pebble ने अब लाँच किया लोकल खबरों का देश का पहला पोर्टल

देश में दूर-दराज़ स्थित गाँव-देहात की ख़बरों को मीडिया में स्थान दिलाने में अगुआ रहे पैब्बल ने अब हर लोकल रिपोर्टर को एक और प्लेटफ़ॉर्म मुहैया कराने का बीड़ा उठाया है. पेबल आज से अपना एक पोर्टल www.localheading.com के नाम से शुरू कर रहा है. इसमें लोकल रिपोर्टरों की अति स्थानीय खबर को भी पूरा स्थान मिलेगा.

पैब्बल के संस्थापक अनिल कुमार ने बताया कि पैब्बल के निर्माण के समय से ही उन्होंने पूरी हिंदी पट्टी समेत गुजरात, पंजाब, और उत्तर-पूर्व में रिपोर्टरों का नेटवर्क बना लिया था. और पैब्बल को इस बात का श्रेय भी जाता है कि उसने लोकल रिपोटरों की पूरी तरह से स्थानीय ख़बरों को प्लेटफ़ॉर्म मुहैया कराया.

अभी तक गाँव-देहात के जो रिपोर्टर देश-दुनिया में नहीं जाने जाते थे, जिनकी अपनी कोई पहचान उनके इलाके से बाहर नहीं थी उन्हें राष्ट्रीय मीडिया के जरिये एक राष्ट्रीय पहचान दिलवाई. यही नहीं पैब्बल ने उनकी ख़बरों का पारिश्रमिक भी उनके द्वारा ही निर्धारित कराया. यह एक तरह से रिपोर्टर और लेखक को पारिश्रमिक में भागीदार बनाने की अनूठी पहल थी.

अनिल कुमार के अनुसार पैब्बल के नेटवर्क को और ज्यादा स्थान दिलाने के मकसद से हमने यह पोर्टल भी बनाया है, उन्होंने बताया कि अभी तक पैब्बल के माध्यम से लोकल रिपोर्टरों की ख़बरें जनसत्ता, पंजाब केसरी, नवोदय टाइम्स, न्यूज़-18 आदि में छप रही थीं, अब हमारे लोकल रिपोर्टरों को एक और प्लेटफ़ॉर्म लोकल न्यूज़ पोर्टल के ज़रिये मिलेगा.

उनके अनुसार हमारे लोकल रिपोर्टरों की ख़बरें पुख्ता और सलीके से लिखी गई होती हैं. हमारी संपादकीय टीम उन ख़बरों को और भी अधिक गुणवत्ता प्रदान करती है. हमें ख़ुशी है कि हम अपने पोर्टल के ज़रिये लोकल रिपोर्टर की पहचान को और भी ज्यादा व्यापक बनाएँगे. लोकल हेडिंग डॉट काम, का हमारा मूल मंत्र है- “सब तक पहुँच, सबकी पहुँच!” और इसी की पूर्ति हेतु इस पोर्टल को बनाया गया है.

प्रेस विज्ञप्ति

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *