जब प्रदीप राय ने अपने घर पर भड़ास के यशवंत और पीड़ित एंकर व प्रोड्यूसर की मीटिंग बुलाई….

खबर है तो चीखेगी, टैगलाइन वाले एपीएन चैनल के एंकर प्रताड़ना मामले में ताजा अपडेट ये है कि प्रदीप राय ने पीड़ित एंकर और भड़ास 4 मीडिया के यशवंत सिंह को अलग-अलग 12.07.14 को बुलाया। सबसे उनका मकसद भी अलग-अलग था। यशवंत ने पीड़ित एंकर को सूचना दी तो उसने भी बताया कि उसे भी बुलाया गया है। तब तय हुआ कि पीड़ित प्रोड्यूसर को भी साथ ले चला जाए। प्रदीप राय चैनेल की एडिटर-इन-चीफ राजश्री राय के पति हैं, और खुद कहते हैं कि उस चैनल का मैं कुछ नहीं, तब फिर किस हैसियत से उन्होंने पीड़ित और पीड़ित की खबर छापने वाले को बुलाकर बात की, पता नहीं।

यशवंत के साथ पीड़ित लोग एक साथ प्रदीप राय के यहां पहुंचे। मकसद था कि चैनल मालकिन के पति से बात कर मसले को सुलझा लिया जाए। पहले तो सभी को एक साथ देखकर प्रदीप राय परेशान हो गए। फिर पीड़ितों से अलग से मीटिंग शुरू की। इस मीटिंग में यशवंत जी नहीं बुलाया गया। उनको सारी बातों से दूर रखा गया। राजश्री राय एक केबिन में बैठी रहीं, और दूसरे केबिन में प्रदीप राय बात करने के लिए आए। पहले तो पीड़ित एंकर और प्रोड्यूसर को देखते ही प्रदीप राय की बौखलाहट बाहर आ गयी, काफी देर तक चीखते रहे, चिल्लाते रहे, झल्लाते रहे।

जब थोड़ा ठंडे पड़े तो पीड़ित एंकर और प्रोड्यूसर के समक्ष शादी का प्रस्ताव रखा गया। जब दोनों ने मना किया तो दोनों को नोटिस भेजने की धमकी दी और घर का नंबर व एड्रेस नोट कर लिया। यहां ये याद दिलाना जरूरी है कि ये वही पीड़ित एंकर और प्रोड्यूसर हैं, जिन पर अशोभनीय हरकत करने का आरोप लगा है, और इस आरोप को साबित करने का सबूत किसी के भी पास नहीं है। स्वयं प्रदीप राय का कहना है कि जिस सीसीटीवी फुटेज की बात की गई थी, वो डिलीट हो चुका है।

खैर, इसके बाद आया यशवंत जी का नम्बर… पहले तो मीठी मीठी बातें कर मैनेजिंग एडिटर विनय राय और खुद का पक्ष रखा। इसके बाद यशवंत जी को खूब सारा प्रलोभन दिया गया। मैगजीन से जुड़ जाइए, चैनल आप ही का है। यशवंत जी भी कहां चूकने वाले थे कह दिया भड़ास का काम करने के अलावा मेरे पास वक्त ही नहीं है। चलते चलते यशवंत जी से भी लगभग जिद करके उनके घर का एड्रेस लिया प्रदीप राय ने। यशवंत ने ये कहकर दिया कि लीजिए एड्रेस और लीगल नोटिस भिजवाइए। तब झेंपते हुए प्रदीप राय बोले कि वो तो चाय पीने आने के लिए एड्रेस ले रहे हैं।

इस मेल को भड़ास पर प्रकाशित करने का मकसद महज इतना है कि प्रदीप राय पूरे न्यूज रूम में चिल्ला चिल्ला कर जो अफवाह फैला रहे हैं उसे स्पष्ट किया जा सके। प्रदीप राय ने न्यूज रूम में कहा कि उन्होंने यशवंत को खूब डांट लगाई, जिसके बाद यशवंत ने उनसे माफी मांगी और इसके साथ ही स्टॉफ को यह भी बताया कि वे यशवंत जी को दो बार पीट चुके हैं।

जो लोग यशवंत जी को जानते हैं उन्हें पता है कि उन्हें प्रलोभन की चाह नहीं रही और उन्हें पीटने वाले अपनी गत के बारे में पहले ही सोच रहे हैं। दरअसल जब से पीड़ित एंकर ने एपीएन के मैनेजिंग एडिटर विनय राय की बद्तमीजियों का कच्चा चिठ्ठा खोला है, पूरा राय परिवार बौखलाया हुआ है, और इसकी शिकन पूरा ऑफिस देख रहा है।

अब एपीएन में इस बात पर भी जोरों से चर्चा हो रही है कि पूर्व में जो चार महिला एंकर एपीएन छोड़ कर जा चुकी हैं क्या उनके पीछे भी इस तरह की कोई साजिश थी या कोई मैनेजमेंट का शख्स उन्हें भी मैनेज करने की कोशिश कर रहा था। वैसे होने को तो कुछ भी हो सकता है। फर्क सिर्फ इतना है कि कुछ लोग चुप रह जाते हैं और कुछ लोग आवाज उठा देते हैं तो परत दर परत बहुत कुछ खुलने लगता है।

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “जब प्रदीप राय ने अपने घर पर भड़ास के यशवंत और पीड़ित एंकर व प्रोड्यूसर की मीटिंग बुलाई….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *