जागरण में बंपर छंटनी (35) : दिल्‍ली-एनसीआर से आधा दर्जन लोग बाहर

नोएडा में छंटनी के क्रम में दिल्‍ली-एनसीआर से आधा दर्जन लोगों को बाहर कर दिया गया है. दो दर्जन से ज्‍यादा लोगों की छंटनी किए जाने के बाद भी यह क्रम लगातार जारी है. पिछले कुछ दिनों के अंदर जिन लोगों को बाहर किया गया है उनमें गाजियाबाद से रवींद्र कुमार, साहिबाबाद से पंकज सिंह, सोनीपत से ब्रजेश तिवारी, दिल्‍ली से विभूति रस्‍तोगी, दिल्‍ली से ही पुरुषोत्‍तम शर्मा और फरीदाबाद से रमेश ठाकुर शामिल हैं.

मीडिया में धाक जमाने के बाद राजनीति में चमक बिखेरने को तैयार गणेश तिवारी

: कानपुर से लड़ रहे हैं मेयर का चुनाव : बह रही है बदलाव की बयार : राजनीतिक दलों से उबे लोगों के लिए गणेश उम्‍मीद की किरण बने : कानपुर में दैनिक जागरण, अमर उजाला तथा हिंदुस्‍तान में वरिष्‍ठ पदों पर रहे गणेश तिवारी अ‍ब राजनीति में कदम रखने जा रहे हैं. पिछले कई वर्षों से परिवर्तन संस्‍था के सहयोग से कानपुर के लोगों की सेवा करने वाले वरिष्‍ठ मीडिया पर्सनालिटी गणेश तिवारी का राजनीति में कदम रखने की तैयारी करना चर्चा का विषय बना हुआ है. पिछले चार वर्षों वे जिस तरीके से निस्‍वार्थ भाव से जनसेवा में जुटे हुए हैं, उसको देखते हुए माना जा रहा है कि वे जीत सकने की स्थिति में पहुंच सकते हैं. गणेश तिवारी कानपुर से मेयर का चुनाव लड़ रहे हैं. उनका राजनीति में कदम रखने से कानपुर का बुद्धिजीवी तबका पूरी तरह से उत्‍साहित है.

जागरण में बंपर छंटनी (34) : धोखा देने वाले इस अखबार का सत्‍यानाश हो जाए

दैनिक जागरण, गोरखपुर में अच्‍छे लोगों को ही निकाल रहा है या उनको निकाल रहा है, जो किसी गुट के नहीं हैं और जागरण को ऊचांइयों पर पहुंचाने में अपनी महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाई है. गोरखपुर यूनिट में मनोज तिवारी पिछले कई वर्षों से अखबार के पहले पन्‍ने को अपने खून-पसीने से सींचा है, वह गोल गिरोह से दूर रहने वालों में से हैं. उन्‍हें अखबार ने तब शिकार बनाया, जब उन्‍हें इसकी ज्‍यादा जरूरत थी. पहले उन्‍हें मुजफ्फरपुर जाने को कहा गया, बाद में कार्यालय बुलाकर इस्‍तीफा देने को मजबूर किया गया.

जागरण, मेरठ में आंतरिक बदलाव, रमेश विश्‍वकर्मा बने सिटी इंचार्ज

दैनिक जागरण, मेरठ में कुछ आंतरिक बदलाव किए गए हैं. सिटी डेस्‍क की जिम्‍मेदारी संभाल रहे राजकुमार शर्मा को इनपुट प्रभारी बना दिया गया है. उनकी जगह आउटपुट हेड की जिम्‍मेदारी संभाल रहे रमेश विश्‍वकर्मा को सिटी डेस्‍क का इंचार्ज बनाया गया है. यूपी डेस्‍क पर तैनात सुशील मिश्रा को आउटपुट इंचार्ज बना दिया गया …

हिंदुस्‍तान, लखनऊ में दीप का डिमोशन, आलोक बने लोकल के चीफ

हिंदुस्‍तान, लखनऊ से खबर है कि दीप सिंह का डिमोशन कर दिया गया है. ये निर्णय क्‍यों लिया गया है इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है. बताया जा रहा है कि अब तक लोकल डेस्‍क पर चीफ की जिम्‍मेदारी निभा रहे दीप सिंह को लोकल का डिप्‍टी चीफ बना दिया गया है. उनकी जगह डिप्‍टी चीफ की जिम्‍मेदारी निभा रहे आलोक उपाध्‍याय को प्रमोट करके लोकल का चीफ बना दिया गया है.

जागरण, देहरादून को डीएनई ओंकार सिंह ने बाय किया

दैनिक जागरण, देहरादून से खबर है कि ओंकार सिंह ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे फिलहाल नोटिस पीरियड पर चल रहे हैं. ओंकार डीएनई के पोस्‍ट पर कार्यरत थे. समझा जा रहा है कि वे जल्‍द ही अपनी नई पारी किसी दूसरे संस्‍थान से शुरू कर सकते हैं. ओंकार ने अपने करियर की शुरुआत अमर …

पल्‍लवी का आजतक से इस्‍तीफा, समाचार प्‍लस ज्‍वाइन किया

आजतक से खबर है कि पल्‍लवी त्‍यागी ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर एसोसिएट प्रोड्यूसर के पद पर कार्यरत थीं. पल्‍लवी ने अपनी नई पारी समाचार प्‍लस के साथ शुरू की है. उन्‍हें यहां पर सीनियर प्रोड्यूसर बनाया गया है. पल्‍लवी आजतक से पहले बीएजी, चैनल7 को भी अपनी सेवांए दे चुकी हैं. …

अब 15 जून को लांच होगा न्‍यूज चैनल समाचार प्‍लस

रीजनल खबरिया चैनल समाचार प्‍लस अब 15 जून को लांच होगा. पहले इस चैनल की लांचिंग 1 जून को तय की गई थी, परन्‍तु कुछ कारणों के चलते इसकी लांचिंग डेट बढ़ाकर 15 जून कर दी गई है. प्रबंधन इस चैनल की लांचिंग से पहले कोई कोर कसर बाकी नहीं रखना चाहता, लिहाजा हर तैयारी फूल प्रूफ की जा रही है ताकि अंतिम समय में कोई परेशानी सामने नहीं आए. इसके चलते इस चैनल की लांचिंग डेट कुछ दिन के लिए आगे बढ़ा दी गई.

साधना टैक्‍नोलॉजीज को एपी में मिला सबसे बड़ा वेबकास्टिंग का कार्य

साधना टैक्नोलॉजीज ने उत्तर प्रदेश में पिछले विधान सभा चुनावों में अपने सफलतापूर्वक वेबकास्टिंग कार्य को करके चर्चित होने के बाद अब एक और बड़े कदम को आगे बढ़ाया है। इस कदम के तहत साधना टैक्नोलॉजीज आंध्रप्रदेश में आगामी 12 जून, 2012 को आयोजित होने वाले विधान सभा चुनावों के लिए 18 विधान सभा सीटों व एक संसदीय सीट के लिए 12 जिलों में सिर्फ एक दिन में 3000 पॉलिंग स्टेशनों में सबसे बड़े वेबकास्टिंग कार्य को संपन्न करेंगे।

सिटी भास्‍कर, इंदौर में हालत बेकाबू, कई ने इस्‍तीफा दिया

सिटी भास्कर, इंदौर से एक और विकेट गिर गया है। करीब छह साल से वहां सीनियर रिपोर्टर के रूप में सेवाएं दे रही रचना सिंह ने सोमवार को सिटी भास्कर से इस्‍तीफा दे दिया। इसके पहले मंदीप कौर भाटिया, अनुराग शर्मा और दक्षा वेदकर सिटी भास्कर को अलविदा कह चुके है। इन सब लोगों ने सिटी भास्कर की प्रभारी सलोनी भोला के व्‍यवहार से खफा होकर सिटी भास्कर छोड़ा है। सलोनी को दो महीने पहले ही प्रभारी बना गया और तभी से सिटी भास्कर छोडऩे वालों की संख्या बढ़ती जा रही है। अगले कुछ दिनों में दो और संपादकीय साथी सिटी भास्कर को अलविदा कहने वाले हैं।

वरिष्‍ठ पत्रकार अजय कुमार का हिंदुस्‍तान से नाता टूटा

हिंदुस्‍तान, पटना से खबर है कि वरिष्‍ठ पत्रकार अजय कुमार का नाता टूट गया है. प्रबंधन ने उनका कांट्रैक्‍ट रिन्‍यूवल नहीं किया. तीन साल पहले अजय कुमार दुबारा हिंदुस्‍तान ज्‍वाइन किया था. 31 मई हिंदुस्‍तान में उनका आखिरी कार्य दिवस साबित हुआ. अजय कुमार ने अपने करियर की शुरुआत 1990 में प्रभात खबर, पटना के साथ की थी. एक दशक तक वे इस अखबार से जुड़े रहे. सन 2000 में हिंदुस्‍तान में सीनियर रिपोर्टर बनकर गए. प्रबंधन ने इसके बाद उन्‍हें हिंदुस्‍तान, रांची का ब्‍यूरोचीफ बना दिया.

मनोज पमार होंगे हिंदुस्‍तान, बरेली के नए आरई!

: कानाफूसी : हिंदुस्‍तान में कुछ बदलाव होने की सूचना है. हालांकि सूत्रों का कहना है कि ये सारे बदलाव निकाय चुनाव के बाद किए जाएंगे. प्रबंधन ने इसकी तैयारी कर ली है. बस इस पर इम्‍पलीमेंट करना बाकी रह गया है. बरेली के स्‍थानीय संपादक आशीष व्‍यास को प्रबंधन दिल्‍ली बुलाने जा रहा है. उन्‍हें कादंबिनी में लाया जाएगा. आशीष की जगह मनोज पमार को बरेली का स्‍थानीय संपादक बनाया जाएगा. खबर है कि मनोज को पिछले दिनों ही प्रमोट किया गया है और प्रबंधन उनके कार्य से खुश है.

पत्रिका वालों! चोरी की खबर में एकाध शब्‍द तो बदल देते

प्रिंट मीडिया में किस प्रकार कॉपी-पेस्‍ट सिस्‍टम हावी होता जा रहा है, इसका अंदाजा पत्रिका के इंदौर संस्‍करण को देखकर लगाया जा सकता है. इस संस्‍करण में चोरी करके खबरें छप रही हैं. नई बानगी है पांच जून को प्रकाशित इंदौर संस्‍कर के सप्‍लीमेंट जस्‍ट इंदौर में प्रकाशित एक खबर. इस खबर ने चोरी करने की बेशर्मी की सारी हदें पार कर दी हैं. जस्‍ट इंदौर में पेज नम्‍बर 19 पर प्रकाशित खबर 'बार+बीच की दीवानी दिल्‍ली' को नवभारत टाइम्‍स से उठाया गया है.

जागरण में बंपर छंटनी (33) : देवरिया से राज नारायण मिश्र को आउट किया

दैनिक जागरण, गोरखपुर में छंटनी का सिलसिला अभी थमा नहीं है. खबर है कि राज नारायण मिश्र को जागरण बाहर का रास्‍ता दिखा दिया है.  राज नारायण मिश्र देवरिया जिला के रुद्रपुर तहसील के प्रभारी थे. उनपर रुद्रपुर में ही जागरण के पत्रकार रमेश शुक्ला से मारपीट के आरोप भी लगे थे, जिसमें प्रबंधन ने रमेश को ही बाहर का रास्‍ता दिखा दिया था. खबर यह भी है कि देवरिया में अभी भी कम से कम चार लोगों को छंटनी का शिकार बनाया जाना है.

नईदुनिया का ‘जश्‍ने मालवा’ बन गया ‘जश्‍ने माल ला’

पत्रकारिता के संस्कारों का आचमन कर जहाँ से श्रेष्ठ पत्रकारिता का तिलक लगाएँ देशभर में हिन्दी पत्रकारिता की ध्वजा को थामे संपादकों ने हिन्दी पत्रकारिता को उँचाइयों पर पहुँचाया, उस पत्रकारिता के विद्यालय 'नईदुनिया' को ऐसे दिन भी देखने पडेंगे इसकी किसी ने भी कल्पना नहीं की थी। 'नईदुनिया' का बिक जाना अपने आप में हिन्दी पत्रकारिता की सबसे बड़ी खबर थी और आज भी है। संस्कारित और शुद्ध पत्रकारिता का बाजारवाद के सामने नतमस्तक हो जाना हिन्दी के खाटी पत्रकारों के दिल पर ऐसी चोट कर गया, जिसका दर्द जन्मभर सालता रहेगा। अखबार को उत्पाद बने दस साल से ज्यादा समय हो गया पर इन दिनों में भी 'नईदुनिया' ने अपने संस्कारों और लेखनी के बल पर अपना अलग स्थान बनाया था।

आखिर मीडिया क्षेत्र में क्‍यों दांव लगा रहे हैं कारपोरेट दिग्‍गज?

पिछले महीने आदित्य बिड़ला समूह ने इंडिया टुडे समूह में 27.5 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी। हालांकि सौदे की रकम का खुलासा नहीं किया गया। इस साल जनवरी में मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज ने इनाडु के नेटवर्क 18 के साथ एक जटिल सौदे के तहत किए गए विलय को वित्तीय मदद मुहैया कराई। पिछले साल दिसंबर में अभय ओसवाल की ओसवाल ग्रीन टेक ने एनडीटीवी में 24.24 करोड़ रुपये के निवेश से 14.2 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी।

हरिभूमि, जबलपुर के संपादक चैतन्‍य भट्ट के पिता का निधन

मध्‍य प्रदेश के वरिष्‍ठ पत्रकार तथा हरिभूमि जबलपुर के संपादक चैतन्‍य भट्ट के पिता दुर्गाशंकर भट्ट का सोमवार को निधन हो गया. वे 82 साल के थे तथा पिछले कुछ दिनों से बीमार चल रहे थे. उनका इलाज जबलपुर के ही मेट्रो हास्‍पीटल में चल रहा था. यहीं पर उन्‍होंने आखिरी सांस लिया. वे देहरादून के एक संस्‍थान में हिंदी अधिकारी के पद से रिटायर हुए थे. वे अच्‍छे लेखक और कवि भी थे. उनके लेख एवं कविताएं कई पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित होती रहती थीं.

दूरदर्शन के पूर्व कैमरामैन ने गोली मारकर खुदकुशी की

नई दिल्ली : दूरदर्शन के लिए कई शॉर्ट फिल्में और डॉक्यूमेंट्री बना चुके वरिष्ठ कैमरामैन अमरजीत सिंह ने सिद्धार्थ एंक्लेव स्थित अपने कार्यालय में खुदकुशी कर ली। सिंह ने अपने लाइसेंसी रिवॉल्वर से कनपटी में गोली मार ली। मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। आत्‍महत्‍या के कारणों का भी अभी पता नहीं चल पाया है। पुलिस ने उनका शव पोस्‍टमार्टम के लिए भेज दिया। दक्षिण-पूर्वी जिले के एडिशनल पुलिस कमिश्नर अजय चौधरी के मुताबिक कार्यालय से कोई सामान गायब नहीं है, लिहाजा यह लूट या चोरी जैसी किसी वारदात में हुई हत्‍या नहीं है। 

निरुपमा के पत्रकार प्रेमी प्रियभांशु ने किया सरेंडर, भेजा गया जेल

कोडरमा। दिल्ली के एक अंग्रेजी अखबार की महिला पत्रकार निरुपमा पाठक को आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले के आरोपी और उसके प्रेमी पत्रकार प्रियभांशु रंजन ने आज झारखंड के कोडरमा की एक अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया। इसके बाद उसे न्यायिक हिरासत में 14 दिन के लिए जेल भेज दिया गया। दिल्ली में समाचार एजेंसी भाषा में पत्रकार बिहार के दरभंगा निवासी प्रियभांशु ने अंतरिम जमानत और अन्य राहतों के लिए उच्चतम न्यायालय का भी दरवाजा खटखटाया था।

सहारा के पत्रकार खुश, उन्‍हें मजीठिया वेज बोर्ड की जरूरत नहीं

बनारस के सभी बड़े अखबारों को मजीठिया वेज बोर्ड लागू करने की न तो कोई जल्‍दी है और ना ही कोई जरूरत है. सबने अपने अपने कारण डिप्‍टी लेबर कमिश्‍नर को बता दिए हैं. इसके बाद डीएलसी ने अंतिम सुनवाई के लिए 18 जून की तिथि निर्धारित की है. इसमें सबसे दिलचस्‍प बात यह है कि सहारा के कर्मचारियों को मजीठिया वेज बोर्ड के अनुरूप वेतनमान नहीं चाहिए. वे वर्तमान में मिल रहे वेतन भत्‍तों से संतुष्‍ट हैं. वहीं जागरण की तरफ से अब तक इस मामले में कोई आश्‍वासन नहीं दिया गया है. बनारस के पत्रकारों की लड़ाई काशी पत्रकार संघ के अध्‍यक्ष योगेश गुप्‍ता पप्‍पू और पत्रकार कर्मचारी महासंघ के मंत्री अजय मुखर्जी दादा लड़ रहे हैं. 

पुलिस अधिकारी ने कहा – शराब का धंधा चलेगा, जो उखाड़ना हो उखाड़ लो

कोलकाता के अभय बंग पत्रिका टीम और अभय टीवी की पहल से कोलकाता के चितपुर थाने के एक भ्रष्ट पुलिस अधिकारी मनीष गुप्ता का पर्दाफाश किया है. खबर में दिखया गया है कि किस प्रकार से पुलिस अधिकारी एक युवक से अश्लीलता से पेश आते हुए बदतमीजी से बातें कर रहा है व युवक को डरा धमका रहा है. युवक का सिर्फ इतना ही कसूर है कि उसने अवैध रूप से चल रहे शराब के ठेके को बंद करवाने के लिए शिकायत की थी. इस पर भ्रष्ट व बिकाऊ पुलिस अधिकारी उक्त युवक को उल्टा छेड़खानी व बलात्कार की कोशिश के मामले में फंसा देने की बात कह रहा है.

गुजरात के तीस पत्रकारों को किसने दिया लाखों का कीमती फ्लैट?

: कानाफूसी : यशवंतजी नमस्कार, गुजरात के पत्रकारों की मानो लॉटरी लग गई है. गौतम अदानी की चापलूसी करनेवाले पत्रकारों की चर्चा पूरे गुजरात के मीडिया में सबसे हॉट खबर बनी हुई है. अपने आपको पत्रकारिता के महारथी बताने वाले वरिष्‍ठ पत्रकारों को अदानी की चापलूसी का फल मिला है. मोदी और अदानी के लिए पत्रकार से दलाल बने ३० पत्रकारों को अदानी ने अपनी सेवा से खुश होकर २५ से ७० लाख रुपए की कीमत के फ्लैट की सौगात दी है.

अब मुजफ्फरपुर और मुंगेर में पत्रकारों की शिकायत सुनेगी पीसीआई की तीन सदस्‍यीय कमेटी

बिहार में मीडिया पर दवाब की जाँच के लिए गठित प्रेस काउंसिल की तीन सदस्यीय टीम अपने जाँच के दूसरे चरण में ११ जून को मुजफ्फरपुर और १२ को मुंगेर पहुँच कर स्थानीय पत्रकारों, सामाजिक कार्यकर्ताओं, राजनीतिक कार्यकर्ताओं एवं अन्य स्टेक-होल्डर्स से बातें करेगी. मुजफ्फरपुर में तिरहुत, दरभंगा और सारण प्रमंडलों के विभिन्न जिलों के लोगों की शिकायत सुनने की व्यवस्था की गई है. बेगुसराय जिला जो वस्तुतः मुंगेर प्रमंडल में पड़ता है, वहां के लोग अपनी सुविधा के मुताबिक मुजफ्फरपुर और मुंगेर दोनों ही जगहों पर अपनी बात रख सकते हैं. मुंगेर और बेगुसराय के बीच गंगा नदी पड़ने की वजह से भौगोलिक अवरोध की वजह से यह विशेष व्यवस्था बेगुसराय के स्टेक होल्डर्स के लिए रखी गई है.

जागरण में बंपर छंटनी (32) : नोएडा में फेल हुए ब्राह्मणों को बचाने के लिए गैर ब्राह्मणों की बलि

दैनिक जागरण, नोएडा में जातिवाद का जमकर बोलबाला हैं. छंटनी में जमकर भेदभाव किया जा रहा है. अगर आप गैरब्राह्मण हैं और पास हैं तब भी आपकी नौकरी नहीं बचने वाली, परन्‍तु आप आंतरिक परीक्षा में फेल हैं लेकिन ब्राह्मण हैं तो आपके नौकरी पर कोई खतरा नहीं. यह कोई आरोप नहीं है बल्कि सच्‍चाई है, जिसकी चर्चा हर किसी के जुबान पर है. लोग इसके उदाहरण भी दे रहे हैं. छंटनी के शिकार कर्मचारी आरोप लगा रहे हैं कि अगर आप ब्राह्मण हैं तो आपकी नौकरी यहां पक्‍की है.

इस सेक्‍स सीडी में राजस्‍थान का कौन सा नेता है?

राजस्थान सहित देश भर में नेताओं का चरित्र सामने आने लगा है. कुछ रोज पूर्व भंवरी सीडी काण्ड ने राजनीति में भूचाल ला दिया था. इस बार इंडिया टुडे ने अपने ताज़ातरीन अंक में बाड़मेर जिले के एक विधायक की सीडी होने का राज खोला है. उच्च पदस्थ सूत्रों की माने तो इंडिया टुडे ने जो खुलासा किया है, उसकी सुई राजस्थान सरकार के दो मंत्रियों की तरफ घूम रही है. सूत्रों के अनुसार बाड़मेर जिले के विधायक के इसमें शामिल होने की खबरों के बाद बाड़मेर सहित राजस्थान भर में नेता के नाम का कयास लगाया जा रहा है.

हे धनंजय! क्‍लब के हजारों रुपये कौन खा गया?

शिमला प्रेस क्लब इन दिनों विवादों में है। सालाना चुनाव 13 अक्तूबर 2009 को हुए थे। कायदे से 13 अक्तूबर 2010 से पहले सालाना चुनाव हो जाने चाहिए थे, जो ढाई साल बीत जाने के बाद भी नहीं कराए जा रहे हैं। प्रेस क्लब शिमला के पांच बार अध्यक्ष एवं तीन बार मुख्य महासचिव रह चुके शिमला के वरिष्ठ पत्रकार कृष्णभानु ने इस सिलसिले में क्लब के मौजूदा अध्यक्ष धनंजय शर्मा को 31 मई 2012 को लम्बा पत्र लिखकर कई गंभीर आरोप लगाए और जल्द इस्तीफा देकर चुनाव करवाने को कहा।

राहुल पहुंचे हेडलाइंस टुडे, देश दीपक कलश से जुड़े

अंग्रेजी चैनल न्‍यूज एक्‍स से खबर है कि राहुल शिवशंकर ने इस्‍तीफा दे दिया है. राहुल अपनी नई पारी हेडलाइंस टुडे से शुरू करने जा रहे हैं. हेडलाइंस के साथ उनकी यह दूसरी पारी है. इसके पहले भी वो इस चैनल को अपनी सेवाएं दे चुके हैं. हेडलाइंव में वे प्राइम टाइम एंकर होंगे. हेडलाइंव टुडे से इस्‍तीफा देने के बाद राहुल टाइम्‍स नाउ ज्‍वाइन कर लिया था. वहां से इस्‍तीफा देकर न्‍यूज एक्‍स पहुंचे थे.

वाह रे राष्‍ट्रीय सहारा! दारू भट्ठी के मुंशी को बना दिया पत्रकार

गोरखपुर : कहते हैं राष्ट्रीय सहारा में कुछ भी संभव है. अब देखिये दूसरे संस्थानों में छंटनी का दौर चल रहा है, तमाम अच्‍छे पत्रकार खाली हो रहे हैं, लेकिन राष्ट्रीय सहारा को योग्य पत्रकार ढूंढे नहीं मिल रहे हैं. महाराजगंज के ब्यूरो आफिस में अम्बरीश पाण्डेय को बतौर पत्रकार रखा गया है. और यह खबर सुनने वाला हर कोई आश्चर्य कर रहा है. अम्बरीश पाण्डेय मूल रूप से अजय श्रीवास्तव के दारू की भट्ठी के मुंशी हैं. वह अजय श्रीवास्तव के यहाँ ही रहते हैं. जबसे राष्ट्रीय सहारा में पत्रकारिता करने लगे भट्ठी पर न बैठ कर अजय बाबू के घर पर ही शराब की बिक्री का हिसाब किताब करते हैं. सहारा के दफ्तर में कभी जाते हैं तो कभी नहीं भी जाते है. ब्यूरो प्रभारी की कृपा से नौकरी चल रही है.

एक जुलाई को लांच होगा मैगजीन ‘समाचार वार्ता’

ऑनलाइन न्‍यूज सर्विस 'समाचार वार्ता' अब मैगजीन लांच करने जा रहा है. 'समाचार वार्ता' के ब्रांड नाम से ही प्रकाशित होने जा रहे इस मैगजीन की लांचिंग 1 जुलाई को होगी. समाचार वार्ता की संपादक सुषमा राजीव ने बताया कि हमलोग अभी तीन साल से ऑनलाइन न्‍यूज सर्विस उपलब्‍ध करा रहे थे. अब हम इसके साथ प्रिंट में भी अपनी उपस्थिति दर्ज करवाना चाहते हैं. इसी को देखते हुए हमने मैगजीन लांच करने की योजना बनाई है. 48 पेज के मैगजीन की कीमत 15 रुपये रखी गई है.

अंबानियों के पैसे से हो रही है सत्‍य की जय

: मीडिया और रंगकर्म’ उर्फ ‘हमें उनसे है वफा की उम्मीद’ : थियेटर को राज्याश्रयी नहीं लोकाश्रयी होना चाहिये – वामन केन्द्रे : ‘खुदाया! जज्बा -ए-दिल की मगर तासीर उलटी है’ की तर्ज पर मीडिया की चाहे जितनी भी आलोचना क्यों न की जाये, उसका सम्मोहन उतना ही अपनी ओर खींचता चला जाता है। यही वजह है कि थियेटर जो अपने आप में एक मीडिया है, यह चाहता है कि ‘स्थापित’ मीडिया के गलियारों में उसकी भी पूछ-परख बढ़े, अखबारों में ढंग की समीक्षायें छपें और चैनलों में नाटकों की चर्चा हो।

Fraud Nirmal Baba (92) : गिरफ्तारी पर रोक लगाने के लिए निर्मल बाबा हाईकोर्ट पहुंचे

सीजेएम, लखनऊ के आदेश पर गोमतीनगर थाने में दर्ज एफआईआर के खिलाफ निर्मल बाबा उर्फ निर्मलजीत सिंह नरूला ने इलाहाबाद हाई कोर्ट के लखनऊ बेंच में रिट याचिका संख्या 4473/201 दायर किया है. गोमतीनगर थाने में यह एफआईआर संख्या 165/2012 धारा 417, 419, 420 आईपीसी आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर और सामाजिक कार्यकर्ता नूतन के बच्चों तनया और आदित्य के प्रार्थनापत्र के आधार पर लिखी गयी थी. गोमतीनगर थाने द्वारा एफआईआर दर्ज नहीं करने पर ये बच्चे  सीजेएम कोर्ट गए थे, जहाँ सीजेएम कोर्ट ने कहा था कि प्रस्तुत आवेदन पर संज्ञेय अपराध बनता है और एफआईआर दर्ज करने के पर्याप्त आधार है.

भोपाल में खुल रहा ‘नेशनल दुनिया’ का ब्यूरो!

अभी तक जिस बात का नईदुनिया को भय था, वो बात होने जा रही है. नईदुनिया के नए प्रबंधन (जागरण समूह) से चोट खाये 'नेशनल दुनिया' ने गढ़ में सेंध लगाने का फैसला कर लिया है। ताजा खबर ये है कि भोपाल से 'नेशनल दुनिया' की तैयारी आकार लेने लगी है। हॉल ही में 'नेशनल दुनिया' का ब्यूरो खोलने के लिए ऑफिस देख लिया गया है। महाराणा प्रताप नगर के प्रेस काम्प्लेक्स मे जागरण के ही पुराने ऑफिस को 'नेशनल दुनिया' के लिए तय किया गया है।

चालान से बौखलाए विधायक ने मीडिया वालों की क्‍लास ली

पश्चमी दिल्ली के जनकपुरी में शनिवार शाम सुल्तानपुरी के कांग्रेसी विधायक जय किशन आये तो थे हमले में घायल विधायक भारत सिंह को देखने, लेकिन कट गया उनका चालान। विधायक की गाड़ी पर लाल बत्ती लगी थी, साथ नंबर भी गलत तरीके से लिखे थे और ऊपर से काले शीशे, बस फिर क्या था ट्रैफिक पुलिस ने विधायक जी का चालान काट दिया। यह देखकर वहाँ मौजूद मीडियावालों ने कवरेज शुरू कर दी और इस बारे में जब विधायक से सवाल किया तो वे उल्टा बरस पड़े मीडिया वालों पर और उल्टा मीडिया वालों को नसीहत दे डाली।

खबर छपने से नाराज होकर पत्रकार पर गोली चलाई

दनकौर : दनकौर कोतवाली के नवादा गांव में भाइयों के बीच जमीनी विवाद की खबर छापने से नाराज एक व्यक्ति ने पत्रकार पर उस समय जानलेवा हमला बोल दिया, जब वह सुबह की सैर करने खेतों पर गया था। पत्रकार के शोर मचाने पर हमलावर भाग निकले। पत्रकार पर हमले की खबर मिलते ही लोग कोतवाली में जमा हो गए और कोतवाली प्रभारी अश्विनी कुमार से मिलकर हमलावरों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

अलीगढ़ : हॉकरों का हड़ताल खतम, आज बंटे अखबार

अलीगढ़ से सूचना है कि सोमवार को हॉकरों ने अपना हड़ताल समाप्‍त कर दिया. आज सभी अखबारों का वितरण हुआ. रविवार को अमर उजाला कार्यालय हॉकरों तथा तीनों बड़े अखबारों के मैनेजरों के साथ हुई बातचीत में यह निर्णय लिया गया. हालांकि मैनेजरों ने चालाकी दिखाते हुए हॉकरों के कमीशन में कोई बढ़ोत्‍तरी नहीं की बल्कि उस पर ध्‍यान देने का आश्‍वासन देकर मामला फिलहाल सुलटा लिया है.

अपना बिहार के संपादक को मिली धमकी

दोस्तों, ब्रह्मेश्वर मुखिया की हत्या के बाद अपना बिहार द्वारा किये गये रिपोर्टिंग के संदर्भ में अनेक प्रतिक्रियायें प्राप्त हुई हैं। इन प्रतिक्रियाओं में कुछ ऐसी प्रतिक्रियायें भी शामिल हैं, जिनमें सच्चाई के प्रति अपना बिहार के दृढ निश्चय को सराहा गया है। अनेक प्रतिक्रियायें नकारात्मक भी थीं। 3 पाठकों ने धमकी भरा पत्र और एक व्यक्ति ने फ़ोन पर धमकी दी। बहरहाल, अपना बिहार हर हाल में आपतक सच पहुंचाने के लिए कृत संकल्पित है।

सोनीपत में आज समाज के पत्रकार के पिता की हत्‍या

सोनीपत जिले के  राई गांव में रविवार को देर रात हमलावरों ने प्लाट में सो रहे स्थानीय पत्रकार के पिता की धारदार हथियार से हत्या कर दी। जान बचाकर भाग रहे नौकर को भी घटना स्थल से दो सौ मीटर दूर धारदार हथियार से गोद दिया। उसे रोहतक पीजीआइ में भर्ती कराया गया है और वह खबर लिखे जाने तक बयान देने की स्थिति में नहीं था। सूचना के बाद डीएसपी मुख्यालय रणधीर सैनी, राई के एसएचओ सुलतान सिंह व साइबर क्राइम सेल प्रभारी विवेक कुंडू भी मौके पर पहुंचे और तफ्तीश की। पुलिस ने मौके पर एफएसएल की टीम को बुलवाकर फिंगर प्रिंट लिए हैं।

जागरण में बंपर छंटनी (31) : देहरादून में आदेश के बाद भी इस्‍तीफा नहीं, कोर्ट जाने की तैयारी

दैनिक जागरण, देहरादून यूनिट में कर्मचारियों की छंटनी का सिलसिला थमा नहीं है। वीरेंद्र गैरोला, मनप्रीत, संदीप दुबे और कमलेश मिश्रा को निकाले जाने का फरमान सुनाने के बाद अब सुजीत  को इस्तीफा देने को कहा गया है। हालांकि इनमें अभी सिर्फ वीरेंद्र गैरोला ने ही इस्तीफा दिया है। बताते हैं कि ये सभी लोग कोर्ट में जागरण प्रबंधन को सबक सिखाने जा रहे हैं। इनकी उत्तराखंड उच्च न्यायालय के एक वकील से इस संबंध में बातचीत भी हो चुकी है। ये सभी लोग संकल्प ले चुके हैं कि चाहे कर्ज लेकर मुकदमा लड़ना पड़े, लेकिन जागरण जैसे धोखेबाज प्रबंधन को छोड़ेंगे नहीं, ताकि अन्य किसी निर्दोष कर्मचारी के साथ ऐसा न होने पाए।

बसंत निगम बनेंगे टाइम मीडिया प्रोडक्‍शन के सीईओ

उत्‍तराखंड से संचालित टाइम मीडिया प्रोडक्‍शन ने रीजनल चैनलों के लिए कंटेंट प्रोवाइडिंग करेगी. टाइम मीडिया का सीईओ बसंत निगम को बनाया जा रहा है, जो नेटवर्क10 के सीईओ की जिम्‍मेदारी निभा चुके हैं. बसंत निगम की टीम में सीएनईबी के पूर्व ब्‍यूरोचीफ विक्रम श्रीवास्‍तव, सी न्‍यूज के आउटपुट हेड रहे श्रीनिवास पंत, नेटवर्क10 के इनपुट हेड रहे विनय शर्मा, जनसंदेश से जुड़े रहे विनय पांडेय, नेहा शर्मा शामिल हैं. टाइम मीडिया के मालिक प्रदीप भट्ट हैं.

आई नेक्‍स्‍ट : गिरीनाथ का इस्‍तीफा, सत्‍येंद्र का तबादला

आई नेक्‍स्‍ट, कानपुर से खबर है कि गिरीनाथ झा ने इस्‍तीफा दे दिया है. गिरीनाथ आई नेक्‍स्‍ट लाइव में वेब कोआर्डिनेशन की जिम्‍मेदारी संभाल रहे थे. वे अपनी नई पारी कहां से शुरू करने जा रहे हैं इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है. गिरीनाथ के इस्‍तीफा के बाद खाली पद पर आई नेक्‍स्‍ट, बनारस से …

बहराइच में दैनिक जागरण के पत्रकार और उसके भाई के खिलाफ हत्‍या का मामला दर्ज

बहराइच में एक बहुत ही शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आया है. दैनिक जागरण के पत्रकार तथा उसके भाई पर पुलिस ने हत्‍या का मुकदमा दर्ज किया है. इन दोनों पर पूर्व ब्‍लाक प्रमुख के भाई को जहरीला पदार्थ देकर जान से मारने का आरोप है. पुलिस ने मृतक द्वारा लिखे गए पत्र के आधार पर मामला दर्ज किया है. दोनों आरोपी फरार हैं. पुलिस दोनों आरोपियों की तलाश कर रही है.

मुखिया समर्थकों ने दो पत्रकारों को मारा-पीटा और मोबाइल भी छीन लिया

पटना की सड़कों पर रणबीर सेना के संस्‍थापक ब्रह्मेश्‍वर मुखिया के समर्थकों ने अराजकता का माहौल पैदा कर दिया था. चारो तरफ आतंक का माहौल बन गया था. मुखिया समर्थकों ने पत्रकारों को मारने-पीटने से नहीं चूके. पटना में पत्रकार जितेंद्र चौबे और उनके साथी शशि सागर से भी मुखिया समर्थकों ने मारपीट की. उनके मोबाइल छीन लिए. यह घटना उस समय हुई जब मुखिया के शव को अंतिम संस्‍कार के लिए गंगा किनारे स्थित बांसा घाट श्‍मशान घाट ले जाया जा रहा था. जितेंद्र किसी तरह ऊंची दीवार से कूद कर अपनी जान बचा पाए. अपने इस बुरे अ‍नुभव को जितेंद्र ने गूगल प्‍लस पर भी शेयर किया है. नीचे जितेंद्र द्वारा लिखा गया पोस्‍ट…

भास्कर जन्मदिन मनाए और प्रदेश का सीएम बधाई गीत गाए

यशवंत भाई व भड़ास के पाठकों आज दैनिक भास्कर हरियाणा में बर्थ डे ब्वाय (मानवीकरण) है। हरियाणा में इस अखबार ने 12 साल पूरे किए हैं। लेकिन आप हम जैसे साधरण लोग भास्कर को जन्मदिन की बधाई नहीं दे सकते। इस अखबार के जन्मदिन की बधाई गाने का का सौभागय हरियाणा के सीएम को मिला है। जी हां, प्रथम पन्ने पर भास्कर ने सीएम का इंटरव्यू प्रकाशित किया है, जिसमें उन्होंने अखबार की हरियाणा में बुलंदियों की तारीफ में कसीदे गढ़े हैं। या फिर बधाई उनकी स्वीकार की गई है, जिन्होंने जेब से से पैसे खर्च करके विज्ञापन के रूप में बधाई दी।

रविकांत एवं बसंत ने हिंदुस्‍तान से इस्‍तीफा दिया

हिंदुस्‍तान, गोरखपुर से खबर है कि रविकांत उपाध्‍याय ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे अखबार को देवरिया में सेवाएं दे रहे थे. बताया जा रहा है कि गोरखपुर के कुछ लोगों को रविकांत रास नहीं आ रहे थे. रविकांत ने अपनी नई पारी गोरखपुर से ही प्रकाशित अखबार स्‍वतंत्र चेतना के साथ की है. उन्‍हें बरहज में रिपोर्टिंग की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है. रवि सात सालों से हिंदुस्‍तान को अपनी सेवाएं दे रहे थे. इसके पहले भी वे कई संस्‍थानों में काम कर चुके हैं.

राज हरितवाल, दुष्‍यंत सिंह एवं अमित रावत ने समाचार प्‍लस ज्‍वाइन किया

नोएडा : नया नवेला चैनल 'समाचार प्लस' आजकल दूसरे चैनलों को एक के बाद एक ज़ोर के झटके दे रहा है। ईटीवी, आईबीएन7 और स्टार न्यूज़ छोड़ कर कल ही कई लोग समाचार प्लस के साथ जुड़े थे और आज इसी कड़ी में इंडिया न्यूज़ तथा न्यूज़ एक्सप्रेस का नाम भी जुड़ गया है। इंडिया न्यूज़ बिहार-झारखंड में सीनियर पोज़ीशन पर कार्यरत राज हरितवाल और दुष्यंत सिंह ने संस्थान को टाटा-बाय-बाय बोल दिया। दोनों ने समाचार प्लस के साथ नई पारी शुरू की है। इन्हे न्यूज़ ऑपरेशन्स की महती ज़िम्मेदारी दी गई है। राज और दुष्यंत पिछले 10 वर्षों से ज्यादा वक्त से मीडिया में सक्रिय हैं और इसके पहले ईटीवी, वीओआई में काम कर चुके हैं।

इंडिया न्‍यूज ने लांच किया एमपी-सीजी चैनल

इंडिया न्‍यूज समूह की मूल कंपनी आईटीवी नेटवर्क हिंदी भाषी राज्‍यों में अपने विस्‍तार के कदम को आगे बढ़ाते हुए एमपी-सीजी चैनल लांच कर दिया है. यह इंडिया न्‍यूज समूह का छठा चैनल है. एमपी-सीजी की लांचिंग के साथ ही दो और हिंदी प्रदेशों पर इस समूह की पकड़ मजबूत हो गई है. इसके बाद ग्रुप अब हिमाचल चैनल लांच करने की तैयारी में जुट गया है. एमपी-सीजी के अलावा अब तक इंडिया न्‍यूज नेशनल, इंडिया न्‍यूज राजस्‍थान, इंडिया न्‍यूज हरियाणा, इंडिया न्‍यूज बिहार-झारखंड एवं इंडिया न्‍यूज यूपी-उत्‍तराखंड चैनल की लांचिंग प्रबंधन कर चुका है. 

एक जुलाई को लांच होगा चौथी दुनिया का अंग्रेजी संस्‍करण

वरिष्‍ठ पत्रकार संतोष भारतीय के नेतृत्‍व में प्रकाशित हो रहा चौथी दुनिया अब हिंदी और उर्दू के बाद अंग्रेजी संस्‍करण भी प्रकाशित करने जा रहा है. अंग्रेजी संस्‍करण की लांचिंग 1 जुलाई को होगी. इस अखबार का फोकस पहले दौर में बड़े महानगरों पर होगा. अंग्रेजी संस्‍करण की डमी भी प्रकाशित की जा रही है, जिसको बाजार में बढियां रिस्‍पांस मिल रहा है. प्रबंधन इससे काफी उत्‍साहित है. इसके लिए व्‍यापक पैमाने पर हिंदी तथा उर्दू अखबारों में प्रमोशन भी किया जा रहा है.

इंडिया टीवी के रिपोर्टर से बदतमीजी करने वाले पुलिसकर्मियों ने मांगी माफी

इंडिया टीवी के रिपोर्टर मनीष प्रसाद से पिछले दिनों सरिता विहार थाने में तैनात एक दरोगा तथा एक कांस्‍टेबल ने बदसलूकी और बदतमीजी की. मनीष के साथ मारपीट करने की भी कोशिश की गई. मनीष ने इसकी जानकारी वरिष्‍ठ अधिकारियों को दी, जिसके बाद दोनों उनसे सार्वजनिक रूप से माफी मांगी. दोनों के उम्र का …

आजतक से शशिभूषण मैथानी एवं मौर्य टीवी से वेशाल आजम का इस्‍तीफा

आजतक, देहरादून से खबर है कि शशिभूषण नैथानी ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे रिपोर्टिंग से जुड़े हुए थे. शशि ने अपनी नई पारी देहरादून में ही 'यूथ आईकान' से शुरू की है. उन्‍हें एडिटर इन चीफ बनाया गया है. शशि पिछले बारह सालों से आजतक को अपनी सेवाएं दे रहे थे. उन्‍होंने आजतक के लिए कई कठिन प्रोजेक्‍ट पूरे किए. इनकी गिनती उत्‍तराखंड के तेजतर्रार पत्रकारों में की जाती है. इन्‍होंने आजतक से विदा लेने की सूचना अपने फेसबुक वाल पर भी डाली है.

बीबीसी से हिंदी प्रमुख अमित बरुआ का इस्‍तीफा

बीबीसी से खबर है कि अमित बरुआ ने इस्‍तीफा दे दिया है. इसकी जानकारी उन्‍होंने अपने साथियों को दे दी है. अमित बीबीसी हिंदी सेवा के चीफ के रूप में काम कर रहे थे. उनका कार्यकाल विवादों से भरा रहा. समझा जा रहा है कि इन्‍हीं विवादों के चलते अमित ने बीबीसी को बाय किया है. अमित पर कई तरह के आरोप भी लगे थे. ब्रिटेन में भी हिंदी के दो पत्रकारों ने अमित पर मुकदमा कर रखा है. अमित 2009 में बीबीसी के साथ जुड़े थे.

चैनल नियो क्रिकेट अब हो गया नियो प्राइम

नियो स्पोर्ट्स को अपने एक्सक्लूसिव क्रिकेट चैनल को छोड़कर सभी खेलों का चैनल बनाने को बाध्य होना पड़ा है. अब वह नियो क्रिकेट चैनल की जगह नियो प्राइम के नाम से जाना जाएगा. इसके पीछे सबसे अहम वजह भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के टीम इंडिया के घरेलू मैचों का प्रसारण करार अधिकार रद्द होना बताया जा रहा है. प्रसारणकर्ता ने नियो क्रिकेट चैनल का नाम बदलकर नियो प्राइम कर दिया है. जिससे कि अन्य खेलों का प्रसारण भी इस चैनल पर किया जा सके.

अंबानी-बिड़ला के बाद कई और उद्योगपति मीडिया में निवेश को तैयार

महिंद्रा ऐंड महिंद्रा के मनोनीत अध्यक्ष आनंद महिंद्रा समय बरबाद करने में बिल्कुल यकीन नहीं रखते हैं। मीडिया में रणनीतिक गठजोड़ों के लिए भारतीय कारोबारी जगत के उत्साह पर महिंद्रा कहते हैं, 'आप बढ़ती अर्थव्यवस्था के बीच मीडिया को दरकिनार नहीं कर सकते हैं।' उनका मानना है कि मीडिया की परिभाषा लगातार बदल रही है और ऐसे में मुनाफा कमाना है तो इस उद्योग की बेहतर समझ के साथ आपको यहां अपनी पकड़ बनानी होगी। उन्होंने कहा, 'हमारी कंपनी मुंबई मंत्रा खास तरह के कंटेंट तैयार करने की संभावनाएं तलाश रही है और ऐसा ढांचे बनाने की कोशिश में है जो मीडिया और जीवनशैली से जुड़ा हो।'

अपनी फिल्‍म के प्रमोशन के लिए जागरण कार्यालय पहुंचे इमरान हाशमी

नोएडा : फिल्म शंघाई के लिए सिक्स पैक खत्म किए और निर्देशक दिवाकर के कहने पर नौ-दस किलो वजन भी बढ़ाया। कोशिश कर रहा हूं कि सीरियल किसर की छवि को तोड़कर बाहर निकला जाए, शंघाई फिल्म में कुछ ऐसा ही करने का प्रयास किया है। सिने स्टार इमरान हाशमी ने ये बातें रविवार को दैनिक जागरण व उर्दू दैनिक इंकलाब के सेक्टर-63 स्थित कार्यालय में कहीं। उन्होंने लोगों से अपील की कि वे इस फिल्म को जरूर देंखे, क्योंकि इसमें इमरान एक अलग रूप में दिखाई देगा। फिल्म में उन्होंने एक छोटे शहर के पत्रकार का किरदार निभाया है। ऐसे में अखबार की दुनिया को नजदीक से जानने के लिए उन्होंने अखबार की कार्यप्रणाली के बारे में विस्तार से जानकारी ली।

पवन बजाज की पोल खोलने की सजा पा रहे हैं वेब जर्नलिस्‍ट मुकेश भारतीय

भारत में कानून की परिभाषा अब थोड़ी बदल गयी है। शरीफों के लिए कानून डंडा है और दबंगों को लिए सुविधा। 31 मई की रात्रि 12.30 बजे झारखंड की राजधानी राँची में उपर्युक्त परिभाषा चरितार्थ हुई। राजनामा डॉट कॉम के संचालक-संपादक मुकेश भारतीय को राँची शहर से 22 किलोमीटर दूर ओरमाझी स्थित उनके घर से झारखंड पुलिस के गोंदा थाना एवं ओरमाझी थाना के 9 राइफलधारी जवानों ने जिस प्रकार से एक पत्रकार के साथ दुर्व्यवहार करते हुए धर दबोचा, ऐसा किसी खूंखार आतंकवादी को पकड़ने में किया जाता है।

हिसाम और हेमंत की लड़ाई से व्‍यवस्‍थाएं ध्‍वस्‍त, अधिकारी कर रहे मनमानी

लखनऊ : हिसाम सिद्दीकी और हेमंत तिवारी के बीच चल रहे झगड़े ने सचिवालय और विधानसभा की कवरेज कर रहे पत्रकारों के लिए सारी व्‍यवस्‍थाएं ध्‍वस्‍त करा दिया है। झगड़ा दो साल पहले संवाददाता समिति के अध्‍यक्ष पद पर हिसाम के जीतने और हेमंत तिवारी की हार से शुरू हुआ। हेमंत अब इस समिति पर कब्‍जाने की फिराक में हैं, इसलिए समिति की मौजूदा कार्यकारिणी को वे अमान्‍य बताए हुए हैं। मुख्‍यमंत्री से लेकर संतरी तक हेमंत ने दर्जनों खत भेजे हैं कि समिति अब अस्तित्‍व में नहीं है। हेमंत के लोग चाहते हैं कि हिसाम के गुट को तोड़ दिया जाए। लेकिन हेमंत की इस कवायद का खामियाजा समिति के उन सदस्‍यों पर भारी पड़ गया है जिनके दम पर हेमंत अध्‍यक्ष लड़ने की तैयारी में हैं।

हिंदुस्‍तान के कथित पत्रकार ने ब्‍लॉक कर्मचारी पर हाथ उठाया

रायबरेली। ब्लाक आफिस लालगंज में कार्यरत कम्प्यूटर आपरेटर ब्रजेश यादव के साथ एक पत्रकार ने दुर्व्‍यवहार किया। बृजेश अपने साथ हुए दुर्व्‍यवहार की शिकायत प्रभारी खण्ड विकास अधिकारी से करते हुए कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराने हेतु निवेदन किया है। ब्रजेश यादव ने अपने तहरीर में कहा है कि वह गुरुवार को ब्लाक आफिस के कम्प्यूटर कक्ष में कार्य निपटा रहे थे, तभी 11 बजे के लगभग अपने आप को हिन्दुस्तान समाचार पत्र का पत्रकार बताने वाले सुरेश श्रीवास्तव कार्यालय के अंदर आए तथा बीडीओ का हवाला देते हुए जबरन पिछले वित्तीय वर्ष में 50 ग्राम सभाओं के सभी कार्यों के विवरण की छाया प्रति मॉगने लगे।

हिंदुस्‍तान, लखनऊ से रंजीत कुमार का इस्‍तीफा

हिंदुस्‍तान, लखनऊ से खबर है कि रंजीत कुमार ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे हाल ही में हुए इंक्रीमेंट और प्रमोशन से नाराज थे. रंजीत अपनी नई पारी कहां से शुरू करेंगे इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है. रंजीत लंबे समय से हिंदुस्‍तान को अपनी सेवाएं दे रहे थे. इसके पहले वे दैनिक भास्‍कर, राजस्‍थान …

पत्रकारिता बचाने के लिए समाज को भी आगे आना पड़ेगा : डॉ. गोविंद सिंह

रुद्रपुर। पत्रकार समाज से आता है इसलिए समाज के लोगों में जो अच्छाइयां-बुराइयां हैं, वे पत्रकारों में आना भी स्वाभाविक हैं, पत्रकारिता में आज जो गिरावट दिख रही है उसे समाज अपने सक्रिय हस्तक्षेप से रोक सकता है। यह विचार उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय में पत्रकारिता विभाग के अध्यक्ष डॉ. गोविंद सिंह ने व्यक्त किए। वे पत्रकारिता दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित संगोष्ठी में बोल रहे थे।

अंटू मिश्र, बाबू सिंह कुशवाहा, मानवेंद्र एवं महेंद्र समेत दस के विरुद्ध एफआईआर

लखनऊ। सीबीआई ने एनआरएचएम घोटाला मामले में पूर्व स्वास्थ्य मंत्री अनंत कुमार उर्फ अंटू मिश्रा, पूर्व परिवार कल्याण मंत्री बाबू सिंह कुशवाहा, विधायक रामप्रसाद जायसवाल, प्रमुख सचिव प्रदीप शुक्ला और एमएलसी डाक्टर अशोक कटियार के अलावा महानिदेशक परिवार कल्याण डाक्टर एसपी राम व चार निजी दवा आपूर्तिकर्ताओं के खिलाफ शनिवार को मुकदमा दर्ज किया है। सीबीआई की टीम ने अंटू के कई ठिकानों पर छापेमारी भी की है।

अहंकार, अपमान और अज्ञान की पीठ!

तहलका ने कुछ समय पहले एक आवरण कथा की थी. शीर्षक था साहित्य के सामंत. यह बताती है कि हिंदी साहित्य से जुड़े कुछ संस्थानों और उनसे जुड़े लेखकों-आलोचकों-प्रकाशकों की इच्छा के बिना अदब की इस दुनिया का एक पत्ता तक हिलना मुश्किल है और कैसे हिंदी साहित्य की एक बड़ी दुनिया ने इसे अपनी नियति मानकर इससे समझौता कर लिया है.

पत्रकारिता दिवस पर अमरेश मिश्र ने कई पत्रकारों को अपमानित किया

इसे विडंम्बना ही नहीं तो और क्या कहेंगे कि एक ओर जहां 30 मई को समूचे देश में पत्रकारों और इनके विभिन्न संगठनों द्वारा जहां हिन्दी पत्रकारिता दिवस मनाए जाने के साथ इस दिवस की उपयोगिता और पत्रकारों की सार्थकता आदि पर बढ़-चढ़ कर विचार प्रकट किए जा रहे थे। वहीं मीरजापुर जिले में, जिसका पत्रकारिता के क्षेत्र में एक अहम स्थान माना जाता है, में भी विभिन्न पत्रकार संगठनों द्वारा इस दिवस को मनाए जाने के साथ एकजुटता और सम्मान, सुरक्षा की बात की जा रही थी तो दूसरी तरफ मीरजापुर के ही प्रेस क्लब के कार्यक्रम में कई पत्रकारों को अपने ही आयोजक पत्रकार द्वारा अपमानित होना पड़ा। जिसकी पीड़ा को अपमानित पत्रकार न कह पा रहे हैं और न ही सुना पा रहे हैं।

अलीगढ़ : हॉकरों का हड़ताल जारी, अमर उजाला कार्यालय में दोनों पक्षों की मीटिंग

अलीगढ़ से सूचना है कि यहां पर अखबार वितरकों का हड़ताल तीसरे दिन भी जारी रहा. कोई अखबार नहीं बंट रहा है. हिंदुस्तान, अमर उजाला, दैनिक जागरण जैसे अखबारों के प्रसार विभाग के लोगों ने खुद स्टाल लगाना पड़ा. संभावना है कि आज कोई हल निकल आएगा. तीनों बड़े अखबारों के मैनेजरों की हॉकरों के साथ मीटिंग चल रही है. इस मीटिंग में ही निर्णय होगा कि हॉकरों का हड़ताल जारी रहेगा या खतम हो जाएगा.

जागरण के बाद दैनिक भास्‍कर भी जुटा छंटनी की तैयारी में, दहशत

दैनिक जागरण ने छंटनी की जो रहा दिखाई है, उस राह पर अब दूसरे बड़े संस्‍थान भी चलने की तैयारी में हैं. खबर आ रही है कि जागरण के बाद अब दैनिक भास्‍कर भी छंटनी की तैयारी कर रहा है. इसके लिए लिस्‍ट बनाए जाने की सूचना आ रही है. सूत्रों का कहना है कि भास्‍कर प्रबंधन ने पहले सभी यूनिटों के पत्रकारों के लिए इंक्रीमेंट तैयार की थी, जिसे कुछ समय के लिए रोक दिया गया है. यह इंक्रीमेंट अब छंटनी के बाद जारी की जाएगी.

जागरण में बंपर छंटनी (30) : सुधांशु श्रीवास्‍तव के बाद निर्भय सक्‍सेना का भी तबादला

दैनिक जागरण, बरेली से खबर है कि लगातार सुर्खियों में बने इस यूनिट में एक और कर्मचारी का तबादला कर दिया गया है. वरिष्‍ठ पत्रकार निर्भय सक्‍सेना को प्रबंधन ने जमशेदपुर भेज दिया गया है. उनको तबादला आदेश रजिस्‍टर्ड डाक से भेजा गया है. निर्भय बरेली के उन पांच पत्रकारों में शामिल थे, जिनसे पहले इस्‍तीफे मांग गए तथा इनकार करने पर कार्यालय में आने पर रोक लगा दी गई थी. इन लोगों के लेबर कोर्ट जाने के बाद प्रबंधन ने तबादला नीति अपना लिया है.

जागरण में बंपर छंटनी (29) : मुजफ्फरपुर में कई लोग बाहर किए गए

जागरण में चल रहे छंटनी के क्रम में मुजफ्फरपुर से भी लगभग एक दर्जन लोगों को बाहर किए जाने की खबर है. इस छंटनी में एडिटोरियल और चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों को‍ शिकार बनाया गया है. इसके बाद से यूनिट में तनाव बना हुआ है. निकाले गए कर्मचारी प्रबंधन के खिलाफ कोर्ट जाने की तैयारी कर रहे हैं. जिन लोगों को बाहर किया गया है उनमें संजय झा, राजीव रंजन, ओम प्रकाश, मधुर मिश्रा, अजय सिन्‍हा के नाम शामिल हैं.

Fraud Nirmal Baba (91) : निर्मल बाबा के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी, विज्ञापन पर भी रोक के आदेश

सागर : अपने भ‍क्‍तों को परेशानियों से छुटकारा दिलाने के लिए अजीबो-गरीब उपाय बताने वाले निर्मलजीत सिंह नरूला उर्फ निर्मल बाबा की खुद की परेशानी बढ़ती जा रही है. मध्य प्रदेश के सागर की बीना कोर्ट ने निर्मल बाबा के खिलाफ गिरफ्तारी वॉरंट जारी किया है. कोर्ट ने उन्हें 25 जून को पेश होने का आदेश दिया है. साथ ही कोर्ट ने सूचना और प्रसारण मंत्रालय के सचिव को आदेश दिया है कि वो सभी प्राइवेट चैनलों पर निर्मल बाबा के थर्ड आई ऑफ निर्मल बाबा के कार्यक्रमों पर फौरन रोक लगाएं. अगले आदेश तक देश के टीवी चैनल फिलहाल विज्ञापन की कृपा बरसाने वाले निर्मल बाबा के कार्यक्रम प्रसारित नहीं कर पाएंगे.

नरेंद्र मोदी ने अपना नैतिक कद काफी छोटा कर लिया है

: छोटे मन से कोई बड़ा नहीं होता :  ‘पार्टी मेरी मां है, मैं पार्टी से बड़ा कैसे हो सकता हूं? गुजरात चुनाव में दुबारा जीत मिलने के बाद बड़े ही भावुक अंदाज़ में नरेंद्र मोदी का तब का यह बयान वास्तव में भाजपा कार्यकर्ताओं के लिए जीत की खुशी के सोने पर सुहागे जैसा ही था. उस एक बयान से न केवल भाजपाइयों के मन में आशंका के बादल छंटे थे बल्कि खुद मोदी ने भी पार्टी में अपने कद को कई गुना बड़ा कर लिया था. लेकिन प्रभुता का अभिमान कहें या कुछ और, भाजपा की हालिया कार्यसमिति में संजय जोशी को इस्तीफा देने पर मजबूर कर भले मोदी खुद को विजेता समझ रहे हों लेकिन उन्होंने अपना नैतिक कद काफी छोटा कर लिया है.

यूसुफ़ अंसारी ने की एक्शन पार्टी की स्थापना

वरिष्ठ पत्रकार से राजनैतिक विश्लेषक और राजनैतिक विश्लेषक से नेता बने यूसुफ़ अंसारी ने एक्शन पार्टी के नाम से एक नये राजनैतिक दल की स्थापना की है. डेढ़ दशक से भी ज्यादा वक्त तक पत्रकारिता में सक्रिय रहने के बाद यूसुफ़ अंसारी ने राजनैतिक में कदम रखे थे और उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले पीस पार्टी का दामन थाम लिया था. पीस पार्टी में यूसुफ़ अंसारी को राष्ट्रीय महासचिव पद की ज़िम्मेदारी दी गई थी, लेकिन चुनाव के नतीजे आने के बाद यूसुफ़ अंसारी ने पीस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉक्टर अय्यूब पर परिवारवाद समेत कई आरोप लगाते हुए पार्टी से इस्तीफ़ा दे दिया था. यूसुफ़ अंसारी के साथ पीस पार्टी के कई लोगों ने पार्टी को अलविदा कह दिया था, जिनमें पार्टी के राष्ट्रीय सचिव शमीम अंसारी भी शामिल थे.

आकाशवाणी त्रिवेन्द्रम के बीजू मैथ्यू को प्रथम पुरस्कार की घोषणा पर हम सब उछल पड़े

: बारहवां अन्तर्राष्ट्रीय रेडियो फेस्टिवल और चौथा अन्तर्राष्ट्रीय रेडियो फोरम समारोह : मई का महीना रेडियो से जुड़े विश्व के तमाम प्रसारण कर्मियों के लिए उत्सुकता और उम्मीद भरा वाला होने लगा है। कारण है कि पिछले एक दशक से मई के महीने में इरान की प्रसारण संस्था इस्लामिक रिपब्लिक आफ ईरान ब्राडकास्टिंग (IRIB), ईरान में एक अन्तर्राष्ट्रीय रेडियो फेस्टिवल का आयोजन कर रही है। कुछ वर्षो पहले IRIB ने एशिया पैसिफिक ब्राडकास्टिंग यूनियन (ABU) के साथ मिलकर एक अन्तर्राष्ट्रीय रेडियो फोरम की शुरूआत भी की है। पिछले 16-17 मई को ईरान की राजधानी तेहरान से लगभग 400 किमी दूर, उत्तरी ईरान में कैस्पियन सागर के तट पर स्थित जिबाकेनार (Zibakenar) कस्बे में 12 वें अन्तर्राष्ट्रीय रेडियो फेस्टिवल और चौथे अन्तर्राष्ट्रीय रेडियो फोरम का कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। सौभाग्य से, मैं भी उपरोक्त कार्यक्रम में सम्मिलित हुआ। मेरा चयन अन्तर्राष्ट्रीय रेडियो फोरम में एक वक्ता के रूप में हुआ था। मुझे वहां सम्पन्न हुये सेमिनार में एक पेपर पढ़ना था। पेपर का विषय था ‘‘वैश्वीकरण की चुनौतियाँ : रेडियो द्वारा प्रसारित होने वाले बोलियों के कार्यक्रमों पर इसका प्रभाव’’।

जौनपुर पत्रकार संघ ने कांग्रेस के दागी नेता कृपाशंकर सिंह को किया सम्मानित

जौनपुर पत्रकार संघ के अध्यक्ष ओम प्रकाश सिंह ने 30 मई को हिन्दी पत्रकारिता दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में कांग्रेस के दागी नेता एवं महाराष्ट्र के पूर्व ग्रह राज्य मन्त्री कृपा शंकर सिंह को विशिष्ट अतिथि के रूप में बुलाकर सम्मानित किया। इन नेता जी पर आय से अधिक सम्पत्ति की सीबीआई जाँच चल रही है और वे स्वयं सुप्रीम कोर्ट के आदेश से जमानत पर चल रहे हैं। साथ ही इनकी सम्पत्तियों की कुर्की के भी आदेश हो चुके हैं। जौनपुर पत्रकार संघ के अध्यक्ष ओम प्रकाश सिंह की इस कार्यवाही से पत्रकार स्वयं को मान रहे अपमानित और पत्रकारिता हुई कलुषित। ओम प्रकाश सिंह दैनिक जागरण के जौनपुर संसकरण के ब्यूरो प्रमुख भी हैं। इनकी इस हरकत से जौनपुर के पत्रकार हुये मर्माहत।

”रणवीर सेना के गुंडों के साथ खड़ी है बिहार की नीतीश सरकार”

Anand Pradhan : पटना की सड़कों पर रणवीर सेना के गुंडों-लफंगों ने जिस तरह से सरकारी संरक्षण में खुलेआम लूटपाट, मारपीट, तोड़फोड़, आगजनी, महिलाओं/लड़कियों के साथ छेड़खानी, आमलोगों और मीडियाकर्मियों पर हमला किया है और अराजकता और उपद्रव के बीच दहशत का माहौल पैदा कर दिया है, इससे नीतिश कुमार के सुशासन की पोल खुल गई है…इस सरकार ने सामंती-अपराधी गुंडों के आगे समर्पण कर दिया है…कल आरा और आज पटना में जो कुछ हुआ है, उससे बिहार में ‘सुशासन’ की सच्चाई सामने आ गई है…लगता है कि बिहार में कानून का राज खत्म हो गया है…बिहार के लिए काला दिन है यह…लेकिन सवाल यह है कि इन सामंती गुंडों को ताकत कहाँ से मिल रही है?

जागरण में बंपर छंटनी (28) : बरेली में दो का तबादला, दो ने नोटिस भेजा

दैनिक जागरण, बरेली से दो खबरें हैं. पहली तबादले की और दूसरी लीगल नोटिसों की. बरेली में कार्यरत सुंदर भाटिया का तबादला मुरादाबाद कर दिया गया है. सुंदर काफी समय से बरेली में अपनी सेवाएं दे रहे थे. हालांकि उनके तबादले के पीछे का कारण संपादकीय प्रभारी अवधेश गुप्‍ता से हुए विवाद को बताया जा रहा है. दूसरी तरफ मुरादाबाद में कार्यरत एस राजपूत को बरेली बुला लिया गया है. राजपूत भी लंबे समय से अखबार को अपनी सेवाएं दे रहे हैं.

बी जमा ने समाचार प्‍लस ज्‍वाइन किया, मनसुख का दबंग दुनिया से इस्‍तीफा

पंजाब केसरी, गाजियाबाद से खबर है कि डा. बी जमा ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे ब्‍यूरोचीफ के पद पर कार्यरत थे. बी जमा ने अपनी नई पारी न्‍यूज चैनल समाचार प्‍लस से शुरू की है. इन्‍हें रिपोर्टिंग की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है. डा. जमा इसके पहले भी कई संस्‍थानों में अपनी सेवाएं दे चुके हैं. गौरतलब है‍ कि जल्‍द लांच होने जा रहे समाचार प्‍लस से तमाम बड़े चैनलों और अखबारों में काम करने पत्रकार जुड़ रहे हैं.

आजकल पंकज पचौरी कर क्या रहे हैं?

एनडीटीवी छोड़कर पंकज पचौरी पीएम मनमोहन सिंह के मीडिया एडवाइजर बनने गए लेकिन गए तो फिर वे ऐसे खो गए कि कुछ अता पता ही नहीं चल रहा है. हालांकि कहने वाले कहते हैं कि जबसे पंकज पचौरी पीएम के मीडिया एडवाइजर बने हैं, तबसे मीडिया में पीएम की छवि और ज्यादा खराब हुई है. अब कोयला घोटाल का सीधे सीधे आरोप पीएम पर लगने लगा है. घपलों, घोटालों, खराब आर्थिक हालातों, महंगाई आदि की जननी केंद्र की यूपीए सरकार की जैसी किरकिरी इन दिनों मीडिया और उसके पाठकों के बीच हो रही है, वैसी कभी नहीं हुई. पंकज पचौरी सीन से गायब दिख रहे हैं. जहां उन्हें होना चाहिए, वहां भी वे नहीं दिखते. इसी हालत पर इंडिया टुडे मैग्जीन के गासिप सेक्शन में एक खबर पंकच पचौरी पर है, जो इस प्रकार है–

हिन्दुस्तान विज्ञापन घोटाला : बड़े घराने के अखबार नीतिश सरकार को अंगूठा दिखा रहे हैं

मुंगेर। मुख्यमंत्री नीतिश कुमार और पुलिस महानिदेशक अभयानन्द की अगुवाई में बिहार में आर्थिक अपराधियों के फन को कुचलने का अभियान जोर-शोर से चल रहा है। दूसरी ओर, सूचना एवं जनसम्पर्क निदेशालय, पटना की त्रुटिपूर्ण ‘‘बिहार विज्ञापन नीति-2008‘‘ के कारण कारपोरेट मीडिया सरकार की बिहार विज्ञापन नीति-2008 का माखौल उड़ा रहा है और सरकार के मुखिया को चिढ़ा-चिढ़ा का संदेश दे रहा है कि ‘‘नीतिश जी, सरकार बिहार में कारपोरेट मीडिया की है। कारपोरेट मीडिया बिहार में सरकार चल रहा है। ‘‘दैनिक हिन्दुस्तान सरकार की विज्ञापन नीति-2008 को अंगूठा दिखाकर अपनी दादागिरी और धौंस के बलपर खगड़िया नगर परिषद से अनाधिकृत रूप में विज्ञापन उठा लिया है और दैनिक हिन्दुस्तान में प्रकाशित कर दिया है। अब अखबार उस अवैधढंग से अर्जित विज्ञापन के भुगतान के लिए जी तोड़ प्रयास कर रहा है।

अगर दस प्रतिशत का भी मान लें तो यूपी में 272 करोड़ का ”टैबलेट घोटाला” तैयार है!

: टैबलेट-दर-टैबलेट- उत्तर प्रदेश में घोटाले की नयी जमीन? : उत्तर प्रदेश में टैबलेट रिवोल्यूशन आने वाला है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के पहले बजट में 2721 करोड़ रूपए छात्रों को टैब्लेट और लैपटॉप कंप्यूटर बांटने के लिए आवंटित किए गए है। मुख्यमन्त्री अखिलेश यादव ने अब तो प्रदेश के बजट में टैबलेट बाँटने के लिये धन की व्यवस्था भी कर दी है। पर जो ट्रेंड चल रहा है कि आने वाली सरकारें पिछली सरकारों के कामों की बखिया उधेड़ती है और सरकारी खरीदें बिना कमीशन बाजी के हो नहीं सकती उसके हिसाब से प्रदेश में एक बड़ी सरकारी खरीद और उससे जुड़े एक नये घोटाले की जमीन तैयार हो रही है । बी.बी.सी के अनुसार 2721 करोड़ के टैबलेट बटेंगें। अगर दस प्रतिशत का भी मान लें तो 272 करोड़ का घोटाला तैयार है।

अलीगढ़ : अखबारों ने हाकरों को छला तो हाकरों ने हड़ताल का दांव चला

अलीगढ़ से सूचना है कि यहां पर अखबार वितरकों ने दो दिन से हड़ताल कर रखा है. कोई अखबार नहीं बंट रहा है. हिंदुस्तान, अमर उजाला, दैनिक जागरण जैसे अखबारों के प्रसार विभाग के लोगों ने खुद स्टाल लगाकर अखबार बेचना शुरू किया लेकिन इस कवायद से सौ पचास कापियां ही बिकीं. बताया जाता है कि जब हिंदुस्तान अखबार अलीगढ़ में लांच हो रहा था तब प्रति अखबार हाकरों को कमीशन 75 पैसे मिलते थे. हिंदुस्तान ने लांचिंग के बाद कमीशन प्रति अखबार एक रुपये कर दिया. यह देख अन्य अखबारों ने भी कमीशन प्रति कापी एक रुपये कर दिया.

”रोहित गुप्ता के कृत्यों से पत्रकार समाज शर्मिंदा हो रहा है”

आदरणीय यशवंत जी, आपका यह मंच निश्चय तौर पर पत्रकारों की समस्याओं और मीडिया से जुडी खबरों को प्रमुखता देता है. यह मंच हमेशा पत्रकारों में प्रिय रहा है. किन्तु बिना कोई छानबीन किये एक नितांत झूठी खबर (भदोही में पैसे पर बिका प्रेस क्लब, पत्रकार को पीटने वाले को किया सम्मानित) पढ़कर इस मंच की विश्वनीयता पर संदेह हो रहा है. मैं आपको और सभी पाठकों को सच्चाई से अवगत करना चाहूँगा. आशाराम बापू द्वारा या उनके समर्थकों पर जो आरोप लगाया गया था, उसी के आधार पर प्रेस क्लब ने एकजुटता दिखाई और मुकदमा दर्ज कराया. जब पुलिस अधीक्षक ने कार्यवाही करने का आश्वासन दिया तो आन्दोलन बंद किया गया. आवश्यक धाराओं के अंतर्गत पुलिस ने चार्जशीट लगाया, किन्तु आप भी जानते हैं कि पुलिस कितने वर्ष की सजा के आरोपियों को गिरफ्तार नहीं कर सकती है.

लालू की बिटिया का इंटरव्‍यू छापने वाले टाइम्‍स ऑफ इंडिया की किरकिरी

यशवंत भाई, नमस्कार। किसी व्यक्ति के किसी काम पर लोग थू-थू करें और वो उसे अपनी उपलब्धि माने तो उसे नादान से लेकर मूर्ख कहने तक के विकल्प हमारे पास मौजूद है। भारत के सर्वोच्‍च पाठक संख्या वाले अंग्रेजी अखबार ने भी कुछ ऐसी ही नादानी की है, जिसको पाठक कोई भी नाम दे सकते हैं। टाइम्स ऑफ इंडिया के चंडीगढ़ संस्करण ने खूब दावे के साथ प्रकाशित किया कि बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की बिटिया धन्‍नू सबकुछ भूलकर हरियाणा में भ्रूण हत्याएं रोकने को मैदान में उतरने वाली हैं। लालू की लाडली हाल ही में हरियाणा में ब्याह कर आई हैं। वे हरियाणा के पावरफुल लीडर अजय यादव के बेटे चिरंजीव के साथ विवाह बंधन में बंधी हैं।

ओम गौड़ जाएंगे राजस्‍थान, कुलदीप व्‍यास होंगे झारखंड के स्‍टेट हेड

: नवनीत गूर्जर बनेंगे एमपी के स्‍टेट हेड : दैनिक भास्‍कर, झारखंड से बड़ी खबर आ रही है. दैनिक भास्‍कर, जोधपुर के संपादक कुलदीप व्‍यास को झारखंड का नया स्‍टेट हेड बनाया गया है. कुलदीप ओम गौड़ की जगह झारखंड की जिम्‍मेदारी संभालेंगे. प्रबंधन ने इस संदर्भ में मेल जारी कर दिया है. झारखंड के स्‍टेट हेड ओम गौड़ को राजस्‍थान की जिम्‍मेदारी दी जा रही है. ओम गौड़ झारखंड आने से पहले राजस्‍थान में ही भास्‍कर को सेवाएं दे रहे थे. इन दोनों बदलावों की जानकारी सभी पदाधिकारियों को दे दी गई है.

पत्रकार को धमकी दिए जाने को हयूज ने लोकतंत्र पर हमला बताया

रेवाड़ी : पंजाब केसरी (दिल्ली) समाचारपत्र के प्रतिनिधि महेंद्र छाबड़ा को पूर्वमंत्री डा. धर्मवीर यादव द्वारा फोन पर जान से मारने की धमकी देने पर हरियाणा यूनियन आफ जर्नलिस्‍ट्स ने कड़े शब्दों में निंदा की है। हरियाणा यूनियन आफ जर्नलिस्‍ट्स के प्रदेश प्रवक्ता धीरज बजाज ने बताया कि इस मसले को लेकर यूनियन के कार्यवाहक प्रदेशाध्यक्ष अजय मल्होत्रा, प्रदेश महासचिव राजेश गुप्ता व अन्य पदाधिकारियों ने बातचीत कर इस घटना को लोकतंत्र पर हमला बताया है।

पत्र भेजकर कृष्‍णभानु ने कहा – धनंजय इस्‍तीफा दें या कानूनी कार्रवाई के लिए तैयार रहें

शिमला प्रेस क्‍लब में 13 अक्‍टूबर 2009 के बाद से सालाना चुनाव नहीं हुए हैं. प्रेस क्‍लब के अध्‍यक्ष धनंजय शर्मा लगभग ढाई सालों से प्रेस क्‍लब के अध्‍यक्ष पद पर काबिज हैं. नियमानुसार 13 अक्‍टूबर 2010 से पहले चुनाव करा लिए जाने चाहिए थे, परन्‍तु ऐसा नहीं हो पाया. अब प्रेस क्‍लब में व्‍याप्‍त गड़बड़ी एवं अनियमितता को दूर करने के लिए हिमाचल के वरिष्‍ठ पत्रकार एवं प्रेस क्‍लब के पांच बार अध्‍यक्ष रह चुके कृष्‍णभानु ने धनंजय शर्मा को जल्‍द से जल्‍द चुनाव अधिकारी नियुक्‍त कर इस्‍तीफा देने की मांग की है.

बात बात पर कपड़े खोलने वाली पूनम पांडे भास्कर के मुंबई आफिस पहुंचीं

Dilnawaz Pasha : पूनम पांडे आज भास्कर के मुंबई ऑफिस आई थी। वीडियो कांफ्रेंस के जरिए उनसे बात हुई। पूनम पांडे की सबसे खास बात यह है कि वो खुलकर जवाब देती है। पूनम से पूछा कि क्रिकेट ने तो आपके कपड़े उतार दिए हैं…अगर देश में मंहगाई कम हो गई…या गरीबी का आंकड़ा कम हो गया…या भुखमरी खत्म हो गई तो क्या वो भारत की संस्कृति का सम्मान करते हुए कपड़े पहन लेंगी…पूनम पांडे ने साफ कहा नहीं…उनके फैंस चाहते हैं कि वो कपड़े उतारे इसलिए वो उतारती हैं…जब फैंस चाहेंगे की वो कपड़े पहने तो पहन लेंगी…पूनम ने तो राहुल गांधी के पीएम बनने या शादी होने पर भी कपड़े पहनने से इंकार कर दिया… पूनम पांडे की आलोचना के हजार कारण हो सकते हैं…लेकिन उन्होंने हम भारतीयों की दोहरी मानसिकता को अच्छी तरह से नंगा किया है…पूनम को कपड़े पहनने का सबक सब देते हैं लेकिन उसे देखना भी नंगा ही चाहते हैं… और पूनम पांडे भी भारतीयों की मानसिकता को अच्छी तरह से समझती है..तभी तो… खैर… एक सवाल आपसे… पूनम पांडे के कपड़े उतरने से फर्क पड़ता है या नेताओं के? और पूनम पांडे के बारे में अब आपकी राय क्या है…(पूनम पांडे ने टीम अन्ना के साथ जुड़ने से भी साफ इंकार कर दिया है…वो फिलहाल स्ट्रिपिंग को ही एंजॉय कर रही हैं….)

पचपन साल के कापी एडिटर शुक्ला जी की मजबूरियां

Mohammad Anas : और सिर्फ इन्ही वजहों से मैं फैसला नही कर पाता कि पत्रकार बनू या फिर एक्टिविस्ट, क्योंकि जीना ही मकसद नहीं मेरी ज़िंदगी का… कल देर रात की बात है, जब ज्यादातर अखबार के दफ्तर में पेज बनाने की जल्दी रहती है, कुछ इस भागमभाग में बाहर खाने पीने भी निकलते हैं, रात के ११ बजे हम भी मध्य प्रदेश की राजधानी में बैठे थे, प्रेस काम्प्लेक्स के करीब ही रहता हूँ, हिन्दी का एक पुराना अखबार है स्वदेश, इसमें एक ५५ साल के व्यक्ति कॉपी एडिटर हैं, नाम है रामसेवक शुक्ला, इलाहाबाद विवि से पढ़ाई, सामान्य सी कद काठी, जहाँ एक ओर लकदक और चमकदार कपड़ों में स्वदेश के एडिटर अपनी कुर्सी पर बैठे मिले वहीँ रामसेवक जी दसियों बरस पहले सिलवाए अपने शर्ट और पतलून में मेरे सामने बैठे थे.

बेहूदा संपादक

Pankaj Jha : एक बेहूदे संपादक ने आज अपने अखबार में लिखा कि बंद का आयोजन और पेट्रोल की कीमत बढ़ना दोनों एक ही तरह का अपराध है. कल को अगर ऐसा कोई बड़ा आतंकी हमला हो जाय, कोई नरसंहार हो जाय तो उसके खिलाफ किसी प्रदर्शन के समय भी ये 'गुनीजन' शायद ऐसे ही लिखेंगे कि जितना गलत नरसंहार है उतना ही गलत ये विरोध प्रदर्शन भी. मज़े की बात ये कि ऐसे ही बुद्धिजीवी लोकतांत्रिक अधिकारों की दलाली भी करते मिलेंगे आपको…लानत है इन पर.

पंजाब केसरी के गाजियाबाद कार्यालय में पानी के लिए तरस रहे हैं पत्रकार

गाजियाबाद। पंजाब केसरी, दिल्ली संस्करण के गाजियबाद ब्यूरो कार्यालय में कार्यरत पत्रकारों की हालत वर्तमान में काफी दयनीय हो गई है। पिछले चार माह से गाजियाबाद ब्यूरो के किसी भी पत्रकार को वेतन नहीं मिला है। पत्रकारों की हालत काफी पतली  है। गौरतलब है कि कई वर्षों से गाजियाबाद ब्यूरो का कार्यभार संभाल रहे ब्यूरो प्रमुख डा. बी जमा संस्थान से दुखी हो कर अलग हो गये हैं। पिछले दिनों ब्यूरो में आग लगने से इंवर्टर व कंप्यूटर खराब हो गये थे, जिसे अभी तक नहीं बनवाया जा सका है।

जनवाणी का खतौली कार्यालय बंद किया गया

जनवाणी, मेरठ से खबर है कि प्रबंधन ने खर्चों में कटौती करना शुरू कर दिया है. इस क्रम में एक जून से खतौली आफिस को बंद कर दिया गया है. वहां पर नियुक्‍त किए गए सभी स्‍टाफों को हटा दिया गया है. अब यहां पर केवल एक पत्रकार की नियुक्ति की गई है, जो यहां …

भदोही में पैसे पर बिका प्रेस क्‍लब, पत्रकार को पीटने वाले को किया सम्‍मानित

भदोही। पत्रकार संगठन कितने चालू और ब्‍लैकमेलर हो गए हैं इसकी बानगी भदोही में देखने को मिली। आसाराम बापू के जिन समर्थकों ने पत्रकार रोहित गुप्‍ता पर हमला किया था, उन्‍हीं में से एक को पत्रकारिता दिवस के दिन सम्‍मानित किया गया। आरोप है कि संगठन के लोगों ने पैसे लेकर पूरे मामले को ठण्‍डे बस्‍ते में डाल दिया तथा आसाराम के साधक को सम्‍मानित किया। इस मामले में रोहित को अब तक न्‍याय नहीं मिल पाया है।

आडवाणी जी, मीडिया की कृपा से राष्‍ट्रीय नेता बनने वालों से देश को बचाने की जरूरत

नई दिल्ली : बीजेपी में बड़े नेताओं के बीच हमेशा से ही मौजूद रहा झगड़ा सामने आ गया है. लाल कृष्ण आडवाणी ने पार्टी के मौजूदा अध्यक्ष के काम काज के तरीकों पर सवाल उठाया है. कहते हैं कि मीडिया के लोग केंद्र सरकार पर हमला कर रहे हैं लेकिन उनका अपना गठबंधन भी सही काम नहीं कर रहा है. आडवाणी ने अपने ब्लॉग पर अपनी तकलीफों को कलमबंद किया है और ६० साल की अपनी राजनीतिक यात्रा को याद किया है. उन्होंने लोगों को याद दिलाया है कि वे बीजेपी की पूर्ववर्ती पार्टी जनसंघ के संस्थापक सदस्य हैं.

ईटीवी को बड़ा झटका, पंकज पंवार एवं राहुल शेखावत समाचार प्‍लस से जुड़े

उत्‍तराखंड में ईटीवी को बड़ा झटका लगा है. ईटीवी के उत्‍तराखंड में शुरुआत से जुड़े दो पत्रकारों ने इस्‍तीफा दे दिया है. देहरादून में ईटीवी के स्‍टाफर के रूप में कार्यरत पंकज पंवार ने समाचार प्‍लस ज्‍वाइन कर लिया है. उन्‍हें उत्‍तराखंड का डिप्‍टी ब्‍यूरोचीफ बनाया गया है. पंकज लंबे समय से ईटीवी को अपनी सेवाएं दे रहे थे. उसके पहले वे प्रिंट मीडिया से जुड़े हुए थे तथा कई संस्‍थानों को अपनी सेवाएं दे चुके हैं.

देब्‍दूलाल बने नेटवर्क18 में चीफ गेस्‍ट कोआर्डिनेटर

देब्‍दूलाल पहाड़ी 'देबू' के बारे में खबर है कि वे नेटवर्क18 के साथ जुड़ गए हैं. उन्‍होंने चीफ गेस्‍ट कोआर्डिनेटर के रूप में ज्‍वाइन किया है. देब्‍बूलाल पिछले 19 सालों से पीआर और गेस्‍ट कोआर्डिनेटर के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे हैं. इसके पहले ये सीएनईबी में चीफ गेस्‍ट कोआर्डिनेटर और मैनेजर पब्लिक रिलेशन के पद पर कार्यरत थे. देबू उस दौर से इलेक्‍ट्रानिक मीडिया में सक्रिय हैं, जब चैनलों की शुरुआत हुई थी.

जागरण में बंपर छंटनी (27) : संजय गुप्‍ता, विष्‍णु त्रिपाठी समेत कई वरिष्‍ठों को कोर्ट में घसीटेंगे बिहारी पत्रकार

जालंधर में दैनिक भास्‍कर के पत्रकार की कोर्ट से पुनर्वापसी से उत्‍साहित दैनिक जागरण, बिहार से निकाले गए कर्मचारी अब कोर्ट की शरण में जाने की तैयारी कर रहे हैं. पूरे बिहार से निकाले गए कम से कम 23 पत्रकारों ने प्रबंधन को सबक सिखाने तथा कोर्ट में घसीटने की रणनीति तैयार की है. ये पत्रकार प्रबंधन से तीन मोर्चों पर लड़ाई लड़ेंगे. पत्रकार अपनी योजना का खुलासा सात जून के बाद करेंगे. अंदरखाने प्रबंधन को औकात बताने की पूरी तैयारी की जा चुकी है. साथ ही पत्रकार हिंदुस्‍तान की तर्ज पर प्रबंधन के एक ही आरएनआई पर कई एडिशन निकालने की सच्‍चाई को भी सामने लाने की योजना बना रहे हैं. 

जागरण में बंपर छंटनी (26) : बरेली में सुधांशु का तबादला, बनारस में दो का इस्‍तीफा

दैनिक जागरण में छंटनी और तबादलों का दौर जारी है. बरेली और बनारस से खबर है कि एक पत्रकार का तबादला किया गया है तो दो लोगों से इस्‍तीफे ले लिए गए हैं. पहले खबर बरेली से. बरेली में प्रबंधन ने कर्मचारियों से इस्‍तीफा देने को कहा था. सभी लोगों ने इस्‍तीफा देने से इनकार कर दिया था, जिसके बाद प्रबंधन ने इन लोगों के कार्यालय के भीतर घुसने पर रोक लगा दी थी. सभी कर्मचारी रुहेलखंड मीडिया वर्कर एसोसिएशन के बैनर तले लेबर कमिश्‍नर के पास पहुंचे थे. मामले में कानूनी पेंच घुसते देख प्रबंधन ने यू टर्न ले लिया है.

पूर्व मंत्री ने दी पत्रकार को जान से मारने की धमकी, मामला दर्ज

रेवाड़ी : शहर थाना पुलिस ने एक पत्रकार की शिकायत पर हरियाणा जनहित काग्रेस के नेता पूर्व मंत्री डा. धर्मवीर के खिलाफ जान से मारने की धमकी देने का मामला दर्ज किया है। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। पूर्व मंत्री द्वारा धमकी दिए जाने के मामले में शुक्रवार को शहर के पत्रकार एएसपी बलवान सिंह राणा से भी मिले तथा पत्रकार को सुरक्षा देने व दर्ज किए गए मामले में उचित कार्रवाई करने की मांग की।

हिंदुस्‍तान से संजीव गर्ग एवं गोविंद चंद्र का इस्‍तीफा

हिंदुस्‍तान, दिल्‍ली से खबर है कि संजीव गर्ग ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर डीएनई के पद पर कार्यरत थे. संजीव अपनी नई पारी अमर उजाला के साथ शुरू करने जा रहे हैं. उन्‍हें यहां पर एनई बनाए जाने की खबर है. संजीव काफी समय से हिंदुस्‍तान से जुड़े हुए थे. उनकी गिनती तेजतर्रार पत्रकारों में की जाती है. 

आंसुओं के बीच आजतक से विदा हुए कमर वहीद नकवी

31 मई कई बदलावों का साक्षी बना. स्‍टार न्‍यूज इस दिन आखिरी बार प्रसारित हुआ तो आजतक से न्‍यूज डाइरेक्‍टर कमर वहीद नकवी रिटायर हो गए. न्यूज डायरेक्टर के रूप में लंबे समय से कार्यरत कमर वहीद नकवी वो शख्स हैं जिन्होंने आजतक नाम को जन्म दिया था. वे एसपी सिंह के सहायक हुआ करते थे. नकवी ने आजतक के साथ पहली पारी जून 1995 में शुरू की. एसोसिएट एडिटर उनका डिजीगनेशन था. नंबर टू पोजीशन पर थे. एसपी सिंह संपादक थे.

जीएनएन से फ्रैंकलीन निगम का इस्‍तीफा, चैनल का माहौल गरम

छंटनी के बयार में जीएनएन न्‍यूज में भी मामला गरम है. यहां के कर्मचारियों पर भी लगातार तलवार लटक रही है. पंद्रह हजार से ज्‍यादा सैलरी पाने वाले प्रबंधन के निशाने पर हैं. ताजा सूचना है कि आउटपुट हेड फ्रैंकलीन निगम का इस्‍तीफा हो गया है. फ्रेंकलीन ने क्‍यों इस्‍तीफा दिया है तथा कहां से अपनी नई पारी शुरू कर रहे हैं इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है. बताया जा रहा है कि पिछले कुछ समय में यहां से कई लोगों की विदाई की जा चुकी है.

बिल्‍डर की गलत खबर चलाने का टीवी9 पर आरोप

टीवी9 न्‍यूज चैनल पर एक बिल्‍डर को ब्‍लैकमेल करने के लिए खबरें चलाने का आरोप लगा है. चैनल का निशाना बना है शहाना कंस्‍ट्रक्‍शन ग्रुप. चैनल पर आरोप है कि जिस मामले से सीधे-सीधे बिल्‍डर का कोई लेना-देना नहीं था, उसमें बिल्‍डर को निशाना बनाया गया. बिल्‍डर ने इस मामले में प्रेस के सामने भी अपनी बात रखी.

हेमंत तिवारी ने उठाई आवाज, अखिलेश ने कहा – पत्रकारों के लिए महत्‍वपूर्ण घोषणा जल्‍द

सपा सरकार इसी बजट सत्र में यूपी तथा लखनऊ के पत्रकारों के लिए कुछ नए प्रावधान लागू कर सकती है. अगर ऐसा होता है तो इसका बहुत बड़ा श्रेय लखनऊ के वरिष्‍ठ पत्रकार हेमंत तिवारी को जाएगा. हेमंत तिवारी ने शुक्रवार को मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव के प्रेस कांफ्रेंस में पत्रकारों की बात को प्रमुखता से उठाया तथा उनसे आग्रह किया कि जल्‍द से जल्‍द इन मामलों पर निर्णय लिया जाए, जिसके बाद अखिलेश ने कहा कि वे इसी सत्र में पत्रकारों के लिए महत्‍वपूर्ण फैसला लेंगे.

इंडिया टीवी में प्रेसिडेंट (नेटवर्क डेवलपमेंट) बने राजमोहन नैयर

टीवी टुडे समूह से खबर है कि राजमोहन नैयर ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे इस ग्रुप के साथ वाइस प्रेसिडेंट (डिस्‍ट्रीब्‍यूशन) के रूप में जुड़े हुए थे. उन्‍होंने अपनी नई पारी इंडिया टीवी के साथ शुरू की है. उन्‍होंने यहां पर प्रेसिडेंट (नेटवर्क डेवलपमेंट) के पद पर ज्‍वाइन किया है. वे एमडी व सीईओ रितु धवन को रिपोर्ट करेंगे. इंडिया टीवी प्रबंधन ने उन्‍हें नेटवर्क डेवलपमेंट और ग्रुप के नए चैनलों की जिम्‍मेदारियां सौंपी है.

हिंदुस्‍तान से अनिता सिंह एवं न्‍यूज टाइम से पावस का इस्‍तीफा

हिंदुस्‍तान, दिल्‍ली से खबर है कि अनिता सिंह ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे डिजाइनिंग टीम की हेड थीं. अनिता काफी लम्‍बे समय से हिंदुस्‍तान से जुड़ी हुई थीं. बताया जा रहा है कि अनिता अपनी नई पारी अमर उजाला के साथ शुरू कर रही हैं. यहां पर भी उन्‍हें डिजाइनिंग टीम का हेड बनाये जाने की सूचना है. इस संदर्भ में उनसे संपर्क करने की कोशिश की गई परन्‍तु बात नहीं हो पाई. माना जा रहा है कि अनिता सिंह के आने से अमर उजाला को मजबूती मिलेगी.

अमर उजाला, बनारस के जीएम बने एपी सिंह

वरिष्‍ठ मीडिया पर्सन एपी सिंह ने पीजीवीएस, लखनऊ में डायरेक्टर रिसोर्सेज और सीईओ के पद से इस्‍तीफा दे दिया है. एपी सिंह एक बार फिर अमर उजाला में वापसी कर ली है. उन्‍होंने अमर उजाला, बनारस के जीएम कम यूनिट हेड के पद पर ज्‍वाइन किया है. पीजीवीएस ज्‍वाइन करने से पहले वे अमर उजाला में लखनऊ के जीएम कम यूनिट हेड के रूप में काम कर रहे थे.

सीएनईबी में छंटनी का काम पूरा, चेक लेकर घर गए कर्मचारी

सीएनईबी न्‍यूज चैनल से खबर है कि एक जून को एक महीने का नोटिस पूरा होते ही प्रबंधन ने सभी को कार्यमुक्‍त कर दिया है. लगभग ढाई सौ कर्मचारियों को प्रबंधन ने चेक दे दिया है. इसके साथ ही सीएनईबी से छंटनी का काम खतम हो गया. इस दौरान किसी ने भी विरोध नहीं किया. सभी अपने-अपने हिस्‍से का पैसा लेकर दूसरा ठिकाना ढूंढने निकल पड़े. इसके साथ यह भी साबित हो गया कि यह दौर आगे भी जारी रहने वाला है, क्‍योंकि मीडियाकर्मी पत्रकार हित की लड़ाई लड़ने की बजाय इन मौकों पर चेक लेकर खिसक लेते हैं और मालिकान जब चाहे तब इनकी ऐसी की तैसी करते रहते हैं.

जागरण में बंपर छंटनी (25) : जागरण में चिट्टी बम से सीजीएम एवं बिहारियों पर निशाना

दैनिक जागरण पंजाब व हरियाणा से खबर आई है कि दैनिक जागरण के सीएमडी महेन्द्र मोहन के नाम बेनामी चिट्ठी भेजी गई है। इस चिट्ठी में जागरण के पंजाब व हरियाणा में कार्यरत बिहारियों के बहाने सीजीएम निशिकांत ठाकुर पर गंभीर आरोप लगाकर निशाना साधा गया है। आरोप की लंबी सूची में चीफ रिपोर्टर से लेकर समाचार संपादक तक को कटघरे में खड़ा किया गया है। चिट्ठी में लगाए गए आरोप की जानकारी सबको मिले इसके लिए चिट्ठी की प्रति डाक व कर्मचारियों को बाई हैंड भी कार्यालयों में दी गई है।

जागरण में बंपर छंटनी (24) : गोरखपुर में तीन पत्रकारों ने इस्‍तीफा दिया

दैनिक जागरण, गोरखपुर से खबर है कि छंटनी के क्रम में जिन चार लोगों का तबादला दूसरे यूनिटों के लिए किया गया था, उनमें से तीन लोगों ने इस्‍तीफा दे दिया है. इन लोगों के इस्‍तीफे से प्रबंधन की योजना सफल हो गई है. उल्‍लेखनीय है कि स्‍टेट हेड रामेश्‍वर पांडेय ने मेल भेजकर वरिष्‍ठ पत्रकार एवं सीनियर सब एडिटर योगेश लाल श्रीवास्‍तव तथा सीनियर सब एडिटर वीरेंद्र मिश्र 'दीपक' को जम्‍मू, सीनियर सब एडिटर धर्मेंद्र पाण्‍डेय का तबादला छत्‍तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में नईदुनिया के लिए तथा सब एडिटर मनोज त्रिपाठी का तबादला मुजफ्फरपुर के लिए कर दिया था.

पत्रकारिता में शौकिया तौर पर काम करने वाले ही तथ्‍यों को सामने लाएंगे : यशवंत

: महिलाओं को आगे आकर पत्रकारिता को धारदार बनाना चाहिए – कोश्‍यारी : हल्द्वानी। पूर्व मुख्यमंत्री एवं राज्य सदस्य भगत सिंह कोश्यारी ने कहा कि बदलावों के बीच पत्रकारिता के मूल्य और आदर्शों को बचाए रखना एक चुनौती है। इसकी सबसे बड़ी जिम्मेदारी मीडिया कर्मियों की है। उन्होंने कहा कि पत्रकारिता समग्रता की ओर जानी चाहिए और इसके लिए महिलाओं को आगे आकर पत्रकारिता को धारदार बनाना होगा। श्री कोश्यारी बुधवार को हिन्दी पत्रकारिता दिवस के अवसर पर श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के तत्वाधान में आयोजित पत्रकारिता के बदलते आयाम विषयक विचार गोष्ठी को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि वैश्विक स्तर पर हिंदी की लोकप्रियता लगातार बढ़ रही है। उन्होंने पत्रकारों से बद्रीदत्त पाण्डे, हरगोविन्द पंत और मोहन जोशी विक्टर की परम्पराओं को आगे बढ़ाने का  आह्वान किया।

स्‍टार न्यूज आज से हो गया एबीपी न्‍यूज

नई दिल्ली : मीडिया कंटेंट एंड कम्युनिकेशंस प्राइवेट लिमिटेड (एमसीसीएस) के बैनल तले लांच हुआ स्‍टार न्‍यूज आज से एबीपी न्‍यूज हो गया. आनंद बाजार पत्रिका समूह के स्‍टार समूह से अलग होने की सारी प्रक्रिया आज पूरी हो गई. इसी तरह कंपनी के दो अन्‍य न्‍यूज चैनल स्टार आनंद, स्टार माझा का नाम भी एबीपी आनंद तथा एबीपी माझा हो गया. आंनद बाजार पत्रिका ग्रुप तथा स्टार इंडिया प्राइवेट के संयुक्त उद्यम एमसीसीएस ने अप्रैल में घोषणा की थी कि स्टार तथा एबीपी ने ब्रांड समझौते को आगे जारी नहीं रखने का फैसला किया है. इसी फैसले के तहत स्‍टार ने अपना ब्रांड नेम वापस ले लिया था.

राहुल तिवारी एवं सौरभ श्रीवास्‍तव ने समाचार प्‍लस ज्‍वाइन किया

आईबीएन7, मुंबई से खबर है कि राहुल तिवारी ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे रिपोर्टर की भूमिका निभा रहे थे. राहुल ने अपनी नई पारी लखनऊ में समाचार प्‍लस न्‍यूज चैनल के साथ शुरू की है. उन्‍हें यूपी का डिप्‍टी ब्‍यूरोचीफ बनाया गया है. राहुल ने करियर की शुरुआत 2006 में वाराणसी में दैनिक जागरण से की थी. इसके बाद वाराणसी में ही ये आईबीएन7 के साथ जुड़ गए. लगभग तीन साल पहले इनका तबादला मुंबई कर दिया गया था, तब से ये वहीं पर कार्यरत थे.

न्यूज पोर्टल संचालक मुकेश भारतीय को रांची पुलिस ने हाजत में किया बंद

मुकेश भारतीय राजनामा डाट काम के संचालक और संपादक हैं. रांची में रहते हैं. उन्होंने पायनियर अखबार के फर्जीवाड़े के खिलाफ अपनी साइट पर लिखा तो इससे खुन्नस खाए पायनियर, रांची के प्रकाशक पवन बजाज ने पुलिस पर दबाव बनाकर मुकेश भारतीय को सोते वक्त घर से उठवा लिया. मुकेश इस वक्त रांची के गोंडा थाने की हाजत में बंद हैं. उन पर पायनियर के प्रकाशक पवन बजाज ने लिखित आरोप लगाया है कि उन्होंने पंद्रह लाख रुपये मांगे थे.