कानपुर में सरकारी गुंडा बनी पुलिस, डाक्‍टरों के बाद मीडियाकर्मियों पर तोड़ी लाठियां

: कई प्रेस फोटोग्राफरों को आई गंभीर चोट : कई डाक्‍टर भी घायल : कानपुर में एक छोटी सी घटना ने विकराल रूप धर लिया. पहले सत्‍ता के मद में चूर सपा विधायक के लोगों ने जूनियर डाक्‍टरों से मारपीट किया. इसके बाद विधायक की सहयोगी बनकर पुलिस ने सारी हदें पार करते हुए जूनियर व सीनियर डाक्‍टरों के अलावा मीडियाकर्मियों पर भी जमकर हमला बोला. एक दर्जन से ज्‍यादा प्रेस फोटोग्राफरों को गंभीर चोटें आई हैं. एसएसपी के आदेश के बाद कानपुर की पुलिस सरकारी गुंडा बन गई और जो भी मिला उसको लाठियों से जमकर पीटा.

दलितों, पिछड़ों और आदिवासियों को फांसी पर लटकने में सौ फीसदी आरक्षण मिलता है

अब तक का ऐतिहासिक सत्य ये है कि इस देश में आजादी के बाद जितने लोगों को फंसी की सजा दी गई है उनमें कुछेक मामलों को हटा दें तो अधिकतर फांसी की सजा पाने वालों में दलित, पिछड़े, जनजाति और अल्पसंख्यक समाज के लोग ही शामिल रहे हैं। खासकर बिहार जैसे राज्य के जेलों में बंद फांसी की सजा पाने वाले लोगों की सूची को गौर से देखें तो कहा जा सकता है कि फांसी की सजा समाज के गरीब और दलितों के लिए ही मुकर्रर की दी गई है। लगता है इन वर्गों के लिए फांसी में 100 फीसदी का आरक्षण है। हम इस मसले पर विस्तार से चर्चा करेंगे लेकिन इससे पहले देश की राजनीति पर एक नजर।

दैनिक नवज्योति के मुख्य फोटोग्राफर राजीव संगर का निधन

जयपुर से खबर है कि दैनिक नवज्योति के मुख्य फोटोग्राफर राजीव संगर का गुरुवार रात साढे 10 बजे निधन हो गया. वे बीमार चल रहे थे. उनके निधन पर मीडियाकर्मियों ने उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थन की और परिवारजनों को दुख सहन करने की असीम शक्ति देने का अनुरोध ईश्वर से किया.

सहारा का संकट और मीडिया की नैतिकता… अखबार व चैनल क्यों कर रहे पूरे मामले को अंडरप्ले?

सुब्रत राय मीडिया की बोलती बंद करने का फंडा खूब जानते हैं. वे बड़े-बड़े अखबारों को बड़े-बड़े विज्ञापन देकर उनकी आर्थिक भलाई करते हैं तो बड़े-बड़े अखबार भी सुब्रत राय व सहारा के बड़े-बड़े मुद्दों-संकटों को छोटा-मोटा मान कर इसे अंडरप्ले करते रहते हैं. न्यूज चैनल वाले भी सहारा के खरबों के साम्राज्य के आगे सलामी बजाने की मुद्रा में रहते हैं क्योंकि सहारा के मैनेजर सबको बढिया ढंग से साधते रहने के लिए कुख्यात हैं.

मोदी नहीं हैं तुरूप का इक्का

भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने मुसलमानों से भाजपा से हुई जानी-अनजानी गलतियों के लिए सिर झुकाकर माफी मांगने की बात कहकर चुनावी बेला में माफी की राजनीति को आगे बढ़ाया है। पूर्व में सोनिया गांधी 84 के सिख विरोधी दंगों के लिए माफी मांग चुकी हैं, तो मुलायम सिंह यादव कल्याण सिंह को सपा में लाने की गलती के लिए मुसलमानों से क्षमा मांग चुके हैं।

साप्ताहिक ‘जागरुकता मेल’ से जुड़े इंदु शेखावत

सीनियर जर्नलिस्ट इंदु शेखावत ने अपनी नई पारी हिंदी साप्ताहिक 'जागरुकता मेल' के साथ शुरु की हैं। 16 पेज वाले इस कलर हिंदी साप्ताहिक का गत 25 फरवरी को विमोचन किया गया था। इंदु शेखावत इसके समाचार संपादक के रूप में संपादन का कार्यभार  संभालेंगे।

नौकरी से निकाले गए प्रभात खबर के फोटोग्राफर ने ट्रेन के आगे कूदकर जान दी

झारखंड के मोकामा से खबर है कि फोटोग्राफर राजीव ने आत्महत्या कर ली है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक जीआरपी ने ट्रेन से कटे एक शव को बरामद किया है. बाद में उसकी पहचान राजीव कुमार के रूप में हुई जो पांच रोज पहले तक फोटोग्राफर के रूप में प्रभात खबर, रांची में कार्यरत था.

हरिभूमि अखबार का भोपाल संस्करण जल्द, कई डिपार्टमेंट में भर्तियों के लिए विज्ञापन

हरिभूमि अखबार जल्द ही भोपाल संस्करण शुरू करने जा रहा है. इसके लिए समूह को मीडियाकर्मियों की जरूरत है. संपादकीय, कंप्यूटर, प्रोडक्शन और विज्ञापन विभाग में कई बंदों की जरूरत है. इसको लेकर हरिभूमि अखबार की तरफ से विज्ञापन प्रकाशित कराया गया है. इच्छुक लोग शीघ्र आवेदन करें. संपूर्ण विवरण नीचे दिए गए विज्ञापन में है…

पत्रकार के घर बिना वारंट घुसी पुलिस, महिलाओं से किया दुर्व्यवहार

रायपुर, 27 फरवरी 2014। वरिष्ठ पत्रकार रामकुमार परमार के अमलेश्वर स्थित आवास में गुरूवार की सुबह बगैर सर्च वारंट आजाद चौक पुलिस ने प्रवेश करते हुए  घर की तलाशी ली और महिलाओं से दुर्व्यवहार किया। पुलिस को किसी प्रकरण में श्री परमार के पुत्र की तलाशी थी लेकिन पुत्र के घर में नहीं होने की जानकारी देने के बाद भी जिस प्रकार का रवैया रायपुर जिले की पुलिस दल ने दुर्ग जिलें में कार्रवाई करने के नाम पर अपनाया, रायपुर प्रेस क्लब ने कड़ी निंदा की है। इस संबंध में गृहमंत्री को शिकायत पत्र सौंपते हुए उचित कार्रवाई की मांग की गई है।

मालिक जेल में लेकिन चैनल बिज़ी है ‘पैकेज’ के खेल में

नई दिल्ली, 27 फरवरी। चुनावी मौसम आते ही क्षेत्रीय खबरिया चैनल डील करने पर उतर आए हैं। नेताओं और पार्टियों से डील ये कि पैकेज फाइनल करो, तभी खबर दिखाई जाएगी। अगर बात बन गई तो ठीक यानि पार्टी या नेता ने पैकेज मान लिया तो खबर प्रसारित कर दी जाएगी अन्यथा खबर नहीं दिखेगी। हरियाणा के एक क्षेत्रीय चैनल की तो 'हकीकत' आज सामने आ गई। इस चैनल ने पैकेज की डीलिंग के लिए दो नेताओं से संपर्क किया और जब बात नहीं बनी तो कवरेज के लिए भी टीम नहीं भेजी और खबर भी नहीं दिखाई।

इलना का दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष कुमार विजय फ्रॉड के केस में गिरफ्तार

दिल्ली प्रेस के मुखिया परेश नाथ द्वारा संचालित इलना(इंडियन लैंग्वेज न्यूजपेपर्स एसोसिएशन) के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष कुमार विजय उर्फ विजय कुमार गुप्ता को पुलिस ने एक प्लॉट पर अवैध कब्जे और बिल्डर से अवैध धन उगाही के आरोप में गिरफ्तार किया है। आउटर दिल्ली की पुलिस को इस शातिर की काफी समय से तलाश थी। कुमार विजय उर्फ विजय कुमार गुप्ता सेटेलाइट रिर्पोटर नाम से एक लोकल पेपर संचालित करता है। इस शातिर ने अपना अखबार भी जाली पते के नाम से पंजीकृत कराया है। अखबार में पता यूपी के भोपुरा का अंकित है, जबकि वह दिल्ली के रोहिणी सेक्टर-24 में रहता है। एसएचओ राजेश कुमार ने प्रेसवार्ता में संवाददाताओं को बताया की यह आदमी खुद को वरिष्ठ पत्रकार बताकर इलाके के लोगों को धमकाता था। इसने दो शादियां की हैं, एक पत्नी गाजियाबाद में रहती है। लेकिन दोनों पत्नियों को यह बात पता नहीं थी।

दैनिक जागरण की असंवेदनशील पत्रकारिता, मूक जानवरों को आतंक का पर्याय बताया…

Payal Chakravarty : दैनिक जागरण के संवाददाताओं की अल्प जानकारी की दाद देनी पड़ेगी… बिना किसी कानूनी जानकारी के खबरें छापना तो कोई इनसे सीखे… यही नहीं, छोटी सी बात को बड़ी करके गंभीर समस्या के तौर पर दर्शाना महज पाठकों को गुमराह करने जैसा है..

सहारा क्यू शॉप और सहारा क्रेडिट सोसाइटी के जरिए किए जा रहे पूंजी निवेश की जांच हो

आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर और सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर ने सहारा इंडिया द्वारा सहारा क्यू शॉप तथा सहारा क्रेडिट सोसाइटी के माध्यम से किये जा रहे पूँजी निवेश की जांच की मांग की है. भारतीय प्रतिभूति और विनियम बोर्ड (सेबी) तथा कोरपोरेट मालों के मंत्रालय को भेजी अपनी शिकायत में उन्होंने कहा है कि सहारा इंडिया द्वारा सहारा क्यू शॉप के साथ सहारा क्रेडिट कोआपरेटिव सोसाइटी नामक संस्था के जरिये नियमविरुद्ध तरीके से पूँजी निवेश कराये जाने की गंभीर शिकायतें बतायी जा रही हैं, जिसके तहत सहारा ई शाइन, सहारा ए सेलेक्ट, सहारा माइनर, सहारा एम बेनिफिट जैसे अनेक स्कीम बाजार में हैं.

रवींद्र शाह स्मृति व्याख्यान में बोले वक्ता- वर्तमान पत्रकारिता पर कार्पोरेट कल्चर पूरी तरह हावी है (देखें तस्वीरें)

: पत्रकार रवींद्र शाह को याद किया गया : इंदौर। पत्रकारिता का आवरण और कलेवर बदल गया है। वर्तमान में पत्रकारिता पर कॉर्पोरेट कल्चर पूरी तरह हावी है। मीडिया अब टर्नओवर वाली कंपनी बन गया है। समाज से जुड़े सरोकार अब पत्रकारिता में दिखाई नहीं देते हैं। न्यू मीडिया के लिए भारत अब सिर्फ एक बाजार है। मीडिया में आए इन्हीं परिवर्तनों से सोशल साइट्‍स के रूप में नए मीडिया का उदय हुआ है।

सुब्रत रॉय गिरफ्तार, सीजेएम कोर्ट में होंगे पेश

दो दिन कि लुका-छुपी के बाद आज सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय को लखनऊ में गिरफ्तार कर लिया गया है। खबर है कि सुब्रत रॉय ने आज सुबह सहारा शहर में पुलिस को बुलाकर आत्मसमर्पण किया। लखनऊ के ट्रांस-गोमती क्षेत्र के पुलिस अधीक्षक ने बताया कि राय को गिरफ्तार कर लिया गया है और उन्हें आज ही सीजेएम कोर्ट में पेश किया जाएगा।

मैं फरार नही हूं, सहारा से निकाले गए पत्रकार कर रहे बदनामः सुब्रत रॉय

सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय ने आज सुबह मीडिया और जजों के नाम एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है के वो फरार नहीं हैं। कल जब पुलिस उन्हें ढूंढ रही थी तो वे अपनी मां के इलाज के सिलसिले में और एक वकील से मिलने लखनऊ के बाहर गए हुए थे। उन्हें परिवार द्वारा पता चला के पुलिस उनके घर आयी थी और उसके बाद से पूरे देश का मीडिया उनके पीछे पड़ा हुआ है।

गैर-जमानती वारंट रद्द कराने सुप्रीम कोर्ट पहुंचे सुब्रत रॉय

नई दिल्ली: सहारा समूह के मुखिया सुब्रत रॉय के खिलाफ जारी गैर-जमानती वारंट की तामील करवाने के लिए पुलिस लखनऊ में उनके घर पहुंची। बुधवार को ही सुप्रीम कोर्ट ने सुब्रत रॉय के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किया था।

आईपीएस के नियम विरुद्ध ट्रांसफर मामले में कैट ने सरकार से मांगा जवाब

केन्द्रीय प्रशासनिक अधिकरण(कैट) की लखनऊ बेंच ने आज आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर द्वारा आईजी अभियोजन से आईजी नागरिक सुरक्षा के पद पर हुए ट्रांसफर के विरुद्ध दायर याचिका में केंद्र और राज्य सरकार से जवाब माँगा और अंतरिम प्रार्थना के विषय में अपना आदेश सुरक्षित कर लिया। बहस के दौरान केंद्रीय और राज्य सरकार के …

आरटीआई में हुआ खुलासा, राजनैतिक दलों को लगभग मुफ्त में मिले सरकारी आवास

राज्य संपत्ति विभाग, उत्तर प्रदेश द्वारा आरटीआई कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर को प्रेषित सूचना से साफ़ जाहिर होता है कि राज्य सरकार ने राजनैतिक दलों को लगभग मुफ्त में सरकारी आवास आवंटित किये हैं। प्राप्त सूचना के अनुसार 7, माल एवेन्यू स्थित कांग्रेस कार्यालय को जल कर सहित प्रति माह मात्र 2428 रुपये का किराया देना पड़ता है। 19ए, विक्रमादित्य मार्ग स्थित समाजवादी पार्टी दफ्तर का किराया 2425 प्रति माह है जबकि 6ए, लाल बहादुर शास्त्री मार्ग स्थित समाजवादी युवजन सभा कार्यालय का मासिक किराया 2525 है।

बीमार मां को अपनी ढाल बना रहे ‘बे’सहाराश्री

भारत में हर धनवान ये समझता है कि वह यहाँ के नियम-कानूनों से ऊपर है। कुछ दिन पहले तक आसाराम को भी ऐसा गुमान था, सो कानून ने उन्हें उनकी हैसियत दिखा दी। इन दिनों ऐसा ही गुमान सहारा श्री को लग रहा है, सो न सिर्फ कानून उनको उनकी सही जगह दिखाने की तैयारी है बल्कि उनकी सारी 'श्री' भी खतरे में है लेकिन फिर भी ये श्री मान नहीं रहे है। फर्क इतना है कि अब उनकी आवाज में शेर की दहाड़ नहीं बकरी का मिमियाना है। आज के सारे अखबारों में पूरे पेज के विज्ञापन के जरिये उन्होंने स्वयं को निर्दोष साबित करने की कोशिश करते हुए जनता बल्कि अपने निवेशकों के सामने मासूमियत दिखाई है और सारा दोष फिर से सेबी पर डाला है। विज्ञापन के अंत में कहा गया है जनहित में जारी।

सूचना मांगना पत्रकार को पड़ा महंगा, पुलिस ने झूठे मुकदमें में फांसा

उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले में आरटीआई के तहत सूचना मांगना तथा मानवाधिकार आयोग में पुलिस उत्पीड़न की शिकायत दर्ज कराना एक पत्रकार को इतना महंगा पडा कि पुलिस ने उसे झूठे मुकदमें में फंसाकर उसका उत्पीड़न शुंरू कर दिया। यूपी पुलिस इसके पहले भी पोल खोले जाने से नाराज होकर या बड़े लोगों के दबाव में फर्जी फंसाती रही है। बिजनौर पुलिस के उत्‍पीड़न का विरोध करते हुए पत्रकारों ने दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

घर पर नहीं मिले सुब्रत राय, बैरंग लौटी गोमतीनगर पुलिस

: कोर्ट की अवमानना पर जारी हुआ था एनबीडब्ल्यू : लखनऊ। सुप्रीम कोर्ट के आदेश की अवहेलना के दोषी सहारा इंडिया के प्रमुख सुब्रत राय के खिलाफ जारी नान बेलेबल वारंट (एनबीडब्ल्यू) को तालीम कराने के लिए गुरुवार को लखनऊ की गोमतीनगर पुलिस उनके आवास पर पहुंची, लेकिन सुब्रत राय घर पर नहीं मिले।

बसपा प्रत्‍याशी ने चंदौली के पत्रकारों को बांटी नगदी!

हिंदुस्‍तान के प्रधान संपादक शशि शेखर 26 फरवरी की सुबह लोगों को 'वोट की चोट का अर्थ' समझा रहे थे. अपने 'आओ राजनीति करो अभियान' की सफलता का गुणगान कर रहे थे. इसी दिन एक जगह उनके अखबार के एक ब्‍यूरोचीफ के बिकने की तैयारी चल रही थी. पेड न्‍यूज पर मातम करके पेड न्‍यूज छापना हिंदुस्‍तान की पुरानी नीति रही है. पिछली बार भी विधानसभा चुनाव के दौरान हिंदुस्‍तान, बनारस में माफिया डॉन ब्रजेश सिंह का पेड न्‍यूज छापने पर कई लोगों की बत्‍ती गुल हुई थी. इसके बाद भी हिंदुस्‍तानियों ने स‍बक नहीं लिया. हालांकि इस बार हिंदुस्‍तान समेत कई अखबारों के ब्‍यूरो चीफ और पत्रकार पैसा पाकर संबंधित प्रत्‍याशी के पक्ष में माहौल बनाने को तैयार हुए हैं.

पटना ब्यूरो ऑफिस खाली करके भागे पीके तिवारी, स्ट्रिंगरों का पैसा बकाया

करीब एक महीने पहले राँची के महुआ न्यूज़ के ब्यूरो ऑफिस से सारा सेट-अप पटना लाया गया था। हालांकि वहाँ के स्ट्रिंगरों ने काफी विरोध किया था। पर पी.के तिवारी के चमचे झारखण्ड के स्ट्रिंगरों को आश्वासन की पोटली थमाकर सेट-अप लाने में कामयाब हो गये। ये बात बिजली कि रफ़्तार से बिहार भी पहुँच गयी और पटना और उसके आस-पास के इलाके के दर्जनभर स्ट्रिंगर महुआ न्यूज़ के पटना ब्यूरो ऑफिस पहुँच गये, साथ ही बिहार के कई जिलों के स्ट्रिंगर अपने हक़ के लिए पटना के लिए कूच कर गये। मौके कि नज़ाकत को देखते हुए तिवारी के लोगों ने तत्काल पटना ब्यूरो ऑफिस को खाली करने का काम रोक दिया और यहाँ के स्ट्रिंगरों से उनके बकाया मानदेय के भुगतान के लिए एक सप्ताह का समय लिया गया।

लेखक-पत्रकार अनिल सिन्हा जैसे व्यक्तित्व का मिलना कठिन है

लखनऊ, 25 फरवरी। आज का दौर प्रचार का दौर हैं। हालात ऐसी है कि दो चार रचनाएँ क्या छपीं, लेखक महान बनने की महत्वाकांक्षा पालने लगते हैं। अनिल सिन्हा इस तरह की महत्वकांक्षाओं से दूर, काम में विश्वास रखने वाले रचनाकार रहे, साहित्य की राजनीति से दूर। इसीलिए उपेक्षित भी रहे। अनिल सिन्हा अत्यन्त सक्रिय रचनाकार थे। इनके जीवन में कोई दोहरापन नहीं था। जो अन्दर था, वही बाहर। आज के दौर में ऐसे रचनाकार का मिलना कठिन है।

मोदी की जय जय करने वाली अमेरिकन सर्वे एजेंसी प्‍यू रिसर्च सेंटर भी बेनकाब

नमस्‍ते। आज सुबह-सुबह वॉशिंगटन स्थित प्‍यू रिसर्च सेंटर नाम की एक सर्वे एजेंसी की खबर सब जगह प्रकाशित हुई है जिसमें नरेंद्र मोदी को 78 फीसदी भारतीयों द्वारा प्रधानमंत्री की पसंद बताया गया है। यह सर्वे करने वाली एजेंसी का इतिहास बहुत संगीन है। मैंने विस्‍तार से इस सर्वे के पीछे की राजनीति पर कुछ तथ्‍यात्‍मक बातें रखी हैं और आप सब को भेज रहा हूं। फाइल अटैच है।

‘जी न्यूज’ को सदा के लिए पछाड़ दिया ‘इंडिया न्यूज’ ने!

आठवें हफ्ते की टीआरपी से एक बात तो पक्की हो गई है कि इंडिया न्यूज ने जी न्यूज वाला नंबर चार का स्थान परमानेंट रूप से कब्जा लिया है. इस हफ्ते नंबर वन पर मौजूद आजतक की टीआरपी में जोरदार गिरावट आई है. 2.7 अंक गिरकर आजतक 19.1 पर आ गया है. फिर भी यह नंबर दो पर मौजूद एबीपी न्यूज से बहुत आगे है.

हिन्दुस्तान तकसीम हुआ पाकिस्तान बना, लेकिन कुछ पुरानी किताबों में रेखाएं एक हैं

किताबें यूं तो बोल नहीं सकती लेकिन शब्द बोलते हैं… इसलिए वो भी। यह आदत भी ठीक नहीं थी कि किसी पेज का पता याद रखना होता, तो कभी बीच से, कभी हाशिए पर उसे मोडं दिया करता था। शायद बहुत से पाठक ऐसा ही करते हों। याद है कि बीती बार कुछ ऐसा करके, कई दिनों तक भूल गया था। किताब अभी और पढ़ी जानी है…एक कहानी उसी मोड़ पर खड़ी रही जहां छोड़ आया था। समझ नहीं पाया शायद, लेकिन अपनी भी एक अधूरी कहानी छोड़ आया था। आज जब लौट रहा हूं तो अजनबी सा महसूस हो रहा है। कहानी तो इंतजार में थी… अब उसे आगे पढ़ा जाना है। उस पेज को अनफोल्ड किया…ताज्जुब होता है उन हर्फों पर, कितने सब्र से बैठे रहे। वहीं मिले जहां उन्हें होना था। पेज से किताब का एक खूबसूरत रिश्ता होता है। जनम-जनम के साथ की तरह। आप यह भी देखें कि पेज से शब्द व वाक्यों का भी एक नाता तो है। दो सामानांतर को एक दूसरे के लिए इस तरह जीते कम देखा था। चूंकि अब फिर से पढ़ने लगा था…एक तीसरी चीज भी साथ हो गयी थी। जमाने से शिकायत नहीं कि उसने पेज को नंबर से याद रखा, लेकिन जिस तरह का नाता हमारा कायम हुआ वो आदमियों सा था। दोस्त का दोस्त से, सरीखा रिश्ता।

दस सुझाव………और बदल जायेगी आम आदमी की दशा।

बहुत जल्दी होने जा रहे लोक सभा के चुनाव इस बार काफी महत्वपूर्ण हो गए हैं। भजपा और कांग्रेस के लिए जीवन और मरण का प्रश्न है। तमाम तरह के आरोपों और बातों के बीच अभी तक ख़ास मुद्दे उभरकर नहीं  आये हैं। मोदी-मोदी और राहुल-राहुल से देश का भला नहीं होगा। अब सीधे-सीधे मुद्दे पर आना ही होगा, और यदि किसी दल के लिए देश और प्रदेश फतह करना जरुरी है तो प्रदेश के लिए भी कुछ करना जरुरी है, यह किसी को समझाने की जरुरत नहीं है। देश के आम आदमी को खैरात नहीं उसका अधिकार चाहिए।

तीन चौथाई अभ्यर्थी नहीं दे पाए लखनऊ दूरदर्शन की लिखित परीक्षा

पिछले दिनों लखनऊ दूरदर्शन ने अपनी समाचार सेवा के विभिन्न पदों हेतु आवेदन आमंत्रित किए थे। ये स्थायी पद नहीं थे, संविदा के थे और पहले भी इस प्रकार की भरती हुई हैं, लेकिन पत्रकारिता में जिस प्रकार की अनिश्चय की स्थिति है, बहुत सारे संस्थान के युवा पत्रकार साथियों ने इस पद हेतु आवेदन किया था। संस्थान सरकारी है तो वेतन भी बुरा नहीं था, इसका भी आकर्षण था लेकिन ऐसे साथियों के पैरों तले जमीन तब खिसक गई जब उन्हें पता चला कि लिखित परीक्षा हो गई है और अब साक्षात्कार होने हैं। वास्तव में बड़ी संख्या में आवेदकों को यह जानकारी ही नहीं मिल सकी कि लिखित परीक्षा कब होनी है। ऐसे में नाराज इन साथियों को किसी षड़यंत्र की बू आ रही है।

बयान के लिए माफी मांगें शिंदे, महाराष्ट्र के पत्रकारों ने जताया विरोध

सुशील कुमार शिंदे ने रविवार को सोलापुर में युवक कांग्रेस की एक जनसभा को संबोधित करते हुए इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को कुचल डालने की बात कही थी। इसका समूचे महाराष्ट्र मे जोरशोर से विरोध हो रहा है। महाराष्ट्र के सोलह पत्रकार संगठनों का प्रतिनिधित्व कर रही संस्था 'पत्रकार हमला विरोधी कृती समिती' के अध्यक्ष एसएम देशमुख ने कल रात जारी एक प्रेस विज्ञप्ती में सुशील कुमार शिंदे के बयान का विरोध करते हुऐ उन्हें पत्रकारों से माफी मांगने के लिए कहा। देशमुख ने कहा कि सुशील कुमार शिंदे देश के गृहमंत्री हैं और उन्हे बोलते समय अपनी पद की गरिमा का ध्यान रखना चाहिए।

न्यूज एक्सप्रेस के जोरदार स्टिंग पर बाकी मीडिया चुप्पी क्यों साध गया?

Surendra Grover : जिस तरह ‪‎न्यूज़ एक्सप्रेस‬ पर ‎ऑपरेशन प्राइम मिनिस्टर‬ के ज़रिये Vinod Kapri ने ‎सी-वोटर‬ को नग्न किया है, इसके लिए न्यूज़ एक्सप्रेस की टीम बधाई की पात्र है.. मगर एक बात समझ नहीं आ रही कि ‎मीडिया‬ इस पर पर चुप्पी क्यों साध गया..

न्यूज एक्सप्रेस का स्टिंग और ‘एडिटर ऐट लार्ज’ का जिक्र

पंकज कुमार झा : एक जगह ज़रा पक्षपाती दिखे Vinod Kapri जी. इस स्टिंग में सी-वोटर के यशवंत देशमुख के मुंह से दो संपादकों का नाम निकला. इसे बीप कर दिया गया. बाद में सफाई दी गयी कि चूंकि उन संपादकों से बात नहीं की गयी है अतः उनका नाम बीप किया गया है. ज़ाहिर है जितने लोगों का नाम इस स्टिंग में आया है, उन सबसे बात नहीं की गयी होगी. हालांकि आप चाहें तो कुछ कड़ियां जोड़ सकते हैं.

सूचना विभाग के नौ अधिकारी उपनिदेशक तथा सहायक निदेशक पदों पर प्रोन्नत

लखनऊ : उत्तर प्रदेश सरकार ने सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग के नौ अधिकारियों को प्रोन्नति प्रदान की है। प्रोन्नत अधिकारियों में श्री सर्वेंश कुमार दुबे (सहायक निदेशक), प्रेम लाल (सहायक निदेशक) तथा सुरेश चन्द्र (सम्पादक) को उप निदेशक के पद पर प्रोन्नति दी गयी है। इसी तरह चार सूचना अधिकारियों को सहायक निदेशक के पद पर प्रोन्नत किया गया है, जिनमें श्री अवधेश कुमार, डा0 मधु ताम्बे, श्री सुधीर कुमार तथा श्री प्रमोद कुमार शामिल हैं।

बिहार में दैनिक भास्कर के राजनीतिक संपादक को विधानसभा के सचिव ने बतायी औकात

लोकतांत्रिक प्रक्रिया के तहत पत्रकारों का काम केवल सूचना ग्रहण करना और उन्हें जन सामान्य के बीच सुलभ कराना होता है। परंतु कुछ पत्रकार अपवाद सरीखे होते हैं। ऐसे ही एक पत्रकार अरूण पांडे हैं जो पटना में दैनिक भास्कर के राजनीतिक संपादक हैं। उन्होंने पत्रकारिता को किनारे रख विधायी प्रक्रिया में प्रत्यक्ष हस्तक्षेप कर रहे थे। लेकिन बिहार विधानसभा के सचिव ने उन्हें उनकी औकात बताते हुए कहा कि पांडे जी आज तो प्रेस से हैं न आप मत बोलिए।

दीपक चौरसिया ने रवीन्द्र शाह की स्मृति में शुरू कराया पुरस्कार, इंदौर में आयोजन आज

वरिष्ठ पत्रकार दीपक चौरसिया ने स्व. रवींद्र शाह की स्मृति को जिंदा रखने के लिए उनके नाम पर एक पुरस्कार शुरू करा दिया है. 'स्व. रवींद्र शाह स्मृति पत्रकारिता प्रतिभा प्रोत्साहन पुरस्कार' हर वर्ष इंदौर विश्वविद्यालय के पत्रकारिता विभाग के टापर छात्र या छात्रा को दिया जाएगा. इसके तहत दस हजार रुपये नगद और प्रमाण पत्र दिया जाएगा. पुरस्कार इसी वर्ष से प्रारंभ कर दिया गया है और आज इंदौर में रवींद्र शाह की स्मृति में आयोजित कार्यक्रम में पुरस्कार दिया जाएगा.

(स्मृति-शेष : रवींद्र शाह) कुदरत को ही मंजूर नहीं था कि यह शख्स चैन से बैठे!

उत्तर प्रदेश के चुनावी कवरेज में उस दिन मैं मैनपुरी में था। शिवरात्रि  का दिन था। व्रत रखा था। मुलायमसिंह यादव के गांव सैफई से लौटते हुए ड्राइवर से मैंने कहा कि किसी शिव मंदिर ले चले। प्राचीन भीमसेन मंदिर में गया। लौटकर गाड़ी में बैठा ही था कि इंदौर से एक मित्र का फोन आया। शाम करीब साढ़े पांच का वक्त था। सूचना दी कि रवींद्र शाह का एक्सीडेंट हो गया है। जरा पता करो मामला क्या है? मैंने दिल्ली में धीरेंद्र पुंडीर को फोन लगाया। बिजी मिला। दूसरा नंबर डायल करता इसके पहले ही दो एसएमएस आ गए। इससे बुरी खबर कोई हो नहीं सकती थी कि रवींद्र शाह इंदौर से भोपाल के बीच एक सड़क हादसे में दुर्घटना स्थल पर ही मौत की नींद सो गए।

न्यूज का पहला ज्ञान और रिपोर्टिंग का ‘र’ मैंने शाह सर से ही सीखा

रवीन्द्र शाह सर…आज हमारे बीच भले ही न हों पर उनकी यादें आज भी हमारे दिल में तरो-ताजा हैं। दरअसल, मैं शाह सर के प्रिय शिष्यों में से एक था। वो जब भी कोई काम या महत्वपूर्ण फैसला लेना होता उसमें मुझे भी शामिल किया करते थे। शाह सर मीडिया में ऐसे व्यक्ति थे जो हमेशा दूसरों की मदद करते थे। मुझे वो पल भी याद हैं जब वो एसवन न्यूज चैनल से आजाद चैनल चले गये, फरि भी हमारे जैसे कई लोगों को उन्होंने अपने स्तर से मदद की। मैं उस दौरान आर्थिक संकट के जूझ रहा था। इस संकट से निपटने का मार्ग उन्होंने दिखाया।

वर्तिका नन्दा की नजर से रवीन्द्र शाह

कभी भी अचानक रवीन्द्रजी का फोन आ जाया करता था और पहला सवाल हाल पूछने का नहीं बल्कि यह होता था कि क्या कर रही हो। मेरा जवाब भी हमेशा एक ही होता था – काम।। बस, काम ही प्रमुख सूत्र था बात का भी और शायद यह बड़ी वजह रही कि मैं उनके बारे में वो तमाम बुनियादी बातें भी नहीं जानती थी जो दो परिचित लोग जान सकते हैं। हरसूद 30 जून पर जनसत्ता में कुछ साल पहले मैनें एक लेखा लिखा। तब मैं न तो विजय मनोहर तिवारी को जानती थी और न ही रवींद्र शाह को। मुझे किताब कहीं मिली, मैनें उसे पढ़ा और बस उस पर लिख दिया। बाद में शायद हिंद भवन में उसका लोकार्पण हुआ तो मैनें पहली बार उन्हें देखा पर फिर शायद एक-दो साल कोई मुलाकात नहीं हुई पर हां, हवा में यह जरूर पता चलता रहा कि इस भागती दिल्ली में कोई रवींद्र शाह भी है जिसमें काम का जज्बा है।

रवीन्द्र शाह की स्मृति : शाह सर के साथ अपनों का पराये जैसा सलूक उनकी मौत के बाद भी जारी है…

रामचरित मानस के अयोध्या काण्ड में ऋषि वशिष्ठ और भरत संवाद के माध्यम से तुलसी दास ने कहा है, ‘हानि-लाभ, जीवन मरण यश-अपयश विधि हाथ।’ जिस सन्दर्भ में यह चौपाई लिखी गई है वह शाह सर के जीवन पर भी शब्दशः ठीक उतरती है। कम उम्र में ही 'फ्री प्रेस' का संपादक बन जाना उनके लिए यश का नहीं, अपयश का कारक बन गया। लाभ की स्थिति में रह कर भी हमेशा हानि उनके हिस्से में रही। अखबार हो या कोई न्यूज चैनल वो नियमित काम के साथ-साथ, बहुत कुछ फ्रीलांस भी करते थे। उस फ्रीलांस से जो आमदनी होती उसको वो जरूरतमंद मित्रों और परिचितों की मदद करते रहते। जो वापस कर देता तो ठीक, नहीं करता तो ठीक।

चुनाव सर्वेक्षण की हेरा-फेरी और पाबंदी के तर्क

ओपिनियन पोल करने वाली कपंनियां पहली बार इस तरह कठघरे में खड़ी हुई हैं। मीडिया और संपूर्ण पत्रकारिता की निंदा में लगे लोगों को यह ध्यान रखना होगा कि जो सच आपने देखा, उसे भी एक टीवी चैनल के पत्रकारों की टीम ने ही उजागर किया। चुनाव सर्वेक्षण और उसका गोरखधंधा जिस तरह से हमारे लोकतंत्र और मीडिया का एक सच है, उसी तरह उसका भंडाफोड़ करने वाला स्टिंग ऑपरेशन भी एक सच है।

कंवल भारती को प्रमोद रंजन का उत्‍तर : मोतियाबिंद का इलाज करवाएं कंवल भारती

Pramod Ranjan : कंवल भारती जी ने गत 25 फरवरी, 2014 को अपने फेसबुक वॉल पर मेरे बारे में एक बेहूदा टिप्‍पणी की है। बाद में यह टिप्‍पणी भडास फॉर मीडिया पर भी दिखी। कंवल भारती ने लिखा कि ''प्रमोद रंजन जैसे भाजपा समर्थक पत्रकार को प्रेमकुमार मणि जैसे लेखक से कोई शिकायत नहीं है, जो बिहार में नितीश कुमार का दामन पकड़कर एमएलसी बनते हैं, सत्ता का उपभोग करते हैं और अब नितीश कुमार को छोड़ कर लालू यादव का दामन थामे हुए हैं. वे उन्हें प्रखर चिंतक कहते हैं. लेकिन कांग्रेस से जुड़े कँवल भारती उनकी आँखों में इसलिए चुभते हैं, क्योंकि मैंने फारवर्ड प्रेस का बहिष्कार कर दिया है. वे उदित राज से मेरी तुलना करने लगे हैं. वह यही नहीं जानते कि उदित राज और कँवल भारती में क्या अंतर है? उन्हें मालूम होना चाहिए की मैं न राजनेता हूँ, न कोई संगठन चलाता हूँ, और न मेरी कोई खवाइश MP, MLA बनने की है, जैसी कि उदित राज और प्रेमकुमार मणि की है. कांग्रेस से जुड़ने के बाद भी राहुल गाँधी की आलोचना करने की जो हिम्मत मैंने दिखायी है, वह हिम्मत क्या प्रेमकुमार मणि लालू की और उदित राज मोदी की आलोचना करके दिखा सकते हैं? कभी नहीं दिखा सकते, क्योंकि वे राजनीतिक स्वार्थों के व्यक्ति हैं. ऐसे लोग, जो मेरे बारे में कुछ नहीं जानते, मेरी आलोचना करके सिर्फ मुंह की ही खा सकते हैं. मैं कांग्रेसी परिवार से हूँ, मेरे पिता भी कांग्रेसी थे. मेरा परिवार तब से कांग्रेसी है, जब उसका चुनाव निशान ‘दो बैलों की जोड़ी’ हुआ करता था. मैं कांग्रेस से जुड़कर भी कभी अँधा कांग्रेसी नहीं बन सकूँगा. मेरा मुकाबला न उदित राज कर सकते हैं और न प्रेमकुमार मणि. मेरी ज़मीन लोकतंत्र और सामाजिक परिवर्तनवादी आंदोलनों की है, जो मेरे लेखन में पूरी निर्भीकता से हमेशा रहेगी.''

पत्रकारिता विश्वविद्यालय में सांध्‍यकालीन पाठयक्रमों में प्रवेश 5 मार्च 2014 तक

भोपाल । माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्‍वविद्यालय द्वारा संचालित सांध्यकालीन पाठ्यक्रमों में प्रवेश 5 मार्च 2014 त्तक दिए जाएंगे। विश्वविद्यालय ने शैक्षणिक सत्र 2014 में वैब संचार, वीडियो प्रोडक्‍शन, पर्यावरण संचार, भारतीय संचार परम्पराएँ, योगिक स्वास्थ्य प्रबंधन एवं आध्यात्मिक संचार, फिल्म पत्रकारिता एवं डिजिटल फोटोग्राफी जैसे विषयों में सांध्यकालीन पी.जी. डिप्लोमा पाठ्यक्रम प्रारम्भ किये गये हैं। पाठ्यक्रम विभिन्न विश्वविद्यालयों में अध्ययनरत विद्यार्थियों के साथ-साथ नौकरीपेशा व्यक्तियों, सेवानिवृत्त लोगों, सैन्य अधिकारियों तथा गृहिणियों के लिए भी उपलब्ध होंगे।

स्ट्रिंगरों को पैसा नहीं दे रहे ‘आई विटनेस न्यूज’ वाले

प्रिय यशवंत जी सादर प्रणाम,  मेरा नाम सरूप सिंह है और मैं फरीदाबाद में रहता हूँ। मेरी आपसे करबद्ध प्रार्थना है कि हम भड़ास 4 मीडिया के पाठकों को ये जानकारी देने कि कृपया करें कि जो लोग दुकानों के रूप में न्यूज़ चैनल खोल कर बैठे है और आने वाले चुनावों को लेकर अपने जाल में अंशकालिक रिपोर्टर्स (स्ट्रिंगर्स) से काम लेकर उनको पैसा नहीं देते और फ्रैंचाइज़ी के नाम पर अपनी दुकानदारी चल रहे हैं, उन पर नकेल कैसे कसी जा सकती है.

नीरा राडिया की कंपनी के खिलाफ मुकदमे की हरी झंडी

गंभीर धोखाधड़ी जांच कार्यालय (एसएफआइओ) ने कॉरपोरेट लॉबिस्ट नीरा राडिया की वैष्णवी समूह की कंपनियों के खिलाफ कंपनी कानून के उल्लंघन के सिलसिले में मुकदमा चलाने की तैयारी शुरू कर दी है. कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय ने इसकी हरी झंडी दे दी है. इस समूह ने रविवार को कॉरपोरेट मामलों के मंत्री सचिन पायलट से हस्तक्षेप की मांग की. साथ ही पायलट से आग्रह किया है कि जांच एजेंसी पूरी जांच प्रक्रिया का पालन कर रही है या नहीं इसकी जांच करने का आदेश दें.

पत्रकार हरीश चंद्र बर्णवाल की चौथी किताब ‘मोदी मंत्र’ का विमोचन 28 फरवरी को

वरिष्ठ टीवी पत्रकार हरीश चंद्र बर्णवाल की चौथी किताब "मोदी मंत्र" का विमोचन 28 फरवरी को दोपहर 3 बजे होगा। विमोचन समारोह दिल्ली के मशहूर जगह कॉन्स्टीट्यूशन क्लब में होगा। हरीश की किताब मोदी मंत्र मुख्यतया नरेंद्र मोदी के विकाम मॉडल पर आधारित है। वैसे तो इन दिनों नरेंद्र मोदी पर किताबों की बाढ़ सी आई हुई है, लेकिन इस किताब की खासियत ये है कि इसकी प्रस्तावना खुद नरेंद्र मोदी ने लिखी है।

ओपिनियन पोल का पोल-खोल कार्यक्रम

यह करीब पंद्रह दिन पहले की बात है। दिल्ली से लगभग सत्तर किलोमीटर दूर नोएडा से सटे बुलंदशहर जिले में एक सर्वे एजेंसी इडिया टीवी के लिए चुनावी सर्वे कर रही थी। पूछने पर उन्होंने यही बताया था। सर्वे करने वाले नाटे कद के दो लोग थे, यदि उन्हें बच्चा कहा जाए तो ज्यादा ठीक रहेगा। उन दोनों की उम्र 17 से 19 साल के बीच की रही होगी। वह दोनों चौराहे के किनारे स्थित चाय की दुकान पर बैठकर चाय की चुस्कियों का मजा ले रहे पत्रकारों से सवाल पूछकर अपने फार्मों को तेजी से भर रहे थे, उनमें अधिकांश स्थानीय पत्रकार अपने परिचित थे।

असित नाथ तिवारी ने जी न्यूज और पुनीत कुमार चौधरी ने सुदर्शन न्यूज छोड़ा

ज़ी न्यूज़ को एक और झटका लगा है. असित नाथ तिवारी ने ज़ी न्यूज़ से नाता तोड़ लिया है. वो यहां एसोसिएट प्रोड्यूसर पद पर थे. असित अभी कहां गए हैं, ये नहीं पता चल पाया है. असित इससे पहले प्रकाश झा के मौर्य टीवी में एंकर्स इंचार्ज हुआ करते थे. असित ने महुआ और सहारा में भी काम किया है. 

‘4रियल न्यूज’ की एंकर शशि तुषार शर्मा को एवार्ड

चैनल '4रियल न्यूज' की प्राइम टाइम एंकर शशि तुषार शर्मा को साल 2014 का बेस्ट फीमेल एंकर अवार्ड से नवाजा गया… फिक्की ऑडिटोरिय में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान मीडिया फेडरेशन ऑफ इंडिया ने शशि को 8वें मीडिया एक्सिलेंस अवार्ड से सम्मानित किया…. शशि तुषार शर्मा ने इस कामयाबी के पीछे अपनी मेहनत और लगन के साथ साथ अपने परिवार का हाथ बताया…

प्रेस को वेश्या कहना!

‘ए डीटर्स गिल्ड’  ने जनरल वी.के. सिंह और अरविंद केजरीवाल की आलोचना की है। गिल्ड ने दोनों सज्जनों द्वारा की गई पत्रकारों की निंदा को अनुचित बताया है और कहा है कि वे अपने शब्दों पर ध्यान दें। सचमुच इन दोनों सज्जनों ने पत्रकारों के खिलाफ प्राणलेवा शब्दों का प्रयोग किया है। जनरल सिंह ने उन पत्रकारों को, जिन्होंने जनवरी 2012 को फौज की टुकड़ियों की हलचल पर लिखा था, ‘प्रेस्टीट्यूट’ कह दिया। याने उनकी तुलना अंग्रेजी के शब्द ‘प्रास्टीट्यूट’ से कर दी।

भाजपा के ‘दलित कार्ड’ ने बढ़ा दी राजनीतिक हलचल

भाजपा नेतृत्व ने लोकसभा के लिए 272 प्लस का अपना अंक गणित पूरा करने के लिए राजनीतिक जोड़-तोड़ की उस्तादी भी तेज कर दी है। कई राज्यों में जातीय और सामाजिक समीकरण अपने पक्ष में करने के लिए क्षत्रपों पर ‘दोस्ती’ के डोरे डाले जा रहे हैं। भाजपा नेतृत्व की इस रणनीति में मीडिया सर्वेक्षण खासे मददगार साबित हो रहे हैं। क्योंकि, लगातार सर्वेक्षणों में यही कहा जा रहा है कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पार्टी की चुनावी मुहिम तेजी से निर्णायक दौर में पहुंच रही है।

गिरफ्तार होंगे सुब्रत रॉय, गैर-जमानती वारंट जारी

सहारा ग्रुप के प्रमुख सुब्रत रॉय सहारा किसी भी वक्त गिरफ्तार हो सकते हैं। सुप्रीम कोर्ट ने सुब्रत रॉय के खिलाफ गैर जमानती वॉरंट जारी किया है। मामला निवेशकों के पैसे लौटाने में आनाकानी का है। आज सहारा की ग्रुप कंपनियों के 3 डायरेक्टरों के साथ उन्हें भी सुप्रीम कोर्ट में हाजिर होना था लेकिन वो नहीं पहुंचे। इसके बाद ही सुप्रीम कोर्ट ने सुब्रत रॉय सहारा के खिलाफ ये कठोर फैसला लिया है। हम आपको बता दें कि डिबेंचर के जरिए सहारा ने 24,000 करोड़ रुपए जुटाए थे। लेकिन सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सहारा ने अभी तक सेबी के पास करीब 5,000 करोड़ रुपये ही जमा कराए हैं। इस मामले में सहारा ने काफी आनाकानी है और अब मामला सुब्रत रॉय की गिरफ्तारी तक पहुंच चुका है।

गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे के नाम रवीश कुमार की खुली चिट्ठी

आदरणीय भारत वर्ष के गृहमंत्री शिंदे जी

प्रणाम

आपने खंडन करने से पूर्व अपने एक बयान में कहा है कि इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में बैठे−बिठाए बड़े पैमाने पर खुराफाती काम होते हैं। चूंकि मेरे पास खुफिया विभाग है यह काम कहां से करवाए जा रहे हैं मैं जानता हूं क्योंकि मैं सब कुछ देख रहा हूं उन पर चुपचाप नकेल लगवाने का काम मैं करवा रहा हूं। हाल के तीन−चार महीनों में इनही में से कुछ लोगों ने मानो एक मुहिम ही छेड़ रखी थी। ऐसी दुष्प्रचारक प्रवृत्तियों को उखाड़ निकालने का काम हम कर रहे हैं।

मीडिया विरोधी कमेंट पर पर्रिकर के खिलाफ गुस्सा, माफी की मांग

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की मीडिया के खिलाफ की गई टिप्पणी का मामला अब भारतीय प्रेस आयोग के पास पहुंच चुका है। कांग्रेस के प्रवक्ता सुनील कवथांकर ने बुधवार को प्रेस आयोग से की गई शिकायत में एक कार्यक्रम के दौरान रविवार को मीडिया के खिलाफ पर्रिकर की 'गैरजिम्मेदाराना और घृणित' टिप्पणी को प्रेस की आजादी पर हमला बताया है। शिकायत में कहा गया है कि अत्यंत शिक्षित मुख्यमंत्रियों में से एक पर्रिकर की संवाददाताओं की निष्ठा के खिलाफ इस प्रकार की घृणित और अपमानजनक टिप्पणी से प्रेस की आजादी के प्रति उनके लापरवाह और अविवेकी नजरिए को प्रदर्शित करता है।

केजरीवाल और वीके सिंह की मीडिया विरोधी बयानबाजी पर एडीटर्स गिल्ड नाराज

नई दिल्ली : अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी मुसीबत में फंस गई है क्योंकि संपादकों की संस्था एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने उसके खिलाफ नोटिस जारी कर दिया है। गिल्ड ने कहा कि जो लोग मीडिया के बूते अपनी पहचान बनाने में सफल हुए हैं, आज वही इसके खिलाफ हो रहे हैं। केजरीवाल के अलावा गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे ने इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के एक धड़े को कुचलने की चेतावनी देकर सनसनी फैला दी है। ऐसा महसूस होता है कि राजनेता मीडिया की ताकत को भूल गए हैं, जिनके बलबूते वह आज कुर्सी पर दिखाई दे रहे हैं।

तीन पत्रकारों पर हमला

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा के लालपुरा में हिंसा के दौरान दो पत्रकार घायल हो गए हैं। इस घटनाक्रम में एक दर्जन गाड़ियां क्षतिग्रस्त हो गईं। पथराव से बचने के लिए थाने में शरण लेने जा रहा एक फोटो पत्रकार और एक टीवी पत्रकार घायल हो गया। उग्र भीड़ ने तीन संतरी पोस्ट भी फूंक दिए। प्रदर्शनकारी सोमवार को दर्दपुरा लोलाब में सेना के साथ मुठभेड़ में मारे गए आतंकवादियों की पहचान की मांग कर रहे थे। उनका कहना था कि गांव से चारा लेने गए सात लोग घर नहीं लौटे हैं। बाद में पत्रकारों को भारी सुरक्षा के बीच थाने से बाहर लाया गया। पत्रकारों के जाने के बाद प्रदर्शनकारी भी वहां से चले गए।

पालतू तोते ने खोला पत्रकार की बीवी के कत्ल का राज (देखें वीडियो)

लखनऊ : आपने सड़क किनारे बैठे ज्योतिषी को तोते की मदद से भविष्य बताते देखा होगा लेकिन किसी तोते के बताने पर कोई हत्यारा पकड़ा जाए, तो यह अनूठी घटना होगी. यूपी के आगरा में ऐसा ही मामला सामने आया है. यहां बल्केश्वर में पत्रकार विजय शर्मा की पत्नी नीलम शर्मा की हत्या के मामले में ऐसा ही हुआ. हत्या का आरोपी भांजा आशुतोष उर्फ आशू पुलिस की गिरफ्त में है.

मैनेजर से नेता बने निशिकांत ठाकुर बोले- मातृभूमि की सेवा के लिए राजनीति में आया

मैनेजर से नेता बने निशिकांत ठाकुर ने सहरसा में बुधवार को व्यवहार न्यायालय में अधिवक्ताओं से मिलकर भाजपा के लिए आर्शीवाद मांगा. ठाकुर ने कहा कि देश के लोग आर्थिक, सामाजिक, राजनीतिक व कानूनी बदलाव चाहते हैं. श्री ठाकुर ने कहा कि मैं देशभर में घूमने के बाद यह दावे के साथ कह सकता हूं कि देश के वर्तमान परिपेक्ष्य में नरेन्द्र मोदी ही सर्वश्रेष्ठ प्रधानमंत्री हो सकते हैं.

प्रतापगढ़ में कवरेज से लौट रहे पत्रकार की सड़क हादसे में मौत

प्रतापगढ़ : सामूहिक विवाह कार्यक्रम की कवरेज लौट रहे एक पत्रकार की सड़क हादसे में मौत हो गई। घटना रविवार देर रात की है। उधर, पत्रकार की बाइक को टक्कर मारने के बाद अनियंत्रित होकर पलटी मैजिक को पुलिस ने कब्जे में ले लिया है। मानिकपुर थाना क्षेत्र के लाटतारा गांव निवासी रमेश मौर्य (34) पुत्र शिवशंकर मौर्य माता-पिता के इकलौते बेटे थे। रविवार को रात लगभग सवा बारह बजे कुंडा में राजा भैया यूथ ब्रिगेड के तत्वावधान में आयोजित सामूहिक विवाह कार्यक्रम का कवरेज कर घर वापस लौट रहे थे।

पत्रकार विवेक भटनागर को पितृशोक

नई दिल्ली: दैनिक जागरण नोएडा में मुख्य उप संपादक विवेक भटनागर के पिता कैलाश चंद्र भटनागर का सोमवार दोपहर गाजियाबाद के इंदिरापुरम शक्तिखंड स्थित आवास पर निधन हो गया। वह 85 वर्ष के थे, अंतिम संस्कार मंगलवार को हिंडन तट पर किया जाएगा।

पत्रकार से बदसलूकी पर वर्थिगटन गिरफ्तार

न्यूयॉर्क : अभिनेता सैम वर्थिगटन को मैनहट्टन में एक फोटोपत्रकार पर हमला करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया। वेबसाइट 'डेलीमिरर डॉट को डॉट यूके' के मुताबिक, 37 वर्षीय वर्थिगटन पर एक पत्रकार पर हमला करने के बाद मामला दर्ज कर लिया गया। पत्रकार ने वेस्ट विलेज के कबीहोल बार में उनकी मॉडल प्रेमिका लारा बिंगेल को कथित रूप से धक्का दिया था।

मजीठिया मंच अब फेसबुक व ट्विटर पर भी

मजीठिया मंच ने फेसबुक और ट्विटर पर अपना एकाउंट शुरू कर दिया है। बड़ी संख्‍या में लोग मंच से जुड़ रहे हैं। मंच ने उत्‍पीड़न के शिकार कर्मचारियों से अपील की है कि वे मायूस न हों। मजीठिया मंच उनका भी साथ देगा। बता दें कि मजीठिया वेज बोर्ड के अनुसार एरियर के लिए दैनिक जागरण के पूर्व कर्मचारियों और संस्‍थान में तू डाल-डाल मैं पात-पात का खेल जारी है।

सिविल सर्विस बोर्ड के गठन बिना किया तबादला, कैट में चुनौती

आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर ने आईजी अभियोजन से आईजी नागरिक सुरक्षा के पद पर हुए अपने ट्रांसफर को कैट की लखनऊ बेंच में चुनौती दी है। केंद्र सरकार ने 28 जनवरी 2014 को आईपीएस कैडर रूल्स 1954 के नियम 7 में संशोधन करते हुए यह व्यवस्था की है कि आईपीएस अफसरों का ट्रांसफर सिविल सर्विस बोर्ड की संस्तुति पर ही किया जायेगा और दो साल से पहले किये गए ट्रांसफर में उसके स्पष्ट कारण बताये जायेंगे। इलाहाबाद हाई कोर्ट ने भी लोक प्रहरी द्वारा दायर पीआईएल में 18 फ़रवरी के अपने निर्णय में इसकी पुष्टि की थी।

वेज बोर्ड प्रस्‍तावों के कार्यान्‍वयन पर नजर रखने के लिए कमेटी गठित

केंद्रीय श्रम मंत्रालय ने मजीठिया वेज बोर्ड की सिफारिशों के कार्यान्‍वयन पर नजर रखने के लिए एक कमेटी गठित की है। वेज बोर्ड की सिफारिशें न्‍यायमूर्ति जीआर म‍जीठिया ने की थी, जिसे सर्वोच्‍च न्‍यायालय ने पिछले 7 फरवरी को सही ठहराया था। मंत्रालय के एक वरिष्‍ठ अधिकारी ने 'द हिंदू' को बताया कि अधिसूचना की प्रतियां प्रदेशों/ केंद्र शासित प्रदेशों की सरकारों को पहले ही भेज दी गई हैं और उन्‍हें कहा गया है कि वे श्रम विभाग, नियोक्‍ताओं और कर्मचारियों के प्रतिनिधियों की तीन पार्टी कमेटियों का गठन कर कार्यान्‍वयन पर नजर रखें।

लाइव इंडिया से एनके सिंह, प्रदीप सिंह, मुकेश कुमार और प्रबल प्रताप सिंह का इस्तीफा

लाइव इंडिया न्यूज चैनल में हड़कंप मचा हुआ है. सारे दिग्गजों ने एक साथ इस्तीफा दे दिया. एडिटर इन चीफ और वरिष्ठ पत्रकार एनके सिंह, लाइव इंडिया अखबार के संपादक प्रदीप सिंह, लाइव इंडिया मैग्जीन के संपादक मुकेश कुमार और लाइव इंडिया चैनल के हेड प्रबल प्रताप सिंह ने अपना अपना इस्तीफा प्रबंधन को सौंप दिया है.

‘सीएसडीएस’ और खुद राजदीप सरदेसाई भी कोई दूध के धुले नहीं है

मैंने भी अपने कैरियर की शुरुआत एक सर्वे एजेंसी से ही की थी. यह कोई विशेष बात है भी नहीं. पत्रकारिता के काफी छात्र शुरुआत में यही करते हैं. उस समय के हिसाब से पैसे भी ठीक-ठाक मिल जाते हैं और थोड़ा अनुभव भी मिल ही जाता है. आज न्यूज़ एक्सप्रेस पर दिखाए जाने वाले सर्वे में किस एजेंसी और दल पर निशाना साधा गया है ये तो नहीं जानता लेकिन सर्वे के नाम पर किस तरह की दलाली होती है उसका प्रत्यक्षदर्शी रहा हूं.

प्रमोद रंजन जैसे भाजपा समर्थक पत्रकार को प्रेमकुमार मणि से कोई शिकायत नहीं पर कंवल भारती से है

Kanwal Bharti : प्रमोद रंजन जैसे भाजपा समर्थक पत्रकार को प्रेमकुमार मणि जैसे लेखक से कोई शिकायत नहीं है, जो बिहार में नितीश कुमार का दामन पकड़कर एमएलसी बनते हैं, सत्ता का उपभोग करते हैं और अब नितीश कुमार को छोड़ कर लालू यादव का दामन थामे हुए हैं. वे उन्हें प्रखर चिंतक कहते हैं. लेकिन कांग्रेस से जुड़े कँवल भारती उनकी आँखों में इसलिए चुभते हैं, क्योंकि मैंने 'फारवर्ड प्रेस' का बहिष्कार कर दिया है. वे उदित राज से मेरी तुलना करने लगे हैं.

मीडिया को ब्लैकमेल कर मुफ्त प्रचार पाते केजरीवाल

Sanjaya Kumar Singh : आम आदमी पार्टी के नेता अरविन्द केजरीवाल ने भाजपा नेता नरेन्द्र मोदी के बाद अब राहुल गांधी से भी पूछा है कि उनकी हवाई यात्राओं का खर्च कहां से आता है। नरेन्द्र मोदी की ही तरह राहुल गांधी भी केजरीवाल की इस चिट्ठी का जवाब देने के लिए बाध्य नहीं हैं, जवाब नहीं देंगे और फिर केजरीवाल कहेंगे देखा, जायज स्रोत से होता तो बताते, बताने लायक नहीं है इसलिए नहीं बताया आदि और इस तरह वे अपने अभियान में लगे रहेंगे।

हिंदी न्यूज चैनलों के दो नवीन कुमारों ने संस्थान बदला

एक नवीन कुमार आजतक न्यूज चैनल में हैं. एक नवीन कुमार जी न्यूज में हैं. आजतक वाले नवीन कुमार लिखने और बोलने के उस्ताद हैं. यानी उनकी स्क्रिप्ट और उनकी संवाद अदायगी अदभुत है. जी न्यूज वाले नवीन कुमार क्राइम की खबरों और इनवेस्टीगेटिव स्टोरीज में बेजोड़ हैं. ग्रह-नक्षत्रों की जाने क्या चाल हुई कि दोनों नवीन कुमारों ने एक ही दिन अपना-अपना संस्थान छोड़ा और दूसरे संस्थानों में ज्वाइन कर लिया.

विनोद कापड़ी और न्यूज एक्सप्रेस ने पैसे लेकर राजनीतिक भविष्यवाणी करने वालों की पोल खोल दी

Yashwant Singh :  विनोद कापड़ी ने बड़ा खुलासा कर डाला … आपरेशन प्राइम मिनिस्टर में दिखा रहे हैं कि किस तरह सर्वे करने वाली बड़ी व प्रतिष्ठित एजेंसीज पैसे लेकर एक बड़ी पार्टी को दो सौ सीटें लोकसभा की दिला रही हैं… राजनीति की नब्ज टटोलने वालों की कमजोर नस पर विनोद कापड़ी और न्यूज एक्सप्रेस ने हाथ रख दिया है..

सुब्रत रॉय होंगे कोर्ट में पेश, नहीं मिली छूट

नई दिल्ली, 25 फरवरी। सुप्रीम कोर्ट ने आज सहारा समूह प्रमुख सुब्रत रॉय के न्यायालय में 26 फरवरी को व्यक्तिगत रूप से हाज़िर होनो से बचने के लिए दायर की गई याचिका को खारिज कर दिया। सुब्रत राय की तरफ से पेश हुए वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी ने कहा कि उनके क्लाइन्ट बकाया रकम का भुगतान करेंगे, उन्हें व्यक्तिगत रूप से पेश होने से मोहलत दी जाए। इस पर जस्टिस केएस राधाकृष्णन और जेएस केहर की बेंच ने कहा "यह सिर्फ कोर्ट के सम्मान का मामला नहीं है, बल्कि कई जज और वकील इसमें मिले हुए हैं। हमारे आदेश का पालन नहीं हो रहा है।" इसी के साथ, बेंच ने सुब्रत रॉय की अर्जी खारिज कर दी।

कल्पतरु की काली कहानी, आखिर कोई कार्रवाई क्यों नहीं!

उत्तर प्रदेश मथुरा की चिटफंड कंपनी केबीसीएल इंडिया लिमिटेड (कल्पतरु) देश के विभिन्न हिस्सों में छोटे निवेशकों को करोड़ों रुपये का चूना लगा रही है। यह मामला अकेले उत्तर प्रदेश का नहीं है, बल्कि उत्तर प्रदेश के अलावा पांच राज्यों में केबीसीएल इंडिया लिमिटेड के फर्जीवाड़े की आशंका है जो खासकर गरीबों को अपना निशाना बना रही है। इसके पुख्ता सबूत हैं इसलिए जनहित में प्रार्थना है कि कृपया केबीसीएल इंडिया लिमिटेड की जांच कर, ठोस कार्रवाई सुनिश्चित करें ताकि कोई धोखाधड़ी का शिकार न हो। तत्काल इसके बैंक खातों के संचालन पर रोक व चल-अचल संपत्ति कुर्क कराकर इस खेल को रोकने की कृपा करे।

उत्कृष्ट पत्रकारिता के लिए जीरापुर सम्मेलन में कई पत्रकार सम्मानित

राजगढ़ जिले के जीरापुर में पत्रकार सम्मेलन का आयोजन किया गया। सम्मेलन में गणेश शंकर विद्यार्थी प्रेस क्लब के प्रदेशाध्यक्ष संतोषकुमार गंगेले ने कहा कि पत्रकारों को लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ माना गया है लेकिन देश के किसी भी कानून में पत्रकारों को विशेष का दर्जा नहीं दिया गया है। उन्होनें कहा कि गणेश शंकर विद्यार्थी प्रेस क्लब का गठन केवल इसलिए किया है की पत्रकारों को विशेष दर्जा मिल सके। इस संगठन में पत्रकार निस्वार्थ भाव से जुड़ें और निशुल्क सदस्यता लें। नवभारत के जिला ब्यूरो प्रमुख गोविंद बड़ोने ने कहा कि आंचलिक स्तर के पत्रकारों को शासन द्वारा केई सहायता प्रदान नहीं की जाती है जबकी वे ही छोटे-छोटे गांवों से समाचार खोजकर लाते हैं जिससे प्रशासन को पता चलता है कि उसकी योजनाएं अंतिम व्यक्ति तक पहुँच रही हैं या नहीं। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि क्षेत्रीय विधायक हजारीलाल दांगी तथा विशेष अतिथि कलेक्टर आनन्द शर्मा थे। कार्यक्रम को नपाध्यक्ष दिनेश पुरोहित, पूर्व नपाध्यक्ष गोकरण वर्मा, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष ज्ञानसिंह गुर्जर ने भी संबोधित किया।

जॉय मुखर्जी में एक चाकलेटी मेटिनी हीरो की सभी खूबियां थी

गुज़रे जमाने के चाकलेटी अभिनेता ‘जय मुखर्जी’ का जन्म मशहूर शशधर मुखर्जी के परिवार में हुआ था, पिता शशधर व माता सती देवी के परिवार में जय, देब तथा शोमु मुखर्जी को मिलाकर तीन संतानें थी। पिता ‘फिलमिस्तान स्टुडियो’ के मालिक व संचालक थे। हजारों प्रसंशक आज भी उन्हें साठ दशक के चाकलेटी हीरो के रुप में याद करते हैं, विशेष कर ‘लव इन शिमला’ के किरदार ‘देव’ के लिए। दिलकश जय (जॉय) जल्द ही जवां दिलों की धड़कन बन गए, एक चाकलेटी मेटिनी हीरो की सभी खूबियां उनमें थी। फ़ैशन व वेशभूषा के मामले में शम्मी कपूर की परंपरा को एक तरह से विस्तार दिया।

अन्ना हज़ारे चले, ममता के आंचल की छांव तले

जी हां, आप के सामने जो सवाल खड़ा है वो कोई कोरी बकवास नहीं है। बल्कि हक़ीक़त है। अन्ना की छवि एक साफ़ और ईमानदार समाज सुधारक की है जिस पर वो लीपा-पोती करने में जुटे हैं, नहीं तो उनको क्या पड़ी है ममता का आँचल पकड़ने की। क्या अन्ना ममता बनर्जी के बारे में नहीं जानते हैं, कि दीदी यूज-एंड-थ्रो की नीति पर चलती हैं। अगर नहीं तो जान लें, वर्ना दीदी इनको भी यूज किये हुए कंडोम की तरह किसी कूड़ेदान में फेंक देंगी। कुछ लोगों का नाम गिनवा दे रहा हूँ अन्ना चाहे तो पता लगा लें और फिर भरोसा करें।

बीजी वर्गीज़ ने राष्ट्रहित में बलात्कारी सैनिकों को बचाने के लिए कहा था

वरिष्ठ पत्रकार बीजी वर्गीज़ को जम्मू-कश्मीर के एक रिटायर्ड नौकरशाह सैय्यद मोहम्मद यासीन ने एक बयान दे कर विवादों में घसीट लिया है। मोहम्मद यासीन 23 साल पहले कुपवाड़ा के डिप्टी कमिश्नर थे जहाँ सेना के जवानो ने 13 से 60 वर्ष कि 32 महिलाओं के साथ सामूहिक बलात्कार किया था। बीजी वर्गीज़ प्रेस काउंसिल ऑफ़ इंडिया द्वारा घटना की जांच के लिए भेजी गयी टीम के अध्यक्ष थे। टीम ने जांच के बाद सेना के जवानों को क्लीन-चिट दे दी थी।

वीरेंद्र, दीपक, अरुण, परवेज, उत्तम, साहेब, मनोहर और पप्पू के बारे में सूचनाएं

जबलपुर से खबर है कि दैनिक भास्कर के विशेष संवाददाता वीरेंद्र तिवारी को प्रबंधन ने न्यूज एडिटर के पद पर प्रमोशन दिया है. तिवारी को जबलपुर सेंट्रल डेस्क की कमान सौंपी गई है.  पिछले चार सालों से दैनिक भास्कर इंदौर में विशेष संवाददाता रहे तिवारी को तीन माह पहले ही इंदौर ब्यूरो हेड बनाया गया था.

उत्तराखंड में ‘आप’ की उम्मीद बढी, नेगी और कंचन ने थामा पार्टी का दामन

दिल्ली में सरकार जाने के बाद 'आप' पार्टी के लिए उत्तराखंड से एक अच्छी खबर है. दो कद्दावर लोगों ने पार्टी का दामन थामा. इसमें एक यहां के प्रसिद्ध लोक गायक नरेन्द्र सिंह नेगी, तो दूसरी शख्सियत उत्तराखंड राज्य की पहली महिला डीजीपी रहीं कंचन चौधरी हैं. हालांकि इन दोनों का यहां की राजनीति से सीधे जुडाव नहीं रहा है लेकिन इन दोनों का ही अपने अपने क्षेत्रों में खासा दबदबा है. खासतौर से नेगी अपने गीतों के माध्यम से पहले भी राजनैतिक दलों व राजनेताओं को सबक सिखा चुके हैं.

तो क्या हरिश्चन्द्र चंदोला युद्ध पत्रकार नहीं हैं?

कई युद्धों को रणभूमि में जाकर देश व विदेश के कई अखबारों में विवरण लिखने वाले भारतीय पत्रकार हरिश्चन्द्र चंदोला का नाम विकीपीडिया वेबसाइट में युद्ध पत्रकारों की सूची में दर्ज नहीं है। यह बिडंबना है कि जिस पत्रकार ने सन् १९६८ से लकर १९९३ के बीच हुए युद्धों व क्रांतियों को घटना स्थल पर जाकर लिखा हो वो युद्ध पत्रकारों की श्रेणी में नहीं है।

इंडियन एक्सप्रेस से जुड़े वरिष्ठ पत्रकार ने राजमोहन गांधी को पांच लाख रुपया पहुंचाया था

Daya Sagar : तब राजमोहन गांधी मद्रास (अब चैन्‍नई) में इंडियन एक्सप्रेस के संपादक हुआ करते थे। वीपी सिंह चाहते थे कि अमेठी में राजीव गांधी के खिलाफ महात्मा गांधी के वारिस को लड़ाया जाए। वैसे सच पूछिए तो असली गांधी बनाम नकली गांधी का ये आइडिया इंडियन एक्सप्रेस के मालिक रामनाथ गोयनका जी का था। जनता दल से टिकट तय हो गया। संपादक पद से इस्तीफा देकर राजमोहन गांधी पहली बार राजनीति के पथरीले मैदान में उतरे।

विमल झा, रविशंकर, कविता, अविनाश, प्रदीप, विशाल, अरविंद, भूपेंद्र के बारे में सूचनाएं

दैनिक भास्कर में कार्यरत रहे विमल झा ने अब लाइव इंडिया की मैग्जीन में डिप्‍टी एडिटर पद पर ज्‍वाइन किया.  टाइम्स नाउ से रविशंकर ने इस्तीफा देकर भास्कर न्यूज ज्वाइन किया है. उन्हें एडिटर नेशनल अफेयर्स बनाया गया है.  कविता चौहान इंडिया टीवी से इस्तीफा देकर सहारा समय के साथ जुड़ गई हैं.

कल्पतरू की धंधेबाजी से खफा होकर सुभाष ने दिया इस्तीफा, नवभारत टाइम्स से जुड़े

इटावा से पत्रकारिता करने वाले वरिष्ठ पत्रकार सुभाष त्रिपाठी इस बार देश के सबसे बड़े हिन्दी दैनिक समाचार पत्र नवभारत टाइम्स में शामिल हो गए हैं. सुभाष इटावा कि पत्रकारिता में किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं. आज, स्वतन्त्र भारत, हिंदुस्तान, कैनविज टाइम्स, कल्पतरू टाइम्स आदि अखबारों में वे काम कर चुके हैं.

राज्यसभा टीवी की कृति मिश्रा और पंजाब केसरी के डा. राजीव पत्थरिया को एवार्ड

मीडिया फेडरेशन ऑफ इंडिया द्वारा आयोजित आठवें मीडिया एक्सीलेंस अवार्ड समारोह के दौरान राज्य सभा टीवी में कार्यरत पत्रकार कृति मिश्रा को बेस्ट फीमेल जर्नलिस्ट आफ द इयर से सम्मानित किया गया.

अमृतसर में पत्रकार के परिवार पर चढ़ा दी कार, कई घायल

अमृतसर से खबर है कि थाना सिविल लाइन के नजदीक शनिवार रात नशे में धुत इंडिका कार सवार ने पत्रकार रंजीत कुमार और उसके परिवार को टक्कर मार दी.  हादसे में रंजीत, उनकी पत्नी और एक वर्ष का बेटा घायल हो गए हैं. पत्नी की हालत नाजुक बनी हुई है. थाना सिविल लाइन पुलिस ने कार नंबर के आधार पर अज्ञात वाहन चालक के खिलाफ हत्या प्रयास का केस दर्ज कर लिया है.

अमेरिकी रेडियो पर जानी-मानी आवाज बन चुकी हैं मधुलिका सिक्का

अमेरिका के एनपीआर रेडियो पर एक प्रतिष्ठित कार्यक्रम का संचालन करनेवाली भारतवंशी मधुलिका सिक्का अमेरिकी रेडियो पर एक जानी-मानी आवाज बन चुकी हैं. सिक्का इस रेडियो शो के कार्यक्रमों की मुखिया की जिम्मेदारी निभा रही हैं और वह यहां एक्जीक्यूटिव प्रोड्यूसर के पद पर नियुक्त हैं. सिक्का वर्ष 2006 में बतौर सुपरवाइजिंग सीनियर प्रोड्यूसर एनपीआर में आयी थीं, पर जल्द ही वह यहां शीर्ष पर पहुंच गयीं.

जेल में तेजपाल के कमरे से मोबाइल फोन बरामद

पणजी : वास्को के पास स्थित सादा उप-जेल से जेल अधिकारियों ने नौ मोबाइल फोन जब्त किए जिनमें से एक तहलका के संस्थापक संपादक तरुण तेजपाल की कोठरी से मिला. सहायक जिलाधिकारी गौरिश शंख्वल्कर ने यहां संवाददाताओं को बताया कि सादा उप-जेल में आज सुबह औचक निरीक्षण किया गया.

चैनल मालिक अरूप चटर्जी के खिलाफ कुर्की जब्ती प्रक्रिया शुरू करने के आदेश

Gunjan Sinha : मेरे द्वारा दायर चेक बाउंस केस में आरोपी न्यूज़11 के मालिक अरूप चटर्जी के लगातार गैर हाज़िर रहने और गैर जमानती वारंट के बावजूद गिरफ्तार करके पेश नहीं किये जाने पर रांची की एक अदालत ने एक फरवरी को श्री चटर्जी के खिलाफ Cr P C की धारा 82 के तहत कुर्की जब्ती की प्रक्रिया शुरू करने का आदेश जारी किया है। मामले की अगली सुनवाई ४ अप्रैल को है। श्री चटर्जी रांची पुलिस को मिल नहीं रहे हैं। किसी को मालूम हो तो रांची के एस एस पी को बताएं कि वे कहाँ हैं।

जी न्यूज समेत कई चैनलों का लाइसेंस रद्द कराना चाहते हैं नवीन जिंदल!

जिंदल और जी का झगड़ा चरम पर है. जी ग्रुप वाले जी न्यूज व जी बिजनेस न्यूज चैनलों के जरिए लगातार नवीन जिंदल व उनकी कंपनियों पर धावा बोलते रहते हैं तो नवीन जिंदल भी जी ग्रुप को डैमेज करने के लिए लगातार सक्रिय हैं. उन्होंने अब धन उगाही करने वाले चैनलों के लाइसेंस रद्द करने की मांग पिछले दिनों लोकसभा में की. कांग्रेस सांसद नवीन जिंदल ने बीते दिनों लोकसभा में उन टीवी चैनलों के लाइसेंस रद्द करने की मांग उठायी, जो पेड न्यूज के जरिये कथित रूप से धन उगाही करते हैं.

थोड़ा-थोड़ा कर के मरता इलाहाबाद का एक रेडियो स्टेशन!

Puneet Kumar Malaviya : मित्रों, बड़े भारी मन से ये post लिख रहा हूँ.. ज्ञानवाणी इलाहाबाद देश का पहला सम्पूर्ण शैक्षिक FM रेडियो है… IGNOU द्‌वारा नोडल एजेंसी के रूप में देश भर में 37 रेडियो स्टेशनों का एक बड़ा नेटवर्क संचालित किया जा रहा है… FM 107.4 Mhtz पर… 07 नवम्बर 2001 को स्थापित इलाहाबाद देश का पहला केंद्र है और मैं इसका पहला उद्‌घोषक / कम्पियर… इलाहाबाद में IIIT को partner institution के रूप में चुना गया और स्थापना इलाहाबाद विश्वविद्यालय के नेहरू साइंस सेंटर के एक कक्ष में हुई.

मुख्यमंत्री हरीश रावत ने पत्रकारों, नौकरशाहों, समाजसेवियों को मदनमोहन वर्मा सम्मान से नवाज़ा

देहरादून, 16 फरवरी। नगर निगम के प्रेक्षागृह में जर्नलिस्ट एसोसिएशन ऑफ़ इलेक्ट्रॉनिक एवं प्रिंट देहरादून के तत्वाधान में, उत्तराखंड में आई आपदा के दौरान जान की बाज़ी लगाकर राहत कार्य करने वाले अनेक आईएएस, आईपीएस, राज्य पुलिस सेवा के अधिकारियों और समाजसेवियों को सूबे के मुख्यमंत्री हरीश रावत के हाथों स्वर्गीय मदनमोहन वर्मा सम्मान प्रदान किया गया। श्री रावत ने मध्य प्रदेश के जीतेन्द्र सोनी को यह सम्मान, इलेक्ट्रॉनिक एवं प्रिंट मीडिया में, खोजी पत्रकारिता में विशेष योगदान के लिए प्रदान किया। इसके अतिरिक्त आईएएसई डीम्ड विश्व-विद्यालय के चांसलर कनकमल दूगड़ को लाइफटाइम अचीवमेंट सम्मान तथा सुलभ इंटरनेशनल के संस्थापक डॉ. बिंदेश्वरी पाठक और सद्भावना सेवा संस्थान के चेयरमैन अनिल सिंह को उत्कॄष्ट सम्मान से नवाजा गया। अनिल सिंह समूचे हिंदुस्तान में निशुल्क एम्बुलेंस सेवा प्रदान कर रहे है तथा उत्तराखंड में आपदा रहत के लिए उन्होंने विशेष रूप से अपनी टीम लगा रखी थी। श्री दूगड़ को जर्नलिस्ट एसोसिएशन की पहल पर उनके हारमनी प्रोजेक्ट के लिए मुख्यमंत्री के हाथों एक लाख रुपये का चेक भी प्रदान किया गया। भारतीय क्रिकेट टीम के गेंदबाज़ मोहम्मद शमी के पिता तौफ़ीक़ अहमद ने एक लाख रुपये का चेक आपदा रहत कोष के लिए मुख्यमंत्री हरीश रावत को सौपा।

औरंगाबाद प्रशासन से नाराज़ पत्रकारों ने जिला सूचना अधिकारी के विदाई समारोह का बहिष्कार किया

औरंगाबाद के पत्रकारों ने आज सिन्हा सोशल क्लब में बैठक की। बैठक के माध्यम से पत्रकारों ने प्रशासन को चेतावनी देते हुए  कहा कि जिला प्रशासन मीडिया का दुरूपयोग न करे। बैठक की अध्यक्षता कर रहे नव बिहार के सम्पादक और यूएनआई एवं आकाशवाणी के संवाददाता कमल किशोर ने कहा कि जिला प्रशासन सिर्फ अपने फायदे के लिए पत्रकारो का इस्तेमाल करता है। जिला प्रशासन सरकार की नजरों में बने रहने के लिए मीडिया द्वारा सिर्फ उतनी ही खबरों को प्रसारित करवाता है जिससे उसकी स्थिति मजबूत बनी रहे। प्रशासन जिले के विभिन्न विभागों की अद्यतन रिपोर्ट पत्रकारों को मुहैया नहीं कराता है। इसके लिए संघ के द्वारा जिलाधिकारी को एक आवेदन भी दिया गया था, परन्तु जिलाधिकारी ने उस पर कोई कार्यवाही नहीं की। बैठक के माध्यम से जिलाधिकारी की इन गतिविधियों का पूरा लेखा-जोखा सरकार तक भेजने का निर्णय लिया गया। साथ ही यह आह्वान किया गया कि खबरें प्रकाशित तो होंगी परन्तु उसमे न तो जिलाधिकारी एवं अन्य अधिकारियो की तस्वीरें होंगी और न ही उनके नाम।

​केजरीवाल बोले, मीडिया वालों थोड़ी शर्म करो

: चुनावी रैली में मीडिया पर निकाली खूब भड़ास : अंबानी के बहाने मीडिया रहा निशाने पर : सिर्फ टाइम्स आफ इंडिया को सराहा : रोहतक, 23 फरवरी। अरविंद केजरीवाल को अब मीडिया अपना सबसे बड़ा दुश्मन दिखता है। इसलिए उन्हें जब भी मौका मिलता है तो वे शुरू हो जाते हैं मीडिया के खिलाफ बड़बड़ाना। आज भी उन्हें वह मौका मिल गया। दिल्ली के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद केजरीवाल पहली बार अपनी चुनावी रैली को संबोधित करने हरियाणा पहुंचे। रविवार को वे हरियाणा की राजनीतिक राजधानी कहे जाने वाले रोहतक में थे। उन्होंने लोकसभा चुनाव प्रचार अभियान की हुड्डा के गढ़ से शुरूआत की। पर यहां केजरीवाल ने राजनीति से ज्यादा मीडिया को कोसने में ज्यादा समय अपना व्यतीत किया।

मैनेजमैंट गुरू का मिस-मैनेजमैंटः प्लैनमैन मीडिया नहीं दे रहा अपने एम्प्लॉई की सैलेरी

मैनेजमेंट गुरु अरिंदम चौधरी अन्यथा कारणों से हमेशा सुर्खियां में रहते हैं। ताज़ा मामला उनके प्लैनमैन मीडिया प्रा. लि. के एक कर्मचारी शशि रंजन का है। प्लैनमैन मीडिया 'द सन्डे इंडियन' नाम की मैगज़ीन निकालता है। शशि इसके सब्सक्रिप्शन विभाग में वर्ष 2010 से काम कर रहे हैं। उनका कहना है के प्लैनमैन मीडिया द्वारा वर्ष 2013 में उनकी सैलरी नियमित रूप से नहीं दी गयी। वर्तमान में उनकी सैलरी का काफी पैसा कंपनी ने बिना वजह रोक रखा है। बिना पैसों के वे आर्थिक संकट के दौर से गुज़र रहे हैं।

प्रगति ग्रुप बिल्डर की मनमानी, सुनिए मेरठ के इन बंसलजी की राम कहानी

Sir, This is to inform you that in may 2010 i book a flat in noida extension devika gold homz project.but after loan approval insted of accepting payment builder have cancel my flat without any reason sir builder have deducted 1.20 lakh from my principal amount although builder is earning 15 lakh on every cancellation.

सुप्रीम कोर्ट को सुब्रत राय पर पहले ही सख्ती दिखानी चाहिए थी

भारत की न्याय व्यवस्था के बारे में मशहूर है कि वह 100 गुनहगारों को छोड़ सकती है किन्तु एक निर्दोष को गुनहगार साबित नहीं करना चाहती। चाहे संजय दत्त मामला हो या राजीव गांधी या फिर सहारा सुप्रीमो सुब्रत राय का। हालांकि सारे मामले अलग है और एक दूसरे से उनकी तुलना नहीं की जानी चाहिए किन्तु न्याय व्यवस्था का मसला है, इसलिए ऐसा आंकलन किया जाना यथोचित लगता है।

Resolution in favour of the Civil and Democratic rights of North-East People

: Resolution adopted by All India Peoples Front at Jantar-Mantar, on Feb 15, 2014 during AIPF National Convenor  Akhilendra Pratap Singh`s 10-day long fast for Rule of Law, Justice as well as Safety and security of the people and other pro-people issues : We strongly condemn yesterday`s brutal lathicharge on the north-east youth demanding justice against racist assaults in National Capital. We are  extremely shocked  to witness that fatal racist assaults on the life and dignity of  our north-east compatriots, brothers and  sisters continue unabated.

न्यूज नेशन का यूपी-उत्तराखंड रीजनल न्यूज चैनल लांच

रंजीत कुमार के नेतृत्व में न्यूज नेशनल चैनल का रीजनल न्यूज चैनल 'एनएन यूपी-उत्तराखंड' 19 फरवरी को शाम साढ़े पांच बजे लांच हो गया. एनएन यूपी उत्तराखंड के साथ ही यूपी उत्तराखंड के क्षितिज पर एक और नए चैनल का अवतरण हो गया. न्यूज़ नेशन के इस रीजनल चैनल की तैयारियां काफी समय से चल रही थी.

तीन चैनलों शगुन टीवी, वरदान टीवी, सीएनईबी उर्फ हमरा एम टीवी का शटर गिरा

चैनल आते तो हैं धूम धड़ाके और हल्ला-गुल्ला के साथ लेकिन जाते हैं बेहद चुपचाप. कुल तीन चैनलों के बंद होने या बिकने के लिए तैयार पड़े होने की सूचनाएं मिली हैं. पहला है शगुन टीवी. शादी बियाह के इस चैनल के कर्ताधर्ता अनुरंजन झा हुआ करते हैं. बताया जा रहा है कि यह चैनल नहीं चला और बंद हो गया है. ये वही अनुरंजन झा हैं जिन्होंने दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले आम आदमी पार्टी को बदनाम करने के लिए सुपारी पत्रकारिता के तहत जोड़तोड़ वाला स्टिंग किया था. देखना है कि झा साहब का अब आगे का क्या प्रोग्राम है.

आशीष मिश्रा साधना न्यूज में मैनेजिंग एडिटर बने, प्रखर मिश्रा भी जुड़े

खबर है कि कई न्यूज चैनलों में वरिष्ठ पदों पर काम कर चुके पत्रकार आशीष मिश्रा साधना न्यूज में मैनेजिंग एडिटर बन गए हैं. आशीष अभी हाल फिलहाल तक जिया न्यूज में कार्यरत थे. उसके पहले वे न्यूज एक्सप्रेस और वायस आफ इंडिया चैनलों में थे. वे नवभारत टाइम्स अखबार में लंबे समय तक रहे हैं. साधना न्यूज में काफी दिनों से मैनेजिंग एडिटर का पद खाली था.

इंदौर में मैनेजमेंट गुरु अरिंदम चौधरी समेत पांच पर चेक बाउंस का केस

इंदौर से खबर है कि यहां की जिला कोर्ट ने मैनेजमेंट गुरु अरिंदम चौधरी समेत पांच के खिलाफ चेक बाउंस का केस दर्ज करने का आदेश दिया है. मामला इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ प्लानिंग एंड मैनेजमेंट (आईआईपीएम) की विजिटिंग फैकल्टी को भुगतान का है. अरिंदम चौधरी समेत पांचों आरोपी आईआईपीएम में डायरेक्टर हैं. ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट आशुतोष शुक्ल ने यह आदेश मोनिका भाटिया की शिकायत पर दिया है.

छत्तीसगढ़ सरकार का विज्ञापन और 24*7*365 के मायने

Suresh Kumar Bijarniya : छत्तीसगढ सरकार का एक विज्ञापन आजकल मीडिया में छाया हुआ है। छत्तीसगढ का गुणगान किया जा रहा है। दरअसल मुद्दा ये नहीं है कि विज्ञापन सही है या गलत। मुद्दा ये है कि  विज्ञापन के एक हिस्से में बतलाया गया है कि छतीसगढ़ में बिजली आपूर्ति सारे वक़्त (Round The Clock) रहती है (24*7*365 electricity supply – as told in advt) अब 24*7 का मतलब तो ये होता है कि पूरे हफ्ते हर वक़्त (Round The Clock) बिजली रहती है।

तहसीन मुनव्वर को उर्दू पत्रकारिता में योगदान के लिए एवार्ड

उर्दू पत्रकारिता में विशेष योगदान के लिए तहसीन मुनव्वर को स्वर्गीय मदन मोहन वर्मा मेमोरियल एवार्ड 2014 प्रदान किया गया. यह एवार्ड उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अपने हाथों प्रदान किया. कार्यक्रम का आयोजन जर्नलिस्ट एसोसिएशन आफ इलेक्ट्रानिक एंड प्रिंट उत्तराखंड संगठन की तरफ से 16 फरवरी को देहरादून में किया गया.

फिरोजाबाद में हिंदुस्तान के मीडियाकर्मी अमित उपाध्याय पर जानलेवा हमला

फिरोजाबाद जनपद के हिंदुस्तान के जिला प्रतिनिधि अमित उपाध्याय पर कुछ दबंगों ने हमला कर घायल कर दिया. इस दौरान पास खड़ी पुलिस मूकदर्शक बनकर पूरी घटना को देखती रही. अमित दोपहर को स्टेट बैंक की मुख्य शाखा में हिन्दुस्तान का पैसा जमा करने जा रहे थे. वहीं बैंक के पास ही खड़े तीन दबंगों ने इनको पकड़ लिया और जम कर पिटाई कर दी. इनके पास से पैसे और सामान भी छीन लिया.

बेहतरीन है ‘HIGHWAY’, ये मूवी नहीं देखी तो क्या देखी!

Tara Shanker : इतनी बेहतरीन मूवी बनाने के लिए एक दिली सलाम बनता है आपको इम्तियाज़ अली! अपने ही घर में किसी लड़की को क्यूँ घुटन हो सकती है? क्यूँ चाहिए उसे बेख़ौफ़ आज़ादी? प्रकृति के पास जाकर क्यूँ किसी को सबसे अधिक सुकून मिलता है? क्यों कोई वीरा अपने घर में इतना घुटन महसूस करती है कि अपने किडनैप होने को भी वो आज़ादी के मानिंद देखती है?

न्यूज एक्सप्रेस पर होने वाला है बड़ा खुलासा ‘OPERATION PRIME MINISTER’

न्यूज एक्सप्रेस चैनल पर जल्द ही एक बड़ा खुलासा होने वाला है. OPERATION PRIME MINISTER नाम से. इस आपरेशन के लिए सात रिपोर्टर लगाए गए हैं जिनमें दो महिला रिपोर्टर हैं. न्यूज एक्सप्रेस का दावा है कि यह दशक सबसे बड़ा खुलासा होगा. इसका प्रसारण जल्द ही न्यूज एक्सप्रेस चैनल पर होगा. इस आपरेशन से संबंधित प्रोमो चैनल ने लांच कर दिया है.

एटा से प्रकाशित लघु पत्रिका ‘चौपाल’ का लोकार्पण

दिल्ली। प्रगति मैदान में चल रहे विश्व पुस्तक मेले में, एटा से प्रारंभ हुई हिन्दी की लघु पत्रिका 'चौपाल' के प्रवेशांक का लोकार्पण हुआ। मूर्धन्य आलोचक नामवर सिंह, शीर्ष कवि केदारनाथ सिंह, आलोचक खगेन्द्र ठाकुर और विख्यात लेखक काशीनाथ सिंह द्वारा यह लोकार्पण किया गया। राजकमल प्रकाशन के मंच पर आयोजित लोकार्पण समारोह में केदारनाथ सिंह ने कहा कि किसी एक कृति पर पत्रिका का पूरा अंक केंद्रित करना साहित्य के क्षेत्र में बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने चौपाल के सम्पादक को बधाई देते हुए कहा कि उन्होंने प्रवेशांक में ही यह उपलब्धि अर्जित कर ली है।

मीडिया के साथी इस वैदिक विद्वान के ब्रह्मांड उत्पत्ति से संबंधित बातों-दावों पर गौर करें

Yashwant Singh : एक भारतीय वैदिक विद्वान ने ब्लैक होल्स को लेकर स्टीफन हाकिंग के बदले विचार पर उन्हें पत्र लिखा है… यह पत्र मेरे पास भी आया है.. इसे पढ़कर मैं हैरत में पड़ गया.. अपने देश में इन विषयों पर लोग काम कर रहे हैं और दावे से कई बातें कह रहे हैं लेकिन उस पर बहस के लिए, कवरेज के लिए, शोध के लिए किसी के पास वक्त नहीं… लोग राजनीति राग गाने में लगे हैं या फिर अपने निजी दुख-सुख में…

विश्व पुस्तक मेले में हुआ ‘आपदा का कफन’ का विमोचन

उत्तराखंड में आई दैवी आपदा से प्रेरित पुस्तक ‘आपदा का कफन’ पीड़ित युवती की संघर्ष गाथा का विमोचन विश्व पुस्तक मेला नई दिल्ली में हुआ है। पत्रकार धीरेंद्र नाथ पांडेय द्वारा लिखित इस पुस्तक का विमोचन साहित्यकार राजकिशोर ने किया। आपदा से जैसे मुद्दे पर अधारित उपन्यास लिखने का साहस  है। इस तरह का ट्रेंड भारत में नहीं है। लेकिन विदेशों में है। अमेरिका के पर्ल हार्बर पर हुए हमले पर न जाने कितनी किताबें विदेशों में लिखी गई लेकिन भारत-पाक विभाजन या फिर चीन या पाक युद्ध पर चंद किताबें ही लिखी गई। उस पर भी उपन्यास तो अंगुलियों पर गिनने लायक ही है। इसलिए इस किताब से लेखक के साहस का परिचय मिलता है। लेखक धीरेंद्र नाथ पांडेय मूल रूप से पत्रकार है इसलिए उनसे इस तरह की उम्मीद की जा सकती है।

आईबी के सूचना संकलन कार्य में दखल नहीं दे सकतीं अदालतें

इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच ने आज कहा कि केंद्र और राज्य सरकार को इंटेलिजेंस ब्यूरो(आईबी) तथा राज्य अभिसूचना विभाग द्वारा कथित राजनैतिक अभिसूचना संकलन में दुरुपयोग रोके जाने के सम्बन्ध में निर्देश देने की उनकी अपनी सीमायें हैं। चीफ जस्टिस डीवाई चंद्रचूड और जस्टिस डीके अरोरा की बेंच ने यह आदेश आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर और सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर द्वारा दायर पीआईएल में किया। बेंच ने कहा कि संविधान ने कार्यपालिका, विधायिका और न्यायपालिका के बीच सत्ता का स्पष्ट विभाजन कर रखा है। अदालतों को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि यह संतुलन किसी स्थिति में बिगड़े नहीं।

‘बनास जन’ के ‘ओमप्रकाश वाल्मीकि’ विशेषांक का लोकार्पण

नई दिल्ली। विश्व पुस्तक मेले में हिंदी की लघु पत्रिका 'बनास जन' के ओमप्रकाश वाल्मीकि पर प्रकाशित विशेषांक का लोकार्पण हुआ। शब्दसंधान प्रकाशन के तत्वावधान में हुए एक संक्षिप्त आयोजन में युवा आलोचक और दलित लेखन को समर्पित डॉ. बजरंग बिहारी तिवारी ने इस अंक का लोकार्पण किया। डॉ. तिवारी ने इस अवसर पर कहा कि बनास जन ने एक जरूरी काम को ठीक समय पर किया है जिस पर ध्यान दिया जाना चाहिए। डॉ. तिवारी ने अंक में भँवरलाल मीणा द्वारा लिए गए सुदीर्घ साक्षात्कार को उपलब्धि बताया।

बदले विचार पर स्टीफन हॉकिंग को एक भारतीय वैदिक विद्वान का पत्र

आदरणीय श्रीमान् स्टीफन हॉकिंग

डीएएमटीपी

सेन्टर फॉर मैथमेटिकल सायंस

विलबेरफोर्स रोड

कैम्ब्रीज सीबीएस ओडब्ल्यूए

(यू.के.)

विषय- ब्लैक हॉल पर आपके परिवर्तित विचार।

महोदय!

उपर्युक्त विषयार्न्तगत निवेदन है कि विभिन्न माध्यमों से आपके ब्लैक होल विषय में परिवर्तित विचार जाने। नेचर न्यूज में 24 जनवरी 2014 को ‘स्टीफन हॉकिंग: देयर आर नो ब्लैक होल्स’ लेख पढ़ा। सर्वप्रथम सत्य को स्वीकार करने पर आपको हार्दिक बधाई।

बनारस में फल-फूल रही है आस्था और पाखंड की दुकानदारी

वाराणसी। धर्म, आस्था एवं ज्ञान की खान बनारस (काशी) ज्योतिषियों के लिए भी प्रसिद्ध है। अपने आप में इतनी महत्ता समेटने के बावजूद आज आस्था और पाखंड की दुकानदारी चलाने वाले तथाकथित ज्योतिषियों के कारण यह शहर अपनी महत्ता खोता चला जा रहा है। दिन-प्रतिदिन आस्था और पाखंड का बाज़ारवाद बनारस में बढ़ता ही चला जा रहा है, जहाँ भी देखो वहाँ ये अपनी-अपनी दुकानें खोले बैठे हैं। आस्था एवं पाखंड के इस बाज़ारवादी घुड़दौड़ में एक-दूसरे को पछाड़ने के लिए इनमे होड़ सी मची है।

अमरकांत जी के अवसान के बहाने जनपदीय साहित्य पर एक नज़र

पृथ्वी अगर मुक्त बाजार संस्कृति से कहीं बची है तो इलाहाबाद में। पिछले दिनों हमारे फिल्मकार मित्र राजीव कुमार ने ऐसा कहा था। मैं इलाहाबाद में 1979 में तीन महीने के लिए रहा और 1980 में दिल्ली चला गया। लेकिन इन तीन महीनों में ही इलाहाबाद के सांस्कृतिक साहित्यिक परिवार से शैलेश मटियानी जी, शेखर जोशी जी, अमरकांत जी, नरेश मेहता जी, नीलाभ, मंगलेश, वीरेनदा, रामजी राय, भैरव प्रसाद गुप्त और मार्कंडेय जी की अंतरंग आत्मीयता से जुड़ गया था। अमरकांत जी और भैरव प्रसाद गुप्त जी की वजह से माया प्रकाशन के लिए अनुवाद और मंगलेश के सौजन्य से अमृत प्रभात में लेखन, मेरे इलाहाबाद ठहरने का एकमात्र जरिया था।

‘पी7न्यूज’ चैनल की कंपनियों पीएसीएल, पीजीएफ और पर्ल पर सीबीआई का छापा

बड़ी खबर पी7न्यूज चैनल से आ रही है. इस न्यूज चैनल की मदर कंपनीज पर्ल, पीएसीएल और पीजीएफ के कई ठिकानों पर केंद्रीय जांच ब्यूरो ने एक साथ सघन छापेमारी की है. इन कंपनियों पर जनता से अवैध तरीके से पैसे उगाहने के आरोप हैं. दिल्ली में सीबीआई के प्रवक्ता ने छापेमारी की पुष्टि की है. साथ ही यह भी बताया कि पीएसीएल लिमिटेड और पीजीएफ लिमिटेड के संचालकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है.

A letter of the vaidic scholar to Prof. Stephen Hawking

Respected Mr. Stephen Hawking,

DAMTP

Centre for Mathematical Sciences

Wilberforce Road

Cambridge CB3 0WA

UK

Subject:- Sudden change in your views about black hole.

Sir,

About above it came to my knowledge through different media. Nature news 24 January 2014 ‘Stephen Hawking: There are no black holes’ I read your article first of all I heartily congratulate on accepting the truth. Do you remember that on 29 august 2013 I asked 12 questions by e-mail from you and other scientists of the world, about black hole and big bang model? About black hole and event horizon the question was- “Near black hole time stops this is believed? Due to this it is to be accepted that outside black hole and inside it there is no action, movement because without time action and movement cannot take place. But in black hole there is more gravitational force due to this, gravitational waves will be produced.

रायबरेली के RGIPT students की मीडिया वालों के नाम एक अपील

ये पत्र रायबरेली स्थित Rajiv Gandhi Institute of Petroleum Technology के छात्रों ने भड़ास के पास भेजा है. वे हफ्ते भर से अपने बददिमाग प्रबंधन से लड़ रहे हैं पर उनकी आवाज मीडिया से गायब है. इसी कारण प्रबंधन भी मस्त है. मीडिया वालों से अपील है कि वे इस प्रकरण को पूरा समझें, पढ़ें और छात्रों की आवाज को प्रमुखता से उठाएं. खासकर लखनऊ के पत्रकारों से अपनील करना कहना चाहूंगा कि वे रायबरेली के छात्रों के आंदोलन को स्थानीय स्तर से कवर कराएं और प्रमुखता से प्रकाशित प्रसारित कराएं जिससे उन छात्रों को ये कतई न लगे कि उनकी आवाज हर स्तर से अनसुनी की जा रही है.

-यशवंत, एडिटर, भड़ास4मीडिया

जी मीडिया के सीईओ आलोक अग्रवाल ने भड़ास से हफ्ते भर में एक करोड़ रुपये हर्जाना मांगा (पढ़ें लीगल नोटिस)

To,

Shri Yashwant Singh

CEO & Editor: Bhadas4Media

at yashwant@bhadas4media.com

Re:   Notice on behalf of Mr. Alok Agrawal, CEO- Zee Media Corporation Limited, for defaming his reputation by uploading and displaying false, frivolous and  derogatory story in his name on your website bhadas4media.com

विश्व पुस्तक मेले में पाइए “दलित दस्तक”

: हॉल नंबर 18 के स्टॉल नंबर S1/5 पर मिलेगी पत्रिका : दलित मुद्दों को पुरजोर तरीके से उठाने वाली हिन्दी मासिक पत्रिका "दलित दस्तक" विश्व पुस्तक मेले में भी अपनी उपस्थिति दर्ज करा रही है। दलित दस्तक को हॉल नंबर- 18 में स्टैंड नंबर S 1/5 आवंटित हुआ है। यह वाणी प्रकाशन के बगल में स्थित है। इस स्टैंड पर दलित दस्तक के हालिया फरवरी अंक सहित पिछले अंक भी मौजूद हैं। इसी क्रम में नई सूचना यह भी है कि पत्रिका के संपादक अशोक दास के साक्षात्कार का संग्रह "एक मुलाकात दिग्गजों के साथ" भी 21 फरवरी से दलित दस्तक के स्टाल पर उपलब्ध है।

उम्मीद न थी कि ‘विन्डो तोड़ थप्पड़ मार’ की कल्पना इतनी जल्दी वास्तव में लाइव देखेंगे

Abhishek Srivastava : कुछ दिन पहले अरनब गोस्‍वामी पर बने एक हास्‍य वीडियो में हमने विन्‍डो तोड़ कर एक पैनलिस्‍ट का मुंह बंद कराते और गिलास उठाते अरनब को देखा था। उम्‍मीद नहीं थी कि ऐसा इतनी जल्‍दी वास्‍तव में लाइव हो जाएगा।

गाजीपुर वालों, ‘आप’ के लोकसभा प्रत्याशी ब्रज भूषण दुबे को जिताएं

Yashwant Singh : क्रांतिकारी साथी ब्रज भूषण दुबे को गाजीपुर जिले से लोकसभा का टिकट आम आदमी पार्टी ने दिया है. जमीन से जुड़े और आम लोगों के बेहद सक्रिय रहने वाले ब्रज भूषण जी को लोकसभा चुनाव जिताना है. मैं जल्द ही गाजीपुर जाउंगा और दुबे जी के समर्थन में गांव-गांव घूमूंगा.. अगर आप सभी किसी रूप में गाजीपुर से जुड़े हों या आपके परिचित, रिश्तेदार वहां रहते हों तो जरूर कनवींस करें कि इस बार वोट एक नए प्रयोग के नाम… इस बार वोट एक क्रांतिकारी शख्स के नाम… इस बार वोट एक बदलाव के नाम… (भड़ास के एडिटर यशवंत सिंह के फेसबुक वॉल से.)

‘इंडिया न्यूज’ का बड़ा फर्जीवाड़ा, ‘आप’ का फर्जी प्रवक्ता बैठाया और थप्पड़ लगवाया

इंडिया न्यूज चैनल को टॉप पर ले जाने के लिए दीपक चौरसिया का प्रयोग सुपर-डुपर हिट होता जा रहा है लेकिन इसने पत्रकारिता, नैतिकता और सरोकार के कई पैमाने ध्वस्त कर दिए. ताजी सूचना है कि जिस शख्स को लाइव डिबेट के दौरान थप्पड़ लगवाया गया, वह आम आदमी पार्टी का प्रवक्ता नहीं था. पर उसे चैनल पर आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता के रूप में पेश किया गया. लोग कह रहे हैं कि सब कुछ प्रायोजित था ताकि चैनल चर्चा में आए और इसकी टीआरपी बढ़े. हुआ भी यही.

प्रसून जोशी की टीम ने 400 करोड़ रुपए लिए हैं मोदी की ब्रांडिंग के लिए

Sheetal P Singh :  आप मोदी नरेन्द्र के बारे में कोई दो साल से लगातार "गामा पहलवान" टाइप ख़बरें पढ़ते देखते रहे हैं। मोदी जी ने गुजरात को चाँद के आसपास पहुँचा दिया, मोदी जी ने शहज़ादे को खुली चुनौती दी, मोदी जी ने लाखों की रैली में ये किया वो कहा आदि अनादि। साथ ही 2002 के नरसंहार के मामलों में इस कमेटी, उस कोर्ट या फ़लाँ आयोग से मिली क्लीन चिट की ख़बरें पढ़ते देखते आये।

शराब के 5 फायदे

1: शराब व्यक्ति की नैसर्गिक प्रतिभा को बहार निकालता है… जैसे कोई अच्छा डांसर है लेकिन अपनी शर्म की वजह से लोगों के सामने नहीं नांच पाता है.. दो घूंट अन्दर जाते ही अपना ऐसा नृत्य पेश करता है कि उसके सामने माइकल जॅक्सन भी पानी मांग लें.. ऐसे कई उदहारण आपने शादी ब्याह के अवसर पर शराबियों को नृत्य करते हुए देखा होगा.. कोई नागिन बनकर जमीन में लोटता है तो कोई घूँघट डाल कर महिला नृत्य प्रस्तुत करता है… जो शेरो शायरी और साहित्यिक बातें सामान्य अवस्था में नहीं की जाती हैं, शराब पीने के बाद कई लोगों को बड़ी-बड़ी साहित्यिक बातें व शेरो-शायरी भी करते देखा गया है…

आईबी को राजनैतिक सूचना संकलन में लगाए जाने पर रोक हेतु पीआईएल

वर्तमान समय में इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) तथा राज्य अभिसूचना विभाग द्वारा पूर्णतया राजनैतिक अभिसूचना संकलन किये जाने की प्रक्रिया पर रोक लगाए जाने के सम्बन्ध में आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर और सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर ने इलाहाबाद हाई कोर्ट, लखनऊ बेंच में एक रिट याचिका दायर की है।

भाषाई तूफान चलइ जोर-जोर, अवधी के दियना जरइ चहुं ओर

स्वानंद बाबा सेवा न्यास द्वारा मुंबई के विलेपार्ले स्थित संन्यास भवन में आयोजित अवधी सम्मेलन ‘दोपहर का सामना’ के कार्यकारी संपादक प्रेम शुक्ल के मार्गदर्शन में संपन्न हुआ। पूरा कार्यक्रम अवध व अवधी की अद्भुत छटा लिए हुआ था, जिसमें एस्ट्रोलॉजी टुडे के संपादक आचार्य पवन त्रिपाठी का वैदिक मंत्रोच्चार था, लोकगायिका प्रिया द्विवेदी के अवधी गीत थे, जाने-माने कवि-पुरातत्व शास्त्री निर्झर प्रतापगढ़ी की हास्य फुलझड़ियां थीं, विद्वानों के विचार थे तो भाजपा युवा मोर्चा मुंबई अध्यक्ष गणेश पांडे व उद्योगपति बबलू पांडे का अवधी के प्रति सम्मान भाव भी था।

चुनावों में वोट ज़रूर दीजिए, पर अपना ‘मत’ दान न कीजिए

यह आलेख केवल और केवल भारत के वोटरों और चुनाव आयोग के लिए है। राजनीतिक दलों के लिए बेमानी है। शीर्षक को पढ़ कर चौंकिए नहीं ,क्या वजह है कि मतदान को "दान" ही रखा जाए? आप आज़ाद देश में अभी तक इस बात के लिए स्वतन्त्र हैं की वोट डालें या नहीं। औपचारिक रूप से आपसे वोट की अपील करना एक मजबूरी है, क्यों? कभी सोचा? आज यह एक ऐसा प्रश्न है जिसका जवाब देश की दिशा बदल देगा। भारत में सिर्फ वोट देना, यहाँ के नागरिकों की इच्छा पर है। मगर वोट देना सबसे बड़ा दान है। इस दान के अलावा भारत के नागरिकों को, दान से बनी सरकार और संसद की हर उस बात को सर झुका कर मान लेना है जो वहां से सिर्फ आपके लिए अनिवार्य बनकर निकलती है। सरकार बनाने की लिए मत (वोट) को दान कहना और समझाना ही सबसे बड़ा धोखा है। अब वोट दान नहीं है। दान है तो दान देकर भूल जाना किसी भी दान की पहली शर्त है। दान लेने के लिए कोई प्रपंच नहीं किया जाता। अरबों- खरबों का खर्च नहीं किया जाता। आत्मनिर्भर देश में लोकतंत्रा आज भी एक-एक वोट के लिए वैसे ही गड़गिड़ा रहा है जैसे आम आदमी अपने अधिकारों और आय के लिए। वोट के अलावा देश के लिए कुछ और दान नहीं किया जाता। यह दान भी तब करना है जब संवैधानिक सरकार शक्तिहीन है। वाह!

मजीठिया मंच से जुड़ रहे दैनिक जागरण के पत्रकार, प्रबंधन चिंतित

मजीठिया मंच से दैनिक जागरण के पत्रकार तेजी से जुड़ रहे हैं। भरोसेमंद सूत्रों ने कहा है कि जागरण प्रबंधन ने एक बैठक कर यह विचार किया है कि मजीठिया वेतनमान से संबंधित एरियर को लेकर अब फजीहत नहीं करानी है और इस पर गंभीरता से विचार किया जाना है कि क्‍या फैसला करना है। मजीठिया मंच को बड़ी संख्‍या में ऐसे पत्रकारों के भी मेल आ रहे हैं, जिन्‍हें कांट्रैक्‍ट पर रखा गया था। वे यह पूछ रहे हैं कि उन्‍हें मजीठिया वेज बोर्ड की सिफारिशों के तहत एरियर का लाभ मिलेगा या नहीं। मजीठिया मंच इस संदर्भ में कानूनी विशेषज्ञों की सलाह ले रहा है और उसने ऐसे पत्रकारों से अपील की है कि वे अपने मेल के सब्‍जेक्‍ट में कांट्रैक्‍ट शब्‍द लिखना न भूलें ताकि उनकी अलग से सूची तैयार की जा सके। इसके अलावा दूसरे अखबारों के लोग भी मजीठिया मंच से जुड़ रहे हैं। उनसे मजीठिया मंच ने अपील की है कि वे कम से कम 20 के समूह में मजीठिया मंच से जुड़ें ताकि उनका डाटा व्‍यवस्थित करने में सुविधा हो।

अन्ना हज़ारे ने तेवतिया से की अनशन खत्म करने की अपील

दिल्ली के जंतर मंतर पर किसान नेता मनवीर तेवतिआ के अनशन का 20वां दिन था। सामाजिक कार्यकर्ता अण्णा हजारे ने मनवीर तेवतिया को अनशन ख़त्म करने का अनुरोध किया है और पुरे देश में किसान आन्दोलन का नेतृतव करने के लिए कहा। हम सरकार से अनुरोध करते हैं कि मनवीर तेवतिया जी के मांग को अविलम्ब स्वीकार करें और किसानों को भूखे मरने से बचाएं। अन्यथा युवा वर्ग फेसबुक से ज्यादा किसान और कृषि के लिए सोचता है यह बात सरकार न भूले। आने वाले दिनों में किसान के हित के लिए दिल्ली में जोरदार आंदोलन होगा। जय कृषि, जय किसान। चलो जंतर मंतर।

तब अफवाह उड़ी थी कि सहारा ने अखबार हेलीकाप्टर से पहुंचाया है

राष्ट्रीय सहारा के 22 साल पूरे हो गए। मन अतीत की यात्रा कर रहा है। उस वक्त गोरखपुर सहारा का बड़ा केंद्र हुआ करता था, सुब्रत रॉय के गृह जनपद होने के नाते। सो जब अखबार शुरू हुआ तो गोरखपुर ब्यूरो भी शुरू हुआ। बड़ी ऊर्जावान टीम थी। हर्षवर्धन शाही, दीप्त भानु डे, रत्नेश श्रीवास्तव। सच कहूं तो उस दौर में गोरखपुर जैसे छोटे शहर में अखबारी दुनिया करवट बदल रही थी। बुजुर्ग पत्रकारों की एक पूरी पीढ़ी अवकाश प्राप्ति की दिशा में अग्रसर थी और सुजीत पाण्डेय जैसे युवा ने जागरण का सम्पादकीय दायित्व सम्हाला हुआ था। मगर इस बदलाव का वाहक बना था राष्ट्रीय सहारा।

लाइव डिबेट के थप्पड़ मार होते ही एंकर चित्रा त्रिपाठी भी हिल गईं

आम आदमी पार्टी की बागी सदस्य टीना शर्मा ने आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता एजाज खान को इंडिया न्यूज चैनल पर लाइव डिबेट के दौरान थप्पड़ जड़ दिया. न्यूज चैनल पर इस मुद्दे पर बहस चल रही थी कि क्या केजरीवाल भी जाति-जुगाड़ की राजनीति करते हैं? इस बहस के दौरान टीना शर्मा और आम आदमी पार्टी के समर्थक एजाज खान के बीच काफी कहासुनी भी हुई. एंकर ने कई बार दोनों को शांत करने की भी कोशिश की लेकिन दोनों के बीच तू-तू मैं-मैं बढ़ती चली गई. बात इतनी बढ़ गई कि टीना ने आपा खो दिया और एजाज खान को तमाचा जड़ दिया. तमाचे की ये घटना लाइव प्रसारित हो गई.

”स्व. गणेश मन्त्री पत्रकारिता पुरस्कार” से वरिष्ठ पत्रकार प्रकाश दुबे सम्मानित

जयपुर : वरिष्ठ पत्रकार प्रकाश दुबे को स्व. गणेश मन्त्री पत्रकारिता पुरस्कार से सम्मानित किया गया है. दुबे को यह पुरस्कार सांसद संजय निरूपम एवं वरिष्ठ पत्रकार  नंदकिशोर नौटियाल ने प्रदान किया। परहित सेवा संघ के संस्थापक अध्यक्ष रामगोपाल शर्मा की पुण्यस्मृति में मुम्बई में आयोजित इस आयोजन में दुबे को पुरस्कार स्वरूप 51000 रुपए, शॉल, श्रीफल और प्रशस्ति पत्र दिया गया।

India News पर Live थप्पड़ (देखें वीडियो)

Awadhesh Kumar : मुझसे India News को लेकर ऐसे प्रश्न किए जाते हैं जिनका उत्तर देना मेरे लिए कठिन होता है। आज 5 बजे की बहस में क्या हुआ,  यह मुझे पता भी नहीं था। जब मित्रों का फोन और संदेश आना शुरू हुआ तब मुझे पता चला कि एजाज खान को टीना शर्मा ने बीच बहस में थप्पड़ मार दिया। इस घटना पर क्या कहा जाए। यह हर दृष्टि से निंदनीय और आपत्तिजनक है। लेकिन इस पर मैं क्या बोल सकता हूं।

कुख्यात कार्पोरेट-मीडिया दलाल नीरा राडिया को क्लीनचिट देने की तैयारी

कुख्यात कार्पोरेट और मीडिया दलाल नीरा राडिया को क्लीन चिट देने की तैयारी है. कहा जा रहा है कि सीबीआई को इसके खिलाफ कोई सबूत नहीं मिले. बातचीत के टेपों के आधार पर नीरा के खिलाफ सीबीआई को कोई आपराधिक मामला नहीं दिखा. लिहाजा वह केस बंद करने के बारे में सिफारिश करने की तैयारी कर रही है. सूत्रों का कहना है कि सीबीआई नीरा को क्लीन चिट दे सकती है.

मुंबई के होटल में ‘मिड डे’ की चार पत्रकारों से बदसलूकी, आरोपियों से पुलिस का याराना

नई दिल्ली: मुंबई के होटल अदिति में कुछ लोगों ने महिला पत्रकारों से अभद्र तरीके से बात करना शुरू किया. ये चारों महिलाएं मुंबई के दैनिक अखबार मिड डे की पत्रकार हैं. इनके पीछे बैठे लोगों ने महिलाओं को घूरना शुरू किया और विरोध करने पर गाली गलौज भी करनी शुरू कर दी. यह घटना 18 फरवरी दोपहर दो बजे की है जब मिड डे के पांच पत्रकार ऑफिस के पास में स्थित एक वेजेटेरियन रेस्त्रां में लंच करने गए थे.

न्यूज चैनल के इन पत्रकारों से सावधान रहें, फर्जी गैंगरेप की साजिश भी रचते हैं ये

गाजियाबाद से खबर है कि मेरठ की महिला के साथ गैंगरेप की कहानी पुलिस की जांच में फर्जी निकली. शर्मनाक बात यह है कि एक प्रॉपर्टी डीलर और रिटायर्ड डिप्टी मैनेजर से फ्लैट और 15 लाख रुपये ऐंठने के लिए यह साजिश एक न्यूज चैनल के दो पत्रकारों ने रची. इन्होंने पहले एक महिला को मोहरा बनाकर उसके साथ संबंध बनाए ताकि मेडिकल जांच में रेप की पुष्टि हो सके। इसके बाद बाकायदा चैनल के दफ्तर में उसे रेप की स्क्रिप्ट रटाई.

सुब्रत राय का बड़बोलापन उन्हें 26 फरवरी को जेल भिजवाएगा!

हाल के दिनों में सुब्रत राय के कई वीडियो सामने आए हैं जिसमें उन्होंने सुप्रीम कोर्ट का न सिर्फ मजाक उड़ाया बल्कि यह भी कहा कि सुप्रीम कोर्ट गलत रास्ते पर है और उसे खुद गलती का एहसास है. सुब्रत राय ने ये भी कहा कि सुप्रीम कोर्ट जल्द ही अपने गलत फैसले को पलटेगा लेकिन इसमें थोड़ा वक्त लगेगा क्योंकि सुप्रीम कोर्ट की छवि का मामला है. सुब्रत राय ने इन वीडियो में इशारे इशारे में सुप्रीम कोर्ट के खिलाफ भी मोर्चा खोलने की धमकी दे डाली है. सूत्रों के मुताबिक इन वीडियोज को सुप्रीम कोर्ट के जजों तक कुछ लोगों ने भिजवाया है और इसे देखकर जज काफी नाराज हैं.

मिस्र में अल जजीरा के पत्रकारों पर मुकदमा, मुस्लिम ब्रदरहुड का समर्थन करने का आरोप

मिस्र की अदालत में अल जजीरा के पत्रकारों पर सुनवाई हो रही है. इन पर आरोप है कि वह मुस्लिम ब्रदरहुड का समर्थन करते हैं. पत्रकारों की गिरफ्तारी के बाद मिस्र के सैन्य शासन पर सेंसरशिप के आरोप लग रहे हैं. कतर में स्थित अल जजीरा के पत्रकारों पर मुकदमा ऐसे समय में चलाया जा रहा है जब दोहा और काहिरा के बीच रिश्ते ठीक नहीं है. कतर कभी राष्ट्रपति मोहम्मद मुर्सी का समर्थक हुआ करता था, लेकिन मिस्र की सेना ने मुर्सी को सत्ता से बेदखल कर दिया. मिस्र में मुस्लिम ब्रदरहुड प्रतिबंधित संगठन है. अभियोजन पक्ष का आरोप है कि बचाव पक्ष, ने फुटेज के साथ छेड़छाड़ की और ब्रदरहुड का समर्थन किया. आरोपियों में पुरस्कृत ऑस्ट्रेलियन पत्रकार पीटर ग्रेस्ट और मिस्र-कनाडाई मोहम्मद फादेल फहमी शामिल हैं.

बरेली के हिंदुस्तान और जागरण में कई आए-गए, राजकुमार अमर उजाला पहुंचे

दैनिक हिंदुस्तान, बरेली में कार्यरत जगमोहन शर्मा का तबादला लखीमपुर खीरी कर दिया गया है. मुदित त्यागी को लखीमपुर से बदायूं भेजे जाने की सूचना है. बदायूं में तीन साल से जमे उपेंद्र द्विवेदी को बरेली में डेस्क पर लाया गया है. बरेली देहात डेस्क पर तैनात प्रमोद यादव ने दैनिक जागरण जाने की तैयारी कर ली है. उन्होंने इस्तीफे का नोटिस प्रबंधन को थमा दिया है.

पत्रकार रवींद्र शाह की स्मृति में अन्धशाला की बालिकाओं को उपयोगी सामान भेंट

: स्व. शाह के द्वितीय पुण्य स्मरण पर आत्मीय आयोजन : इंदौर : देश के वरिष्ठ पत्रकार स्व. रवीन्द्र शाह की द्वितीय पुण्य तिथि पर उनके परिजनों ने महेश दृष्टिहीन कल्याण संघ की बालिकाओं को उपयोगी सामान भेंट की. इसके साथ ही स्व. शाह की स्मृति में बालिकाओं को भोजन भी कराया. उल्लेखनीय है की वरिष्ठ पत्रकार रवीन्द्र शाह की दो साल पहले इंदौर से भोपाल जाते वक्त सीहोर के समीप कार दुर्घटना में शिवरात्री (20 फरवरी 2012) के दिन मौत हो गई थी.

भास्कर टीवी से सावधान, दुकान सजने से पहले उजड़ने को तैयार

भास्कर वालों के खानदान की एक पार्टनर हेमलता अग्रवाल भास्कर टीवी ला रही हैं. इसका जिम्मा उन्होंने राहुल मित्तल नामक युवा पत्रकार को दिया है जो कभी मेरठ में स्ट्रिंगर हुआ करता था. अचानक से मैनेजिंग डायरेक्टर बने राहुल मित्तल को चार-पांच करोड़ रुपये के भीतर चैनल लांच कर देने और चला देने का काम दिया गया है. इतने कम बजट में चैनल कैसे लांच हो सकता है और चल सकता है… सो, शुरुआत ही चैनल की आईडी बेचने से की गई ताकि रेवेन्यू आए. कई शहरों में इंटरव्यू किए गए और सेक्युरिटी मनी जमा करने व पैसे देकर आईडी लेने को इच्छुक लोगों को वरीयता दिया गया.

महाफ्रॉड भास्कर वालों की महाठगी : एनजीओ के जरिए शिक्षित बेरोजगारों के साथ करोड़ों रुपये की ठगी

Pradeep Mishra‎ : दैनिक भास्कर ग्रुप द्वारा संचालित एनजीओ एन.आई.सी.टी. NICT और दैनिक भास्कर के संचालकों ने केन्द्र सरकार की योजना ई-गर्वनेंस के तहत इन्दौर-उज्जैन संभाग के 2158 ग्रामीण शिक्षित बेरोजगारों के साथ करोड़ों रुपये की ठगी की है… विशेष न्यायाधीश भ्रष्टाचार निवारण में अपराध धारा 467, 468, 471, 420, 109, 120 बी सहपठित धारा 34 भा.द.वि. के अंतर्गत एवं धारा 13 (1) (डी) भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम 1988 के तहत दैनिक भास्कर ग्रुप व राज्य शासन के दो वरिष्ठ IAS व एक IFS और नीचे दिए गए अन्य आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर केन्द्र व राज्य सरकार से अभियोजन स्वीकृति लाने के लिए आदेश…

आशुतोष की सलाह पर केजरीवाल ने अंबानी पर तीर मार साधे कई निशाने

आईबीएन7 के मैनेजिंग एडिटर रहे आशुतोष ने अपना पाप धो लिया है. अंबानी को ऐसा तगड़ा सबक सिखाया कि वो जीवन भर भूले नहीं भूलेगा. सैकड़ों लोगों की आईबीएन7 से छंटनी कराने के बाद नेटवर्क18 के कर्ताधर्ता अंबानी गिरोह के राघव बहल ने अपने बॉस के निर्देश पर आशुतोष को भी अल्टीमेटम दे दिया. टीआरपी में चैनल के लगातार मार-मात खाने के कारण प्रबंधन बड़ा फैसला ले चुका था और आशुतोष का कह दिया था कि अब आप जा सकते हैं.

महुआ वाले पीके तिवारी अब चिटफंड का धंधा कर जनता को लूटने में जुटे

Abhijeet Kumar : स्ट्रिंगरों का पैसा हड़प जाने के साथ-साथ पी.के. तिवारी आम लोगों के खून-पसीने की कमाई को भी डकारने की फिराक में हैं. शायद यह बात बिहार के बाहर के लोग नहीं जान रहे होंगे। बिहार के मधुबनी, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर, सीतामढ़ी सहित आठ जिलों में महुआ ने अपना चिटफंड कंपनी का ऑफिस खोल रखा है और पटना के जी.बी. मॉल में इसका शानदार हेड ऑफिस है।

शरद शंखधर, जुगुल किशोर उपाध्याय, भोला नाथ शुक्ला, बृज बिहारी चौबे, चंदन श्रीवास्तव के बारे में सूचनाएं

दैनिक जागरण, हल्द्वानी में प्रबंधक अशोक त्रिपाठी की संपादकीय में दखलंदाजी से इस्तीफों का दौर जारी है. बताया जा रहा है कि एक महीने पहले यहां सीनियर सब एडिटर के पद पर ज्वाइन करने वाले शरद शंखधर ने संस्थान छोड़ दिया है. वो घर में किसी की तबीयत खराब होने की बात कह कर बदायूं गए फिर लौटे नहीं. इसी तरह प्रबंधन की नीतियों से नाराज होकर जुगुल किशोर उपाध्याय ने इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने सब एडिटर के पद पर अमर उजाला, चंडीगढ़ के साथ नई पारी की शुरुआत की है. दैनिक जागरण, हल्द्वानी में दो गुट हैं और यहां प्रबंधक का संपादकीय में काफी हस्तक्षेप रहता है जिससे आए दिन विवाद पैदा होता है.

हिंदुस्तान वाले छंटनी की कर रहे तैयारी, पत्रकारों का लिया जा रहा टेस्ट

कहने को तो मीडिया इंडस्ट्री में कहा जाता है कि कंटेंट इज किंग लेकिन कंटेंट की असल औकात मीडिया हाउसों में दो कौड़ी की होती है, दूसरे पायदान की होती है, सेकेंड ग्रेड की होती है. यही कारण है कि पत्रकारों के साथ प्रबंधन बेहद घटिया, सौतेला और अमानवीय व्यवहार करता है. जब चाहे जिसे रख लो और जब चाहे जिसे भी कान पकड़ कर बाहर कर दो. आजकल हिंदुस्तान अखबार में आंतरिक तौर पर खूब उठापटक है.

सुभारती टीवी से नीरज शर्मा गए, पुष्य मित्र का प्रभात खबर रांची से पटना तबादला

मेरठ से संचालित सुभारती टीवी के चैनल हेड नीरज शर्मा के बारे में पता चला है कि उनका विकेट गिर चुका है. सूत्रों के मुताबिक नीरज को सुभारत विश्वविद्यालय के मास कम्युनिकेशन डिपार्टमेंट के आफिसिएट डायरेक्टर पद से भी हटा दिया गया है.

‘हनीमनी’ मैग्जीन वालों ने अनुवाद कराने के बाद पैसा नहीं दिया

Ashish Maharishi : जयपुर से एक पत्रिका निकलती है 'हनीमनी'.. कई अनुवाद किए… जब मेहनताना माँगा, तब पत्रिका के मालिक कंगाल निकले… इसी तरह बरसों पहले भोपाल में एक पत्रकार के पास खाने को पैसे नहीं थे… मुसीबत में हज़ारों उधार दिए भाई को और आज तक नहीं मिले.. अफ़सोस दोनों बार पत्रकार ही धोखेबाज़ मिले। समय आ गया है ऐसे लोगों का नाम सार्वजानिक किया जाए.

अमर उजाला डाट काम में सेक्स संपादक की तैनाती!

आजकल कई बड़े मीडिया हाउसों के वेब पोर्टलों में नंगई छापने दिखाने की होड़ लगी हुई है. भास्कर डाट काम तो इसके लिए कुख्यात रहा है. आजतक वालों की वेबसाइट पर भी खूब सेक्स और पोर्न प्रकाशित किया जाता है. इसको लेकर भड़ास के पास कई लोगों के मेल आते हैं. ताजी सूचना के मुताबिक सेक्स रेस में अमर उजाला का वेब डिवीजन भी शामिल हो चुका है. ये लोग भी भास्कर वालों की तरह ही सेक्सी खबरें फोटो फीचर की तर्ज पर बनाकर परत दर परत पढ़ाते हैं.

आज तक के so sorry के क्या कहने… लाजवाब

Nadim S. Akhter :  कहते हैं कि नकल भी अक्ल लगाकर करनी चाहिए. टीवी प्रॉडक्शन में माहरत हासिल करने की सोचने वालों और एक शानदार हास्य खबरनुमा प्रोग्राम बनाने के बारे में सोचने वालों को ये वीडियो जरूर देखना चाहिए. देखिए कि अर्नव गोस्वामी, अरविंद केजरीवाल और मीनाक्षी लेखी आदि की कैसे नकल की जा रही है. पात्रों की आवाज, उनके बोलने का स्टाइल और भावभंगिमाएं भी बहुत हद तक मिलाने की कोशिश की गई है. साथ ही इस पूरे फर्जी डिबेट में कंटेंट कहीं से कमजोर नहीं है. यह देखने-सुनने वाले को गुदगुदाता है.

टीवी की तंज पत्रकारिता यानी बाबाजी का ठुल्लू

Nadim S. Akhter : अगर आप कोई बात लिखते या कहते हैं तो अलग-अलग लोग इसे विभिन्न रूपों में ग्रहण करते हैं. आप कोई खबर लिखते-दिखाते हैं तो आपको भी अंदाजा नहीं होता कि पाठक-दर्शक उसे किस रूप में ग्रहण कर रहा है. ये बात इसलिए भी कि आजकल टीवी पर तंज-पत्रकारिता दिख रही है, यानी खबर नहीं, भाव बताए जा रहे हैं. ये सोचकर कि दर्शक भी इसे उसी अंदाज में ग्रहण कर रहा होगा, जो सोचकर ये बात स्क्रिप्ट राइटर-वीओ आर्टिस्ट ने लिखी-कही थी.

मजीठिया से बचने के लिए हिंदुस्तान ने अपने मीडियाकर्मियों को नई कंपनी में डाला

ये पूंजीपति पैसे के इतने भूखे प्यासे रहते हैं कि इसके लिए वे नियम, कानून, शासन, प्रशासन तक को धता बताते रहते हैं. मीडियाकर्मियों के लिए मजीठिया वेज बोर्ड की सिफारिशें लागू करने के सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद हिंदुस्तान अखबार की मालकिन शोभना भरतिया ने पैसे बचाने के लिए गजब की तकनीक निकाली. इन्होंने अपने मैनेजरों को कह दिया कि वे मीडियाकर्मियों को एक नई कंपनी में डाल दें और कंपनी ऐसी बनाएं जिससे लगे कि ये मीडिया कंपनी है और मजीठिया के दायरे में भी न आती हो.

केजरीवाल ने लेटर लिखकर पूछा- क्या मोदी की रैलियों का खर्च मुकेश अंबानी उठाते हैं?

अरविंद केजरीवाल ने एक बार फिर नरेंद्र मोदी पर हमला बोला है. उन्होंने चिट्ठी लिखकर मोदी से पूछा है कि भारतीय जनता पार्टी वालों के इंडस्ट्रलिस्ट मुकेश अंबानी से क्या रिश्ते हैं? केजरीवाल ने पूछा है कि मोदी बताएं कि वह मुकेश अंबानी को किस दर पर गैस देंगे? उन्होंने कहा कि मोदी गैस के दाम पर अपना रुख साफ करें.  केजरीवाल ने मोदी को लेटर लिखकर पूछा है कि मुकेश अंबानी और मोदी के क्या रिश्ते हैं? क्या मोदी के रैली का खर्च मुकेश अंबानी उठाते है?

सुब्रत राय के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट सख्त, व्यक्तिगत रूप से कोर्ट में पेश होने के आदेश

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने आदेश के बावजूद निवेशकों को 20,000 करोड़ रुपये नहीं लौटाने के मामले में सहारा समूह के खिलाफ बेहद सख्त रुख अख्तियार किया है। कोर्ट ने सहारा प्रमुख सुब्रत राय को समन जारी कर व्यक्तिगत रूप से पेश होने का आदेश दिया है। इसके साथ ही कोर्ट ने बाजार नियामक सेबी को सहारा समूह की कंपनियों की संपत्तियां बेचकर रिकवरी करने की भी अनुमति दी है।

राडिया टेप जांच हो सकती है बंद

नई दिल्ली। नीरा राडिया टेप मामले में उद्यमियों और नौकरशाहों के साथ हुई बातचीत के आधार पर दर्ज 14 शुरुआती रिपोर्ट (पीई) में सीबीआई को ऐसा कुछ नहीं मिला है, जिसे अपराध की श्रेणी में रखा जा सके। जांच एजेंसी जल्द ही सुप्रीम कोर्ट को यह जानकारी दे सकती है। सीबीआई के सूत्रों ने बताया कि एजेंसी ने सभी टेपों की गहनता से जांच की, लेकिन उन्हें ऐसा कोई सबूत नहीं मिला, जिसके आधार पर 14 पीई में से किसी एक में भी केस दर्ज किया जा सकता।

भाजपा के 400 करोड़ के विज्ञापन कैंपेन पर विवाद

भाजपा की ओर से अपने पीएम पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी की छवि चमकाने के लिए 400 करोड़ रुपये खर्च किए जाने की खबरों को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने इसे लेकर भाजपा पर हमला बोला है और कहा है कि काले धन का मुद्दा अक्सर उछालने वाली भाजपा अब जनता और उद्योगपतियों का पैसा मोदी के प्रचार में खर्च करने जा रही है। हालांकि भाजपा ने 400 करोड़ रुपये खर्च करने की खबरों को खारिज किया है।

आईआरएस 2013 के नतीजों पर 31 मार्च तक रोक

नई दिल्ली : देश के प्रमुख अखबारों की रीडरशिप के गलत व भ्रामक आंकड़े पेश कर विवादों में घिरे इंडियन रीडरशिप सर्वे (आईआरएस) 2013 के नतीजों पर आखिरकार रोक लगा दी गई है। रीडरशिप स्टडीज काउंसिल ऑफ इंडिया (आरएससीआई) की प्रबंध समिति और मीडिया रिसर्च यूजर्स काउंसिल (एमआरयूसी) की बुधवार को मुंबई में हुई बैठक में नतीजों पर 31 मार्च तक रोक लगाने का फैसला लिया गया। इस सर्वे के गलत आंकड़े पेश करने की वजह से देश भर के प्रमुख अखबार काफी नाराज थे और उन्होंने इसका विरोध करते हुए नतीजों को मानने से इनकार कर दिया था।

इस देश में बहुत कुछ ठीक नहीं है मी लॉर्ड

Sanjaya Kumar Singh : आईसी-814 का अपहरण भी ठीक नहीं था… पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या के अभियुक्तों की फांसी की सजा कम करके उम्र कैद में बदलना कानूनी दृष्टि से भले सही हो, व्यावहारिक नहीं है। सोनिया गांधी ने भले ही अपने पति के हत्यारों को माफ कर दिया हो पर कानूनन इसका कोई मतलब नहीं होना चाहिए। फांसी की सजा ठीक नहीं है पर उड़ान संख्या आईसी-814 का अपहरण भी ठीक नहीं था, रुपेन कत्याल की हत्या भी ठीक नहीं थी और उसके हत्यारों पर तो मुकदमा भी नहीं चला। यह कहां ठीक था।

रवीन्द्र शाह की द्वितीय पुण्य तिथि पर इंदौर में 27 फरवरी को आयोजन

नमस्कार। हम सबके प्रिय रवींद्र शाह सर की द्वितीय पुण्यतिथि के उपलक्ष्य में इंदौर के जाल सभागार में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। आयोजन समिति देश-विदेश में ख्याति प्राप्त 'सनसनी' एंव विभिन्न सम्मान और उपाधियों से विभूषित श्रीयुत्त श्रीवर्धन त्रिवेदी एंव भारतीय सिनेमा के प्रख्यात निर्देशक-निर्माता एवं नायक श्री राजपाल यादव को विशिष्ट अतिथि के ऱूप में प्राप्त कर गौर्वान्वित अनुभव कर रही है।

छेड़छाड़ प्रकरण से संबंधित सीसीटीवी फुटेज तरुण तेजपाल के हवाले

पणजी: पिछले साल नवंबर में अपनी एक जूनियर सहकर्मी से होटल में बलात्कार करने के आरोपों का सामना कर रहे तहलका के संस्थापक संपादक तरूण तेजपाल को एक स्थानीय अदालत ने उत्तरी गोवा के पांचसितारा होटल की सीसीटीवी फुटेज आज सौंप दी. तेजपाल के वकील संदीप कपूर ने कहा, ‘‘हमें सीसीटीवी फुटेज मिल गई है. हम मुकदमा लड़ने में इसे सबूत के तौर पर पेश करेंगे.’’

क्या ‘तहलका’ बंद होने वाला है?

चर्चा तेज है कि 'तहलका' बंद होने वाला है. यहां कार्यरत ढेर सारे लोगों को प्रबंधन ने खुद इस्तीफा देने या फिर बर्खास्त होने के लिए तैयार रहने का नोटिस भेजा है. इस बारे में जब लोगों ने 'तहलका' के प्रबंधन से संपर्क किया तो वहां से बताया गया कि कास्ट कटिंग की जा रही है.

दुष्कर्म मामले को तरुण तेजपाल ने धर्मनिरपेक्षता बनाम सांप्रदायिकता का मामला बनाया!

पणजी : तहलका के पूर्व प्रधान संपादक तरुण तेजपाल द्वारा दुष्कर्म मामले की सुनवाई को धर्मनिरपेक्षता बनाम सांप्रदायिकता से जोड़ने के प्रयास की पत्रकारों ने आलोचना की है। तेजपाल ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का नाम लिए बगैर सोमवार को अपने बयान में कहा था कि उनके खिलाफ 'सुनियोजित' मामला चलाया जाना 'सांप्रदायिक ताकतों द्वारा भारतीय बहुलतावाद' पर हमला है।

‘इंडिया न्यूज’ ने ‘जी न्यूज’ को गटका, अब ‘न्यूज नेशन’ पीछे पड़ा

'जी न्यूज' की इतनी दुर्गति कभी नहीं हुई. बेचारा हर तरफ पिट रहा है. अंदर भी, बाहर भी. टीआरपी के नए चार्ट बताते हैं कि इंडिया न्यूज ने जी न्यूज को पछाड़ दिया है. इस तरह दीपक चौरसिया अपने न्यूज चैनल इंडिया न्यूज को नंबर चार पर ले जाने में सफल हुए हैं. जी न्यूज नंबर पांच पर भी सुरक्षित नहीं है. उसके ठीक नीचे एक नया और होनहार खिलाड़ी मुंह बाए खड़ा है.

पत्रकार राजेंद्र श्रीवास्तव उर्फ निशिकांत का निधन

नई दिल्ली : हिन्दी के प्रसिद्ध व्यंग्यकार एवं पत्रकार राजेन्द्र श्रीवास्तव उर्फ निशिकांत का ब्रेन हेमरेज के कारण बुधवार को दिल्ली के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। वह 72 वर्ष के थे। उनके दो बेटे व दो बेटियां हैं। कुछ साल पहले ही उनकी पत्नी का निधन हो गया था।

पटना के दलित प्रेमी संताजी और साहित्यकार बंताजी

राजधानी पटना में इन दिनों नए संता और बंता कि खूब धूम है। इनकी धूम "धूम" फिल्म जैसी नहीं बल्कि समाज तोड़क-सी है। संता बड़े हैं, पढ़े-लिखे हैं, दलित हैं। संता एक चेहरा उतारते हैं तो इनके चेहरे पर तुरंत एक नया चेहरा उग आता है–एकदम डरावना, एकदम अबूझ! संता "संत" बनकर ही इनको-उनको गालियाँ देते हैं। गरियाने के सारे कॉपीराइट्स संता ने ले रखे हैं। जब तक आप "संता-बंता" की इस हॅारर फिल्म के बीच में क़ोई अच्छा-सा दृश्य ढ़ूंढ़ें, तब तक मैं संता के जीवन में दलित-प्रेम कितना है, उसका एक प्रसंग सुना दूं। हुआ यूं कि, "पटना प्रगतिशील लेखक संघ" ने एक समाचार जारी किया था। समाचार में हमारे एक दलित कवि मित्र का नाम जाने से रह गया। इस पर संता इस कदर नाराज हुए कि Facebook पर तुरंत यह कहते हुए आंदोलन छेड़ दिया कि "किसी भी दलित का नाम कोई छोड़ेगा तो मैं उसे नहीं छोडूंगा!" बात यहीं खत्म नहीं हुई। जिस साथी ने समाचार जारी किया था, उन्हें धमकी दे डाली कि वे पटना में कहीं आ-जा नहीं सकते। संता के "दलित प्रेम" पर बहुत खुशी हुई थी। मैंने संता से कहा भी, "संताजी, जिस दलित साथी का नाम छोड़ दिए जाने से आप इतना आक्रोश दिखला रहे हैं, उनकी कविताओं का संग्रह आया है, आप कृपया पुस्तक के लोकार्पण करवाने में सहयोग कर दें।" इस बीच, आप पाठकवृंद थोड़ा बादाम "फाँक" लें। मै आपको बतलाता चलूं, संग्रह का लोकार्पण करवाने में संताजी का सहयोग आज तक नहीं मिला है। बस गरियाने तक ही था संताजी का दलित प्रेम!

आखिर क्यों पिटते हैं नेताजी जूते-चप्पलों से?

भारत में मंत्रियों और नेताओ को आम तौर पर फूल-मालाओ से स्वागत करते देखा जाता था, परंतु पिछले कुछ सालो से आम जनता इनका स्वागत करने के लिए फूलों पर पैसा खर्च किये बिना, अपने पैरों में पहने जूते-चप्पलों और शरीर के महत्वपूर्ण अंग हाथ का इस्तेमाल कर रही है। अब सवाल यह है कि आखिर आम जनता को जूते-चप्पलों का सहारा क्यों लेना पड़ रहा है? दरअसल भारत में नेताओं की बहुत इज्जत होती थी। पर जैसे-जैसे आम जनता ये समझने लगी की भ्रष्टाचार और बुनियादी असुविधाओ के पोषक, यही नेता जी हैं तभी से आम जनता गुस्से से लाल है और अपनी नाखुशी का इजहार करने के लिए हाथ-पैर और जूते-चप्पल चला रही है।

‘लाइव इंडिया’ पर चला हिंदी टीवी पत्रकारिता इतिहास का सबसे घटिया कंटेंट… एनके सिंह के पास कोई जवाब है?

Yashwant Singh :  आज तो हिंदी टीवी पत्रकारिता के इतिहास में ग़ज़ब का दिन शामिल हो गया. ब्राडकास्ट एडिटर्स एसोसिएशन (बीईए) के महासचिव और वरिष्ठ पत्रकार एनके सिंह के प्रधान संपादकत्व वाले न्यूज चैनल लाइव इंडिया में एक टुच्चे-से सगाई समारोह का लगातार लाइव टेलीकास्ट चला. पुणे के समृद्ध जीवन परिवार (एक चिटफंड कंपनी जिसने आम जन से भैंस-बकरी-घोड़ा-कुत्ता आदि पालकर पैसे डबल करने के नाम पर हजारों करोड़ रुपये उगाह रखे हैं) के मालिकों के किसी परिजन के सगाई समारोह को शाम से लेकर देर रात तक लाइव इंडिया न्यूज चैनल पर देश का सबसे बड़ा प्रोग्राम, सबसे बड़ी खबर की तरह पेश किया गया.

होशियारपुर प्रेस क्लब का हुआ उदघाटन, मिला लाखों का चंदा

होशियारपुर, 18 फरवरी। प्रेस लोकतंत्र का चौथा स्तंभ है इसके मान-सम्मान में किसी भी तरह की अनदेखी नहीं होनी चाहिए है। यह विचार जिला परिषद होशियारपुर के चेयरमैन सर्बजोत सिंह साबी ने आज यहां चंडीगढ़-पंजाब यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स की जिला होशियारपुर इकाई द्वारा स्थापित होशियारपुर प्रेस क्लब के उदघाटन समारोह को संबोधित करते हुए कहे। …

भाजपा सत्ता में आएगी तो आचार्य तुलसी की जन्म शताब्दी मनाएगी

नई दिल्ली, 18 फरवरी। संसद में एक ओर तेलंगाना मुद्दे पर गर्मागर्म बहस छिड़ी हुई थी तो दूसरी ओर भारतीय संत परम्परा के शीर्षस्थ संतपुरुष आचार्य तुलसी के अवदानों की चर्चा को लेकर लोकतंत्र को एक नई दिशा देने के प्रयास किये जा रहे थे। संसद भवन में भाजपा के कार्यालय में करीब पन्द्रह सांसदों की उपस्थिति में आचार्य तुलसी जन्मशताब्दी समारोह पर चर्चा को लेकर आचार्य श्री महाश्रमण के शिष्य मुनिश्री राकेशकुमारजी की सन्निधि में देश के सम्मुख उपस्थित समस्याओं को लेकर सकारात्मक चर्चा का वातावरण बना। लोकसभा में विपक्षी नेता श्रीमती सुषमा स्वराज ने कहा कि वर्तमान में देश जिन जटिल परिस्थितियों से जूझ रहा है, इन हालातों में शांति एवं अहिंसा जैसे मूल्यों की स्थापना जरूरी है। उन्नत व्यवहार से जीवन को बदला जा सकता है और इसके लिए आचार्य श्री तुलसी द्वारा प्रारंभ किया गया अणुव्रत आंदोलन और उसकी आचार-संहिता जीवन-निर्माण का सशक्त माध्यम है।

मशहूर अभिनेत्री नलिनी जयवंत को मिला तो बस अकेलापन और गुमनाम मौत

हिन्दी सिनेमा में नलिनी जयवंत एक स्मरणीय नायिका रहीं हैं। गुजरे जमाने की बहुत सी बेहतरीन फिल्मों का स्मरण दरअसल नलिनी जयवंत का स्मरण भी है। राज खोसला की ‘कालापानी’ के लिए फिल्मफेयर पुरस्कार मिला था। आखिरी बार वो नास्तिक में अमिताभ बच्चन की मां के रूप में नजर आई थी। एक सीमा में अदाकारी विरासत में मिली थी। मशहुर अदाकारा शोभना सामर्थ की रिश्ते में चचाज़ात बहन थी। चिमन भाई देसाई व महबूब खान सरीखे फिल्मकारों से मिले ब्रेक से नलिनी का कैरियर शुरु हुआ। दिलीप कुमार के साथ ‘अनोखा प्यार’ से पहली बड़ी ख्याति मिली। इस त्रिकोणीय कहानी में दिलीप कुमार- नरगिस के साथ काम किया था। कहानी में नलिनी के किरदार की खूब तारीफ हुई। आपको मालूम होगा कि नलिनी एक समर्थवान पार्श्व गायिका भी थी। शुरूआती दिनों में अभिनय के साथ गाने भी गाया करती थीं। उनकी इस प्रतिभा को जानने-समझने के लिए नलिनी की शुरुआती फिल्मों की ओर लौटना होगा। जहां उनके तीस से अधिक गाने संग्रहित हैं।

कथाकार अमरकांत को राजकीय सम्मान के साथ दी गई अंतिम विदाई

इलाहाबाद। हिंदी कथा जगत में मुंशी प्रेमचंद परंपरा के यशस्वी कथाकार अमरकांत नहीं रहे। अशोक नगर के पंचपुष्प अपार्टमेंट के आवास पर उन्होंने आखिरी सांस लेते हुए इस नश्वर संसार को हमेशा-हमेशा के लिए अलविदा कह दिया। 18 फरवरी को दोपहर करीब दो बजे रसूलाबाद गंगाघाट पर विद्युत शवदाह गृह में हुई अंत्येष्टि में सैकड़ों साहित्यप्रेमियों ने अमरकांत को नम आंखों से आखिरी विदाई दी। खास बात यह है कि फिराक गोरखपुरी के बाद शायद अमरकांत ही ऐसे दूसरे कथाकार हैं, जिनको राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई। जिला प्रशासन ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया। दिल्ली से सोनिया गांधी और लखनऊ से राज्यपाल बीएल जोशी ने भेजे गए शोक संदेश में कहा है कि अमरकांत का निधन साहित्य जगत की अपूरणीय क्षति है।

नेवी विद्रोह में सरदार पटेल की भूमिका अंग्रेजों के प्रतिबद्ध वकील जैसी थी

भारत की आजादी की लड़ाई के कई प्रसंग बेहद कम चर्चित हैं। 1946 का नेवी विद्रोह भी हमारे स्वाधीनता संग्राम का एक कम चर्चित लेकिन गौरवशाली अध्याय है। यह देश की अवाम, यहाँ तक कि अंग्रेजों की रक्षा के लिए बनी सेनाओं के भीतर मुक्ति का विस्फोटक प्रकटीकरण था। यह तो सभी जानते हैं कि अंग्रेजी राज में, सेनाओं में हिन्दुस्तानियों के साथ जबरदस्त भेदभाव होता था। लेकिन वह 1857 रहा हो या 1946 जब भी सेनाओं के अन्दर से विद्रोह की चिंगारी फूटी, वह सिर्फ सिपाहियों या नाविकों के साथ भेदभाव पर ही सीमित नहीं रही, बल्कि जनता की मुक्ति का व्यापक सवाल भी इन विद्रोहों ने सामने रखा।

अशोक चतुर्वेदी के ठिकानों पर इनकम टैक्स का छापा, दो सौ करोड़ रुपये बरामद

लखनऊ : अशोक चतुर्वेदी की काली कमाई पर अब आयकर विभाग ने नजर जमा दी है. सारे दस्तावेज निकालने की कसरत शुरू हो चुकी है. बुधवार सुबह साढ़े आठ बजे से अशोक चतुर्वेदी की कंपनी यूफ्लेक्स समेत उनके 38 ठिकानों पर छापेमारी जारी है. मामला कितना गंभीर है इसको इससे ही समझा जा सकता है कि छापे के लिए आयकर विभाग ने सीआरपीएफ की चार प्लाटून की मदद ली है.

हाईकोर्ट ने कहा- ‘भारत निर्माण’ विज्ञापन पर खर्च जनहित का मुद्दा नहीं

लखनऊ : इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच ने पूर्व में सुरक्षित आदेश आज सुनाते हुए कहा कि उन्हें नहीं लगता कि सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर द्वारा भारत निर्माण विज्ञापन के खिलाफ की गयी प्रार्थना स्वीकृत करने से किसी प्रकार का जनहित होगा. न्यायाधीशगण इम्तियाज़ मुर्तजा और डी के उपाध्याय की बेंच ने कहा कि हाई कोर्ट पूर्व में ही भारत सरकार के विज्ञापन प्रकाशित किये जाने विषयक अधिकार को अशोक पाण्डेय बनाम भारत सरकार मामले में इस बाध्यता के साथ स्वीकार कर चुका है कि वह किसी संवैधानिक अथवा विधिक प्रावधानों के विपरीत ना हो.

पत्रकार हरिप्रसाद वर्मा इस्पात मंत्रालय उपभोक्ता परिषद के सदस्य मनोनीत

बाराबंकी। केन्द्रीय इस्पात मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा ने जनसंदेश टाइम्स के ब्यूरो प्रमुख व वरिष्ठ पत्रकार हरिप्रसाद वर्मा को इस्पात मंत्रालय उपभोक्ता परिषद का सदस्य मनोनीत किया है। वरिष्ठ पत्रकार हरिप्रसाद वर्मा लगभग 30 वर्षों से पत्रकारिता क्षेत्र से जुड़े हुये है।

उभरता समाजवादी नायक योगेंद्र यादव

: शिक्षाविद ले लेकर चुनाव विश्लेषक और अब तो बतौर राजनीतिज्ञ योगेन्द्र यादव ने समाज के हर वर्ग का दिल जीता है। उनकी छवि कट्टर भाजपा विरोधी की रही है, लेकिन उनके द्वारा की गई चुनावी भविष्यवाणी को झुठलाने का साहस भाजपा भी नहीं कर पाती है। राजनीति में इस शक्ति को स्वीकार्यता कहते हैं, जिसके धनी हैं योगेंद्र यादव। नरेंद्र मोदी इस मामले में बहुत ही कमजोर हैं। शहरी मतदाता राहुल गांधी को पचाने को तैयार नहीं है। मध्यम वर्ग अरविंद केजरीवाल को नौटंकीबाज समझने लगा है। आम चुनाव के बाद अगर स्थिति 1996 की तरह हुई और सरकार बनाने का मौका आम आदमी पार्टी को मिला, तो बहुत संभव है कि योगेंद्र यादव समाज के सभी वर्गों में अपनी स्वीकार्यता के सहारे केजरीवाल को मात दे सकते हैं। तो क्या योगेंद्र यादव होंगे देश के अगले प्रधानमंत्री?  पत्रकार अखिलेश अखिल की एक रिपोर्ट :

पैसे की कमी से पत्रकार नरेंद्र शर्मा का दूसरा आपरेशन छह महीने से लंबित

Dear Sir, A positive and proactive Young Journalist Shri Narendra Sharma had met with a very dangerous accident while covering blast of out dated water tanks in Bhopal. He did not loose courage and still continuing sincerely with his mission of positive coverage in spite the problem of his broken jaw and 18 teeth.

राष्ट्रीय सहारा, लखनऊ संस्करण की 22वीं सालगिरह पर अतीत की कुछ यादें

आज राष्ट्रीय सहारा लखनऊ संस्करण की 22वीं सालगिरह है. वर्षगांठ का महत्व हर जगह होता है, चाहे यह किसी मनुष्य के जीवन का पहलू हो, या संस्था अथवा संगठन के. इसकी अहमियत तब और बढ़ जाती है जब यह ऐसे व्यक्ति, संगठन या संस्था की ज़िन्दगी से सम्बन्धित हो जिसके प्रारम्भ से ही लोगों को शक़ रहा हो चाहे उसकी कोई भी वज़ह रही हो. लिहाज़ा मैं सबसे पहले अपने उन दर्ज़नों बिरादराना साथियों को भविष्य के लिए अप्रतिम शुभकामनाओं के साथ दिली मुबारक़बाद देना चाहता हूँ जो अब भी राष्ट्रीय सहारा में कार्यरत हैं, फिर वे लखनऊ, दिल्ली (नॉएडा), गोरखपुर, पटना, कानपुर, देहरादून, वाराणसी में, या कहीं – किसी ब्यूरो में ही क्यों न हों. हालांकि इनमें मेरे समकालीन या साथ राष्ट्रीय सहारा ज्वाइन करने वाले बमुश्किल एक-दो मुट्ठी लोग ही बचे हैं.

गुजरात में मीडिया विरोधी काला कानून, लोकायुक्त जांच की खबर छापने पर दो साल की जेल

Surendra Grover : स्व. राजीव गाँधी के प्रधानमंत्रित्व काल में एक प्रेस विरोधी बिल पास हुआ था कि किसी भी अख़बार में जिस जगह पर और जितने स्पेस में किसी के खिलाफ कोई खबर प्रकाशित हो, आरोपित व्यक्ति का खण्डन भी उसी स्थान पर और उतने ही स्पेस में प्रकाशित किया जाये.. इस पर पूरे देश का पत्रकार जगत विरोध में उठ खड़ा हुआ.. देश भर में धरने प्रदर्शन हुए और केंद्र सरकार को वह विधेयक वापिस लेना पड़ा.

अंबानियों-अडानियों के पालतू कांग्रेस-भाजपा बनाम अरविंद केजरीवाल का जनवादी रास्ता

Kanwal Bharti : अरविंद केजरीवाल को सलाम… अरविन्द केजरीवाल को भ्रष्ट दल सरकार चलाने ही नहीं दे रहे थे, उन्होंने इस्तीफ़ा दे दिया… अच्छा किया. अरविन्द के मुकाबले भ्रष्ट लोग, दल, घराने ज्यादा ताकतवर हैं… इसी से अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि भारत में सुधार कैसे किया जा सकता है? भ्रष्ट पूंजीवाद ने कांशीराम-मायावती को ठिकाने लगा दिया, वाम दलों को उखाड़ दिया,. अरविन्द केजरीवाल इनमें से नहीं थे, सो उन्होंने समझौता न करके इस्तीफ़ा देकर जनता के बीच में जाने का जो विकल्प चुना है, वही लोकतान्त्रिक और जनवादी रास्ता है. अरविन्द केजरीवाल को सलाम. (दलित चिंतक और साहित्यकार कंवल भारती के फेसबुक वॉल से.)

मोदी की रैली में टिकट पर भाजपा को सर्विस टैक्स चुकाने के आदेश

Sanjaya Kumar Singh : केंद्रीय उत्पाद शुल्क विभाग ने भारतीय जनता पार्टी को नोटिस भेजकर नरेंद्र मोदी की रैलियों में प्रवेश के लिए टिकटों पर सर्विस टैक्स (सेवाकर) भुगतान करने की मांग की थी। इस पर भाजपा की ओर से तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त किए जाने के बाद विभाग ने आनन-फानन में नोटिस वापस भी ले लिया है। खबरों के मुताबिक, केंद्रीय उत्पाद शुल्क आसूचना महानिदेशालय की लुधियाना इकाई ने भाजपा की चंडीगढ़ इकाई को पत्र भेजकर कहा था कि पार्टी को संग्रह की गई राशि का ब्यौरा प्रस्तुत करना चाहिए और अगर कोई कर बनता हो तो उसका भुगतान करना चाहिए।

पत्रकार की परिभाषा

Nadim S. Akhter : पत्रकार मतलब कोई बुद्धिजीवी. जिसे सब कुछ पता हो, जो अलग सोचता हो, लीक से हटकर, आम आदमी के चश्मे से चीजों को ना देखता हो. जिसके पास ज्ञान का भंडार हो, जो खूब किताबें पढ़ता हो. जिसने कोई किताब भी लिख ही डाली हो. जिसके घर में किताबों का कलेक्शन हो. जो सामाजिक प्राणी हो. प्रेस क्लब और दूसरी सार्वजनिक जगहों पर पाया जाता हो. नेटवर्किंग करता हो. -इस हाथ ले और उस हाथ दे- पर दिल से यकीन करता हो. फिर वह चाहे खबर हो या कुछ और. जो दुनिया में घटित होने वाली हर चीज पर कमेंट करने का माद्दा रखता हो.

इस संपादक को सिर्फ स्टिंग चाहिए

एक न्यूज चैनल के संपादक महोदय को सिर्फ स्टिंग चाहिए. बाकी कोई खबर नहीं. उन्होंने अपने स्टाफ से कह दिया है कि जाओ और स्टिंग ले आओ. बिजनेसमैन्स का स्टिंग, नेताओं का स्टिंग, बिल्डरों का स्टिंग, नौकरशाहों का स्टिंग, धनी आदमियों का स्टिंग… केवल स्टिंग करो. इस स्टिंगबाजी के लिए चैनल की तरफ से ढेर सारे खुफिया यंत्र खरीदवाए गए हैं. कैमरे वाला चश्मा पहनकर लड़कियां स्टिंग करने निकल चुकी हैं. कैमरा वाला कलम लेकर रिपोर्टर स्टिंग करने निकल चुके हैं. कैमरे वाला टीशर्ट पहनकर ब्यूरो वाले स्टिंग करने निकल चुके हैं.

जयललिता का मास्टर स्ट्रोक, राजीव के हत्यारे रिहा होंगे

Nadim S. Akhter : राजनीति की फितरत गिरगिट को भी मात दे दे. कांग्रेस की सरकार अफजल गुरु को फांसी पर चढ़ाने के फैसले पर तेजी से अमल करती है लेकिन अपने नेता राजीव गांधी के हत्यारों की दया याचिका पर 11 वर्षों तक रहस्यमयी चुप्पी साधे रहती है. ना उन्हें मारती है और ना जीने देती है, यहां उसे कोई जल्दी नहीं. कांग्रेस और उसके गृह मंत्री कहते हैं कि अफजल गुरु को फांसी पर लटकाकर हमने एक संदेश दिया है लेकिन राजीव के हत्यारों के मामले में ये संदेश क्यों नहीं दिया गया, ये समझ से परे है.

‘आईबीएन7 का टशन’ ग्रुप और मुसलमानों को गालियां

Zafar Irshad : मुसलमानों के प्रति पढ़े लिखे लोगो के मन में कितना ज़हर भरा है, यह मुझे आज मालूम हुआ. मेरे एक पुराने दोस्त हैं अनुज Anuj Srivastav.  वो चूँकि IBN7 में काम करते है इसलिए उन्होंने व्हॉटसअप पर 'IBN 7 ka tashan' एक ग्रुप बना रखा है. इसमें उन्होंने मुझे भी शामिल कर रखा था. ग्रुप में एक साहिब रोज़ मुसलमानो को गालियां देते हैं. आज मैंने उनको सलाह दी कि भाई देश के सारे मुसलमानों को एक जगह इकठ्ठा कर दो (हो सके तो गुजरात में )…फिर वहाँ एक एटम बम मरवा दो, साले सब मुसलमान मर जायेंगे…

हम तो ‘आप’ को समाजवादी समझते थे!

Om Thanvi : अरविन्द केजरीवाल ने CII में कहा कि उन्हें पूंजीवाद से गुरेज नहीं है, सरकार से सांठ-गांठ वाले पूंजीवाद से जरूर है। पूंजीवाद से भी क्यों नहीं भाई? हम तो 'आप' को समाजवादी समझते थे! … स्वस्थ अर्थतंत्र में व्यापार-कारोबार वाजिबी हैं, लेकिन पूंजीवाद कतई ऐसा मूल्य नहीं जिसकी वकालत की जाय।

टैक्सी ड्राइवर मुझसे बोला- दिल्ली में भ्रष्टाचार वाक़ई कम हो गया था

Rajendra Tiwari : कल रात दिल्ली एयरपोर्ट से आते हुए मेरू टैक्सी के ड्राइवर से बात कर रहा था। ड्राइवर यूपी के बस्ती ज़िले का रहने वाला था और १९८९ से यहाँ रह रहा है। उसने बताया कि भ्रष्टाचार वाक़ई कम हो गया था। उसने अपना ही क़िस्सा बताया कि कैसे आधे घंटे में उसका लाइसेंस रिन्यू हो गया। उसने तो सपने में भी इसकी कल्पना नहीं की थी।

एडल्ट फिल्में बनाने में भोजपुरी वाले नम्बर वन

साल 2011 की अपेक्षा साल 2012-13 में हिंदी में कम बोल्ड फिल्में बनी। 2012-13 में फिल्म निर्माताओं का रुझान थोड़ी साफ-सुधरी फिल्में बनाने में रहा। हालांकि इस दौरान फिल्म सेंसर बोर्ड की एक्जामिन कमेटी ने दर्जनों फिल्मों को प्रमाण पत्र देने में संकोच दिखाया। जबकि पहले की तरह इस साल भी एडल्ट फिल्मों के मामले में भोजपुरी फिल्में सबसे आगे रहा।

Struggle for alternative policies need of the hour : Prakash Karat

New Delhi : All India Peoples Front National Convener Akhilendra Pratap`s 10days long fast for bringing corporate houses under Lokpal, inclusion of right to work in Fundamental Rights, passage of anti-communal violence bill and other pro-people issues ended today at 1 PM as per earlier declaration. CPI(M) General Secretary Prakash Karat offered him fruit juice for breaking the fast. On this occasion were present veteran Communist leader Com. AB Bardhan, Justice Sachhar, CPI(ML) Polit-Bureau members Com. Swapan Mukherjee and Prabhat Choudhary, Rahtriya Ulema Council President Moulana Amir Rashadi, Bhartiya Kisan Union (Ambavata) President Rishi Pal Ambavata, Ex. MP Dr. Aizaz Ali, eminent economist Dr. Jaya Mehta.

यशवंत ने अखिलेंद्र को सौंपा ज्ञापन, मीडिया को भी जनलोकपाल के दायरे में लाने की मांग

कारपोरेट को जनलोकपाल के दायरे में लाने की मांग को लेकर दस दिनी उपवास पर बैठे आल इंडिया पीपुल्स फ्रंट यानि आईपीएफ के राष्ट्रीय संयोजक कामरेड अखिलेंद्र प्रताप सिंह को भड़ास4मीडिया के संस्थापक और संपादक यशवंत सिंह ने एक ज्ञापन दिया. इस ज्ञापन में कहा गया है कि कार्पोरेट के साथ ही मीडिया को भी जनलोकपाल के दायरे में लाने की मांग की जाए.

वेंडी की हिंदू पर किताब : आईआईएमसी में लाल विचारों वाले डॉ. प्रधान और भगवा विचारों वाले रविकांत में भिड़ंत

आईआईएमसी दिल्ली के हिंदी पत्रकारिता विभाग में हर बैच का एक ग्रुप मेल आईडी बनाया जाता है। इस मेल आईडी में उस बैच के सारे प्रशिक्षुओं के ईमेल आईडी जुड़े होते हैं। जब भी आईआईएमसी की ओर से कोई सूचना आदि जारी करनी होती है तो इस ईमेल आईडी पर मेल किया जाता है। कई बार उस बैच के एल्मनाइज भी आपस में जुड़े रहने और अपनी प्रोफेशनल और पर्सनल लाइफ की बातें शेयर करने के लिए मेल करते हैं। 18 फरवरी को देर रात आईआईएमसी के असोसिएट प्रोफेसर और हिंदी पत्रकारिता के पूर्व कार्यक्रम निदेशक डॉ. आनंद प्रधान ने इस मेल आईडी पर एक ईमेल किया, जो इस प्रकार है…

यूपी विधानमंडल में आरएलडी के दो विधायक हुए अर्द्धनग्न

लखनऊ : यूपी विधानमंडल सत्र शुरू होते ही सदन में जोरदार हंगामा हुआ। लोकसभा चुनाव की गर्माहट सदन में भी देखने को मिल रही है। आरएलडी के दो विधायकों ने अर्द्धनग्न  होकर प्रदर्शन किया तो बीएसपी विधायकों ने पोस्टर और बैनर के साथ सदन में राज्यपाल के अभिभाषण का विरोध कर सरकार को बर्खास्त करने की मांग कर डाली। हाथों में सरकार विरोधी बैनर और गुस्से से तमतमाए ये नेता सरकार से हिसाब चाहते हैं। विपक्षी दलों के नेताओं की दलील है कि सरकार उन्हें अनसुना कर रही है।

‘पंचायतनामा’ के साथ दो खुशगवार साल

'प्रभात खबर' समूह के 'पंचायतनामा' को छपते हुए आज दो साल पूरे हो गये. आज के ही दिन 14 फरवरी, 2012 को पंचायतनामा का पहला अंक प्रकाशित हुआ था और इसका विमोचन हुआ था. पंचायतनामा की छोटी सी टीम के लिए यह एक अनूठा अनुभव है. खास तौर पर जब हम दो साल पुरानी अपनी दुनिया की तरफ झांकते हैं, जब यह पत्र शुरू हो रहा था. कई साथी और पत्रकारिता को गहरायी से जानने समझने वाले लोग तब हमें सलाह दे रहे थे कि मेन स्ट्रीम अखबार को छोड़ कर गांव की पत्रिका के लिए काम करना अपने कैरियर को भट्ठी में झोंक देने जैसा है. मगर पता नहीं हमें क्यों ऐसा लग रहा था कि यह हमें नुकसान के बदले लाभ ही देगा. संजय भैया (हमारे संपादक संजय मिश्र) के लिए तो जैसे यह जीवन मरण का प्रश्न था. उन्हें डेढ़ सौ फीसदी भरोसा था कि यह प्रयोग सफल होकर रहेगा.

पेंगुइन वालों ने जिस किताब को प्रतिबंधित किया, उसे भड़ास पर पढ़ें या डाउनलोड करें

पेंगुइन वालों ने वेंडी डॉनिगर की जिस किताब ‘द हिंदूज : एन ऑल्टरनेटिव हिस्ट्री’ को भारत में एकतरफा तौर पर प्रतिबंधित करने और इसकी सारी प्रतियां मंगाकर नष्ट करने का ऐलान किया है, उससे देश के बुद्धिजीवियों और साहित्यकारों का एक बड़ा हिस्सा नाराज है. यहां तक कि इस किताब के विरोधी भी कहते हैं कि लिखे-पढ़े का मुकाबला लिख-पढ़ कर किया जाना चाहिए न कि पाबंदी लगाकर. इसी को ध्यान में रखते हुए भड़ास की तरफ से किताब को आनलाइन उपलब्ध कराया जा रहा है.

आजतक वाले कार्तिकेय शर्मा पहुंच गए न्यूज एक्स, सीएनएन इंटरनेशनल ने रवि को बनाया दिल्ली ब्यूरो चीफ

आवाजाही की दो सूचनाएं हैं. एक कार्तिकेय शर्मा के बारे में. जाने-माने पत्रकार उदयन शर्मा के सुपुत्र कार्तिकेय शर्मा का टीवी टुडे ग्रुप से नाता टूट चुका है. वहां उनका विवाद इनपुट हेड रिफत जावेद से शुरू हो गया था. कार्तिकेय ने न्यूज एक्स ज्वाइन कर लिया है. यहां वे एक्जीक्यूटिव एडिटर बनाए गए हैं और इनपुट का काम देखेंगे. कार्तिकेय काफी समय से आज तक और हेडलाइंस टुडे में कार्यरत थे. बीच में एक दफे न्यूज24 के हिस्से बने थे लेकिन फिर टीवी टुडे ग्रुप लौट आए थे.

सपा विधायक ने हड़पी दलित महिला की जमीन

: बेचीनामा के नाम पर की लाखों की राजस्व चोरी : घोरावल विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से सपा विधायक रमेश चंद्र दुबे ने कोल समुदाय के एक परिवार को किया बेघर :  प्रशासन के बल पर जमीन पर हो रहा अवैध निर्माण : सोनभद्र। बहुजन समाज पार्टी के शासनकाल में मिर्जापुर के गुलाबी पत्थरों को जयपुर का बताकर करोड़ों रुपये के राजस्व का बंदरबाट करने के आरोपों का सामना कर रहे घोरावल विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के सपा विधायक रमेश चंद्र दुबे का एक और अवैध कारनामा सामने आया है। उन्होंने कानूनी प्रावधानों की धज्जियां उड़ाते हुए जिला प्रशासन की सह पर कोल समुदाय के एक परिवार को बेघर कर दिया है। हालांकि उन्होंने इसे अंजाम देने के लिए बेचीनामा को आधार बनाया है।

‘हमार टीवी’ का नाम हो गया ‘फोकस न्यूज’

ये जानकारी एक पत्रकार ने दी है. उनका कहना है कि फोकस टीवी को हरियाणा का रीजनल न्यूज चैनल बना दिया गया है, 'फोकस हरियाणा टीवी' के नाम से. 'हमार टीवी' का नाम बदलकर 'फोकस न्यूज' कर दिया गया है. यह 'फोकस न्यूज' अब नेशनल न्यूज चैनल के रूप में लांच होगा.

मन्दसौर समारोह में साहित्यकार रामगोपाल शर्मा को नारद सम्मान, कई अन्य भी सम्मानित

मन्दसौर। अभिव्यक्ति विचार मंच नागदा जंक्शन द्वारा वार्षिक प्रतिभा सम्मान समारोह में संस्था द्वारा प्रदान किये जाने वाले विशिष्ट सम्मानों के अन्तर्गत वर्ष 2014 का नारद सम्मान मन्दसौर के वरिष्ठ साहित्यकार एवं मानस मर्मज्ञ पं. रामगोपाल शर्मा 'बाल' को प्रदान किया गया। इस आयोजन में मन्दसौर की कवियित्री श्रीमती आरती तिवारी को विष्णु जोशी अंशु सम्मान प्रदान किया गया। समारोह में मुख्य अतिथि विधायक श्री दिलीपसिंह शेखावत थे। अध्यक्षता नगर पालिका उपाध्यक्ष श्री सज्जनसिंह शेखावत ने की। इस अवसर पर विशेष अतिथि के रूप में शब्द प्रवाह उज्जैन के सम्पादक संदीप सृजन तथा अखिल भारतीय कौमी एकता कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष श्री गोविन्द मेहता सम्मिलित हुए।

जिलाधिकारी से नाराज़ हैं औरंगाबाद के पत्रकार, नहीं छापेंगे नाम और फोटो

औरंगाबाद के सिन्हा सोशल क्लब में आज शहर के इलेक्ट्रॉनिक एवं प्रिंट मीडिया के पत्रकारों ने बैठक की। बैठक की अध्यक्षता वरिष्ठ पत्रकार रवि सिंह ने की। बैठक का संचालन प्रभात खबर के ब्यूरो चीफ गोपाल सिंह ने किया। बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि पत्रकार आज से जिला प्रशासन की खबरों का पूर्ण रूप से बहिष्कार  करेंगे और अख़बार में जिलाधिकारी का नाम और फ़ोटो नहीं छापेंगे। पत्रकारों की ओर से इंडिया टीवी के पत्रकार किशोर प्रियदर्शी और साधना न्यूज़ के पत्रकार वेद प्रकाश राय ने कहा कि आज पत्रकारिता में दलाली हावी है और पत्रकारो को जो सम्मान मिलना चाहिए वो नहीं मिल रहा है। एकजुट पत्रकारों ने जिला प्रशासन की कड़ी आलोचना करते हुए की और आगामी 23 फरवरी को जिला एवं प्रखण्ड स्तर के सभी पत्रकारों के साथ बैठक करने की बात कही। सभी पत्रकारो ने एक मत से जिलाधिकारी के खिलाफ मुख्यमंत्री और अन्य अधिकारियो को ज्ञापन देने की बात कही। बैठक में सभी पत्रकारो को आगामी बैठक के दिन एकजुट करने के लिए लाइव इंडिया के अमित कुमार सिंह और मौर्य टीवी के पवन कुमार को जिम्मेदारी दी गई है।

महाराष्ट्र के रायगढ़ में दो पत्रकारों को पीटा गया

रायगढ़, महाराष्ट्र। एक तरफ जहां राज्य के पत्रकार सुरक्षा कानून को लेकर सड़कों पर आन्दोलन कर रहे थे, वहीं रायगढ़ जिले में पिछले दो दिनों में दो पत्रकारों पर हमला किया गया। अलिबाग में पुढारी के संवाददाता रमेश कांबले को कुछ महिला संघठन की कार्यकत्रियों द्वारा पीटा गया। यह पिटाई पुलिस थाने में ही की गयी। पुढारी में प्रकाशित एक खबर को लेकर यह महिलाएं क्रोधित थी।

सुरक्षा कानून की मांग को लेकर सड़कों पर उतरे महाराष्ट्र के पत्रकार

पत्रकार हमला विरोधी कृती समिति के नेतृत्व में पूरे महाराष्ट्र में कल पत्रकारों ने जिला सूचना अधिकारियों के ऑफिसों का  घेराव किया। समिति के अध्यक्ष एसएम देशमुख ने एक प्रेस नोट जारी कर बताया कि आन्दोलन सफल रहा। मुंबई, पूना समेत राज्य के 35 जिले में पत्रकार सड़कों पर उतर आये। राज्य का मुख्य आंदोलन पूना में एसएम देशमुख के नेतृत्व में किया गया। पत्रकारों को संबोधित करते हुए देशमुख ने कहा कि, डीआईओ ऑफिस घेराव आंदोलन को अगर सरकार ने गंभीरता से नहीं लिया तो अगले कुछ दिनो में इससे भी उग्र आन्दोलन किया जाएगा। राज्य के पत्रकारों को सड़कों पर उतरने के लिए राज्य की सरकार ही मजबूर कर रही है। यह स्थिती लोकतंत्र के लिए अच्छी नहीं है। पुना के इस आन्दोलन में जिले से आय़े 200 पत्रकार सम्मिलित हुए। बाद मे मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन जिला सूचना अधिकारी को दिया गया। राज्य में सभी जगह आंदोलन शांतिपूर्ण रहा।

भोजपुरी फेस्टिवल-2014 में सम्मानित होंगी विभूतियां

कोलकाता : विश्व भोजपुरी उत्थान कल्याण समाज की ओर से भोजपुरी भाषा से जुड़ी प्रतिभाओं को सम्मानित किया जायेगा। प्रख्यात गायिका शारदा सिन्हा को महेन्द्र मिश्र सम्मान, कालिदास के संस्कृत काव्य 'मेघदूत] के हिन्दी व अंग्रेजी में गीति-नाट्य रूपांतरकार मृत्युंजय कुमार सिंह को भिखारी ठाकुर सम्मान, भोजपुरी फिल्म निर्माता शशिधर सिंह को नज़ीर हुसैन सम्मान, वरिष्ठ पत्रकार तारकेश्वर मिश्रा को राहुल सांकृत्यायन सम्मान एवं साहित्यकार डॉ.अभिज्ञात को कबीर सम्मान प्रदान किया जायेगा।

एक साल बाद भी नहीं शुरू हो पा रहा अमर उजाला का रोहतक संस्करण

रोहतक : लगता है अमर उजाला के लिए हरियाणा की धरती शुभ नहीं है. यहां यह अखबार जमने से पहले ही उखड़ने को है. अमर उजाला ने हरियाणा में पैर जमाने के उद्देश्य से हरियाणा की राजनीतिक राजधानी कहे जाने वाले रोहतक को चुना, लेकिन यहां बात बनती नहीं दिखती. एक साल से ज्यादा हो चुका है लेकिन अखबार जिस दम खम से शुरू करने का दावा किया गया था, शुरू ही नहीं हो पा रहा है. तारीख पर तारीख दी जा रही है. अब कहा जा रहा है कि नई प्रिंटिंग प्रेस के साथ मार्च के पहले हफ्ते तक मामला जम जाएगा.

निशिकांत ठाकुर भाजपा के टिकट पर सहरसा से लड़ेंगे चुनाव!

दैनिक जागरण में इन दिनों एक कानाफूसी बड़ी जोरों पर इधर उधर टहल रही है. वो ये कि मैनेजर से नेता बने निशिकांत ठाकुर भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर बिहार के सहरसा जिले से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे. इसी मकसद से निशिकांत के करीबी किशोर झा का तबादला नोएडा से भागलपुर किया गया है. सहरसा जिला भागलपुर प्रिंटिंग सेंटर के अधीन आता है. किशोर झा अखबार के दम पर निशिकांत झा का चुनावी हवा बनवाने और उन्हें जितवाने का भरपूर काम करेंगे.

‘यथावत’ मैग्जीन में ‘चिदंबरम, एनडीटीवी और पांच हजार करोड़’ पर स्टोरी

वरिष्ठ पत्रकार राम बहादुर राय के प्रधान संपादकत्व में प्रकाशित होने वाली हिंदी मैग्जीन 'यथावत' के ताजे अंक में एक सनसनीखेज स्टोरी है. वो स्टोरी जिसे कारपोरेट मीडिया घराने छापने की हिम्मत नहीं रखते क्योंकि खुद एक बड़ा मीडिया घराना इसमें शामिल है. वो है एनडीटीवी. पांच हजार करोड़ रुपये के गड़बड़ घोटाले के इस चर्चित मामले में एनडीटीवी के साथ पी. चिदंबरम का भी नाम शामिल है.

भास्कर और इंडिया टुडे का झूठ

Mohammad Anas : अब, जब तक मैं ख़बर के स्रोत को खुद न जांच लूँ, किसी प्रकार की टिप्पणी करने से बचूंगा. मीडिया का प्रोपगेंडा थी सीरिया में पत्थर मार कर मौत की सज़ा देने की बात. लेकिन इसका अर्थ यह बिल्कुल नहीं है की मनुस्मृति, खाप और शरिया अदालतें महिलाओं के प्रति इस तरह के फैसलों के लिए पहचानी नहीं जाती.

विहिप के साथ-साथ अखबार भी अयोध्या प्रकरण में एक पक्षकार जैसा ही अभिनय कर रहे थे

: पत्रकारिता के संस्मरण – (पांच) : धार्मिक आधार पर कोई राष्ट्र नहीं बना करते और बनेंगे तो स्थायी नहीं रह सकते। इसीलिए पाकिस्तान के विपरीत भारत को हमारे नेताओं ने एक सेकुलर, उदार और हर गरीब-अमीर को साथ लेकर चलने वाला लोकतांत्रिक राष्ट्र बनाया। इसके संविधान में धार्मिक आधार पर कोई भेदभाव नहीं करने तथा कमजोर वर्गों को आगे लाने के लिए आरक्षण की व्यवस्था की गई थी।

ये अरविंद केजरीवाल तो घनघोर निजीकरण का प्रबल पक्षधर निकला!

Arvind Kumar Singh : केजरीवाल की अर्थनीति और निजीकरण… आज केजरीवालजी की अर्थनीति के बारे में कुछ जानने समझने का मौका मिला तो दिल को खुशी हुई कि कम से कम उनके विचारों का विरोध मैं गलत नहीं कर रहा हूं… उनकी इस बात की मैं सराहना करता हूं कि उन्होंने अपनी तमाम खामियों को स्वीकार किया… लेकिन वो तो प्रबल निजीकरण के पक्ष में हैं और मानते हैं कि सरकारों का काम नहीं है कारोबार… यानि रेलवे से लेकर मेट्रो और परिवहन सेवाओं से लेकर पानी-बिजली सब कुछ निजी क्षेत्र के हवाले कर देना चाहिए… सरकार केवल गवर्नेंस करे..

जो कानपुर में यूपी की अपनी पहली रैली करेगा वो पीएम बनेगा!

Zafar Irshad : हर प्रधानमन्त्री पद का उम्मीदवार कानपुर से ही उत्तर प्रदेश में क्यों अपने चुनावी अभियान की शुरुआत करता हैं… यह कोई टोटका है? या कुछ और… सबसे पहले 2004 में जब मनमोहन सिंह के प्रधानमंत्री बनने की कहीं कोई सुगबुगाहट नहीं थी और वो एक आम नेता की तरह कानपुर अपनी पहली चुनावी सभा करने आये थे और अचानक प्रधानमंत्री बन गए, तब से ये फार्मूला हिट हो गया कि जो कानपुर में यूपी की अपनी पहली रैली करेगा वो पीएम बनेगा…

Satyendra और Barnali की कहानी, Sanjay Sinha की जुबानी

Sanjay Sinha : मेरी आज की कहानी का पात्र मेरे ही दफ्तर में काम करने वाला एक लड़का है। मैं उसकी कहानी के बारे में सुना तो कई लोगों से हूं, लेकिन जब उसने खुद मेरी वाल पर अपनी कहानी लिख दी, तो मुझे लगा कि मैं इस कहानी को अब आपको सुना सकता हूं। खास तौर पर उस दौर में इस कहानी की अहमियत और बड़ी हो जाती है, जब रिश्ते तार-तार होने के कगार पर हैं।

केजरीवाल अगर पीएम बन गए तो कांग्रेस से भी ज़्यादा बुरी तरह बेच सकते हैं देश को

Tara Shanker : केजरीवाल भक्तों आँखें खोलो! जो बंदा कॉर्पोरेट्स की इतनी खुली नुमाइंदगी करता हो, उससे आप भ्रष्टाचार दूर करने का भ्रम पाल बैठे हैं! जिस Laissez-faire की अंधी आर्थिक सोच ने पूरी दुनिया में इतनी तबाही मचाई कि पूरा उपनिवेशीकरण, दो-दो विश्वयुद्ध और अमेरिका समेत तमाम पश्चिमी देश आज दादागिरी जमाये हुए हैं, उसी सोच को आगे बढ़ने की कोशिश ये केजरीवाल किये जा रहे हैं!  जिस बंदे को भ्रष्टाचार की परिभाषा भी नहीं मालूम, जिसको ये भी नहीं मालूम कि भ्रष्टाचार की जड़ कहाँ हैं, उससे आप भ्रष्टाचार-मुक्त भारत चाहते हैं! जिस प्रकार CII कांफ्रेंस में केजरीवाल ने बयान दिया उससे तो साफ़ ज़ाहिर है कि अगर वो प्रधानमंत्री बन गए तो कांग्रेस से भी ज़्यादा बुरी तरह बेच सकते हैं देश को! बाकी आप जानो, आपकी समझ जाने!

(जेएनयू में अध्ययनरत तारा शंकर के फेसबुक वॉल से.)

सबसे बड़े हिन्दी अखबार के शीर्षक ‘आसमानी दावे कर छुपा गए असलियत’ में ग़लत है ‘छुपाना’

LN Shital : देश के सबसे बड़े हिन्दी अखबार में एक शीर्षक है – 'आसमानी दावे कर छुपा गए असलियत'। इसमें ग़लत क्या है? ग़लत है 'छुपाना'। हम याद रखें कि Poetry, ख़ास तौर पर उर्दू Poetry में 'छुपाना' शब्द इस्तेमाल किया जाता है, जबकि गद्य या Prose में 'छिपाना' शब्द का प्रयोग किया जाना चाहिए। इसी तरह, 'लापरवाह' तो लोग होते हैं, लेकिन ज़ुल्फ़ें 'बेपरवाह' ही हुआ करती हैं। भले ही वे किसी हसीना की हों या किसी और की। ये अन्तर हैं तो बहुत सूक्ष्म, लेकिन हैं बहुत महत्त्वपूर्ण।

‘इंडिया टुडे’ पर यकीन कर जाने के लिए माफ़ी चाहूंगा

Samar Anarya : खबरों के नाम पर पोर्नोग्राफी परोसने से लेकर दलाली तक करने वाले Dainik Bhaskar की खबरें साझा करना तो खैर कबका बंद कर चुका हूँ, पर अब तो लगता है कि मुख्यधारा की मीडिया का नाम सुनते ही मान लेना चाहिए कि खबर गलत होगी. कल एक लड़की को संगसार (stone) किये जाने को लेकर India Today की यह खबर शेयर की थी. Bobby Naqvi भाई ने आज उसका यह सच ढूंढ निकाला है.

लखनऊ दूरदर्शन वाले घूसखोर प्रभु झिंगरन की पूरी संपत्ति क्यों न जब्त हो

Sandeep Verma : सन 2004 में लखनऊ दूरदर्शन के तत्कालीन निदेशक प्रभु झिंगरन एक लाख दस हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किये जाते हैं. आज दस साल बाद उन्हें तीन साल की कैद और रिश्वत के बराबर रकम का जुर्माना अदा करने की सजा दी जाती है.

जम्‍मू आनंद के साथ अंजलि दमानिया ने छल किया!

Abhishek Srivastava : 'आप' से टिकट लेकर लोकसभा चुनाव लड़ने के चक्‍कर में जिन लोगों ने जिंदगी भर के अपने राजनीतिक कर्म और विश्‍वसनीयता को दांव पर लगा दिया और पाला बदलने का जबरन तर्क गढ़ा, तिस पर भी जिन्‍हें टिकट नहीं मिला, उनके लिए मुझे कोई खेद नहीं है।

‘आप’ का साथ यानि पूंजीवाद का साथ, भ्रम दूर करने के लिए अरविंद का यह भाषण ज़रूर सुनें

Abhishek Srivastava : आम आदमी पार्टी की राजनीतिक-आर्थिक विचारधारा को लेकर जिन्‍हें भ्रम है, उसे दूर करने के लिए उन्‍हें अरविंद का यह भाषण ज़रूर सुनना चाहिए। अरविंद कहते हैं कि उन्‍हें पूंजीवाद से कोई विरोध नहीं है, बस पूंजीवाद में ''क्रोनी'' वाला तत्‍व वे खत्‍म करना चाहते हैं। उनका मानना है कि इसी ''क्रोनी'' पूंजीवाद से बेरोज़गारी, महंगाई, गरीबी आदि पैदा होती है। अगर दुकानदार दुकान चलाए और राजकाज का काम सरकार करे, तो कहीं कोई दिक्‍कत ही नहीं पैदा होगी।

पेड न्यूज पर विशेष निगाह के लिए कानपुर में बनी मॉनिटरिंग कमेटी

कानपुर से खबर है कि लोकसभा चुनाव में उम्मीदवारों के चुनावी खर्च पर पैनी नजर रखने के लिए तैयारी शुरू कर दी गई है. इसी कड़ी में मीडिया कैम्पेनिंग को लेकर आयोग ने खास दिशा-निर्देश जारी किये हैं. चुनाव आयोग का मानना है कि खुद की मार्केटिंग-ब्रांडिंग के लिए पार्टी उम्मीदवार सबसे ज्यादा रकम खर्च करता है. इसके लिए प्रिंट-इलेक्ट्रॉनिक मीडिया समेत रेडियो एफएम का जमकर इस्तेमाल होता है.

मीडिया फोरम ऑफ इंडिया ने पत्रकारों को सम्मानित किया

इलाहाबाद। रविवार को हिन्दुस्तान एकेडमी में मीडिया फोरम ऑफ इंडिया द्वारा आयोजित पत्रकारों के सम्मान समारोह में उर्जा मंत्रालय भारत सरकार की सलाहकार बीएस सांताबाई ने कहा कि पत्रकारिता समाज के विकास और अच्छाईयों का दर्पण है। समाज के विकास की भूमिका में पत्रकारिता कहीं न कहीं अपनी विशेष छाप छोड़ देती है। उन्होने हिन्दी पर विशेष जोर देते हुए कहा कि हमारी हिन्दी भाषा को अभी तक उचित सम्मान नही मिल पाया है। चाहे वह सरकारी विभाग हों या बहुराष्ट्रीय कम्पनिंयां, उनमें हिन्दी भाषा में कार्य करने वाले लोगों को उपेक्षा की निगाह से देखा जाता है। उन्होने समाज को हिन्दी भाषा के प्रति जागरूक करने के लिए आन्दोलन करने की बात कही।

‘पूंजीपति, ब्यूरोक्रेट व पॉलिटीशियन्स के बढ़ते दख़ल से मीडिया की निष्पक्षता पर उठे सवाल’

अलीगढ़। राजकीय औद्योगिक कृषि प्रदर्शनी के मुक्ताकाश मंच पर अलीगढ़ इलैक्ट्रोनिक मीडिया एसोसिएशन के तत्वावधान में “लोकतंत्र में मीडिया की भूमिका” विषय पर इलैक्ट्रोनिक मीडिया सम्मेलन का आयोजन किया गया। सम्मेलन का शुभारम्भ नुमाइश प्रभारी एडीएम सिटी धीरेन्द्र सिंह सचान ने दीप प्रज्वलन कर किया। मंचासीन मुख्य अतिथि महापौर शकुन्तला भारती, विशिष्ट अतिथि ग्लोबल इन्फ्राटाउन के सीएमडी राजेश अग्रवाल, सहायक सूचना निदेशक जहांगीर अहमद, समाज सेवी रोहिताश कुमार विक्की, प्रमुख वक्ता व प्रख्यात कवि डॉ बुद्धसेन नीहार, वरिष्ठ पत्रकार प्रदीप सक्सैना, अधिवक्ता पूनम बजाज, समाज-सेवी मौहम्मद साबिर राही, कानूनविद् शकील समदानी, एडवोकेट सरदार मुकेश सैनी, कवि हरीश बेताब, एएमयू छात्रनेता माजीन खां, पत्रकार पंकज धीरज, एमयू खां एवं जुनैद काजी का बैज लगाकर माल्यार्पण कर स्वागत किया गया।

आईएएस के साथ मुख्यमंत्री भी हैं भ्रष्टाचार के दोषी, सीबीआई जांच की मांग

प्रिय मित्र,
              हिंदी समाचार पत्र नवभारत टाइम्स के दिनांक 15-02-14 के लखनऊ संस्करण में पेज 7 पर 'अफसर तो पैसे लेकर भी काम नहीं करते' शीर्षक के अंतर्गत प्रकाशित समाचार के अनुसार आईएएस वीक में मुख्यमंत्री ने अफसरों के बीच एक किस्सा भी सुनाया। कहा कि "मैंने एक अफसर को किसी काम के लिए फोन करके कहा था। उस अफसर ने काम भी नहीं किया और पैसे भी ले लिए। बाद में जो काम कराने के लिए गए थे उन्होंने फिर शिकायत की तब अफसरों को निलंबित तो नहीं किया पर उसका ट्रांसफर कर दिया।"

लिफाफे में प्रेस नोट के तौर पर पांच-पांच सौ के कुछ नोट थे

पत्रकारों की असली औकात क्या है, ये इस लोकसभा चुनावों की बयार के बीच पता चल रहा है। एक नमूना पेश-ए-नज़र है। इतवार की देर शाम मेरे पास भाजपा मण्डल अध्यक्ष दुर्गेश पाण्डे का फोन आया कि धौरहरा लोकसभा क्षेत्र से प्रत्याशी की लाइन में लगे भाजपा नेता शशांक त्रिवेदी प्रेस वार्ता करना चाहते हैं। नियत समय पर प्रेस वार्ता स्थल पर पहुँचा तो नेता जी के पास कहने के लिए कुछ नहीं था, सिवाय अल्लमतरानी के।

‘संचार टाइम्स’ नामक हिंदी मैग्जीन में यशवंत का इंटरव्यू

दिल्ली से प्रकाशित संचार टाइम्स नामक मैग्जीन में भड़ास के एडिटर यशवंत सिंह का इंटरव्यू आया है. मीडिया से जुड़े मसलों पर लंबी चौड़ी बातचीत मैग्जीन के विशेष संवाददाता राघवेंद्र पांडेय ने की. तीन पन्नों पर प्रकाशित इस इंटरव्यू में प्रूफ की कुछ गल्तियां हैं.

सुधीर उपाध्याय को लाइफ टाइम अचिवमेंट अवार्ड

कोलकाता : सन्मार्ग के वरिष्ठ फोटोग्राफर सुधीर उपाध्याय को लाइफटाइम अचिवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया गया है। सम्मान के तौर पर उन्हें 1 लाख रुपये की राशि और प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया। ओलंपियन फुटबालरों चुन्नी गोस्वामी और पी.के. बनर्जी ने रविवार को भवानीपुर टेंट में आयोजित समारोह में उपाध्याय को स्पोर्ट्स फोटोग्राफर एसोसियेशन ऑफ बंगाल के लाइफटाइम अचिवमेंट अवार्ड प्रदान किया।

सुप्रीम कोर्ट ने न्यूज चैनलों के खिलाफ कार्रवाई न करने को लेकर नोएडा और गुड़गांव पुलिस से जवाब मांगा

इंडिया न्यूज़, न्यूज़ 24, P7 व न्यूज़ नेशन जैसे चैनलों ने गुड़गाँव की एक 10 वर्षीय नन्ही बच्ची का चारित्रिक हनन किया था. इसकी फरियाद तीन दिन तक लगातार प्रार्थना और प्रदर्शन के बाद ब-मुश्किल गुडगाँव पुलिस ने जीरो FIR के रूप में दर्ज की. गुड़गांव पुलिस ने FIR को नोएडा पुलिस को ट्रांसफर कर दिया| लेकिन नोएडा पुलिस ने भी इनके दबाव में आकर टालमटोली और धक्के खिला FIR गुडगाँव पुलिस को वापस भेज दिया.

इटावा में एबीपी न्यूज के पत्रकार मोहम्मद खालिक पर कातिलाना हमला

अपराधियों के खिलाफ खबरें लिखने का खामियाजा आये दिन पत्रकारों को हमले की शक्ल में देखने को मिलता रहता है। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के शहर इटावा में यही हुआ। इटावा कोतवाली इलाके के पक्का तालाब के पास एबीपी न्यूज चैनल के पत्रकार मोहम्मद खालिक पर कुछ हमलावरों ने कातिलाना हमला कर करके सनसनी फैला दी। वो तो भला हो हमले की जद में आने के बाद भी खालिक बाल बाल बच गये लेकिन उनकी कार पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई है।

केजरीवाल हैं कारपोरेट जगत का नया चेहरा : अखिलेंद्र प्रताप सिंह

आल इंडिया पीपुल्स फ्रंट (आईपीएफ) के राष्ट्रीय संयोजक कामरेड अखिलेंद्र प्रताप सिंह पिछले दिनों जंतर-मंतर पर दिस दिनी उपवास पर बैठे. उनकी मांग थी कारपोरेट को जनलोकपाल के दायरे में लाया जाए. इस उपवास के दौरान लखनऊ, इलाहाबाद समेत कई शहरों से प्रकाशित हिंदी दैनिक डेली न्यूज एक्टिविस्ट ने अखिलेंद्र का एक इंटरव्यू प्रकाशित किया. इसमें अखिलेंद्र ने केजरीवाल को कारपोरेट का नया चेहरा बताया. पूरा इंटरव्यू नीचे दिए गए अखबार कटिंग पर क्लिक करके पढ़ सकते हैं.

दैनिक भास्कर के मालिक रमेशचन्द्र अग्रवाल को तीन मार्च को बीकानेर की अदालत में पेश होना होगा

बीकानेर के न्यायलय विशिष्ट न्यायाधीश अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति और अपर सेशन न्यायाधीश ने 1999 के एक मामले में दैनिक भास्कर के मालिक रमेश चन्द्र अग्रवाल को उस निचली अदालत में पेश होने के आदेश दिए हैं जिसमें उनके खिलाफ दैनिक भास्कर के 30 अगस्त 1999 के बीकानेर संस्करण में एक आपत्तिजनक खबर का प्रकाशन किया गया था. परिवादी बैंक कर्मी चोरुलाल चौधरी द्वारा मामला दायर किया था.

बसपा के बाद अब सपा के लिए भी मीडिया मैनेज करेंगे नवनीत सहगल

अगर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को यही निर्णय करना था तो यह निर्णय कुछ महीने पहले हो जाता तो बेहतर रहता। पूरी नौकरशाही में नवनीत सहगल के प्रमुख सचिव सूचना बनाए जाने के बाद यह चर्चा आम हो गयी कि अखिलेश के नवरत्नों में कोई भी अफसर ऐसा नहीं है जो मीडिया को मैनेज कर सके। तब जब चुनाव सिर पर है तो मीडिया को मैनेज करने के लिए प्रमुख सचिव नवनीत सहगल को लगाया गया जो बसपा सरकार में भी यही काम करते थे। आदेश होते ही नवनीत सहगल ने अपने संर्पकों को खंगालना भी शुरू कर दिया।

कप्तान को मरता छोड़ भाग खड़े हुये तो इनाम में मिली लखनऊ की कलेक्टरी

यूपी के किसी भी आईपीएस अफसर से अगर पूछा जाये कि वह किस आईएएस से सबसे ज्यादा गुस्सा करते हैं तो उनमे से अधिकांश के जवाब में एक ही नाम सामने आयेगा और वह नाम है राजशेखर। जिन्हें लखनऊ का कलेक्टर बनाया गया है। उनके कारनामों से प्रदेश में आईएएस और आईपीएस अफसरों के बीच भयंकर टकराव होते-होते बचा था। मगर कुछ अफसर अपने हुनर में माहिर होते हैं। राजशेखर भी जानते हैं कि नेताओं को कैसे मैनेज किया जाता है लिहाजा इतना विवाद होने के बावजूद भी उन्हें लखनऊ के डीएम जैसा महत्वपूर्ण ओहदा दे दिया गया।

दैनिक जागरण के पूर्व कर्मचारियों के लिए ‘मजीठिया मंच’ गठित

माननीय सुप्रीम कोर्ट ने अखबार कर्मचारियों के लिए गठित मजीठिया वेतन बोर्ड की सिफारिशों पर कर्मचारियों के पक्ष में फैसला सुना दिया है। नवंबर, 2011 के बाद नौकरी से बेदखल किए गए अथवा नौकरी छोड़ने वाले लोग इस अवधि का एरियर पाने के हकदार हैं। दैनिक जागरण समेत कई अख़बार मालिक इसे लागू न करने के लिए तरह-तरह की योजनाएं बनाने में जुटे हैं। ऐसे में अब चुनौती इसे लागू कराने की है।

बिल्डर की अनियमितता के खिलाफ आमजन का प्रशासन से गुहार

माननीय मुख्यमंत्री/ जिलाधिकारी गाज़ियाबाद
उतर प्रदेश शासन,                                                                                             
लखनऊ

विषय- क्रासिंग रिपब्लिक NH-24 के निवासियो के साथ अन्याय, ज्यादती एवं शोषण के सम्बन्ध में

महाशय,

ज्ञात हो कि उपरोक्त टाउनशिप गाज़ियाबाद जिले में स्थित है. यह टाउनशिप सरकार की टाउनशिप नीति GO No .2711 / 03 के तहत विकासकर्ता कंपनी M/s क्रासिंग इंफ्रास्ट्रक्चर द्वारा बनाई गयी है जो आगे कई सारे बिल्डर्स को अपार्टमेंट बनाकर बेचने के लिए अधिकृत किया है.

पीएफ को लेकर यूएनआई के चेयरमैन और निदेशकों की गिरफ्तारी किसी भी वक्‍त

यूएनआई प्रबंधन के कर्मचारियों का पीएफ जमा नहीं करने पर कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन ने थाना संसद मार्ग में प्राथमिकी दर्ज होने की खबर आने के साथ ही इस प्रतिष्ठित संस्‍थान के चेयरमैन और निदेशकों की गिरफ्तारी किसी भी वक्‍त हो सकती है।  इसमें यूएनआई के बोर्ड अध्‍यक्ष पी के माहेश्‍वरी और तीन निदेशकों विश्‍वास त्रिपाठी, सुभाष शर्मा और श्रीपति अकोलेकर के नाम शामिल हैं।

IIMC Alumni Association Felicitated its Prominent Authors

: 46 Alumni Authors Honoured at Annual Alumni Meet : New Delhi, 17th February 2014: The Indian Institute of Mass Communication Alumni Association (IIMCAA) felicitated their eminent alumni authors, who have written books on different subjects and received various awards, at their annual alumni meet – ‘SBI Life Connections 2014’ held at IIMC campus in New Delhi on Sunday.

पप्पू फेल : राहुल गांधी पर केंद्रित विज्ञापन कैंपेन की हवा निकली

कांग्रेस के लिए पप्पू चिंता व परेशानी का कारण बनते जा रहे हैं. राहुल गांधी पर केंद्रित जो विज्ञापन कैंपेन शुरू किया गया है, उसकी हवाल निकल चुकी है. कांग्रेस ने एक आंतरिक सर्वे कराया है जिससे पता चलता है कि राहुल केंद्रित विज्ञापन को कोई खास लोकप्रियता नहीं मिल रही है.

हाई कोर्ट द्वारा चीफ जस्टिस से जज ट्रांसफर पीआईएल इलाहाबाद भेजने का निवेदन

अधिवक्ता अशोक पाण्डेय और सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर द्वारा जस्टिस डॉ सतीश चन्द्रा के लखनऊ से इलाहाबाद हुए ट्रांसफर के खिलाफ दायर पीआईएल को इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच ने मुख्य न्यायाधीश से इलाहाबाद भेजे जाने का निवेदन किया है. साथ ही प्रतिवादीगण से शपथपत्र भी दायर करने के आदेश दिए हैं.

दिल्ली को संपूर्ण राज्य का दर्जा देने के लिए सुप्रीम कोर्ट में पीआईएल

लखनऊ स्थित सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर तथा अधिवक्ता प्रतिमा पाण्डेय ने आज सुप्रीम कोर्ट में दिल्ली तथा पुदुचेर्री को राज्य का दर्जा दिए जाने हेतु अनुच्छेद 32 में एक पीआईएल (डायरी संख्या 5684/2014) दायर किया है. उनके अधिवक्ता अशोक पाण्डेय हैं. याचिका में कहा गया है कि भारत का संविधान मात्र राज्य एवं केंद्रशासित प्रदेशों की बात करता है जिसमे राज्य की कार्यपालिका तथा विधायिका विषयक विभिन्न प्रावधान भाग VI में बताये गए हैं.

आज से आईबीएन7 पर ‘विनोद दुआ का प्रश्नकाल’, आप भी पूछ सकते हैं सवाल

नई दिल्ली। आज से आईबीएन 7 पर जाने-माने पत्रकार विनोद दुआ का बहुप्रतीक्षित शो ‘विनोद दुआ का प्रश्नकाल’ शुरू होने जा रहा है। इस शो में सोमवार से गुरुवार तक हर दिन अलग-अलग मुद्दों पर चर्चा होगी। रात 8 बजे प्रसारित होने वाले इस शो में जनता द्वारा पूछे गए सवाल भी शामिल किए जा सकते हैं।

इटानगर में तीसरे दिन भी नहीं निकले अखबार

इटानगर, 17 फरवरी : सरकारी अधिकारियों के मीडिया विरोधी रवैये के खिलाफ और स्टूडेंट्स यूनियन मूवमेंट ऑफ अरुणाचल (सूमा) के साथ टकराव के डर से आज यहां तीसरे दिन भी सभी अखबारों का प्रकाशन बंद रहा।

तेजपाल के खिलाफ 2684 पृष्ठों का आरोप पत्र, महिला पत्रकार से बलात्कार का आरोप

पणजी : पत्रकार व पूर्व संपादक तरुण तेजपाल पर सोमवार को गोवा पुलिस ने पिछले साल नवंबर में यहां के एक पांच सितारा होटल की लिफ्ट में एक महिला पत्रकार के साथ बलात्कार, यौन उत्पीड़न और उसकी मर्यादा भंग करने का आरोप लगाया। इन आरोपों में दोषी पाए जाने पर तेजपाल को सात साल से अधिक की सजा हो सकती है।

IIMC में जाने-माने पत्रकारों ने याद किए कॉलेज के दिन

दिल्ली में आईआईएमसी में रविवार को जाने-माने पत्रकारों का जमावड़ा लगा. मौका था IIMC मीट का, जहां इस इंस्टीट्यूट से पढ़कर नाम कमा चुकी हस्तियों को सम्मानित किया गया. इस शो का थीम था ‘कैंपस के राइटर’. IIMC में हुए इस कार्यक्रम में देश के जाने-माने पत्रकार इकट्ठा हुए. इस कार्यक्रम की शुरुआत स्वागत गीत से हुई और फिर शुरू हो गया सिलसिला उन पत्रकारों को सम्मानित करने का, जिन्होंने लेखन की दुनिया में अपना नाम रोशन किया है.

चिदंबरम पर जूता फेंकने वाले पत्रकार जरनैल सिंह को विजयी बनाना जरूरी

आम आदमी पार्टी ने आईबीएन7 से इस्तीफा देने वाले आशुतोष और दैनिक जागरण से इस्तीफा देने वाले जरनैल सिंह को लोकसभा चुनाव के लिए उम्मीदवार बनाया है. आशुतोष का चांदनी चौक सीट से कपिल सिब्बल के खिलाफ लड़ना पहले से ही तय माना जा रहा था. जरनैल सिंह को पश्चिमी दिल्ली से उम्मीदवार बनाया गया है. जरनैल उस समय सुर्खियों में आए थे जब उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान पी. चिदंबरम पर जूता उछाल दिया था. दिल्ली में सिख दंगों के आरोपियों के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई न होने से जरनैल नाराज थे. बाद में जरनैल ने एक किताब भी लिखा.

धीरे-धारे बंद होगा मीडियम वेव रेडियो, एफएम को मिलेगा बढ़ावा

नई दिल्ली। प्रसार भारती ने ऑल इंडिया रेडियो के लोकप्रिय चैनल विविध भारती को एफएम मोड पर करने का फैसला किया है। इसके साथ ही प्रसार भारती मीडियम वेव चैनलों की समीक्षा करने जा रहा है क्योंकि उसे लगता है कि वर्तमान में बहुसंख्यक श्रोता एफएम चैनलों को सुनते हैं। प्रसार भारती बोर्ड ने 14 फरवरी को हुई एक मीटिंग में मुख्य कार्यकारी अधिकारी जवाहर सरकार के एक प्रस्ताव को स्वीकार किया है जिसमें कहा गया है कि मीडियम वेव अब बीते समय की बात हो गई है। नई पीढ़ी ऑडियो वेव्स के लिए कार रेडियो और मोबाइल पर निर्भर है, जो अधिकतर एफएम मोड पर उपलब्ध हैं।

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के मीडिया यूनिट्स में कई वरिष्ठ अधिकारियों के तबादले

नई दिल्ली। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा अपने मीडिया यूनिट्स के कई वरिष्ठ अधिकारियों के तबादले किए गए हैं। भरतीय सूचना सेवा के 1993 बैच के अधिकारी आरसी जोशी का तबादला डाइरेक्टोरेट ऑफ एडवरटाइज़िंग एंड विज़ुअल पॉलिसी(डीएवीपी) के डाइरेक्टर के पद पर किया गया है। जोशी वाईके बवेजा का स्थान ग्रहण करेंगे जिन्हे प्रेस इंफॉरमेशन ब्यूरो(पीआईबी) के मीडिया एंड कम्यूनिकेशन्स प्रभाग का डाइरेक्टर बनाया गया है।

नीतीश ने फोटोग्राफर से कहा- परेशान मत करो, अखबार में कुछ नहीं छपेगा

पटना : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मीडिया के बहुत नाराज है क्योंकि उनकी संकल्प रैलियों में मीडिया में पर्याप्त जगह नहीं मिल रही। अभी तक नीतीश कुमार पर बिहार में मीडिया का गलत इस्तेमाल करने के आरोप लगाए जाते रहे। यह आरोप न केवल विपक्षी नेता लालू प्रसाद यादव द्वारा बल्कि प्रेस काउंसिल आफ इंडिया के चेयरमैन मार्केंडय काटजू द्वारा भी नीतीश पर लगाए गए।

श्रीनगर में सड़क हादसे में चार मीडियाकर्मी घायल

श्रीनगर से खबर है कि सड़क हादसे में तीन पत्रकार समेत चार मीडियाकर्मी घायल हो गए। बताया जा रहा है कि तीन पत्रकार आदिल लतीफ, कारी इंजमाम, इशान वानी तथा प्रेस फोटोग्राफर शाहिद तांत्रे शनिवार की सुबह खबर कवरेज के लिए श्रीनगर से बारामूला जा रहे थे. रास्‍ते में उनकी टवेरा गाड़ी हैदरवेग पट्टन के पास विपरीत दिशा से आ रही अल्‍टो कार से टकरा गई. इस हादसे में चारों मीडियाकर्मी समेत अल्‍टो में सवार दो लोग घायल हो गए.

यूपी में भी लागू हो सकता है पत्रकार बीमा योजना, पीजीआई में फ्री इलाज शुरू

लखनऊ। बिहार, राजस्थान, मध्य प्रदेश एवं दक्षिण भारत के कुछ राज्यों की तर्ज पर पत्रकारों के लिए ‘‘उत्तर प्रदेश राज्य पत्रकार बीमा योजना‘‘ लागू करने पर प्रदेश सरकार गंभीर पहल के लिए तैयार है। उत्तर प्रदेश राज्य मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति के प्रस्ताव पर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने तत्काल विधिक परीक्षण कराने का आष्वासन दिया है। प्रस्ताव के मुताबिक इस योजना में ग्रुप मेडिक्लेम एवं व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा दोनों को शामिल किया जायेगा।

चंदौली में शिक्षिका ने पत्रकार पर लगाया यौन शोषण का आरोप

वैलेंटाइन वीक में एक पत्रकार की प्रेम कहानी का चैप्टर उस वक्त क्लोज हुआ जब प्यार में धोखा खाई प्रेमिका थाने पहुंच कर उस पर यौन शोषण करने का संगीन आरोप लगाने लगी। पत्रकार भी कहां कम था, उसने भी पत्रकारिता का रौब गांठते हुए मामले को सिरे से खारिज करने का पुलिस पर दबाव बनाया और फिर शुरू हुई पुलिस की जी हुजूरी और बलात्कार का आरोपी पत्रकार बन गया पुलिस का मेहमान।

कैनविज टाइम्‍स, बरेली के आरई बने ब्रजेंद्र निर्मल, संजीव एवं केके को नई जिम्‍मेदारी

करीब 24 वर्ष से प्रिंट मीडिया में सक्रिय ब्रजेंद्र निर्मल के बारे में खबर है कि उनको कैनविज टाइम्स बरेली का स्थानीय संपादक बनाया गया है। उनका नाम समाचार-पत्र की प्रिंट लाइन में प्रकाशित होने लगा है। कैनविज टाइम्स अब तक अपने लखनऊ संस्करण से ही तैयार पहला पेज से लेकर सभी जनरल पेज (संपादकीय, राष्ट्रीय, व्यापार, खेल व फलक आदि) प्रकाशित करता था। अब ये सभी पेज बरेली से बनाकर लखनऊ भेजे जा रहे हैं यानी जो जिम्मेदारी कैनविज टाइम्स के पूर्व संपादक प्रभात रंजन दीन निभा रहे थे, वह काम बरेली से करवाया जा रहा है। निर्मल इसके पहले अमर उजाला और हिंदुस्‍तान में लंबे समय तक वरिष्‍ठ पदों पर रहे हैं।

शहरयार बनाए गए एआईआर के नए डीजी

नई दिल्ली। फैय्याज़ शहरयार को ऑल इंडिया रेडियो का नया डाइरेक्टर जनरल बनाया गया है। शहरयार की नियुक्ति आर. वेंकटेश्वरलू के स्थान पर की गई है जो बीती 31 जनवरी को रिटायर हो गए थे। राष्ट्रीय पुरस्कार और अंतर्राष्ट्रीय प्रशंसा प्राप्त शहरयार देश के विभिन्न क्षेत्रों के लिए हज़ारों कार्यक्रमों की परिकलपना और निर्माण कर चुके हैं। शहरयार जम्मू-कश्मीर के अस्थिरता के दौर(1991) में रेडियो कशमीर के स्टेशन डाइरेक्टर रह चुके हैं। इस दौरान उन्होनें भारत-पाक सीमा के निकट पूंछ में लोकल रेडियो स्टेशन की शुरुआत भी की थी। वर्ष 2010 से वे ऑल इंडिया रेडियो के मुख्यालय में एडिशनल डाइरेक्टर जनरल के रूप में कार्य कर रहे थे।

…..औऱ परियों को पैसों की जरूरत नहीं होती!

अगर आप आस्था की शक्ति में विश्वास करते हैं तो मेरे इन शब्दों को पढ़ने से पहले अपनी जिंदगी के बीते दिनों के उन लम्हों को याद करने की कोशिश कीजिए जब आप मुश्किलों के बेहद दर्दनाक दौर से गुजर रहे थे। तब ऐसा लग रहा था कि उम्मीदों के सभी रास्ते हमेशा के लिए बंद हो चुके हैं और दुनिया में सिवाय दुश्मनों के और कोई जिंदा नहीं बचा। उन हालात से बाहर आने में आपकी सभी कोशिशें नाकाम रहीं कि तभी अचानक कहीं से एक मदद भरे हाथ का साथ आपको मिला और दुनिया की तमाम उलझनें बहुत मामूली लगने लगीं। जिंदगी के कई मोड़ पर ऐसी घटनाओं से रूबरू होने का मौका अक्सर उन लोगों को मिलता है जो किसी विचार या ईश्वर में आस्था रखते हैं। इस पंक्ति को एक बार फिर से पढ़िए कि आस्था की शक्ति जिंदगी में बड़े बदलाव कर सकती है।

केजरीवाल जी, आप झूठ बोलते हैं और बार-बार पलटी मारते हैं

विधानसभा होने के बावजूद दिल्ली एक केन्द्र-शासित प्रदेश है। दिल्ली की भूमि और दिल्ली की पुलिस केंद्र सरकार के अधीन हैं। देश की राजधानी होने के कारण बहुत से विषयों में यह आवश्यक भी है। दिल्ली के भूतपूर्व मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल की सरकार ने वास्तविक स्थिति को भलीभांति समझते हुए भी, कि केंद्रीय लोकपाल अधिनियम 2013 के लागू हो जाने बाद अब राज्य सरकारें अपने राज्य के लिए इसमें केवल संशोधन ही कर सकती हैं, अपना जन लोकपाल बिल लाने का प्रयास किया। दिल्ली जैसा राज्य बिना केन्द्रीय आर्थिक सहायता के एक दिन भी चल नहीं सकता। उसके अधिकतर प्रस्ताव केंद्र सरकार की अनुमति से ही पारित किये जाते हैं क्यूंकि यदि इनमें किसी प्रकार के अतिरिक्त वित्त की आवश्यकता हो तो केंद्र सरकार ऐसे होनेवाले अतिरिक्त धन की व्यवस्था कर सके। दूसरी बड़ी बात यह की राज्यों को यह भी सुनिश्चित करना होता है संसद द्वारा पहले से पारित किये गए अधिनियमों का राज्य 0सरकारों प्रस्तुत किये जाने वाले अधिनियमों से किसी प्रकार का टकराव या उल्लंघना न हो।

सीएम रमन सिंह ने वरिष्ठ पत्रकार रामचंद्र गुप्ता के निधन पर शोक प्रकट किया

रायपुर : छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने राज्य के वरिष्ठ पत्रकार श्री रामचंद्र गुप्ता के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने उनके परिवार के प्रति संवेदना प्रकट करते हुए आज यहां जारी शोक संदेश में कहा है कि श्री गुप्ता ने जिला मुख्यालय दुर्ग में विगत लगभग पचास वर्षों तक पत्रकारिता के माध्यम से देश और समाज को अपनी मूल्यवान सेवाएं दी।

सर्वाधिक बिकने वाली किताबों की लिस्ट में शामिल ‘जानेमन जेल’ को विश्व पुस्तक मेले में भी खरीदे सकते हैं

हजारों प्रतियां बिक चुकी हैं 'जानेमन जेल' की. वह भी सिर्फ आनलाइन बुकिंग के जरिए. जो लोग इस किताब को आनलाइन नहीं खरीद पाए या किन्हीं वजहों से उन तक डिलीवरी नहीं हो सकी, वे अब 'जानेमन जेल' को प्रगति मैदान स्थित विश्व पुस्तक मेले में खरीद सकते हैं.

जागरण की साईट पर खबर किसी की, फोटो किसी की

छोटी-छोटी ग़लती तो अख़बारों या अख़बार की साईट पर होती ही रहती हैं मगर जागरण की साईट के बारे में क्या कहा जाए जिसमें खबर किसी की और फ़ोटो किसी की लगा दी गयी। कल दैनिक जागरण की साईट पर असम की एक खबर प्रकशित हुई है। इसमें मौलाना अरशद मदनी के बारे में लिखा गया है। मगर खबर के साथ मौलाना महमूद मदनी की फ़ोटो लगा दी गयी है। 

जनवाणी अखबार की एनसीआर में धमक दिखाने की तैयारी

: शानदार तरीके से मनाई गई दैनिक जनवाणी की तीसरी सालगिरह : चौथे साल में भी  सफलता के नए आयाम स्थापित करने का सभी  ने किया संकल्प : मेरठ। क्रांतिधरा मेरठ में तीन साल पूर्व अभूतपूर्व लांचिंग करने वाले गॉडविन ग्रुप के अखबार दैनिक जनवाणी की तीसरी सालगिरह शुक्रवार को शानदार तरीके से मनाई गई। इस मौके पर जहां प्रबंधन ने कहा कि यह कारवां यूं ही आगे बढ़ेगा तो साथ ही कहा गया कि जल्द ही अखबार एनसीआर में भी  धमक दिखाएगा।

जी न्यूज से कई लोग इधर-उधर गए

खबर है कि जी न्यूज से काफी लोग दूसर न्यूज चैनलों में चले गए हैं. कुछ लोगों के नाम भड़ास को पता चले हैं. करीब एक महीने में कई लोग इंडिया टीवी की ओर जा चुके हैं. दीपक वडोला, अमित श्रीवास्तव और धीरज कुमार के अलावा चार अन्य लोगों ने भी जी से रिजाइन दिया.

नहीं होता ठेका पत्रकार, प्रेस मालिकों को मजीठिया वेतनमान देना कानूनन मजबूरी है

मजीठिया वेतन बोर्ड लागू होने के बाद पत्रकारों के बीच एक ही चर्चा है कि प्रेस मालिक ठेका पत्रकार रख लेंगे, किसी को इसका लाभ नहीं मिलेगा। लेकिन ऐसा नहीं है। कानून की परिभाषा में ठेका पत्रकार होते ही नहीं और जो कर्मचारियों से कुछ भी लिखा कर उन्हें अपना गुलाम बनाने की बात करते हैं, वे प्रेस मालिक कर्मचारियों को उल्लू बनाने की कोशिश करते है। चूंकि प्रेस एक उद्योग है इस कारण इंण्डस्ट्रियल एम्प्लायमेंट (स्टैडिंग आर्डर्स) एक्ट 1946 के उपबंध यहां भी लागू होते हैं। इस एक्ट की धारा 38 के तहत कर्मचारियों से नियोक्ता की कोई अनलीगल शर्त स्वतः समाप्त हो जाती है।

मुहब्बत ज़िंदाबाद

Arbind Kumar Mishra : मित्रों,  कल वैलेंटाइन दिवस था.अन्य मित्रों की तरह मैंने भी शुभकामना का पोस्ट डाला था. अपनी आदत के अनुसार मैंने प्रिय मित्रों को मेसेज से भी शुभकामना दी.मित्रों ने बहुत पसंद किया.उन सब मित्रों को बहुत-बहुत धन्यबाद !! पर कुछ मित्रों को थोड़ी सी कुंठा इस पर्व पर रही जिसे उन्होंने अभिव्यक्त भी किया. साथ ही कल फेस बुक पर और आज समाचार पत्रों में भी इसके विरोध का समाचार देखा. उनके विचार में यह उत्सव अपसंस्कृति का द्योतक है. उनकी कुंठाओं के निवारण के लिए मैं यह पोस्ट डाल रहा हूँ.

हार्ट की बीमारी दिखाकर जेल से अस्पताल गए और प्रेस कांफ्रेंस कर दी

बहराइच : सजायाफ्ता पूर्व विधायक दिलीप वर्मा जेल से अस्पताल इसलिए गए क्योंकि उन्होंने बताया था कि उन्हें हार्ट की बीमारी है। लेकिन वे अस्पताल जाने की जगह राजनीतिक गोंटी खेलने लगे। प्रेस कांफ्रेंस तक कर दिया। जेलर को नहीं पता कि उनके एक कैदी ने प्रेस कांफ्रेस कर दिया। सजायाफ्ता पूर्व विधायक दिलीप वर्मा बाकायदे सपा जिलाध्यक्ष के संग लाल टोपी पहन कर समाजवादी पार्टी के हिस्से हुए और सपा में फिर से अपनी आस्था जताई है।

पीटीआई में कार्यरत रहे सीनियर जर्नलिस्ट एनडी प्रभु नहीं रहे

बेंगलुरु पीटीआई के पूर्व डिप्टी जनरल मैनेजर और सीनियर जर्नलिस्ट एन.डी. प्रभु का शुक्रवार को निधन हो गया। वह 85 वर्ष के थे। उनके बेटे रमेश प्रभु ने कहा कि प्रभु का शुक्रवार की सुबह दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वह पिछले कुछ हफ्तों से बीमार थे। एनडीपी नाम से चर्चित प्रभु पीटीआई में 1952 से न्यूज एडिटर, असिस्टेंट जनरल मैनेजर और डिप्टी जनरल मैनेजर जैसे कई महत्वपूर्ण पदों पर रहे।

पत्रकार को मदद की दरकार, दबंग दुनिया वाले कर रहे झूठ का प्रचार

भोपाल में नवंबर 2012 में हुए आनंद नगर टंकी ब्लास्ट में कवरेज के दौरान घायल दबंग दुनिया अखबार के पत्रकार नरेंद्र शर्मा अपने दूसरे आपरेशन के लिए साथियों से सहयोग मांगने पर मजबूर हो गए हैं। घटना के समय मुख्यमंत्री सहायता कोष से मंत्री बाबूलाल गौर ने पहला आपरेशन करा दिया। लेकिन अब जब उनका बोन ग्राफ्टिंग का आपरेशन होना है तो पहले तो सरकार के मंत्री ने फिर संस्थान ने भी अपना हाथ खींचकर आपरेशन के पैसे देने से मना कर दिया।

IIMC Alumni Meet : Felicitation of 46 Alumni Authors

Press Invite : IIMC Alumni Association will be hosting its alumni meet SBI Life Connections 2014 on February 16 at IIMC HQ, New Delhi at 3.00 PM. We will felicitate 46 Authors under the series Campus Wale Writers. Apart from these 46 authors IIMCAA will felicitate its alumni and bollywood actress Ms. Hasleen Kaur, Music Sensation Mr. Mithoon Sharma and an unique writer Mr. Laxman Rao.

‘द हिंदूज : एन ऑल्टरनेटिव हिस्ट्री’ को कानून से नहीं बल्कि किताब से काटें

वेंडी डॉनिगर की किताब, ‘द हिंदूज : एन ऑल्टरनेटिव हिस्ट्री’ को लेकर भारत के अंग्रेजी अखबारों में जबर्दस्त हाय-तौबा मची हुई है। शायद ही कोई अंग्रेजी अखबार ऐसा हो, जिसने उक्त पुस्तक या उसकी लेखिका के पक्ष में आंसू न बहाए हों। इस पुस्तक को अंतरराष्ट्रीय ख्याति के प्रकाशक ‘पेंगुइन’ ने छापा था और अब उसने इसे रद्द करके बेचने से मनाकर दिया है। उसने ऐसा इसलिए किया क्योंकि दिल्ली की एक संस्था ‘शिक्षा बचाओ समिति’ ने इस पुस्तक के विरुद्ध मुकदमा चला रखा था। 

अरुणाचल प्रदेश के सभी मीडिया घरानों ने प्रकाशन किया बंद

इटानगर : अरुणाचल प्रदेश के सभी मीडिया घरानों ने मीडियाकर्मियों और स्टूडेंट्स यूनियन मूवमेंट ऑफ अरुणाचल (एसयूएमए) के बीच संघर्ष की आशंका को देखते हुए शुक्रवार को अनिश्चितकाल के लिए अपना प्रकाशन बंद कर दिया। छात्र संगठन ने राज्य के सबसे बड़े अंग्रेजी दैनिक 'अरुणाचल टाइम्स' के कार्यालय के बाहर धरना देने की योजना बनाई थी जिसके लिए कैपिटल कॉम्प्लेक्स के उपायुक्त मिगे काम्की ने उन्हें मंजूरी दे दी जिससे राज्य का मीडिया समुदाय नाराज है।

दैनिक जागरण के मालिकों में से एक भरत गुप्ता को यूथ अचीवर अवार्ड से सम्मानित किया गया

छठें ग्लोबल मार्केटिंग एंड सोशल मीडिया पुरस्कार समारोह में जागरण प्रकाशन लिमिटेड के मार्केटिंग एंड डिजिटल के कार्यकारी अध्यक्ष भरत गुप्ता को यूथ अचीवर अवार्ड से सम्मानित किया गया. अपने क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले युवा उद्यमियों को सम्मानित करने वाले इस समारोह का आयोजन मुंबई में गुरुवार को हुआ. 37 वर्षीय भरत गुप्ता ने पारिवारिक व्यवसाय को आगे बढ़ाते हुए कई नए प्रयोग किए हैं.

मुख्यमंत्री अखिलेश से घूसखोर आईएएस पर कार्यवाही की मांग

लखनऊ स्थित सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से आईएएस वीक में जिक्र किये गए उस घूसखोर आईएएस अफसर के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम में कार्यवाही किये जाने की मांग की है जिसने उनके कहने के बाद भी काम के लिए पैसा लिया था.

कल टूटेगा अखिलेन्द्र का उपवास, ग्यारह बजे जंतर-मंतर पहुंचें

नर्इ दिल्ली, 15 फरवरी 2014 : आल इंडिया पीपुल्स फ्रंट (आइपीएफ) के राष्ट्रीय प्रवक्ता एसआर दारापुरी ने बताया कि कारपोरेट घरानों और एनजीओ को लोकपाल कानून के दायरे में ले आने व उन पर टैक्स बढ़ाने समेत कई सवालों पर 07 फरवरी 2014 से जारी अखिलेन्द्र का दस दिवसीय उपवास कल अपराहन एक बजे समाप्त होगा। इस अवसर पर सीपीआर्इ (एम) के महासचिव का0 प्रकाश करात, वयोवृद्ध कम्युनिस्ट नेता और सीपीआर्इ के पूर्व महासचिव का0 ए0 बी0 वर्धन, सोशलिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष न्यायमूर्ति राजेन्द्र सच्चर समेत लोकतांत्रिक आंदोलनों के नेताओं समेत तमाम प्रमुख हस्तियां उपस्थित रहेंगी तथा देशभर से आए हुए कार्यकर्ता हिस्सेदारी करेंगे।

पंजाब केसरी ने मांगा चेक, अलीशा ने छोड़ दी नौकरी

पंजाब केसरी में चेक मांगने की परमपरा से दुखी हो कर अम्बाला छावनी की ब्यूरो चीफ अलीशा शर्मा ने अख़बार को बाय बोल घर बैठ गई हैं. उनका आरोप है कि विज्ञापन के लिए उनको हर छह माह तक खबर लिखने का news splay agent का अधिकार पत्र दिया जाता है, जबकि अन्य स्टाफर को नहीं.

कोर्ट ने एनबीटी के फोटोग्राफर को फटकारा

गुडग़ांव। नवभारत टाइम्स गुडग़ांव के फोटोग्राफर को कोर्ट के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं। एनबीटी में एक फोटो को गलत तरीके से छापने के चक्कर में पब मालिक ने उन्हें कोर्ट को नोटिस थमा दिया। मामला सिटी के सहारा मॉल के एक पब का है और दो साल पुराना है। इस पब का फोटो एनबीटी के फोटोग्राफर ने प्रसिद्धी और छुटभैया नेताओं से नजराना पाने के चककर में छाप दिया था।

इंफाल में अंग्रेजी अखबार के पत्रकार को पीटने वाला हवलदार सस्पेंड

इंफाल : स्थानीय अंग्रेजी अखबार के एक पत्रकार के साथ कथित तौर पर मारपीट के आरोप में फर्स्ट इंडिया रिजर्व बटालियन ( आईआरबी ) के एक हवलदार को निलंबित कर दिया गया है. पुलिस ने बताया कि 10 फरवरी की रात ‘इंफाल फ्री प्रेस’ के वरिष्ठ पत्रकार अरिबाम चाओबा उर्फ धनंजय को कथित तौर पर पीटने के आरोप में फर्स्ट आईआरबी के कमांडेंट की ओर से मोहम्मद मजीबुर रहमान को निलंबित करने का आदेश जारी किया गया है.

गोंडा श्रमजीवी पत्रकार यूनियन चुनाव में कैलाश वर्मा जिलाध्यक्ष चुने गए

गोंडा, 08 फरवरी। उत्तर प्रदेश श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के द्विवार्षिक चुनाव में एक बार फिर कैलाश वर्मा जिलाध्यक्ष तथा जानकी शरण द्विवेदी महामंत्री निर्वाचित घोषित किए गए। द्विवेदी का निर्विरोध निर्वाचन हुआ, जबकि वर्मा ने अपने निकटतम प्रतिद्वन्दी संजय तिवारी को 14 मतों के अंतर से पराजित किया। सिंचाई विभाग के फील्ड हास्टल में शनिवार को मुख्य निर्वाचन अधिकारी एसपी मिश्र तथा चुनाव अधिकारियों टीपी सिंह व अंचल श्रीवास्तव की देखरेख में श्रमजीवी पत्रकार यूनियन की जिला तथा सभी चार तहसील इकाइयों का चुनाव सम्पन्न हुआ। जिलाध्यक्ष तथा तरबगंज के तहसील अध्यक्ष को छोड़कर जिला तथा तीन अन्य तहसीलों के सभी पदों पर निर्विरोध निर्वाचन सम्पन्न हो गया।

स्वार्थ प्रेरित है तेलंगाना विरोध, सांसदों को चिंता अपने उद्योगों की

ऐसी जानकारी मिल रही है कि तेलंगाना का विरोध करने में चरमोत्कर्ष पर पहुंचे कांग्रेस, टीडीपी और वाईएसआर के सांसदों का सीमांध्र की जनता के हितों से कोई लेना-देना नहीं है। उनका मक़सद केवल तेलंगाना बनने के बाद वहाँ स्थित उनके उद्योगो की रक्षा है जिसके कारण वे बर्बाद हो सकते है।

पीके तिवारी और मीना तिवारी को महुआ न्यूज के रिपोर्टर अभिजीत कुमार ने भेजा लीगल नोटिस

पहले तो मधुबनी के अभिजीत को मेरी तरफ से ढेर सारी बधाई, इस साहस, हिम्मत और पहल के लिए. आमतौर पर पत्रकार लोग अपनी लड़ाई खुद नहीं लड़ते. शोषण और प्रताड़ना का शिकार होकर चुप रह जाते हैं. पर अभिजीत ने अपने हक के लिए आवाज उठाई है. ऐसे ही सब उठाने लगें तो मालिकों, मैनेजरों की हिम्मत न पड़े किसी का हक मारने की.

हमारे खानदान में वाइन पीने वालों की बड़ी इज्ज़त है

हमारे खानदान के सभी ढाई, तीन, साढ़े तीन अक्षर नाम वाले लोग निवर्तमान नवयुवक हो चुके हैं। कुछ तो जीवन की अर्धशतकीय पारी खेल रहे हैं तो कई जीवन के आपा-धापी खेल से रिटायर भी हो चुके हैं। कुछ वे लोग हैं जो अर्धशतकीय और उसके करीब की पारियाँ खेल रहे हैं। खानदान का नाम रौशन करना इनका परम उद्देश्य कहा जा सकता है। मुझे तो आभास हो रहा है कि यदि इनका खेल इसी तरह जारी रहा तो वह दिन भी आ जाएगा जब देश के सर्वोच्च सम्मान से सम्मानित/पुरस्कृत होंगे। जी हाँ मुन्ना, बब्लू, गुड्डू, डब्ल्यू, रिंकू, सिन्टू, मिन्टू, बन्टी, गोलू आदि नाम वालों ने घर फूँक तमाशा का खेल जिस तरह से जारी रखा हुआ है उससे तो हमारा खानदान/गाँव राज्य में ही नहीं देश में सर्वोच्च स्थान पर होगा और इनमें एकाध को ‘देश रत्न’ का खिताब भी मिलेगा।

अलीगढ़ में क्रिकेट : टीवी जर्नलिस्टों की टीम ने प्रशासन एकादश को हराया

बीते दिनों अलीगढ़ इलेक्ट्रानिक मीडिया एसोसियेशन और प्रशासन एकादश के बीच क्रिकेट मैच अहिल्याबाई होल्कर स्टेडियम में खेला गया। टॉस जीतकर प्रशासन एकादश के कप्तान धीरेन्द्र सिंह सचान अपर जिला अधिकारी ने पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया। शुरुआती विकेट गिरने से प्रशासन एकादश की टीम की हालत गड़बड़ाई पर सेकेन्ड डाउन बैटिंग करने आये यासिर सलीम ने ताबड़तोड़ बैंटिंग करते हुए 102 रन की पारी खेली।

इंदौर से प्रकाशित वीकली अखबार ‘वीकेंड पोस्ट’ की संक्षिप्त यात्रा पर कुछ बातें

5 अक्टूबर 2013 से इंदौर से एक साप्ताहिक अखबार 'वीकेंड पोस्ट' का प्रकाशन प्रारंभ हुआ, जिसने थोड़े वक्त में ही अपनी पहचान बनाने में सफलता पाई है। 'वीकेंड पोस्ट' चिकने पेपर पर छपता है। टेबुलाइड आकार के 16 संपूर्ण रंगीन पेजों के साथ इसने अपना सफर शुरू किया, जो अभी तक बरकरार है। इसके तेवर बाकायदा साप्ताहिक अखबारों वाले ही हैं। इसमें इंदौर से जुड़ी जो खबरें अभी तक आई हैं, उन मुद्दों पर बेशक दैनिक अखबारों में खबरें छपती रही हैं, लेकिन इसका प्रस्तुतिकरण बेहद अलग और आक्रामक रहा है।

पत्रकार संदीप की मोदी पर लिखी किताब का विमोचन राम बहादुर राय ने किया

पत्रकार संदीप देव की नरेंद्र मोदी पर लिखी गई किताब का नाम है 'साजिश की कहानी तथ्यों की जुबानी'. इस पुस्तक का विमोचन वरिष्ठ पत्रकार राम बहादुर राय ने किया. विमोचन के दौरान संदीप देव ने कहा कि पुस्तक के माध्यम से सिर्फ उन फैक्टस को सामने लाने का प्रयास किया है, जो सबके सामने थे, लेकिन किसी ने इसे तवज्जो नहीं दी, चाहे वह एसआईटी की फाइंडिंग हो या फिर कोर्ट के फैसले या फिर क्लोजर रिपोर्ट के फैक्ट्स हों.

विभाकर फारवर्ड प्लानिंग में भेजे गए, सत्येंद्र का तबादला, राकेश का इस्तीफा, हरिनाथ की वापसी

सहारा इंडिया टीवी नेटवर्क के सहारा समय यूपी उत्तराखंड न्यूज चैनल के एडिटर पद से हटाए गए विभाकर को नेशनल चैनल समय में फारवर्ड प्लानिंग और रिसर्च में भेज दिया गया है. वे ग्रुप एडिटर बीवी राव को रिपोर्ट करेंगे. ज्ञात हो कि समय नेशनल चैनल के एडिटर राव बीरेंद्र सिंह को यूपी-यूके रीजनल न्यूज चैनल के एडिटर की जिम्मेदारी दी गई है.

‘नीडो’ सिर्फ हाथों से नहीं बातों से भी मारे जाते हैं

मैं कोई शोकगीत लिखने नहीं बैठा हूँ, कुछ सवाल हैं जिनके जवाब मेरे पास नहीं है|

नीडो तनियाम की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गयी है, सिर और चेहरे पर लगी चोट को डॉक्टर्स मौत का कारण बता रहे हैं| कोई सिर पर चोट लगने से भी मरता है क्या? मारने के लिए क्या हमारी नजरें ही काफी नहीं होती? लोहे के सरिये में लपेट कर आंते खींचने बस से दामिनी नहीं मरती, हर रोज जब आप किसी लड़की को ऊपर से नीचे तक नजरों से ही स्कैन कर डालते हैं, एक दामिनी तब भी मरती है, हर रोज जब आप किसी की जालीदार टोपी को शक की नजर से देखते हैं एक जियाउल हक़ तब भी मरता है। हर रोज जब आप किसी भी इंसान को चाहे वो नीडो हो, दामिनी हो, जियाउल हक़ हो, को दूसरे इंसान की तरह न देखकर एक शरीर, एक मुसलमान या अपने स