंधन ने अधर में लटकाया

जन्संदेश टाइम्स, लखनऊ के वरिष्ठ प्रसार प्रबंधक राजेंद्र गुप्ता को प्रबंधन ने अधर में लटका दिया है. खबर है कि उन्‍हें लखनऊ से तो रिलीव कर दिया गया है, पर कानपुर में अभी तक ज्‍वाइनिंग नहीं कराई गई है. राजेंद्र गुप्‍ता की जगह नईदुनिया, भोपाल के सर्कुलेशन प्रभारी रहे आरके सिंह ने लखनऊ में राजेंद्र गुप्‍ता के स्‍थान पर कार्यभार ग्रहण कर लिया है. जानकारी के अनुसार दिसम्बर में राजेंद्र गुप्ता ने कानपुर में बेगमपुरवा इलाके में जन्संदेश टाइम्स की रद्दी का जखीरा पकड़ा था. इसमें सर्कुलेशन मैनेजर के साथ उप महाप्रबंधक अनिल पाण्‍डेय का नाम भी सामने आया था.

फिल्‍म निर्देश कबीर सदानंद ने स्‍टार न्‍यूज के पत्रकार का कैमरा तोड़ा

: नवीन ने चैनल को अलविदा कहा : धर्मशाला के कांगड़ा में अपनी फिल्‍म प्रोजेक्‍ट-36 की शूटिंग कर रहे बॉलीवुड निर्देशक कबीर सदानंद ने स्‍टार न्‍यूज के रिपोर्टर का कैमरा तोड़ दिया तथा तहसीलदार से भी उलझ पड़े. यह घटना सार्वजनिक स्‍थानों पर सिगरेट पीने से मना करने के बाद हुई. पत्रकार ने थाने में शिकायत दर्ज करा दी वहीं तहसीलदार ने सिगरेट पीने पर चालान काटा. हालांकि बाद में मामला आपस में सुलझा लिया गया.

फारवर्ड प्रेस सर्कुलेशन विभाग से जुड़े धनंजय उपाध्‍याय एवं मनोज सिन्‍हा

फारवर्ड प्रेस के खबर है कि सकुर्लेशन विभाग में दो नयी नियुक्तियां की गयी हैं। प्रभात खबर से जुडे रहे धनंजय उपाध्‍याय को नेशनल सर्कुलेशन प्रभारी बनाया गया है। इसके अलावा नई दुनिया के पटना ब्‍यूरो से जुड़े रहे मनोज सिन्‍हा को बिहार सर्कुलेशन प्रभारी बनाया गया है। दोनों लोगों ने अपना पद भार संभाल लिया है। धनंजय उपाध्‍याय दिल्‍ली कार्यालय में बैठेंगे जबकि मनोज सिन्‍हा पटना में रहकर अपनी जिम्‍मेदारी संभालेंगे।

इंडिया न्‍यूज यूपी-यूके चैनल में नितिन राठी समेत आठ की नई पारी

इंडिया न्‍यूज से खबर है कि उनके रीजनल चैनल यूपी-उत्‍तराखंड से कई लोगों ने अपनी नई पारी शुरू की है. नितिन राठी ने इंडिया न्‍यूज के रीजनल चैनल में यूपी-उत्‍तराखंड के बिजनेस हेड के रूप में ज्‍वाइन किया है. वे न्‍यूज एक्‍सप्रेस को अपनी सेवाएं दे रहे थे. नितिन यूपी-उत्‍तराखंड में सेल्‍स, मार्केटिंग और ब्रांडिंग की जिम्‍मेदारी संभालेंगे. नितिन इसके पहले रेडिया मिर्ची, आई नेक्‍स्‍ट, ईटीवी जैसे संस्‍थानों को अपनी सेवाएं दे चुके हैं. यूपी-उत्‍तराखंड में विभिन्‍न सेंटरों पर नियु‍क्‍त किए गए लोग उन्‍हें रिपोर्ट करेंगे.

पत्रकार चंद्रिका हत्‍याकांड की जांच पर भारतीय प्रेस परिषद की टीम ने उठाए सवाल

उमरिया। पत्रकार चंद्रिका राय की परिवार सहित हुई हत्या की जांच के लिये गठित भारतीय प्रेस परिषद की जांच समिति ने रविवार को घटनास्थल का दौरा कर विभिन्न पक्षों से बात कर मामले से जुड़े साक्ष्य एकत्र किये। जांच समिति ने पत्रकारों से चर्चा में राय हत्याकाण्ड की न सिर्फ निंदा की अपितु जांच पर गंभीर सवाल खड़े किये। भारतीय प्रेस परिषद के वरिष्ठ सदस्य के. अमरनाथ की अध्यक्षता में गठित इस तीन सदस्यीय जांच समिति में राजीव रंजननाग और कल्याण बरूआ शामिल थे।

उमेश शुक्‍ला बने दैनिक जागरण, गोरखपुर के संपादकीय प्रभारी

गोरखपुर से खबर है कि शैलेंद्र मणि त्रिपाठी के जनसंदेश टाइम्‍स जाने के बाद खाली पड़े दैनिक जागरण के संपादक की कुर्सी पर उमेश शुक्ला की ताज़पोशी हुई है. इसके पहले वह बिहार में दैनिक जागरण, मुजफ्फरपुर के संपादक थे. मूल रूप से कानपुर के रहने वाले उमेश शुक्ला बहुत पहले से अपने गृह राज्‍य यूपी मे आने के लिए प्रयासरत थे. मालिकानों में अपनी पैठ रखने वाले शुक्ला गोरखपुर में खराब हुए जागरण के माहौल को भी ठीक करेंगे.

स्‍वतंत्र वार्ता का प्रकाशन बंद, संपादक समेत चालीस कर्मचारी सड़क पर

 हैदराबाद से प्रकाशित दक्षिण भारत का सर्वाधिक लोकप्रिय हिंदी दैनिक 'स्वतत्र वार्ता' का प्रकाशन शुक्रवार से बंद हो गया है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक प्रकाशन के बंद होने का कारण प्रबंधन मंडल एवं सम्पादकीय विभाग के कर्मचारियों के बीच तालमेल का न होना है। बताया जाता है कि कर्मचारियों को पिछले दो माह से वेतन नहीं दिया गया था, जिसकी मांग को लेकर सम्पादकीय टीम ने प्रबंधन मंडल से अनुरोध भी किया था, लेकिन मैनेजमेंट ने उनकी बात को अनसुनी करते हुए वेतन देने में आना-कानी कर रहा था।

न्‍यूज चैनल का कर्मचारी बन के ठगी करने वाला गिरफ्तार

नई दिल्ली : ग्रेटर कैलाश थाना पुलिस ने नौकरी के नाम पर लाखों रुपये ऐंठने वाले एक शातिर ठग को गिरफ्तार किया है। वह मेट्रो में खुद को इंजीनियर व एक न्यूज चैनल का कर्मी बताकर लोगों को चूना लगाता था। यहीं नहीं न्यूज चैनल का कर्मचारी बन उसने एक युवती को भी अपने प्रेमजाल में फंसा लिया और भगाकर उससे शादी कर ली। उसके खिलाफ ग्रेटर कैलाश में न्यूज चैनल का कर्मी बनकर ठगी करने व सुभाष प्लेस थाना में मेट्रो में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने का मामला दर्ज है। पुलिस ने उसे गाजियाबाद के वैशाली से गिरफ्तार किया है।

अमर उजाला, हिमाचल के नए संपादक होंगे राजेंद्र सिंह

गिरीश गुरनानी के इस्‍तीफा देने के बाद खाली पड़े अमर उजाला, हिमाचल के संपादक पद पर राजेंद्र सिंह को भेजा जा रहा है. राजेंद्र सिंह फिलहाल लखनऊ में कार्यरत हैं. गिरीश गुरनानी कुछ दिन पूर्व अमर उजाला से इस्‍तीफा देकर हिंदुस्‍तान चले गए थे, जिसके बाद उन्‍हें हिंदुस्‍तान, देहरादून का संपादक बना दिया गया था. अब उनकी जगह राजेंद्र सिंह को संपादक बनाया जा रहा है. वे पूरे यूनिट के इंचार्ज होंगे.

पत्रकारों पर हमला मामले में चार साथियों की गिरफ्तारी के खिलाफ वकीलों ने दी आंदोलन की चेतावनी

 बंगलुरू में मीडियाकर्मियों पर पूर्व मंत्री जी रेड्डी की पेशी के दौरान हमला करने के मामले में पुलिस ने चार वकीलों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने यह गिरफ्तार तब की जब पत्रकारों ने इस मामले में न्‍यायिक जांच की बात को खारिज कर दिया. पत्रकारों ने आरोपी वकीलों के तत्‍काल गिरफ्तारी की मांग की थी. गिरफ्तार वकीलों में बार एसोसिएशन के महासचिव एपी रंगनाथ भी शामिल हैं. दूसरी तरफ वकील भी इन गिरफ्तारियों के विरोध में आंदोलन करने की चेतावनी दी है.

यूपी में 185 सीटों के साथ सपा बहुमत के करीब

: न्यूज 24-टुडेज चाणक्य का एग्जिट पोल : यूपी में किसी को स्पष्ट बहुमत नहीं : यूपी में बीएसपी को भारी नुकसान, आंकड़ा 100 सीटों से नीचे जाने का अनुमान : यूपी में कांग्रेस और बीजेपी में तीसरे स्थान के लिए लड़ाई : पंजाब में कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत के आसार : उत्तराखंड में त्रिशंकु विधानसभा के आसार : उत्तराखंड में कांग्रेस बन सकती है सबसे बड़ी पार्टी :  न्यूज24-टुडेज चाणक्य के एग्जिट पोल नतीजों के मुताबिक यूपी में किसी को स्पष्ट बहुमत मिलता नहीं दिख रहा है लेकिन समाजवादी पार्टी बहुमत के करीब जाती दिखाई दे रही है….403 सीटों वाली यूपी विधानसभा में सपा सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभर सकती है….यहां सपा को 185 सीटें मिलने का अनुमान है….तो वहीं बीएसपी को भारी नुकसान होने की संभावना दिख रही है….बीएसपी को 85 सीटें मिलने का अनुमान है…..

मीडिया का एक तबका निशाना बना रहा, मुझे न्याय मिलने का विश्वास : कृपाशंकर

मुंबई : अदालत के फैसले के बाद विवाद में आए मुंबई कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष कृपाशंकर सिंह ने कहा है कि मामला अदालत में है इसलिए इस बारे में बार-बार मेरी प्रतिक्रिया देने का कोई अर्थ नहीं है. मैं निर्दोष हूं. उन्होंने कहा कि मीडिया का एक वर्ग मुझे निशाना बना रहा है. मीडिया में आ रही चीजें ही सारी सच्चाई नहीं है.

प्रधान संपादक राहुल देव का आज समाज से इस्‍तीफा

आज समाज में जिस बात का अंदेशा जताया जा रहा था, आखिरकार वो बात सच हो गई. अखबार के प्रधान संपादक राहुल देव ने इस्‍तीफा दे दिया है. रवीन ठुकराल की वापसी के बाद से ही कयास लगाया जा रहा था कि राहुल देव की विदाई तय हो गई है. अगर दूसरे तरीके से देखा जाए तो राहुल देव ने खुद इस्‍तीफा नहीं दिया बल्कि प्रबंधन ने उनसे इस्‍तीफा ले लिया है. वो भी रवीन ठुकराल को उनके ऊपर बैठाकर.

परितोष का तबादला, पंकज की नई पारी

राजस्थान पत्रिका प्रबंधन  ने सम्पादकीय विभाग में  अपने  तबादलों को जारी  रखते हुए कोलक़ता से पारितोष दुबे को  उदयपु में बतौर सवांददाता नियुक्त किया है  दुबे ने उदयपुर में अपनी नई पारी शुरू भी कर दी है.

एसपी राहुल अस्‍थाना के खिलाफ महानगर में एफआईआर दर्ज

रूल्स एवं मैनुअल के एसपी राहुल अस्थाना के खिलाफ 29 फरवरी की दोपहर स्टेनो जयप्रकाश कनौजिया को खुलेआम माँ-बहन की गालियाँ देने के मामले में आज थाना महानगर, लखनऊ में एफआईआर संख्या 16/2012 धारा 504 आईपीसी दर्ज किया गया. एफआईआर के अनुसार 29 फरवरी को लगभग चार बजे वे रूल्स एंड मैनुअल्स के दो एसपी अमिताभ ठाकुर और राहुल अस्थाना के सरकारी कमरे के आवंटन से सम्बंधित एक आदेश अस्थाना को देने गए थे. आदेश की प्रति देखते ही अस्थाना अचानक से आग-बबूला हो गए.

Samajwadi Party likely to form government, just short of majority

: Star News-Nielsen UP Exit Poll : After the seventh and final phase of polling for Uttar Pradesh, Star News – Nielsen Exit poll predicts a hung assembly, though Mulayam Singh’s Samajwadi Party is quite close to majority. The exit poll predicts SP to get 183 seats, just 19 seats short of the magic figure of 202 required to form government in UP. The Samajwadi Party improved its tally by 86 seats and vote percent by 1.5 as compared to the figures of 2007 assembly elections.

दैनिक जागरण, मेरठ में वापसी करेंगे रवि शर्मा!

दैनिक जागरण, मेरठ में हलचल है. चर्चा है कि जनवाणी के जीएम रवि शर्मा जागरण में वापसी करने वाले हैं. ये खबर इसलिए भी चर्चा में है कि उन्‍हें जागरण के कार्यालय में देखा गया था. रवि लम्‍बे समय तक जागरण से जुड़े रहे हैं, पर जनवाणी की लांचिंग के समय जागरण से इस्‍तीफा दे दिया था. हालां‍कि इस खबर की सच्‍चाई पूछने पर रवि शर्मा ने स्‍पष्‍ट किया कि ऐसी कोई बात नहीं हैं.

बनारस के अखबारों को 20 मार्च तक जमा करना होगा मजीठिया वेज बोर्ड लागू करने की रिपोर्ट

बनारस में कई अखबारों के मैनेजमेंट में हड़कम्‍प मचा हुआ है. अब तक लेबरकोर्ट के टालमटोल रवैये के चलते कई मुद्दों पर बच जाने वाला अखबारों का मैनेजमेंट अब परेशान हैं. खबर है कि शुक्रवार को डिप्‍टी लेबर कमिश्‍नर के सामने मजीठिया वेज बोर्ड को लेकर दैनिक जागरण, अमर उजाला, हिंदुस्‍तान, राष्‍ट्रीय सहारा और आज अखबार के एचआरडी के लोगों की पेशी थी. अभी लेबर कोर्ट में कई जागरण समेत कई अखबारों में अंतरिम का मामला चल ही रहा है. परन्‍तु अब मजीठिया वेज बोर्ड के मामले में श्रम एवं रोजगार मंत्रालय के सचिव की चिट्ठी के बाद से बनारस का लेबर कोर्ट हरकत में आ गया है.

BEA concerned over growing incidents of assault on media

: Fact-finding team to visit Bangalore : New Delhi : The Broadcast Editors’ Association (BEA) has expressed serious concern over the growing incidents of attack on media by groups, institutions and those holding constitutional positions. “There seems a pattern in all these incidents suggesting that an attempt is sought to be made to frighten the media into submission particularly because it works in most sublime public interest”, the apex body of electronic media professionals in the country said in a press release on Saturday.

वरिष्‍ठ पत्रकार विपिन धूलिया बने चैनल वन के एक्‍जीक्‍यूटिव एडिटर

वरिष्‍ठ पत्रकार विपिन धूलिया के बारे में खबर है कि वे चैनल वन से जुड़ गए हैं. उन्‍होंने यहां पर एक्‍जीक्‍यूटिव एडिटर के पद पर ज्‍वाइन किया है. विपिन इसके पहले भी कई चैनलों में वरिष्‍ठ पदों पर रह चुके हैं. विपिन सहारा समय यूपी-उत्‍तराखंड चैनल के संस्‍थापक चैनल हेड भी रह चुके हैं. वे …

अविनाश वाचस्‍पति की किताब ‘व्‍यंग्‍य का शून्‍यकाल’ लोकार्पित

नई दिल्‍ली। मैंने पढ़ा है कि शब्‍दों के साथ किस तरह खेलते हैं, सिर्फ खेलते ही नहीं, स्थितियों और परिस्थितियों को भी व्‍यंग्‍य का निशाना बनाते हैं। बहुत से व्‍यंग्‍यकारों को हम पढ़ते हैं तो समझ नहीं पाते कि यह क्‍या कह रहे हैं। सुविख्‍यात व्‍यंग्‍यकार डॉ. शेरजंग गर्ग ने अपने विचार अविनाश वाचस्‍पति की पहली व्‍यंग्‍य पुस्‍तक ‘व्‍यंग्‍य का शून्‍यकाल’ को विश्‍व पुस्‍तक मेले में लोकार्पित करते हुए प्रकट किए।

विमोचन समारोह में बोले रमन- बस्तर में शांति के लिए खलनायक बनने को भी तैयार

हरिभूमि रायपुर में कार्यरत ब्रह्मवीर सिंह के उपन्यास दंड का अरण्य के विमोचन समारोह में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने कहा कि बस्तर में शांति के लिए वे खलनायक बनने के लिए भी तैयार हैं। कभी-कभी फिल्में भी खलनायक की वजह से हिट हो जाती हैं। मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने आज कहा कि राज्य में शांतिपूर्ण विकास के लिए बेहतर वातावरण बनने तक नक्सल हिंसा से निबटने की अपनी नीति और संकल्प पर सरकार हमेशा कायम रहेगी। हम एक पल के लिए भी राह से नहीं भटकेंगे। इन प्रयासों को गलत बताते हुए कतिपय लोग मुझे खलनायक कहते हैं। अगर शांति की बहाली के लिए खलनायक बनना पड़े तो इसके लिए भी तैयार हूं।

घर बैठे घटना की सत्यता पर नतीजा निकालते अशोक राजपूत जैसे पत्रकार

मेरे पति अमिताभ ठाकुर उत्तर प्रदेश पुलिस के रूल्स एवं मैनुअल ऑफिस में एसपी हैं. वहाँ एक दूसरे एसपी राहुल अस्थाना ने 29 फरवरी की दोपहर ऑफिस के स्टेनो जयप्रकाश कनौजिया को खुलेआम माँ-बहन की गालियाँ दी और जम कर जलील किया. साथ ही वहाँ दफ्तर के सारे ग्लास भी दीवार पर मार कर फोड़ डाले. पूरे दफ्तर में कोहराम मच गया. स्टेनो कनौजिया इस बात से बहुत अधिक आहत हुए और वहीँ दफ्तर में फूट-फूट कर रोने लगे. उन्होंने मेरे पति को पत्र लिख कर तुरंत एफआईआर कराने की मांग की है. यह भी कहा है कि यदि इस मामले में एफआईआर दर्ज नहीं हुई तो वे विभाग में नौकरी नहीं कर पायेंगे. इस सम्बन्ध में मुझे भी जानकारी हुई तो मैंने एक ईमेल कई पत्रकार साथियों को भेजा.

16 पत्रकारों की कोर्ट में परेड कराएंगे अभिषेक उपाध्‍याय

प्रेस क्‍लब के सदस्‍य एवं दैनिक भास्‍कर के पत्रकार अभिषेक उपाध्‍याय को टर्मिनेट करने के मामले में पटियाला कोर्ट ने शनिवार को सुनवाई के दौरान मीटिंग मिनट्स के रिकार्ड में गड़बड़ी को संज्ञान में लेते हुए इस कार्रवाई में शामिल सभी सोलह लोगों को अगली तारीख पर उपस्थित होने का फरमान सुनाया है. कोर्ट ने संदीप दीक्षित को आदेश दिया है कि अभिषेक को प्रेस क्‍लब की सदस्‍यता से टर्मिनेट करने में शामिल सभी 16 लोगों को 3 अप्रैल को होने वाली अगली सुनवाई में लेकर उपस्थित हों.

नवीन राय बने सहारा समय में स्‍पेशल करेस्‍पांडेंट

सहारा समय से खबर है कि वरिष्‍ठ पत्रकार नवीन कुमार राय ने स्‍पेशल करेस्‍पांडेंट के रूप में ज्‍वाइन किया है. वे कोलकाता में रहकर वेस्‍ट बंगाल की रिपोर्टिंग करेंगे. नवीन फिलहाल न्‍यूज एजेंसी एनएनआईएस से बंगाल प्रभारी के रूप में जुड़े हुए थे. लगभग दो दशक से पत्रकारिता में सक्रिय नवीन ने कई संस्‍थानों के साथ काम करते हुए कई बड़ी स्‍टोरियां ब्रेक कीं।

कल लोक सम्‍मान से नवाजे जाएंगे साहित्‍यकार राजेंद्र यादव

जाने माने साहित्‍यकार और हंस पत्रिका के प्रधान संपादक राजेंद्र यादव को कल यानी रविवार को सम्‍मानित किया जाएगा. उन्‍हें यह सम्‍मान हिंदी साहित्‍य में उनके अमूल्‍य योगदान के लिए दिया जा रहा है. राजेंद्र यादव को यह सम्‍मान उनके प्रसंशक, साहित्‍यकार एवं हंस परिवार की तरफ से दिया जा रहा है. मयूर विहार फेस वन में आकाशदक्ष अपार्टमेंट में स्थित उनके घर पर ही उन्‍हें यह सम्‍मान दिया जाएगा.  

अवैध वसूली में सहारा का स्ट्रिंगर गिरफ्तार, साधना का स्ट्रिंगर फरार

: अपडेट : जमशेदपुर के पोटका के लिए शुक्रवार का दिन अच्‍छा नहीं रहा. अवैध वसूली के आरोप में सहारा के स्ट्रिंगर विनोद केशरी की पिटाई हुई वहीं इस कांड में उनका भागीदार बताया जा रहा साधना न्‍यूज का स्ट्रिंगर शंकर गुप्‍ता फरार बताए जा रहे हैं. पुलिस ने विनोद गुप्‍ता को गिरफ्तार कर लिया है. पोटका थाना में हाता क्षेत्र की मुखिया रुपा सरदार ने इनलोगों के खिलाफ अवैध वसूली की शिकायत दर्ज कराई थी.

बिहार विधानसभा में मीडियाकर्मियों पर लाठीचार्ज

पटना। प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया के अध्यक्ष जस्टिस मार्कडेय काटजू के बिहार में मीडिया के उत्पीड़न संबंधी वक्तव्य को हफ्ता भी नहीं गुजरा कि शुक्रवार को विधानसभा परिसर में पत्रकारों पर लाठीचार्ज हो गया। न्यूज चैनलों से जुड़े मीडियाकर्मियों ने कैमरे के साथ विधानसभा में एक खास लाइन से आगे जाने की कोशिश की, तो सुरक्षाकर्मी उग्र हो उठे। इन मीडियाकर्मियों के पास विधानसभा की ओर से कवरेज के लिए जारी अनुमति पत्र है और दो जगह सुरक्षा जांच भी होती है।

पत्रकार को बंधक बनाए जाने के मामले में एसपी को ज्ञापन देकर कार्रवाई की मांग

झारखंड के लातेहार में चंदवा थानाध्‍यक्ष द्वारा एक पत्रकार को पांच घंटे तक बंदी बनाए जाने का मामला तूल पकड़ रहा है. पत्रकारों ने बैठक करके इस घटना की निंदा की है तथा थानेदार के खिलाफ कार्रवाई न होने तक लड़ाई जारी रखने की बात कही है. उनका कहना है कि एक पत्रकार को बिना वजह बंधक बना लेना लोकतंत्र पर हमला है. पत्रकार पुलिस अधीक्षक क्रांति कुमार गडि़देशी से मिले तथा उन्‍हें एक ज्ञापन सौंपकर थानेदार के खिलाफ अविलम्‍ब कार्रवाई की मांग की.

रवीन ठुकराल बनेंगे आज समाज और इंडिया न्यूज के प्रधान संपादक

रवीन ठुकराल ने कुछ ही महीने में द ट्रिब्यून को गुड बॉय बोल दिया है. वे फिर वहीं लौट आए हैं जहां से छोड़कर गए थे. अबकी वे ज्यादा बड़े ओहदे व ज्यादा बढ़ी हुई जिम्मेदारियों को स्वीकारने आ रहे हैं. कांग्रेसी नेता विनोद शर्मा के अखबार आज समाज और चैनल इंडिया न्यूज के एडिटर इन चीफ बनकर रवीन ठुकराल लौट रहे हैं. वे कल यानि शनिवार को दिन में दस बजे अपनी जिम्मेदारी संभालेंगे. द ट्रिब्यून से इस्तीफा देने के कारण उन्हें तीन महीने की सेलरी द ट्रिब्यून को चुकाना पड़ा है क्योंकि सेवाशर्तों के मुताबिक वे तीन महीने की नोटिस देंगे या फिर तीन महीने की सेलरी जमा करेंगे. जल्दबाजी में वापसी करने के कारण उन्होंने तीन महीने की सेलरी जमा करना उचित समझा.

महाराष्ट्र के सीएम ने जस्टिस काटजू के चेतावनी भरे पत्र का दिया जवाब

The Chief Minister of Maharashtra, Shri Prithviraj Chavan, has written to me stating that he holds the Press Council in high esteem and that his government is committed to guarantee the freedom of the press. He has also stated that he is getting the issues raised in my letter (regarding attacks on journalists in Maharashtra) examined and will revert to me soon with factual details.

हमार टीवी ने मेरा पैसा वापस नहीं किया तो आत्‍महत्‍या कर लूंगा

यशवंतजी, हमार टीवी वालों के चलते मैं बरबादी के कगार पर पहुंच गया हूं. चैनल ज्‍वाइन करने के समय जो पैसा मैंने जमा किया था, उसे हमार टीवी डाइरेक्‍टर केके शास्‍त्री ने वापस करने से मना कर दिया है. हमार टीवी प्रबंधन ने चैनल ज्‍वाइन करने के समय मुझसे 5 लाख रुपये एडवांस और सिक्‍युरिटी के रूप में जमा करवाया था. इसके बाद हर माह दो-दो लाख रुपये लिया गया. साथ चुनाव के समय मुझसे विज्ञापन के एडवांस के रूप में 12 लाख रुपये लिए गए.

जार की प्रदेश कार्यकारिणी पूर्ववत है, किसी प्रकार के चुनाव नहीं हुए हैं

जयपुर : जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन ऑफ राजस्थान (जार) की प्रदेश कार्यकारिणी के निर्णयानुसार जयपुर जिला इकाई को भंग करके श्री फूलचन्द बिलोनिया को संयोजक मनोनीत किया गया है। जार के प्रदेश अध्यक्ष ललित शर्मा ने विज्ञप्ति जारी करके यह स्पष्ट किया है कि जयपुर इकाई के पूर्व अध्यक्ष उमेन्द्र दाधीच एवं महासचिव सुरेन्द्र शर्मा की ओर से कार्यकारिणी भंग होने के बाद विभिन्न समाचार पत्र में जार के नाम से प्रदेश कार्यकारिणी एवं जिला संयोजक सम्बन्धी समाचार प्रकाशित करवाए जा रहे हैं।

आईपीएस द्वारा गाली देने के खिलाफ चार मार्च को उपवास रखेंगे यूपी के पुलिसवाले

उत्‍तर प्रदेश पुलिस एसोसिएशन के संस्‍थापक सुबोध यादव ने प्रमुख गृह सचिव को पत्र लिखकर रुल्‍स एवं मैनुअल्‍स में कार्यरत आईपीएस राहुल अस्‍थाना द्वारा एसआईएम जयप्रकाश कन्‍नौजिया को गाली देने के मामले की शिकायत की है. सुबोध यादव ने कहा कि जिस तरह का व्‍यवहार अधिकारी अपने कनिष्‍ठों के साथ कर रहे हैं वह घोर निंदनीय है. ऐसे अधिकारियों  के खिलाफ कभी भी कार्रवाई नहीं की गई.

वसूली के आरोप में सहारा के स्ट्रिंगर की पिटाई, मामला भी दर्ज

जमशेदपुर से खबर है कि सहारा समय के पोटका क्षेत्र के स्ट्रिंगर विनोद केशरी से ब्‍लॉक प्रमुख तथा उनके लोगों ने वसूली के आरोप में पिटाई की. विनोद के खिलाफ पोटका थाने में मामला भी दर्ज करा दिया गया है. पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है. इसकी सूचना मिलने पर संस्‍थान ने फिलहाल विनोद केशरी को काम करने से रोक दिया है. पुलिस इस मामले की जांच कर रही है.

छजलानी जी, मेहताओं और अरोड़ाओं ने लूट ली आपकी नईदुनिया

: अखबार को बढ़ाने में नहीं राज्‍यसभा के जुगाड़ में लगे हैं आलोक मेहता : यशवंतजी, पिछले हफ्ते से एक तरफ मीडिया जगत में मुख्य धारा के पत्रकार आपके पोर्टल भड़ास4मीडिया पर नईदुनिया की लिखी गयी पटकथाएं पढ़ रहे हैं, तो दूसरी तरफ नईदुनिया से दिल्ली और इंदौर में पत्रकारों से इस्तीफा लिए जाने का सिलसिला जारी है। नईदुनिया के इतिहास को पढ़कर मुझे भी सैकड़ों वर्ष पुराने कथाकारों द्वारा लिखा गया इतिहास याद आया।

दैनिक जागरण, आगरा में आई कार्ड बनवाने के लिए वसूले गए रुपये!

दैनिक जागरण, आगरा से खबर है कि यहां पर आई कार्ड बनाने के लिए सौ-सौ रुपये वसूले गए. पर जागरण में हुई इस बनियागिरी में मैनेजमेंट का कोई हाथ नहीं है बल्कि संपादकीय प्रभारी आनंद शर्मा ने सौ-सौ रुपये वसूल कर एडिटोरियल के लोगों के लिए बढि़या प्‍लास्टिक कोटेड आईकार्ड जारी करवाया. बताया जा रहा है कि रिपोर्टर और कवरेज करने वाले पत्रकारों ने संपादकीय प्रभारी आनंद शर्मा से कार्ड के बिना आने वाली दिक्‍कतों की बात बताई थी, जिसके बाद यह वसूली हुई.

बंगलुरू में मीडियाकर्मियों पर वकीलों का हमला, पब्लिक टीवी का कैमरामैन घायल

बंगलुरू में अवैध खनन मामले में कर्नाटक के पूर्व मंत्री जी जनार्दन रेड्डी की शुक्रवार को अदालत में पेशी के दौरान कोर्ट परिसर के सामने मौजूद मीडियाकर्मियों पर रेड्डी समर्थक वकीलों ने हमला कर दिया। इस हमले में कई पत्रकारों को चोटें आई हैं तथा पब्लिक टीवी के कैमरामैन नागेश गंभीर रुप से घायल हो गये। दरअसल आज कोर्ट में अवैध खनन में फंसे जनार्दन रेड्डी की पेशी थी। इस खबर को कवर करने के लिए काफी संख्‍या में मीडियाकर्मी अदालत परिसर के बाहर मौजूद थे।

नईदुनिया, दिल्‍ली में भड़ास4मीडिया पढ़ने पर रोक

आज की पत्रकारिता का चेहरा पूरी तरह बदल गया है. पत्रकार कहने को तो लोकतंत्र के रक्षक होते हैं लेकिन खुद को डेमोक्रेटिक बनाने में घबराहट होती है. हमेशा डर बना रहता है कि कहीं उनकी पोल-पट्टी ना खुल जाए. जो पत्रकार दूसरों की अपने अखबारों में आलोचना करते हैं उन्‍हें अपनी आलोचना से डर लगता है. ऐसा ही मामला नईदुनिया, दिल्‍ली एडिशन में चल रहा है.

विजय व तारिक की नई पारी, अजय का इस्‍तीफा, संजीव का तबादला

हमार टीवी, लखनऊ से खबर है कि विजय चावला ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर असाइनमेंट इंचार्ज थे. विजय ने अपनी नई पारी जनता टीवी के साथ शुरू की है. विजय को ब्‍यूरो हेड सीपी सिंह ने उप हेड बनाया है. विजय समस्‍त यूपी की न्‍यूज देखेंगे. विजय पिछले पांच सालों से असाइनमेंट पर काम कर रहे हैं. विजय ने करियर की शुरुआत पब्लिक पॉवर पेपर से की थी. वे दर्पण न्‍यूज चैनल, आजतक, वॉयस ऑफ इंडिया, महुआ, टीवी100 के लिए भी काम किया है.

लांचिंग की मेहंदी उतरने से पहले ही जनसंदेश टाइम्‍स की हालत खराब, पत्रकारों में असंतोष

"हाथों की मेहंदी उतरने से पहले जनाजा हमारा निकाला गया" ये पंक्तियाँ कम से कम हाल ही में बहुत जोश जुनून से शैलेन्द्र मणि त्रिपाठी की अगुवायी में लांच किये गए दैनिक अखबार जन्संदेश टाइम्स के लिए तो सटीक ही बैठती हैं. अभी चंद दिनों पहले जागरण से बाहर होकर शैलेन्द्र मणि त्रिपाठी ने जन्संदेश के बूते जागरण की बुनियाद हिलाने के लिए पत्रकार वर्ग की एक बड़ी लॉबी तैयार की थी, जिसमें सबसे ज्यादा पत्रकार जागरण छोड़कर श्री त्रिपाठी के साथ हो लिए थे.

इस महिला आईपीएस ने मीडिया को ‘असंवैधानिक’, ‘नौटंकी’ और ‘दो कौड़ी का’ बताया… सुनें टेप

नाम है अनुराधा शंकर. आईपीएस हैं. इंदौर में आईजी के पद पर तैनात हैं. इनसे एक खबर पर वर्जन लेने के लिए दबंग दुनिया अखबार के चीफ क्राइम रिपोर्टर तेज कुमार सेन ने फोन किया तो मैडम इतनी तेज गुस्साईं कि जाने क्या क्या कह डाला. उन्होंने मीडिया को असंवैधानिक करार दिया. नौटंकी बताया. दो कौड़ी का कहा. और भी जाने क्या क्या कहा. धमकी, उलाहना, अपमान, बदजुबानी… जाने क्या क्या सहता सुनता रहा क्राइम रिपोर्टर लेकिन उसने अपने आपा नहीं खाया.

पोर्न वीडियो मामला : विधायकों से पहले पत्रकारों से पूछताछ पर विवाद

बेंगलुरु : कर्नाटक विधानसभा में पोर्न वीडियो देखे जाने के मामले की जांच कर रही विधानमंडल समीति ने मंत्रीपद गंवाने वाले तीनों विधायकों को बुलाने का फैसला लिया है। हालांकि विधानमंडल ने फुटेज को प्रसारित करने वाले टीवी चैनलों से भी सवाल-जवाब किए जिससे नया विवाद हो गया है। गुरुवार को फुटेज को प्रसारित करने वाले दो टीवी चैनलों के वरिष्ठ पत्रकार विधानमंडल कमेटी के समक्ष पेश हुए और सवालों का जवाब दिया।

एशिया की 50 शक्तिशाली कारोबारी महिलाओं में एचटी की शोभना भरतिया समेत नौ शामिल

: एकता कपूर सबसे युवा कारोबारी : वाशिंगटन। प्रतिष्ठित पत्रिका फोर्ब्स की ओर से जारी एशिया की सर्वाधिक शक्तिशाली 50 कारोबारी महिलाओं की सूची में नौ भारतीय महिलाओं ने जगह बनाई है। सूची में शामिल महिलाएं दिशा बदलने वाली साबित होने के साथ ही अन्य प्रतिभाशाली महिलाओं को भी प्रेरित किया है। सूची में शामिल नौ भारतीय महिलाओं में ब्रिटानिया उद्योग की प्रबंध निदेशक विनीता बाली, एचटी मीडिया की अध्यक्ष एवं सम्पादकीय निदेशक शोभना भरतिया, आईसीआईसीआई बैंक की मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) एवं प्रबंध निदेशक (एमडी) चंदा कोचर और बॉयोकॉन की संस्थापक किरण मजमूदार-शॉ शामिल हैं।

पुलिस ने घूस देने के आरोप में महिला पत्रकार को गिरफ्तार किया

लंदन : ब्रिटेन की पुलिस ने फोन हैकिंग मामले में यहां के मशहूर टैबलॉयड ‘द सन’ की एक और पत्रकार को गिरफ्तार कर लिया। यह गिरफ्तारी भी सूचना की एवज में पुलिस को घूस देने के संदर्भ में की गई है। इस टैबलॉयड की रक्षा संपादक वर्जीनिया व्हीलर की गिरफ्तार के साथ ही फोन हैकिंग मामले में गिरफ्तार किए गए लोगों की संख्या 23 हो गई। वर्जीनिया पर पुलिस अधिकारियों को घूस देने का आरोप है।

इंदौर प्रेस क्‍लब के विधान संशोधन को मिली मंजूरी

इंदौर संभाग के सहायक पंजीयक, फर्म्स एंव संस्थाएं ने इंदौर प्रेस क्लब के विधिक संशोधनों को अपनी मंजूरी दे दी है। विगत 26 जनवरी 2012 को क्लब द्वारा बुलाए गए साधारण सभा की विशेष बैठक में सर्वसम्मति से क्लब के विधान में कुछ संशोधन पारित किए गये थे। इंदौर प्रेस क्लब के विधान संशोधन समिति के अध्यक्ष विजय अड़ीचवाल ने बताया कि संशोधन के अनुसार अब कोई भी सदस्य लगातार दो बार निर्वाचित होने के बाद तीसरी बार निर्वाचित होने की पात्रता नहीं रखेगा।

लखनऊ से लांच हुआ ‘चेतना मंच’ कुछ ही महीने में आखिरी सांसें गिनने लगा

लखनऊ : कुछ महीने पहले लखनऊ से दोपहर का टैबलाइड पेपर 'चेतना मंच' के नाम से लांच हुआ. उसके एमडी मो. ताहिर व संपादक राजेश श्रीनेत हैं. श्रीनेत जी बडे़ पेपरों में संपादक के पद पर रह चुके हैं. इस बात को देखते हुए 'चेतना मंच' को चलने का आसार अधिक दिख रहा था, जिसको देखते हुए कई लोग जुडे़. पेपर की छपाई हिन्दुस्तान से कराई जा रही थी. इस पेपर से हिन्दुस्तान से दो लोग पार्ट टाइम में जुडे थे और कई लोग अन्य पेपरों से.

पत्रकार चंद्रिका और परिजनों की हत्‍या उनके ड्राइवर ने ही की थी

: एटीएम के फुटेज से खुला राज, गिरफ्तार : भोपाल : उमरिया में नवभारत के ब्‍यूरोचीफ चंद्रिका राय तथा उनके परिवार की हत्‍याकांड का खुलासा हो गया है. अब तक की बनाई गई पुलिस कहानी झूठी साबि‍त हुई है. पुलिस ने जल्‍द वर्कआउट के चक्‍कर में इं‍जीनियर के बेटे के अपहरणकर्ताओं को ही चंद्रिका एवं उनके परिवार का हत्‍यारा बता दिया तथा पत्रकार तार अपहरणकांड से जोड़ दिया. परन्‍तु एटीएम से निकाले गए पैसे तथा सीसीटीवी फुटेज ने हत्‍याकांड की नई कहानी बता दी.

ये गाना सुनिए… पुर्तगाली भाषा में है, नाम है “Canção do Mar” अर्थात Song of the Sea

यश जी, प्रणाम…. चलिए बहुत हुआ खबरें….खबरें….खबरें….. ये गाना सुनिए…. लेकिन तभी जब फुर्सत में हों. पुर्तगाली भाषा में है. नाम है "Canção do Mar" अर्थात Song of the Sea……. सागर का गीत…..एक सदा है इसमें…अच्छा लगा….लुत्फ़ उठाएं… पहले गाने की एमपीथ्री फाइल और फिर पूरा गाना लिखा हुआ…

दैनिक जागरण, पानीपत में एसएमएम ने एएमएम को जान से मारने की धमकी दी!

चंडीगढ़ से एक खबर है कि दैनिक जागरण की पानीपत यूनिट में तैनात एक असिस्टेंट मार्केटिंग मैनेजर (एएमएम) ने अपने ही सीनियर मार्केटिंग मैनेजर पर जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है. एएमएम का नाम है राकेश लांबा और एसएमएम का नाम संतोष त्रिपाठी है. सूत्रों का कहना है कि एएमएम राकेश लांबा ने प्रबंधन को इस बारे में लिखित शिकायत की है. इस प्रकरण की दैनिक जागरण में नोएडा, चंडीगढ़ से लेकर कानपुर तक में चर्चा है.

हताश बसपा की चाहत- चुनाव के बाद भाजपा उसकी मदद करे

: यूपी में सत्ता खेमे में खलबली, बसपाई चालें धराशायी, हताशा में भाजपा से संपर्क : लखनऊ। बसपा में खलबली है। भीतर ही भीतर बेचैनी है। इसलिए कि उसे लगने लगा है कि वह सत्ता में नहीं आ रही है। सत्ता के भीतर केसूत्रों की माने तो उसने सत्ता में वापसी के लिए कई मजबूत सीढिय़ाँ बनायी थीं लेकिन वे भी या तो टूट गयी हैं या टूट रही हैं। बसपा नेतृत्व और उसके कट्टïर समर्थक नौकरशाहों ने मिलकर बसपा की वापसी के लिए दो मुकम्मल योजनाओं पर चुपचाप काम किया था, मगर अब उन्हें लगने लगा है कि दोनों ही सत्ता का लक्ष्यवेध करने में सफल नहीं होने जा रही हैं। इस नाकामी को पचा पाना शीर्ष बसपा नेतृत्व के लिए मुश्किल हो रहा है। धीरे-धीरे यह हताशा सत्ता खेमे को निगलने लगी है।

भास्कर के मालिकों-संपादकों ने 29 फरवरी को ’29 पोजीशन’ में सेक्स किया या नहीं?

पतन की पराकाष्ठा है. भास्कर वालों ने भी ठान लिया है कि इतने नीचे गिर जाना है कि दूसरा कोई उतना नीचे गिरने के पहले हजार बार सोचे और सोच भी ले तो शरम के मारे गिरने से खुद को रोक ले. जाने क्या हड़बड़ी है भास्कर वालों की कि वे गिरते ही जा रहे हैं, लगातार बारंबार. सुधीर अग्रवाल, श्रवण गर्ग, कल्पेश याज्ञनिक, निधीश त्यागी, यतीश राजावत… सबकी मिलीभगत है, मूक सहमति है, अन्यथा ऐसी चीजें कैसे छप सकती हैं. किस क्रिएटिव दिमाग की उपज है ये सब.

क्‍यों निकाले गए राजस्‍थान पत्रकार संघ से ललित शर्मा?

कुछ दिन पहले राजस्‍थान पत्रकार संघ से अपने एक सदस्‍य एवं पूर्व महामंत्री ललित शर्मा को संघ से बाहर कर दिया. इसको लेकर काफी विवाद हुआ था. इस मामले में संघ के महामंत्री डा. सुरेंद्र शर्मा ने संघ के सदस्‍यों के नाम एक खुला पत्र जारी किया है, जिसमें ललित शर्मा को संघ से बाहर किए जाने के कारण बताए गए हैं. इस पत्र को भड़ास के पास भी भेजा गया है, जिसे नीचे प्रकाशित किया जा रहा है.

श्रीप्रकाश जायसवाल का बयान : बौखलाहट या दंभ?

उत्तर प्रदेश में अब अंतिम चरण का मतदान होने जा रहा है। छह चरणों के रुझान देखकर कांग्रेस की सिट्टी-पिट्टी गुम है। कांग्रेस की यथा स्थिति यानी चौथे पायदान पर बने रहने की प्रबल संभावनाएं जताई जाने लगी हैं। इससे कांग्रेस के तमाम नेतागण या तो बौखला गए हैं या फिर उनके बयानों में दंभ झलक रहा है। सबसे पहले कांग्रेस के विवादास्पद नेता दिग्विजय सिंह ने उत्तर प्रदेश में सत्ता में न आने पर राष्ट्रपति शासन की बात कही। बात क्या कही जनता को राष्ट्रपति शासन का डर दिखाया।

रांची हाई कोर्ट में मीडियाकर्मियों के कैमरा के साथ प्रवेश पर पाबंदी

रांची में हाईकोर्ट की सुरक्षा को लेकर लिखी गई खबर अब पत्रकारों के लिए ही महंगी पड़ गई है. हाई कोर्ट में अब मीडियाकर्मियों को कैमरा लेकर घुसने पर पाबंदी लगा दी गई है. वे अब आम लोगों की तरह ही हाई कोर्ट परिसर में प्रवेश कर सकते हैं. रांची में चर्चा है कि पत्रकारों ने अपने ही पैर पर कुल्‍हाड़ी मार ली है. सबसे ज्‍यादा परेशानी इलेक्‍ट्रानिक मीडिया के पत्रकारों को हो रही है, जिन्‍हें कोई खबर कवरेज करने के लिए घंटों हाई कोर्ट के बाहर खड़ा रहना पड़ रहा है.

न्‍यूज इंटरनेशनल से जेम्‍स मर्डोक का इस्‍तीफा

लंदन : फोन हैकिंग के बाद विवाद में आई मीडिया मुगल रुपर्ट मर्डोक के स्‍वामित्‍व वाली कंपनी न्‍यूज इंटरनेशनल से चेयरमैंन एवं रुपर्ट के पुत्र जेम्‍स मर्डोक ने इस्‍तीफा दे दिया है. न्‍यूज इंटरनेशनल की मूल कंपनी न्‍यूज कारपोरेशन ने एक बयान जारी कर जेम्‍स मर्डोक के चेयरमैन पद से इस्‍तीफा देने की घोषणा की. यह भी बताया गया कि जेम्‍स को कंपनी के मुख्‍यालय न्‍यूयार्क भेजा गया है. जेम्‍स न्‍यूज कारपोरेशन में उप मुख्‍य परिचालन अधिकारी के पद पर बने रहेंगे.

हमार टीवी के पूर्व ब्‍यूरोचीफ द्वारा दिए गए कई चेक बाउंस

हमार टीवी के कुछ स्ट्रिंगरों को दिया गया चेक बाउंस हो गया है. यह चेक हमार टीवी के पूर्व ब्‍यूरोचीफ सीपी सिंह ने दिया था. जिन लोगों के चेक बाउंस होने की सूचना आई थी, उनमें अमेठी से रोहित कुमार अग्रहरि, अम्‍बेडकर नगर से नूर आलम, संत कबीर नगर से अजय कुमार श्रीवास्‍तव, मीरजापुर से परमानन्‍द एवं भदोही से महेश जायसवाल का चेक बाउंस होने की बात सामने आई थी.

यूपी में एक आईपीएस ने अपने अधीनस्थ को दी मां-बहन की गालियां

: पीड़ित स्टेनो ने लिखित शिकायत कर एफआईआर दर्ज करने की मांग की : उत्तर प्रदेश पुलिस के रूल्स एवं मैनुअल आफिस में एसपी पद पर तैनात आईपीएस अधिकारी राहुल अस्थाना ने कल 29 फरवरी की दोपहर में आफिस के स्टेनो जयप्रकाश कनौजिया को खुलेआम मां-बहन की गालियां दीं और जमकर जलील किया. इस गाली-गलौज से आहत स्टेनो कनौजिया ने रूल्स एवं मैनुअल के दूसरे एसपी अमिताभ ठाकुर को पूरा प्रकरण पत्र लिख कर बताया और तुरंत एफआईआर कराने की मांग की. उन्होंने यह भी कहा है कि यदि इस मामले में एफआईआर दर्ज नहीं हुई तो वे विभाग में नौकरी नहीं कर पायेंगे.

‘चौथी दुनिया’ : कभी पत्रकारिता का प्रतीक था, अब उगाही का अड्डा

कमल मोरारका का लोग सम्मान से नाम लेते हैं. एक ऐसा शख्स जिसने चौथी दुनिया जैसा अखबार एक जमाने में लांच कर पत्रकारिता के इतिहास में बहुत सारे अध्याय जोड़े. ढेरों अच्छे पत्रकारों को पैदा किया, मौका दिया. कमल मोरारका कहने को तो चौथी दुनिया के मालिक रहे लेकिन उन्होंने कभी भी मीडिया के काम में दखल नहीं दिया. उन्होंने आंतरिक लोकतंत्र कायम रखा और पत्रकारों को काम करने की पूरी छूट देकर मिसाल कायम किया. बाद में जाने क्या हुआ कि चौथी दुनिया बंद हो गया. ढेर सारी खट्टी मीठी यादों के केंद्र रहे चौथी दुनिया को लोग गर्व से याद करते. पर बुजुर्ग होते जा रहे कमल मोरारका को जाने क्या सूझा कि उन्होंने चौथी दुनिया को फिर से लांच करा दिया.

‘आज समाज’ अखबार से चलाचली की बेला में हैं राहुल देव!

वरिष्ठ पत्रकार राहुल देव के बारे में कई तरह की चर्चाएं भड़ास4मीडिया के पास आई हैं. सबका लब्बोलुआब ये है कि राहुल जी का आजसमाज अखबार में अंत समय आ चुका है. सूत्रों के मुताबिक प्रबंधन ने उन्हें इशारों इशारों में काफी दिनों पहले कह दिया था कि यहां अब आपकी जरूरत नहीं है. बावजूद इसके राहुल देव आज समाज से गए नहीं. वे उचित मंच और सही समय की तलाश में टिके हुए हैं. अब बताया जा रहा है कि कुछ दिनों पहले शीर्ष प्रबंधन ने राहुल देव से दो टूक कह दिया कि आपने अब तक बहुत कुछ ग्रुप के लिए किया, अब आप कोई नया ठिकाना देख लें क्योंकि ग्रुप जो कुछ नया प्लान कर रहा है उसमें आपकी जगह नहीं बन पा रही है.

जिला प्रशिक्षण अधिकारी ने लगाया पंजाब केसरी के पत्रकार पर ब्‍लैकमेल करने का आरोप

रेवाडी में रेडक्रास सोसायटी में जिला प्रशिक्षण अधिकारी के पद पर कार्यरत राम किशन ने आरोप लगाया है कि पंजाब केसरी के पत्रकार रवि यादव उन्‍हें ब्‍लैकमेल कर रहे हैं. वे रवि यादव को अब तक 23 हजार रुपये दे चुके हैं इसके बाद भी वो लगातार पैसों की मांग कर रहे हैं. उन्‍होंने इस संदर्भ में एक हलफनामा और पत्र पंजाब केसरी के संपादक अश्‍वनी कुमार के पास भी भेजा है, जिसमें इन सारे आरोपों को विस्‍तार से बताया गया है. नीचे रामकिशन द्वारा भेजा गया हलफनामा और शिकायती पत्र.

केबल ऑपरेटरों ने मध्‍य प्रदेश में समाचार चैनलों का प्रसारण रोका

मध्‍य प्रदेश सरकार द्वारा केबल ऑपरेटरों पर कर बढ़ाकर बीस फीसदी किए जाने के इन लोगों ने पूरे प्रदेश में समाचार चैनलों का प्रसारण ठप कर दिया है. उपभोक्‍ता अब 28 फरवरी से समचार चैनल नहीं देख पा रहा है. केबल ऑपरेटरों ने यह कदम सरकार के कर बढ़ाने के विरोध में उठाया है. इन लोगों ने चेतावनी दी है कि अगर सरकार बढ़ा हुआ कर वापस नहीं लेती है तो ये लोग पांच मार्च को सारे चैनल का प्रसारण रोक देंगे तथा अगले दिन से आमरण अनशन पर बैठ जाएंगे.

थानेदार ने एक पत्रकार को पांच घंटे तक बंधक बनाए रखा

लातेहार : चंदवा पुलिस मनमानी पर उतर आई है। इसका ताजा प्रमाण मंगलवार को देखने को मिला। एक पत्रकार को प्रेस वार्ता के लिए बुला पांच घंटे बिना कारण थाने में बंधक बनाए रखा। थानेदार अखिलेश मंडल कुछ दिनों से लगातार पत्रकार पर कुछ खास खबर नहीं लिखने का दबाव बना रहे थे। पत्रकार निष्पक्ष ढंग से अपना कार्य करता रहा। इससे थानेदार गुस्से में थे और सबक सिखाने को आतुर थे।