Categories: सुख-दुख

पत्रकार के घर पर प्रधान पति ने की चढ़ाई, पुलिस उल्टा पत्रकार पर मुकदमा लिखने पर आमादा

Share

निर्मलकांत शुक्ल-

उत्तर प्रदेश में योगीराज में पत्रकारों के उत्पीड़न की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं । जनपद पीलीभीत में खबर के प्रकाशन से नाराज हुए ग्राम प्रधान के पति ने गुंडों के साथ पत्रकार के घर पर चढ़ाई कर दी। लाठी-डंडे और हथियारों से लैस लोगों ने जमकर उत्पात मचाया। मौके पर पूरे गांव के जमा हो जाने पर ग्राम प्रधान का पति गुंडों के साथ मौके पर से खिसक लिया। घटना के बाद पत्रकार का परिवार दहशत में है। मामला पीलीभीत के थाना बरखेड़ा अंतर्गत ग्राम भोपतपुर का है।

पत्रकार मुकुल शर्मा

जानिए क्या है पूरा मामला
सरकार की योजना के तहत प्रत्येक विकासखंड के प्रत्येक ग्राम में ग्राम समाज की जगह पर हर्बल पार्क का निर्माण होना है। बरखेड़ा विकासखंड के ग्राम भोपतपुर में ग्राम समाज की जमीन पर तमाम लोगों ने कब्जा कर अवैध निर्माण करा लिए हैं। जब राजस्व विभाग की टीम ने अवैध कब्जों को चिन्हित किया और मौके पर लेखपाल कब्जे हटवाने गया तो ग्राम प्रधान के पति अशोक पासवान ने राजस्व टीम के साथ अभद्रता कर उनको कब्ज हटाने से रोक दिया। इस खबर का प्रकाशन पत्रकार मुकुल शर्मा ने जब अखबार में किया तो ग्राम प्रधान पति बौखला गया। शुक्रवार को सुबह उसने लाठी-डंडों और हथियारों से लैस गुंडों के साथ ग्राम भोपतपुर में रहने वाले पत्रकार मुकुल शर्मा के घर पर चढ़ाई कर दी। पत्रकार मुकुल शर्मा ने बताया कि उनके पिता को धमकाया कि मुकुल को घर से बाहर निकालो। आज हिसाब चुकता करना है। कायदे से सबक सिखाएंगे। शोर शराबा सुनकर पूरा गांव मौके पर एकत्र हो गया तो प्रधान पति गुंडों के साथ मौके से खिसक लिया और जाते-जाते धमकी दी कि गांव में नहीं रहने देंगे, जहां दिखाई देगा वहीं पर हाथ पैर तोड़ देंगे।

पुलिस की जांच में प्रधान पति दोषी
पत्रकार मुकुल शर्मा की सूचना पर बरखेड़ा थाने के इंस्पेक्टर मौके पर गए और लोगों के बयान लिए। सभी ने ग्राम प्रधान के पति अशोक पासवान के अपने समर्थकों के साथ लाठी-डंडे लेकर पत्रकार मुकुल शर्मा के घर पर चढ़ाई करने की पुष्टि की।

प्रधान पति के दबाव में पुलिस के सुर बदले
मौके पर जाकर जांच पड़ताल करने के बावजूद बरखेड़ा थाने के प्रभारी निरीक्षक ने पत्रकार मुकुल शर्मा की तहरीर पर मुकदमा दर्ज नहीं किया। उल्टा प्रधान पति अशोक पासवान से पत्रकार के विरुद्ध तहरीर लेकर रख ली। अब बरखेड़ा थाना पुलिस प्रधान पति के दबाव में उल्टा पत्रकार पर एससी एसटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज करके उसे जेल भेजने की धमकी दे रही है।

एसपी से मिली पत्रकार यूनियन
उत्तर प्रदेश श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के जिलाध्यक्ष सुधीर दीक्षित व पूर्व जिलाध्यक्ष बिभव कुमार शर्मा पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार प्रभु से मिले और उन्हें पूरे मामले से अवगत कराया। पुलिस अधीक्षक ने आश्वासन दिया कि पत्रकार मुकुल शर्मा पर किसी भी प्रकार का कोई फर्जी मुकदमा दर्ज नहीं किया जाएगा।

View Comments

  • Govt and local administration should take initiative and Punish the culprits.
    Journalists security must not be taken as granted.

Latest 100 भड़ास